प्रेगनेंसी से बचने के घरेलू उपाय – Home Remedies to Prevent Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी से बचने के घरेलू उपाय - Home Remedies to Prevent Pregnancy in Hindi
Written by Anamika

pregnancy se bachne ke gharelu upay in Hindi बच्चे हर किसी को प्यारे होते हैं लेकिन ज्यादातर कपल सही समय पर बच्चा पैदा करने की चाहत रखते हैं। बच्चा पैदा करना प्रत्येक महिला के जीवन का एक सुंदर दौर होता है और इसलिए पति-पत्नी दोनों मिलकर अपने बच्चे की प्लानिंग भी बहुत सावधानीपूर्वक करते हैं। आज के लेख में हम आपको प्रेगनेंसी से बचने के लिए घरेलू उपाय (Home Remedies to Prevent Pregnancy in Hindi) बताने जा रहे है।

1. अनचाहे गर्भ से बचने के घरेलू उपाय – home remedies for unwanted pregnancy in hindi

2. प्रेगनेंसी से बचने के लिए औषधियों के इस्तेमाल से पहले की सावधानियां – Precaution before Using Remedies To Prevent Pregnancy in Hindi

अनचाहे गर्भ से बचने के घरेलू उपाय – home remedies for unwanted pregnancy in hindi

आमतौर पर देखा जाता है कि ज्यादातर महिलाएं असुरक्षित सेक्स के बाद प्रेगनेंसी से बचने के लिए गर्भनिरोधक गोलियों (contraceptive pills) का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन ये गोलियां आपके शरीर पर लंबे समय तक प्रतिकूल प्रभाव डालती हैं। ऐसी स्थिति में यह सवाल पैदा होता है कि आखिर अनचाही प्रेगनेंसी से बचने का क्या उपाय है। हम आपको बता दें कि प्रेगनेंसी से बचने के लिए कई हर्बल और नैचुरल औषधियां उपलब्ध हैं, जिनकी सहायता से गर्भधारण को रोका जा सकता है। ये घरेलू और हर्बल औषधियां माहवारी को उत्तेजित करती हैं और निषेचन की क्रिया (fertilization) को रोकती हैं जिससे कि आप प्रेगनेंसी की चिंता छोड़कर अपनी सेक्स लाइफ का आनंद उठा सकती हैं।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक दवाओं और उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानें)

अनचाहे गर्भ से बचने के उपाय है नीम – Neem to Prevent Pregnancy in Hindi

अनचाही प्रेगनेंसी से बचने के लिए नीम का सेवन एक बढ़िया प्राकृतिक उपाय है। सेक्स के बाद नीम का सेवन करने से यह शुक्राणुओं की गतिशीलता (sperm motility) को कम कर देता है और गर्भधारण को रोकता है। प्रेगनेंसी से बचने के लिए नीम की पत्तियों, तेल और छाल इन तीनों का उपयोग किया जा सकता है। नीम ऑयल को गर्भाशय के फैलोपियन ट्यूब (Fallopian tubes) में प्रवेश कराने 30 सेकेंड के भीतर ही सभी स्पर्म मर जाते हैं। नीम का टैबलेट भी उपलब्ध है बाजारों में, इसके अलावा नीम के पत्तों का उपयोग करने से यौन रोगों और एसटीडी से सुरक्षा मिलती है।

(और पढ़े – नीम के फायदे और नुकसान)

गर्भधारण से बचने के लिए सूखी अंजीर खाएं – Dried Fig (Anzeer) to avoid Pregnancy in Hindi

शारीरिक संबंध बनाने के बाद अंजीर का सेवन करने से प्रेगनेंट होने की संभावना नहीं रहती है। प्रेगनेंसी से बचने का यह एक लोकप्रिय तरीका और बेहतर घरेलू उपचार है। इंटरकोर्स के बाद 2 या 3 अंजीर प्रतिदिन खाएं। यह प्रेगनेंसी रोकने के अलावा ब्लड सर्कुलेशन भी बढ़ाता है।

(और पढ़े – अंजीर के फायदे)

पपीते खाने से नियंत्रित होती है प्रेगनेंसी – Papaya for Birth Control in Hindi

यदि आपने अभी मां बनने की प्लानिंग नहीं की है और शारीरिक संबंध बनाने के बाद आपको प्रेगनेंट होने का डर सता रहा है तो इंटरकोर्स के बाद पपीते का सेवन करने से प्रेगनेंसी से बचाव होता है। सेक्स के बाद दिन में कम से कम दो बार 3 से 4 दिनों तक लगातार पपीता खाएं, इससे आप गर्भवती होने से बच जाएंगी। लेकिन अगर आपका प्रेगनेंसी टेस्ट पॉजिटिव हो तो पपीते का सेवन न करें।

(और पढ़े – पपीता खाना क्यों है सेहत के लिए लाभकारी)

गर्भधारण से बचने के लिए अदरक का सेवन – Ginger Root for Birth Control in Hindi

माहवारी की ब्लीडिंग को उत्तेजित करने में अदरक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए प्रगनेंसी से बचने के लिए अदरक का सेवन करना बेहतरीन उपाय है। अदरक को कद्दूकस करके इसे पानी में अच्छी तरह उबालें। इसके बाद इसे छानकर थोड़ी देर ठंडा होने दें और फिर इसे पी जाएं। प्रतिदिन दो कप अदरक-पानी पीने से प्रेगनेंसी से बचाव होता है।

(और पढ़े – अदरक के फायदे, औषधीय गुण, उपयोग )

अनचाहे गर्भ से बचने का उपाय है दालचीनी – Cinnamon to avoid Pregnancy in Hindi

गर्भावस्था से बचने के लिए दालचीनी का सेवन बहुत उपयोगी माना जाता है। दालचीनी गर्भाशय को उत्तेजित करता है जिसकी वजह से मासिक धर्म शुरू हो सकता है। इसलिए इंटरकोर्स के बाद ज्यादातर महिलाएं प्रेगनेंसी से बचने के लिए घरेलू उपाय के तौर पर दालचीनी का प्रयोग करती हैं। लंबे समय तक दालचीनी का सेवन करने से गर्भ धारण की आशंका खत्म हो जाती है, लेकिन दालचीनी का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह ले लेनी चाहिए।

प्रेगनेंसी से बचने के लिए सूखी खुबानी खायें – Dried Apricots to avoid Pregnancy in Hindi

अनचाहे गर्भ से बचने के लिए खुबानी का प्रयोग भी किया जा सकता है। लेकिन यदि प्रेगनेंसी रिपोर्ट पॉजिटिव हो तो इसे नहीं खाना चाहिए। प्रेगनेंसी से बचने के लिए 100 ग्राम सूखी खुबानी में दो बड़े चम्मच शहद और पानी मिलाकर इस मिश्रण को आधे घंटे तक उबाले और फिर छानकर पी लें। यह प्रेगनेंसी को रोकने में मदद करता है।

प्रेगनेंसी रोकने के उपाय है विटामिन सी – Vitamin C Prevent Pregnancy in Hindi

शुद्ध विटामिन सी का सेवन करने से यह प्रेगनेंसी को रोकने में बहुत अच्छी तरह से कार्य करता है। विटामिन सी में एस्कॉर्बिक एसिड मौजूद होता है जोकि गर्भाशय को गर्भावस्था के लिए तैयार करने वाले प्रोजेस्ट्रॉन हार्मोन को असंतुलित कर देता है। 1500 मिलीग्राम के विटामिन सी के कैप्सूल का दिन में दो बार 2 से 3 दिनों तक असुरक्षित सेक्स के बाद सेवन करने से गर्भधारण करने से बचा जा सकता है।

(और पढ़े – विटामिन सी की कमी दूर करने के लिए ये खाद्य पदार्थ)

अनचाहे गर्भ से बचने के लिए अजमोद का सेवन – Parsley Prevent Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी से बचने के लिए अजमोद का सेवन - Parsley Prevent Pregnancy in Hindi

लंबे समय तक प्राकृतिक रूप से गर्भावस्था को रोकने के लिए अजमोद (Parsley) का इस्तेमाल ज्यादातर महिलाएं करती हैं। प्रेगनेंसी से बचने के लिए प्रतिदिन अजमोद का चाय बनाकर सेवन करने से यह बहुत फायदेमंद साबित होता है। अजमोद बहुत आसानी से उपलब्ध भी हो जाता है और प्रेगनेंसी को रोकने के लिए इसका सेवन करने से कोई साइड-इफेक्ट भी नहीं होता है।

(और पढ़े – अजमोद खाने के फायदे और नुकसान)

प्रेगनेंसी रोकने की दवा है पहाड़ी पुदीना – Spearmint to avoid Pregnancy in Hindi

इसका इस्तेमाल जड़ी-बूटियों के रूप में किया जाता है। प्रेगनेंसी को रोकने के लिए इस जड़ी-बूटी का चाय के रूप में सेवन करने से गर्भधारण को रोकने में आसानी होती है। हालांकि इसका सेवन डॉक्टर की सलाह लेकर करना चाहिए।

कपास के जड़ का सेवन प्रेगनेंसी से बचने में – Cotton Root Bark to avoid Pregnancy in Hindi

माना जाता है कि कपास के पेड़ के जड़ों में ऑक्सीटोसिन पाया जाता है और ऑक्सीटोसिन को लव हार्मोन के नाम से जाना जाता है। इसका अर्थ यह है कि यह गर्भाशय के संकुचन (contraction) को उत्तेजित करता है और प्रेगनेंसी से बचाव करता है। कपास के जड़ को उबालकर चाय के रूप में दिन में दो बार इसका सेवन करने से प्रेगनेंसी से बचा जा सकता है।

प्रेगनेंसी से बचने के लिए औषधियों के इस्तेमाल से पहले की सावधानियां – Precaution before Using Remedies To Prevent Pregnancy in Hindi

  • प्रेगनेंसी रोकने के लिए इन घरेलू औषधियों का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
  • इन औषधियों का साइड इफेक्ट भी हो सकता है इसलिए इस्तेमाल से पहले औषधि (remedies) के बारे में अच्छी तरह जानकारी हासिल कर लें और इनका अधिक मात्रा में उपयोग न करें।
  • इन औषधियों का सेवन शुरू करने से पहले एक बार डॉक्टर को जरूर बताएं अन्यथा इनके गलत खुराक और गलत औषधि का चुनाव करने से स्वास्थ्य के लिए खतरा उत्पन्न हो सकता है।
  • चूंकि प्रेगनेंसी रोकने में कोई भी औषधि सौ प्रतिशत कारगर (beneficial) नहीं होती है, इसलिए सिर्फ इन्हीं औषधियों के भरोसे न रहें।
  • आपको बता दें की यह तरीके तब इस्तेमाल किये जाते थे जब प्रेगनेंसी को रोकने के अन्य साधन उपलब्ध नहीं थे इसलिए आप सुरक्षित सेक्स करें जिससे आप अपनी अनचाही प्रेगनेंसी से बच सकें।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration