लिव इन रिलेशनशिप क्या है कानून फायदे और नुकसान - Live in relationship hindi
रिलेशनशिप टिप्स

लिव इन रिलेशनशिप क्या है, कानून इसके फायदे और नुकसान – Live in Relationship Kya Hai Iske Fayde Aur Nuksan in Hindi

लिव इन रिलेशनशिप क्या है कानून इसके फायदे और नुकसान - Live in relationship kya hai iske fayde aur nuksan in hindi

Live in relationship in hindi दोस्तों यह बात हम सब जानते हैं कि अगर कोई लड़का और लड़की साथ में एक ही छत के नीचे पति-पत्नी की तरह रहते हैं तो सबसे पहले वह शादी जैसे पवित्र बंधन में बंधते हैं। उसके बाद ही एक दूसरे के साथ रहते हैं। परंतु आजकल एक और रिवाज इस दुनिया में आ गया है और उस रिवाज का नाम है लिव इन रिलेशनशिप।

लिव इन रिलेशनशिप का मतलब होता है जब एक लड़का और लड़की आपसी सहमति के बाद बिना शादी के पति पत्नी की तरह रह रहें हो तो उस रिश्ते को लिव इन रिलेशनशिप कहा जाता है। आइये जानते है लिव इन रिलेशनशिप क्या है, इसके फायदे और नुकसान क्या हैं (Live in relationship kya hai iske fayde aur nuksan in hindi) अगर आप भी लिव इन रिलेशनशिप में रहने की सोच रहे, तो लिव इन रिलेशनशिप के कानून के बारे में जान ले।

लिव इन रिलेशनशिप क्या है – Live In Relationship Kya Hai in Hindi

लिव इन रिलेशनशिप क्या है - Live in relationship kya hai in hindi

जब लड़का और लड़की स्वेच्छा से शादी किये बिना पति-पत्नी की तरह एक ही छत के नीचे रहते हैं, तो रिश्ते को लिव इन रिलेशनशिप कहा जाता है।

आजकल विदेशों में नहीं बल्कि भारतीय शहरों में भी लिव-इन रिलेशनशिप का यह चलन बहुत तेजी से चल रहा है। जब इसके बारे में जांच पड़ताल की गई तो लोगों का मानना है कि जब लड़का लड़की एक दूसरे को जांचने और परखने के लिए एक दूसरे के साथ लिव-इन रिलेशनशिप (Live-in Relationships in Hindi) में रहते हैं, तो उससे उन्हें इस बात का अंदाजा लगता है कि वह आगे भविष्य में एक दूसरे के साथ जिंदगी गुजार सकते हैं कि नहीं।

इसलिए वह शादी से पहले लिव इन रिलेशनशिप में रहेने का रास्ता चुनते हैं। कुछ लोग रिलेशनशिप को टाइमपास, और इच्छा पूर्ति का एक माध्यम भी मानते हैं। वही कुछ लोग इस लिव इन रिलेशनशिप को अच्छा नहीं मानते हैं।

(और पढ़ें – शादी के लिए लड़का कैसा होना चाहिए)

हम लोग सोचते हैं कि लिव इन रिलेशनशिप (Live-in Relationships in Hindi) में जरूर कोई ना कोई फायदा होता होगा। परंतु एक बात हम भूल जाते हैं कि जिन चीजों में फायदा होता है उन चीजों में नुकसान भी होता है।

जिन चीजों से आपको फायदे मिलते हैं उनसे आप को नुकसान भी झेलने पड़ते हैं। चलिए जानते हैं कि लिव इन रिलेशनशिप में किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए और इनसे हमें क्या फायदे और नुकसान होते हैं।

(और पढ़ें – शादी के लिए लड़कियां कैसी होनी चाहिए)

इससे पहले कि हम लिव इन रिलेशनशिप फायदे और नुकसान जानें, लिव इन रिलेशनशिप और शादी में अंतर को समझ लेते हैं।

लिव इन रिलेशनशिप और शादी में अंतर – Difference between live-in relationship or shaadi in Hindi

लिव इन रिलेशन का मतलब है कि महिलाएं और पुरुष बिना शादी के आपसी सहमति के बाद पति-पत्नी की तरह एक ही घर में रहते हैं। महानगरों में लिव इन की शुरुआत शिक्षित और आर्थिक रूप से स्वतंत्र लोगों द्वारा शुरू किए गए थे जो शादी की कठोरता से छुटकारा चाहते थे। इस रिलेशन को किसी भी पक्ष की सहमति के बिना किसी भी समय समाप्त किया जा सकता है।

दूसरी ओर, विवाह केवल दो लोगों का नहीं बल्कि दो परिवारों का मिलन है। शादी में, लड़के और लड़की को सामाजिक रूप से एक सूत्र में बांधा जाता है। शादी में पुरुष और महिला दोनों का सम्मान और प्रतिष्ठा निहित है। भारतीय समाज में विवाह की परंपरा शुरू से चली आ रही है। शादी आमतौर पर एक अविवाहित पुरुष और एक अविवाहित महिला के बीच होती है।

लिव इन रिलेशनशिप के फायदे – Live In Relationship Ke Fayde in Hindi

लिव इन रिलेशनशिप के फायदे - live in relationship ke fayde in hindi , Pros of Live in Relationships in hindi

जहां लिव इन रिलेशनशिप के नुकसान है तो वही उसके फायदे भी हैं। आइए जानते हैं कि लिव इन रिलेशनशिप के फायदे क्या-क्या हैं।

  • अगर आप अपने पार्टनर के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रह रहे हैं तो आपको उसके बारे में बहुत सारी बातें जानने को मिलती हैं।
  • शादी के बाद आपको कौन-कौन सी जिम्मेदारियां उठानी पड़ेगी, यह सब समझ लिव इन रिलेशनशिप में आ जाती है।
  • अगर आपको आपका पार्टनर लिव-इन रिलेशनशिप में अच्छा मिला है तो इससे आप की जिंदगी संवर जाती है।
  • जब दोनों लोग लिव इन रिलेशनशिप में रहते हैं, तो उन दोनों को समझ में आ जाता है कि शादी के बाद उन दोनों को कौन-कौन सी जिम्मेदारियां उठानी पड़ सकती हैं। उन दोनों को अपनी जिम्मेदारियों का एहसास हो जाता है।
  • दोनों को इन बातों का पता चल जाता है कि कितना हमें अपने आगे के भविष्य में खर्चा करना चाहिए और कितना पैसा बचाना चाहिए।

आपको जानकर अच्छा लगेगा कि जो लोग काफी लंबे समय से एक दूसरे के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रहते हैं। तो उसमें मेल पार्टनर की संपत्ति में फीमेल पार्टनर को ऑटोमेटिक आधा हिस्सा मिल जाता है। क्योंकि यह एक कानून बनाया गया है और इस कानून के हिसाब से मेल पार्टनर को इसका पालन करना पड़ता है।

(और पढ़े – 7 चीजें जो पुरुष महिलाओं से चाहते है)

लिव-इन रिलेशनशिप के नुकसान – Live In Relationship Ke Nuksan in Hindi

लिव इन रिलेशनशिप के फायदे क्या-क्या हैं ये तो आपने जान लिया अब बात करते हैं लिव इन रिलेशनशिप के नुकसान के बारे में-

  • अगर लिव इन रिलेशनशिप में आपको पार्टनर बुरा मिल गया है, तो यह रिलेशनशिप टूटने के बाद आपको जिंदगी भर वो रिलेशनशिप बुरे ख्वाब की तरह याद आता रहता है।
  • जो लोग लिव इन रिलेशनशिप में रहते हैं उन दोनों को हमेशा इस बात का खतरा रहता है, कि उनका पार्टनर उन्हें छोड़कर कभी भी जा सकता है। क्योंकि लिव इन रिलेशनशिप में एक दूसरे को छोड़कर कभी भी जाने की आजादी होती है।
  • जब आप के परिवार वालों को इस लिव इन रिलेशनशिप के बारे में पता चलता है तो वे बेवजह बहुत ही परेशान होते हैं और इसकी वजह से आपको भी तनाव झेलना पड़ जाता है।
  • लोगों को कभी भी लिव-इन रिलेशनशिप में नहीं रहना चाहिए। जो लोग बहुत ही भावुक होते हैं उनके लिए यह लिव-इन-रिलेशनशिप खराब है।
  • क्योंकि दो लोग एक दूसरे के साथ रहते हैं तो कई बार उनकी छोटी छोटी बातें भी उन दोनों के बीच में तनाव का कारण बन जाती है। क्योंकि एक ही घर में वह एक दूसरे के साथ रह रहे हैं, तो सुलाह होने की बजाय उनमें और भी ज्यादा तनाव हो जाता है। बल्कि अगर वह दूर रहते तो वह तनाव उनका सुलझ भी सकता है।
  • बात की जाए भारतीय समाज की, तो आज भी भारतीय समाज के काफी लोग इस लिव इन रिलेशनशिप को अच्छा नहीं मानते हैं।
  • लिव इन रिलेशनशिप में सबसे बड़ी और खतरनाक बात यह होती है कि आप इसमें एक दूसरे के साथ बिना शादी के पति पत्नी की तरह रहते हैं। यानी कि शारीरिक संबंध भी बनाते हैं। ऐसे में उनके रिलेशनशिप खत्म होने के बाद अगर वह किसी और के साथ अपना भविष्य बना रहे हैं या शादी कर रहे हैं। तो उनकी शादीशुदा जिंदगी भी खराब हो सकती है।

(और पढ़े – प्यार होने पर शरीर में होने वाले बदलाव)

क्या भारत में लिव इन रिलेशनशिप अवैध हैं – Are Live In Relationship Illegal in India?

भारत में लाइव रिश्तों का बिल्कुल कानूनी है live in relationship indian law भारत के सर्वोच्च न्यायालय के एक फैसले में कहा है (अप्रैल 2014)  लिव इन रिलेशनशिप में रहने वाले जोड़े को कानूनी रूप से विवाहित माना जाएगा। सर्वोच्च न्यायालय ने यह भी कहा कि यदि एक अविवाहित युगल पति और पत्नी के रूप में एक साथ रह रहे हैं, तो उन्हें कानूनी तौर पर शादीशुदा माना जाएगा और महिला अपने साथी की मृत्यु के बाद संपत्ति का वारिस होने के योग्य होगी लेकिन इसके लिए कुछ बाते है जो लिव इन रिलेशनशिप में रहले वाले युवक युवतियों को सिद्ध करनी होगीं।

लिव इन रिलेशनशिप पर कानून – Law on Live-in relationship in Hindi

  1.  लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे युवक युवतियों को पति-पत्नी के तौर पर रहना होगा।
  2. जो भी लिव इन रिलेशनशिप में रहना चाहते हैं उनकी उम्र शादी के लिए कानून के द्वारा तय उम्र के बराबर या अधिक होनी चाहिए।
  3. इसके अलावा सही उम्र के साथ बाकी जरूरी सभी योग्यताओ को पूरा करना चाहिए, जैसे कि- दोनों ही अविवाहित होने चाहिए।

लिव-इन रिलेशनशिप के दौरान सावधानियाँ – Precautions During Live In Relationship in Hindi

अब बात करते हैं कि अगर आप लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे हैं तो आपको किन बातों का ध्यान और सावधानियां रखनी चाहिए।

  • अगर आप किसी के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रह रहे हैं, तो एक बात का ध्यान हमेशा रखें कि कहीं आपका पार्टनर आपका इस्तेमाल तो नहीं कर रहा है।
  • जब भी आप किसी के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहे, तो एक बात का ध्यान आपको जरूर रखना चाहिए कि आपकी कोई भी पर्सनल फोटो या वीडियो आपके पार्टनर के पास ना हो। वरना लिव-इन-रिलेशनशिप टूटने के बाद वह उसका गलत इस्तेमाल कर सकता है।
  • जब भी आप किसी के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रहे तो इस बात का ध्यान हमेशा रखें, कि आपका पार्टनर कहीं इसलिए तो आपके साथ नहीं रह रहा कि उसे पैसे की जरूरत है। सिर्फ पैसों के इस्तेमाल के लिए वह आपके साथ रह रहा हो।
  • इस बात का ध्यान आपको हमेशा रखना चाहिए कि आप कहीं अपने पार्टनर के लिए सिर्फ मन बहलाने वाली वस्तु तो नहीं बन कर रह गए हैं।
  • अगर आप काफी लंबे समय से एक दूसरे के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में हैं और अभी भी आपके रिश्ते में खटास है और आपको ऐसा लगता है कि आपका आगे कोई भविष्य नहीं है। उसके साथ तो उसी समय आपको अपने पार्टनर के साथ लिव-इन रिलेशनशिप तोड़ देना चाहिए।
  • अगर आपकी उम्र बहुत ही कम है तो आपको कभी भी भूलकर लिव इन रिलेशनशिप में नहीं रहना चाहिए।

लिव इन रिलेशनशिप में रहने के लिए हम आपका एक्साइटमेंट समझ सकते हैं। आपका एक दूसरे के साथ लिव इन में रहने का फैसला कितना सही या गलत हो सकता है ये तो कोई नहीं बता सकता। अगर आप दोनों में से कोई भी केवल मौज-मस्ती के हिसाब से लिव इन रिलेशनशिप में रहने का फैसला कर रहा है तो उसको संभलने की जरुरत है।

आप चाहें लिव इन रिलेशनशिप (Live In Relationship) में जिंदगी भर रहें। मगर, किसी भी रिश्ते को लंबे समय तक टिकाने के लिए उसके नियम-कानून (Live In Relationship Latest Law) और कुछ व्यवहारिक बातों को जान लेना चाहिए।

लिव इन रिलेशनशिप क्या है, कानून इसके फायदे और नुकसान (Live in Relationship Kya Hai Iske Fayde Aur Nuksan in Hindi) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration