गर्म पानी से नहाना सही या ठंडे पानी से, जानिए विज्ञान क्या कहता है – Hot water bath or cold water bath which is better in hindi

गर्म पानी से नहाना सही या ठंडे पानी से, जानिए विज्ञान क्या कहता है - Hot water bath or cold water bath which is better in hindi
Written by Shivam

सर्दियों का मोसम चालू होते ही लोगो के मन मे गर्म और ठंडे पानी से नहाने को लेकर दुविधा पैदा हो जाती है अधिकतर लोग सर्दियों मे गरम पानी से नहाते हैं ताकि वो अपनी शरीर को साफ-सुथरा रख पाएं। गरम पानी से नहाने के फायदे तो होते हैं पर इसके कुछ नुकसान भी हैं।

गरम पानी से नहाने से स्ट्रैस और टेंशन दोनों खत्म हो जाते हैं, मगर इसके इससे त्वचा का सारा तेल निकल जाता हैं और त्वचा सूख जाती हैं नतीजा त्वचा में खुजली हो सकती हैं। वहीं ठंडा पानी हर मायने में आपके लिए बेहद लाभदायक होता है, ये न सिर्फ आपकी प्यास बुझाता है और आपके शरीर को आवश्यक मिनरल देता है, बल्कि इससे नहाने से आपके शरीर को भी कई प्रकार के फायदे भी होते हैं।

तो आइये जानते है गर्म पानी से नहाना सही या ठंडे पानी से – Hot water bath or cold water bath in hindi

ठंडे पानी से नहाने के फायदे – Benefits of cold water bath in hindi

ठंडे पानी से नहाने के फायदे - Benefits of cold water bath in hindi

ठंडा पानी आपको सुबह सुबह जगा देता

सुबह को ठंडे पानी से नहाने से आलस तो दूर होता ही है, आप पूरे दिन तरो-ताजा भी महसूस करते हैं। एक शोध में ये बात सामने आई है कि ठंडे पानी से नहाने से मूड फ्रेश रहता है। दरअसल जब आप ठंडे पानी से नहाते हैं, तो हल्का सा शॉक जैसा लगा है जिससे आपकी सांसे तेज़ चलने लगती है और दिल की धड़कन भी थोड़ी बढ़ जाती हैं। इससे आपके शरीर कार रक्त प्रवाह बढ़ जाता है और आप तरोताज़ा महसूस करने लगते हैं।

त्वचा के लिए ठंडे पानी से नहाना है फायदेमंद

स्किन एक्सपर्ट्स बताते हैं कि ठंडे पानी से नहाने पर बालों के साथ-साथ त्वचा भी चमकदार बनती है। अगर आप मुहांसों से परेशान हैं तो ठंडे पानी से नहाएं। इससे अपकी त्वचा रूखी और बेजान होने से बचेगी। ठंडा पानी आपकी त्वचा को चमकदार बनता है।

ठंडा पानी से नहाना दूर करेगा अनिंद्रा की समस्य

ठंडा पानी अपकी स्वसन प्रणाली को बेहतर बनाते हुए थकान भगाने में मदद करता है। यही नहीं यदि नींद आने में समस्या हो तो भी ठंड़े पीनी से नहाना लाभदायक होता है, इससे अनिंद्रा की समस्या दूर होती है।

पुरुष में प्रजनन क्षमता बढ़ाता है ठंडा पानी

शायद बहुत ही कम लोग इस तथ्य को जानते होंगे कि, ठंडे से पानी से स्नान करना पुरुषों में प्रजनन क्षमता को बढ़ा सकता है। वहीं दूसरी ओर गर्म पानी से स्नान करने से अंडकोष पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है, क्योंकि संभवतः गर्म पानी से नहाना शुक्राणुओं की संख्या कम कर सकता है। यदि आप घर में नए बच्चे को लाने की तैयारी कर रहे हैं तो ठंडे पानी से ही नहाएं।

ठंडे पानी से इम्युनिटी और रक्तसंचार होता है बेहतर

cold water ठंडे पानी से नहाने से रक्तसंचार तो अच्छा रहता ही है, साथ ही ठंडे पानी से आपकी इम्युनिटी अर्थात प्रतिरक्षा प्रणाली भी मजबूत होती है। इम्युनिटी के मज़बूत होने से शरीर में वाइट ब्लड सेल्स बढ़ती हैं जो कई प्रकार की बिमारियों से लड़ने में मदद करती हैं। यह फेफड़ों के कार्यो में सुधार लाने में भी मदद करता है। ठंडे पानी से स्नान शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली और लसीका को उत्तेजित करता है, जो संक्रमण के खिलाफ लड़ने वाली कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ाता है।

गर्म पानी से नहाने के फायदे – Benefits of hot water bath in hindi

गर्म पानी से नहाने के फायदे - Benefits of hot water bath in hindi

गर्म पानी से नहाने के फायदे मांसपेशियों के लिए 

गुनगुना पानी मांसपेशियों के लिए भी लाभकारी होता है। गुनगुने पानी मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन को ठीक करता है। यह गठिया, शुगर या अन्य किसी चोट के कारण होने वाले मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन को भी ठीक कर देता है। अध्ययनों से पता चला है कि गरम पानी से स्नान मांसपेशियों के लचीलेपन में सुधार लाने और सूजी हुई मांसपेशियों को आराम देने में भी मदद करता है।

गर्म पानी से नहाने से ऑस्टियोआर्थराइटिस का दर्द कम होता है

हल्के गुनगुने पानी से नहाने पर ऑस्टियोआर्थराइटिस और टेन्डीनिटिस के दर्द से राहत मिलती है। ऑस्टियोआर्थराइटिस हड्डियों व टेन्डीनिटिस नसों की सूजन से संबंधित बीमारी होती है। हल्के गुनगुने पानी से नहाने पर हड्डियों और नसों की सूजन को कम करने में मदद मिलती है।

गर्म पानी से नहाने के फायदे मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिये

गुनगुना पानी कमाल का स्‍ट्रेस बूस्‍टर होता है, और मानसिक शांति प्रदान करता है। गुनगुने पानी से नहाने पर शरीर के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य भी बेहतर होता है। गुनगुने पानी से नहाने के बाद आप ज्यादा शांत, खुश और आराम महसूस करते हैं। दिनभर थकान के बाद घर आने के बाद गुनगुने पानी से नहाने के बाद तरोताजा महसूस होता है।

गर्म पानी या ठंडे पानी से स्नान का चुनाव विज्ञान के अनुसार – choose of  hot water or cold water according to science in hindi 

नहाने के लिए ठंडा या गर्म पानी? विज्ञान के पास इसका जवाब है। विज्ञान सुझाव देता है कि अपने शरीर के लिए हमें गर्म पानी और सिर के लिए हमें ठंडे पानी का उपयोग नहाने के लिए करना चाहिए।

(और पढ़े: उलझे बालों को सुलझाने के घरेलू टिप्स ताकि वो टूटे नहीं)

खाना खाने के तुरंत बाद नहीं नहाना चाहिए

खाना खाने के बाद शरीर के तापमान में गिरावट आ जाती हैं और फिर इसको कंट्रोल करने के लिए खून का फ्लो शरीर के बाकी हिस्सों की ओर बढ़ जाता हैं। जब हम नहाते हैं तो ब्लड का फ्लो अधिक मात्रा में त्वचा तक पहुंचता हैं, जिसके कारण शरीर को गर्मी मिलती हैं। नहाना इसलिए नहीं चाहिए क्योंकि पेट के इर्द-गिर्द जो खून होता हैं, वो खाना खाने में मदद करता हैं, लेकिन नहाते वक्त वही ब्लड शरीर के दूसरों हिस्सों में चला जाता हैं और वहां देर तक रूका रहता है, जिससे खाना ठीक से नहीं पच पाता।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration