कान में तेल डालना चाहिए या नहीं, फायदे और नुकसान – kan me tel dalna chahiye ya nahi fayde aur nuksan in Hindi

कान में तेल डालना चाहिए या नहीं, फायदे और नुकसान - kan me tel dalna chahiye ya nahi fayde aur nuksan in Hindi
Written by Anamika

कान में तेल डालना चाहिए या नहीं यह सवाल लोगों को असमंजस में डाल देता है कान हमारे शरीर का एक संवेदनशील अंग है इसलिए इसकी विशेष देखभाल की जरूरत पड़ती है। कान की समस्या किसी भी उम्र के व्यक्ति को कभी भी हो सकती है लेकिन कम सुनाई देने की समस्या आमतौर पर उम्र ढलने के बाद शुरू होती है। अक्सर पाया गया है कि कान में एक नहीं बल्कि कई तरह के विकार होते हैं जैसे कान से पस निकलना, कान में संक्रमण होना, कान में इयरवैक्स सूख जाना, कान में खुजली, कान में मैल जमा हो जाना, कम सुनाई देना और स्थायी रूप से बहरापन हो जाना। कान की हर छोटी और बड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए प्राचीन समय से ही ज्यादातर घरों में लोगों को कान में तेल डालने की आदत है। लेकिन कई बार कान में तेल डालना हानिकारक भी हो जाता है। इस लेख में हम आपको बताएंगे की वास्तव में कान में तेल डालना चाहिए या नहीं, कान में तेल डालने के फायदे और नुकसान क्या हैं।

1. कान में तेल डालना चाहिए या नहीं – kan me tel dalna chahiye ya nahi in Hindi
2. कान में तेल डालने के फायदे – kaan me tel dalne ke fayde in Hindi

3. कान में तेल डालने के नुकसान – kan me tel dalne ke nuksan in Hindi

कान में तेल डालना चाहिए या नहीं – kan me tel dalna chahiye ya nahi in Hindi

कान में तेल डालना चाहिए या नहीं - kan me tel dalna chahiye ya nahi in Hindi

वैसे तो वैज्ञानिक तौर पर यह माना जाता है कि कान में तेल नहीं डालना चाहिए। इसका कारण यह है कि तेल में कई तरह के बैक्टीरिया मौजूद होते हैं जो कान में संक्रमण पैदा कर देते हैं और कान के अंदर विभिन्न प्रकार के विकार उत्पन्न करने लगते हैं। इसके अलावा कान में तेल डालने के बाद काफी दिनों तक तेल की नमी बनी रहती है और घर से बाहर निकलने के बाद धूल और प्रदूषण के कारण कान में अधिक गंदगी चिपक जाती है जिसके कारण कान में मैल इकट्ठी होने लगती है और मैल के कारण कान जाम हो जाता है। इसलिए कान की सुरक्षा की दृष्टि से लोग कान में तेल डालने से परहेज करते हैं।

वहीं दूसरी तरफ यह भी धारणा है कि कान में तेल डालने से इयरवैक्स या मैल बहुत आसानी से निकल आता है, कान में दर्द नहीं होता, कान के अंदर नमी बरकरार रहती है और कान में संक्रमण नहीं होता। इस धारणा को मानने वाले लोगों को डॉक्टर यह सलाह देते हैं कि किसी भी कच्चे तेल को कान में सीधे नहीं डालना चाहिए बल्कि इसे लहसुन की कुछ कलियों के साथ उबालकर और फिर इसे ठंडा करके या फिर किसी अन्य  तेल के साथ मिलाकर कान में डालना चाहिए।

तो यह आप पर निर्भर करता है कि आप कान में तेल डालना चाहते हैं या नहीं। लेकिन यह सावधानी हमेशा बरतनी चाहिए कि कान में कभी कच्चा तेल नहीं डालना चाहिए।

(और पढ़े – कान का मैल साफ करने के घरेलू उपाय…)

कान में तेल डालने के फायदे – kaan me tel dalne ke fayde in Hindi

  1. कान में तेल डालने के फायदे संक्रमण दूर करने में – putting oil in ears for infection in Hindi
  2. कान में सरसों का तेल डालने के फायदे इयर वैक्स निकालने के लिए – kan me sarso tel dalne ke fayde for earwax in Hindi
  3. कान में तेल डालने के फायदे खुजली दूर करने के लिए – kaan me tel dalne ke fayde for itching in Hindi
  4. कान में तेल डालने के फायदे दर्द दूर करने के लिए – kan me tel dalne ke fayde for pain in Hindi
  5. कान में तेल डालने के फायदे सूजन दूर करने के लिए – putting oil in ears for swelling in Hindi
  6. कान में तेल डालने के फायदे बेचैनी दूर करने के लिए – kaan me tel dalne ke fayde for irritation in Hindi

यदि आप कान में तेल डालने के आदी हैं तो आपको जरूर जानना चाहिए कि कान में तेल डालने के क्या-क्या फायदे होते हैं।

कान में तेल डालने के फायदे संक्रमण दूर करने में – putting oil in ears for infection in Hindi

कान में तेल डालने के फायदे संक्रमण दूर करने में - putting oil in ears for infection in Hindi

2008 में हुई एक स्टडी में पाया गया है कि कान में इंफेक्शन होने पर एंटीबायोटिक्स लेने की बजाय कान में नारियल का तेल डालना ज्यादा फायदेमंद होता है। शोधकर्ताओं का मानना है कि कान के अंदर वायरल और फंगल इंफेक्शन को दूर करने में यह तेल बहुत प्रभावी रूप से कार्य करता है और कान में किसी गंभीर समस्या के लक्षण होने से पहले ही इंफेक्शन ठीक हो जाता है।

(और पढ़े – फंगल इन्फेक्शन क्या है, कारण, लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार…)

कान में सरसों का तेल डालने के फायदे इयर वैक्स निकालने के लिए – kan me sarso tel dalne ke fayde for earwax in Hindi

कान में सरसों का तेल डालने के फायदे इयर वैक्स निकालने के लिए - kan me sarso tel dalne ke fayde for earwax in Hindi

आमतौर पर सरसों के तेल का इस्तेमाल कान की समस्याओं को दूर करने के लिए घरेलू उपचार के रूप में किया जाता है। प्राचीन काल से ही कान के अंदर जमा मैल या इयरवैक्स निकालने के लिए सरसों का तेल कान में डाला जाता है। कान में जब इयरवैक्स जमा हो जाता है या सूख जाता है तो कान में काफी खुजली होती है। रात में सोते समय कान में दो या तीन बूंद सरसों का तेल डालने पर सुबह तक इयरवैक्स फुलकर बाहर निकल आता है और कान साफ हो जाता है।

(और पढ़े – सरसों के तेल के फायदे स्वास्थ्यवर्धक लाभ और नुकसान…)

कान में तेल डालने के फायदे खुजली दूर करने के लिए – kaan me tel dalne ke fayde for itching in Hindi

कान के अंदर एलर्जी या साइनस (sinus) की समस्या  होने पर खुजली होने लगती है। अधेड़ उम्र की महिलाओं को यह समस्या सबसे ज्यादा होती है। डॉक्टरों का मानना है कि मछली के तेल में लहसुन की कुछ कलियां डालकर गर्म कर और फिर इस तेल को ठंडा करके कान में डालने से खुजली की समस्या खत्म हो जाती है। उम्र बढ़ने के साथ कान से कम सुनाई देने की समस्या भी कान में यह तेल डालने से दूर हो जाती है।

(और पढ़े – एलर्जी लक्षण, बचाव के तरीके और घरेलू उपचार…)

कान में तेल डालने के फायदे दर्द दूर करने के लिए – kan me tel dalne ke fayde for pain in Hindi

कान में तेल डालने के फायदे दर्द दूर करने के लिए - kan me tel dalne ke fayde for pain in Hindi

कान के मध्य भाग (middle ear) में संक्रमण होने के कारण कान में दर्द होने लगता है। यदि आप कान के दर्द को ठीक करने के लिए दवा नहीं खाना चाहते हैं तो घरेलू उपचार के रूप में कान में ऑलिव ऑयल डालने से कान का दर्द ठीक हो सकता है। हालांकि कान के दर्द को दूर करने के लिए कान में ऑलिव ऑयल डालने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले लेनी चाहिए।

(और पढ़े – कान बहने के कारण, लक्षण और इलाज…)

कान में तेल डालने के फायदे सूजन दूर करने के लिए – putting oil in ears for swelling in Hindi

कान में तेल डालने के फायदे सूजन दूर करने के लिए - putting oil in ears for swelling in Hindi

कान हमारे शरीर का एक संवेदनशील अंग है। कान का मैल साफ करते समय या कान में किसी वजह से चोट लग जाने के कारण कान के अंदर सूजन हो जाती है और फिर तेज दर्द उत्पन्न हो जाता है। कान का दर्द एक ऐसा दर्द है जिसके कारण व्यक्ति की नींद तो उड़ती ही है साथ में भूख प्यास भी खत्म हो जाती है। कान के सूजन को कम करने के लिए टी ट्री ऑयल (tea tree oil) में कुछ बूंद ऑलिव ऑयल मिलाकर कान में डालने से कान में सूजन की समस्या खत्म हो जाती है।

(और पढ़े – सूजन के कारण, लक्षण और कम करने के घरेलू उपाय…)

कान में तेल डालने के फायदे बेचैनी दूर करने के लिए – kaan me tel dalne ke fayde for irritation in Hindi

कान में तेल डालने के फायदे बेचैनी दूर करने के लिए - kaan me tel dalne ke fayde for irritation in Hindi

छोटे बच्चों और बुजुर्गों के कान में बिना किसी वजह से अक्सर उन्हें बेचैनी महसूस होती है। ना तो कान में दर्द होता है और ना ही पस आता है लेकिन बुजुर्गों में कान के अंदर अजीब तरह की घनघनाहट होती है जबकि बच्चों के कान के अंदर खुजली होती है। इस समस्या से निजात पाने के लिए बादाम का तेल कान में डालने से घनघनाहट आनी बंद हो जाती है और बच्चों को भी कान में बेचैनी से राहत मिल जाती है।

(और पढ़े – बादाम तेल के फायदे उपयोग और नुकसान…)

कान में तेल डालने के नुकसान – kan me tel dalne ke nuksan in Hindi

कान में तेल डालने के नुकसान - kan me tel dalne ke nuksan in Hindi

  • यदि आपके कान से कम सुनाई देता है तो कान में डॉक्टर से पूछे बिना तेल न डालें अन्यथा आपके कान के पर्दे पर इसका खराब प्रभाव पड़ सकता है और आप स्थायीरूप से बहरेपन के शिकार हो सकते हैं।
  • कान में लगातार तेल  डालते रहने से आपको ओटो माइकोसिस की बीमारी हो सकती है जिसके कारण परमानेंट हियरिंग डिसेबिलिटी की समस्या हो सकती है।
  • कान की मैल या इयरवैक्स निकालने के लिए हर बार कान में तेल न डालें अन्यथा तेल में मौजूद गंदगी कान में जम सकती है और आपका इयरवैक्स अधिक बढ़ सकता है।
  • आमतौर पर कान के संक्रमण को दूर करने के लिए लोग कान में तेल डालते हैं लेकिन कान में तेल डालने के कारण संक्रमण बढ़ता भी है। इसलिए कान में तेल डालने पर आपको यह नुकसान उठाना पड़ सकता है।
  • जब नहाते समय कान में पानी चला गया हो तो कान में भूलकर भी तेल न डालें अन्यथा आपकी परेशानी बहुत गंभीर हो सकती है।
  • जब छोटे बच्चों के कान में दर्द हो तो अपनी मर्जी से कोई भी तेल न डालें अन्यथा बचपन में ही बच्चे के कान से पस आने की समस्या हो सकती है जो आजीवन बनी रह सकती है।
  • कान बहुत ज्यादा तेल अवशोषित नहीं कर पाता है इसलिए अधिक तेल डालने पर आपके कान के अंदर गंभीर रूप से खुजली हो सकती है और कान का पर्दा भी प्रभावित हो सकता है।

(और पढ़े – नाक और कान छिदवाने के फायदे, नुकसान और सावधानियां…)

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration