क्यों होता है सेक्स के दौरान योनि में दर्द और डिसपेरुनिया क्या है – Dyspareunia Causes, Symptoms, Treatment and Prevention in Hindi

क्यों होता है सेक्स के दौरान योनि में दर्द और डिसपेरुनिया क्या है – Dyspareunia Causes, Symptoms, Treatment and Prevention in Hindi
Written by Daivansh

dyspareunia in hindi सेक्स के दौरान किसी महिला की योनि में दर्द की समस्या को डिसपेरुनिया (dyspareunia) कहते हैं। वेजाइनल पेनिट्रेशन आमतौर पर दर्द नहीं करता है खासतौर से अगर आप और आपके पार्टनर पूरी तरह उत्साहित है। फिर भी कभी- कभार आपको सेक्स के दौरान दर्द या तकलीफ हो सकती है भले ही आपको लग रहा है कि आप सेक्स के लिए पूरी तरह से रेडी है। अगर सेक्स के दौरान पेनिट्रेशन दर्दनाक है, तो आपको इसके कारण का पता लगाना चाहिए और इसके उपायों के बारे में भी जानना चाहिए। इसमें एक गाइनोक्लोजिस्ट किसी भी चिकित्सीय स्थिति की जांच करने के लिए और उसका इलाज करने में आपकी मदद कर सकता है। इस लेख में आप जानेगे सेक्स के दौरान योनि में दर्द क्यों होता है डिसपेरुनिया क्या होता है ?, इसके कारण, लक्षण उपचार और बचाव के बारे में।

1. डिसपेरुनिया क्या है – What is Dyspareunia in hindi
2. डिस्परेयूनिया  के लक्षण क्या है – Symptoms of dyspareunia in Hindi
3. डिसपेरुनिया के क्या कारण है – What causes dyspareunia in Hindi

4. डिस्परेयूनिया के जोखिम में कौन आते हैं –  Who all fall under risk of dyspareunia in Hindi
5. डिसपेरुनिया की जांच कैसे की जाती है – Treatment and examination for dyspareunia in Hindi
5. डिस्परेयूनिया का इलाज – Dyspareunia Treatment in Hindi
6. सेक्स करते समय दर्द (डिसपेरुनिया) के लिए घरेलू उपचार – Home remedies for dyspareunia in Hindi
7. डिसपेरुनिया के लिए वैकल्पिक उपचार – Alternative treatment for dyspareunia in Hindi
8. डिसपेरुनिया से बचने के उपाय – Dyspareunia prevention in Hindi
9. डिसपेरुनिया होने पर सेक्स के क्या विकल्प है? – What is the choice of sex when dyspareunia occurs in hindi

डिसपेरुनिया क्या है – What is Dyspareunia in hindi

डिसपेरुनिया क्या है - What is Dyspareunia in hindi

सेक्स करते समय किसी महिला की योनि में दर्द होने की समस्या को डिसपेरुनिया कहते हैं। इसमें पेल्विक एरिया और उसके आसपास वाले हिस्सों में सेक्स करते समय तेज दर्द होता है। यह कुछ हद तक शारीरिक समस्या ना होकर एक मनोवैज्ञानिक समस्या होती है। डिसपेरुनिया को दो हिस्सों में समझा जा सकता है पहला जिसमें सेक्स के दौरान दर्द होता है और दूसरा जिसमें सेक्स करने के बाद दर्द होता है। अधिकांश मामलों में महिलायें अपनी इस समस्या को जाहिर नहीं कर पाती हैं। इस लेखे में हम सेक्स करते समय या सेक्स करने के बाद योनि (Vagina) में दर्द के बारे में बता रहे हैं जिसके कारण  किसी महिला के लिए सेक्स करना काफी पीड़ादायक हो जाता है।

(और पढ़े – सेक्स के बाद योनि में दर्द के कारण और बचने के उपाय…)

डिस्परेयूनिया  के लक्षण क्या है – Symptoms of dyspareunia in Hindi

डिस्परेयूनिया  के लक्षण क्या है - Symptoms of dyspareunia in Hindi

डिस्परेयूनिया का दर्द अलग स्थिति में अलग-अलग तरीके से हो सकता है जैसे कि-

(और पढ़े – पीरियड्स के दिनों में दर्द क्यों होता है जानें मुख्य कारण…)

डिसपेरुनिया के क्या कारण है – What causes dyspareunia in Hindi

  1. डिस्परेयूनिया के कारण – Causes of dyspareunia in Hindi
  2. चिकित्सीय स्तिथि में डिसपेरुनिया के कारण – Causes of  dyspareunia due to underlying medical condition in Hindi

डिसपेरुनिया कई कारणों से हो सकता है। कई महिलाओं में यह एक शारीरिक समस्या होती है वहीं कुछ महिलाओं में यह शायद किसी मानसिक कारण से भी हो सकता है। डिसपेरुनिया पुरुषों की तुलना में ज्यादातर महिलाओं में ही पाया जाता है।

डिस्परेयूनिया के कारण – Causes of dyspareunia in Hindi

डिस्परेयूनिया के कारण – Causes of dyspareunia in Hindi

डिस्परेयूनिया के कई कारण हो सकते हैं और स्तिथि गंभीर हो जाने पर इलाज की आवश्यकता पड़ना स्वाभाविक है ।

(और पढ़े – महिलाओं में कामेच्छा (सेक्स की इच्छा) की कमी के कारण और इलाज…)

चिकित्सीय स्तिथि में डिसपेरुनिया के कारण – Causes of  dyspareunia due to underlying medical condition in Hindi

चिकित्सीय स्तिथि में डिसपेरुनिया के कारण – Causes of  dyspareunia due to underlying medical condition in Hindi

डिसपेरुनिया किसी अन्तर्निहित चिकित्सीय स्तिथि के कारण भी हो सकता है। नीचे हम आपको इन्ही स्तिथियों के बारे में बता रहे हैं –

  • एंडोमेट्रियोसिस (endometriosis)
  • इंफेक्शन से संक्रमण जैसे की यीस्ट या यूरिनरी ट्रैक्ट इनफेक्शंस
  • वेजयेनिस्मस (vaginismus)- योनि का संकुचन-अपने आप ही योनी की मसल्स का संकुचित होना
  • सिस्टाइटिस
  • पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज (pelvic inflammatory disease (PID)
  • यूटेराइन फाइब्रॉयड (uterine fibroids)
  • इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (irritable bowel syndrome (IBS)
  • एपीसीओटॉमी (episiotomy), हिस्टोरेक्टोमी (Hysterectomy), पेल्विक सर्जरी-श्रोणी की सर्जरी
  • वुल्वोडायनिआ (vulvodynia) व्लवा क्षेत्र में दर्द का होना
  • वैजिनाइटिस (vaginitis) वैजाइना का संक्रमण
  • रेडिएशन एंड कीमो थेरेपी (radiation and chemotherapy)

यह कारण महिला या पुरुष की सेक्स के प्रति इच्छा को प्रभावित करते हैं जिससे वह योन उत्तेजित नहीं हो पाते और इसी वजह से उन्हें सेक्स करते समय या सेक्स करने के बाद उनके योनि (Vagina) में दर्द होने लगता है। जिसे डिस्परेयूनिया कहते है।

(और पढ़े – वैजिनाइटिस (योनिशोथ या योनि में सूजन) के कारण लक्षण और बचाव…)

डिस्परेयूनिया के जोखिम में कौन आते हैं –  Who all fall under risk of dyspareunia in Hindi

डिस्परेयूनिया के जोखिम में कौन आते हैं -  Who all fall under risk of dyspareunia in Hindi

डिस्परेयूनिया पुरुषों और महिलाओं दोनों को अनुभव हो सकता है लेकिन यह स्थिति महिलाओं में ज्यादा पाई जाती है। डिस्परेयूनिया एक ऐसी समस्या है जो रजोनिवृत्ति महिलाओं में आ जाती है। करीब 75% महिलाओं को सेक्स करते समय दर्द का अनुभव होता है। इसके अलावा आप इसके जोखिम में ज्यादा आते हैं अगर आप नीचे लिखे लक्षणों का अनुभव करते हैं।

(और पढ़े – रजोनिवृत्ति के कारण, लक्षण और दूर करने के उपाय…)

डिसपेरुनिया की जांच कैसे की जाती है – Treatment and examination for dyspareunia in Hindi

डिसपेरुनिया की जांच कैसे की जाती है - Treatment and examination for dyspareunia in Hindi

डिसपेरुनिया की जांच के लिए डॉक्टर नीचे दिए गये टेस्ट करवाने की सलाह दे सकते हैं –

  • यूरिन टेस्ट
  • एलर्जी टेस्ट
  • काउंसलिंग ताकि आपके मानसिक कारणों का पता लगाया जा सके
  • पेल्विक अल्ट्रासाउंड (pelvic ultrasound)
  • बैक्टीरिया यीस्ट इनफेक्शन की जांच करने के लिए टेस्ट

(और पढ़े – अल्ट्रासाउंड क्या है और सोनोग्राफी की जानकारी…)

सेक्स करते समय या सेक्स करने के बाद दर्द या डिसपेरुनिया के इलाज के लिए डॉक्टर कई सारे टेस्ट के आधार पर आपकी स्थिति की जांच और ट्रीटमेंट करते हैं।

आपका डॉक्टर एक पूर्णतया मेडिकल जांच और आपके योन संबंध के बारे में जानकारी लेगा। चिकित्सक द्वारा पूछने वाले प्रश्नों के बारे में हम आपको यहां बता रहे हैं।

  • क्या आप गर्भनिरोधक ले रही हैं
  • किन पोजीशन में या किसी दूसरी गतिविधि के कारण दर्द होता है
  • क्या आप के संबंध में कोई समस्या है
  • आपको कैंसर,अर्थराइटिस, मधुमेह या थायराइड तो नहीं है
  • क्या आपके पार्टनर आपकी मदद कर रहें है
  • क्या आपको सेक्स के बारे में शर्मिंदगी होती है
  • कमर में आपको कहां दर्द होता है
  • क्या आपके साथ पहले कभी यौन दुर्व्यवहार या रेप जैसी स्थिति हुई है
  • एक पेल्विक परीक्षण से इसके इलाज में मदद मिल सकती है।

(और पढ़े – जानिए सेक्स करने के फायदे और ना करने के नुकसान…)

डिसपेरुनिया की स्तिथि जांचने के लिए डॉक्टर आपके शरीर की जांच करेगा और आपके पेल्विक क्षेत्र की भी जांच करेगा जिसमे कि निम्नलिखित समस्यायों के बारे में जांच शामिल है –

  • कुछ असामान्य ग्रोथ
  • एंडोमेट्रियोसिस होना (endometriosis)
  • योनि में कमजोरी होना
  • संक्रमण या सूजन
  • योनि के आकार में बदलाव
  • योनि में सूखापन
  • जेनिटल वार्ट्स (genital warts)

डिसपेरुनिया की जांच के लिए अंदरूनी जांच में स्पैकुलम जैसे उपकरण की जरूरत होगी जिससे डॉक्टर आपकी योनि की जांच कर पाएंगे।

यह पैप स्मीयर टेस्ट में होगा। आपके डॉक्टर कॉटन से आपकी वेजायेना के अलग-अलग क्षेत्रों पर हल्का दबाव डालेंगे। इससे पता चलेगा कि आपको किस जगह दर्द हो रहा है।

(और पढ़े – योनि के साथ कभी नहीं करना चाहिए ये 7 चीजें…)

डिस्परेयूनिया का इलाज – Dyspareunia Treatment in Hindi

डिस्परेयूनिया का इलाज - Dyspareunia Treatment in Hindi

डिसपेरुनिया का ट्रीटमेंट इस समस्या के कारणों का इलाज करने से होता है। अगर आपको दर्द किसी संक्रमण के कारण है या किसी और परिस्थिति के कारण तो डॉक्टर आप का उस हिसाब से इलाज करेंगे।

  • डिसपेरुनिया में डॉक्टरों द्वारा दिए जाने वाले उपचार-
  • एंटीबायोटिक्स (antibiotics)
  • एंटीफंगल दवाइयां (antifungal medicines)
  • टॉपिकल या इंजेक्टेबल कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स (topical or injectable corticosteroids)

अगर लंबे समय से चल रही दवाओं के कारण आपकी योनि में सूखापन हो रहा है तो आपका डॉक्टर आपका प्रिसक्रिप्शन बदलने के लिए बोल सकता है। उन दवाइयों को बदलने के लिए कोई दूसरी दवाइयां दी जा सकती है जिससे आपका प्राकृतिक लुब्रिकेशन बना रहे और आपका दर्द भी कम हो।

  • डिसपेरुनिया कई महिलाओं में लो एस्ट्रोजन हार्मोन के कारण भी हो सकता  है। एक टैबलेट लेकर, क्रीम या फ्लैक्सिबल रिंग की मदद से वेजाइना को नियमित रूप से एस्ट्रोजन का डोज दिया जा सकता है।
  • एस्ट्रोजन फ्री ड्रग (ospemifene; Osphena) वेजाइना पर एस्ट्रोजन की तरह एक्ट करता है।
  • यह कोशिकाओं को मोटा बनाता है और उन्हें नाजुक होने से बचाता है इससे महिलाओं को सेक्स करते समय दर्द का अनुभव नहीं होता है।

(और पढ़े – महिलाओं के लिए सेक्‍स करने के फायदे…)

सेक्स करते समय दर्द (डिसपेरुनिया) के लिए घरेलू उपचार – Home remedies for dyspareunia in Hindi

सेक्स करते समय दर्द (डिसपेरुनिया) के लिए घरेलू उपचार - Home remedies for dyspareunia in Hindi

आप डिसपेरुनिया के लक्षणों को नीचे लिखे घरेलू उपचारों की मदद से कम कर सकती हैं –

  • संभोग करते समय पानी में घुलनशील लुब्रीकेंट (water-soluble lubricants) का प्रयोग करें।
  • सेक्स तब करें जब आप और आपके साथी एकदम रिलैक्स्ड हों।
  • अपने दर्द के बारे में अपने साथी के साथ खुले तौर पर बात करें।
  • सेक्स से पहले अपना मूत्राशय या ब्लैडर खाली करें। इसके लिए आप सेक्स से पहले पेशाव करने जा सकती हैं।
  • सेक्स करने से पहले गर्म पानी से स्नान करें।
  • संभोग से पहले एक ओवर-द-काउंटर (over-the-counter pain reliever) दर्द निवारक लें।
  • सेक्स के बाद जलन को शांत करने के लिए योनि कीवाल्वा में एक आइस क्यूब लगायें।

(और पढ़े – महिलाओं की यौन स्वास्थ्य समस्याएं और समाधान…)

डिसपेरुनिया के लिए वैकल्पिक उपचार – Alternative treatment for dyspareunia in Hindi

डिसपेरुनिया के लिए वैकल्पिक उपचार - Alternative treatment for dyspareunia in Hindi

डिसपेरुनिया के लिए आपका डॉक्टर चिकित्सा की भी सिफारिश कर सकता है। इसमें विसंवेदनीकरण (desensitization) थेरेपी या सेक्स थेरेपी शामिल हो सकती है। विसंवेदनीकरण थेरेपी में, आप योनी को रिलैक्स करने की तकनीक सीखेंगे, जैसे कीगल व्यायाम (Kegel exercises), जो दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। सेक्स थेरेपी में, आप अंतरंगता (intimacy) को पुन: स्थापित करने के लिए अपने साथी से बातचीत में इम्प्रूव्मेंट कर सकती हैं।

(और पढ़े – महिलाओं के लिए कीगल एक्सरसाइज के फायदे और करने का तरीका…)

डिसपेरुनिया से बचने के उपाय – Dyspareunia prevention in Hindi

डिसपेरुनिया से बचने के उपाय - Dyspareunia prevention in Hindi

डिसपेरुनिया के लिए कोई विशिष्ट रोकथाम नहीं है। लेकिन आप सेक्स के दौरान दर्द के जोखिम को कम करने के लिए निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं:

  • फोरप्ले और उत्तेजना के लिए पर्याप्त समय के साथ प्राकृतिक योनि स्नेहन होने दें।
  • उचित नियमित चिकित्सा और परामर्श लें।
  • अगर योनि का सूखापन है तो पानी में घुलनशील स्नेहक का प्रयोग करें।
  • प्रसव के बाद, सेक्स शुरू करने के लिए कम से कम छह सप्ताह प्रतीक्षा करें।
  • उचित स्वच्छता का प्रयोग करें।
  • सुरक्षित यौन संबंध रखकर यौन संक्रमित बीमारियों (एसटीडी) (sexually transmitted diseases, STDs) से बचें।

(और पढ़े – यौन संचारित रोग एसटीडी को रोकने के तरीके…

डिसपेरुनिया होने पर सेक्स के क्या विकल्प है? – What is the choice of sex when dyspareunia occurs in hindi

डिसपेरुनिया होने पर सेक्स के क्या विकल्प है? - What is the choice of sex when dyspareunia occurs in hindi

डिसपेरुनिया होने की स्तिथि में सेक्स के और भी विकल्प हो सकते हैं जब तक आपकी अंतर्निहित स्थितियों का इलाज नहीं किया जाता है। पेनेट्रेशन को और अधिक आरामदायक बनाने के लिए आप और आपका पार्टनर अंतरंगता के लिए अन्य तकनीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं। कामुक (sensual) मालिश, किस, मौखिक सेक्स (oral sex), और पारस्परिक हस्तमैथुन (mutual masturbation) संतुष्ट करने वाले विकल्प हो सकते है।

(और पढ़े – हस्तमैथुन या सेक्स में से कौन बेहतर है…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration