लिंग पर खुजली होने के कारण, उपचार और घरेलू इलाज – Penis Itches Causes, Treatments and home remedies in Hindi

लिंग पर खुजली होने के कारण, उपचार और घरेलू इलाज - Penis Itches Causes, Treatments and home remedies in Hindi
Written by Daivansh

लिंग पर खुजली (Penis Itches) की समस्या वार्तमान में पुरुषों से संबंधित एक बहुत आम समस्या है, जो संबंधित व्यक्ति के लिए शर्मनाक और असुविधाजनक स्थिति हो सकती है। लिंग में खुजली किसी भी व्यक्ति के लिए पीड़ादायक और दैनिक कार्यों में हस्तक्षेप उत्पन्न कर सकती है। समान्यतः जननांग क्षेत्र या लिंग की खुजली के अधिकांश मामले सौम्य और उपचार योग्य होते हैं। लिंग की खुजली (Penis Itches) के कारणों के आधार पर, लिंग की खुजली के लक्षणों में भिन्नता देखने को मिल सकती है। अतः इसके सटीक कारणों का निदान समय पर किया जाना आवश्यक होता है। आज इस लेख के माध्यम से आप जानेंगे कि, लिंग पर खुजली क्या है, इसके संभावित कारण, लक्षण, इलाज और रोकथाम उपाय के साथ-साथ, लिंग की खुजली से राहत प्राप्त करने के सुझाव आदि के बारे में।

1. लिंग पर खुजली क्या है – What is Penis Itches in Hindi
2. पेनिस पर खुजली के लक्षण – Penis Itches symptoms in Hindi
3. लिंग में खुजली के कारण – Penile itching causes in Hindi
4. लिंग में खुजली के अन्य कारण – Other causes of penile itching in Hindi
5. लिंग पर खुजली की जटिलताएं – Complications of penile itch in Hindi
6. लिंग पर खुजली के लिए डॉक्टर को कब दिखाना है – When to see the doctor for penis itch in Hindi
7. लिंग की खुजली का निदान – Penile itch diagnosis in Hindi
8. लिंग की खुजली के लिए उपचार – Penis itching treatment in Hindi
9. लिंग पर खुजली का घरेलू इलाज – Penile itches Home Treatments in Hindi
10. लिंग पर खुजली से बचने के उपाय – Penis itching Prevention in Hindi
11. लिंग पर खुजली का घरेलू उपाय – Penile itches home remedies in Hindi

लिंग पर खुजली क्या है – What is Penis Itches in Hindi

लिंग पर खुजली क्या है - What is Penis Itches in Hindi

लिंग पर खुजली की समस्या लिंग की फोर स्किन, जननांगों और वृषण क्षेत्र (Testicular area) पर त्वचा पर उभार या लाल चकत्ते की उपस्थिति के साथ उत्पन्न हो सकती है। लिंग पर खुजली से संबंधित लक्षणों में छाले, जलन, दर्द, लालिमा, सूजन, स्कार टिशु (Scar tissue) इत्यादि शामिल हो सकते हैं। लिंग पर खुजली की समस्या अक्सर खराब स्वच्छता या संक्रमण के कारण उत्पन्न होती है।

किसी भी कारणवश लिंग पर खुजली उत्पन्न होने की समस्या इतनी गंभीर हो सकती है, कि यह पीड़ित व्यक्ति के दैनिक कार्यों और यौन संबंधों में बाधा उत्पन्न कर सकती है। लिंग (पेनिस) और लिंग के आसपास के क्षेत्र में उत्पन्न खुजली के अलावा अन्य लक्षणों का भी अनुभव किया जा सकता है। भिन्न भिन्न कारणों के आधार पर लक्षणों में भिन्नता देखी जा सकती है। अनेक प्रकार के यौन संचारित रोग पेनिस पर खुजली का कारण बन सकते हैं, जिनमें हर्पीस, गोनोरिया (सूजाक), ट्राइकोमोनिएसिस (trichomoniasis), स्केबीज (खाज), प्यूबिक लाइस (जघन जूँ) और क्लैमाइडिया (chlamydia) आदि शामिल हैं।

हालाँकि लिंग पर खुजली होने की स्थिति आपातकालीन या तत्काल चिकित्सकीय सहायता प्राप्त करने की स्थिति नहीं है, लेकिन यह स्थिति एक बीमारी का संकेत हो सकती है, तथा इसे दूसरों व्यक्तियों तक प्रेषित किया जा सकता है। यदि लम्बे समय तक पेनिस में खुजली से सम्बंधित लक्षण बने रहते हैं, तो पीड़ित व्यक्ति को तुरंत चिकित्सकीय सहायता लेनी चाहिए।

(और पढ़ें – गुप्‍तांगों में खुजली दूर करने के घरेलू उपाय )

पेनिस पर खुजली के लक्षण – Penis Itches symptoms in Hindi

लिंग में खुजली अनेक प्रकार के लक्षणों के साथ उत्पन्न हो सकती है, तथा यह लक्षण कुछ अंतर्निहित बीमारी, विकार और अन्य स्वास्थ्य स्थितियों के आधार पर भिन्न-भिन्न हो सकते हैं। पेनाइल खुजली के साथ-साथ जननांग क्षेत्रों के आसपास में भी खुजली उत्पन्न हो सकती है। लिंग में खुजली और जलन के अलावा भी अन्य लक्षण उत्पन्न हो सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • पेशाब करने में कठिन या दर्दनाक पेशाब की समस्या उत्पन्न होना
  • लगातार पेशाब जाना
  • जननांग क्षेत्र में गांठ (Lump), फोड़ा या घाव उत्पन्न होना
  • संभोग के दौरान दर्द होना
  • दर्दनाक स्खलन की समस्या उत्पन्न होना
  • जननांग क्षेत्रों में लाल चकत्ते उत्पन्न होना
  • लिंग क्षेत्र में लालिमा, गर्मी या सूजन का अहसास होना
  • वृषण में दर्द
  • पेनिस स्किन का ड्राई होना, इत्यादि।

(और पढ़ें – पेनिस हेड में इन्फेक्शन (बैलेनाइटिस) के कारण, लक्षण और इलाज)

पेनिस की खुजली की अन्य स्थितियों में निम्न प्रकार के लक्षण रोग की गंभीरता को प्रगट कर सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • फ्लू के समान लक्षण जैसे- थकान, बुखार, गले में खराश, सिरदर्द, खांसी और दर्द
  • शरीर के अन्य भाग में त्वचा पर खुजली
  • लसीका ग्रंथियों (lymph nodes) में सूजन
  • निर्वहन (Discharge)
  • तेज बुखार
  • लाल चकत्ते उत्पन्न होना
  • जननांग क्षेत्र में सूजन या गर्मी का अहसास होना, इत्यादि।

लिंग में खुजली के कारण – Penile itching causes in Hindi

यौन संचारित रोग पेनिस पर खुजली (Penis Itches) का एक सामान्य कारण हो सकते हैं। इसके अतिरिक्त यह स्थिति एलर्जी, गैर-संचारित संक्रमण या अन्य कारणों से भी उत्पन्न हो सकती है। लिंग पर खुजली उत्पन्न होने के कारणों में निम्न को शामिल किया जा सकता है, जैसे:

लिंग में खुजली का कारण जेनिटल हर्पीस

जेनिटल हर्पीस, हर्पीस सिंप्लेक्स वायरस (HSV) के कारण होने वाला एकयौन संचारित संक्रमण है। यह संक्रमण जननांग क्षेत्र और लिंग में दर्द तथा खुजली आदि लक्षणों का कारण बनती है। हर्पीस वायरस कई सालों तक शरीर में निष्क्रिय रूप से जीवित रह सकता है, इसलिए हर्पीस सिंप्लेक्स वायरस से संक्रमित कुछ व्यक्तियों में कोई लक्षण प्रगट नहीं होते हैं। जेनिटल हर्पीस की स्थिति में लिंग में खुजली के साथ-साथ तरल पदार्थ से भरे फफोले छोटे-छोटे समूहों के रूप में उत्पन्न होते हैं।

(और पढ़ें – जननांग हरपीज (जेनिटल हर्पीज) के कारण, लक्षण, निदान और उपचार)

पेनिस पर खुजली का कारण स्कैबीज

स्कैबीज एक यौन संचारित संक्रमण है, जिसे आम बोलचाल की भाषा में “खाज” के रूप में जाना जाता है। खाज या स्कैबीज़ की स्थिति में त्वचा पर लाल धब्बे, दाने और फफोले पैदा हो जाते हैं, जिससे त्वचा पर अत्यधिक या तीव्र खुजली और बेचैनी से सम्बंधित लक्षण उत्पन्न होते हैं। यह रोग संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से और असुरक्षित यौन सम्बन्ध बनाने से फैलता है।

(और पढ़ें – पेनिस (लिंग) पर स्कैबीज होने का कारण लक्षण और इलाज)

लिंग की खुजली के कारण लाइकेन नाइटिडस

लाइकेन नाइटिडस त्वचा कोशिकाओं की सूजन से सम्बंधित स्थिति है, जो लिंग के साथ-साथ शरीर के विभिन्न हिस्सों पर त्वचा रंग के छोटे उभार या फफोलों के उत्पन्न होने का कारण बनता है। यह स्थिति लिंग में खुजली से सम्बंधित अन्य लक्षणों के भी उत्पन्न होने का कारण बन सकती है।

पेनिस में खुजली का कारण कैंडिडिआसिस (मेल थ्रश)

कैंडिडिआसिस की स्थिति को पुरुष खमीर संक्रमण (male yeast infection) के रूप में भी जाना जाता है। यह संक्रमण लिंग के सिर पर विकसित होता है। कैंडिडिआसिस की स्थिति लिंग की  फोरस्किन और लिंग के सिरे को प्रभावित करने के साथ-साथ खुजली, फोरस्किन के नीचे जलन, लालिमा, दाद और फोरस्किन के नीचे पनीर के समान (cottage cheese-like) पदार्थ का डिस्चार्ज आदि लक्षणों के उत्पन्न होने का कारण बनती है।

लिंग पर खुजली का कारण जननांग मस्सा

जेनिटल वार्ट्स एक यौन संचारित संक्रामक रोग है, जो ह्यूमन पैपिलोमावायरस (एचपीवी) के कारण होता है। जननांग मस्से मनुष्यों के जननांग क्षेत्रों में मांस के रंग और फूलगोभी के समान छोटे-छोटे आकर के दिखाई देते हैं। यह मस्से खुजली और कभी-कभी संभोग के दौरान खून के बहाव का कारण बन सकते हैं।

(और पढ़ें – जननांग मस्सों (जेनिटल वार्ट्स) के कारण, लक्षण, उपचार और घरेलू इलाज )

पेनिस खुजली के कारण लिचेन प्लेनस और सोरायसिस

लाइकेन प्लेनस एक सूजन सम्बन्धी स्थिति है, जो लिंग, बाल, नाखून और त्वचा को प्रभावित करती है। यह स्थिति श्लेष्म झिल्ली में सूजन और जलन पैदा करने के साथ-साथ खुजली, दर्दनाक घाव या फफोले का कारण बन सकती है। इसके अतिरिक्त सोरायसिस त्वचा सम्बन्धी स्थिति भी लिंग को प्रभावित कर सकती है। सोरायसिस की स्थिति में त्वचा की कोशिकाएं बहुत तीव्रता के साथ विकसित होती हैं, और त्वचा की सतह पर संचित होकर खुजली, सूजन, पपड़ीदार त्वचा के साथ-साथ लाल धब्बे आदि के उत्पन्न होने का कारण बनती हैं।

(और पढ़ें – सोरायसिस कारण लक्षण और निदान)

पेनिस में खुजली का कारण यूरेथ्राइटिस

जब बैक्टीरिया या वायरल संक्रमण मूत्रमार्ग की सूजन और जलन की स्थिति का कारण बनता है, तब इसे यूरेथ्राइटिस कहा जाता है। मूत्रमार्गशोथ (यूरेथ्राइटिस) के अन्य लक्षणों में बार-बार पेशाब जाना, पेशाब करने में कठिनाई महसूस होना और वीर्य में खून आना इत्यादि शामिल है।

लिंग में खुजली का कारण बनता है बैलेनाइटिस

बैलेनाइटिस लिंग की ग्रंथियों या फोरस्किन की सूजन से सम्बंधित स्थित है। यह स्थिति लिंग में खुजली, लालिमा और सूजन के साथ-साथ जननांग क्षेत्रों में दर्द, लिंग की स्किन टाइट होना इत्यादि, लक्षणों के उत्पन्न होने का कारण बनती है।

कांटेक्ट डर्मेटाइटिस लिंग में खुजली का कारण

कांटेक्ट डर्मेटाइटिस त्वचा पर लाल और खुजली वाले चकत्ते उत्पन्न होने की स्थिति है, यह स्थिति किसी पदार्थ के सीधे संपर्क में आने के कारण एलर्जी के परिणामस्वरूप उत्पन्न होती है। यह लिंग को प्रभावित कर सकती है। कांटेक्ट डर्मेटाइटिस का कारण बनने वाले पदार्थों में साबुन, सुगंधित पदार्थ, स्प्रे और कपड़े संबंधी एलर्जी आदि शामिल हो सकते हैं।

लिंग में खुजली के अन्य कारण – Other causes of penile itching in Hindi

पेनिस की खुजली के अन्य कारणों में निम्न को शामिल किया जा सकता है, जैसे:

लिंग पर खुजली की जटिलताएं – Complications of penile itch in Hindi

पेनिस में खुजली गंभीर बीमारियों के कारण उत्पन्न हो सकती है, अतः उपचार में देरी करने पर गंभीर जटिलताओं और स्थायी क्षति का सामना करना पड़ सकता है। पेनिस पर खुजली से पीड़ित व्यक्ति निम्न जटिलताओं से ग्रस्त हो सकता है, जैसे कि:

लिंग पर खुजली के लिए डॉक्टर को कब दिखाना है – When to see the doctor for penis itch in Hindi

लिंग में खुजली होने के कुछ मामले घरेलू इलाज के दौरान और समय के साथ बिना किसी उपचार के दूर हो जाते हैं। लेकिन कुछ स्थितियों में लिंग की खुजली असुविधाजनक और कष्टदायक होती है और डॉक्टर की सहायता लेने की आवश्यकता होती है। अतः जब लिंग पर खुजली, फफोले, दर्द या दाने संबंधी लक्षण एक सप्ताह से अधिक समय तक बने रहते हैं, तो इस स्थिति में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

लिंग की खुजली का निदान – Penile itch diagnosis in Hindi

डॉक्टर त्वचा की जांच करने के बाद लिंग की खुजली के कारण का निदान करने में सक्षम हो सकता है। इसके अतिरिक्त डॉक्टर निदान प्रक्रिया के दौरान लिंग को साफ कर या खरोंचकर प्राप्त होने वाले नमूने को एक प्रयोगशाला परीक्षण के लिए भेज सकते हैं। प्रयोगशाला परीक्षण के दौरान वायरस, बैक्टीरिया और फंगल संक्रमण का निदान किया जा सकता है।

लिंग की खुजली के लिए उपचार – Penis itching treatment in Hindi

यदि लिंग की खुजली के लिए घरेलू उपचार प्रभावी नहीं हैं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। लिंग की खुजली को उचित रूप से दूर करने के लिए यह उपचार बहुत प्रभावी होता है। डॉक्टर लिंग की खुजली का इलाज करने के लिए एक ओवर-द-काउंटर या प्रिस्क्रिप्शन टॉपिकल क्रीम की सिफ़ारिश कर सकता है। चिकित्सकीय उपचार के दौरान दवा की सिफ़ारिश पेनाइल खुजली (लिंग की खुजली) के अंतर्निहित कारणों के आधार पर की जाती है। लिंग पर खुजली के उपचार के लिए निम्न दवाओं को शामिल किया जा सकता है, जैसे:

  • एंटीबायोटिक दवा – त्वचा पर बैक्टीरिया संक्रमण के कारण उत्पन्न होने वाली खुजली से राहत प्राप्त करने के लिए।
  • स्टेरॉयड क्रीम और हाइड्रोकार्टिसोन दवाएं – त्वचा की खुजली, लालिमा और सूजन संबंधी लक्षणों को कम करने के लिए।
  • ऐंटिफंगल दवा – खमीर संक्रमण (yeast infections) सहित फंगल संक्रमण (Fungal infections) का इलाज करने के लिए।
  • एंटीहिस्टामाइन – एलर्जी के कारण त्वचा की जलन और खुजली से राहत प्रदान करने के लिए।
  • सामयिक कॉर्टिकोस्टेरॉइड – लाइकेन स्क्लेरोसस (lichen sclerosus) के उपचार में प्रभावी।

लाइट और लेजर थेरेपी – Light and laser therapy

कुछ अध्ययनों से यह पता चला है, कि लिंग की खुजली से संबंधित लक्षणों को कम करने में फोटोथेरेपी प्रभावी होती है। लाइट या फोटो थेरेपी में, प्रभावित क्षेत्रों पर एक निश्चित ऊर्जा का यूवी प्रकाश (UV light) डाला जाता है। लिंग की खुजली के इलाज में फोटोथेरेपी के अलावा क्रायोथेरेपी (Cryotherapy) और लेजर थेरेपी का भी उपयोग किया जा सकता है।

लिंग पर खुजली का घरेलू इलाज – Penile itches Home Treatments in Hindi

लिंग की खुजली से संबन्धित त्वचा में स्थायी परिवर्तन आने से रोकने और जननांग कार्य को सुरक्षित करने के लिए प्रारंभिक उपचार के दौरान डॉक्टर द्वारा विभिन्न सुझाव दिए जा सकते हैं, जो खुजली कम करने के लिए आवश्यक होते हैं। लिंग की खुजली को दूर करने के लिए प्रारंभिक उपचार के तहत निम्न बातों का ध्यान रखें:  

  • कम से कम दिन में दो बार गुनगुने पानी में लिंग की चमड़ी के नीचे और खुजली वाले क्षेत्र को साफ करें तथा जननांग को सूखा रखें
  • लिंग पर खुजली की स्थिति में लिंग को साफ करने के लिए साबुन या शॉवर जेल (shower gel) का उपयोग न करें, लिंग को धोने के लिए सादे पानी का उपयोग करें
  • आइस पैक का उपयोग जलन और सूजन से राहत प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है, आइस पैक का उपयोग करने के दौरान इसे सीधे तौर पर त्वचा पर न रखें
  • यदि सेक्स के दौरान लेटेक्स कंडोम (latex condom) का उपयोग करने के कारण लिंग में खुजली या अन्य एलर्जी सम्बंधित प्रतिक्रिया उत्पन्न होती है, तो इस स्थिति में व्यक्ति को हाइपोएलर्जेनिक (hypoallergenic) कंडोम का उपयोग करने पर विचार करना चाहिए। इसके लिए डॉक्टर से उचित सलाह ली जा सकती है।
  • लिंग की खुजली के उपचार के लिए कोई भी क्रीम या लोशन खरीदने से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह जरूर लें
  • किसी भी संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए हाथों को अच्छी तरह साफ करें। इसके अलावा, अपने तौलिया या कपड़ों को दूसरों के साथ साझा न करें।
  • जननांग क्षेत्र को सूखा और पसीने से मुक्त रखें, जिससे फंगल संक्रमण से बचने में सहायता मिल सके
  • अंडरवियर रोज बदलें, इत्यादि।

लिंग पर खुजली से बचने के उपाय – Penis itching Prevention in Hindi

लिंग की खुजली और जलन को रोकने के लिए निम्न तरीके अपनाए जा सकते हैं, जैसे:

  • लिंग की चमड़ी के नीचे अच्छी स्वच्छता रखें, प्रतिदिन लिंग की चमड़ी के नीचे साफ पानी से धोएं
  • लिंग के क्षेत्र को साफ करने के लिए साबुन का उपयोग न करें, इसके लिए साफ पानी या साबुन रहित क्लींजर (soap-free cleanser) का उपयोग करें
  • अंडरवियर या जांघिया पहनने से पहले लिंग क्षेत्र को पूरी तरह से सुखाएं, तथा ढीले अंडरवियर पहनें
  • खासकर रसायन संबंधी कार्य करने की स्थिति में संबन्धित व्यक्ति को शौचालय जाने से पहले या लिंग को छूने से पहले हांथों को अच्छी तरह से साफ करना चाहिए
  • पेशाब जाने से पहले लिंग की फोरस्किन को ऊपर खींचे, जिससे मूत्र फोरस्किन के नीचे न फंसे
  • प्रत्येक स्थिति में लिंग के सिरे को सूखा और साफ रखें
  • सेक्स करने या हस्तमैथुन करने के बाद लिंग को अच्छी तरह से साफ़ कर सुखा लें
  • लिंग में खुजली की स्थिति में यौन संपर्क बनाने से बचें
  • किसी भी व्यक्ति के साथ यौन सम्बन्ध बनाते समय सुरक्षा रखें
  • उन पदार्थों का उपयोग करने से बचें, जो जलन या खुजली का कारण बनते हैं, इन पदार्थों में सुगंधित सामाग्री, साबुन और कुछ कपड़े आदि शामिल हो सकते हैं।

लिंग पर खुजली का घरेलू उपाय – Penile itches home remedies in Hindi

लिंग की खुजली का घरेलू उपचार, किसी भी पीड़ित व्यक्ति के लिए सूजन, खुजली और जलन से राहत प्राप्त करने में मदद कर सकता हैं, घरेलू उपचार के तहत निम्न को शामिल किया जा सकता है:

लिंग पर खुजली का घरेलू उपाय कोल्ड कॉम्प्रेस – penile itches home remedies Cold compress in Hindi

इस घरेलू उपचार का उपयोग स्कैबीज़, कांटेक्ट डर्मेटाइटिस या इनग्रोन हेयर (ingrown hair) के कारण होने वाली खुजली से राहत प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है। लिंग की खुजली से पीड़ित व्यक्ति को अपने लिंग पर 5 से 10 मिनट तक एक गीला, ठंडा कपड़ा लगाना चाहिए, या आइस पैक को तौलिया में लपेटकर लिंग की सिकाई करनी चाहिए। ऐसा करने से खुजली से राहत मिलती है, और बैलेनाइटिस या यूरेथ्राइटिस (urethritis) को कम करमें में भी मदद मिलती है।

(और पढ़ें – खुजली दूर करने के लिए 10 घरेलू उपाय)

लिंग की खुजली का घरेलू इलाज ओटमील – home remedy for penile itches is oatmeal in Hindi

कोलाइडल ओटमील (Colloidal oatmeal) के एंटी-इंफ्लेमेटरी (anti-inflammatory) गुण त्वचा की जलन, खुजली और सूखापन जैसे लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं। गुनगुने पानी में ओटमील (oatmeal grounds) छिड़क कर नहाने का पानी तैयार करें, और लिंग को अच्छी तरह से धोएं।

(और पढ़ें – खुजली से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय)

लिंग में खुजली का घरेलू उपचार है सेब का सिरका – penile itch home remedies Apple cider vinegar in Hindi

यदि सोरायसिस (psoriasis), लिंग की खुजली का कारण बनता है, तो एप्पल साइडर विनेगर खुजली और जलन को रोकने के लिए प्रभावी उपचार हो सकता है। बराबर मात्रा में एप्पल साइडर विनेगर और पानी को मिलाकर घोल तैयार करें और लिंग पर कुछ समय के लिए लगायें, मिश्रण सूख जाने पर लिंग को अच्छी तरह साफ करें। यदि त्वचा में दरार या फटी हुई त्वचा होने पर सिरका का इस्तेमाल न करें, क्योंकि इससे त्वचा जल सकती है।

पेनिस पर खुजली का घरेलू इलाज डेड सी साल्ट – penis itches home treatment with Dead Sea salt in Hindi

सोरायसिस के कारण उत्पन्न लिंग की खुजली का इलाज करने का आसान घरेलू उपाय डेड सी साल्ट या एप्सम सॉल्ट (Epsom salt) है। जो व्यक्ति लिंग की खुजली से परेशान है, तो वह व्यक्ति डेड सी साल्ट या एप्सम सॉल्ट का पानी में बना घोल उपचार प्रक्रिया में शामिल कर सकते हैं। इस उपचार का उपयोग करने के लिए डेड सी साल्ट या एप्सम सॉल्ट को गर्म या गुनगुने नहाने के पानी में घोलें और लगभग 15 मिनट तक लिंग को भिगोए रखें।

(और पढ़ें – सेंधा नमक (एप्‍सम साल्‍ट) के फायदे गुण लाभ और नुकसान)

पेनिस की खुजली का घरेलू उपचार बेकिंग सोडा – penis itches home remedies Baking soda in Hindi

यदि थ्रश इन्फेक्शन या खमीर संक्रमण (yeast infection) के कारण लिंग पर खुजली की समस्या उत्पन्न होती है, तो बेकिंग सोडा लगाने से खुजली से राहत प्राप्त हो सकती है। गुनगुने पानी 1 कप बेकिंग सोडा मिलाकर पेस्ट बना लें और इस पेस्ट को कुछ समय के लिए लिंग पर लगा रहने दें, इसके बाद कुछ मिनट बाद साफ पानी से धो लें।

(और पढ़ें – बेकिंग सोडा के फायदे और नुकसान)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration