डायाफ्राम क्या है, कार्य, उपयोग और सावधानियां – Diaphragm in Hindi




डायाफ्राम क्या है, कार्य, उपयोग और सावधानियां - Diaphragm in Hindi
Written by Daivansh

Diaphragm in Hindi डायाफ्राम का उपयोग जन्‍म नियंत्रण के लिए किया जाता है। यह एक उथला मोड़ने योग्‍य कप होता है जिसे महिलाएं अपनी योनि के अंदर डालती हैं। यह सेक्‍स के दौरान गर्भावस्‍था को रोकने के लिए आपके गर्भाशय ग्रीवा को कवर करता है। हालांकि जन्‍म नियंत्रण के लिए बहुत से विकल्‍प मौजूद हैं लेकिन यह उन महिलाओं के लिए उपयुक्‍त है जो लंबे समय तक जन्म नियंत्रण का उपयोग नहीं करना चाहती हैं। ऐसी महिलाओं के लिए डायाफ्राम का उपयोग बहुत ही लाभकारी होता है। आज इस आर्टिकल में आप डायाफ्राम क्या है, डायाफ्राम का कार्य क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करें के साथ डायाफ्राम के फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी प्राप्‍त करेगें।

1. डायाफ्राम क्‍या है – Diaphragm Kya hai in Hindi
2. डायाफ्राम गर्भावस्‍था को कैसे रोकता है – Diaphragm Pregnancy Ko Kaise Rokta Hai in Hindi
3. डायाफ्राम का कार्य क्‍या है – What are the work of Diaphragm in Hindi
4. डायाफ्राम कितना प्रभावी है – How effective are Diaphragms in Hindi
5. डायाफ्राम को अधिक प्रभावी कैसे बना सकते हैं – Diaphragm ko more effective kaise bana sakte hai in Hindi
6. क्‍या डायाफ्राम यौन संक्रमण से बचाता है – Kya Diaphragm STD se Bachata hai in Hindi
7. डायाफ्राम का उपयोग कैसे करें – Diaphragm ka Upyog kaise kare in Hindi
8. डायाफ्राम को कैसे डालें – Diaphragm ko kaise Dale in Hindi
9. डायाफ्राम कब डालना चाहिए – Diaphragm kab Dalna Chahiye in Hindi
10. डायाफ्राम को योनि में कब तक रखना चाहिए – Diaphragm Ko Yoni Me Kab Tak Rakhna Chiye in Hindi
11. डायाफ्राम को योनि से कैसे निकालें – Diaphragm ko Yoni se Kaise nikale in Hindi
12. डायाफ्राम की देखरेख कैसे करें – How to care diaphragm in Hindi
13. डायाफ्राम कैसे प्राप्‍त करें – Diaphragm Kaise prapt kare in Hindi
14. डायाफ्राम को कहां से खरीद सकते हैं – Diaphragm ko kha se Kharid sakte hai in Hindi
15. डायाफ्राम की लागत कितनी है – How much do diaphragms cost in Hindi
16. डायाफ्राम कितना सुरक्षित है – How safe is the diaphragm in Hindi
17. क्‍या डायाफ्राम सभी के लिए सुरक्षित है – Kya Diaphragm sabhi ke liye surakshit hai in Hindi
18. डायाफ्राम का उपयोग करने जोखिम – What are the risks of using a diaphragm in Hindi
19. डायाफ्राम उपयोग करने के फायदे क्‍या हैं – diaphragm Upyog karne ke fayde Kya hai in Hindi

20. डायाफ्राम उपयोग करने के नुकसान – Diaphragm Upyog karne ke Nuksan in Hindi

21. डायाफ्राम का आकार – Diaphragm ka Size in Hindi

डायाफ्राम क्‍या है – Diaphragm Kya hai in Hindi

डायाफ्राम जन्‍म नियंत्रण का एक रूप है जो एक उथले कप के आकार का होता है। जो एक छोटे तश्‍तरी की तरह होता है और नरम सिलिकॉन से बना होता है। आप इसे आधे में दबाते हैं और अपनी योनि के अंदर डालकर अपने गर्भाशय ग्रीवा को ढंकते हैं। डायाफ्राम में शुक्राणुनाश का उपयोग किया जाता है जो सेक्‍स के दौरान शुक्राणुओं को गर्भाशय के अंदर जाने से रोकता है। जिसके परिणाम स्‍वरूप कोई शुक्राणु अंडे तक नहीं पहुंच पाते हैं। जिससे गर्भावस्‍था की संभावनाओं को बहुत हद तक कम किया जा सकता है।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक के सभी उपाय और तरीके…)

डायाफ्राम गर्भावस्‍था को कैसे रोकता है – Diaphragm Pregnancy Ko Kaise Rokta Hai in Hindi

डायाफ्राम गर्भावस्‍था को कैसे रोकता है – Diaphragm Pregnancy Ko Kaise Rokta Hai in Hindi

डायाफ्राम एक प्रकार से गर्भाशय ग्रीवा के लिए सुरक्षा कवच का काम करता है। जो गर्भाशय के अंदर शुक्राणुओं को अंडे तक पहुंचने से रोकता है। इसके प्रभावी होने का सबसे बड़ा कारण इसमें मौजूद शुक्राणुनाशक होते हैं। यह एक क्रीम या जेल के रूप में मौजूद रहता है जो शुक्राणुओं को नष्‍ट करता है। इस तरह से शुक्राणु अंडे से मिलने के पहले ही निष्क्रिय हो जाते हैं। इस तरह से किसी महिला के गर्भवती होने की संभावना बहुत ही कम होती है।

(और पढ़े – प्रेगनेंसी से बचने के घरेलू उपाय…)

डायाफ्राम का कार्य क्‍या है – What are the work of Diaphragm in Hindi

बहुत सी महिलाएं डायाफ्राम का उपयोग जन्‍म नियंत्रण के रूप में उपयोग करती हैं। लेकिन इसका उपयोग करने से पहले डायाफ्राम में शुक्राणुनाशक का उपयोग किया जाता है जिससे कि इसे अधिक प्रभावी बनाया जा सके। शुक्राणुनाशक में ऐसे रसायन होते हैं जो शुक्रणुओं को बढ़ने से रोकते हैं जिससे कि वे अंडे से न मिल सकें। डायाफ्राम शुक्राणुनाशक को आपके गर्भाशय ग्रीवा के पास रखता है। डायाफ्राम को जन्म नियंत्रण के रूप में 88 प्रतिशत सुरक्षित माना जाता है। क्‍योंकि इसका उपयोग करने वाली 100 महिलाओं में से 12 महिलाओं के गर्भवती होने की संभावना होती है। क्‍योंकि बहुत सी महिलाएं डायाफ्राम का सही तरीके से उपयोग नहीं कर पाती हैं। जबकि सेक्‍स करने के कम से कम 6 घंटे बाद तक डायाफ्राम योनि के अंदर रहना चाहिए।

(और पढ़े – स्खलन के बाद शुक्राणु कितनी देर तक जीवित रह सकता है…)

डायाफ्राम कितना प्रभावी है – How effective are Diaphragms in Hindi

डायाफ्राम एक प्रभावी जन्‍म नियंत्रण विधि है जिसका उपयोग बहुत सी महिलाओं द्वारा उपयोग किया जाता है। यदि महिलाएं हर बार सेक्‍स करने के दौरान डायाफ्राम का उपयोग करती हैं तो यह उनके लिए 94 प्रतिशत तक प्रभावी होता है। लेकिन अधिकांश महिलाएं इसका सही उपयोग नहीं कर पाती हैं जिसके कारण वास्‍तविक जीवन में डायाफ्राम लगभग 88 प्रतिशत तक ही प्रभावी होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि डायाफ्राम का उपयोग करने के लिए दिये गए निर्देशों का पूरी तरह से पालन नहीं किया जाता है। यदि महिलाएं 100 प्रतिशत गर्भावस्‍था से सुरक्षा चाहती हैं तो वे अन्‍य जन्‍म नियत्रण विधि जैसे आईयूडी या इम्‍प्‍लांट आदि का उपयोग कर सकती हैं। ये विधियां जन्‍म नियंत्रण के लिए बेहद प्रभावी मानी जाती हैं।

(और पढ़े – जानें कॉपर टी का इस्तेमाल, इसके फायदे और नुकसान…)

डायाफ्राम को अधिक प्रभावी कैसे बना सकते हैं – Diaphragm ko more effective kaise bana sakte hai in Hindi

डायाफ्राम को अधिक प्रभावी कैसे बना सकते हैं – Diaphragm ko more effective kaise bana sakte hai in Hindi

आप डायाफ्राम का उपयोग गर्भावस्‍था को रोकने के लिए करते हैं। हालांकि इसे और अधिक प्रभावी बनाने के अन्‍य तरीके भी होते हैं। जो डायाफ्राम की प्रभावशीलता को और अधिक बढ़ा सकते हैं।

  • जब आप योनि सेक्‍स करते हैं तो हर बार अपने डायाफ्राम का इस्‍तेमाल करें।
  • आप अपने डायाफ्राम के साथ हर बार शुक्राणुनाशक का उपयोग करें।
  • यदि संभव हो तो आप सेक्स के पहले भी डायाफ्राम का उपयोग कर सकते हैं।
  • डायाफ्राम का उपयोग करते समय यह सुनिश्चित करें कि डायाफ्राम ने गर्भाशय ग्रीवा को पूरी तरह से कवर किया है या नहीं।

इसके अलावा अतिरिक्त सुरक्षा के लिए आप जन्‍म नियंत्रण की अन्‍य विधियों का भी उपयोग कर सकते हैं। जैसे कि पुलआउट मेथर्ड या कंडोम का उपयोग करना। कंडोम का उपयोग करना अधिक फायदेमंद है क्‍योंकि यह आपको यौन संचारित रोगों से भी सुरक्षा दिला सकता है।

(और पढ़े – जाने कंडोम के इस्तेमाल के बारे में सब कुछ…)

क्‍या डायाफ्राम यौन संक्रमण से बचाता है – Kya Diaphragm STD se Bachata hai in Hindi

क्‍या डायाफ्राम यौन संक्रमण से बचाता है – Kya Diaphragm STD se Bachata hai in Hindi

डायाफ्राम का उपयोग महिलाओं को केवल गर्भाधारण करने से बचा सकता है। वो भी इसका सही तरह से उपयोग करने पर। लेकिन यह महिला या पुरुष किसी को भी यौन संक्रमण से सुरक्षा नहीं दिला सकता है। इसलिए डायाफ्राम का उपयोग करने के साथ भी यदि आप यौन संक्रमण से सुरक्षा चाहते हैं तो कंडोम का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा कंडोम का उपयोग करने पर आप बिना संक्रमित हुए गुदा सेक्‍स, योनि सेक्‍स या मुख मैथुन कर सकते हैं।

(और पढ़े – यौन संचारित रोग एसटीडी को रोकने के तरीके…)

डायाफ्राम का उपयोग कैसे करें – Diaphragm ka Upyog kaise kare in Hindi

डायाफ्राम का यदि सही तरीके से उपयोग किया जाये तो यह जन्‍म नियंत्रण के अच्‍छे विकल्‍पों में से एक है। डायाफ्राम का उपयोग करना भी बहुत ही आसान और प्रभावी है। शुरुआत में इसका उपयोग करने पर बहुत सी महिलाओं को दिक्‍कतें आ सकती हैं। इसलिए उन्‍हें डायाफ्राम का उपयोग करने से पहले अपने डॉक्‍टर या नर्स की मदद लेनी चाहिए। वे आपको डायाफ्राम उपयोग करने का सही तरीका बताने में मदद कर सकते हैं।

डायाफ्राम को कैसे डालें – Diaphragm ko kaise Dale in Hindi

डायाफ्राम को कैसे डालें – Diaphragm ko kaise Dale in Hindi

आपको सही तरीके से डायाफ्राम का उपयोग करने के लिए कुछ पैक्टिस करने की आवश्‍यकता हो सकती है। इसके लिए आप अपने डॉक्‍टर या नर्स की मदद ले सकते हैं। वे आपको प्रैक्टिकली डायाफ्राम का उपयोग करना बताएगें। नर्स या डाक्‍टर आपको दिखाएगा कि आप डायाफ्राम को कैसे अपनी योनि में डाल सकते हैं। साथ ही आपको डायाफ्राम में दिये गए निर्देशों का भी पालन करना चाहिए। आइए जाने महिलाएं किस प्रकार डायाफ्राम का इस्‍तेमाल कर सकती हैं।

अपने हाथों को साबुन से धो लें – स्‍वाभाविक है कि महिलाओं की योनि एक संवेदनशील अंग है जिसके संक्रमित होने की संभावना बहुत अधिक होती है। इसलिए योनि पर अपने हाथ लगाने से पहले इन्‍हें हाथों को अच्‍छी तरह से साफ कर लेना चाहिए। इसके बाद आप डायाफ्राम या कम में लगभग 1 बड़ा चम्‍मच शुक्राणुनाशक डालें। यह शुक्राणुनाशक ही आपको गर्भावस्‍था की संभावनाओं से बचाता है। इसके बाद आप एक आरामदायक स्थिति में बैठें जिस तरह से टैम्‍पोन डालते समय बैठते हैं। इसके अलावा आप कुर्सी पर 1 पैर रखकर भी खड़े हो सकते हैं, लेट सकते हैं या स्क्वाट कर सकते हैं। जो भी आपको सुविधाजन स्थिति लगे उसका आप उपयोग करें। एक हाथ से आप योनि के लिप्‍स को अलग करें और दूसरे हाथ से डायाफ्राम को आधा मोड़ते हुए योनि के अंदर डालें। डायाफ्राम को योनि के अंदर डालने के बाद इसे पीछे की तरफ धकेलें और तब तक धकेलें जब तक कि यह आपके गर्भाशय ग्रीवा को पूरी तरह से कवर न करे। एक बार जब यह सही तरीके से गर्भाशय ग्रीवा को कवर कर लेता है इसका मतलब यह है कि डायाफ्राम सही तरीके से लगाया जा चुका है।

(और पढ़े – योनि में कितने छेद होते हैं और क्या होता है उनका काम…)

डायाफ्राम कब डालना चाहिए – Diaphragm kab Dalna Chahiye in Hindi

डायाफ्राम कब डालना चाहिए – Diaphragm kab Dalna Chahiye in Hindi

सामान्‍य रूप से डायाफ्राम का उपयोग गर्भधारण करने की संभावनाओं को खत्‍म करने के लिए किया जाता है। इसलिए आप सेक्‍स करने से पहले 2 घंटे पहले ही डायाफ्राम का उपयोग कर सकते हैं। इस बात का विशेष ध्‍यान रखें कि कोई भी शुक्राणुनाशक बहुत देर तक काम नहीं करते हैं। यदि आप डायाफ्राम का उपयोग करने के लगभग 2 घंटे से अधिक समय के बाद सेक्‍स करते हैं तो आपको अतिरिक्‍त शुक्राणुनाशक का उपयोग करना पड़ सकता है। यदि आप डायाफ्राम को बाहर निकालने से पहले दोबारा सेक्‍स करना चाहते हैं तो इसे योनि से बाहर निकाले बिना ही और शुक्राणुनाशक का उपयोग करें।

(और पढ़े – सुरक्षित सेक्स करने के तरीके…)

डायाफ्राम को योनि में कब तक रखना चाहिए – Diaphragm Ko Yoni Me Kab Tak Rakhna Chiye in Hindi

सेक्‍स करने के बाद लगभग 6 घंटे तक डायाफ्राम को योनि मे रखा जा सकता है। लेकिन इस बात का विशेष ध्‍यान रखें कि डायाफ्राम को 24 से अधिक समय तक योनि में न छोड़ें। यदि आप एक बार सेक्‍स करने के बाद दोबारा सेक्‍स करना चाहते हैं तो डायाफ्राम को योनि से न निकालें लेकिन इसमें अतिरिक्‍त शुक्रानाशक का उपयोग जरूर करें।

डायाफ्राम को योनि से कैसे निकालें – Diaphragm ko Yoni se Kaise nikale in Hindi

डायाफ्राम या कप को यानि से बाहर निकालना बहुत ही आसान है। यदि आपको डायाफ्राम का उपयोग करने में परेशानी आ रही है तो आपको अपने डॉक्‍टर या नर्स से इसे उपयोग करने की पूरी विधि जान लेना आवश्‍यक है।

  • डायाफ्राम को योनि से निकालने के लिए आपको कुछ आसान से स्‍टेप करने होगें।
  • डायाफ्राम को निकालने के लिए अपनी उंगली को डायाफ्राम के शीर्ष भाग में हुक करें।
  • इसके बाद आप धीरे-धीरे डायाफ्राम को आगे की तरफ खींचें। इस तरह से आप आसानी से डायाफ्राम को योनि से बाहर निकाल सकते हैं।

(और पढ़े – कैसे करें महिला कंडोम का इस्तेमाल…)

डायाफ्राम की देखरेख कैसे करें – How to care diaphragm in Hindi

एक डायाफ्राम का उपयोग आप कई बार कर सकते हैं इसमें केवल शुक्राणुनाशक को हर बार बदलने की आवश्‍यकता होती है। इसलिए डायाफ्राम की सही देखभाल भी आवश्‍यक है जिससे इसे सुरक्षित रखा जा सके। डायाफ्राम का लंबे समय तक उपयोग करने के लिए आपको यहां कुछ टिप्‍स बताए जा रहे हैं। जिनका उपयोग कर आप इसे लंबे समय तक उपयोग कर सकते हैं।

  • बाहर निकालने के बाद जन्‍म नियंत्रण डायाफ्राम को साबुन और गर्म पानी से धो लें।
  • अच्‍छी तरह से साफ करने के बाद इसे छाया में सूखने दें।
  • आप अपने डायाफ्राम में किसी भी प्रकार के पाउडर का उपयोग न करें। क्‍योंकि इससे संक्रमण फैलने की संभावना बढ़ जाती है।
  • आपको अपने डायाफ्राम को अधिक गर्मी और सीधी धूप के संपर्क से दूर रखना चाहिए।

हर बार उपयोग करने से पहले डायाफ्राम की अच्‍छी तरह से जांच करें। अंधेरी जगह में किसी प्रकाश स्रोत की तरफ डायाफ्राम से देखें कि कहीं इसमें कोई छेद, दरारें या झुर्रियां आदि तो नहीं है। इसके अलावा आप डायाफ्राम लीक होने का परीक्षण भी कर सकते हैं। इसके लिए आप डायाफ्राम कप में पानी भर कर देख सकते हैं। यदि यह लीक कर रहा है तो आप इसका उपयोग न करें।

(और पढ़े – गर्भवती न होने के 10 तरीके…)

डायाफ्राम कैसे प्राप्‍त करें – Diaphragm Kaise prapt kare in Hindi

सभी महिलाओं का शरीर एक सा नहीं होता है इसलिए स्‍वाभाविक है कि उनके शरीर के अंग भी एक समान नहीं होते हैं। इसलिए महिलाओं द्वारा उपयोग किये जाने वाले डायाफ्राम भी कई साइजों में उपलब्‍ध होते हैं। इसलिए आपको अपने डॉक्‍टर से सलाह लेनी चाहिए। वे आपको फिट और उचित डायाफ्राम उपयोग करने की सलाह दे सकते हैं।

डायाफ्राम को कहां से खरीद सकते हैं – Diaphragm ko kha se Kharid sakte hai in Hindi

डायाफ्राम को कहां से खरीद सकते हैं – Diaphragm ko kha se Kharid sakte hai in Hindi

जब आप अपने डॉक्‍टर या नर्स से डायाफ्राम के लिए संपर्क करते हैं तो वे आपको एक पर्ची देते हैं। जिसकी मदद से आप फार्मेसी, दवा की दुकान या स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र आदि में जाकर एक डायाफ्राम खरीद सकते हैं। डायाफ्राम कई प्रकार के साइजों में होते हैं। आपका डॉक्‍टर आपके लिए उपयुक्‍त डायाफ्राम की सलाह देते हैं। साथ ही वे इन्‍हें सही तरीके से उपयोग करना और इन्‍हें निकालना अधिक आसान होता है। डायाफ्राम के साथ ही आपको इसके साथ उपयोग करने के लिए शुक्राणुनाशक की भी जरूरत होती है। हालांकि इसके लिए आप डायाफ्राम में उपयोग करने के लिए शुक्राणुनाशक जैल और क्रीम आदि खरीद सकते हैं।

(और पढ़े – जल्द ही आने वाला है दुनिया का पहला पुरुष गर्भनिरोधक जेल, कैसे करेगा काम जाने पूरी जानकारी…)

डायाफ्राम की लागत कितनी है – How much do diaphragms cost in Hindi

प्रभावी जन्‍म नियंत्रण के रूप में डायाफ्राम का उपयोग किया जा सकता है। हालांकि डायाफ्राम खरीदने के लिए आप किसी भी मेडिकल स्‍टोर, परिवार नियोजन केंद्र आदि से खरीद सकते हैं। कुछ ऑनलाइन साइट भी डायाफ्राम को ऑनलाइन बेचते हैं। आप यहां से भी डायाफ्राम का उपयोग कर सकते हैं। उपयोग और गुणवत्‍ता के आधार पर डायाफ्राम अलग-अलग ब्रांड में आते हैं इसलिए इनकी कीमत भी अलग-अलग हो सकती है। कुछ चिकित्‍सा संस्‍थान इसे लगाने के लिए भी अलग से शुल्‍क ले सकते हैं। डायाफ्राम की शुरुआती कीमत 3500 से लेकर 20000 ₹ तक हो सकती है।

डायाफ्राम कितना सुरक्षित है – How safe is the diaphragm in Hindi

जन्‍म नियंत्रण विधियों में डायाफ्राम एक बेहतरीन विकल्‍प है। क्‍योंकि डायाफ्राम का उपयोग महिलाओं के लिए सरल, सुविधाजनक और प्रभावी होते हैं। हालांकि कुछ महिलाओं के लिए डायाफ्राम और शुक्राणुनाश का उपयोग करने के कुछ दुष्‍प्रभाव भी हो सकते हैं। लेकिन अधिकांश महिलाओं के लिए डायाफ्राम का उपयोग पूर्ण रूप से सुरक्षित है।

(और पढ़े – योनि के साथ कभी नहीं करना चाहिए ये 7 चीजें…)

क्‍या डायाफ्राम सभी के लिए सुरक्षित है – Kya Diaphragm sabhi ke liye surakshit hai in Hindi

क्‍या डायाफ्राम सभी के लिए सुरक्षित है – Kya Diaphragm sabhi ke liye surakshit hai in Hindi

ज्‍यादातर महिलाओं के लिए डायाफ्राम पूरी तरह से सुरक्षित है। लेकिन उन लोगों के लिए उपयोगी नहीं हैं जिनमें नीचे बताए गए कुछ लक्षण होते हैं।

  • जो महिलाएं योनि में उंगलियों को डालने में असहज महसूस करती हैं।
  • यदि आप सिलिकॉन या शुक्राणुनाशक के प्रति संवेदनशील हैं, या आपको इनसे एलर्जी होती है।
  • उन महिलाओं के लिए डायाफ्राम उपयुक्‍त नहीं है जिन्‍हों ने लगभग 6 सप्‍ताह पहले ही एक बच्‍चे को जन्‍म दिया हो।
  • यदि आपको डायाफ्राम का उपयोग करने में परेशानी हो रही है।
  • यदि आप टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम (toxic shock syndrome) से प्रभावित थे या हैं।
  • यदि आपको या आपके साथी को एड्स हो।
  • यदि आप पिछले 6 सप्‍ताह के भीतर गर्भावस्‍था के दूसरे या तीसरे तिमाही में गर्भपात करवाया है।

(और पढ़े – HIV एड्स के शुरुआती लक्षण जो आपको पता होने चाहिए…)

डायाफ्राम का उपयोग करने जोखिम – What are the risks of using a diaphragm in Hindi

डायाफ्राम का उपयोग करने जोखिम - What are the risks of using a diaphragm in Hindi

बर्थ कंट्रोल डायाफ्राम में उपयोग किये जाने वाले शुक्राणुनाशक गर्भावस्‍था को रोकने में मदद करता है। लेकिन डायाफ्राम का उपयोग करने के जोखिम भी होते हैं। क्‍योंकि इनमें नॉनॉक्सिनॉल-9 नामक रसायन का उपयोग किया जाता है। यदि आप दिन में कई बार शुक्राणुनाशक का उपयोग करते हैं तो यह योनि की परेशानीनियों जैसे एड्स और अन्‍य यौन संचारित संक्रमणों को बढ़ा सकता है। यदि आप यौन संचारित संक्रमण से बचना चाहते हैं तो डायाफ्राम और शुक्रानाशक के साथ ही कंडोम का भी उपयोग कर सकते हैं। यह आपको गर्भावस्‍था के साथ ही यौन संक्रमण से बचने का सबसे अच्‍छा तरीका हो सकता है।

कुछ महिलाओं को डायाफ्राम का उपयोग करने पर मूत्र पथ के संक्रमण की समस्‍या होती है। ऐसी स्थिति में उन्‍हें अपने डॉक्‍टर या नर्स से जांच करानी चाहिए।

यदि आपको डायाफ्राम में शुक्राणुनाशक का उपयोग करने के दौरान योनि में जलन या दर्द होता है तो आप शुक्राणुनाशक या उस सामग्री के प्रति संवेदनशील होते हैं। इसके लिए आप शुक्राणुनाशक के ब्रांड को बदल सकते हैं। इसके अलावा आपको निम्‍न लक्षण होने पर भी अपने डॉक्‍टर या नर्स से संपर्क करना चाहिए।

  • जब आप पेशाब करते हैं तो आपको जलन का अनुभव होता हो।
  • डायाफ्राम का उपयोग करने पर आप असहज महसूस करते हों।
  • बर्थ कंट्रोल डायाफ्राम का उपयोग करने के दौरान स्‍पॉटिंग या रक्‍त स्राव हो रहा हो।
  • योनि में खुजली के साथ लाल चकते हों।
  • आपकी योनि से डिस्‍चार्ज हो रहा हो जो सामान्‍य डिस्‍चार्ज से अलग है।

ऐसे सभी लक्षणों में से किसी एक के होने पर भी आपको डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए। लेकिन इस प्रकार की समस्‍याओं को दूर करना आसान है। इसलिए चिंता न करें और अपने डॉक्‍टर से सलाह लें। इसके अलावा डायाफ्राम का उपयोग कुछ गंभीर लक्षणों से भी जुडा है जो इस प्रकार हैं।

(और पढ़े – पेशाब में जलन और दर्द (डिस्यूरिया) के कारण, लक्षण और उपचार…)

डायाफ्राम उपयोग करने के फायदे क्‍या हैं – diaphragm Upyog karne ke fayde Kya hai in Hindi

  1. डायाफ्राम का उपयोग सुविधाजनक है – Diaphragm ka Upyog suvidhajanak hai in Hindi
  2. डायाफ्राम सेक्‍स में रुकावट नहीं डालता – Diaphragm Sex me Rukabat nahi Dalta hai in Hindi
  3. डायाफ्राम में हार्मोन नहीं होते हैं – Diaphragm me Hormones nahi Hote hai in Hindi
  4. डायाफ्राम का उपयोग कई बार किया जा सकता है – Diaphragm ka Upyog kai baar kiya ja sakta hai in Hindi

अन्‍य बर्थ कंट्रोल विधियों की तरह ही डायाफ्राम जन्‍म नियंत्रण का एक आसान तरीका है। डायाफ्राम उपयोग करने के फायदे होते हैं क्‍योंकि यह पोर्टेबल है और इसे कई बार उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा डायाफ्राम का उपयोग करने लाभ यह भी हैं कि यह तुरंत ही प्रभावी होता है। इसके अलावा इसका उपयोग बंद करते ही आप गर्भवती हो सकते हैं। आइए विस्‍तार से जाने डायाफ्राम उपयोग करने के फायदे क्‍या हैं।

डायाफ्राम का उपयोग सुविधाजनक है – Diaphragm ka Upyog suvidhajanak hai in Hindi

डायाफ्राम का उपयोग सुविधाजनक है – Diaphragm ka Upyog suvidhajanak hai in Hindi

महिलाओं के लिए डायाफ्राम का उपयोग सुविधाजनक होता है। यह उपयोग करने के साथ ही लाने ले जाने में सरल है क्‍योंकि इसे जेब या बैग में रखना आसान है। आप घर से बाहर जाने पर भी इसे अपने साथ रख सकते हैं। जैसे ही आप डायाफ्राम का उपयोग करते हैं यह जन्‍म नियंत्रण के लिए प्रभावी हो जाता है। यदि आप गर्भवती होना चाहते हैं तो डायाफ्राम का उपयोग करना बंद कर दें।

(और पढ़े – गर्भवती होने से कैसे बचें…)

डायाफ्राम सेक्‍स में रुकावट नहीं डालता – Diaphragm Sex me Rukabat nahi Dalta hai in Hindi

डायाफ्राम जन्‍म नियंत्रण का उपयोग करना आपके सेक्‍स को बाधित नहीं करता है। जब भी आप सेक्स करना चाहें उसके 2 घंटे पहले तक डायाफ्राम का उपयोग कर सकते हैं। आप बिना किसी परेशानी के डायाफ्राम का उपयोग कर सेक्‍स कर सकते हैं। यह आपको गर्भावस्‍था से बचाने के सबसे बेहतरीन तरीकों में से एक है।

डायाफ्राम में हार्मोन नहीं होते हैं – Diaphragm me Hormones nahi Hote hai in Hindi

डायाफ्राम में हार्मोन नहीं होते हैं – Diaphragm me Hormones nahi Hote hai in Hindi

बहुत सी महिलाओं को हार्मोनल जन्‍म नियंत्रण पसंद नहीं होते हैं या उन्‍हें इनसे एलर्जी हो सकती है। लेकिन उनकी इस समस्‍या को डायाफ्राम से दूर किया जा सकता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि डायाफ्राम में किसी भी प्रकार के हार्मोन नहीं होते हैं। इस तरह से होर्मोनल बर्थ कंट्रोल का उपयोग करने के बजाये महिलाएं सुरक्षित रूप से डायाफ्राम का उपयोग कर सकती हैं।

(और पढ़े – बिना गोली और कंडोम के प्रेगनेंसी रोकने और गर्भधारण से बचने के उपाय…)

डायाफ्राम का उपयोग कई बार किया जा सकता है – Diaphragm ka Upyog kai baar kiya ja sakta hai in Hindi

बहुत से बर्थ कंट्रोल उत्‍पाद डिसपोजेबल होते हैं जैसे कि कंडोम और स्‍पंज आदि। आप इनका एक बार उपयोग कर फेक देते हैं। लेकिन डायाफ्राम की यदि सही देखभाल की जाये तो यह लगभग 2 वर्षों तक उपयोग किया जा सकता है। लेकिन फिर भी 1 वर्ष के बाद डायाफ्राम की जांच किसी डॉक्‍टर या नर्स से कराना फायदेमंद है।

डायाफ्राम उपयोग करने के नुकसान – Diaphragm Upyog karne ke Nuksan in Hindi

  1. हर सेक्‍स पर डायाफ्राम का उपयोग – Diaphragm use on every sex in Hindi
  2. गर्भनिरोधक डायाफ्राम का उपयोग कठिन है – Garbh Nirodhak Diaphragm ka Upyog kathin hai in Hindi
  3. शुक्राणुनाशक के दुष्‍प्रभाव हो सकते हैं – Spermicide Ke Nuksan Ho Sakte Hai in Hindi

यदि सही तरीके से डायाफ्राम का उपयोग नहीं किया जाता है तो यह गर्भावस्था का कारण बन सकता है। इसके अलावा भी महिलाओं के लिए डायाफ्राम उपयोग करने के नुकसान भी हो सकते हैं। इसके अलावा डायाफ्राम में उपयोग किये जाने वाले शुक्राणुनाशक के भी कुछ नुकसान हो सकते हैं। आइए विस्‍तार से समझें डायाफ्राम उपयोग करने के नुकसान क्‍या हैं।

हर सेक्‍स पर डायाफ्राम का उपयोग – Diaphragm use on every sex in Hindi

हर सेक्‍स पर डायाफ्राम का उपयोग - Diaphragm use on every sex in Hindi

यह एक प्रकार का नुकसान ही है कि हर बार सेक्‍स के दौरान आपको डायाफ्राम का उपयोग करना पड़ता है। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो जन्‍म नियंत्रण में आपको परेशानी हो सकती है। इसके अलावा आपको हर सेक्‍स के दौरान डायाफ्राम का सही तरीके से उपयोग करते आना चाहिए। यदि आपको डायाफ्राम का इस्‍तेमाल करने में किसी प्रकार की असुवितधा हो रही हो तो आप जन्‍म नियंत्रण की अन्‍य विधियों का उपयोग कर सकते हैं।

आपको सलाह दी जाती है कि गर्भनिरोधक के रूप में किसी भी विधि का उपयोग करने के दौरान कंडोम का उपयोग आपको अतिरिक्‍त सुरक्षा दिला सकता है। यह न केवल गर्भावस्‍था को रोकना सुनिश्चित करता है बल्कि यह आपको यौन संक्रमण से भी बचा सकता है।

(और पढ़े – असुरक्षित यौन संबंध के बाद गर्भधारण से बचने के लिए क्या करना चाहिए…)

गर्भनिरोधक डायाफ्राम का उपयोग कठिन है – Garbh Nirodhak Diaphragm ka Upyog kathin hai in Hindi

कुछ महिलाओं के लिए गर्भनिरोधक के रूप में डायाफ्राम का उपयोग करना कठिन हो सकता है। महिलाओं को डायाफ्राम योनि में डालने और इसे कुछ समय तक योनि में ही रखने पर परेशानी हो सकती है। कभी अधिक दबाव पड़ने पर डायाफ्राम अपनी जगह से बाहर निकल सकता है। इसके अलावा यदि आपने डायाफ्राम में उचित और प्रभावी शुक्राणुनाशक का उपयोग नहीं किया है तो यह प्रभावी नहीं होगा। इसलिए हर बार सेक्‍स करने के पहले आपको डायाफ्राम में शुक्राणुनाशक उपयोग करने की आवश्‍यकता होती है। इसके अलावा सेक्‍स के बाद लगभग 6 घंटे तक डायाफ्राम को योनि के अंदर ही रखना पड़ता है।

आप डायाफ्राम को योनि में 24 घंटे से अधिक समय के लिए भी नहीं छोड़ सकते हैं। इस तरह से डायाफ्राम का उपयोग करने के कुछ सामान्‍य नुकसानों में ये सभी तथ्य शामिल हैं।

शुक्राणुनाशक के दुष्‍प्रभाव हो सकते हैं – Spermicide Ke Nuksan Ho Sakte Hai in Hindi

शुक्राणुनाशक के दुष्‍प्रभाव हो सकते हैं – Spermicide Ke Nuksan Ho Sakte Hai in Hindi

यदि आप दिन में कई बार सेक्‍स के दौरान शुक्राणुनाशक का उपयोग करते हैं तो यह योनि की समस्‍याओं को बढ़ा सकता है। इसके अलावा यह एड्स और अन्‍य यौन संचारित रोगों का भी कारण हो सकता है। कुछ महिलाओं को डायाफ्राम का उपयोग करने पर मूत्र पथ संबंधी संक्रमण की समस्‍या भी हो सकती है। यदि आपको योनि संबंधी किसी प्रकार की समस्‍या हो तो आप अपने डॉक्‍टर से संपर्क कर सलाह ले सकती हैं।

(और पढ़े – मूत्राशय में संक्रमण के कारण, लक्षण और बचाव…)

डायाफ्राम का आकार – Diaphragm ka Size in Hindi

डायाफ्राम विभिन्‍न आकारों में आते हैं इसलिए प्रत्‍येक महिला को उनकी आवश्‍कता के अनुसार ही डायाफ्राम का चुनाव करना पड़ता है। इसके अलावा समय के साथ शरीर में होने वाले परिवर्तन आपके डायाफ्राम की फिटिंग को अवयवस्थित कर सकते हैं। इसके अलावा गर्भवती होने के बाद शरीर में आने वाले परिवर्तनों के कारण भी आपको नए आकार के डायाफ्राम की आवश्‍यकता पड़ सकती है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration