यौन रोग के प्रकार और आयुर्वेदिक उपचार – Ayurvedic Remedies For Sexual Dysfunction in Hindi

यौन रोग के प्रकार और आयुर्वेदिक उपचार - Ayurvedic Remedies For Sexual Dysfunction in Hindi
Written by Daivansh

Sexual Dysfunction in Hindi यौन रोग एक विकार है जो आपके यौन जीवन में समस्याओं का कारण बन सकता है। यौन रोग आपकी सेक्स में रुचि को कम सकता है और किसी भी यौन गतिविधि में संलग्न होने से रोक सकता है। यह यौन विकार सभी उम्र के लोगों को प्रभावित कर सकता है, हालांकि, उम्र के साथ यौन रोग का खतरा बढ़ जाता है। यौन रोग के सामान्य लक्षण कम कामेच्छा स्तर और स्तंभन दोष हैं।

महिलाओं में यौन रोग – Sexual Dysfunction in Women in Hindi

महिलाओं में यौन रोग - Sexual Dysfunction in Women in Hindi

कम कामेच्छा (Low Libido) – आपके शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन का निम्न स्तर कम कामेच्छा पैदा कर सकता है। कम कामेच्छा के अन्य कारण चिंता, थकान और अवसाद हैं।

योनि का सूखापन (Dryness of the Vagina) – रजोनिवृत्ति के दौरान शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन के कारण योनि में सूखापन (Vaginal dryness) होता है। इससे संभोग के दौरान दर्द होता है और यौन उत्तेजना कम होती है। दर्दनाक सेक्स (painful sex) और चिंता जैसे कुछ मनोवैज्ञानिक मुद्दे भी योनि सूखापन का कारण बन सकते हैं।

सेक्स के दौरान दर्द (Pain During Sex) – महिलाओं को संभोग के दौरान दर्द का अनुभव हो सकता है जो योनि में सूखापन या एंडोमेट्रियोसिस (गर्भाशय के बाहर गर्भाशय के अस्तर के ऊतकों का विकास) के कारण हो सकता है। सेक्स के दौरान दर्द जननांगों में जलन के साथ भी हो सकता है।

ऑर्गेज्म अक्षमता (Orgasm Concerns) – कुछ एंटीडिप्रेसेंट दवाएं ऑर्गेज्म (orgasm) की अक्षमता का कारण बन सकती हैं। इसके मनोवैज्ञानिक कारण भी हो सकते हैं जैसे चिंता और अवसाद।

(और पढ़े – महिलाओं में सेक्स समस्याओं के बारे जानकारी…)

पुरुषों में यौन रोग – Sexual Dysfunction in Men in Hindi

पुरुषों में यौन रोग - Sexual Dysfunction in Men in Hindi

लो लिबिडो (Low Libido) – पुरुषों में, शरीर में टेस्टोस्टेरोन के स्तर में गिरावट से कामेच्छा के स्तर में गिरावट हो सकती है। यदि आप उच्च तनाव के स्तर से पीड़ित हैं, तो यह यौन इच्छा में कमी (lack of sexual desire) का कारण बन सकता है।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Erectile Dysfunction) – यह बिना किसी संभोग के या संभोग के दौरान लिंग में तनाव को लंबे समय तक बनाए रखने में असमर्थता की विशेषता है। पुरुषों में यह यौन विकार चिकित्सा विकारों जैसे मधुमेह और उच्च रक्तचाप (diabetes and hypertension) के कारण सबसे अधिक होता है। यह तनाव और अवसाद के कारण भी हो सकता है।

स्खलन की समस्याएं (Ejaculation Problems) – स्खलन की समस्याओं में स्खलन और शीघ्रपतन दोनों की अक्षमता शामिल है। यौन आघात, कुछ दवाएं और यौन चिंता इस विकार में योगदान करती हैं।

(और पढ़े – पुरुषों के गुप्त रोग, सेक्स समस्याओं – कारण, प्रकार, जांच, उपचार और रोकथाम…)

यौन रोग को दूर करने के लिए आयुर्वेद टिप्स – Ayurveda Tips to Overcome Sexual Dysfunction in Hindi

यौन रोग को दूर करने के लिए आयुर्वेद टिप्स - Ayurveda Tips to Overcome Sexual Dysfunction in Hindi

  • प्रजनन अंगों को फिर से जीवंत करने के लिए हर्बल दवाओं का सेवन करना।
  • शरीर को हर्बल तेल से मालिश करना जो शारीरिक परिश्रम से राहत देता है और कामोद्दीपक के रूप में भी काम करता है।
  • मानसिक परिश्रम को दूर करने और तनाव का सामना करने के लिए योग और ध्यान का अभ्यास करना।
  • दिन में कम से कम 8 घंटे की नींद लें
  • शराब, तम्बाकू, हेरोइन आदि के सेवन से बचना।
  • बेहतर सेक्स के लिए नियमित रूप से व्यायाम करें।
  • गर्म, मसालेदार खाना और कड़वे खाद्य पदार्थों से बचें।
  • मिठाई, दूध के उत्पाद, नट और उड़द की दाल का सेवन करें।
  • अपने आहार में थोड़ा घी शामिल करें। और सेक्स के दौरान लिंग पर घी लगाकर सेक्स करें।
  • दो लगातार संभोग के बीच दो से चार दिनों का अंतर रखें।

यदि आप किसी विशेष समस्या के बारे में चिंतित हैं, तो आप आयुर्वेद विशेषज्ञ या सेक्स विशेषज्ञ से परामर्श कर सकते हैं।

(और पढ़े – सेक्‍स पॉवर बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और पढ़े – 

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration