क्‍या लगातार सेक्स पुरुष प्रजनन क्षमता को प्रभावित करता है? – Does Frequent Sex Affect Male Fertility in Hindi

क्‍या लगातार सेक्स पुरुष प्रजनन क्षमता को प्रभावित करता है? – Does Frequent Sex Affect Male Fertility in Hindi
Written by Daivansh

पुरुष और महिलाएं दोनों एक स्‍वस्‍थ निषेचेन (fertilization) ओर बच्‍चे के जन्म के लिए समान रूप से जिम्‍मेदार हैं। महिला प्रजनन क्षमता में बच्‍चे को गर्भ धारण करने और विकसित करने की क्षमता होती है, जबकि पुरुष प्रजनन क्षमता स्‍वस्‍थ, अच्‍छी गुणवत्‍ता वाले शुक्राणुओं (sperms) को प्रदान करके एक महिला को गर्भवती करने की क्षमता है। प्राचीन समय में महिलाएं बच्‍चे को जन्‍म देने के लिए पूरी तरह उत्तरदायी थी, विज्ञान में प्रगति ने पुरुष प्रजनन क्षमता को बच्चे को जन्म देने में असफल अवधारणा के लिए समान रूप से जिम्‍मेदार ठहराया है। पुरुष बांझपन (male infertility) से जुड़ी सबसे आम मिथकों में से एक लगातार सेक्स करना है।

आमतौर पर यह कहा जाता है कि लगातार यौन संबंध (sex) थकान का कारण बन सकता है और शुक्राणु उत्पादन में कमी आ सकती है। आइए उन तथ्यों को उजागर करने का प्रयास करें कि क्‍या ज्यादा और लगातार सेक्स करना पुरुष बांझपन (male infertility) का कारण बन सकता है।

1. पुरुष प्रजनन प्रणाली कैसे काम करती है – Understanding The Male Reproductive System in Hindi
2. कम सेक्स का शुक्राणुओं पर नकारात्‍मक प्रभाव – Negative Effects of Infrequent Sex On Sperms in Hindi
3. क्‍या बार-बार स्‍खलन शुक्राणुओं को प्रभावित करता है – Does Frequent Ejaculation Affect Sperms in Hindi
4. गर्भाधारण के लिए हमें कितनी बार सेक्‍स करना चाहिए – How Often Should We Have Sex to Conceive in Hindi
5. पुरुष प्रजनन और सेक्स – Male fertility and sex in Hindi
6. पुरुषों की प्रजनन क्षमता बढ़ाने के उपाय – Tips For Boosting Male Fertility in Hindi

पुरुष प्रजनन प्रणाली कैसे काम करती है – Understanding The Male Reproductive System in Hindi

पुरुष प्रजनन प्रणाली कैसे काम करती है – Understanding The Male Reproductive System in Hindi

लिंग के नीचे अंग की तरह एक अंडकोश (scrotum) की थैली होती है। अंडकोश पुरुष हार्मोन टेस्‍टोस्‍टेरोन और शुक्राणुओं का उत्पादन करते हैं। स्खलन (ejaculation) पर शुक्राणुओं को मूत्र मार्ग से मुक्त किया जाता है। यौन संबंध के दौरान, लिंग गर्भाशय (cervix) के पास होता है, जहां से शुक्राणु आगे की ओर जाते हैं और अंडाशय (ovum) तक पहुंचते हैं। अंडकोश (testicles) के अंदर उत्पादित शुक्राणुओं को परिपक्वता के लिए वृषण (testes) से अधिवृषण (epididymis) में आ जाते हैं। यहां पर शुक्राणु लगभग 15-20 दिनों तक संग्रहीत रहते है अगर उन्हें बाहर नहीं किया जाता है तो (सेक्स या हस्तमैथुन द्वारा)।

(और पढ़े – हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान जो आपको जानना है जरूरी)

कम सेक्स का शुक्राणुओं पर नकारात्‍मक प्रभाव – Negative Effects of Infrequent Sex On Sperms in Hindi

शोध कर्ता बताते है कि लंबे समय तक अधिवृषण (epididymis) में शुक्राणुओं का भंडारण उनके डीएनए में परिवर्तन का कारण बनता है। यह शरीर में मुक्त कणों के कारण होता है। शुक्राणु गर्मी के प्रति बहुत संवेदनशील (sensitive) होते हैं और शरीर में जितना अधिक समय बिताते हैं, गर्मी के जोखिम से उतना ही अधिक खतरा होता है। ये कारक शुक्राणुओं की संख्या में कमी, पुरुष बांझपन और शुक्राणुओं के असामान्य आकार का कारण बनते है।

(और पढ़े – शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने का घरेलू उपाय )

क्‍या बार-बार स्‍खलन शुक्राणुओं को प्रभावित करता है – Does Frequent Ejaculation Affect Sperms in Hindi

यह तार्किक प्रतीत होता है कि ज्यादा सेक्स या लगातार स्खलन (Ejaculation) शुक्राणुओं की संख्‍या कम कर देगा। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि शरीर को शुक्राणुओं की अनुकूल मात्रा तैयार करने के लिए समय चाहिए। यह 24-36 घंटों के बीच का होता है। लेकिन ताजा शुक्राणुओं में अधिक गति होती है। शरीर में पहले से संग्रहीत शुक्राणुओं में कई जीवित शुक्राणु नहीं होते हैं, या कम गतिशीलता वाले होते है।

शोध कर्ताओं का संकेत है बार- बार स्खलन पुरुष बांझपन और पुरुष प्रजनन क्षमता में कमी की गारंटी नहीं दे सकता है। एक सप्‍ताह की अधिकतम अवधि तक व्‍यक्ति बिना स्‍खलन (ejaculation) के रह सकता है। स्‍खलन में देरी के साथ शुक्राणुओं की संख्‍या बढ़ जाती है लेकिन संचित शुक्राणु का आनुवांशिक और गुणवत्ता के आधार पर खराब होने का खतरा होता हैं। टेस्टिकल्‍स (testicles) में जितने अधिक मात्रा में शुक्राणु खर्च होते हैं उतना ही अधिक गर्मी के संपर्क में आने का जोखिम होता है जो उन्‍हें मार सकता है।

(और पढ़े – पुरुषों के लिए Kegel Exercise अब जल्दी स्‍खलन की समस्‍या को भूल जाओ)

गर्भाधारण के लिए हमें कितनी बार सेक्‍स करना चाहिए – How Often Should We Have Sex to Conceive in Hindi

यह ध्‍यान दिया जाना चाहिए कि गर्भ में शुक्राणु तीन दिनों तक रहता है। तो हर 2-3 दिनों में यौन संबंध रखने से यह सुनिश्चित हो सकता है कि शुक्राणु हमेशा अंडाशय (ovulation) के बाद जारी अंडे के लिए उपलब्‍ध होते हैं। इससे गर्भधारण की संभावना बढ़ जाती है।

(और पढ़े – प्रेगनेंसी (गर्भावस्था) के शुरूआती लक्षण)

विशेषज्ञो का सुझाव है कि अच्छे परिणामों के लिए वे अपने सहयोगियों के ओव्यूलेशन दिन से एक सप्ताह पहले से ही यौन संबंध रखें। अब आपके साथी के साथ ओव्यूलेशन दिन यौन संबंध बनाना तनाव पूर्ण ओर काफी मुश्किल भरा हो सकता है, हर 2-3 दिनों में यौन संबंध रखने से गर्भधारण के चांस बढ़ सकते है। आस्‍ट्रेलिया में किए गए शोध में पाया गया कि सात दिनों के लिए यौन संबंध अधिक सक्रिय और मोटे शुक्राणुओं के परिणामस्वरूप आनुवांशिक क्षति (genetic damage) में 12% की कमी आई थी। हालांकि – शुक्राणु की संख्या में कमी  (sperm concentration) का कारण बन गया लेकिन अभी भी बह स्वस्थ सीमा में बने रहे। इन परिणामों के आधार पर, शोधकर्ताओं ने पाया कि एक पखवाड़ें  के लिए दैनिक यौन संबंध रखने से शुक्राणुओं की संख्या बहुत कम हो सकती है। इसलिए आपको यहां ब्रेक लेने की जरूरत है।

पुरुष प्रजनन और सेक्स – Male fertility and sex in Hindi

इन परिणामों को सामान्‍यीकृत करने से पहले सावधानी बरतें। कम शुक्राणुओं की तरह प्रजनन संबंधी मुद्दों से पीडि़त पुरुषों के लिए प्रत्येक का शरीर अलग होता है और अक्‍सर लगातार सेक्स की सिफारिश नहीं की जा सकती है। इस मामले में, लगातार सेक्स शुक्राणुओं की संख्या को और कम कर सकता है। ताजा कोशिकाओं की उपस्थिति के बावजूद, शुक्राणुओं की अपर्याप्त संख्या भी निषेचन को मुश्किल बना सकती है।

(और पढ़े – पुरुष नसबंदी के फायदे, नुकसान और यौन जीवन पर असर)

पुरुषों की प्रजनन क्षमता बढ़ाने के उपाय – Tips For Boosting Male Fertility in Hindi

यहां पुरुष की प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के कुछ सरल तरीकों के बारे में बताया जा रहा है

पुरुष प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए सुबह सेक्स करें  – Morning sex For Boosting Male Fertility in Hindi

पुरुष प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए सुबह सेक्स करें  – Morning sex For Boosting Male Fertility in Hindi

सुबह के दौरान पुरुष में हार्मोन अपने उच्च स्तर पर रहते हैं। अध्‍ययन बताते है कि सुबह के दौरान उच्‍च शुक्राणु एकाग्रता (sperm concentration) होती है।

(और पढ़े – सुबह के समय सेक्स करने के स्वास्थ्य वर्धक फायदे)

पुरुष प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए वसा को कम करें  – Get rid of that fat For Boosting Male Fertility in Hindi

पुरुष प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए वसा को कम करें  – Get rid of that fat For Boosting Male Fertility in Hindi

मोटापा सकारात्मक रूप से बांझपन से जुड़ा हुआ है। इसलिए बांझपन (infertility) से दूर रहने के लिए अपने मोटापे को कम करने में ध्‍यान देना चाहिए।

फोलिक एसिड के सेवन को बढ़ावा दें पुरुष प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए – folic acid For Boosting Male Fertility in Hindi

यह न केवल महिलाओं के लिए बल्कि पुरुषों के लिए भी सच है। शुक्राणु में अनुवांशिक असामान्‍यताओं को रोकने के लिए फोलिक एसिड (folic acid) या विटामिन B12 आवश्यक होता है।

पुरुषों की प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए सोया के सेवन से बचें – Avoid soy For Boosting Male Fertility in Hindi

पुरुषों की प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए सोया के सेवन से बचें – Avoid soy For Boosting Male Fertility in Hindi

सोया का सेवन कम पुरुष प्रजनन क्षमता से जुड़ा हुआ है। हां सोया उत्‍पाद की सेवा भी शक्ति को कम कर सकती है। तो टोफू (tofu), टेम्‍पपे (tempeh), सोया दूध, सोयाबीन और सोया कबाब जैसे सोया उत्‍पादों से अपने लड़के का सेवन न करने दें। प्रोटीन प्रदान करने के लिए कई अन्‍य स्रोत हैं।

(और पढ़े – सोयाबीन के फायदे उपयोग और नुकसान )

पुरुष प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए लैपटॉप का कम इस्तेमाल करें – No laptops on laps For Boosting Male Fertility in Hindi

पुरुष प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए लैपटॉप का कम इस्तेमाल करें – No laptops on laps For Boosting Male Fertility in Hindi

लैपटॉप से निकलने वाली अत्यधिक गर्मी स्वस्थ शुक्राणुओं को नुकसान पहुंचाने में वृद्धि करती है। खासकर जब आप आपने पैरो पर रखकर उसका इस्तेमाल करते है इस तरह के दीर्घकालिक एक्‍सपोजर (exposure) पुरुष बांझपन का कारण हो सकता है। इसलिए पुरुष बाँझपन से बचने के लिए अपने पैर पर लैपटॉप रखकर काम करने से बचना चाहिए।

और पढ़े –

Leave a Comment

1 Comment

  • मुझे शिघ्र पतन की शिकायत है कोई दवा बातये लिग में तनाव भी कम हो गया है

Subscribe for daily wellness inspiration