घरेलू उपाय

मर्दाना कमजोरी और बांझपन को दूर करे जिनसेंग – Ginseng To Help With Male Infertility And Erectile Dysfunction In Hindi

मर्दाना कमजोरी और बांझपन को दूर करे जिनसेंग - Ginseng To Help With Male Infertility And Erectile Dysfunction In Hindi

मर्दाना कमजोरी और बांझपन आज दुनियां में बढ़ती हुई एक आम समस्‍या बन चुकी है। अध्‍ययनों के अनुसार दुनिया भर में लगभग 48 प्रतिशत पुरुष मर्दाना कमजोरी और बांझपन के शिकार हैं। प्रजनन क्षमता में कमी होने के कई कारण होते हैं। लेकिन सेक्‍स और प्रजनन क्षमता बढ़ाने में आहार और औषधीयां अहम योगदान देते हैं। बहुत से लोग मर्दाना ताकत बढ़ाने और बांझपन को दूर करने के नाम पर कई प्रकार की औषधीयां उपयोग कर रहे हैं। किसी पुरुष में मर्दाना ताकत की कमी या बांझपन कोई स्‍थाई समस्‍या नहीं है। बहुत से लोग आयुर्वेदिक जड़ी बूटीयों का उपयोग कर मर्दाना कमजोरी और नपुंसकता को दूर कर सकते हैं। प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाली औषधी के रूप में बहुत से आयुर्वेदिक चिकित्‍सक जिनसेंग का उपयोग करने की सलाह देते हैं। आज इस आर्टिकल में आप मर्दाना कमजोरी और बांझपन दूर करने के लिए जिनसेंग के फायदे जानेगें।

विषय सूची

जिनसेंग क्‍या है – Ginseng kya hai in Hindi

जिनसेंग क्‍या है – Ginseng kya hai in Hindi

जिनसेंग एक औषधीय जड़ी बूटी है जो प्राचीन समय से ही यौन कमजोरी और बांझपन को दूर करने में उपयोग की जा रही है। जिनसेंग को वैज्ञानिक रूप से पैनेक्‍स जिनसेंग (Panax ginseng) के रूप में जाना जाता है। सामान्‍य रूप से इस औषधी का उपयोग शारीरिक की थकान, तनाव और अनिद्रा का इलाज करने में प्रभावी माना जाता है। ये सभी कारण किसी भी महिला या पुरुष में बांझपन का कारण बनते हैं। जिनसेंग एक बारहमासी पौधा है जिसकी जड़े मोटी और मांसल्‍य होती हैं। जिनसेंग की पत्तियां हल्‍की पीली होती हैं। इस पौधे के फूल जून से जुलाई के बीच में आते हैं। जिनसेंग की जड़ों की एक मुख्‍य पहचान यह है कि इनकी आकृति लगभग मानव के पैर के समान होती है। औषधी के रूप में नियमित रूप से सेवन करने पर जिनसेंग के फायदे बांझपन और यौन दुर्बलता को कम करने में सहायक होते हैं।

(और पढ़ें – जिनसेंग के फायदे और नुकसान)

यौन समस्‍याओं के प्रकार – Youn samasya ke prakar in Hindi

यौन समस्‍याओं के प्रकार – Youn samasya ke prakar in Hindi

हम सभी लोग यौन समस्‍याओं या यौन रोग का नाम सुनते ही सीधे बांझपन या नामर्दानगी समझ लेते हैं। जबकि ऐसा नहीं है। यौन समस्‍याओं के प्रकार अलग-अलग होते हैं अधिकांश लोग इस समस्‍या को पहचाने बिना ही इसका उपचार और घरेलू उपचार करने लगते हैं। आइए जाने किसी पुरुष की यौन समस्‍याओं के प्रकार क्‍या हैं जिन्‍हें जानकर आप इनका उचित उपचार कर सकते हैं। यौन रोग सामान्‍य रूप से 3 प्रकार के होते हैं।

(और पढ़े – शीघ्रपतन कारण,उपचार और शीघ्रपतन रोकने के घरेलु उपाय…)

पुरुष यौन रोग है स्‍तंभन दोष – Purush youn rog hai stambhan dosha in Hindi

पुरुष यौन रोग है स्‍तंभन दोष – Purush youn rog hai stambhan dosha in Hindi

किसी भी पुरुष में स्‍तंभन दोष (Erectile dysfunction) सेक्‍स करने के दौरान आने वाली समस्‍या है। इस दौरान सेक्‍स करते समय पुरुषों के लिंग में पर्याप्‍त उत्‍तेजना या कड़ापन नहीं होता है। इस यौन समस्‍या के पीछे कई शारीरिक और मानसिक कारण होते हैं। शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं में मधुमेह, गुर्दे और यकृत की समस्‍याएं, हृदय रोग और हार्मोनल असंतुलन आदि। जबकि मानसिक कारणों में तनाव, अनिद्रा और अवसाद आदि होते हैं। स्तंभन दोष से बचने के लिए आप इन स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍यओं पर विशेष ध्‍यान दें।

(और पढ़ें – शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए अपनाएं यह इलाज और उपचार)

पुरुषों की यौन समस्‍या है स्‍खलन में परेशानी – Purusho ki youn samasya hai skhalan me pareshani in Hindi

पुरुषों की यौन समस्‍या है स्‍खलन में परेशानी – Purusho ki youn samasya hai skhalan me pareshani in Hindi

यौन संबंध बनाने के दौरान स्‍खलन में होने वाली कठिनाई पुरुषों की प्रमुख यौन समस्‍या में से एक है। स्‍खलन की 3 श्रेणियां होती हैं।

शीघ्रपतन (premature) – इस दौरान जब कोई पुरुष यौन संबंध बनाता है तब वह समय से पहले या बहुत ही जल्‍दी स्‍खलित हो जाता है। जिससे उसे और महिला साथी को पर्याप्‍त यौन सुख प्राप्‍त नहीं होता है।

रुक-रुक कर स्‍खलन होना (inhibited) –इस दौरान किसी पुरुष साथी को सेक्‍स के दौरान वीर्य उत्‍सर्जन करने में बहुत परेशानी होती है। इस यौन समस्‍या में यौन संबंध बनाते समय या तो स्‍खलन होता ही नहीं है या बहुत देर तक रूक-रुक कर होता है।

वीर्य का पीछे जाना (retrograde) – इस प्रकार की समस्‍या में स्‍खलन तो होता है लेकिन वीर्य मूत्र मार्ग से बाहर जाने की बजाय अंदर की तरफ मूत्राशय में ही प्रवाहित होते हैं। यह स्‍खलंन संबंधी समस्‍याओं में सबसे गंभीर स्थिति होती है।

(और पढ़ें – पुरुष बांझपन के उपचार के लिए आयुर्वेदिक औषधी)

पुरुषों में प्रजनन क्षमता संबंधी समस्‍याएं – Fertility problems in men in Hindi

पुरुषों में प्रजनन क्षमता संबंधी समस्‍याएं - Fertility problems in men in Hindi

इस प्रकार की यौन समस्‍या गंभीर होती है क्‍योंकि यह सीधे ही आपकी यौन और प्रजनन क्षमता को प्रभावित करती हैं। इस प्रकार की यौन समस्‍या हार्मोनल असंतुलन, लगातार अवसादरोधी (antidepressants) दवाओं अधिक का सेवन, धूम्रपान और मदिरापान आदि के कारण होती हैं। ये सभी कारण किसी भी पुरुष में बांझपन का कारण बन सकते हैं। लेकिन ऊपर बताई गई सभी यौन समस्‍याओं को दूर करेन में जिनसेंग एक प्रभावी औषधी मानी जाती है।

(और पढ़ें – शीघ्रपतन को दूर करने के आसान घरेलू उपाय)

पुरुष बांझपन का इलाज जिनसेंग – Purush banjhpan ka ilaj Ginseng in Hindi

पुरुष बांझपन का इलाज जिनसेंग – Purush banjhpan ka ilaj Ginseng in Hindi

प्राचीन समय से जिनसेंग का उपयोग कई प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने के लिए उपयोग किया जा रहा है। लेकिन मर्दाना कमजोरी और बांझपन को दूर करने में जिनसेंग का उपयोग विशेष रूप से किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि जिनसेंग में कामोद्दीपक (aphrodisiac) गुण होते हैं। जिनसेंग पुरुष और महिलाओं दोनों की कामेच्‍छा को बढ़ाने में सहायक होते हैं। जिन लोगों को प्रजनन क्षमता संबंधी समस्‍याएं होती हैं उन्‍हें विशेष रूप से जिनसेंग का सेवन करने की सलाह दी जाती है। जिनसेंग में कई प्रकार के जिनसिनोइड सैपोनिन (ginsenosidesaponins) होते हैं। ये घटक प्रभावशील फाइटोकेमिकल्‍स होते हैं। जिसके कारण तनाव, चिंता आदि को दूर करने के साथ ही यह रोगप्रतिरोध क्षमता में वृद्धि करता है। आप अपनी जीवनशक्ति, ऊर्जा, समग्र स्‍वास्‍थ्‍य और प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए जिनसेंग जड़ी बूटी का औषधीय उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़ें – पुरुष बांझपन के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव)

जिनसेंग पुरुषों के शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Ginseng purusho ke sharirik swasth ke liye in Hindi

जिनसेंग पुरुषों के शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Ginseng purusho ke sharirik swasth ke liye in Hindi

यौन कमजोरी का एक सामान्‍य कारण रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी हो सकती है। जिनसेंग का नियमित सेवन करने से प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत किया जा सकता है। इसके अलावा जिनसेंग तनाव को कम करने, स्‍वस्‍थ रक्‍त परिसंचरण को बढ़ावा देने और सहनशक्ति को बढ़ाने में सहायक होता है। यदि आपके शरीर में इस प्रकार की समस्‍याएं होती हैं तो ये आपकी यौन क्षमता के लिए हानिकारक हो सकता है। जिससे पुरुषों में बांझपन की समस्‍या हो सकती है।

(और पढ़ें – पुरुषों की सेक्स समस्यायों के बारे में जानकारी)

जिनसेंग के खाने के लाभ शुक्राणुओं की संख्‍या बढ़ाये – Ginseng for Increases Sperm Count in Hindi

जिनसेंग के खाने के लाभ शुक्राणुओं की संख्‍या बढ़ाये – Ginseng for Increases Sperm Count in Hindi

जिनसेंग का नियमित सेवन पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्‍या और उनकी गुणवत्ता को बढ़ाने में सहायक होता है। जिनसेंग का उपभोग करने पर प्रत्‍येक स्‍खलन के दौरान शुक्राणुओं की गतिशीलता और संख्‍या में वृद्धि के कारण प्रजनन क्षमता में वृद्धि होती है। यदि शुक्राणुओं की संख्‍या प्रति स्‍खलन के दौरान 20 मिलियन से कम होती है तो यह प्रजनन क्षमता में कमी या बांझपन के लक्षणों को दर्शाता है। स्‍वस्‍थ यौन क्षमता वाले लोगों में शुक्राणु मूत्र मार्ग में सीधे आगे बढ़ते हैं जबकि जिन लोगों की प्रजनन क्षमता कमजोर होती है उनके शुक्राणु सर्पिल गति से चलते हैं। जिससे वे महिला अंडाशय को निषेचित करने में अस्मर्थ रहते हैं। अध्‍ययनों से पता चलता है कि जिनसेंग का सेवन करने से 50 प्रतिशत तक प्रति स्‍खलन तक समग्र गतिशीलता को बढ़ाने में मदद करता है।

(और पढ़ें – शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने का घरेलू उपाय )

जिनसेंग हाइपोथैलेमस को नियंत्रित करे –  Ginseng for Regulate Hypothalamus in Hindi

जिनसेंग हाइपोथैलेमस को नियंत्रित करे -  Ginseng for Regulate Hypothalamus in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि जिनसेंग का सेवन करने से पुरुषों के शरीर में हाइपोथैलेमस को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। जिससे पुरुषों में टेस्‍टोस्‍टेरोन के स्‍तर को बढ़ाया जा सकता है। टेस्‍टोस्‍टेरोन एक प्रमुख यौन हार्मोन है जो यौन क्षमता को बढ़ाने के साथ ही हृदय को भी स्‍वस्‍थ रखता है। टेस्‍टोस्‍टेरोन पुरुषों के शरीर में कोर्टिसोल नामक हार्मोन को भी नियंत्रित करता है जो तनाव और अवसाद आदि का प्रमुख कारण होता है।

(और पढ़ें – प्राकृतिक टेस्टोस्टेरोन बूस्टर जड़ी बूटी)

जिनसेंग के फायदे रक्‍त शर्करा कम करे – Ginseng ke fayde rakt sarkara kam kare in Hindi

जिनसेंग के फायदे रक्‍त शर्करा कम करे – Ginseng ke fayde rakt sarkara kam kare in Hindi

मानव शरीर में रक्‍त शर्करा का उच्‍च स्‍तर भी प्रजनन क्षमता में कमी या बांझपन का कारण बन सकता है। अध्‍ययनों से पता चलता है कि जिनसेंग का सेवन करने से रक्‍त शर्करा के स्‍तर को भी नियंत्रित करने में मदद मिलती है। शरीर में ग्‍लूकोज का उच्‍च स्‍तर होने के पुरुषों की सेक्‍स सहनशक्ति कमजोर हो सकती है। जिससे वे सेक्‍स के दौरान लंबे समय तक नहीं टिक पाते हैं। यही कारण है कि अधिकांश मधुमेह रोगी बांझपान या कमजोर यौन शक्ति का शिकार होते हैं। लेकिन नियमित रूप से आप जिनसेंग का औषधीय सेवन कर इस प्रकार की समस्‍या से बच सकते हैं।

(और पढ़ें – शुगर लेवल कम करने के उपाय और तरीके)

जिनसेंग के लाभ तनाव कम करे – Ginseng ke labh Tanav kam kare in Hindi

जिनसेंग के लाभ तनाव कम करे – Ginseng ke labh Tanav kam kare in Hindi

जिनसेंग एक जड़ी बूटी है जिसमें औषधीय गुण भरपूर मात्रा में होते हैं। यह न केवल आपके यौन स्‍वास्‍थ्‍य बल्कि मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को भी बढ़ावा देने में प्रभावी मानी जाती है। अध्‍ययनों से पता चलता है कि जिनसेंग का मानव शरीर में शांत प्रभाव पड़ता है जो तनाव प्रबंधन में मदद करता है। यदि आप भी तनाव या अवसाद जैसी स्थितियों से गुजर रहे हैं तो यह आपकी कामेच्‍छा पर नकारात्‍मक प्रभाव डाल सकती है। इसलिए अपने तनाव को कम करने और प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए आप जिनसेंग का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़ें – कोर्टिसोल (तनाव हार्मोन) को कम करने के उपाय)

जिनसेंग का उपयोग यौन प्रदर्शन बढ़ाये – Ginseng ka Upyog younpradarshan Badhaye in Hindi

जिनसेंग का उपयोग यौन प्रदर्शन बढ़ाये – Ginseng ka Upyog younpradarshan Badhaye in Hindi

यौन शक्ति बढ़ाने के पारंपरिक उपचार में जिनसेंग का व्‍यापक रूप से उपयोग किया जाता है। प्रजनन क्षमता संबंधी लाभों के संदर्भ में जिनसेंग पर कई प्रकार के अध्‍ययन किये गए हैं जिनसे यह पुष्टि होती है कि जिनसेंग यौन प्रदर्शन और सेक्‍स क्षमता दोनों को बढ़ा सकता है। एक अध्‍ययन में स्‍तंभन दोष वाले 45 रोगियों को श‍ामिल किया गया जिन्‍हें नियमित रूप से जिनसेंग का सेवन कराया गया। इन सभी लोगों के स्‍तंभन प्रदर्शन में सुधार पाया गया। बांझपन जैसी समस्‍या को दूर करने के लिए 8 सप्‍ताह तक प्रतिदन 900 मिली ग्राम जिनसेंग का सेवन दिन में 3 बार करना चाहिए। ऐसा करने से स्‍तंभन दोष सहित अन्‍य यौन कमजोरियों और परेशानीयों को प्रभावी रूप से दूर किया जा सकता है।

(और पढ़ें – यौन कमजोरी दूर करने के उपाय)

जिनसेंग के गुण कामेच्‍छा बढ़ाये – Ginseng for Increase Libido in Hindi

जिनसेंग के गुण कामेच्‍छा बढ़ाये – Ginseng for Increase Libido in Hindi

जिनसेंग पर किये गए अध्‍ययनों से पता चलता है कि एशियाई और अमेरिकी दोनों प्रकार की जिनसेंग का नियमित सेवन करने से यौन इच्‍छा में वृद्धि में हाती है। एक पशु अध्‍यनन के अनुसार चूहों को प्रति किलो ग्राम वजन के अनुसार एशियाइ जिनसेंग 25-100 मिली ग्राम और अमेरिकी जिनसेंग 2.5 से 10 मिली ग्राम का दैनिक आधार पर सेवन कराया गया। जिससे उन चूहों में सेक्‍स की प्र‍वृत्ति में वृद्धि देखी गई। जिनसेंग का नियमित रूप से पुरुषों द्वारा सेवन करने पर उनके शरीर में हार्मोन संतुलन को बनाए रखने में भी मदद मिलती है। जिनसेंग के औषधीय गुण पुरुष सेक्‍स स्‍टेरॉयड, टेस्‍टोस्‍टेरोन, ल्‍यूटिनाइजिंग हार्मोन आदि को भी बढ़ाने में सहायक होता है। जिससे पुरुषों की कामेच्‍छा में सुधार होता है। यदि आप में भी कामेच्‍छा की कमी है तो अपने दैनिक दिनचर्या में जिनसेंग का नियमित सेवन शामिल करें।

(और पढ़ें – सेक्‍सुअल परफॉरमेंस की चिंता के कारण, लक्षण और ठीक करने के उपाय )

गर्भावस्‍था में जिनसेंग का उपयोग – Pregnancy me Ginseng ka Upyog in Hindi

गर्भावस्‍था में जिनसेंग का उपयोग – Pregnancy me Ginseng ka Upyog in Hindi

चीन में गर्भावस्‍था के दौरान जिनसेंग का उपयोग किया जाता है। गर्भावस्‍था के दौरान जिनसेंग का सेवन किया जाना चाहिए या नहीं इसके कोई प्रमाणिक सबूत नहीं हैं। इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को जिनसेंग का सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह लेनी चाहिए।

(और पढ़ें – गर्भावस्‍था के दौरान मालिश करवाने के फायदे और अन्य जानाकरी)

जिनसेंग के नुकसान – Ginseng ke Nuksan in Hindi

जिनसेंग के नुकसान – Ginseng ke Nuksan in Hindi

जिनसेंग एक औषधीय जड़ी बूटी है जो स्‍वाभाविक रूप से मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छी होती है। लेकिन औषधीय गुण होने के कारण इसके कुछ दुष्‍प्रभाव भी हो सकते हैं। विशेष रूप से अधिक मात्रा में सेवन करने के दौरान।

मधुमेह रोगियों को जिनसेंग का सेवन करने से पहले अपने स्‍वास्‍थ्‍य सलाहकार से बात करनी चाहिए। क्‍योंकि अधिक मात्रा में सेवन करने पर यह शरीर में रक्‍त शर्करा को सबसे निचले स्‍तर पर ले जा सकता है।

कैफीन और अन्‍य उत्‍तेजक पदार्थों के साथ जिनसेंग का सेवन हानिकारक हो सकता है। इसलिए जिनसेंग का सेवन करने के दौरान अपने डॉक्‍टर को अपनी स्थिति की पूरी जानकारी दें और उनकी सलाह पर ही जिनसेंग का सेवन करें।

कुछ विशेष प्रकार की दवाओं का उपयोग करने के दौरान जिनसेंग का इस्‍तेमाल करने से बचना चाहिए। यदि आप हृदय रोगी हैं, खून पतला करने की दवा ले रहे हैं, उच्‍च या निम्‍न रक्‍तचाप की दवाएं ले रहे हैं, तब ऐसी स्थिति में जिनसेंग का सेवन करने से बचना चाहिए।

(और पढ़ें – नपुंसकता (स्तंभन दोष) दूर करने के लिए विटामिन )

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Reference

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration