हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान जो आपको जानना है जरूरी  – Masturbation benefits and side effects in hindi

हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान जो आपको जानना है जरूरी  - Masturbation benefits and side effects in hindi
Written by Daivansh

Masturbation in hindi मैस्टरबेशन (हस्तमैथुन) अपनी कामुकता पर काबू पाने का एक कॉमन तरीका है। ज्यादातर लोग हस्तमैथुन को गलत या नुकसानदायक समझते है मैस्टरबेशन एक ऐसा टॉपिक है जिस पर खुलकर बातें नहीं होती हैं। येही कारण है की लोगो को इसके बारे में सही जानकारी नहीं है यह वर्जित टॉपिक है, जिस पर लोग बात करने में शर्म महसूस करते हैं। इसके ठीक उलट आंकड़े बताते हैं 95 पर्सेंट पुरुष और 89 पर्सेंट महिलाएं डेली बेसिस पर मैस्टरबेशन करती हैं। इसलिए आपको हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान जानना बहुत जरुरी हो जाता है

मैस्टरबेशन से सेहत पर कोई बुरा असर नहीं पड़ता, अगर आप इसे हफ्ते में एक या दो बार करते है लेकिन यदि आप बहुत ज्यादा हस्तमैथुन करते हैं या आपको इसकी लत पड़ गई है, तब आपको किसी सेक्सॉलजिस्ट से मिलने की जरूरत है।

1.हस्तमैथुन क्या होता है और इसे कैसे करते हैं  – What is masturbation and how do it in hindi
2.हस्तमैथुन करना कब शुरू होता है – When does it start to masturbate?
3.क्या हस्तमैथुन करना सामान्य है? – Is masturbation normal in hindi
4.हस्तमैथुन करने के फायदे – Benefits of masturbation in Hindi
5.हस्तमैथुन करने के नुकसान – Side effect of masturbation in Hindi

हस्तमैथुन क्या होता है और इसे कैसे करते हैं  – What is masturbation and how do it in hindi

हस्तमैथुन क्या होता है और इसे कैसे करते हैं  - What is masturbation and how do it in hindi

मैस्टरबेशन (हस्तमैथुन) जिसे बोलचाल की भाषा में हैण्ड प्रैक्टिस या मुठ मारना भी कहते हैं; खुद से अपने शरीर के अंगों को छू कर सेक्स की उत्तेजना का अनुभव करना है, जिसमे अकसर व्यक्ति ओर्गेज़म, एजकुलेसन या क्लाइमेक्स तक पहुँच जाता है, यानी उसका स्पर्म  उसके लिंग से बाहर निकल आता है।

पुरुष आमतौर पर ऐसा अपने erected penis को हाथ में लेकर उसे आगे-पीछे करते हैं जब तक कि वे क्लाइमेक्स तक ना पहुँच जाएं जबकि महिलाएं अपनी उँगलियों से वैजाइना को छू कर ये काम करती हैं।

हस्तमैथुन करना कब शुरू होता है – When does it start to masturbate?

लड़के लड़कियों दोने के लिए हस्तमैथुन युवावस्था (teenage) की शुरुआत यानि 13 से 19 वर्ष के बीच शुरू हो जाता है परन्तु कुछ केस में ये इससे पहले भी शुरू हो सकता है?

क्या हस्तमैथुन करना सामान्य है? – Is masturbation normal in hindi

हाँ जब तक इसे आनंद लेने के लिए किया जाये तब तक सही है इसके अलावा, हस्तमैथुन आपको यह जानने में मदद कर सकता है। पुरुष हस्तमैथुन से ओर्गाज्म को नियंत्रित कर सकते हैं, जबकि महिलाएं पता कर सकती हैं कि उन्हें संभोग सुख प्राप्त करने में क्या मदद करता है। यदि कपल मिलकर हस्तमैथुन करते हैं तो सेक्स रिलेशन बेटर हो सकते हैं। कुछ लोगों को यह सही नहीं भी लग सकता और यह उनकी एक व्यक्तिगत पसंद है। हस्तमैथुन तभी तक सामान्य माना जाता है जब तक इसको आप आनंद लेने के लिए कभी कभी करते है यदि आपको इसकी आदत हो गई है तो यह सामान्य नहीं कहा जा सकता आईये जानते है हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान के बारे में

और पढ़े – इन संकेतो से पहचाने की कहीं आपको हस्‍तमैथुन की लत तो नहीं

हस्तमैथुन के फायदे – Benefits of masturbation in Hindi

मैस्टरबेशन एक यौन गतिविधि है। जो मन को शांत और योन उत्तेजना को कम करने के लिए की जाती है  इसके, मानसिक और शारीरिक स्वास्थ लाभ हैं। अध्ययन के मुताबिक हस्तमैथुन के लाभ तभी तक है जब तक इसको सिमित मात्रा में किया जाये। लेकिन अध्ययन से इस बात का पता चलता है कि हस्तमैथुन के माध्यम से यौन उत्तेजना को बढ़ाया जा सकता है। आइये जानते है हस्तमैथुन करने के फायदे के बारें में

और पढ़े – वैजाइना को इन तरीकों से करें टच लड़की को जल्दी उत्तेजित करने के लिए

हस्तमैथुन के फायदे मानसिक तनाव से राहत दिलाने में

आज की दौड़ भाग वाली ज़िंदगी में मानसिक तनाव की समस्या एक आम सी बात है| मानसिक तनाव होने पर कुछ भी अच्छा नही लगता| आपको यह जानकर हैरानी होगी की जब कोई तनाव में होता है या उसका मूड खराब होता है तब हस्तमैथुन या सेक्स एक दवाई की तरह कार्य करता है| इसका कारण है की मैस्टरबेशन आपकी बॉडी में फील-गुड neuro chemicals यानि dopamine और oxytocin स्त्रावित करने में में करती है| ये neuro chemicals आपके मूड को अच्छा करने और तनाव (स्ट्रेस) को कम करने का कार्य करते हैं| कुछ मामलों में हस्तमैथुन करना डिप्रेशन को भी कम करने में प्रभावकारी माना जाता है|

हस्तमैथुन के फायदे भरपूर नींद दिलाने में

जादातर केस में हस्तमैथुन के बाद नींद अच्छी आती है| जी हाँ डॉक्टर्स के अनुसार हैण्ड प्रैक्टिस से शरीर में endorphins स्त्रावित होते हैं जो की अनिद्रा को दूर करते हैं और आपको अच्छी नींद दिलाने में मदद करते हैं| प्रोलैक्टिन हार्मोन के कारण ही पुरुषों में हस्तमैथुन के बाद नींद अच्छी आती है। प्रोलैक्टिन डोपामाइन (एक तंत्र, जिससे दिमाग जगा हुआ महसूस करता है) के स्तर को दबा देता है। भरपूर नींद दिलाने में में मदद करता है

और पढ़े – आखिर सेक्स के बाद क्यों सो जाते हैं पुरुष

हस्तमैथुन के फायदे दिलाये शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा

यदि आपको शीघ्रपतन की समस्या है तो आप उसे आसानी से ठीक कर सकते हैं| बस आपको ये करना है की संभोग से पहले हस्तमैथुन कर लीजिए| इससे आप लंबे समय तक संभोग का आनंद उठा पाएँगे और आपकी  समसया भी ठीक हो जाएगी| और पढ़े – शीघ्रपतन कारण,उपचार और शीघ्रपतन रोकने के घरेलु उपाय

हस्तमैथुन के फायदे यौन तनाव को दूर करने में

इससे यौन तनाव में कमी आती है क्योंकि इसे करके आदमी अपनी संतुष्टि कर लेता है फलसवरूप उसके मन मे किसी प्रकार  की कोई यौन इच्छा नही रहती इसलिए हम कह सकते हैं की हस्तमैथुन के फायदे यौन तनाव को दूर करने में सहायक होता है|

हस्तमैथुन के फायदे दिलाएं यौन रोग से सुरक्षा

आजकल यौन संचारित रोग बहुत तेज़ी से फैल रहे है| इसलिए ज़रूरी है की आप वो सभी उपाय अपनाएं जिससे आपको कभी किसी यौन रोग का सामना ना करना पड़े| हस्तमैथुन यौन रोग से बचने का सबसे बढ़िया तरीका है| ये ना केवल आपको अनचाहे गर्भ के डर से बचाता है बल्कि आपको HIV, AIDS, और दूसरे  STD यानी sexually transmitted disease से भी बचाता है|

और पढ़े – यौन संचारित रोग एसटीडी को रोकने के तरीके

हस्तमैथुन के फायदे दिलाएं नाइट फॉल से मुक्ति

स्वप्नदोष यानि नाइट फॉल होने के कई कारण हो सकते हैं लेकिन हस्तमैथुन से इसका इलाज किया जा सकता है| इसलिए यदि आपको रेग्युलर नाइटफॉल की प्राब्लम है तो आप हफ्ते में 2-3 बार हस्तमैथुन करके अपनी कंडीशन में सुधार कर हैं सकते हैं जिससे आपके स्पर्म की संख्या में भी सुधर होगा और नाईट फॉल से भी बचाव होगा|

(और पढ़े – स्वप्नदोष रोकने के घरेलू उपाय)

हस्तमैथुन के फायदे करें कैंसर के खतरे को कम

शोध के मुताबिक नियमित रूप से वीर्यपात (ईजैक्यूलैशन) से कैंसर के ख़तरे की संभावना कम होती है। हांलाकि डॉक्टर इस बात इस बात को लेकर निश्चित नहीं हैं।

2015 में एक अध्ययन किया गया। इस अध्ययन में ये देखा गया कि जिन परूषों में कैंसर का ख़तरा था। इस ख़तरे को लगभग 20 प्रतिशत तक कम पाया गया, जो व्यक्ति एक महीने में कम से कम 21 हस्तमैथुन करते थे।

इसका कारण है की आपके जनन तंत्र में हानि कारक पदार्थ जमा होते रहते हैं जो की कॅन्सर और दूसरी कई प्रकार के गुप्त रोगों के लिए जिम्मेदार होते हैं| हस्तमैथुन के द्वारा ऐसे हानिकारक पदार्थ शरीर से बाहर निकल जाते हैं|

हस्तमैथुन के फायदे लड़कियों (गर्ल्स) के लिए

लड़कियों को ऊपर बताये गये सभी फ़ायदे तो मिलते ही हैं साथ ही इससे आपकी पेल्विक मसल स्ट्रॉंग बनती है जो आपके जनन अंगों को मजबूती प्रदान करती है जिससे आपकी सेक्सुअल लाइफ अच्छी बनती हैं| इतना ही नही, नियमित मैस्टरबेशन से आपके पीरियड में होने वाला दर्द और मरोड़ भी कम होते हैं|

और पढ़े – क्या पीरियड में प्रेगनेंसी होने के चांस होते हैं

हस्तमैथुन के नुकसान – Side effect of masturbation in Hindi

युवावस्‍था में हस्तमैथुन की शुरुआत की सबसे ज्‍यादा संभावना रहती है और ऐसा होने पर दिन में बार-बार हस्तमैथुन करने का मन करता है। हस्तमैथुन तब तक हानिकारक नहीं है जब तक इसको कम मात्रा में किया जाये हालांकि कुछ लोग हस्तमैथुन को ग़लत मानते हैं। इसके अलावा कुछ लोगों में ये भी धारणा है कि लंबे समय से हस्तमैथुन करने से कुछ समस्या हो सकती है। वैसे तो हस्‍तमैथुन के कोई नुकसान नहीं हैं, लेकिन कई बार गलत ढंग से या ज्‍यादा मैथुन करने के गंभीर परिणाम हो सकते है। आइये जानते है Hastmaithun Karne Se Hone Wale Nuksan के बारें में 

हस्तमैथुन के नुकसान से होता है शुक्राणु की संख्‍या पर असर

नियमित रूप से कई बार हस्‍तमैथुन करने से पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्‍या कम होने लगती है। इसका असर उनकी पिता बनने की क्षमता पर भी पड़ता है। इसके अलावा नियमित रूप से हस्‍तमैथुन करने से आपको संतुष्‍ट होने का समय कम या बढ़ सकता है। इसके साथ ही आपका वीर्य स्‍खलित होने का समय भी बढ़ या घट सकता है। इसके अलावा हस्‍तमैथुन की आदत इरेक्टाइल डिसफंक्शन रोग का मुख्‍य कारण होती है।

हमारे वीर्य में लाखो की संख्या में शुक्राणु होते है जो हमारे पिता बनने में सहायक होते है. परन्तु जो लोग रोजाना हस्तमैथुन करते है उनके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बहुत कम हो जाती है

और पढ़े – शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने का घरेलू उपाय

हस्तमैथुन के नुकसान से लिंग में सूजन का हो जाना

कई लोग ऐसे होते है जो जल्दीबाजी के चक्कर में बहुत तेजी से हस्तमैथुन (Masturbation) करने लगते है. जिस कारण उनका वीर्य से पहले निकलने वाला तरल पानी उनके लिंग की मासपेशियों में चला जाता है.

इसका रिजल्ट यह होता है कि व्यक्ति के लिंग में सूजन आने लगती है और तब तक रहती है जब तक वह वापस खून (blood) में न मिल जाये. ऐसा बार – बार होने पर यह गंभीर समस्या बन जाती है

हस्तमैथुन के नुकसान से लिंग की मांसपेशियों का टूटना

कई बार हस्तमैथुन (masturbation) करते समय अपने लिंग को कस कर दबाने या मोड़ने का प्रयास हानिकारक हो सकता है इससे ‘पायरोनी’ नाम की बीमारी हो सकती है। यही नही पेनाइल फ्रेक्‍चर भी हो सकता है यानी आपके लिंग की मांसपेशियां टूट सकती हैं।

लोग अक्सर हस्तमैथुन करते समय अपने लिंग को बहुत ही मजबूती से जकड़ लेते है और उसे दबाने या मोड़ने लगते है वे सोचते है की ऐसा करने से वीर्य बाहर नहीं निकलेगा. यह करना सही नहीं है. ऐसा करने से आपको गंभीर समस्या का सामना करना पड़ सकता है.

पायरोनी होने पर लिंग टेढ़ा हो जाता है मांसपेशियों में तनाव होने की स्थिति में आप उसके टेढ़ेपन को आसानी से देख सकते हैं।

हस्तमैथुन के बाद खुद के प्रति ग्लानी होना

जितना उत्साह हस्तमैथुन करने के पहले और करते समय होता है उतनी ही  ग्लानी उसके बाद होती है लोग जब भी हस्तमैथुन करते है हस्तमैथुन (Masturbation) करने के बाद खुद से घृणा करने लग जाते है. जो की हस्तमैथुन से होने वाला सबसे बड़ा नुकसान है और पढ़े – हस्तमैथुन की लत को छोड़ने के तरीके

हस्तमैथुन घबराहट और न्यूरोलॉजिकल समस्याएं पैदा करता है। हस्तमैथुन आपके मन और आत्मा में तनाव और दबाव का कारण बनता है। इसके अलावा हस्तमैथुन आपको मनोवैज्ञानिक तौर पर प्रभावित करता है। यह स्खलन के बाद अवसाद पैदा करता है और व्‍यक्ति खुद को बुरा महसूस लगता है

हस्तमैथुन के नुकसान से शरीर का कमजोर हो जाना

शरीर को चलाने के लिए कैलोरी की जरुरत होती है और जा आप हस्तमैथुन करते है तो आप अपनी कैलोरी को उसमे खर्च कर देते है जिससे आप थोड़ी देर की खुशी के लिए खुद की लाइफ को अच्छा बनाने के बजाये और ज्यादा ख़राब बना लेते है जादा हस्तमैथुन (masturbation) करने से कभी भी आपकी सेहत अच्छी नहीं बन सकती|

हस्तमैथुन के नुकसान से लिंग में उत्तेजना का बंद हो जाना

अधिक मात्रा में हस्तमैथुन करने से कई बार लिंग के ऊतक में चोट पहुंच जाती है और इससे ये ऊतक नष्ट होने लगते है. जिससे लिंग में उत्तेजना आना बंद हो जाती है. कई बार तो इससे व्यक्ति
को उत्तेजना आना हमेशा के लिए बंद हो जाती है.

(और पढ़े – इरेक्टाइल डिसफंक्शन नपुंसकता (स्तंभन दोष) कारण और उपचार)

अगर आपकी उत्तेजना खत्म हो गई तो आपकी मैरिड लाइफ (Merried life) बर्बाद हो सकती है क्योंकि अगर आप अपनी पत्नी को संतुष्ट नहीं कर पाए तो आप दोनों के रिश्ते पर इसका असर पड़ेगा जो आपके रिश्ते को खत्म कर देगा. इसलिए अब यह आपको तय करना है की आपको कौन सा रास्ता चुनना है

हस्तमैथुन के नुकसान से अवैध संबध और पार्टनर से झगड़ा होना

अपराध करने वाले लोग हस्तमैथुन के आदी होते है और यौन इच्छाएं अधिक बढ़ने पर वे अपराध करने लग जाते है. व्यक्ति हस्‍तमैथुन करते समय हमेशा ही कल्पनाओ में खोया रहता है

हस्‍तमैथुन (masturbation)आपको अवैध संबंधो की ओर ले जाता है क्‍योंकि इसकी उत्तेजना दिन ब दिन बढ़ती जाती है और अंत में यौन सुख के लिए आप अन्‍य स्रोतों को ढूढ़ने लगते हैं।लंबे समय तक हस्तमैथुन संभोग के दौरान तेजी से शुक्राणु के रिलीज होने का मुख्य कारण है। इससे आपके और आपकी पत्नी के बीच असंतोष पैदा हो सकता है। और रिश्ता ख़राब हो सकता है

(और पढ़े – इन संकेतो से पहचाने की कहीं आपको हस्‍तमैथुन की लत तो नहीं)

हस्तमैथुन के नुकसान से  होने लगता है हाथ और शरीर में कम्पन

कुछ लोग हस्तमैथुन (masturbation ) के कारण हाथ में कम्पन या शरीर काम्पने की शिकायत करते हैं| ऐसा कमजोरी और हॉर्मोन के असंतुलन के कारण होता है| रिसर्च कहती है अधिक हस्तमैथुन से हार्मोनल बदलाव होते हैं जिनके प्रभाव से दिमाग से कुछ रसायन निकलते हैं जिनके कारण शरीर में कम्पन होता है|

हस्तमैथुन के बारे में विशेषज्ञों के विचारों में मतभेद है। कुछ का मानना है कि यह कोई समस्या नहीं है लेकिन कुछ का मानते हैं यह हानिप्रद है।

यह समझना ज़रूरी है की हस्तमैथुन कोई समस्या नहीं है। लेकिन हस्‍तमैथुन की लत पड़ जाना एक मनोवैज्ञानिक विकार हैं जिसका व्यक्ति को उपचार कराना चाहिए। यदि व्यक्ति यह करने को अपने को विविश पाए तो यह समस्या है। यदि उसे सेक्स सम्बन्ध बनाने से ज्यादा हस्‍तमैथुन में आनंद आए तो यह एक विकार है|

Leave a Comment

3 Comments

Subscribe for daily wellness inspiration