लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) के कारण, लक्षण, जांच, इलाज, बचाव – Curved Penis (Peyronie’s Disease) in Hindi

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) के कारण, लक्षण, जांच, इलाज, बचाव - Curved Penis (Peyronie’s Disease) in Hindi
Written by Daivansh

Curved Penis In Hindi लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) पुरुषों में यौन सम्बन्धी समस्याओं का एक रूप है, जो किसी भी व्यक्ति को परेशान कर सकती है। कर्व्ड पेनिस की बीमारी के भारत में प्रति वर्ष 1 मिलियन से अधिक मामले सामने आते है। यह समस्या सेक्स करने में बाधा उत्पन्न कर सकती है तथा साथ ही साथ इरेक्शन को प्राप्त करने या बनाए रखने में असुविधा (स्तंभन दोष) (erectile dysfunction) का कारण बन सकती है। इसके साथ ही अनेक पुरुषों में, पेरोनी की बीमारी मानसिक तनाव और चिंता का भी कारण बनती है। कुछ स्थितियों में लिंग का टेढ़ापन बिना किसी उपचार के दूर हो जाता हैं, लेकिन अधिकांश स्थितियों में इससे छुटकारा पाने के लिए तथा सम्भोग को सुगम बनाने के लिए इसका इलाज कराना अतिआवश्यक हो जाता हैं।

आज के इस लेख में आप जानेंगे कि, मुड़ा हुआ लिंग (पेरोनी रोग) क्या है, इसके कारण, लक्षण और जाँच क्या हैं तथा इसके इलाज और बचाव के लिए कौन-कौन से तरीके अपनाये जा सकते हैं।

  1. लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) क्या है – What is curved penis (Peyronie’s Disease) in hindi
  2. टेड़े पेनिस (पेरोनी रोग) के कारण – Peyronie’s Disease Causes in hindi
  3. मुड़े हुए लिंग के लक्षण – Curved Penis Symptoms in hindi
  4. पेरोनी रोग के जोखिम कारक – Peyronie’s Disease Risk Factors in hindi
  5. लिंग का टेढ़ापन की जटिलताएं – Peyronie’s Disease (curved penis) Complications in hindi
  6. लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) का निदान – Curved Penis (Peyronie’s Disease) Diagnosis in hindi
  7. पेरोनी रोग (मुड़े हुए लिंग) का इलाज – Peyronie’s Disease (curved penis) Treatment in hindi
  8. लिंग के टेढ़ापन से बचाव – Curved Penis (Peyronie’s Disease) prevention in hindi
  9. लिंग का टेढ़ापन का प्राकृतिक उपचार – Peyronie’s Disease Natural Remedies in hindi
  10. लिंग का टेढ़ापन या पेरोनी रोग में आहार – Peyronie’s Disease dite in hindi

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) क्या है – What is curved penis (Peyronie’s Disease) in Hindi

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) क्या है – What is curved penis (Peyronie’s Disease) in hindi

मुड़े हुए लिंग (curved penis) की स्थिति को पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) के नाम से भी जाना जाता है। पेरोनी रोग, इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ED) का एक दुर्लभ रूप है, जिसके परिणामस्वरूप लिंग में टेढ़ापन आ जाता है, जो दर्दनाक इरेक्शन का कारण बन सकता है। यह समस्या 45 से 60 वर्ष की आयु वाले अधिकांश पुरुषों को अधिक प्रभावित करती है।

मुड़े हुए लिंग (Curved Penis) की स्थिति में लिंग के अंदर रेशेदार स्कार ऊतकों (scar tissue) का निर्माण होता है, जो लिंग में घुमावदार आकर या आकृति उत्पन्न करते हैं। संभोग के दौरान बार-बार हल्की चोट लगने से यह समस्या ट्रिगर हो सकती है। जिन पुरुषों को पेरोनी रोग है, तथा उन्हें सेक्स करने में किसी भी प्रकार की परेशानी का अनुभव नहीं होता है, तो यह स्थिति उनके लिए चिंता का विषय नहीं बनती है। लेकिन जब लिंग का टेढ़ापन पुरुषों में यौन प्रदर्शन या सेक्स के दौरान असुविधा या दर्द उत्पन्न करता है, तो इस स्थिति में जल्द से जल्द डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

(और पढ़े – पुरुषों के गुप्त रोग, सेक्स समस्याओं – कारण, प्रकार, जांच, उपचार और रोकथाम…)

टेड़े पेनिस (पेरोनी रोग) के कारण – Peyronie’s Disease Causes in hindi

टेड़े पेनिस (पेरोनी रोग) के कारण - Peyronie’s Disease Causes in hindi

अधिकांश स्थितियों में पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) का उचित कारण अज्ञात रहता है। लेकिन शोधों से पता चलता है कि लिंग में चोट या आघात के बाद मुड़े हुए लिंग (curved penis) की स्थिति विकसित हो सकती है। चोट के फलस्वरूप लिंग में आन्तरिक रक्तस्राव और निशान ऊतकों (scar tissue) का निर्माण हो सकता है। आम तौर पर लिंग में चोट निम्न कारणों से आ सकती है, जैसे-

  • सेक्स करने के दौरान लिंग में चोट लगने से
  • एथलेटिक गतिविधि या दुर्घटना के परिणामस्वरूप
  • उपचार प्रक्रिया के दौरान, निशान ऊतक (scar tissue) अव्यवस्थित तरीके से बनते हैं, जिन्हें पेरोनी रोग की स्थिति में गांठ के रूप में महसूस किया जा सकता है।
  • वृद्ध पुरुष को वयस्कों की तुलना में लिंग का टेढ़ापन उत्पन्न होने की अधिक संभावना होती है।
  • आनुवंशिकी (Genetics) स्थिति या कुछ स्वास्थ्य स्थितियां भी मुड़े हुए लिंग या पेरोनी रोग का कारण बन सकती हैं।

(और पढ़े – क्या होता है मानव लिंग और उसकी कार्यप्रणाली…)

मुड़े हुए लिंग के लक्षण – Curved Penis Symptoms in hindi

मुड़े हुए लिंग के लक्षण - Curved Penis Symptoms in hindi

टेड़े पेनिस या मुड़े हुए लिंग (curved penis) या पेरोनी रोग के लक्षण अचानक या धीरे-धीरे विकसित हो सकते हैं। पेरोनी रोग के सबसे आम संकेतों और लक्षणों में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

  • पेरोनी रोग से सम्बंधित निशान ऊतक (scar tissue) या प्लेक (plaques) को लिंग की त्वचा के नीचे गांठ या कठोर ऊतक के बैंड (पट्टी) के रूप में महसूस किया जा सकता है।
  • लिंग का ऊपर की ओर या नीचे की ओर मुड़ा हुआ दिखाई देना
  • कुछ मामलों में, इरेक्ट पेनिस (erect penis) में शाफ्ट के चारों ओर एक टाइट या संकीर्ण बैंड की उपस्थिति के कारण संकीर्णता उत्पन्न होना
  • इरेक्शन होने या बनाए रखने में समस्या या स्तंभन दोष की समस्या उत्पन्न होना
  • लिंग का छोटा होना
  • इरेक्शन (erection) के साथ या बिना इरेक्शन (erection) के लिंग में दर्द उत्पन्न होना
  • स्कार ऊतक (scar tissue) छोटे से बड़े आकार के और स्थान परिवर्तनीय हो सकते हैं।
  • सेक्स करने में असुविधा महसूस होना
  • पेरोनी रोग से सम्बंधित लिंग का टेढ़ापन धीरे-धीरे बिगड़ सकता है। आमतौर अनेक स्थितियों में यह स्थिर रहता है।

मुड़े हुए लिंग (curved penis) या पेरोनी रोग के कारण उत्पन्न, इरेक्शन के दौरान दर्द आमतौर पर एक से दो साल के भीतर बिना किसी इलाज के ठीक हो जाता है, लेकिन लिंग में निशान ऊतक (scar tissue) और वक्रता अक्सर बनी रहती है।

(और पढ़े – पेनिस (लिंग) के रोग के लक्षण, कारण, प्रकार, उपचार और बचाव…)

पेरोनी रोग के जोखिम कारक – Peyronie’s Disease Risk Factors in hindi

पेरोनी रोग के जोखिम कारक - Peyronie’s Disease Risk Factors in hindi

लिंग पर मामूली चोट हमेशा पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) का कारण नहीं बनती है। ऐसे अनेक कारक हैं, जो लिंग में निशान ऊतक (Scar Tissue) के निर्माण में योगदान कर सकते हैं। मुड़े हुए लिंग (Curved Penis) के जोखिम कारकों में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

आनुवंशिकता (Heredity) – यदि परिवार के किसी सदस्य को लिंग में टेढ़ापन की समस्या है, तो उस परिवार के अन्य पुरुषों को भी इस समस्या का जोखिम अधिक होता है।

संयोजी ऊतक विकार (Connective tissue disorders) – जो पुरुष संयोजी ऊतक विकार से ग्रस्त होते हैं उन व्यक्तियों में पेरोनी रोग का उच्च जोखिम होता है।

उम्र (Age) – पेरोनी रोग का जोखिम व्यक्ति की उम्र बढ़ने के साथ-साथ बढ़ता है। 55 से अधिक उम्र के पुरुषों में इसके उच्च जोखिम होते हैं।

अन्य कारक – कुछ स्वास्थ्य स्थितियां, धूम्रपान और कुछ प्रोस्टेट सर्जरी सहित अन्य स्थितियां पेरोनी रोग (Peyronie’s disease) में अपना योगदान दे सकती है।

(और पढ़े – इरेक्टाइल डिसफंक्शन (नपुंसकता या स्तंभन दोष) का आयु से संबंध…)

लिंग का टेढ़ापन की जटिलताएं – Peyronie’s Disease (curved penis) Complications in hindi

लिंग का टेढ़ापन की जटिलताएं – Peyronie’s Disease (curved penis) Complications in hindi

पेरोनी रोग (Peyronie’s disease) की जटिलताओं में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

  • यौन साथी के बीच संबंधों में तनाव की स्थिति
  • संभोग या सेक्स करने में असमर्थता
  • यौन क्षमताओं से सम्बंधित चिंता या तनाव
  • स्तंभन को प्राप्त करने या बनाए रखने में कठिनाई अर्थात स्तंभन दोष
  • बच्चे पैदा करने में कठिनाई, इत्यादि।

(और पढ़े – पुरुष बांझपन के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव…)

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) का निदान – Curved Penis (Peyronie’s Disease) Diagnosis in hindi

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) का निदान - Curved Penis (Peyronie’s Disease) Diagnosis in hindi

लिंग का टेढ़ापन या पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) की स्थिति का निदान करने के लिए डॉक्टर सम्बंधित व्यक्ति से लक्षणों की जानकारी लेगा तथा अनेक तरीकों से लिंग की जांच करके निविदा (tender) तथा निशान ऊतक (scar tissue) के दृढ़ क्षेत्रों की तलाश करेगा। आमतौर पर, मुड़ा हुआ लिंग या पेरोनी रोग का निदान करने के लिए निम्न परीक्षण की आवश्यकता पड़ सकती है:

शारीरिक परीक्षण (Physical exam) – शारीरिक परीक्षण की मदद से डॉक्टर लिंग में टेढ़ापन या पेरोनी रोग की स्थिति को निर्धारित कर सकता है। शारीरिक परीक्षण के अंतर्गत स्कार ऊतक (scar tissue) की मात्रा, लिंग की लम्बाई तथा वक्रता की स्थिति को मापा जा सकता है। कुछ डॉक्टर इरेक्शन पैदा करने के लिए सम्बंधित व्यक्ति के लिंग में दवाओं को इंजेक्ट करते हैं, ताकि लिंग की वक्रता या कोण को मापा जा सकें। इसके अतिरिक्त डॉक्टर सम्बंधित व्यक्ति को घर बैठे अपने लिंग की फोटो निकालने के लिए भी कह सकते हैं। अतः शारीरिक परीक्षण की मदद से डॉक्टर वक्रता का कोण, निशान ऊतक का स्थान या अन्य विवरण का निरीक्षण कर सकता है तथा सर्वोत्तम उपचार की भी पहचान करने में मदद सकती है।

अन्य परीक्षण – डॉक्टर पीड़ित व्यक्ति के लिंग की जांच करने के लिए अल्ट्रासाउंड परीक्षण (Ultrasound test) या अन्य परीक्षण का आदेश दे सकता है। लिंग की छवियों को लेने से पहले, लिंग में एक इंजेक्शन लगाया जाता है, जिससे कि लिंग सीधा हो जाए।

लिंग असामान्यता का निरीक्षण करने के लिए अल्ट्रासाउंड सबसे अधिक उपयोग किये जाने वाला परीक्षण है। यह परीक्षण निशान ऊतक (scar tissue) की उपस्थिति, लिंग में रक्त प्रवाह और अन्य असामान्यताओं को दिखा सकता है।

इसके अतिरिक्त डॉक्टर पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) की अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए एक्स-रे परीक्षण का आदेश भी दे सकता है।

(और पढ़े – जाने पेनिस का एवरेज साइज कितना होता है…)

पेरोनी रोग (मुड़े हुए लिंग) का इलाज – Peyronie’s Disease (curved penis) Treatment in hindi

पेरोनी रोग (मुड़े हुए लिंग) का इलाज – Peyronie’s Disease (curved penis) Treatment in hindi

लिंग का टेढ़ापन या पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) का इलाज किया जा सकता है, लेकिन कुछ स्थितियों में यह उपचार के बिना ही दूर हो जाता है। पेरोनी रोग के लक्षणों की गंभीरता के आधार पर डॉक्टर उचित इलाज को अपना सकता हैं। इलाज प्रक्रिया में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

लिंग की विकृति या लिंग का टेढ़ापन दूर करने के लिए दवाएं

पेरोनी रोग (curved penis) का इलाज करने के लिए अनेक प्रकार की दवाओं की सिफारिश की जा सकती है, लेकिन कुछ स्थितियों में यह प्रभावी उपचार नहीं है। इन दवाओं को कई महीनों तक प्राप्त करने की आवश्यकता पड़ सकती है। मुड़े हुए लिंग या पेरोनी रोग का इलाज करने के लिए उपयोग की जाने वाली दवाओं में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

  • कोलेजनस क्लॉस्ट्रिडियम हिस्टोलिटिकम (collagenase clostridium histolyticum) (Xiaflex) दवा को वयस्क पुरुषों में गंभीर वक्रता का इलाज करने के लिए सिफारिश की जा सकती है।
  • वेरापामील (Verapamil) दवा सामान्य रूप से उच्च रक्तचाप के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती है। यह कोलेजन (collagen) के उत्पादन को कम करने के लिए प्रभावी है, कोलेजन एक प्रोटीन है जो लिंग में निशान ऊतक (scar tissue) के निर्माण में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।
  • इंटरफेरॉन (Interferon) एक प्रकार का प्रोटीन है, जो रेशेदार ऊतक के उत्पादन को अवरुद्ध करता है और रेशेदार ऊतक को तोड़ने में भी मदद करता है। अतः इंटरफेरॉन (Interferon) का उपयोग दवा के रूप में किया जा सकता है।

नोट – डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी प्रकार की दवा न लें।

लिंग की विकृति या लिंग का टेढ़ापन दूर करने के लिए सर्जरी

यदि लिंग की विकृति या लिंग का टेढ़ापन (curved penis) अधिक गंभीर या सम्बंधित व्यक्ति यौन संबंध बनाने में असमर्थ है, तो इस स्थिति में लिंग का टेढ़ापन या पेरोनी रोग का इलाज करने के लिए डॉक्टर सर्जरी के सिफारिश कर सकता है। आमतौर पर सर्जरी की सिफारिश कम से कम एक साल तक पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) से पीड़ित व्यक्ति के लिए की जा सकती है। रोग की स्थिति या गंभीरता के अनुसार सर्जरी का चुनाव किया जाता है।

आम सर्जिकल तरीकों में शामिल हैं:

  • अप्रभावित साइड को सीवन (प्लिकेट) करना (Suturing (plicating) unaffected side) –
  • चीरा लगाना, छांटना और ग्राफ्टिंग (Incision or excision and grafting)

लिंग प्रत्यारोपण (Penile implants) – सर्जिकल रूप से लिंग प्रत्यारोपण के दौरान उन स्पंजी ऊतक को प्रतिस्थापित किया जाता है, जो इरेक्शन (erection) के दौरान रक्त से भर जाते है। मुख्य रूप से पेरोनी रोग और स्तंभन दोष से ग्रस्त व्यक्ति को लिंग प्रत्यारोपण की सलाह दी जाती है।

लिंग का टेढ़ापन दूर करने के लिए नॉनसर्जिकल ट्रीटमेंट

आयनटोफोरेसिस (iontophoresis) एक नॉनसर्जिकल तकनीक है, जो त्वचा के माध्यम से दवा देने के लिए एक कमजोर विद्युत धारा का उपयोग करती है। आयनटोफोरेसिस (iontophoresis), पेरोनी रोग का इलाज करने के लिए एक अच्छा विकल्प है।

इसके अतिरिक्त नॉनसर्जिकल ट्रीटमेंट के तहत स्कार टिशू (scar tissue) को तोड़ने के लिए तीव्र ध्वनि तरंगों का उपयोग करना (शॉक वेव थैरेपी) (shock wave therapy), पेनाइल ट्रैक्शन थैरेपी (penile traction therapy) और रेडिएशन थेरेपी (radiation therap) आदि को शामिल किया जा सकता है।

(और पढ़े – नपुंसकता (स्तंभन दोष) दूर करने के लिए विटामिन…)

लिंग के टेढ़ापन से बचाव – Curved Penis (Peyronie’s Disease) prevention in hindi

लिंग के टेढ़ापन से बचाव - Curved Penis (Peyronie’s Disease) prevention in hindi

जीवनशैली में बदलाव कर पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) के साथ-साथ इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ED) के जोखिम को भी कम करने मदद मिल सकती है। लिंग का टेढ़ापन की समस्या से बचने के लिए निम्न उपाय अपनाये जा सकते हैं:

  • धूम्रपान का सेवन न करें
  • शराब का कम से कम सेवन करें
  • अवैध दवाओं (illegal drugs) के उपयोग पर रोक लगायें
  • नियमित रूप से व्यायाम करें
  • मध्यम आयु वर्ग के पुरुष अधिक जोरदार या बार-बार संभोग करने से बचें
  • गतिविधि के दौरान लिंग को चोट पहुँचने से बचाएं, इत्यादि।

(और पढ़े – बेहतर सेक्स के लिए वर्कआउट और व्यायाम…)

लिंग का टेढ़ापन का प्राकृतिक उपचार – Peyronie’s Disease Natural Remedies in hindi

लिंग का टेढ़ापन का प्राकृतिक उपचार - Peyronie’s Disease Natural Remedies in hindi

लिंग का टेढ़ापन या पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) के लिए प्राकृतिक उपचारों का अच्छी तरह से अध्ययन नहीं किया गया है, फिर भी कुछ प्राकृतिक उपचार, लिंग का टेढ़ापन से सम्बंधित लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते है। लिंग का टेढ़ापन या पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) के प्राकृतिक उपचारों में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

अरंडी का तेल (Castor oil) – लिंग का टेढ़ापन की स्थिति में लिंग पर, विशेष रूप से स्कार टिशू (scar tissue) और पट्टिका पर अरंडी का तेल लगाने से कठोर ऊतकों को नरम या द्रवीकरण करने में मदद मिलती है। प्रभावी उपचार प्राप्त करने के लिए यह उपाय लगभग 12 सप्ताह तक अपनाया जाना चाहिए। सर्वोत्तम परिणामों को प्राप्त करने के लिए रोज रात को सोते समय लिंग पर तेल की थोड़ी मात्रा लेकर मालिश करें और फिर उस पर रुई की पट्टी बांध लें।

एसिटाइल-एल-कार्निटाइन (Acetyl-L-carnitine) – एसिटाइल-एल-कार्निटाइन “एक्यूट और क्रोनिक पेरोनी रोग का इलाज करने के लिए टेमोक्सीफेन (tamoxifen) की तुलना में काफी प्रभावी और सुरक्षित प्राकृतिक उपचार है। यह बाजार से सप्लीमेंट (supplement) के रूप में उपलब्ध है।

गोटू कोला (Gotu Kola) – गोटू कोला एक प्रकार की जड़ी-बूटि है, जो त्वचा के नीचे रेशेदार ऊतक के निर्माण और उनसे संबंधित समस्याओं को कम करने में मदद करती हैं। इस जड़ी बूटी का उपयोग लिंग पर मरहम, कैप्सूल और टिंचर के रूप में किया जा सकता है। अतः गोटू कोला (Gotu Kola) जैसी जड़ी-बूटि त्वचा के नीचे रेशेदार ऊतक के निर्माण से संबंधित समस्याओं को कम कर, लिंग का टेढ़ापन या पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) के उपचार में मदद करती हैं।

(और पढ़े – यौन शक्ति बढ़ाने के लिए प्राक्रतिक जड़ी बूटी…)

लिंग का टेढ़ापन या पेरोनी रोग में आहार – Peyronie’s Disease dite in hindi

लिंग का टेढ़ापन या पेरोनी रोग में आहार - Peyronie’s Disease dite in hindi

पेरोनी रोग या लिंग का टेढ़ापन की स्थिति में एक उचित पोषण युक्त आहार का सेवन, लक्षणों को कम करने में सहायता प्रदान कर सकता है। पेरोनी रोग की स्थिति में निम्न आहार का सेवन लाभदायक होता है, जैसे:

(और पढ़े – इरेक्टाइल डिसफंक्शन (नपुंसकता या स्तंभन दोष) के लिए भोजन…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration