जल्द ही आने वाला है दुनिया का पहला पुरुष गर्भनिरोधक जेल, कैसे करेगा काम जाने पूरी जानकारी

जल्द ही आने वाला है दुनिया का पहला पुरुष गर्भनिरोधक जेल, कैसे करेगा काम जाने पूरी जानकारी
Written by Daivansh

वैज्ञानिकों द्वारा पुरुष गर्भनिरोधक जेल का एक नया रूप परीक्षण किया जा रहा है क्या आपको पता है जल्द ही पुरुष जेल आधारित गर्भनिरोधक का उपयोग कर सकेगें अभी तक आपने गर्भनिरोधक उपायों में जादातर महिलाओ के लिए उपलब्ध चीजो के बारे में सुना होगा पुरषों के लिए केवल कंडोम ही एक मात्र गर्भनिरोधक का साधन माना जाता है पर अभी हल में वैज्ञानिकों के एक समूह ने घोषणा की है कि यह अप्रैल में शुरू होने वाले परीक्षणों में उनके द्वारा विकसित एक गर्भनिरोधक जेल को पुरषों द्वारा गर्भनिरोधक जेल के रूप में लगाया जायेगा। इसकी सबसे अच्छी बात है की इसे जननांगों पर नहीं लगाया जाता है।

अमेरिका में सरकारी शोधकर्ता पुरुषों के लिए गर्भनिरोधक पद्धति के चार साल के अध्ययन शुरू करने वाले हैं

और पढ़े – Unwanted 72 गोली लेने के बाद पीरियड लेट होना

परीक्षण में पुरुषों को जेल की एक पंप की बोतल दी जाएगी, जिसमें से जेल का आधा चम्मच कम से कम चार महीनों के लिए हर दिन पुरुषों के ऊपरी हांथो और कंधे पर लगाया जाएगा। यह जेल एक मिनट के भीतर सुख जाता है

जाने – कितनी देर तक करना चाहिए सेक्स, सिर्फ इतने मिनट ही रोमांस करते है अधिकतर कपल!

नया पुरुष गर्भनिरोधक जेल प्रोजेस्टेरोन एनालॉग का उपयोग करता है

जेल में सक्रिय रसायनों में नास्टरोन नामक प्रोजेस्टीन का एक रूप और टेस्टोस्टेरोन का सिंथेटिक रूप शामिल होगा। प्रोजेस्टिन अंडकोष से टेस्टोस्टेरोन उत्पादन को रोकता है, जो शरीर को शुक्राणु कोशिकाओं का उत्पादन करने की आवश्यक होता है। जाने क्या है – सुरक्षित सेक्स करने के तरीके

यह नया परीक्षण 2012 में किये गए सफल प्रयोगों का पालन करेगा, जिसमें पाया गया कि जेल लगभग 90 प्रतिशत पुरुषों में शुक्राणु की संख्या को कम कर देता है।

स्टेफ़नी पेज जो इस अध्ययन के प्रमुख है का कहना है की, “मुझे पूरा भरोसा है कि यदि पुरुष हर दिन जेल का इस्तेमाल करेंगे और इसे सही तरीके से लगायेगें, तो यह जरुर प्रभावी होगा”।जेल का उपयोग लगभग 72 घंटों के लिए शुक्राणु उत्पादन में गिरावट का कारण होगा। परीक्षण के पहले चार महीनों के दौरान, महिला भागीदारों को महिला गर्भनिरोधक का उपयोग करने के लिए कहा जाएगा, जबकि पुरुषों के शुक्राणु स्तर पर निगरानी रखी जाती है। शोधकर्ताओं ने कहा अगर परीक्षण सफल होता है, तो यह गर्भनिरोधक जेल जनता के लिए आने वाले कुछ सालों में उपलब्ध हो सकता है

असल में, इस अध्ययन में यह महत्वपूर्ण है कि पुरुष प्रभावी ढंग से गर्भनिरोधक तरीके में हर रोज शुक्राणुओं की कम संख्या के लिए अपने शरीर पर पुरुष गर्भनिरोधक जेल को लगायें। वास्तव में, एक ही समय में हर दिन एक गर्भनिरोधक गोली लेने की याद न रखने के कारण महिलाओं में गर्भनिरोधक की विफलता का प्राथमिक कारण माना जाता है।

और यह एक प्रश्न के साथ सबको छोड़ देता है – क्या पुरुष प्रतिदिन गर्भनिरोधक जेल का उपयोग करने के लिए तैयार होंगे जिन्हें हर दिन इसे लगाना होगा? शोधकर्ताओं का कहना है कि इसका कोई आश्वासन नहीं है यह कि विधि तुरंत अपना ली जाएगी, लेकिन वे सोचते हैं कि युवाओ को जेल का इस्तेमाल करने में दिलचस्पी जरुर होगी।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration