सेक्स टॉय क्या होते हैं फायदे और नुकसान – Sex Toy Benefits And Side Effects In Hindi




सेक्स टॉय क्या होते हैं फायदे और नुकसान - Sex Toy Benefits And Side Effects In Hindi
Written by Daivansh

Sex Toy In Hindi सेक्स टॉय या सेक्स खिलौना एक वस्तु या डिवाइस है जिसका इस्तेमाल व्यक्ति सेक्स का आनंद लेने के लिए करता है। डिल्डो (dildo) और वाइब्रेटर (vibrator) जैसे सेक्स टॉय लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हैं। सेक्स टॉय आमतौर पर पुरुष के लिंग (genitals) या महिलाओं की योनि के रूप में डिजाइन किए जाते हैं और यह कम्पनशील या अकम्पनशील हो सकते हैं और इसे स्त्री और पुरुष अपनी जरूरत के हिसाब से इस्तेमाल करते हैं। जानिए सेक्स टॉय क्या होते हैं, प्रकार, कैसे इस्तेमाल किये जाते हैं, लड़कियां और महिलाएं कौनसा सेक्स टॉय इस्तेमाल करती हैं, सेक्स टॉयज का इस्तेमाल पुरुष कैसे करते हैं, सेक्स टॉय के फायदे और सेक्स टॉय के नुकसान के बारे में।

1. सेक्स टॉय क्या होते हैं – what is Sex Toy In Hindi
2. सेक्स टॉय के प्रकार – Types Of Sex Toy In Hindi

3. सेक्स टॉय इस्तेमाल करने का तरीका – How to use sex toy in Hindi

4. सेक्स टॉय के फायदे – Benefits Of Sex Toy In Hindi

5. सेक्स टॉय के नुकसान – Sex Toy Side Effects In Hindi
6. भारत में सेक्स टॉय पर कानून – Indian law on Sex Toys in Hindi

सेक्स टॉय क्या होते हैं – what is Sex Toy In Hindi

यह एक कृत्रिम (artificial) उपकरण है जिसका इस्तेमाल पार्टनर के न होने पर भी सेक्स का चरम सुख प्राप्त करने के लिए किया जाता है। इसके साथ ही  अपने पार्टनर के साथ सेक्स सम्बन्ध को और मजेदार बनाने के लिए भी इनकी मदद ली जा सकती है। कभी-कभी सिर्फ मस्टरबेशन या हस्तमैथुन (musterbation) से ही ऑर्गेज्म का मजा नहीं आता है, इस स्थिति चरम सुख का मजा लेने के लिए महिलाएं सेक्स टॉय का सहारा लेती हैं। सेक्स टॉय आजकल बहुत आसानी से मिल जाता है लेकिन कुछ लोग शर्म (hesitation) के कारण इसे ऑनलाइन खरीदना पसंद करते हैं।

सेक्स टॉय के प्रकार – Types of Sex Toy In Hindi

सेक्स टॉय के प्रकार - Types of Sex Toy In Hindi

बाजार में देशी और विदेशी दोनों कंपनियों के सेक्स टॉय मौजूद हैं। लेकिन इन्हें इस्तेमाल करने का तरीका अलग है। हम यहां आपको कुछ मुख्य सेक्स टॉय के बारे में बता रहे हैं जो लोगों के बीच अधिक लोकप्रिय हैं और जिनका सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता है।

(और पढ़े –  सेक्स हार्मोन क्या होते है महिला और पुरुष में इनका महत्त्व…)

पेनिल सेक्स टॉय – Penile toys In Hindi

यह एक कृत्रिम योनि की तरह होता है जिसे पॉकेट पुस्सी (pocket pussies) या मेल मस्टरबेटर के नाम से भी जाना जाता है। यह एक कोमल ट्यूब होता है जिसमें लिंग प्रवेश कराने से यह लिंग में उत्तेजना (stimulation) पैदा करता है। अंदर से यह एक कैनाल की तरह होता है और आमतौर पर पेनिस को उत्तेजित करने का काम करता है।

(और पढ़े – वैजाइना को इन तरीकों से करें टच लड़की को जल्दी उत्तेजित करने के लिए…)

निप्पल टॉय – Nipple toys In Hindi

यह एक ऐसा सेक्स टॉय है जो निप्पल को उत्तेजित करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसकी सहायता से अलग-अलग कोणों से निप्पल पर दबाव डाला जाता है। यह आमतौर पर रबर का बना होता है इसलिए इसके उपयोग से दर्द नहीं होता है।

(और पढ़े – निप्पल में दर्द के 7 बड़े कारण और घरेलू इलाज…)

वाइब्रेटर – Vibrators In Hindi

वाइब्रेटर सेक्स टॉय लोगों के बीच बहुत लोकप्रिय है। यह एक ऐसी डिवाइस है जो सेक्स के लिए पूरे शरीर में उत्तेजना पैदा करती है। वाइब्रेटर अलग-अलग आकार और दामों में उपलब्ध है जिसका इस्तेमाल आंतरिक और वाह्य अंगों दोनों को उत्तेजित करने के लिए किया जाता है। पेनिट्रेटिव वाइब्रेटर इसी का एक प्रकार है जो 12 से 18 सेंटीमीटर का होता है और इसकी सहायता से सेक्स करने पर पुरुष के लिंग जैसा अनुभव होता है।

(और पढ़े – जाने पेनिस का एवरेज साइज कितना होता है…)

ग्लास सेक्स टॉय – Glass sex toys In Hindi

ग्लास सेक्स टॉय आमतौर पर  बोरोसिलिकेट ग्लास से बनाया जाता है और इसका उपयोग करना पूरी तरह से सुरक्षित होता है। इसकी बनावट ऐसी होती है कि इसे दोबारा इस्तेमाल करने पर किसी तरह का इंफेक्शन नहीं होता है और इसे आसानी से साफ भी किया जा सकता है।

(और पढ़े – सुरक्षित सेक्स करने के तरीके…)

एनल टॉय – Anal toys In Hindi

यह एक ऐसा सेक्स टॉय है जिसे गुदा (Anal) में प्रवेश कराकर सेक्स किया जाता है। यह नीचे की ओर फैला होता है और मलाशय (rectum) को नुकसान नहीं पहुंचाता है और पूरी तरह से सुरक्षित होता है।पुरुष द्वारा सेक्स टॉय इस्तेमाल करने का तरीका

(और पढ़े – एनल सेक्स (गुदामैथुन) के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले बुरे प्रभाव…)

सेक्स टॉय इस्तेमाल करने का तरीका – How to use sex toy in Hindi

सेक्स टॉय इस्तेमाल करने का तरीका - How to use sex toy in Hindi

ज्यादातर कंपनियों के सेक्स टॉय के पैकेट पर इसे इस्तेमाल करने तरीका और निर्देश (instructions) नहीं लिखा होता है इसलिए जो लोग पहली बार सेक्स टॉय का प्रयोग कर रहे होते हैं उन्हें यह समझने में परेशानी होती है कि सेक्स टॉय का इस्तेमाल कैसे किया जाए। सेक्स टॉय को उत्तेजित करने की जरूरत नहीं पड़ती है बल्कि सेक्स टॉय आपको उत्तेजित करता है। आइये जानते हैं कि सेक्स टॉय को किस तरीके से इस्तेमाल किया जाता है।

(और पढ़े – सेक्स के दौरान महिलाओं को संतुष्ट करने के तरीके…

पुरुषों द्वारा सेक्स टॉय इस्तेमाल करने के तरीके – How to Use a Male sex toy in Hindi

पुरुषों के सेक्स टॉय को स्ट्रोकर कहा जाता है और यह आमतौर पर हस्तमैथुन करने की अपेक्षा अलग आनंद प्रदान करता है। स्ट्रोकर के अंदर की बनावट कैनाल की तरह होती है। जो लिंग को उत्तेजित करने का काम करती है, जबकि स्ट्रोकर के बाहर का हिस्सा उभरा हुआ होता है, जिसे हाथों से पकड़कर इस्तेमाल किया जाता है।

मर्दों के सेक्स टॉय अर्थात् स्ट्रोकर में सबसे पहले चिकनाई युक्त पदार्थ (lubricant ) लगाने की जरूरत होती है ताकि लिंग बिना किसी परेशानी या रगड़ के स्ट्रोकर के अंदर आसानी से चला जाये।

स्ट्रोकर का ऊपरी हिस्सा (upper parts), अर्थात् जहां से लिंग को अंदर प्रवेश कराते हैं वह बहुट टाइट होता है लेकिन जब आप एक बार लिंग प्रवेश करा देने पर अंदर लिंग को काफी जगह मिल जाती है।

एक हाथ से अपने लिंग को और दूसरे हाथ से स्ट्रोकर को मजबूती (firmly) से पकड़ें और स्ट्रोकर के अंदर लिंग को प्रवेश कराएं। स्ट्रोकर में लिंग डालने के बाद आप वैसे ही धीरे-धीरे पुश (push) करना शुरू कर सकते हैं जैसे आप वास्तविक सेक्स करते हुए स्ट्रोक लगाते हैं।

इसके बाद स्ट्रोकर को बाहर से पकड़कर अपने लिंग की लंबाई (penis size) के अनुसार स्ट्रोकर को ऊपर और नीचे की ओर घुमाते हुए धक्का दें। लेकिन यह ध्यान दें कि शुरूआत में ही स्ट्रोकर के अंदर पूरे लिंग को प्रवेश (penetrate) न कराएं बल्कि इसे धीरे-धीरे स्लाइड करें अन्यथा आपके लिंग पर अधिक दबाव पड़ सकता है।

यदि स्ट्रोकर दूसरे हिस्से पर खुला हो तो आप उस स्थान पर अपनी उंगलियों को रखकर उसे बंद कर सकते हैं और स्ट्रोकर केअंदर खिंचाव को बढ़ा सकते हैं।

यदि आप पहली बार स्ट्रोकर का इस्तेमाल कर रहे हैं तो शायद आपको बहुत जल्दी सेक्स करने की इच्छा हो सकती है लेकिन आपको धैर्य रखना पड़ेगा और स्ट्रोकर की पूरी प्रक्रिया (process) जानने के बाद ही धीरे-धीरे सेक्स का आनंद उठाना होगा।

सेक्स के लिए स्ट्रोकर का इस्तेमाल करना फोरप्ले का हिस्सा माना जाता है क्योंकि यह सेक्स शुरू करने से पहले ही उत्तेजना और आनंद को बढ़ा देता है। इसके अलावा यह मस्टरबेशन करने के लिए बेहतर माना जाता है। यदि आप हाथ से अपने लिंग को उत्तेजित करके थक गए हैं तो स्ट्रोकर आपके लिए एक बढ़िया चीज साबित हो सकता है।

(और पढ़े – हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान जो आपको जानना है जरूरी…)

महिला द्वारा सेक्स टॉय इस्तेमाल करने का तरीका – How to Use Female sex toy in Hindi

महिला द्वारा सेक्स टॉय इस्तेमाल करने का तरीका - How to Use Female sex toy in Hindi

सबसे पहले सेक्स टॉय (sex toy) को पैकेट से निकालें और इसे चार्ज करें। अगर इसमें बैटरी लगी हो तो निकालकर देख लें कि किस तरह की बैटरी है। इसके साथ ही यह भी देख लें कि यह बटन से चलता है या किसी और चीज से और इसकी गति (speed) और सेटिंग भी देख लें।

इसके बाद सेक्स टॉय का इस्तेमाल करने से पहले इसे पानी से धो लें। यदि यह वाटर प्रूफ न हो तो कपड़े से पोछ लें। सेक्स टॉय का प्रयोग करने से पहले आपके पास पर्याप्त समय (sufficient time) होना चाहिए और इस बात का ध्यान रखें कि आपके आसपास आपकी रूममेट, बच्चे, पड़ोसी या आपको परेशान करने वाली कोई चीज न हो।

सेक्स टॉय का प्रयोग करते समय कमरे की लाइट ऑन रखें ताकि आपको यह पता चल सके कि इसे सही जगह खोजने में परेशानी न हो। इसके बाद सेक्स टॉय को योनि (vagina) में प्रवेश (penetrate) कराने से पहले इसे अपने शरीर के ऊपर चलाकर यह मालूम कर लें कि आपको कैसा महसूस हो रहा है। सेक्स टॉय को आराम से पकड़कर अपनी मांसपेशियों (muscles) पर इसे घुमाएं, यदि सेक्स टॉय कठोर होगा तो आपको अच्छा महसूस होगा।

इसके बाद सेक्स टॉय के बटन को दबाने के बाद इससे अपने हाथों और पैरों को पर चलाते हुए अपने पेट तक ले आएं और उसके बाद अपने गर्दन और कंधे तक होते हुए सिर, होठों और माथे तक ले जाएं। आप कपड़े के ऊपर से भी खुद को उत्तेजित करने के लिए सेक्स टॉय का इस्तेमाल कर सकती हैं। ज्यादातर महिलाएं और लड़कियां सेक्स टॉय का सीधे प्रयोग क्लिटोरिस में उत्तेजना पैदा करने के लिए करती हैं, लेकिन इतनी जल्दबाजी न करें और जिस तरीके से फोर प्ले किया जाता है, सेक्स टॉय का इस्तेमाल उसी तरह से करें।

सेक्स टॉय कभी नहीं थकता है, इसलिए सेक्स टॉय को आराम से योनि में एक-एक इंच नीचे ले जाएं। यदि आप अभी कम उत्तेजित हैं तो सेक्स टॉय को क्लिटोरिस पर रगड़ती (rub) रहें और जब योनि से अधिक चिपचिपा पदार्थ (fluid) निकलने लगे तब इसे योनि में प्रवेश कराएं।

ज्यादातर सेक्स टॉय में कम से कम दो तरह की सेटिंग होती है। आपको पहले इसकी स्पीड कम रखनी चाहिए और इसके बाद योनि में इसे धीरे-धीरे दबाते हुए फिर इसकी स्पीड बढ़ा देनी चाहिए। यदि सेक्स टॉय पकड़ने में आपको यह ज्यादा मजबूत लग रहा हो तो आप इसके ऊपर कोई कपड़ा लगाकर पकड़ सकती हैं लेकिन सेक्स का आनंद लेने के लिए धीरे-धीरे इसकी स्पीड बढ़ाती रहें।

सेक्स टॉय से सेक्स करते समय बीच-बीच में थोड़ा रूक जाएं और फिर से इसे दबाना शुरू करें। आप चाहें तो इसे योनि से निकालकर क्लिटोरिस पर भी छूआ सकती हैं। यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आपको किस तरह से इस्तेमाल करने में ज्यादा आनंद आ रहा है।

धीरे-धीरे सेक्स टॉय को दबाते हुए इसे योनि में काफी गहराई (deep insert) तक ले जाएं और ऑर्गेज्म का आनंद लेने के बाद इसे बिल्कुल आराम से योनि से बाहर निकाल दें।

(और पढ़े – क्या आप जानते है योनि की गहराई कितनी होती है…)

सेक्स टॉय के फायदे – Benefits Of Sex Toy In Hindi

सेक्स टॉय के फायदे - Benefits Of Sex Toy In Hindi

जैसा कि ऊपर बताया जा चुका है कि सेक्स टॉय एक आर्टिफिशियल उपकरण होता है इसलिए यह थकता नहीं है और आप जितन चाहें इससे उतना मजा ले सकते हैं। आइये जानते हैं कि सेक्स टॉय का इस्तेमाल करने के क्या फायदे होते हैं।

मानसिक बीमारियों को दूर करने के लिए सेक्स टॉय के फायदे – Sex Toy For Mental Health In Hindi

मानसिक बीमारियों को दूर करने के लिए सेक्स टॉय के फायदे - Sex Toy For Mental Health In Hindi

सभी तरह की मानसिक समस्याओं में स्ट्रेस एक मुख्य मानसिक समस्या है। तनाव तो आमतौर पर सभी लोगों को होता है लेकिन सेक्स का टॉय का इस्तेमाल करके सेक्स का आनंद (pleasure) लेने से तनाव कम हो जाता है और मानसिक स्वास्थ्य ठीक रहता है। स्टडी में भी पाया गया है कि मानसिक समस्याओं को दूर करने में सेक्स टॉय बहुत फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – मानसिक रोग के लक्षण, कारण, उपचार, इलाज, और बचाव…)

यौन संबंधी बीमारियों से बचाने में सेक्स टॉय के फायदे – Sex Toy Helps Prevent Diseases In Hindi

यौन संबंधी बीमारियों से बचाने में सेक्स टॉय के फायदे - Sex Toy Helps Prevent Diseases In Hindi

चूंकि सेक्स टॉय आर्टिफिशियल उपकरण (artificial equipment) है इसलिए इससे सेक्स करने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि व्यक्ति को ऑर्गेज्म भी मिल जाता है और उसे यौन संचारित बीमारियां भी नहीं होती हैं। इसलिए बिना किसी टेंशन के सेक्स टॉय से सेक्स करने का आनंद लिया जा सकता है। इसके अलावा सेक्स टॉय से सेक्स करने से महिलाओं को प्रेगनेंट होने का भी कोई खतरा नहीं होता है।

(और पढ़े – यौन संचारित रोग एसटीडी को रोकने के तरीके…)

सेक्स टॉय के फायदे यौन प्रदर्शन बढ़ाने में – Sex Toy Boosts Sexual Performance In Hindi

सेक्स टॉय के फायदे यौन प्रदर्शन बढ़ाने में - Sex Toy Boosts Sexual Performance In Hindi

सेक्स टॉय से सेक्स करने से यौन प्रदर्शन और यौन क्रिया बढ़ जाती है। क्योंकि सेक्स करने की अभ्यास (practise) करने के लिए सेक्स टॉय एक बेहतर तरीका है और इसकी सहायता से बिल्कुल आसानी से सेक्स करने का अलग-अलग तरीका सीखा जा सकता है। सेक्स टॉय की सहायता से सेक्स करने से व्यक्ति को आत्मविश्वास (clear perception) भी आता है और सेक्स टॉय सेक्सुअल स्टैमिना बढ़ाने में भी मदद करता है और सेक्स करने की इच्छा को बढ़ाता है।

(और पढ़े – पुरुषों में सेक्सुअल स्टेमिना (सेक्स पावर) बढ़ाने के आसान तरीके…)

चरम सुख प्राप्त करने में सेक्स टॉय के फायदे – Sex Toy For Quicker Orgasm In Hindi

चरम सुख प्राप्त करने में सेक्स टॉय के फायदे - Sex Toy For Quicker Orgasm In Hindi

ज्यादातर महिलाओं को ऑर्गेज्म की प्राप्ति नहीं हो पाती है, ऐसे में सेक्स टॉय उन्हें उत्तेजना के चरम पर पहुंचाने में मदद करता है और उन्हें बहुत आसानी से और बहुत जल्दी चरम सुख का आनंद प्राप्त हो जाता है। सेक्स टॉय से सेक्स करने पर महिलाओं के स्तन में भी खूब उत्तेजना होती है और वह लंबे समय तक सेक्स कर सकती हैं।

(और पढ़े – चरम सुख (ऑर्गेज्म) क्या होता है, पाने के तरीके और फायदे…)

सेक्स के बारे में जानने में सेक्स टॉय के फायदे – Sex Toy  Increased Self Awareness In Hindi

सेक्स के प्रति खुद को जागरूक (awareness) करने के लिए सेक्स टॉय बहुत फायदेमंद होता है। इसका इस्तेमाल करने के बाद ही व्यक्ति को यह पता चलता है कि पुरुष के गुप्तांग से अपने शरीर की कौन सी जगह कितनी देर छूने पर उत्तेजना होती है। सेक्स टॉय पार्टनर की भूमिका अदा करता है और आपको अपने तरीके से सेक्स करने में मदद करता है इससे आपके अंदर छिपी चीजें बाहर निकलती हैं और आपको सेक्स के बारे में अपने आप जानकारी हो जाती है।

(और पढ़े – फर्स्ट टाइम सेक्स टिप्स महिला और पुरुष दोनों के लिए…)

सेक्स टॉय के नुकसान – Sex Toy Side Effects In Hindi

सेक्स टॉय के नुकसान -  Sex Toy Side Effects In Hindi

सेक्स टॉय वास्तविक नहीं होता है इसलिए यह न तो आपको प्यार कर सकता है और न ही आपकी देखभाल कर सकता है।

Sex Toy (सेक्स टॉय) का इस्तेमाल करने से व्यक्ति को सेक्स करने की लत (addiction) लग जाती है और वो भी सिर्फ सेक्स टॉय से।

सेक्स टॉय से सेक्स करने की लत लग जाने के बाद व्यक्ति अक्सर अकेले रहना पसंद करता है और मौका मिलते ही सेक्स टॉय से अपनी जरूरतें पूरी करने की कोशिश करता है।

सेक्स टॉय से सेक्स करने का सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि महिला पुरुषों की ओर और पुरुष महिलाओं की ओर अधिक आकर्षित नहीं हो पाते हैं क्योंकि वे इस उपकरण (device) के उपयोग से ही खुद को खुश रखते हैं।

Sex Toy (सेक्स टॉय) का इस्तेमाल करने से व्यक्ति कभी-कभी अपने पार्टनर के साथ सेक्स करके संतुष्ट नहीं हो पाता है और अपने पार्टनर के यौन क्षमता की तुलन सेक्स टॉय से करता है जिससे दोनों के बीच रिश्ते खराब होने की संभावना रहती है।

सेक्स टॉय का इस्तेमाल करने से सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि कुछ लोग बिना सेक्स टॉय की मदद से उत्तेजित नहीं हो पाते हैं। ऐसे में उन्हें अपने पार्टनर के साथ सेक्स करने में परेशानी होती है क्योंकि वे पार्टनर के छूने से नहीं बल्कि सेक्स टॉय के छूने से उत्तेजित होते हैं।

सेक्स टॉय का अधिक इस्तेमाल करने के आदी लोग कभी-कभी शादी नहीं करना चाहते हैं और अकेले रहना पसंद करते हैं। ऐसे लोगों को यह लगता है कि उनकी सेक्स संबंधी जरूरते सेक्स टॉय से पूरी हो जा रही हैं और पार्टनर की जरूरत (requirement) नहीं है।

(और पढ़े – सेक्स की लत (सेक्स एडिक्शन) के कारण, लक्षण और इलाज…)

भारत में सेक्स टॉय पर कानून – Indian law on Sex Toys in Hindi

भारत में सेक्स टॉय या सेक्स खिलौने अवैध हैं। सेक्स खिलौने बेचना भारतीय दंड संहिता की धारा 292 के तहत एक दंडनीय अपराध है, क्योंकि सेक्स खिलौने को “अश्लील” उत्पाद माना जाता है। सेक्स टॉय (यौन खिलौनों) के अलावा, इसके जैसी किसी भी पुस्तक, पुस्तिका, कागज, लेखन, चित्रकला, आकृति या किसी अन्य वस्तु को, धारा 292 द्वारा अश्लील माना जाता है, यदि यह कामुक है और कोई इसके लिए अपील करता है। तो अपराध सिद्ध होने पर अपराधी को इस अपराध के लिए सजा दो साल तक की जेल हो सकती है।

(और पढ़े – लिव इन रिलेशनशिप क्या है कानून इसके फायदे और नुकसान…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration