शादी के बाद होने वाली सेक्स समस्याएं और उनका समाधान – Sex problems and solutions after marriage in Hindi

शादी के बाद होने वाली सेक्स समस्याएं और उनका समाधान - Sex problems and solutions after marriage in Hindi
Written by Daivansh

शादी के बाद क्यों जरूरी है सेक्स शादीशुदा जीवन में सेक्स का विशेष महत्त्व होता है क्योकि कई मामलों में से शादी टूटने का अहम कारण सेक्स समस्याएं या अंसतुष्ट वैवाहिक जीवन या खराब सेक्स लाइफ को माना जाता है। शादी के बाद शरीर की अन्य समस्याओं की तरह ही सेक्स संबंधी समस्याएं भी आम मानी जाती हैं। सेक्स करने के दौरान संतुष्ट ना होना या संतुष्ट ना कर पाना या फिर शादी के बाद महिला या पुरुष में सेक्स करने की उत्तेजना ना होना जैसी अनेक सेक्स समस्याएं हैं जो आम हैं।

पुरुषों के पेनिस में टाइटनेस ना आना, महिलाओं की योनि में सूखापन जैसी बहुत सी सेक्स समस्याएं हैं, जिनके बारे में अक्सर महिलाएं और पुरुष चर्चा नहीं करना चाहते। सेक्स समस्याओं के चलते अगर समय पर उचित सलाह और चिकित्सा न मिल पाए तो व्यक्ति हीन भावना और डिप्रेशन का शिकार हो सकता है। ऐसी सेक्स समस्याएं अगर सॉल्व न की जायें तो इसकी परिणाम रिश्ता टूटने तक जा सकता है।इस लेख में हम आपको बता रहे हैं सबसे कॉमन शादी के बाद आने वाली सेक्स समस्याओं और उनके उपाय के बारे में।

  1. शादी के बाद पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन
  2. महिलाओं सेक्स के समय दर्द भरा सेक्सुअल इंटरकोर्स
  3. शादी के बाद पुरुषों में प्रीमैच्योर इजेकुलेशन
  4. शादी के बाद महिलाओं में लुब्रिकेशन की कमी
  5. महिलाओं में सेक्स सेक्स की इच्छा में कमी
  6. शादी के बाद गुप्त अंगों में इंफेक्शन होना
  7. महिलाओं में चरम सुख (ऑर्गाज्म) ना होना या देर से होना
  8. शादी के बाद महिलाओं में वेजाइनल पेन होना
  9. शादी के बाद इंपोटेंसी यानि नपुंसकता का होना
  10. सेक्स की पसंद और नापसंद में अंतर

1. शादी के बाद पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन

शादी के बाद पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन

शारीरिक संबंध बनाते समय किसी भी तरह की समस्याए आए तो रिश्तों में बिखराव आ सकता है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ED) (नपुंसकता या स्तंभन दोष) भी एक ऐसी ही समस्या हैं सेक्स करने के लिए पेनिस में तनाव न आना या आते ही जल्दी से पेनिस का ढीला पड़ जाना इरेक्टाइल डिस्फन्क्शन कहलाता है। लिंग में तनाव ना आने का सबसे बड़ा कारण  चिंता और टेंशन लेना माना जाता है काम का अधिक बोझ और सही खान पान ना होना भी इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ED) का कारण होता है।

पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन का समाधान

अक्सर पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या मानसिक होती है, इसीलिए इसका समाधान भी आपके पास होता है इरेक्टाइल डिसफंक्शन से बचने के लिए सेक्स करने से पहले खुश रहें अधिक देर तक फोरप्ले करें अपने अंगों को अपने साथी को छूने दें हो सकता है इससे आपके लीग का ढीलापन दूर हो जाये। अगर in सब से बात न बने बात न बने तो साइकोलॉजिस्ट के पास जायें अगर फिर भी इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या बनी रहे तो आप किसी अच्छे सेक्सोलॉजिस्ट के पास जा सकते हैं।

(और पढ़े – इरेक्टाइल डिसफंक्शन नपुंसकता (स्तंभन दोष) कारण और उपचार…)

2. महिलाओं सेक्स के समय दर्द भरा सेक्सुअल इंटरकोर्स

महिलाओं सेक्स के समय दर्द भरा सेक्सुअल इंटरकोर्स

यह महिलाओं की आम समस्या है। शादी के बाद इंटरकोर्स के दौरान अधिक दर्द होना भी कई महिलाओं को सेक्स करने से दूर करता है। इसके पीछे योनि में सूखापन, सूजन या किसी प्रकार का इंफेक्शन आदि कारण हो सकते है।

महिलाओं सेक्स के समय दर्द भरा सेक्सुअल इंटरकोर्स का समाधान

सेक्स करते समय आपके पति को मालूम होना चाहिए कि कब आपको दर्द हो रहा है और कब आप सेक्स करने में सहयोग दे रहीं है। जिसमें महिला साथी भी सेक्स का पूरा आनंद उठा सके, इसके लिए आप अलग अलग सेक्स पोजीशन में सेक्स करके ट्राय करके देख सकते है जिस पोजीशन में आप अधिक सहज महसूस करें उसमे सेक्स करें ऐसा करने पर  यह समस्या उत्पन्न नहीं होगी। साथ ही सेक्स करते समय आप लुब्रिकेंट भी इस्‍तेमाल कर सकते है जो महिला साथी के दर्द को कम करेगा और सेक्स को अधिक आनंदमय बनायेगा। अगर इन सब चीजों के करने के बाद भी आराम ना मिले या इंटरकोर्स करने के दौरान लगातार अधिक दर्द हो तो आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

(और पढ़े – सेक्स के बाद योनि में दर्द के कारण और बचने के उपाय…)

3. शादी के बाद पुरुषों में प्रीमैच्योर इजेकुलेशन

शादी के बाद पुरुषों में प्रीमैच्योर इजेकुलेशन

अक्सर सेक्स करने के दौरान पुरुष स्खलन होने के बाद पुरुष साथी की उत्तेजना शांत हो जाती है और उसकी महिला साथी की कामोत्तेजना बनी रहती है अगर सेक्स करते समय, जल्दी पुरुष का वीर्य बहार निकल जाए तो इसे प्रीमैच्योर इजेकुलेशन कहा जाता है। यह स्थिति शादी के बाद सेक्स लाइफ खराब कर देती है। लेकिन यह अक्सर कोई बीमारी न होकर अधिक उत्तेजना या फिर मन की स्थिति भी होती है जिसका उपचार बहुत ही आसान है।

प्रीमैच्योर इजेकुलेशन से बचने के उपाय

अक्सर जब व्यक्ति सेक्स शुरू करता है तो अधिक एक्साइटमेंट के कारण प्री मच्योर इजेकुलेशन होना एक आम बात है। यह बीमारी आपकी मानसिक स्थिति पर अधिक निर्भर करती है। इसका उचित कारण ढूढने की जरूरत होती है। इसके लिए आप नीम- हकीम के पास जाने से बचें और किसी अच्छे सेक्स विशेषज्ञ से इसके कारण को जानकर इसका सही इलाज करवाएं।

(और पढ़े – शीघ्र स्खलन रोकने (शीघ्रपतन) का आयुर्वेदिक इलाज…)

4. शादी के बाद महिलाओं में लुब्रिकेशन की कमी

शादी के बाद महिलाओं में लुब्रिकेशन की कमी

सेक्स करने के लिए महिला की योनि में प्राक्रतिक चिपचिपा पदार्थ उत्पन होता है जिसे उत्तेजना का पैमाना माना जाता है। शादी के बाद उम्र बढ़ने के साथ ही महिलाओं में प्राक्रतिक लुब्रिकेशन की कमी सामान्य है, लेकिन यदि कम उम्र या नयी शादी के बाद में किसी महिला इसकी कमी की शिकायत होती है, तो इस समस्या का इलाज करना चाहिए। सेक्स करते समय अगर लुब्रिकेशन में कमी रहती है तो इंटरकोर्स काफ़ी तकलीफ़देह हो सकता है।

महिलाओं में लुब्रिकेशन की कमी का समाधान

सेक्स से पहले लंबा फोरप्ले इसका इलाज है। क्योकि पार्टनर का टच लुब्रिकेशन में काफी असरदार होता है। लेकिन अगर पार्टनर के छूने के बाद भी बात न बने तो ऐसे लुब्रिकेंट भी उपलब्ध हैं जिनका इस्तेमाल आप  सेक्स करते समय लुब्रिकेशन के लिए कर सकते हैं।

(और पढ़े – सेक्स लुब्रिकेंट प्रकार उपयोग की जानकारी…)

5. महिलाओं में सेक्स सेक्स की इच्छा में कमी

महिलाओं में सेक्स सेक्स की इच्छा में कमी

शादी के बाद यह समस्या आम तौर पर महिलाओं में देखने को मिलती है। महिलाओं में कामेच्छा की कमी डिप्रेशन, थकान या तनाव की वजह से हो सकती है। कई महिलाओं को शरीर के कुछ ख़ास हिस्सों पर छूने या चूमने से दर्द भी महसूस होता है या ऐसा करना उन्हें अच्छा नहीं लगता। महिलाओं में कामेच्‍छा की कमी के कई कारण हो सकते हैं।

महिलाओं में सेक्स सेक्स की इच्छा में कमी समाधान

इसका इलाज किसी नीम- हकीम के पास न होकर आपके पार्टनर के पास ही है। पारिवारिक कलह व रिश्तों में टेंशन न हो, इसका खास ध्यान रखें। आपके पति को चाहिए कि वो पहले अपने साथी की जरूरत को समझें। महिलाओं को उत्तेजित करने का कम आपके पार्टनर का होता है इसके लिए आप महिला के गुप्त अंग को छूकर उससे उत्तेजित कर सकते हैं।

(और पढ़े – महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के घरेलू नुस्खे और उपाय…)

6. शादी के बाद गुप्त अंगों में इंफेक्शन होना

शादी के बाद गुप्त अंगों में इंफेक्शन होना

अक्सर गुप्त अंग में खुजली और इन्फेक्शन एक और कॉमन सेक्स समस्या है। यह इंफेक्शन मुख्यतः ठीक तरह से योनि की सफाई ना करने आदि के कारण हो जाती है।

शादी के बाद गुप्त अंगों में इंफेक्शन का समाधान

यह समस्या शादी के बाद सेक्स करने के बाद साफ-सफाई रखने और सेक्स के दौरान कंडोम के प्रयोग से ठीक हो जाती है। अगर साफ सफाई के बाद भी समस्या लगातार बनी रहे तो जल्दी ही डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

(और पढ़े – योनी में खुजली, जलन और इन्फेक्शन के कारण और घरेलू इलाज…)

7. महिलाओं में चरम सुख (ऑर्गाज्म) ना होना या देर से होना

महिलाओं में चरम सुख (ऑर्गाज्म) ना होना या देर से होना

सेक्स के दौरान महिलाओं को चरम सुख ना मिलना भी एक आम सेक्स समस्या है। यह समस्या मानसिक तनाव का कारण हो सकती है। महिलाओं में लम्बे समय तक ऑर्गाज्म ना होने के कारण कई अन्य प्रकार की शारीरिक समस्याएं भी पैदा हो सकती हैं।

चरम सुख (ऑर्गाज्म) पाने के उपाय

इसका सबसे बड़ा कारण है सेक्स के लिए महिला का ठीक से एक्साइटेड न होना हो सकता है। चरम सुख पाने के लिए सेक्स से पहले लंबा फोरप्ले करना चाहिए।

(और पढ़े – चरम सुख (ऑर्गेज्म) क्या होता है, पाने के तरीके और फायदे…)

8. शादी के बाद महिलाओं में वेजाइनल पेन होना

शादी के बाद महिलाओं में वेजाइनल पेन होना

ऐसा शादी की शुरूआती दिनों में अधिक होता है सेक्स के दोरान महिलाओ को नाभि के नीचे और प्यूबिक एरिया के आस-पास दर्द महसूस होता है। ऐसे में क्लाइमैक्स यानि ऑर्गाज्म नहीं हो पाता है।

महिलाओं में वेजाइनल पेन का समाधान

इसके बचने के लिए लिए सेक्स के समय पोजीशन और साथी के हाव-भाव का ध्यान रखना जरूरी होता है। अगरऐसा करने से भी बात न बने तो डाक्टर की सलाह लें।

(और पढ़े – वेजाइनल एट्रॉफी के कारण, लक्षण और उपचार…)

9. शादी के बाद इंपोटेंसी यानि नपुंसकता का होना

शादी के बाद इंपोटेंसी यानि नपुंसकता का होना

नपुंसकता के लिए मोटापा, शुगर की बीमारी, हाई ब्लडप्रेशर, आदि कारण प्रमुख होते हैं। इसके अलावा लम्बे समय से सिगरेट, तंबाकू और एल्कोहल का सेवन करने से भी सेक्स के लिए इरेक्शन में समस्या हो सकती है।

नपुंसकता का समाधान

इस समस्या से बचने के लिए आप अपने मोटापे के स्तर और शुगर लेवल के साथ रक्तचाप को नियंत्रित रखें। साथ ही नियमित रूप से एक्सरसाइज योगा और मैडिटेशन करें। ऐसा करने पर भी यदि समस्या का समाधान न हो तो आपको इसके लिए किसी सेक्सोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए।

(और पढ़े – नपुंसकता (स्तंभन दोष) दूर करने के लिए विटामिन…)

10. सेक्स की पसंद और नापसंद में अंतर

सेक्स की पसंद और नापसंद में अंतर

शादी के बाद दोनों पार्टनर की सेक्स को लेकर अलग-अलग पसंद और नापसंद हो सकती है इससे भी सेक्सुअल रिलेशन बनाने में समस्या आ सकती है।

सेक्स की पसंद और नापसंद का समाधान

शादी के बाद जरूरी है कि आप अपने पार्टनर के साथ भावनात्मक रूप से जुड़ें। और अपनी और उनकी सेक्स को लेकर पंसद और नापंसद के बारे में पहले ही बात कर लें उसके बाद सेक्स करें। अक्सर जब सेक्स के बारे में खुलकर बातचीत की जाती है तो सेक्स को सुखद और यादगार बनाने में मदद मिलती है।

(और पढ़े – शादी के बाद पार्टनर के साथ पोर्न देखने के फायदे और नुकसान…)

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration