सेक्स थेरेपी क्या है, कैसे काम करती है, और जरूरत क्यों पड़ती है – What Is Sex Therapy, How It Works In Hindi




सेक्स थेरेपी क्या है, कैसे काम करती है, और जरूरत क्यों पड़ती है - What Is Sex Therapy, How It Works In Hindi
Written by Daivansh

Sex therapy in Hindi सेक्स थेरेपी यौन समस्याओं के कारण उत्पन्न परेशनियों के उपचार की एक प्रक्रिया है। आमतौर पर यह माना जाता है कि अगर किसी व्यक्ति का यौन जीवन सुखमय नहीं है तो उसे कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। यौन सुख न मिल पाने के कारण चिड़चिड़ापन, आत्मविश्वास में कमी तो आती ही है, इसके अलावा व्यक्ति अपने पार्टनर से भी नजरें नहीं मिला पाता है। इस स्थिति में हर बार इलाज की जरूरत नहीं पड़ती है बल्कि कभी कभी महज बातचीत से ही यह समस्या ठीक हो जाती है। लेकिन इसके लिए व्यक्ति को सेक्स थेरेपिस्ट के पास जाना पड़ता है। आपको बता दें कि सेक्स थैरेपी में किसी भी प्रकार का कोई शारीरिक संबंध (सेक्स या संभोग) नहीं बनाया जाता है।

अगर आपको इसके बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं तो इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे हैं कि सेक्स थेरेपी क्या है, इसकी जरूरत क्यों पड़ती है, सेक्स थेरेपिस्ट क्या करते हैं।

1. सेक्स थेरेपी क्या है – What is sex therapy in Hindi
2. सेक्स थेरेपी की जरूरत क्यों पड़ती है – Why we need sex therapy in Hindi

3. सेक्स थेरेपी के दौरान क्या होता है – What happens during sex therapy in hindi
4. सेक्स थेरेपी कैसे काम करती है? – How does sex therapy work in Hindi
5. सेक्स थेरेपी के फायदे – Sex therapy Benefits in Hindi
6. क्या मुझे सेक्स थेरेपी की आवश्यकता है – Do I need sex therapy in Hindi

सेक्स थेरेपी क्या है – What is sex therapy in Hindi

सेक्स थेरेपी क्या है - What is sex therapy in Hindi

सेक्स थेरेपी यौन समस्याओं पर बातचीत करने की एक प्रक्रिया या रणनीति है। जिसमें कपल्स या एकल व्यक्ति सेक्स थेरेपिस्ट, सेक्सोलॉजिस्ट या डॉक्टर से मिलकर अपने चिकित्सकीय, मनोवैज्ञानिक, व्यक्तिगत और पारस्परिक कारकों के बारे में बात करके यौन जीवन को संतुष्ट बनाने के लिए मदद मांगते हैं और जानकारी प्राप्त करता है। सेक्स थेरेपी का लक्ष्य लोगों को शारीरिक और भावनात्मक समस्याओं को दूर करने में मदद करना है ताकि सेक्सुअल लाइफ को संतोषजनक और आनंददायक बनाया जा सके। आंकड़े बताते हैं कि वास्तव में 43 प्रतिशत महिलाओं और 31 प्रतिशत पुरुषों को अपने जीवनकाल में सेक्स थेरेपी की जरूरत पड़ती है।

(और पढ़े – वैवाहिक जीवन में शारीरिक संबंध (सेक्स) का महत्व…)

सेक्स थेरेपी की जरूरत क्यों पड़ती है – Why we need sex therapy in Hindi

  1. ऑर्गेज्म न मिलने पर करायी जाती है सेक्स थेरेपी – sex therapy for Inability to orgasm in Hindi
  2. सेक्स की इच्छा कम होने पर पड़ती है सेक्स थेरेपी की जरूरत – sex therapy for Low sexual desire in Hindi
  3. संभोग में दर्द होने पर सेक्स थेरेपी जरूरी – sex therapy for Sexual pain in Hindi
  4. पार्टनर के साथ जुड़ने के लिए सेक्स थेरेपी की जरूरत – sex therapy for reconnect with partner in Hindi
  5. शरीर का आकर्षण कम पड़ने पर सेक्स थेरेपी की जरूरत – sex therapy for Body image issues in Hindi

प्रत्येक व्यक्ति को अलग अलग कारणों से सेक्स थेरेपी की जरूरत पड़ती है। ऐसा माना जाता है कि सेक्स के बारे में सही जानकारी का अभाव, पार्टनर का नौसीखिया होना और अन्य कई कारणों से लोग सेक्स थेरेपिस्ट के पास जाते हैं। हालांकि अपने यौन जीवन या इससे जुड़ी समस्याओं पर बहुत कम ही लोग खुलकर बातें कर पाते हैं। लेकिन कारण चाहे जो भी हो लेकिन सेक्स थेरेपी लेना कई बार बहुत मददगार साबित होता है।

(और पढ़े – फर्स्ट टाइम सेक्स टिप्स महिला और पुरुष दोनों के लिए…)

ऑर्गेज्म न मिलने पर करायी जाती है सेक्स थेरेपी – sex therapy for Inability to orgasm in Hindi

ऑर्गेज्म न मिलने पर करायी जाती है सेक्स थेरेपी - sex therapy for Inability to orgasm in Hindi

यह एक ऐसी समस्या है जिसके समाधान के लिए ज्यादातर महिलाएं सेक्स थेरेपी के लिए सेक्सोलॉजिस्ट या सेक्स थेरेपिस्ट के पास जाती हैं। स्टडी से पता चलता है कि संभोग का पूरा सुख सभी महिलाओं को नहीं मिल पाता है क्योंकि ज्यादातर महिलाएं चरम सुख (orgasm) तक नहीं पहुंच पाती हैं जिसके कारण उनका यौन जीवन प्रभावित होता है। जबकि कुछ महिलाओं को सेक्स थेरेपी की जरूरत इसलिए भी पड़ती है ताकि वह सही तरीके से समझ सकें कि पति या पार्टनर के साथ किस तरीके से सेक्स करना ज्यादा आनंददायक होता है। इसके अलावा शादी के बाद पहली बार सेक्स करने वाली महिलाएं भी सेक्स थेरेपिस्ट के पास सही पोजीशन के बारे में जानकारी लेने जाती हैं।

(और पढ़े – चरम सुख (ऑर्गेज्म) क्या होता है, पाने के तरीके और फायदे…)

सेक्स की इच्छा कम होने पर पड़ती है सेक्स थेरेपी की जरूरत – sex therapy for Low sexual desire in Hindi

सेक्स की इच्छा कम होने पर पड़ती है सेक्स थेरेपी की जरूरत - sex therapy for Low sexual desire in Hindi

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में कामोत्तेजना या सेक्स की इच्छा में कमी होना आम बात है। पुरुषों के साथ ही बड़ी संख्या में महिलाएं भी यौन इच्छा में कमी की समस्या से ग्रसित हैं। इसके अलावा जो महिलाएं कामकाजी हैं और जिन्हें नौकरी, घर, रिश्ते और बच्चे सभी की जिम्मेदारी उठानी पड़ती है, ऐसी महिलाओं को सेक्स थेरेपी की सबसे ज्यादा जरूरत पड़ती है। क्योंकि अधिक तनाव में रहने और शरीर को पर्याप्त आराम न मिलने के कारण शरीर में एनर्जी की कमी हो जाती है जिसके कारण संभोग करने की इच्छा जागृत नहीं होती है। इस कारण महिलाएं सेक्स थेरेपिस्ट के पास जाती हैं।

(और पढ़े – महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के घरेलू नुस्खे और उपाय…)

संभोग में दर्द होने पर सेक्स थेरेपी जरूरी – sex therapy for Sexual pain in Hindi

संभोग में दर्द होने पर सेक्स थेरेपी जरूरी - sex therapy for Sexual pain in Hindi

शारीरिक संबंध बनाते समय आमतौर पर कई बार स्त्री और पुरुष दोनों को दर्द का अनुभव होता है। शुरूआत में दर्द होना स्वाभाविक है लेकिन यदि दर्द लंबे समय तक बना रहे और संभोग का आनंद ना आये तो इसके लिए सेक्स थेरेपी की जरूरत पड़ती है। संभोग के दौरान पुरुषों को लिंग में जबकि महिलाओं को योनि में असहनीय दर्द, योनि में सूखापन, मांसपेशियों में दर्द और जकड़न होती है। इस स्थिति में सेक्स थेरेपिस्ट की मदद लेने से यह पता चल जाता है कि हमें संभोग के दौरान किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

(और पढ़े – क्यों होता है सेक्स के दौरान योनि में दर्द और डिसपेरुनिया क्या है…)

पार्टनर के साथ जुड़ने के लिए सेक्स थेरेपी की जरूरत – sex therapy for reconnect with partner in Hindi

पार्टनर के साथ जुड़ने के लिए सेक्स थेरेपी की जरूरत - sex therapy for reconnect with partner in Hindi

कुछ महिलाओं का अपने पति के साथ यौन रिश्ता बेहतर नहीं होता है। ऐसी महिलाएं या पुरुष अपने पार्टनर के साथ सेक्सुअल संबंध बेहतर बनाने के लिए सेक्स थेरेपिस्ट के पास जाते हैं। यदि संभोग के दौरान पार्टनर जल्दी थक जाता है, उसे सेक्स करने का कौशल नहीं पता है और वह सेक्स के दौरान अपने पार्टनर को संतुष्ट नहीं कर पाता है तो ऐसे में थेरेपिस्ट ये बताते हैं कि उन्हें संभोग के दौरान किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

(और पढ़े – महिलाएं सेक्स के दौरान पुरुषों से क्या चाहती है…)

शरीर का आकर्षण कम पड़ने पर सेक्स थेरेपी की जरूरत – sex therapy for Body image issues in Hindi

शरीर का आकर्षण कम पड़ने पर सेक्स थेरेपी की जरूरत - sex therapy for Body image issues in Hindi

वास्तव में पुरुष हमेशा जवान महिलाओं की तरफ आकर्षित होते हैं। जैसे जैसे महिला की उम्र ढलती जाती है,उसका स्तन ढीला होता जाता है, शरीर और पेट पर चर्बी जम जाती है, बच्चा पैदा करने के बाद योनि भी काफी ढीली हो जाती है और एक समय के बाद महिलाओं का शरीर काफी जल्दी थक जाता है और देखने में भी ज्यादा आकर्षक नहीं लगता है। जब महिलाएं अपने शरीर को देखकर या अपने पति की घटती इच्छा को देखकर चिंतित होती हैं तो वो सेक्स थेरेपी का सहारा लेती हैं।

(और पढ़े – शादी के बाद होने वाली सेक्स समस्याएं और उनका समाधान…)

सेक्स थेरेपी के दौरान क्या होता है – What happens during sex therapy in Hindi

सेक्स थेरेपी के दौरान क्या होता है - What happens during sex therapy in hindi

आपको बता दें सेक्स थेरेपी काउंसलिंग का एक रूप है, जिसका उद्देश्य अकेले व्यक्तियों और जोड़ों की यौन परेशानियों को सुलझाने में मदद करना है, जैसे कि यौन प्रदर्शन की चिंता या शारीरिक रिश्ते की समस्याएं आदि।

सेक्स थेरेपी के लिए आमतौर पर ग्राहक चिकित्सक के कार्यालय में मिलते हैं। कुछ सेक्स थेरेपी के लिए अकेले में बात करना चुनते हैं, और कुछ सेक्स थेरेपी के दौरान अपने साथी को अपने साथ लाते हैं। सेक्स थेरेपी सत्र का समय आमतौर पर ग्राहक और समस्या के प्रकार पर निर्भर करता है।

खासकर जब पहली बार किसी सेक्स थेरेपिस्ट के पास जाते हुए ग्राहकों का चिंतित होना सामान्य है। कई लोगों को सेक्स के बारे में बात करने में परेशानी होती है, इसलिए किसी अजनबी के साथ इस पर चर्चा करना अजीब लग सकता है। हालांकि, अधिकांश सेक्स चिकित्सक इसे पहचानते हैं और अपने ग्राहकों को सहज महसूस कराने की कोशिश करते हैं। अक्सर, वे ग्राहक के स्वास्थ्य और यौन पृष्ठभूमि, यौन शिक्षा, सेक्स के बारे में विश्वास और ग्राहक की विशिष्ट यौन चिंताओं के बारे में सवालों के साथ शुरू करते हैं।

यह जानना महत्वपूर्ण है कि सेक्स थेरेपी सत्र में ग्राहकों और चिकित्सक के बीच कोई शारीरिक संपर्क या यौन गतिविधि शामिल नहीं होती है। थेरेपी के किसी भी पहलू के साथ असहज महसूस करने वाले ग्राहकों को उस विशेष चिकित्सक से बात करनी बंद करनी चाहिए।

सेक्स चिकित्सक आमतौर पर “होमवर्क” -प्रैक्टिकल गतिविधियों को करने के लिए कहते हैं। जो ग्राहकों को अपने घर की गोपनीयता में पूरा करने के लिए दी जाती है।

(और पढ़े – काम शक्ति बढ़ाने के उपाय और घरेलू नुस्खे…)

सेक्स थेरेपी में इस तरह की गतिविधियों में निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं:

प्रयोग: वे जोड़े जो महसूस करते हैं कि वे अपनी यौन इच्छा बढ़ाने के लिए विभिन्न गतिविधियों, जैसे कि भूमिका निभाना या सेक्स टॉय का इस्तेमाल करना, कोशिश कर सकते हैं। अन्य जोड़ों को अपनी यौन दिनचर्या या पोजीशन को समायोजित करने की आवश्यकता हो सकती है, खासकर अगर एक साथी की स्वास्थ्य स्थिति ऐसी हो जिसमें इस तरह के बदलावों की आवश्यकता होती है।

सेंसिटिव फ़ोकस: जोड़ों के लिए यह तकनीक चिंता को कम करते हुए विश्वास और अंतरंगता का निर्माण करने के लिए डिज़ाइन की गई है। जोड़े तीन चरणों के माध्यम से प्रगति करते हैं, नॉन सेक्सुअल स्पर्श के साथ शुरू करते हैं, जननांग स्पर्श के साथ प्रगति करते हैं, और आमतौर पर संभोग के साथ समाप्त करते हैं।

शिक्षा: कभी-कभी, ग्राहकों को पर्याप्त यौन शिक्षा प्राप्त नहीं होती है, जबकि वे बड़े हो चुके होते हैं। नतीजतन, वे शारीरिक संबंध के दौरान शरीर रचना और शरीर के कार्यों के बारे में नहीं जानते होंगे। चिकित्सक पुस्तकों या वेब सामग्री को पढ़ने या वीडियो देखने के लिए कह सकते हैं। वे यह भी सुझाव दे सकते हैं कि ग्राहक अपने शरीर के बारे में अधिक जानने के लिए दर्पण का उपयोग करें।

संचार रणनीतियों: ग्राहक सेक्स थेरेपिस्ट यह पूछ सकते हैं कि वे अपने रिश्ते में क्या चाहते हैं या किसी रिश्ते में यौन या भावनात्मक रूप से क्या चाहते हैं।

सेक्स थेरेपी के साथ सफलता अक्सर इस बात पर निर्भर करती है कि ग्राहक इस प्रक्रिया के लिए कितने प्रतिबद्ध हैं। यदि ग्राहक प्रयास करने के लिए तैयार हैं, तो अकेले या साथी के साथ, वे अपने यौन लक्ष्यों तक पहुंच सकते हैं।

(और पढ़े – पहली बार सेक्स करने जा रहे हैं तो अपनाएं ये तरीके…)

सेक्स थेरेपी कैसे काम करती है? – How does sex therapy work in Hindi

सेक्स थेरेपी कैसे काम करती है? - How does sex therapy work in Hindi

सेक्स थेरेपी एक प्रकार की मनोचिकित्सा की तरह है। व्यक्ति क्लिनिक में सेक्स थेरेपिक्ट के साथ बैठकर अपने अनुभवों, चिंताओं और भावनाओं के के बारे में बात करके डॉक्टर से उचित समाधान पाता है। वास्तव में सेक्स थेरेपिस्ट विभिन्न यौन चिकित्सा विधियों में विशेष रूप से प्रशिक्षित किए गए होते हैं। वे अपने ज्ञान के आधार पर मरीज को यौन समस्या का समाधान बताते हैं। इसमें सेक्स थेरेपिस्ट का व्यक्तिगत अनुभव शामिल नहीं होता है।

(और पढ़े – वीर्य को जल्दी निकलने से रोकने के घरेलू उपाय)

सेक्स थेरेपिस्ट आपसे बात करने के बाद आपके साथी से भी बात करते हैं इसके बाद दोनों से एक साथ बात करते हैं और संभोग के दौरान आ रही दिक्कतों को सुलझाते हैं। इसके अलावा सेक्स थेरेपिस्ट कपल्स को शारीरिक संबंधों और पोजीशन या अन्य यौन समस्याओं के बारे में उचित जानकारी देते हैं। कई बार कुछ घरेलू उपाय भी बताये जाते हैं। जो कई बार बहुत कारगर साबित होती है। सेक्स थेरेपिस्ट के पास जाने से अपनी कमियां भी समझ में आ जाती हैं जो काफी हद तक यौन जीवन को बेहतर बनाने में मदद करती है।

(और पढ़े – काम शक्ति बढ़ाने के उपाय और घरेलू नुस्खे…)

सेक्स थेरेपी के फायदे – Sex therapy Benefits in Hindi

सेक्स थेरेपी के फायदे - Sex therapy Benefits in Hindi

  • वास्तव में संभोग के दौरान परेशानी होना हमेशा यौन समस्या का ही संकेत नहीं होती है, इसलिए आपको सीधे इलाज कराने की बजाय पहले सेक्स थेरेपी लेने से सही वजह पता चल जाती है।
  • सेक्स थेरेपी के लिए सेक्स थेरेपिस्ट के पास जाने से व्यक्ति का संकोच दूर हो जाता है और वह अपनी यौन समस्याओं पर खुलकर बातचीत कर सकता है।
  • कई बार कपल्स के बीच कुछ गलतफहमी होने के कारण भी यौन जीवन प्रभावित होता है, ऐसे में सेक्स थेरेपी बहुत लाभदायक होती है।
  • महिलाओं की सबसे बड़ी समस्या आर्गेज्म की समस्या होती है। सेक्स थेरेपी के दौरान महिलाओं को जीवनशैली से संबंधित उचित सलाह दी जाती है जो काफी हद तक इस समस्या को दूर करने में सहायक होता है।
  • कई बार गलत वातारवरण में सेक्स करने से पर्याप्त आनंद की प्राप्ति नहीं हो पाती है। यह बात सेक्स थेरेपिस्ट को बताने से आपको वहां से सही जानकारी मिल जाती है।

(और पढ़े – लंबा जीवन जीने के लिए सेक्‍स का महत्‍व…)

क्या मुझे सेक्स थेरेपी की आवश्यकता है – Do I need sex therapy in Hindi

क्या मुझे सेक्स थेरेपी की आवश्यकता है - Do I need sex therapy in Hindi

यह निर्धारित करने का एक तरीका है कि आपको किसी अन्य प्रकार के थेरेपिस्ट के बजाय एक सेक्स थेरेपिस्ट या सेक्स चिकित्सक को दिखाने की आवश्यकता है, यह विश्लेषण करने के लिए कि आपके जीवन के कौन से हिस्से है जो अभी से आपको सबसे ज्यादा प्रभावित करते हैं।

  • यदि आपके यौन जीवन में आपके जीवन की गुणवत्ता और भावनात्मक स्वास्थ्य बहुत प्रभावित होते हैं, तो सेक्स चिकित्सक के पास जाना एक अच्छा विचार है। इसी तरह, अगर अंतरंगता की कमी या साथी के साथ संवाद करने में कठिनाई आपके सबसे गंभीर व्यक्तिगत चिंता का कारण बनती है, तो एक सेक्स थेरेपिस्ट या सेक्स चिकित्सक से सलाह ली जा सकती है।
  • एक सेक्स लाइफ को पूरा करना आपके स्वास्थ्य के लिए कई कारणों से महत्वपूर्ण है। स्वस्थ यौन जीवन के भौतिक और भावनात्मक लाभ हैं, जिनमें निम्न रक्तचाप, बेहतर हृदय स्वास्थ्य और तनाव में कमी शामिल है। सेक्स भी जीवन का एक स्वाभाविक, मज़ेदार और जरूरी हिस्सा है।
  • हालांकि, कुछ लोगों के लिए, सेक्स चिंता का एक कारण है। यौन रोग शारीरिक संबंध की जटिलताओं, आत्मविश्वास की हानि और कई अन्य नकारात्मक प्रभावों को जन्म दे सकता है।
  • सेक्स थेरेपी अंतर्निहित चुनौतियों का इलाज करने और समाप्त करने के लिए एक एकीकृत दृष्टिकोण है। ये चिंताएँ शारीरिक हो सकती हैं, जैसे कम परिसंचरण। और वे मनोवैज्ञानिक चिंताएं भी हो सकती हैं, जैसे कि चिंता, तनाव और आत्मविश्वास के मुद्दे।
  • सेक्स थेरेपी व्यक्तियों और जोड़ों को सेक्स के बारे में खुले और ईमानदार संचार करने का रास्ता खोजने में मदद कर सकती है ताकि वे स्वस्थ, सुखी यौन जीवन के लिए किसी भी चिंता या चुनौती के माध्यम को कम कर सकें।

(और पढ़े –

जानिए सेक्स करने के फायदे और ना करने के नुकसान

स्लीप ऑर्गैज्म क्या होता है, कारण और बचने के उपाय

 

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration