योनि के आसपास मुंहासे या फुंसी के लक्षण, कारण और घरेलू इलाज – Vaginal Pimples, Symptoms, Causes and Home Remedies in Hindi

योनि के आसपास मुंहासे या फुंसी के लक्षण, कारण, उपचार और घरेलू इलाज - Vaginal Pimples, Symptoms, Causes and Home Remedies in Hindi
Written by Daivansh

Vaginal Pimples in Hindi चेहरे पर मुंहासे या पिंपल (pimples) की तरह, योनि के आसपास भी मुंहासे होना, महिलाओं में एक सामान्य समस्या है। योनि में मुंहासे (फुंसी) (vaginal pimples) होने के कई कारण हो सकते हैं। इस लेख में आप जानेंगी योनि में पिंपल क्या है, योनि के आसपास मुंहासे या फुंसी के लक्षण क्या होते है, योनि में फुंसी होने के कारण क्या है, इनका उपचार कैसे किया जाता है और वेजाइना के आसपास मुंहासे या फुंसी के घरेलू उपचार के बारे में।

यह सामान्यता एक जीवाणु संक्रमण (bacterial infection), तनाव, चिंता, स्टेरॉयड (steroids) और हार्मोन असंतुलन के कारण हो सकते है। कई महिलाएं योनि के आस पास पिंपल (vaginal pimples) से पीड़ित रहती हैं, लेकिन डॉक्टर के साथ इस स्थिति पर चर्चा करने के लिए बहुत शर्मिंदगी महसूस करती हैं। योनि में मुंहासे आमतौर पर एक गंभीर स्थिति को प्रगट नहीं करते हैं। लेकिन वे अधिक परेशानी का कारण बन सकते हैं।

1. वेजाइनल पिंपल्स (फुंसी) क्या है – What is Vaginal Pimples in Hindi
2. योनि में मुंहासे के लक्षण – Vaginal Pimples symptoms in Hindi
3. योनि में मुंहासे (फुंसी) के कारण – Vaginal Pimples Causes in Hindi
4. योनि के आसपास मुंहासे का निदान – Vaginal Pimples Diagnosis in Hindi
5. वेजाइनल पिंपल्स (फुंसी) के उपचार – pimples on private parts female treatment in Hindi

6. योनि में मुंहासे (पिंपल) होने से कैसे बचें – Vaginal Pimples Prevention in Hindi
7. योनि में मुंहासे के घरेलू उपचार –  Home Remedies for Vaginal Pimples in Hindi

वेजाइनल पिंपल्स (फुंसी) क्या है – What is Vaginal Pimples in Hindi

वेजाइनल पिंपल्स (फुंसी) क्या है - What is Vaginal Pimples in Hindi

महिलाओं के जननांग या योनि क्षेत्र के आसपास मुंहासे (pimples) उत्पन्न होना एक आम बात है योनि में मुंहासे (Vaginal Pimples) विभिन्न कारकों के कारण उत्पन्न हो सकते है। ये मुंहासे असुविधाजनक और चिड़चिड़ापन का कारण बन सकते हैं, लेकिन ज्यादातर मामलों में ये गंभीर नहीं होते हैं।

योनि के मुंहासे (vaginal pimples) शरीर के अन्य भागों में मुंहासे की उपस्थिति के समान ही होते हैं। कुछ मामलों में योनि के मुंहासे की अलग-अलग विशेषताएं हो सकती हैं। जैसे कि, वे गुच्छे के रूप में या फिर अकेले, दर्दनाक या दर्द रहित, जलन दायक, मवाद से भरे, खुजली देने वाले और विभिन्न आकारों में हो सकते हैं।

(और पढ़े – मुंहासे दूर करने का आयुर्वेदिक उपाय…)

योनि में मुंहासे के लक्षण – Vaginal Pimples symptoms in Hindi

योनि में मुंहासे के लक्षण - Vaginal Pimples symptoms in Hindi

महिलाओं के जननांग या योनि क्षेत्र के आसपास मुंहासे या फुंसी के (vaginal pimples) लक्षण सामान्य त्वचा के मुहासों जैसे ही होते है। योनि में मुहासों के कारणों के आधार पर इनके लक्षण भी भिन्न-भिन्न हो सकते हैं। यदि मुंहासे (pimples) संक्रमण के कारण होते हैं, तो रोगी को पेशाब के दौरान योनि (Vaginal) से रिसाव, खुजली, सूजन, लाली और जलन महसूस हो सकती है।

पसीने आने पर अत्यधिक खुजली और जलन का अनुभव होना, मुंहासों में मवाद जमा होना तथा चलने के दौरान असुविधा महसूस होना इसके सामान्य लक्षणों में शामिल हैं।

(और पढ़े – योनी में खुजली, जलन और इन्फेक्शन के कारण और घरेलू इलाज…)

योनि में मुंहासे (फुंसी) के कारण – Vaginal Pimples Causes in Hindi

योनि में मुंहासे (फुंसी) के कारण - Vaginal Pimples Causes in Hindi

जननांग या योनि क्षेत्र के आसपास मुंहासे (vaginal pimples) के अधिकांश कारणों में, हार्मोनल असंतुलन के कारण सीबम (sebum) का अतिरिक्त उत्पादन होना शामिल है। सीबम त्वचा पर उत्पन्न होने वाला तेल जैसा तरल पदार्थ है। सीबम (sebum) त्वचा के छिद्रों को अवरुद्ध करता है, और पसीने के साथ-साथ मृत त्वचा कोशिकाओं से गंदगी और कीटाणु को आकर्षित करता है। इससे त्वचा के छिद्र अवरुद्ध हो जाते है, और अंततः योनि क्षेत्र पर मुंहासे हो जाते है।

योनि में मुंहासे (Vaginal Pimples) का कारण हमेशा अस्पष्ट रहता है, लेकिन जननांगों या योनि के आसपास मुंहासे के कुछ संभावित कारण निम्न हो सकते हैं।

  • मलहम (lotions), पाउडर, सुगंधित साबुन, कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट, औषधीय मलहम या जैल के कारण त्वचा की एलर्जी योनि में मुंहासे का कारण बन सकती है।
  • व्यक्तिगत स्नेहक (lubricants), शुक्राणुनाशक या कंडोम का उपयोग भी इसका कारण बनता है।
  • योनी में पसीना, मूत्र, वीर्य (semen) का संपर्क।
  • योनि में मुंहासे का एक और कारण फोलिक्युलाईटिस (Folliculitis) है या फिर बालों के कारण होने वाला संक्रमण है।
  • शेविंग बनाते समय कट लगने से, टाइट कपड़े पहनने या कपड़े निकालते समय बाल उखाड़ने से भी योनि में मुंहासे या फुंसी होते हैं।
  • हाइड्राडेनिटिस सुप्पुरातीव (Hidradenitis suppurativa) (HS), जिसे मुँहासे इनवर्स (acne inversa) भी कहा जाता है, पसीना ग्रंथियों की पुरानी बीमारी है। यह ऊसन्धि (पेट और जांघ के बीच का क्षेत्र) सहित स्तन के चारों ओर मुंहासे की तरह घावों का कारण बनता है।
  • हार्मोन के स्तर में परिवर्तन भी कुछ महिलाओं की योनि में मुंहासे होने का कारण बन सकता है। यह समस्या आमतौर पर मासिक धर्म की अवधि से पहले या महिला के गर्भवती होने से ठीक पहले उत्पन्न होती है। बिना किसी उपचार के कुछ दिनों के बाद ये मुंहासे गायब हो जाते हैं।

(और पढ़े – हेयर रिमूवल क्रीम से एलर्जी के कारण और बचाव…)

योनि के आसपास मुंहासे का निदान – Vaginal Pimples Diagnosis in Hindi

योनि के आसपास मुंहासे का निदान - Vaginal Pimples Diagnosis in Hindi

चिकित्सक द्वारा रोगी के योनि में मुंहासे (vaginal pimples) का निदान करने के लिए परीक्षण के आधार पर यौन इतिहास की जानकारी को शामिल किया जा सकता है। तथा मरीज के चिकित्सा इतिहास के बारे में जानकारी निदान प्रक्रिया को सुगम बनती है। निदान प्रक्रिया के तहत मुंहासों की जाँच करने के लिए एक श्रेणीबद्ध निरीक्षण प्रक्रिया शामिल की जा सकती है। मुहासों की भौतिक उपस्थिति और मवाद की उपस्थिति चिकित्सक द्वारा जांची जाती है।

(और पढ़े – मुँहासों को दूर करने के घरेलू उपाय…)

वेजाइनल पिंपल्स (फुंसी) के उपचार – pimples on private parts female treatment in Hindi

वेजाइनल पिंपल्स (फुंसी) के उपचार - pimples on private parts female treatment in Hindi

चूंकि योनि के आसपास मुंहासे (vaginal pimples) बहुत परेशानी और कुछ असुविधा भी पैदा कर सकते हैं, अतः इनका उपचार बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है। योनि में मुंहासों (vaginal pimples) का इलाज इसके कारणों की पहचान के आधार पर किया जा सकता है। एक बार कारण की पहचान हो जाने के बाद, निम्नलिखित उपचार शामिल किये जा सकते हैं।

योनि में फुंसी का उपचार अच्छी स्वच्छता बनाए रखें – Yoni Me Funsi Ka Upchar Maintain Good Hygiene In Hindi

जननांग या योनि क्षेत्र में गर्मी और नमी के कारण बैक्टीरिया और अन्य सूक्ष्मजीवों का संक्रमण बढ़ जाता है। जीवाणुओं के प्रभाव से बचने के लिए योनि प्रभावित क्षेत्र को हल्का गर्म पानी और सुरक्षित साबुन से धोना चाहिए। योनि में  किसी भी तरह के कठोर सफाई उत्पादों या सामान्य साबुन का उपयोग करने से बचें, क्योंकि इनका प्रयोग पीएच संतुलन को प्रभावित कर सकता है, जिससे संक्रमण हो सकता है। जननांग क्षेत्रों के आसपास नियमित सफाई करें और पसीना न ठहरने दें।

(और पढ़े – प्राइवेट पार्ट की सफाई कैसे करें…)

हीट थेरेपी योनि में दाने के उपचार के लिए – Yoni Me Daane ke upchar ke liye Heat Therapy

गर्मी थेरेपी में, महिलाएं गर्म पानी में एक तौलिया को भिगाती है और फिर इसे निचोड़कर जननांगों के आस-पास रखती हैं। हीट थेरेपी की इस प्रक्रिया को एक दिन में बार-बार दोहराया जाना चाहिए। इससे खुजली और दर्द में राहत मिलती है।

(और पढ़े – गर्म पानी से नहाना सही या ठंडे पानी से, जानिए विज्ञान क्या कहता है…)

योनि के मुंहासे (फुंसी) के लिए दवा – Medication for Vaginal Pimples Treatment in Hindi

यदि योनि में मुंहासे (vaginal pimples) हार्मोन असंतुलन या कोई अन्य भीतरी कारणों से हुए हैं तो, डॉक्टर द्वारा विशेष क्षेत्र से सम्बंधित दवाएं या एंटीहिस्टामाइन्स (antihistamines) की सिफारिश की जा सकती है। योनि में मुंहासे के लक्षणों को नियंत्रण में रखने के लिए मुँहासे इनवर्सा (acne inversa) के निदान और उपचार की सलाह दी जाती है। जबकि मोलुस्कम कन्टेजियोसम (Molluscum contagiosum) अक्सर उपचार के बिना ठीक हो जाता है।

(और पढ़े – योनि के साथ कभी नहीं करना चाहिए ये 7 चीजें…)

योनि में मुंहासे (पिंपल) होने से कैसे बचें – Vaginal Pimples Prevention in Hindi

योनि में मुंहासे (पिंपल) होने से कैसे बचें - Vaginal Pimples Prevention in Hindi

जननांग या योनि क्षेत्र के आसपास मुंहासे या फुंसी (vaginal pimples) को रोकने के लिए कुछ सामान्य तरीकों को अपनाया जाना बहुत आवश्यक है, जिनमें निम्न शामिल हैं:

  • टाइट – फिटिंग (Tight-fitting) कपड़ों को पहने से बचें जो घर्षण का कारण बन सकते हैं।
  • किसी भी चिकित्सा सम्बन्धी दवाओं का उपयोग करते समय डॉक्टर की सलाह अवश्य जरूर लें।
  • सूती अंडरवियर और ढीले कपड़े पहने।
  • अच्छी व्यक्तिगत स्वच्छता बनाये रखें।
  • अंडरवियर पहनने से पहले योनि पर कॉर्नस्टार्च पाउडर (cornstarch powder) छिड़कें।
  • मौजूदा मुंहासों को छूना या दबाना नहीं चाहिए।
  • स्नान करते समय बहुत गर्म पानी से बचें।
  • प्रभावित क्षेत्र की सफाई के लिए केवल औषधीय एंटी-बैक्टीरियल साबुन (anti-bacterial soaps) का प्रयोग करें।
  • सुगंधित साबुन का प्रयोग ना करें।
  • प्रभावित क्षेत्र को खुजली के दौरान खरोंचने से बचें।

(और पढ़े – योनि से जुड़े रोग और उपचार…)

योनि में मुंहासे के घरेलू उपचार –  Home Remedies for Vaginal Pimples in Hindi

योनि में मुंहासे (vaginal pimples) एक सामान्य स्थिति है, जो किसी भी महिला को परेशान कर सकती है। अतः इस स्थिति से बचाने और इसके उपचार के लिए प्रभावी उपचार अपनाये जा सकते हैं। योनि में मुंहासे (vaginal pimples) के घरेलू इलाज निम्न हैं

  1. प्राइवेट पार्ट के मुहांसों के लिए सेब का सिरका – Apple cider vinegar for pimples on private parts in hindi
  2. योनि के आसपास के दाने हटाने के लिए एप्सोम नमक – Epsom Salt for vaginal pimple in Hindi
  3. गुप्तांग की फुंसी ठीक करने के लिए मैरीगोल्ड (गेंदे का फूल) – Marigold pimples on private parts female home remedies in Hindi
  4. वेजाइनल पिम्पल का घरेलू उपचार टी ट्री ऑइल – Tea tree oil for vaginal pimple in Hindi
  5. योनि में मुहांसों से बचने के लिए सूती कपड़े का प्रयोग करें – use cotton clothes for avoid vaginal pimple in Hindi
  6. योनि में फुंसी का घरेलू उपचार गर्म संपीड़न – Yoni me funsi ka ghrelu upchar Hot Compress
  7. कॉर्नस्टार्च पाउडर योनि के मुंहासों का उपचार – Cornstarch for vaginal pimple in Hindi

प्राइवेट पार्ट के मुहांसों के लिए सेब का सिरका – Apple cider vinegar for pimples on private parts in hindi

प्राइवेट पार्ट के मुहांसों के लिए सेब का सिरका - Apple cider vinegar for pimples on private parts in hindi

यह जीवाणुरोधी (antibacterial) और एंटीफंगल एजेंट (antifungal agent) के रूप में भी कार्य करता है। ऐप्पल साइडर सिरका में एसिटिक एसिड प्रभावी ढंग से बैक्टीरिया को नष्ट करने में सक्षम होता है और मुहासों के इलाज में प्रभावी होता है।

एक कप पानी में, एक कप ऐप्पल साइडर सिरका (Apple cider vinegar)  अच्छी तरह मिलाएं और फिर इससे मुंहासों से सम्बंधित योनि क्षेत्र को धो लें। योनि के मुहासों के ठीक होने तक प्रति-दिन 2 से 3 बार इस प्रक्रिया को अपनाएं।

(और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे, लाभ, गुण और नुकसान…)

योनि के आसपास के दाने हटाने के लिए एप्सोम नमक – Epsom Salt for vaginal pimple in Hindi

योनि के आसपास के दाने हटाने के लिए एप्सोम नमक - Epsom Salt for vaginal pimple in Hindi

एप्सोम (Epsom) नमक के पानी से स्नान दर्द को कम करने के साथ-साथ प्रभावित क्षेत्र को साफ और सूखा बनाये रखने में मदद करता है।

एक टब या बाल्टी को पानी से आधा भर लें। इसमें एक कप एप्सम नमक (Epsom Salt) को अच्छी तरह से मिला लें। फिर इससे मुंहासे वाले क्षेत्र को अच्छे से साफ करें और फिर क्षेत्र को सुखा लें। यह प्रक्रिया दिन में दो बार दोहराएं।

(और पढ़े – शरीर को खूबसूरत बनाने के लिए सी-साल्ट से बने स्क्रब का करें इस्तेमाल…)

गुप्तांग की फुंसी ठीक करने के लिए मैरीगोल्ड (गेंदे का फूल) – Marigold pimples on private parts female home remedies in Hindi

गुप्तांग की फुंसी ठीक करने के लिए मैरीगोल्ड (गेंदे का फूल) – Marigold pimples on private parts female home remedies in Hindi

गेंदे का फूल (Marigold) या कैलेंडुला (calendula) में एस्ट्रिंजेंट (astringents), एंटी इंफ्लेमेटरी (anti-inflammatory) और एंटीसेप्टिक (antiseptic)  गुण पाए जाते हैं। जैतून के तेल (olive oil) के एक बढ़ी चम्मच लें और इसे गर्म करें। इसमें गेंदे का फूलों को डाल दें। इसे रात भर रखा रहने दें और फिर इसे सुबह निचोड़ ले। तत्पश्चात इस तेल की कुछ बूंद को दिन में 3 बार प्रभावित जगह पर लागू करें। इसके अतिरिक्त कैलेंडुला क्रीम और मलहम बाजार में भी उपलब्ध हैं।

(और पढ़े – गेंदे के फूल के फायदे और नुकसान…)

वेजाइनल पिम्पल का घरेलू उपचार टी ट्री ऑइल – Tea tree oil for vaginal pimple in Hindi

वेजाइनल पिम्पल का घरेलू उपचार टी ट्री ऑइल - Tea tree oil for vaginal pimple in Hindi

चाय के पेड़ का तेल योनि में मुंहासे (vaginal pimples) के अतिरिक्त त्वचा के विभिन्न प्रकार के इलाज में बहुत प्रभावी है। इसे उपयोग करने के लिए चाय के पेड़ के तेल की एक बूंद को जैतून के तेल (olive oil) की एक चम्मच के साथ मिलाएं। तेल के इस मिश्रण की एक बूंद को मुंहासे पर लगाये और इसे लगा रहने दें। इस तेल का उपयोग दिन में 2 बार करें।

(और पढ़े – टी ट्री ऑयल के फायदे और नुकसान…)

योनि में मुहांसों से बचने के लिए सूती कपड़े का प्रयोग करें – use cotton clothes for avoid vaginal pimple in Hindi

योनि में मुहांसों से बचने के लिए सूती कपड़े का प्रयोग करें - use cotton clothes for avoid vaginal pimple in Hindi

संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सूती कपड़े (cotton clothes) या अंडरवियर पहनें। कपास या सूती कपड़े का प्रयोग करने से राहत मिलती है। क्योंकि कपास त्वचा से नमी को अवशोषित कर त्वचा को ठंडा और सूखा रखने में मदद करता है।

(और पढ़े – योनि में सूखेपन का कारण और दूर करने के घरेलू उपाय…)

योनि में फुंसी का घरेलू उपचार गर्म संपीड़न – Yoni me funsi ka ghrelu upchar Hot Compress

योनि में फुंसी का घरेलू उपचार गर्म संपीड़न - Yoni me funsi ka ghrelu upchar Hot Compress

गर्म संपीड़न (Hot Compress) किसी भी प्रकार के मुंहासे के उपचार के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपाय है। एक साफ कपड़ा लेकर इसे गर्म पानी से गीला करें और निचोड़ लें फिर तुरंत इसे मुंहासे वाले क्षेत्र पर रखें। इसे बार-बार दोहराएँ। यह प्रक्रिया दिन में 2 बार प्रयोग में लायें। यह दर्द को कम करता है, और संक्रमण को फैलने से रोक देता है।

(और पढ़े – मुहांसों के प्रकार और उनका इलाज…)

कॉर्नस्टार्च पाउडर योनि के मुंहासों का उपचार – Cornstarch for vaginal pimple in Hindi

कॉर्नस्टार्च पाउडर योनि के मुंहासों का उपचार - Cornstarch for vaginal pimple in Hindi

कॉर्नस्टार्च का प्रयोग, योनि में मुंहासों का कारण बनने वाली अतिरिक्त नमी और सीबम (sebum) को अवशोषित करने के लिए किया जाता है। प्रभावित क्षेत्र पर कॉर्नस्टार्च (cornstarch) छिड़कना चाहिए। यह योनि क्षेत्र को साफ और सूखा रखने में मदद करता है।

(और पढ़े – योनि के बारे में सम्पूर्ण जानकारी…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration