पैप स्मीयर टेस्ट क्या होता है, प्रक्रिया, कीमत – Pap Smear Test In Hindi

पैप स्मीयर टेस्ट क्या होता है, प्रक्रिया, कीमत - Pap Smear Test In Hindi
Written by Tina singh

Pap Smear Test In Hindi पैप स्मीयर टेस्ट को ‘पैप टेस्ट’ भी कहा जाता है जानिए पैप स्मीयर टेस्ट क्या है, ‘पैप टेस्ट’ की कीमत, कॉस्ट और पैप स्मीयर परीक्षण प्रक्रिया, कैसे किया जाता है, रिजल्ट्स, और रिपोर्ट का मतलब क्या होता है के बारे में।  गर्भाशय ग्रीवा का कैंसर (cervical cancer) दुनिया भर में अधिकतर महिलाओं की कैंसर से संबंधित मौत का सामान्य कारण बनता है। गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर का पता लगाने का सबसे आसान तरीका नियमित पापानिकोलाउ परीक्षण (Papanicolaou tests) जिसे पैप स्मीयर या ‘पैप टेस्ट’ (Pap smears) भी कहते हैं, होता है। यह टेस्ट महिलाओं के लिए सुरक्षित है तथा इसमें कोई जोखिम नहीं है। अतः योनि सम्भोग करने वाली प्रत्येक महिला को ‘पैप टेस्ट’ (Pap test) करवाना बहुत जरूरी होता है।

1. पैप स्मीयर टेस्ट क्या होता है – What Is Pap Smear Test In Hindi
2. पैप स्मीयर टेस्ट की जरूरत क्यों पढ़ती है – Purpose of Pap Smear Test In Hindi
3. पैप स्मीयर टेस्ट के लिए अपने आप को कैसे तैयार – Prepare for a Pap Smear Test in Hindi
4. पैप स्मीयर टेस्ट के दौरान – During A Pap Smear Test In Hindi
5. पैप स्मीयर टेस्ट कराने के बाद – After the Pap Smear Procedure in Hindi
6. परिणाम पैप स्मीयर टेस्ट के – Results Of A Pap Smear Test In Hindi

7. पैप स्मीयर परीक्षण के परिणाम कितने सटीक हैं – How Accurate Are Pap Smear Tests In Hindi
8. पैप स्मीयर टेस्ट की विश्वसनीयता और वैधता – Pap Smear Reliability And Validity In Hindi
9. क्या एचपीवी के लिए पैप स्मीयर टेस्ट है – Does A Pap Smear Test For HPV In Hindi
10. पैप स्मीयर टेस्ट की कीमत – Pap Smear Test Cost In Hindi
11. जोखिम पैप स्मीयर टेस्ट में – Risk In Pap Smear Test In Hindi

पैप स्मीयर टेस्ट क्या होता है – What Is Pap Smear Test In Hindi

एक पैप स्मीयर (pap smear test), जिसे पैप टेस्ट (Pap test) भी कहा जाता है, गर्भाशय ग्रीवा में कैंसर की जाँच के लिए एक प्रक्रिया है। इस परीक्षण के तहत गर्भाशय ग्रीवा (cervix) पर पूर्व कैंसर (precancerous) या कैंसर कोशिकाओं की उपस्थिति की जाँच की जाती है। अतः यह टेस्ट वायरल संक्रमण जैसे ह्यूमन पेपिलोमा वायरस (एचपीवी) (human papillomavirus) का पता लगा सकता है, जो आगे चलकर गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर का कारण बनता है।

पैप स्मीयर टेस्ट की मदद से कैंसर कोशिकाओं को पूरी तरह से विकसित होने से पहले ही उनकी उपस्थिति की जानकारी प्राप्त कर, प्रारम्भिक उपचार के तरह गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर को रोक सकते हैं।

यह परीक्षण डॉक्टर की सिफारिश पर विशेषज्ञ की निगरानी में होता है। यह परीक्षण असहज हो सकता है, लेकिन इसमें कोई दीर्घकालिक दर्द नहीं होता है।

(और पढ़े – जानें सर्वाइकल कैंसर कैसे होता है…)

पैप स्मीयर टेस्ट की जरूरत क्यों पढ़ती है – Purpose of Pap Smear Test In Hindi

21 साल की उम्र में महिलाओं को नियमित रूप से पैप टेस्ट (pap smear test) कराने की जरूरत पड़ती है। कुछ परिस्थितियों में महिलाओं को कैंसर के जोखिमों में वृद्धि हो सकती है। अतः निम्न परिस्थितियों में महिलाओं को अधिक बार इस परीक्षण की आवश्यकता हो सकती है जैसे:

  • जिन महिलाओं की उम्र 30 से अधिक हैं और जिनके लगातार 3 पैप टेस्ट हुए हैं, तो डॉक्टर से प्रत्येक पांच साल में ह्यूमन पेपिलोमा वायरस (HPV) स्क्रीनिंग के साथ संयुक्त परीक्षण की आवश्यकता पड़ सकती है। यदि जिस किसी महिला के पास एचपीवी (HPV) है, तो उस महिला को गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।
  • जब महिला एचआईवी पॉजिटिव (HIV-positive) हो तब पैप स्मीयर (Pap smear) टेस्ट की आवश्यकता पड़ सकती है।
  • कीमोथेरेपी (chemotherapy) या अंग प्रत्यारोपण के परिणाम स्वरूप कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली होने पर भी पैप  टेस्ट (Pap test) जरूरी होता है।
  • 65 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाएं जिनके सामान्य पैप परीक्षण किए जा चुके है, उनको भविष्य की समस्याओं से बचने के लिए टेस्ट (Pap test) की आवश्यकता पड़ सकती है।
  • जो महिलाएं केवल एक संबंध रखने वाले जीवन साथी के साथ रहती हैं, तो उन्हें नियमित पैप स्मीयर टेस्ट (pap test) करना चाहिए। जिससे कि अचानक सक्रिय HPV वायरस का पता लगाया जा सके।

(और पढ़े – 30 साल की उम्र के बाद हर महिला को करवाने चाहिए ये मेडिकल टेस्ट…)

पैप स्मीयर टेस्ट के लिए अपने आप को कैसे तैयार – Prepare for a Pap Smear Test in Hindi

महिलाओं में मासिक धर्म न होने पर ही पैप स्मीयर टेस्ट (pap smear test) के लिए सबसे अच्छा समय होता है। अतः यह परीक्षण किये जाने के 2 दिन पहले से निम्न बातों पर विशेष ध्यान देना चाहिए:

  • संभोग करने से बचें
  • डूश (Douches) या शुक्राणुनाशक उत्पादों का प्रयोग करने से बचें
  • डॉक्टर की सिफारिश के बिना किसी भी तरह की योनि दवाओं का सेवन न करें
  • योनि गर्भ निरोधक जैसे जन्म नियंत्रण फोम (foams), क्रीम, या जेली का प्रयोग न करें
  • टेस्ट के दौरान शांत रहना और गहरी सांस लेना चाहिए।
  • गर्भावस्था के 24 सप्ताह पहले पैप स्मीयर किया जाना सुरक्षित होता है।
  • अतः इन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि यह परीक्षण या टेस्ट के दौरान अधिक कठिनाई पैदा कर सकती हैं।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक के सभी उपाय और तरीके…)

पैप स्मीयर टेस्ट के दौरान – During A Pap Smear Test In Hindi

पैप स्मीयर टेस्ट (pap smear test) थोड़ा असुविधाजनक हो सकता है, लेकिन यह परीक्षण बहुत तेजी से संपन्न किया जाता है। यह टेस्ट डॉक्टर के कार्यालय या क्लिनिक में किया जाता है। इस परीक्षण के दौरान लगभग 10 से 20 मिनट लगते हैं।

इस परीक्षण के दौरान सम्बंधित महिला के पैरों को एक टेबल पर रखकर पीठ के बल लिटा दिया जाता है। फिर डॉक्टर धीरे-धीरे योनि में एक स्पेकुलम (speculum) नामक डिवाइस डालते हैं। यह डिवाइस योनि दीवारों को खुला रखती है जिससे कि डॉक्टर गर्भाशय की जाँच कर सकें। फिर डॉक्टर द्वारा स्पैचुला (spatula), और ब्रश (brush),  साइटोब्रश (cytobrush) नामक डिवाइस का उपयोग कर, गर्भाशय की कोशिकाओं का एक छोटा सा नमूने प्राप्त कर लिया जाता है। फिर इस नमूने का प्रयोगशाला परीक्षण कर असामान्य कोशिकाओं की उपस्थिति का पता लगाया जाता है।

परीक्षण के बाद स्क्रैपिंग (scraping), या क्रैम्पिंग (cramping) से हल्की असुविधा महसूस हो सकती है। परीक्षण के तुरंत बाद बहुत कम मात्रा में योनि से रक्तस्राव का अनुभव भी हो सकता हैं। परीक्षण के कुछ दिन बाद तक असुविधा या रक्तस्राव जारी रहने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

(और पढ़े – गर्भाशय की जानकारी, रोग और उपचार…)

पैप स्मीयर टेस्ट कराने के बाद – After the Pap Smear Procedure in Hindi

पैप स्मीयर टेस्ट (Pap Smear) के बाद गर्भाशय ग्रीवा की कोशिकाओं के नमूने का परीक्षण करने के बाद परिणामों का अवलोकन किया जा सकता है।

परिणाम पैप स्मीयर टेस्ट के – Results Of A Pap Smear Test In Hindi

एक पैप स्मीयर टेस्ट (Pap test) से दो संभावित परिणाम प्राप्त किए जा सकते हैं: सामान्य या असामान्य (Negative or positive Pap smear)।

सामान्य पैप स्मीयर टेस्ट – Normal Pap Smear Test In Hindi

यदि परिणाम सामान्य या नकारात्मक (negative) हैं, तो इसका मतलब है कि गर्भाशय ग्रीवा स्वस्थ है। अतः परिणाम सामान्य हैं, तो लगभग तीन साल तक पैप टेस्ट (Pap test) की आवश्यकता नहीं होती है।

असामान्य पैप स्मीयर टेस्ट – Abnormal Pap Smear  Test In Hindi

असामान्य पैप स्मीयर टेस्ट - Abnormal Pap Smear  Test In Hindi

एक सकारात्मक (positive) या असामान्य परिणाम प्राप्त होने का मतलब है, कि नमूना में कुछ असामान्य कोशिकाएं पाई गई है। जो कि गर्भाशय में कैंसर के खतरे की ओर संकेत करती हैं। पैप स्मीयर टेस्ट (pap smear test) का असामान्य परिणाम हमेशा कैंसर का संकेत नहीं होता है। क्योंकि कभी-कभी कोशिकाएं असामान्य दिखाई देती हैं, लेकिन वे कैंसर की समस्या से स्वतंत्र होती हैं।

गर्भाशय में संक्रमण के कारण भी असामान्य या सकारात्मक (positive) परिणाम प्रगट होते है। इन परिणामों में यीस्ट इन्फेक्शन (Yeast infection), ट्राइकोमोनास (trichomonas), क्लैमिडिया (chlamydia) या गोनोरिया संक्रमण (gonorrhea infection) के कारण गर्भाशय ग्रीवा कोशिकाओं में सूजन दिखाई दे सकती है। इन संक्रमण के इलाज के बाद, आमतौर पर पैप स्मीयर के परिणाम सामान्य हो जाता है।

(और पढ़े – गोनोरिया (सूजाक) के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव…)

पैप स्मीयर परीक्षण के परिणाम कितने सटीक हैं – How Accurate Are Pap Smear Tests In Hindi

Pap smear test (पैप परीक्षण) बहुत सटीक परिणाम प्रदान कर सकते हैं। यह टेस्ट अनियंत्रित कैंसर कोशिकाओं और योनि संक्रमण से सम्बंधित लक्षणों की सही जानकारी प्रदान करता है। नियमित पैप स्क्रीनिंग (Pap screenings) गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर की दर और उससे होने वाली मृत्यु दर को 80 प्रतिशत तक कम कर देती है।

(और पढ़े – योनी में खुजली, जलन और इन्फेक्शन के कारण और घरेलू इलाज…)

पैप स्मीयर टेस्ट की विश्वसनीयता और वैधता – Pap Smear Reliability And Validity In Hindi

पुरुषों या महिलाओं के साथ यौन संबंध बनाने से कोई भी ह्यूमन पेपिलोमा वायरस (HPV) प्राप्त कर सकता हैं। सभी यौन संभोग करने वाली महिलाओं को HPV के लिए जोखिम होता है। अतः 21 साल के बाद वाली महिलाओं को कम से कम हर तीन साल में एक पैप स्मीयर टेस्ट (pap smear test) करवाना चाहिए। इस परीक्षण के द्वारा अन्य यौन संक्रमित बीमारियों का पता नहीं लगाया जाता है। यह कोशिका वृद्धि का पता लगा सकता है, जो कैंसर को इंगित करती है।

(और पढ़े – सबसे सामान्य योन संचारित रोग की जानकारी…)

क्या एचपीवी के लिए पैप स्मीयर टेस्ट है – Does A Pap Smear Test For HPV In Hindi

एक पैप टेस्ट (pap smear test) का मुख्य उद्देश्य गर्भाशय में कोशिका परिवर्तन (cellular changes)या अनियंत्रित कोशिकाओं की पहचान करना है, जो कि ह्यूमन पेपिलोमा वायरस (HPV) के लक्षणों का कारण हो सकता है। पैप स्मीयर (pap smear) नमूने से HPV के लिए परीक्षण करना संभव है। लेकिन यह परीक्षण एचपीवी (HPV) के लिए नहीं किया जाता है। एक पैप टेस्ट के द्वारा गर्भाशय ग्रीवा में कैंसर कोशिकाओं का पता लगाकर, कैंसर के फैलाने से पहले ही इलाज शुरू किया जा सकता है और एक बड़ी समस्या बनने से रोका जा सकता है।

(और पढ़े – अंडाशय का कैंसर: प्रारंभिक लक्षण, जाँच, और उपचार…)

पैप स्मीयर टेस्ट की कीमत – Pap Smear Test Cost In Hindi

पैप स्मीयर टेस्ट की कीमत - Pap Smear Test Cost In Hindi

पैप स्मीयर टेस्ट (pap smear test) की कीमत उपलब्ध प्रयोगशाला और सुविधाओं के आधार पर भिन्न-भिन्न हो सकती है। विभिन्न शहरों में पैप स्मीयर टेस्ट (pap test) की अलग-अलग कीमत देखने को मिल सकती हैं। भारत में इस टेस्ट की कीमत ₹ 250 से लेकर ₹ 700 तक हो सकती है।

(और पढ़े – योनि के आसपास मुंहासे या फुंसी के लक्षण, कारण और घरेलू इलाज…)

जोखिम पैप स्मीयर टेस्ट में – Risk In Pap Smear Test In Hindi

पैप स्मीयर टेस्ट (pap smear test) गर्भाशय ग्रीवा में किसी भी प्रकार के संक्रमण को खोजने के लिए, गर्भाशय ग्रीवा कोशिकाओं का नमूना लेने का दर्द रहित तरीका है। इस परीक्षा में कोई जोखिम नहीं है। कभी-कभी कोशिकाओं का नमूना लेने के बाद सम्बंधित महिला को योनि से रक्तस्राव और जलन महसूस हो सकती है। यदि यह समस्या एक दिन से अधिक समय तक बनी रहती है, तो तुरंत डॉक्टर को सूचित करना चाहिए।

(और पढ़े – योनि से जुड़े रोग और उपचार…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration