योनी में खुजली, जलन और इन्फेक्शन के कारण और घरेलू इलाज – Home remedies for vaginal itching and infection in hindi




योनी में खुजली, जलन और इन्फेक्शन के कारण और घरेलू इलाज - Home remedies for vaginal itching and infection in hindi
Written by Daivansh

योनी में खुजली, जलन और विभिन्न प्रकार के इन्फेक्शन से अधिकतर महिलाएँ परेशान रहती हैं। योनि में संक्रमण को खमीर संक्रमण भी कहा जाता हैं। खमीर एक प्रकार का फंगस होता है जो कुछ मात्रा में योनि में पाया जाता है। अगर  योनी में खमीर की मात्रा बढ़ जाए तो इससे योनि में इन्फेक्शन का खतरा बढ़  जाता है। योनी में खुजली होना इसके सबसे साधारण लक्षण होते है। अधिकतर मामलो में खुजली और जलन का होना इन्फेक्शन का लक्षण होता हैं जो की खतरनाक नहीं होता लेकिन सही निर्णय यही है की आप अपने डॉक्टर से पास जाकर अपनी समस्या का जल्द इलाज करवा लें|

इसके अन्य लक्षणों में पेशाव करते समय या यौन संबंध बनाते समय योनि में दर्द और जलन का होना , योनी में सूजन होना आदि शामिल हैं।

इस तरह का इन्फेक्शन कोई बीमारी नहीं है, लेकिन यह परेशानी उन महिलाओं को अधिक होती है जो अधिक यौन संबंध बनाती हैं। इसके अतिरिक्त एंटीबायोटिक्स दवाओं का सेवन करने से भी इस तरह के जीवाणुओं में वृद्धि हो सकती है और संक्रमण का कारण बन सकती है। इसके अलावा कुछ और भी कारण हैं जैसे – गर्भावस्था के दौरान एस्ट्रोजन होर्मोन के स्तर में बदलाव होना, किसी भी समय हॉर्मोन में उतर चढ़ाव होना, शुगर आदि।

योनि में इन्फेक्शन के प्रकार – Types of Vaginal Infection in Hindi

योनि में इन्फेक्शन मुख्य रूप से तीन प्रकार से हो सकता हैं –

  1. योनी में यीस्ट संक्रमण का होना (Vaginal Yeast Infection in Hindi) – यह सबसे ज्यादा होने वाला योनि संक्रमण है। यीस्ट संक्रमण मुख्य रूप से कैंडिडा (Candida) नामक फंगस के कारण होता है। आपको बता दें की कैंडिडा फंगसमहिलाओं की योनि में कम मात्रा में प्राकृतिक तरीके से पाए जाते हैं और किसी भी प्रकार का नुकसा नहीं पहुचाते है। लेकिन किसी अन्य वजह से उनकी संख्या बढ़ जाती हैं तो योनि में संक्रमण उत्पन्न हो जाता हैं।
  2. योनि में बैक्टीरियल संक्रमण या बैक्टीरियल वेजिनोसिस का होना (Bacterial Vaginosis in Hindi) – महिलाओं के गुप्तांग पर अच्छे बैक्टीरिया पाए जाते हैं जिनसेकिसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होती लेकिन कई बार कुछ  कारणों से खराब बैक्टीरिया की संख्या अधिक हो जाती है जिससे आपके प्राइवेट पार्ट में बैक्टीरियल इन्फेक्शन हो जाता है जिसके लक्षण होते हैं खुजली, जलन, सूजन और बदबूदार डिस्चार्ज होना|
  3. ट्राइकोमोनिएसिस के कारण योनि में संक्रमणहोना (Trichomoniasis in Hindi) – तीनों प्रकार के योनि संक्रमणों में, ट्राइकोमोनिएसिस ही एक ऐसा संक्रमण है जो यौन संचारित संक्रमण (Sexually transmitted infection (STI) के द्वारा होता है। सामान्य भाषा में इसे ट्रिच (Trich) भी कहा जाता है। इसका मुख्य कारण एककोशिकीय परजीवी ट्राइकोमोनास वैजिनैलिस (Trichomonas vaginalis) होता है।इस तरह का संक्रमण यौन संभोग के दौरान किसी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में स्थानांतरित किया जाता है।

Sexually transmitted disease (STDs)

STD यानि यौन रोग के द्वारा भी अकसर महिला को योनी की खारिश और दुसरे लक्षण होने की शिकायत होती है| नीचे कुछ यौन गुप्त रोग हैं जिनके कारण प्राइवेट पार्ट में खाज होना एक आम बात है|

  • Trichomoniasis – यह एक यौन रोग है जो trichomonas नामक परजीवी द्वारा फैलाया जाता है| यह अकसर छोटी उम्र की लड़कियों में असुरक्षित यौन संबंधों के कारण होता है| इसमें योनी पर खारिश, गुप्तांग से बदबू, जलन, और पीले हरे रंग के द्रव का स्त्राव होता है|
  • Chlamydia – यह एक बैक्टीरिया जनित रोग है जिसमें रोगी को योनी पर दर्द, सुजन , पेशाब में जलन और बदबूदार द्रव का स्त्राव होता है| यदि इसका इलाज ना हो तो बाँझपन और एक्टोपिक pregnancy का खतरा रहता है|
  • Gonorrhea – यह यौन रोग भी बैक्टीरिया द्वारा होता है| बार बार पेशाब आना औरपेशाब में जलन होना, पीले रंग का डिस्चार्ज होना, योनी में सूजन और दर्द इसके मुख्य लक्षण होते हैं|
  • Genital Herpes – यह herpes simplex virus (HSV) द्वारा फैलता है इसमें रोग में गुप्तांग के आस पास दाने और घाव जैसे निशान हो जाते हैं| इसमें रोगी को जलन , दर्द और काफी तेज खुजली होती रहती है|

योनि में यीस्ट संक्रमण के कारण  – cause of vaginal yeast infection in Hindi

यीस्ट इन्फेक्शन हर चार में से 3 महिलाओं को अपनी जिन्दगी में एक बार या उससे ज्यादा बार अपना शिकार बनती है| यह उन महिलाओं को अधिक होती है जो महिलाएं शराब, birth कण्ट्रोल पिल्स, ख़राब खान पान का सेवन करती हैं| मानसिक तनाव, कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता, डायबिटीज द्वारा ग्रसित महिलाओं में भी यीस्ट इन्फेक्शन ज्यादा होने का खतरा रहता है| इसमें योनी से सफेद क्रीम रंग का डिस्चार्ज होता है, बदबू आती है, योनी में दर्द, जलन और सूजन रहती हैं और पेशाब और सम्भोग के समय दर्द और जलन होती है|

इन कारणों के के अलावा योनी पर केमिकल युक्त पदार्थों का इस्तेमाल जैसे डिटर्जेंट, साबुन, डीओ, कक्रीम, टॉयलेट पेपर, कंडोम, सफाई सफाई की कमी आदि द्वारा भी इन्फेक्शन जलन और खुजली का खतरा रहता है| इनके अलावा दवाइयां, स्किन कंडीशन गीले और टाइट undergarments पहनना भी इस समस्या के लिए जिम्मेदार होते हैं।

(और पढ़े: योनि से सफ़ेद पानी आना (श्वेत प्रदर, ल्यूकोरिया) लक्षण, कारण और घरेलू उपचार)

योनी में खुजली, जलन और सूजन का इलाज – Vaginal itching, infection treatment in hindi

वैसे तो यदि आपकी समस्या के पीछे कोई बड़ा कारण नहीं है तो खुजली और दुसरे लक्षण अपने आप ही ठीक हो जायेंगे| लेकिन यदि आपको एक या दो दिन बाद भी आराम ना आये तो डॉक्टर से मिलिए| डॉक्टर आपकी योनी की जांच करेगी और डिस्चार्ज का सैंपल लेकर इन्फेक्शन के प्रकार के बारे में पता करेगी और आपको जरुरी उपचार देगी जैसे

STD होने पर आपको एंटीबायोटिक या एंटी परासिटिक दावा दी जाएगी| यीस्ट इन्फेक्शन हों पर अकसर डॉक्टर रोगी को एंटी फंगल दावा और क्रीम लिखते हैं|

(और पढ़े: पीरियड्स जल्दी लाने और रोकने के घरेलु उपाय)

योनी में खुजली और जलन का घरेलू इलाज Home remedies for Vaginal itching, infection in hindi

यहाँ हम आपको कुछ ऐसे आसान घरेलू उपाय बताने जा रहे है जिन्हें आजमा कर आप कुछ ही समय में संक्रमण को कम कर सकती हैं। आप निम्न उपाय अपनाकर भविष्य में प्राइवेट पार्ट की irritation और इन्फेक्शन से बच सकती हैं|

योनी में खुजली दूर करने में कैलेंडुला है फायदेमंदCalendula for Vaginal Itching in Hindi

योनि की खुजली से बचने के लिए कैलेंडुला का इस्तेमाल भी लाभप्रद होता है। इसके लिए कैलेंडुला के फूल को पानी में उबाल ले, फिर उस पानी से गुप्तांग को धोले। ऐसा करने से खुजली की परेशानी से राहत मिल जाएगी।  इसके साथ-साथ कैलेंडुला के फूलो को सुखाकर इसके पाउडर को भी आप प्रयोग में ले सकती है। लेकिन ध्यान रहे की पाउडर लगते वक्त वो अंदर के हिस्से तक नहीं पहुंच पाये।

योनी में खुजली का घरेलू उपचार है दही – Yogurt for Yeast Infection in Hindi

दही में अच्छे बैक्टीरिया होते हैं और इस प्रकार दही योनि में खमीर संक्रमण को बढ़ने से रोकती है और अच्छे बैक्टीरिया का उचित संतुलन बनाए रखने में मदद करती है।

आप दही का इस्तमाल इस तरह से कर सकती है दही में एक रुई के फाहे को डुबोएं और 2 घंटे के लिए योनि के उपर रखें। इसके बाद, गुनगुने पानी के साथ अच्छी तरह से साफ कर लें। दिन में दो बार यह उपाय करें।
इसके अलावा, अपने आहार में दही को शामिल करें।

(और पढ़े – दही खाने से सेहत को होते हैं ये बड़े फायदे)

नोट: एक खमीर संक्रमण के इलाज के लिए केवल सादी और बिना मीठे वाली दही का उपयोग करें। मीठी दही केवल हालत खराब करेगी।

योनि में यीस्ट संक्रमण रोकने का उपाए है लहसुन – Garlic paste for prevent yeast infection in Hindi

लहसुन जिसका उपयोग खाना को स्वादिष्ट बनाने में किया जाता है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की लहसुन को विभिन्न प्रकार की बीमारियों के इलाज में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। क्योकि इसमें एंटिफंगल, एंटी बैक्टीरियल और एंटीबायोटिक के गुण पाए जाते है जो यीस्ट संक्रमण के घरेलू इलाज में काफी प्रभावी होते हैं।

(और पढ़े: योनि से जुड़े रोग और उपचार)

योनि में यीस्ट संक्रमण दूर करने के लिए लहसुन का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. लहसुन की पोथी को लेकर उसेपीस ले या मसल कर एक पेस्ट तैयार कर लें। इसके बाद ताजा बने लहसुन के पेस्ट को अपनी योनि की प्रभावित जगह पर लगाएं।
  2. इसके अतिरिक्त आप ताज़े लहसुन की पोथी को (कलि) को खा भी सकती हैं। इससे योनि में हुए खमीर संक्रमण को दूर करने में आसानी होगी।

(लौर पढ़े – जानिए लहसुन के चमत्कारी स्वास्थ्यवर्धक गुणों के बारे में)

ऐप्पल सीडर विनेगर का उपयोग जननांग की खुजली के लिए – use apple cider vinegar for genital itching in Hindi

ऐप्पल साइडर विनेगर में एंटीबैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण मौजूद होते है। यदि योनि में खुजली या जलन का कारण बैक्टीरियल या फंगल संक्रमण है तो ऐप्पल साइडर विनेगर का इस्तेमाल कर उसे दूर किया जा सकता है। ऐप्पल साइडर विनेगर का इस्तेमाल करने के लिए एक चम्मच ऐप्पल साइडर विनेगर को गर्म पानी में मिलाएं। दो तीन दिन तक दिन में दो बार जननांग को इस मिश्रण से धोएं।

(और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे, लाभ, गुण और नुकसान)

बैक्टीरियल वेजिनोसिस को कम करने के लिए नारियल के तेल का करें प्रयोग – Coconut oil for bacterial vaginosis in Hindi

नारियल तेल में प्राकृतिक एंटीवायरल, जीवाणुरोधी और एंटिफंगल गुण होते हैं जो कि रोगाणुओं को खत्म करने में मदद करते हैं और उसे दुबारा पनपने के लिए भी रोकते हैं।

बैक्टीरियल वेजिनोसिस में नारियल के तेल का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. नारियल के तेल में कपूर को मिलाकर इस्तेमाल करने से भी जलन कम होती है और त्वचा भी मुलायम बनी रहती है।
  2.  वैकल्पिक रूप से, आर्गेनिक नारियल तेल में टैम्पोन को डुबोये और अपनी योनि के लिए उसका इस्तेमाल करें। इसे कुछ घंटों के लिए ऐसे ही छोड़ दें। टैम्पोन हटाने के बाद गुनगुने पानी से अपनी योनि को धो लें। इसे रोज़ाना कई दिनों तक करें।
  3. इसके अलावा अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने और उपचार प्रक्रिया को गति देने के लिए जितना संभव हो खाना पकाने के लिए नारियल तेल का इस्तेमाल करें।

(और पढ़े – नारियल के तेल के फायदे और उपयोग)

नमक से स्नान बचाएगा योनि में खुजली से – Salt bath save from the vaginal itching in hindi

नमक में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। इसलिए नमक खुजली तथा बैक्टीरिया के कारण हुए संक्रमण को आसानी से दूर कर सकता हैं। इसके इस्तेमाल का तरीका बड़ा ही आसान है जब कभी भी आपको खुजली या जलन महसूस हो तब आप नमक के पानी के घोल से अपने जननांग को अच्छे से साफ कर लें। इससे आपको तुरंत आराम मिलेगा और यह बैक्टीरिया को आगे बढ़ने से भी रोकेगा। या ऐसा भी कर सकती हैं कि टब को गर्म पानी से आधा भरें तथा इसमें आधा कप नमक डालें। टब में पालथी मारकर बैठें।

(और पढ़े – सेंधा नमक के फायदे गुण लाभ और नुकसान)

योनि में खुजली का देसी इलाज है एलोवेरा – Aloe Vera for Vaginal Itching in Hindi

एलोविरा में विटामिन, एंजाइम और अमीनो एसिड होते हैं जो कैंडिडा (एक प्रकार का खमीर) के विकास को बाधित करने में मदद करते हैं। एलोवेरा में भी एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-इरिटेटिंग और एंटीफंगल गुण होते हैं जो कि योनि संक्रमण के नियंत्रण और उसके इलाज में मदद करते हैं।

2 बड़े चम्मच एलोवेरा जैल और 1 कप संतरे का रस या सिर्फ सादे पानी को मिलाकर एलोवेरा रस तैयार करें। कुछ दिनों के लिए दिन में एक बार एलोवेरा का रस पिएं।

आप एलोवेरा पत्ती से जैल निकालें और दिन में कई बार प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं जब तक संक्रमण ठीक ना हो जाए।

(और पढ़े – एलोवेरा के फायदे और नुकसान)

योनी में खुजली से बचने के लिए सूखा रखें जननांगKeep Dry to Avoid vaginal Itching in hindi

पसीने और पानी के कारण यदि योनि में नमी रहती है तो इससे उस स्थान पर बैक्टीरिया और फंगस पैदा होते हैं, जिसके कारण संक्रमण और शर्मिन्दगी पैदा करने वाली स्थिति उत्पन्न होती है। हमेशा ध्यान रखें कि संक्रमण को रोकने के लिए योनि को नमी से मुक्त रखें।

(और पढ़े: योनी के रंग को प्राक्रतिक तरीके से गोरा बनाते है ये 5 उपाय)

ढीले कपडे पहनने से दूर होगी योनि में खुजली की समस्या – wear loose clothes to reduce Vaginal itching in hindi

कहा जाता है कि इलाज से बेहतर है रोकथाम करना। यदि आपको कभी भी योनि में खुजली की समस्या हुई है तो तो आप जानेंगे कि इस समस्या को दूर रखने के लिए यह सलाह क्यों उपयुक्त है। ढीले कपड़े पहनने से आपको योनि में खुजली की समस्या नहीं होती।

पानी से गुप्तांग में खुजली का इलाज – Treatment of genital itching with water in hindi

योनि की कई समस्याओं को पानी की सहायता से ठीक किया जा सकता है। शरीर में पानी की कमी होने से बचाने और खुजली तथा रूखेपन से खुद को बचाने के लिए काफी मात्रा में पानी पियें।

(और पढ़े – क्या आप जानतें है आपको रोज कितना पानी पीना चाहिए )

बर्फ की सिकाई देगी योनी में खुजली से राहत – Ice will give relief from Vaginal itching in Hindi

जननांग की खुजली रात के समय अधिक परेशान है। हो सकता है इससे आपकी नींद पूरी न हो तथा खुजली के कारण आप थकान और सुस्ती भी महसूस करें। रात में अधिक होने वाली इस खुजली को रोकने के लिए योनि पर सीधे ही बर्फ लगायें या योनि को ठंडा सेंक दें। वैकल्पिक तौर पर आप ऐसे ठन्डे पैक या तौलिये का प्रयोग कर सकती हैं जिसे ठन्डे पानी में डुबोया गया हो। इससे आपको खुजली से काफी जल्दी छुटकारा मिल जाएगा। हालांकि यह विधि योनी में खुजली की समस्या को जड़ से तो दूर नहीं करती, पर आपको काफी समय के लिए आराम अवश्य प्रदान करती है।

योनी में खुजली और जलन को दूर करने के अन्य औषधियों से उपचार- Other home medicines for Vaginal itching and irritation in hindi

  • सुहागा: लगभग 100 मिलीलीटर जल में 4 ग्राम सुहागा घोलकर योनि को धोने से कण्डू (खुजली) में लाभ मिलता है। यह घोल गुदा की खुजली में भी लाभकारी होता है।
  • कपूर: खुजली योनि की हो या अण्डकोष की कपूर आधा ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम सेवन करने को दें। साथ ही यशद भस्म और कपूर तेल में घोलकर खुजली वाले स्थान पर लगाना चाहिए।
  • आंवला: आंवले के रस में चीनी मिलाकर प्रतिदिन दो-तीन बार पिलाएं अथवा सूखे आंवले का चूर्ण एक चम्मच की मात्रा में सुबह-शाम मिश्री के शर्बत के साथ सेवन करने से योनि की जलन और खुजली में लाभ मिलता है।
  • छरीला: छरीला के साथ गर्म किया हुआ तिल का तेल लगाने से भग (योनि) की खुजली ठीक हो जाती है।
  • नागरमोथा: नागरमोथा के फल को पीसकर कपड़े से निचोड़कर प्राप्त रस को लगाने से योनी में खुजली और जलन में बहुत लाभ मिलता है।
  • हरड़: बड़ी हरड़ की मींगी (बीज, गुठली) और माजू दोनों समान मात्रा में लेकर बारीक पीसकर शीशी में रखें। इस चूर्ण को पानी में घोलकर योनि को धोने से योनि की जलन और खुजली नष्ट हो जाती होती है।

ऊपर आपने जाना योनी में खुजली और जलन को दूर करने का घरेलू इलाज Home remedies for Vaginal itching, infection in hindi के बारे में यदि आप भी योनि की समस्या से परेशान है तो उपरोक्त घरेलु उपायो को जरूर अपनाये|

अगर योनी में खुजली और जलन का कारण आपको पता हो तो इसका इलाज काफी आसान हो जाता है। अतः अगर इन उपायों से आपको फायदा ना पहुंचे तो किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह करें तथा एक सटीक उपाय ढूँढने की कोशिश करें, जिससे खुजली, जलन तथा संक्रमण की समस्याओं से छुटकारा मिल सके।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration