पेनिस (लिंग) के रोग के लक्षण, कारण, प्रकार, उपचार और बचाव – Penis Disease Symptoms, Causes, Treatment And Prevention In Hindi

पेनिस (लिंग) के रोग के लक्षण, कारण, प्रकार, उपचार और बचाव - Penis Disease Symptoms, Causes, Types, Treatment And Prevention In Hindi
Written by Daivansh

Penis Disease in hindi पेनिस (लिंग) रोग (Panis Disorders) पुरुषों के लिए बहुत गंभीर समस्या है। यह समस्या पुरुष के सम्पूर्ण स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती हैं। बहुत से पुरुष ऐसे भी हैं जिनको पेनिस के रोग की सम्पूर्ण कामकाज के बारे में पूरी तरह से जानकारी नहीं हैं, और कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो सामान्य स्वास्थ्य के बारे में ज्यादा चिंता नहीं करते हैं, यह काफी आश्चर्यजनक है। वास्तव में एसी कई सामान्य बीमारियां हैं, जो लिंग को काफी हद तक प्रभावित कर सकती हैं। और आगे चलकर यौन संक्रमित संक्रमण का कारण बनती हैं। अतः लिंग से सम्बंधित समस्या एक पुरुष के सम्पूर्ण जीवन को खतरे में डाल सकती है। प्रत्येक पुरुष को पेनिस (लिंग) से सम्बंधित रोग और उनके लक्षणों के बारे में जानकारी होना अतिआवश्यक है। इस लेख में पेनिस (लिंग) के रोग क्या हैं, इनके लक्षण क्या हैं, कारण, प्रकार, उपचार और बचाव की जानकारी दी जा रही है।

1. लिंग (पेनिस) के रोग क्या हैं – What Is Panis Disorders/ Panis Problems In Hindi
2. पेनिस (लिंग) रोग के लक्षण – Panis Disease Symptoms in Hindi
3. पेनिस (लिंग) के रोग के कारण – Panis Problems Causes In Hindi
4. पेनिस के रोग के प्रकार – Panis Disease types in Hindi

5. पेनिस रोग होने पर डॉक्टर को कब दिखायें – When to see doctor in Hindi
6. पेनिस रोग के उपचार – Panis problems and treatment in Hindi
7. लिंग में दर्द की रोकथाम – Preventing for Panis Pain in Hindi
8. पेनिस के रोग को दूर करने के उपाय – Panis problems Preventing in Hindi

लिंग (पेनिस) के रोग क्या हैं – What Is Panis Disorders/ Panis Problems In Hindi

पेनिस (लिंग) के रोग पुरुषों में लिंग से सम्बंधित विभिन्न समस्याएं हैं, जो यौन समस्याओं का कारण बनते हैं।

एक स्वस्थ व्यक्ति के पास स्वस्थ लिंग होने की निम्न विशेषताएं पाई जाती हैं जैसे – मूत्र त्यागने में सक्षम, तरल पदार्थ में संतुलन बनाए रखना, यौन संबंध रखने में सक्षम और गर्भ में वीर्य स्थापित करने में सक्षम होना।

लेकिन लिंग के सीधा होने वाली कठिनाई, पूर्ण यौन संभोग करने में असमर्थ तथा लिंग में झुकाव ये सभी सामान्य स्थितियाँ लिंग और यौन जीवन को प्रभावित कर सकती है।

(और पढ़े – इरेक्टाइल डिसफंक्शन (नपुंसकता या स्तंभन दोष) का आयु से संबंध…)

पेनिस (लिंग) रोग के लक्षण – Panis Disease Symptoms in Hindi

पेनिस रोग (Panis disease) लिंग के आधार, शाफ्ट या सिरे को प्रभावित कर सकते हैं। यह फोरस्किन (foreskin) या लिंग की चमड़ी को भी प्रभावित करते है। अतः पेनिस (लिंग) रोग के प्रकारों के आधार पर निम्न लक्षण प्रगट हो सकते हैं।

  • लिंग में दर्द
  • लिंग क्षेत्र में खुजली होना
  • जलन महसूस होना
  • लिंग की नोक पर सूजन
  • मूत्र या वीर्य में रक्त की उपस्थिति
  • निचली कमर में दर्द होना
  • वीर्यपात के दौरान दर्द होना
  • लिंग को खड़ा करने या रखने में समस्याएं
  • लिंग में घाव आना
  • बुखार आना
  • लगातार पेशाब आना
  • मूत्र त्याग करने में दर्द और जलन महसूस होना
  • पेशाब सम्बन्धी तीव्र इच्छा
  • मूत्रमार्ग (Urethra) में दर्द होना
  • लिंग से रिसाव होना

(और पढ़े – मूत्र पथ संक्रमण (यूटीआई) के कारण, लक्षण और उपचार…)

पेनिस (लिंग) के रोग के कारण – Panis Problems Causes In Hindi

पेनिस के रोग विभिन्न प्रकार की गतिविधियों के कारण उत्पन्न हो सकते हैं, जैसे –

(और पढ़े – पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के आसान घरलू उपाय…)

पेनिस के रोग के प्रकार – Panis Disease types in Hindi

जब लिंग (पेनिस) में कोई समस्या उत्पन्न होती है, तो यह समस्या यौन जीवन के साथ-साथ सम्पूर्ण स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकती है। लिंग (Panis) को प्रभावित करने वाली कुछ सबसे सामान्य स्थितियां निम्न हैं:

पुरुष लिंग रोग प्रियापिज्म – Priapism in hindi

यह समस्या लिंग में स्थिर दृढंता (Priapism) का कारण बनती है। प्रियापिज्म (Priapism) एक गंभीर स्थिति है, जिसमें एक आदमी का लिंग चार घंटे से अधिक समय तक खड़ा रहता है या अपनी वास्तविक स्थिति में नहीं आता है। यह काफी दर्दनाक हो सकता है, तथा यह घंटों या कई दिनों तक रह सकता है। इस स्थिति में तुरंत डॉक्टर को दिखाने की ज़रूरत होती है।

(और पढ़े – जाने पेनिस का एवरेज साइज कितना होता है…)

लिंग का रोग फाइमोसिस – Phimosis in hindi

एक ऐसी स्थिति जिसमें लिंग के सिर को कवर करने वाली अतिरिक्त त्वचा (foreskin) बहुत अधिक टाइट होती है। जिसके कारण इसे वास्तविक स्थिति से हटाकर लिंग के सिरे को देखना मुश्किल हो जाता है। फाइमोसिस (Phimosis) का इलाज करने के लिए सर्जरी का उपयोग किया जा सकता है।

(और पढ़े – पेनिस (लिंग) पर स्कैबीज होने का कारण लक्षण और इलाज…)

पेनिस के रोग पैराफिमोसिस – Paraphimosis in hindi

यह तब होता है, जब फोरस्किन (foreskin) या चमड़ी, लिंग के सिर के पीछे फंस जाता है, और अपने वास्तविक स्थान पर वापस नहीं आ सकती है। यह चिकित्सा आपातकालीन स्थिति है, जो इलाज नहीं किए जाने पर गंभीर जटिलताओं का कारण बन सकती है।

(और पढ़े – सेक्स हार्मोन क्या होते है महिला और पुरुष में इनका महत्त्व…)

लिंग के रोग पेरोनी रोग – Peyronie’s disease in hindi

यह एक ऐसी स्थिति हैं, जो लिंग के भीतरी अस्तर पर घाव, ऊतक में कठोर गांठ के अतिरिक्त लिंग के खड़ा होने पर एक तरफ झुकने का कारण बनती है। इस बीमारी का कारण ज्ञात नहीं है। उपचार के बिना भी यह बीमारी ठीक हो जाती है। लेकिन गंभीर मामलों में सर्जरी का आवश्यकता पड़ती है।

(और पढ़े – पुरुषों में यौन इच्‍छा (कामेच्छा) में कमी के कारण और घरेलू उपाय…)

पेनिस के रोग रेट्रोग्रेड स्खलन – Retrograde ejaculation in hindi

इस समस्या का संबंध उस स्थिति से है, जब संभोग किए जाने के दौरान वीर्य, लिंग की नोक से बाहर आने की बजाय मूत्राशय में प्रवेश करता है। यह एक “शुष्क संभोग” की ओर संकेत करता है। चूंकि रेट्रोग्रेड स्खलन (Retrograde ejaculation) हानिरहित होता है, लेकिन यह पुरुष बांझपन (male infertility) का कारण बन सकता है।

(और पढ़े – पुरुष बांझपन के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव…)

पेनिस में सूजन बैलेनाइटिस – Balanitis in hindi

बैलेनाइटिस (Balanitis) को लिंग के सिर या फोरस्किन (foreskin) की सूजन या संक्रमण के रूप में जाना जाता है। यह लिंग में लालिमा, रिसाव, खुजली और दर्द का कारण बनता है। यह स्थिति गंभीर नहीं है, परन्तु दर्दनाक हो सकती है। इसे दवाओं का उपयोग करके ठीक किया जा सकता है।

(और पढ़े – पेनिस हेड में इन्फेक्शन (बैलेनाइटिस) के कारण, लक्षण और इलाज…)

क्रोनिक नॉनबैक्टीरियल प्रोस्टटाइटिस – Chronic Nonbacterial Prostatitis in hindi

क्रोनिक नॉनबैक्टीरियल प्रोस्टेटाइटिस एक ऐसी स्थिति है, जो पुरुषों में निचले मूत्र पथ और पौरुष ग्रंथि (prostate) में दर्द और सूजन का कारण बनती है।

(और पढ़े – अंडकोष (वृषण) में दर्द के कारण, लक्षण, जांच, उपचार और रोकथाम…)

पुरुष गुप्त रोग जननांग हरपीज – Genital Herpes in hindi

जेनिटल हर्पीज़ (Genital Herpes) एक यौन संक्रमित बीमारी है। यह हर्पस घावों (herpes sores) या दाद जैसे घावों का कारण बनती है, जो दर्दनाक फफोले (तरल पदार्थ से भरे हुए) के रूप में हो सकते हैं।

(और पढ़े – जननांग हरपीज (जेनिटल हर्पीज) के कारण, लक्षण, निदान और उपचार…)

पेनिस के रोग यूरेथ्राइटिस – Urethritis in hindi

यूरेथ्राइटिस (Urethritis) एक ऐसी स्थिति है, जिसमें मूत्रमार्ग (urethra) या ट्यूब, जो मूत्राशय से मूत्र को शरीर के बाहर ले जाती है, में सूजन और परेशान का कारण बनती है। यह समस्या मूत्रमार्ग (urethra) में संक्रमण के कारण उत्पन्न होती है।

(और पढ़े – मूत्राशय में संक्रमण के कारण, लक्षण और बचाव…)

पुरुष खमीर संक्रमण – Male yeast infection in hindi

यीस्ट संक्रमण (Yeast infections) महिलाओं में एक सामान्य समस्या है, लेकिन यह संक्रमण पुरुषों में भी हो सकता है, यह यौन संचारित बीमारी है। लिंग की नोक पर लालिमा, खुजली और जलन इसके लक्षणों को प्रगट करते हैं। यीस्ट संक्रमण (Yeast infections) का इलाज ओवर-द-काउंटर एंटीफंगल मलहम (antifungal ointment) के साथ किया जा सकता है।

(और पढ़े – वैजिनाइटिस (योनिशोथ या योनि में सूजन) के कारण लक्षण और बचाव…)

लिंग का रोग सिफलिस – Syphilis in hindi

सिफलिस (Syphilis), ट्रेपेनेमा पैलिडम (Treponema pallidum) नामक बैक्टीरिया के कारण होने वाला एक यौन संचारित रोग (sexually transmitted disease) है। प्रारंभिक संक्रमण की अवस्था में यह आमतौर पर लिंग या अंडकोश की थैली पर एक साधारण, गोल आकर में और दर्द रहित अल्सर (छाले) का कारण बनता है। लेकिन समय के साथ यह शरीर के अन्य हिस्सों में फैलता है, और कई अंगों को नुकसान पहुंचाता है।

(और पढ़े – सिफलिस (उपदंश) के कारण लक्षण और उपचार…)

पेनिस कैंसर – Penile cancer in hindi

लिंग कार्सिनोमा (Carcinoma) या लिंग कैंसर (penile cancer) एक काफी दुर्लभ स्थिति है। यह त्वचा पर या लिंग के ऊतकों में अनियमित और दर्द रहित गांठ या अल्सर (छाले) के रूप में शुरू होता है। यह आमतौर पर लिंग के बाकी हिस्सों में तेजी से बढ़ता है।

अतः लिंग से सम्बंधित अधिकतर मामलों में उपचार संभव हैं। इनमें से कुछ स्थितियों को अच्छी स्वच्छता रखकर रोका जा सकता है। चूंकि लिंग से सम्बंधित कुछ स्थितियां चिकित्सा आपातकालीन स्थिति हैं, इसलिए इन समस्याओं के लक्षणों को पूरी तरह से जानना महत्वपूर्ण होता है।

(और पढ़े – ब्रैस्ट कैंसर (स्तन कैंसर) के लक्षण, कारण, जांच, इलाज और बचाव…)

पेनिस रोग होने पर डॉक्टर को कब दिखायें – When to see doctor in Hindi

लिंग (Panis) से सम्बंधित निम्न समस्याएं उत्पन्न होने पर तुरंत डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए:

  • लिंग में दर्द, सूजन या कोमलता आने पर
  • इरेक्‍शन (erection) या लिंग के खड़े होने का समय, 4 घंटे या उससे अधिक तक रहने पर
  • एक फोरस्किन (foreskin) या लिंग की चमड़ी का बहुत टाइट होने पर
  • मूत्र या वीर्य में रक्त निकलने पर
  • एक असामान्य रिसाव या स्खलन होने पर
  • लिंग के क्षेत्र में खुजली, फफोले, घाव या छोटे लाल धब्बे आने पर

(और पढ़े – नपुंसकता (स्तंभन दोष) दूर करने के लिए विटामिन…)

पेनिस रोग के उपचार – Panis problems and treatment in Hindi

पेनिस (लिंग) रोग के प्रकार के आधार पर उपचार प्रक्रिया भिन्न-भिन्न होती हैं:

  • पेरोनी की बीमारी (Peyronie’s disease) के इलाज के लिए दवाओं का उपयोग इंजेक्शन के रूप में किया जाता है, और यदि बीमारी गंभीर है, तो उपचार प्रक्रिया में सर्जरी को अपनाया जा सकता है।
  • सुई के द्वारा डाक्टर मरीज के लिंग से रक्त को निकालकर प्रियापिज्म (priapism) की बीमारी के लक्षणों को कम कर सकता है। इसके अतिरिक्त कुछ दवा, लिंग में बहने वाले रक्त की मात्रा को भी कम कर सकती हैं।
  • एंटीबायोटिक्स (Antibiotics), मूत्र पथ के संक्रमण और कुछ यौन संचारित रोग का इलाज करने के लिए उपयोगी हैं, जिनमें क्लैमाइडिया (chlamydia), गोनोरिया (gonorrhoea) और सिफलिस (syphilis) शामिल हैं। एंटीबायोटिक्स और एंटीफंगल (antifungal) दवाएं के माध्यम से बैलेनाइटिस (balanitis) का भी इलाज किया जा सकता है।
  • एंटीवायरल (Antiviral) दवाएं, हर्पीस (herpes) या दाद की गंभीरता को कम करने में मदद कर सकती हैं।
  • फाइमोसिस (phimosis) की स्थिति में, अपनी उंगलियों से फोरस्किन (foreskin) को खींचकर इसे कम किया जा सकता है। लिंग पर लगाने वाले स्टेरॉयड क्रीम (Steroid creams) भी इस कार्य हेतु उपयोग में लाई जा सकती हैं। गंभीर स्थिति में सर्जरी आवश्यक हो जाती है।
  • सर्जन के द्वारा लिंग के कैंसर (penile cancer) की स्थिति में प्रभावित ऊतकों के हिस्सों को हटाया जा सकता है। लिंग कैंसर के उपचार में विकिरण उपचार या कीमोथेरेपी (chemotherapy) भी शामिल की जा सकती है।

(और पढ़े – एसटीडी रोग लक्षण,प्रकार और बचाव के तरीके, जानकर आप भी हो जाये सावधान! )

लिंग में दर्द की रोकथाम – Preventing for Panis Pain in Hindi

लिंग में दर्द (Panis Pain) विकसित होने की संभावनाओं को कम करने के लिए निम्न उपाय अपनाये जा सकते हैं, जैसे कि:

  • यौन संबंध रखते समय कंडोम का उपयोग करें
  • सक्रिय संक्रमण (active infection) वाले किसी भी व्यक्ति के साथ यौन संबंध बनाने से बचना चाहिए
  • यौन संभोग के दौरान लिंग के झुकाव या घुमाव वाली किसी भी तरह की गतिविधियों से बचना चाहिए।
  • संक्रमण या फोरस्किन (foreskin) से सम्बंधित समस्याओं को कम करने के लिए फोरस्किन या लिंग की त्वचा के नीचे परिशुद्ध करण (circumcision) या सफाई करनी चाहिए।

(और पढ़े – कंडोम के बिना सेक्स करने के फायदे और नुकसान…)

पेनिस के रोग को दूर करने के उपाय – Panis problems Preventing in Hindi

लिंग स्वास्थ्य को बनाए रखने एवं लिंग से सम्बंधित समस्याओं को रोकने के लिए निम्न कदम उठाये जा सकते हैं:

लिंग को साफ रखें – कम साबुन का उपयोग कर धीरे-धीरे लिंग को पानी से साफ करना चाहिए। तथा यदि संभव हो तो फोरस्किन के नीचे भी साफ करना सुनिश्चित करें।

नियमित रूप से लिंग की जांच करें –  प्रत्येक व्यक्ति को नियमित रूप से सभी यौन अंगों जैसे कि अंडकोष और अंडकोश की थैली (Scrotum) आदि में असामान्यता की जाँच करनी चाहिए।

सेक्स भागीदारों को कम करें – अधिक व्यक्तियों के साथ यौन संबंध रखने से बचें तथा बच्चे के लिए प्रयास ना करने के दौरान प्रत्येक बार सेक्स करते समय कंडोम का प्रयोग करें।

धूम्रपान बंद करें – धूम्रपान मानव के सम्पूर्ण स्वास्थ्य और लिंग (Panis) के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालता है। अतः धूम्रपान और शराब के सेवन से बचना चाहिए।

स्वास्थ्य प्रबंधन – विभिन्न चिकित्सकीय स्थितियां और दवाएं का प्रभाव सम्पूर्ण स्वास्थ्य पर होता है जो कि लिंग के कार्य को भी प्रभावित कर सकती हैं।

खेल और अन्य गतिविधियों के दौरान प्रत्येक व्यक्ति को लिंग (Panis) की सुरक्षा पर ध्यान देना चाहिए। इसके लिए सुरक्षात्मक सामग्री का उपयोग करना चाहिए।

यदि कोई व्यक्ति, लिंग (Panis) में किसी भी तरह के बदलाव का अनुभव कर रहा हो तो उसे तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

(और पढ़े – धूम्रपान छोड़ने के सबसे असरदार घरेलू उपाय और तरीके…)

Leave a Comment

6 Comments

Subscribe for daily wellness inspiration