सेक्स बीमारी

शीघ्रपतन कारण, उपचार और शीघ्रपतन रोकने के घरेलू उपाय – Premature Ejaculation Causes, treatment and Home Remedies in Hindi

शीघ्रपतन कारण, उपचार और शीघ्रपतन रोकने के घरेलू उपाय - Premature Ejaculation Causes, treatment and Home Remedies in Hindi

सही सम्भोग उसे कहते है जिसमे दोनों पार्टनर को सेक्स में पूरा आनंद आये और चरम सुख प्राप्त हो मगर ऐसा हमेशा नहीं होता। इसके कई कारण हो सकते जिसमे से एक शीघ्रपतन या समयपूर्व स्खलन है। वर्तमान समय में पुरुषों में ‘शीघ्रपतन’  या ‘Premature Ejaculation’ का स्तर बढ़ता जा रहा है। सेक्स करते समय अपेक्षा से पहले वीर्य (Semen) का स्खलन (Ejaculation) होने को हीं शीघ्रपतन कहते हैं। पीड़ित व्यक्ति पर इस समस्या का शारीरिक, मानसिक और सामाजिक परिणाम पड़ता हैं। अधिकतर शीघ्रपतन के मामलों में कोई विशेष कारण नहीं होता है शीघ्रपतन का इलाज बिलकुल मुमकिन है और रोगी से बात कर और विशेष व्यायाम/ क्रिया समझाकर और शीघ्रपतन रोकने के घरेलु उपाय को अपनाकर इसे ठीक किया जा सकता हैं।

यदि आप भी इस तरह के किसी रोग से परेशां हैं तो आज के हमारे इस लेख को पूरा पढ़ें इसमें हम समयपूर्व स्खलन क्या होता है? इसके कारण, लक्षण और जाँच के साथ शीघ्रपतन की समस्या का उपचार के तरीके भी बताएगें।

विषय सूची

क्या होता है शीघ्रपतन? – What is premature ejaculation in Hindi?

प्रीमैच्योर इजेकुलेशन जिसे हिंदी में शीघ्रपतन (Shighrapatan) या आम बोलचाल की भाषा में early discharge भी कहा जाता है बहुत ही कॉमन प्रॉब्लम है और सामान्यतः दुनिया भर के  30 से 40% पुरुषों में पाई जाती है। अमेरिका में The National Health and Social Life Survey (NHSLS) में पाया गया कि वहां के 30% पुरुष शीघ्रपतन से ग्रसित हैं। ये भी माना जाता है कि हर पुरुष अपने जीवन काल में कभी न कभी शीघ्रपतन की समस्या का सामना करता ही है। अगर सेक्स करते समय प्रथम 2 मिनिट में ही किसी पुरुष का वीर्य स्खलन (Semen Ejaculation) हो जाता है तो इसे शीघ्रपतन  या Premature Ejaculation कहा जाता हैं।

इसलिए अगर आप इस समस्या से परेशान हैं तो खुद को अकेला मत समझिये, समयपूर्व स्खलन से आप अकेले नहीं जूझ रहे बल्कि एक-तिहाई पुरुष आपके साथ है। डॉक्टर्स का मानना है कि यदि पुरुषों का intravaginal ejaculatory latency time (IELT) यानि योनी में लिंग जाने के बाद और वीर्य स्खलन होने के बीच का समय :

  • 1 मिनट से कम है तो पुरुष को“definite” Premature Ejaculation है।
  • 1 से डेढ़ मिनट है तो“probable” Premature Ejaculation है।

कई मामलों में शीघ्रपतन की समस्या इतनी बढ़ जाती है कि पुरुष  योनि में लिंग डालने से पहले ही इजैक्युलेट कर देता है या सेक्स शुरू होने के फ़ौरन बाद ही उसका वीर्य बाहर (sperm discharge) आ जाता है।

शीघ्रपतन एक ऐसी स्थिति है जब कोई व्यक्ति संभोग के दौरान वेजाइना में पेनिस के प्रवेश से पहले या उसके तुरंत बाद अपने नियंत्रण के बिना स्खलन करता है। यह कम से कम यौन उत्तेजना के साथ होता है और एक व्यक्ति वास्तव में इतनी जल्दी स्खलन की इच्छा नहीं करता है। इसका नतीजा यह होता है कि दोनों पार्टनर सेक्सुअल इंटरकोर्स से सतुष्ट नहीं हो पाते हैं। प्रदर्शन करने का दबाव एक व्यक्ति को मिल सकता है और अतिरिक्त चिंता केवल एक मरीज के संकट में जुड़ जाती है। यह पुरुषों में यौन रोगों की अभिव्यक्तियों में से सबसे आम है। लगभग सभी पुरुष अपने यौन जीवन में किसी एक बिंदु पर इस स्थिति का शिकार हुए हैं।

शीघ्रपतन के प्रकार क्या हैं? – What are the types of premature ejaculation in hindi?

शीघ्रपतन के प्रकार:

आजीवन: आजीवन समयपूर्व स्खलन या प्राथमिक समय से पहले स्खलन पहली बार सेक्स के समय होता है।
अधिग्रहित: माध्यमिक समय से पहले स्खलन या अधिग्रहित समय से पहले स्खलन का अनुभव तब होता है जब व्यक्ति कई बार सेक्स कर चूका होता है या पिछले एक बार सेक्स के दौरान समस्या का सामना किए बिना सेक्स करने के बाद भी यह विकसित हो सकता है।

औसत आदमी कितने समय तक खड़ा रख सकता है? – How long can the average man stay erect in Hindi?

अध्ययन के अनुसार एक औसत आदमी के लिंग के खड़े रहने का औसत समय 5.4 मिनट है, लेकिन कई बार स्तंभन कुछ मिनट या एक घंटे तक रह सकता है। इरेक्शन खत्म होना उम्र, स्वास्थ्य और यौन गतिविधि सहित चार कारकों पर निर्भर करता है।

स्खलन होने से पहले कितने समय तक रहना चाहिए? – How long should a man last before ejaculation in Hindi?

यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न होता है लेकिन स्खलन से पहले आदमी का अंतिम समय लगभग 4.9 मिनट होता है।

शीघ्रपतन के लक्षण क्या हैं? – Symptoms of premature ejaculation in hindi?

शीघ्रपतन के लक्षण:

पेनिस का योनि में डालने के बाद समय से पहले स्खलन का मूल लक्षण स्खलन में देरी करने की अक्षमता होती है। यह समस्या सेक्सुअल एक्टिविटी और हस्तमैथुन के समय भी हो सकती है।

शीघ्रपतन का उपचार करने के पहले उसके कारण समझना भी बेहद जरुरी हैं।

शीघ्रपतन के कारणCauses of Premature Ejaculation in Hindi

डॉक्टर अभी तक शीघ्रपतन का कोई ठोस कारण पता नहीं लगा पाए हैं। यह समस्या शारीरिक और मानसिक दोनों कारणों से हो सकती हैं। अधिकांश मामलों का सटीक कारण अभी तक पता नहीं चला है और उसके बारे में स्पष्टता की कमी है। समय बीतने के साथ, पुरुष अपने कामोन्माद को थोड़ा स्थगित करना सीख जाते हैं। नए सेक्स पार्टनर अक्सर इसका सामना करते हैं। कुछ यौन स्थितियों से ऐसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है। स्खलन के बीच भी लंबे समय तक गैप इसका कारण हो सकता है।

यौन रोग के इस रूप में मनोवैज्ञानिक मुद्दे भी बहुत महत्वपूर्ण हैं। इसका परिणाम अपराधबोध, चिंता और अवसाद भी हो सकता है। समयपूर्व स्खलन के कारण चिकित्सा भी हो सकती है जैसे हार्मोन के साथ समस्याएं, एक चोट या कुछ दवाओं के साइड इफेक्ट के रूप में। बड़ी संख्या में पुरुषों को लगता है कि वे शीघ्रपतन से पीड़ित हैं लेकिन उनकी जाँच के लिए कोई मापदंड निर्धारित नहीं हैं।

फिर भी कुछ खास कारण है जो शीघ्रपतन का कारण माने जाते है इनकी जानकारी निचे दी गयी हैं

अधिक हस्तमैथुन करना होता है शीघ्रपतन का कारण – Masturbation is the cause of premature ejaculation in Hindi

कई विशेषज्ञों का कहना है की जो पुरुष अधिक हस्थमैथुन के आदि होते हैं उन्हें शीघ्रपतन की समस्या होने की संम्भावना ज्यादा होती हैं। ऐसे पुरुष को क्लाइमेक्स पर पहुंचने की जल्दी होती है जिससे यह समस्या निर्मित होती हैं। हस्तमैथुन करते समय पुरुष को क्लाइमेक्स पर पहुचने की जल्दी होती है और बार- बार ऐसा करने से शरीर को जल्दी डिस्चार्ज होने की आदत हो जाती जो आगे चलकर शीघ्रपतन का कारण बनता है। इससे बचने के लिए कम मात्र में और देर तक हस्तमैथुन करने की कोशिश करनी चाहिए।

अधिक शारीरिक उत्तेजना का होना

जो पुरुष सेक्स से बार में अधिक सोचते है या पोर्नोग्राफी में लिप्त होते हैं, सेक्स से सम्बंधित किताबें-वीडियो अधिक देखते हैं। वे जल्दी उत्तेजित हो जाते है और परिणामतः शीघ्रपतन की समस्या उत्पन्न होने लगती हैं।

सेक्स से जुड़ा अज्ञान शीघ्रपतन का होता है कारण

सेक्स के बारे में सही जानकारी ना होना सेक्स एजुकेशन की कमी और सेक्स से जुड़ा अज्ञान शीघ्रपतन का एक और बड़ा कारण हैं। भारत में युवा वर्ग में इस विषय में कई सारे मिथक फैले हुए है और यही कारण है की अज्ञान और घबराहट के कारण कई युवाओं में यह समस्या उत्पन्न होती हैं।

(और पढ़ें – क्‍या मास्‍टरबेशन या हस्‍तमैथुन से नपुंसकता आती है)

नसों का कमजोर होना कारण होता है शीघ्रपतन का

दिनचर्या में गलत आदतों का सामिल होना जैसे शराब, तम्बाखू, गुटखा, धूम्रपान आदि और कुछ रोग जैसे  डायबिटीज , मोटापा जैसे रोग के कारण शरीर की तंत्रिका प्रणाली पर विपरीत प्रभाव पड़ता है जिससे लिंग की नसे कमजोर होने से भी शीघ्रपतन की समस्या उत्पन्न हो जाती हैं।

हार्मोन असंतुलन होता है शीघ्रपतन का कारण

प्रत्येक व्यक्ति के शरीर में टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन पाया जाता है जिसे सेक्स हार्मोन भी कहा जाता है  सामान्यतः उम्र के साथ शरीर में टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन में कमी आ जाती है और शीघ्रपतन की समस्या निर्मित होती हैं। आजकल युवा वर्ग में भी आलस्य मोटापे के कारण इस हॉर्मोन में कमी जल्द आने से यह समस्या जल्द निर्माण हो रही हैं।

(और पढ़े – टेस्टोस्टेरोन हार्मोन यानी मर्दानगी बढ़ाना है तो जरूर खाएं ये आहार)

मानसिक तनाव भी होता है शीघ्रपतन का कारण

आज की भागदौड़ बरी जिन्दगी में तनाव का स्तर बढ़ता ही जा रहा है  तनाव या चिंता जैसे मानसिक कारणों से शीघ्रपतन होना आम बात हैं। कुछ लोगों में कोई समस्या न होते हुए भी केवल तनाव और शीघ्रपतन न हो जाये इस चिंता से भी शीघ्रपतन हो जाता हैं।

(और पढ़े: महिलाओं की सेक्‍सुअलिटी से जुड़े कुछ रोचक तथ्य)

रोग का होना भी है शीघ्रपतन का कारण

कई तरह के रोग है जो शीघ्रपतन का कारण बनते है थाइरोइड, कमजोर लिंग (Erectile Dysfunction), डायबिटीज, उच्च रक्तचापपेशाब में संक्रमण, हॉर्मोन्स में गड़बड़ी, विटामिन की कमी और मस्तिष्क में तंत्रिका प्रणाली (Nervous system) में गड़बड़ी जैसे कारणों से शीघ्रपतन हो सकता हैं।

सेक्स करने का तरीका

शीघ्रपतन कभी-कभी गलत सेक्स की पद्धति से भी हो सकता है जैसे की अत्याधिक मौखिक सम्भोग (Oral Sex), अत्याधिक पूर्वक्रिडा (Foreplay) इत्यादि।

पीई (शीघ्रपतन) और आयु

शीघ्रपतन किसी भी उम्र में हो सकता है। बुढ़ापा पीई का प्रत्यक्ष कारण नहीं है, हालांकि उम्र बढ़ने से इरेक्शन और स्खलन में परिवर्तन होता है। वृद्ध पुरुषों के लिए इरेक्शन उतने दृढ़ या बड़े नहीं हो सकते हैं। स्खलन होने से पहले लंबे समय तक सुधार नहीं हो सकता है। यह अहसास कि स्खलन होने वाला है कम हो सकता है। ये परिवर्तन स्वाभाविक रूप से पहले से स्खलित हो रहे एक वृद्ध व्यक्ति में जन्म दे सकते हैं।

शीघ्रपतन और आपकी साथी

पीई के साथ, आप महसूस कर सकते हैं कि आप यौन साथी के साथ साझा करीबी को खो सकते हैं। आप गुस्सा, शर्म और परेशान महसूस कर सकते हैं और अपने साथी से दूर हो सकते हैं। शीघ्रपतन केवल आपको प्रभावित नहीं करता है, यह आपके साथी को भी प्रभावित करता है। यौन अंतरंगता में बदलाव से आपकी साथी परेशान हो सकती है। शीघ्रपतन भागीदारों को कम जुड़ा हुआ महसूस करा सकता है, या दूर महसूस करा सकता है।

शीघ्रपतन का निदान कैसे किया जाता है? – How premature ejaculation is diagnosed in Hindi?

निदान करने के लिए, रोगी की जांच करने वाले डॉक्टर से उसके यौन और चिकित्सा इतिहास के बारे में गहन चर्चा होगी।

डॉक्टर आपसे कुछ प्रश्न वह पूछ सकते हैं:

शीघ्रपतन कितनी बार होता है?
आपको यह समस्या कब से है?
क्या ऐसा सिर्फ एक साथी के साथ या हर बार होता है?
क्या शीघ्रपतन सेक्स के हर प्रयास के साथ होता है?
किस प्रकार की यौन गतिविधि (यानी, फोरप्ले, हस्तमैथुन, संभोग, दृश्य संकेतों का उपयोग, आदि) में शीघ्रपतन होता है?
शीघ्रपतन ने आपकी यौन गतिविधि को कैसे प्रभावित किया है?
आपके अपने साथी के साथ व्यक्तिगत संबंध कैसे हैं?
क्या ऐसा कुछ है जो शीघ्रपतन को बदतर या बेहतर बनाता है (यानी, ड्रग्स, शराब, आदि)?

उसके बाद एक व्यापक शारीरिक परीक्षा की जाएगी। डॉक्टर, इसके अलावा, रोगी के पार्टनर के साथ स्थिति पर चर्चा कर सकते हैं। डॉक्टर स्पष्ट रूप से प्रयोगशाला परीक्षणों के माध्यम से चिकित्सा समस्याओं को भी दूर करना चाहेंगे।

शीघ्रपतन की समस्या का उपचार  -Treatment of premature ejaculation problem in Hindi

शीघ्रपतन का उपचार कई तरह से किया जा सकता है आइये इनके बारे में जानतें हैं।

संवेदनाहारी दवा का प्रयोग – Use of Topical anesthetics in Hindi

कुछ डॉक्टर शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए ऐसी दवा (क्रीम या स्प्रे) देते है जिसे लिंग (Penis) पर लगाने पर संवेदना चली जाती है या कम हो जाती हैं। इससे सेक्स करने के 15-20 मिनिट पहले लगाना होता हैं। यह काफी असरदार उपचार है परन्तु इसके कुछ दुष्परिणाम भी हैं। कुछ लोगों को इससे एलर्जी होने का खतरा रहता है।

ये ऐसी क्रीम हैं जिनमें किसी भी हिस्से को सुन्न करने वाले एजेंट होते हैं जिनमें बेंज़ोकेन, लिडोकाइन या प्रिलोकाइन शामिल होते हैं, और कभी-कभी इनका उपयोग शीघ्रपतन को ठीक करने के लिए किया जाता है। कई बार इन क्रीमों के दुष्प्रभाव होते हैं और यौन सुख में कमी हो सकती है या संवेदनशीलता का अस्थायी नुकसान होता है।

मौखिक दवा के सेवन से – Oral Medicine in Hindi

कुछ दवाएं संभोग सुख में देरी कर सकती हैं और इसमें एंटीडिप्रेसेंट, फॉस्फोडिएस्टरेज़ -5 इनहिबिटर और एनाल्जेसिक शामिल हैं। ये दवाएं डॉक्टर द्वारा अन्य दवाओं या अकेले के संयोजन के साथ निर्धारित की जाती हैं। दवाइयाँ रोज़ या फिर जरूरत पर खाई जा सकती हैं।

पीड़ित व्यक्ति की जांच करने के बाद डॉक्टर जरुरत पड़ने पर दवा भी देते हैं।

  1. अगर किसी चिंता, भय या तनाव के कारण यह समस्या है तो एंटीडिप्रेसेंट्स (टेंशन कम करनेवाली) दवा दी जाती हैं। ये दवाएं हैं जो शीघ्रपतन फ्लुक्सिटाइन, सेराट्रलीन, एस्सिटालोप्राम, या पेरोक्सेटीन की देरी के लिए दी जाती हैं।
  2. कुछ एनाल्जेसिक यानी दर्दनाशक (Analgesic) दवा का उपयोग भीशीघ्रपतन को दूर करने के लिए किया जाता हैं। दर्द का इलाज करने के लिए ट्रामाडोल का उपयोग आमतौर पर साइड इफेक्ट्स बनाने में किया जाता है जो स्खलन में देरी करते हैं। ट्रामडोल को अधिकांश समय SSRIs के संयोजन के साथ निर्धारित किया जाता है।
  3. शीघ्रपतन के उपचार के लिए सिल्डेनफिल-वियाग्रा जैसी प्रसिद्ध दवा का भी उपयोग किया जाता है पर इनका सेवन डॉक्टर की सलाह से सीमित मात्रा में ही करना चाहिए क्योंकि इस दवा के गंभीर दुष्परिणाम शरीर पर होते हैं। कुछ दवाओं का उपयोग स्तंभन दोष के इलाज के लिए किया जाता है जिसमें सिल्डेनाफिल, वॉर्डनफिल, टैडालफिल शामिल हैं।
  4. अगर पेशाब या प्रोस्टेट ग्रंथि में कोई संक्रमण या infection है तो उसे एंटीबायोटिक दवा देकर ठीक किया जाता हैं।
  5. अगर शरीर में थाइरोइड या टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन में कोई गड़बड़ी है तो जांच कर उचित हार्मोनल दवा दी जाती हैं।
  6. परामर्श यह वह तरीका है जिसमें चिकित्सक रोगी से उसकी समस्या के बारे में बात करता है। यह व्यक्ति से यौन प्रदर्शन का दबाव भी छोड़ने में मदद करता है और तनाव से निपटने के अन्य तरीके बताये जाते हैं। परामर्श और ड्रग थेरेपी एक साथ होने वाली प्रक्रियाएं हैं।

शीघ्रपतन की समस्या दूर करने के लिए व्यायाम – Exercise to overcome the problem of premature ejaculation in hindi

शीघ्रपतन की समस्या से निजात पाने के लिए डॉक्टर आपको कुछ विशेष एक्सरसाइज बताते है जिससे इस समस्या को बिना दवा के भी ठीक करने में सहायता प्राप्त होती हैं। शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए निचे दिए हुए व्यायाम / क्रिया करने की सलाह दी जाती हैं :

निचोड़ तकनीक – Stop Squeeze Technique in Hindi

सेक्स करते समय जब पुरुष को लगे की वीर्य निकलने ही वाला है तब अपने साथी से गुप्तांग (Glans Penis) के निचे दबाने को कहे। इतने जोर से दबाए की वीर्य न निकले और दर्द भी न हो। जब ऐसा लगे की अब वीर्य निकलने की इच्छा समाप्त हो गयी है तब छोड़ दे। अब आधा मिनिट रुक कर दोबारा सेक्स करे और जब वीर्य निकलने का एहसास हो तो दोबारा दबाकर रखे। इस तरह यह अभ्यास 8 से 10 बार करे। धीरे-धीरे अभ्यास के साथ वीर्य निकलने का अंतराल बढ़ जायेगा।

सेक्स करने से पहले हस्त मैथुन करना – Masturbate before sex in Hindi

पीड़ित पुरुष को सेक्स करने के 1 या 2 घंटे पहले हस्तमैथुन करने को कहा जाता है। इससे बाद में सेक्स करते समय जल्द वीर्य स्खलन नहीं होता हैं। यह क्रिया अधिक उम्र के पुरुषों में काम नहीं आती क्योंकि उनमे हस्तमैथुन करने से दोबारा जल्द सेक्स इच्छा निर्माण होने की आशंका कम रहती हैं।

(और पढ़े: इन संकेतो से पहचाने की कहीं आपको हस्‍तमैथुन की लत तो नहीं)

स्टॉप-स्टार्ट तकनीक – Stop-Start Technique in Hindi

पीड़ित व्यक्ति में वीर्य स्खलन का अंतराल और क्लाइमेक्स के अंतराल को बढ़ाने के लिए यह अभ्यास करने के लिए कहा जाता हैं। इसमें पुरुष को हस्त मैथुन करने की सलाह दी जाती है और जब ऐसा लगे की वीर्य निकलने वाला है तब पहले ही रुकने की सलाह दी जाती हैं। ऐसा बार-बार करने से वीर्य को लम्बे समय तक रोकने का अभ्यास होता हैं और शीघ्रपतन में लाभ होता हैं।

(और पढ़े –प्रीमैच्योर इजैकुलेशन (शीघ्रपतन) के लिए स्टार्ट स्टॉप मेथड)

केगेल व्यायाम – Kegel Exercise in Hindi

इस एक्सरसाइज की खोज महिलाओ के लिए हुई थी लेकिन यह व्यायाम स्त्री और पुरुष दोनों के लिए फायदेमंद हैं। मूत्र विसर्जन करते समय अचानक मूत्र के बहाव को रोक दे और कुछ सेकंड के अंतराल बार फिर मूत्रविसर्जन करे। मूत्र के बहाव को रोकने के लिए जिस मांसपेशियों का इस्तेमाल होता हैं उन पर ध्यान दे। इसमें जांघ, पृष्ठ और पेट के मांसपेशियों को ढीला रखना हैं। रोजाना इन पेशियों की कसरत करने से शीघ्रपतन में लाभ होता हैं।

(और पढ़े:  पुरुषों के लिए Kegel Exercise अब जल्दी स्‍खलन की समस्‍या को भूल जाओ)

कंडोम का प्रयोग – Use Condom in hindi

पेनिस (Penis) की उत्तेजना (sensitivity) घटाने के लिए पुरुष  कंडोम (Climax Control condom) का प्रयोग कर सकते हैं। इनमे numbing agents, जैसे कि  benzocaine or lidocaine लगा होता है और इनकी मोटाई (thickness) भी अधिक होती है जिससे देर से स्खलन (ejaculation delay) करने में मदद मिलती है।

(और पढ़े: क्या आप जानते है कंडोम का सही इस्तेमाल? अगर नहीं तो ये खबर आपके लिए है!)

शीघ्रपतन को दूर करने के लिए आहार – Diet to remove premature ejaculation in Hindi

समयपूर्व स्खलन को दूर करने के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सा के साथ अपने आहार पर विशेष ध्यान देना चाहिए। आहार में तीखा-तला हुआ और अधिक मसालेदार भोजन नहीं लेना चाहिए। आहार में ताजे फल, हरी-पत्तेदार सब्जी, फ्रूट जूस, नारियल पानी, दूध और शहद का अधिक इस्तेमाल करना चाहिए। आहार में शतावरी, अंडे, डार्क चॉकलेट, गाजर, ओट्स, अश्वगंधा, अवाकडो, अंगूर, केला, प्याज, लहसुन, अदरक, बादाम, मशरूम और भूरे चावल (ब्राउन राइस) जैसे आहार पदार्थों का अधिक समावेश करने से वीर्य का प्रमाण भी बढ़ता है और जल्दी शीघ्रपतन भी नहीं होता हैं। कच्चा लहसुन का सेवेन और कच्ची प्याज दोनों शीघ्रपतन का घरेलु इलाज माने जाते है इनका सेवेन आप खाना खाते वक्त भी कर सकते है।

(और पढ़े – स्तंभन दोष का इलाज करने और पुरुषों में यौन शक्ति बढ़ाने में लहसुन कैसे मदद करता है?)

शीघ्रपतन के इलाज के लिए किस डॉक्टर के पास जाना चाहिए? – Which doctor should go for treatment of premature ejaculation?

यदि घरेलू व अन्य उपायों को आजमाने के बाद भी अर्ली डिस्चार्ज की समस्या बनी हुई है तो आपको किसी अच्छे Urologist या sexologist सेक्स विशेषज्ञ को दिखाना चाहिए।

नोट: शीघ्रपतन को एक समस्या तभी माने जब ये बार-बार हो। कभी-कभार ऐसा होना नॉर्मल है और शीघ्रपतन एक आम समस्या है जिसका पूरी तरह से इलाज किया जा सकता है।

स्खलन शरीर से वीर्य का निकलना है। शीघ्रपतन (पीई) तब होता है जब सेक्स के दौरान स्खलन किसी पुरुष या उसके साथी की तुलना में जल्दी हो जाता है। समसामयिक शीघ्रपतन को तेजी से स्खलन, समय से पहले चरमोत्कर्ष या शीघ्र स्खलन के रूप में भी जाना जाता है। शीघ्रपतन चिंता का कारण नहीं हो सकता है। यह निराशाजनक जरूर हो सकता है अगर यह सेक्स को कम सुखद बनाता है और रिश्तों को प्रभावित करता है। लेकिन अगर यह अक्सर होता है और समस्याओं का कारण बनता है, तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए जो आपकी मदद कर सकता है।

अमेरिका में, 18 से 59 वर्ष के लगभग 3 में से 1 पुरुष को शीघ्रपतन की समस्या है। समस्या को अक्सर मनोवैज्ञानिक माना जाता है, लेकिन जैविक कारण भी इसमें भूमिका निभा सकते है। यहां सूचीबद्ध सरल तकनीकों के साथ, 100 में से लगभग 95 लोग शीघ्रपतन की समस्या से ठीक हो जाएंगे। सही होने का वादा करने का कोई तरीका नहीं है, लेकिन सीखने से इनके असर करने में मदद मिलती है। यदि समस्या बनी हुई है, तो समाधान खोजने के लिए अपने स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता के साथ बात करना जारी रखें।

Leave a Comment

7 Comments

Subscribe for daily wellness inspiration