महिलाओं में गंजेपन का कारण और उपचार – Female Pattern Baldness Causes And Treatment In Hindi

महिलाओं में गंजेपन का कारण और उपचार - Female Pattern Baldness Causes And Treatment In Hindi
Written by Anamika

Female Pattern Baldness In Hindi पुरषों की तरह महिलाओं में भी होता है गंजापन जानें लक्षण और उपचार:  बाल झड़ना या गंजापन होना एक आम समस्या है। यह समस्या आमतौर पर पुरुषों को प्रभावित करती है लेकिन महिलाएं भी गंजेपन का शिकार होती हैं। महिलाओं में गंजापन पुरुषों से काफी अलग होता है जिसे पैटर्न हेयर लॉस कहा जाता है। हालांकि दोनों में गंजेपन के कारण एक हो सकते हैं लेकिन ज्यादातर मामलों में महिलाओं के बाल दोबारा उग आते हैं जबकि पुरुषों में ऐसा नहीं होता है। इस लेख में आप जानेंगे महिलाओं में गंजेपन का कारण, पैटर्न हेयर लॉस के लक्षण और पैटर्न हेयर लॉस के उपचार के बारे में।

1. महिलाओं में गंजापन क्या है?- What is female pattern baldness in Hindi
2. महिलाओं में गंजेपन का कारण – Causes Of Female Pattern Baldness In Hindi
3. महिलाओं में पैटर्न हेयर लॉस के लक्षण – Symptoms Of Female Pattern Baldness In Hindi
4. महिलाओं में पैटर्न हेयर लॉस के घरेलू उपचार – Home Treatment Of Female Pattern Baldness In Hindi

महिलाओं में गंजापन क्या है?- What is female pattern baldness in Hindi

ओरतों के बालों का पतला हो जाना, जड़ से टूटना और लंबे समय तक बाल न उगने की समस्या को फीमेल पैटर्न बाल्डनेस (Female pattern baldness) कहते हैं। यह एक प्रकार का बाल टूटने (hair loss) की समस्या ही है जिससे महिलाएं प्रभावित होती हैं। मेडिकल की भाषा में इसे एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया (androgenetic alopecia) कहा जाता है। हालांकि पुरूष औऱ महिलाओं दोनों में गंजेपन की समस्या होती है लेकिन महिलाएं गंजेपन की समस्या से कम प्रभावित होती है। महिलाओं में गंजेपन की समस्या होने पर बाल पतले हो जाते हैं और सिर की त्वचा दिखायी देने लगती है और टूटे हुए जगहों के बाल काफी लंबे समय बाद उगते हैं। गंजेपन की समस्या 50 प्रतिशत महिलाओं को उम्र बढ़ने के कारण ही होती है और बाल बहुत ज्यादा संख्या में टूटते हैं।

(और पढ़े – एलोपेशीया एरेटा (बाल झड़ना) के कारण, लक्षण और इलाज…)

महिलाओं में गंजेपन का कारण – Causes Of Female Pattern Baldness In Hindi

महिलाओं में गंजापन अंतःस्रावी ग्रंथियों (endocrine glands) से जुड़ी समस्याओं या हार्मोन का स्राव करने वाले ट्यूमर के कारण होता है। इसके अलावा महिलाओं में गंजापन आनुवांशिक भी होता है।  इसके अलावा भी महिलाओं में हेयर पैटर्न बाल्डनेस अर्थात् गंजापन कई कारणों से होता है। आइये जानते हैं कि इसके पीछे मुख्य कारण क्या होता है।

  • कुछ महिलाओं में बढ़ती उम्र (aging) के कारण गंजेपन की समस्या हो जाती है।
  • ज्यादातर महिलाओं में मेनोपॉज होने पर हार्मोन में परिवर्तन और उतार चढ़ाव (flactuation) के कारण बाल जड़ से टूटने लगते हैं जिसके कारण महिलाएं गंजेपन का शिकार हो जाती हैं।
  • कुछ दवाएं महिलाओं में एंड्रोजन (androgen) हार्मोन के उत्पादन को प्रभावित कर देती हैं जिसके कारण उनके बाल जड़ से टूटने लगते हैं और सिर गंजा दिखने लगता है।
  • महिलाओं में गंजेपन की समस्या ऑटोइम्यून सिस्टम से जुड़ी होती है। यदि किसी महिला को इम्यून सिस्टम से जुड़ी बीमारी है या उसका इम्यून सिस्टम अधिक कमजोर है तो उसके सिर के हेयर फॉलिकल (hair follicle) भी बहुत कमजोर हो जाते हैं जिसके कारण गंजापन होना आम बात हो जाती है।
  • महिलाओं के अंडाशय (ovary) या पीयूष ग्रंथि (pituitary gland) में ट्यूमर के कारण एंड्रोजन का स्राव होने लगता है जिससे महिलाओं में हेयर पैटर्न बाल्डनेस की समस्या आ जाती है।
  • सर्जरी कराने, लंबे समय तक तेज बुखार रहने और संक्रमण के कारण भी महिलाओं में गंजेपन की समस्या होती है।
  • यदि कोई महिला कैंसर से जूझ रही हो तो वह गंजेपन की समस्या से ग्रसित हो सकती है।
  • इसके अलावा शरीर में आयरन और प्रोटीन की कमी होने, सिर की त्वचा में संक्रमण होने और सिर में चोट लगने के कारण भी महिलाओं में गंजेपन की समस्या होती है।
  • अलग-अलग हेयर स्टाइल बनाने और बालों को अधिक टाइट बांधने के कारण भी महिलाओं में गंजापन होना एक अन्य कारण है।

महिलाओं में पैटर्न हेयर लॉस के लक्षण – Symptoms Of Female Pattern Baldness In Hindi

महिलाओं में प्रतिदिन 50 से 100 बाल टूटना सामान्य माना जाता है लेकिन हेयर पैटर्न गंजापन की समस्या होने पर बाल अधिक संख्या में और बहुत तेजी से जड़ से टूटते हैं। हालांकि महिलाओं में गंजेपन की समस्या बहुत कम पायी जाती है। महिलाओं में हेयर पैटर्न गंजापन के लक्षण निम्न हैं।

  • एक बार सिर से बाल जड़ से टूटने के बाद दोबारा उस स्थान पर बाल न निकलना या बाल निकलने में काफी लंबा समय लगना।
  • हेयर फॉलिकल का सिकुड़ जाना है बालों को अधिक पतला होना और बहुत आसानी से टूट जाना।
  • चेहरे पर तेजी से मुंहासे निकलना और मासिक धर्म हर महीने बहुत देर से आना
  • चेहरे पर असामान्य रूप से बाल निकल आना (facial hair growth) ।

(और पढ़े – बालों का असमय झड़ने का कारण और उपचार…)

महिलाओं में पैटर्न हेयर लॉस के घरेलू उपचार – Home Treatment Of Female Pattern Baldness In Hindi

जैसा कि ऊपर बताया जा चुका है कि महिलाओं में पुरुषों कि तरह गंजापन नहीं होता है। अगर होता भी है तो बाल जिस जगह से झड़ते हैं वहां पुनः उग आते हैं लेकिन इसमें लंबा समय लगता है। लेकिन कुछ महिलाओं में बाल आजीवन नहीं उगते हैं। तो आइये जानते हैं कि महिलाओं में गंजेपन का इलाज क्या है।

(और पढ़े – बाल झड़ने से रोकने का आयुर्वेदिक उपाय…)

पैटर्न हेयर लॉस का घरेलू उपचार है लौकी के बीज का तेल – Pumpkin Seed Oil For female Baldness in Hindi

एक स्टडी में पाया गया है कि लौकी के बीज का तेल बाल की जड़ों और सिर की त्वचा में लगाने से गंजेपन की समस्या दूर हो जाती है। लौकी के बीज के तेल में कैरोटीन और टोकोफेरॉल पाया जाता है जो हेयर फॉलिकल को पोषण प्रदान करता है और बालों को फिर से उगने के लिए प्रेरित करता है। एक चम्मच लौकी के बीज के तेल में एक चम्मच ऑलिव ऑयल मिलाकर सिर की त्वचा (scalp) में अच्छी तरह लगाकर पूरी रात छोड़ दें। हफ्ते में दो बार यह तेल लगाने से गंजापन नहीं होता है।

(और पढ़े – लौकी खाने और लौकी का जूस पीने के बेहतरीन फायदे…)

महिलाओं में गंजापन का इलाज करें एपल साइडर विनेगर से – Apple Cider Vinegar For female pattern Baldness in Hindi

एक या दो चम्मच एपल साइडर विनेगर को एक कप पानी में मिला लें और शैंपू से बाल धोने के बाद अंत में एपल साइडर विनेगर के पानी से सिर की त्वचा में मसाज करें और इसी पानी से बाल धो लें। गंजेपन की समस्या को दूर करने के लिए यह बहुत फायदेमंद होता है। एपल साइडर विनेगर सिर की त्वचा के पीएच (pH) को संतुलित बनाए रखता है और बाल विकसित होने में बाधा उत्पन्न करने वाले माइक्रोब्स  को दूर कर देता है। इसके अळावा यह सर्कुलेशन को भी बढ़ाता है जिससे बाल दोबारा उगने में मदद मिलती है।

(और पढ़े – एप्पल साइडर विनेगर करेगा स्किन से जुड़ी परेशानियों को दूर…)

प्याज का रस लगाने से महिलाओं में नहीं होता गंजापन – Onion Juice For female pattern Baldness in Hindi

महिलाओं में गंजेपन की समस्या को दूर करने के लिए प्याज के रस (onion juice) में शहद मिलाकर लगाना फायदेमंद होता है। यह बालों की जड़ों को बाल निकलने के लिए उत्प्रेरित करता है। एक मध्यम आकार के प्याज का रस निकाल कर इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर इसे पूरे सिर की त्वचा (scalp) में  लगाएं और आधे घंटे के बाद बालों में शैंपू कर लें। हफ्ते में दो बार यह प्रक्रिया दोहराने से महिलाओं में गंजेपन की समस्या नहीं होती है।

(और पढ़े – प्याज रस के ये उपाय गिरते बालों के लिए…)

महिलाओं में गंजेपन का घरेलू इलाज मेथी – Methi For female pattern Baldness in Hindi

मेथी के पेस्ट को सिर में लगाने से हेयर फॉलिकल को नए बाल विकसित करने के लिए प्रेरित करता है। मेथी हार्मोन और प्रोटीन एक साथ प्रदान करता है जिससे बाल दोबारा उगने में मदद मिलता है। दो से चार चम्मच मेथी पावडर को पानी में भिगों दें और इसमें दही मिलाकर पूरे बालों की जड़ों में लगाकर अच्छी तरह मसाज करें और एक घंटे बाद सूखने पर बालों में शैंपू कर लें। गंजेपन की समस्या दूर करने का यह एक अचूक (unique) उपाय है।

(और पढ़े – मेथी के फायदे और नुकसान…)

महिलाओं में गंजापन के लिए कॉफी फायदेमंद – Coffee For female pattern Baldness in Hindi

महिलाओं में गंजापन के लिए कॉफी फायदेमंद - Coffee For female pattern Baldness in Hindi

आपको जानकर हैरानी होगी की कॉफी या कैफीन गंजेपन की समस्या दूर करने में बहुत प्रभावी तरीके से काम करता है। यह बाल झड़ने औऱ गंजेपन दोनों के लिए प्रयोग में लाया जाता है। वैज्ञानिकों का मानना है कि कैफीन बालों को बढ़ाने में बहुत मदद करता है। एक चम्मच शहद, एक चम्मच ऑलिव ऑयल और दो चम्मच कॉफी पावडर को मिलाकर पेस्ट बना लें और इसे सिर की त्वचा में लगाकर 20 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पानी से साफ कर लें। हफ्ते में दो बार यह प्रक्रिया अपनाने से गंजेपन की समस्या दूर हो जाती है।

(और पढ़े – कैफीन के फायदे, नुकसान और उपयोग…)

लिकोरिस का जड़ महिलाओं में गंजेपन के इलाज के लिए – Licorice Root For female pattern Baldness in Hindi

लिकोरिस का जड़ महिलाओं में गंजेपन के इलाज के लिए - Licorice Root For female pattern Baldness in Hindi

फीमेल पैटर्न गंजापन दूर करने में लिकोरिस का जड़ बहुत फायदेमंद होता है। यह उन हार्मोन्स को स्रावित करने से रोकता है जो गंजेपन का कारण बनते हैं। एक चम्मच लिकोरिस (Licorice) के जड़ के पावडर में आधा कप दूध और आधा चुटकी हल्दी मिलाकर अच्छी तरह से पेस्ट बना लें और इसे पूरे सिर में अच्छी तरह से लगाकर रात भर के लिए छोड़ दें। सुबह पानी से धो लें। जल्दी फर्क देखने के लिए हफ्ते में तीन बार यह प्रक्रिया दोहराएं।

(और पढ़े – मुलेठी के फायदे और नुकसान…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration