चोट की सूजन का इलाज – Chot Ki Sujan Ka Ilaj In Hindi - Healthunbox
घरेलू उपाय

चोट की सूजन का इलाज – Chot Ki Sujan Ka Ilaj In Hindi

चोट की सूजन का इलाज – Chot Ki Sujan Ka Ilaj In Hindi

Chot Ki Sujan Ka Ilaj In Hindi: दैनिक जीवन में चोट लगना सामान्‍य है जिससे सूजन भी हो सकती है। लेकिन चोट की सूजन का इलाज समय पर किया जाना चाहिए। क्‍योंकि चोट के कारण होने वाली सूजन या फूलन दर्दनाक भी होती है। दैनिक जीवन में कुछ सामान्‍य लापरवाही के कारण आपको चोट लग सकती है हालांकि सामान्‍य चोट की सूजन 2 से 4 दिनों में ठीक हो जाती है। लेकिन फिर भी चोट की सूजन का इलाज करने के लिए आप कुछ घरेलू उपचारों का उपयोग कर सकते हैं। हालांकि सूजन शरीर में एक रक्षा तंत्र का काम करती है। सूजन के दौरान हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली क्षतिग्रस्‍त कोशिकाओं और रोगजनकों की पहचान कर उनका उपचार करती है। आज इस आर्टिकल में आप सूजन दूर करने के उपाय और घरेलू उपचार संबंधी जानकारी प्राप्‍त करेगें।

विषय सूची

सूजन क्‍या है – Sujan Kya hai in Hindi

सूजन क्‍या है – Sujan Kya hai in Hindi

सूजन हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली का एक हिस्‍सा है। चोट की सूजन तब होती है जब आपके अंगों में किसी प्रकार का दबाव या घाव हो जाता है। चोट लगने पर तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करने वाले रसायन जारी किए जाते हैं, जिससे क्षेत्र अधिक संवेदनशील हो जाता है।इस दौरान प्रभावित क्षेत्र की कोशिकाएं क्षतिग्रस्‍त हो जाती हैं। लेकिन हमारा शरीर और प्रतिरक्षा प्रणाली इस समस्‍या का उपचार करने में सक्षम होता है। इस दौरान प्रभावित क्षेत्र में सफेद रक्‍त कोशिकाएं क्षतिग्रस्‍त कोशिकाओं की मरम्मत करने के लिए पहुंचती हैं। परिणाम स्‍वरूप प्रभावित क्षेत्र सामान्‍य से कुछ गर्म और फूला हुआ होता है।

(और पढ़े – सूजन के कारण, लक्षण और कम करने के घरेलू उपाय…)

चोट की सूजन के लक्षण –Chot ki sujan ke lakshan in Hindi

चोट की सूजन के लक्षण –Chot ki sujan ke lakshan in Hindi

आपको लगी चोट के कारण आने वाली सूजन के लक्षण इस बात पर निर्भर करते हैं कि चोट कितनी तेज और कितने समय पहले की है। चोट की सूजन के सामान्‍य लक्षण इस प्रकार हैं :

  • दर्द होना – सामान्‍य रूप से चोट लगने के बाद प्रभावित क्षेत्र में सूजन आ जाती है। लेकिन यह सूजन दर्द के साथ होती है इसलिए सूजे हुए अंग को छूने, दबाने, रगड़ने आदि में दर्द होता है।
  • प्रभावित क्षेत्र में लालिमा या लाली होना – सूजन वाले भाग अक्‍सर शरीर के दूसरे अंगों की अपेक्षा अधिक लाल दिखाई देते हैं। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि क्षतिग्रस्‍त कोशिकाएं सामान्‍य से अधिक रक्‍त से भरी होती हैं।
  • सूजन – इस प्रकार की समस्‍या प्रभावित क्षेत्र में तरल पदार्थों के जमाव के कारण होता है।
  • हीट या गर्म महसूस होना – चोट की सूजन वाले प्रभावित भाग पर अधिक रक्‍त प्रवाहित होता है। इस कारण छूने पर यह भाग सामान्‍य से अधिक गर्म महसूस होता है।
  • प्रभावित हिस्से में सूजन, खिंचाव और त्‍वचा पर गर्माहट महसूस होना
  • ऐसी त्‍वचा जिसे दबाने पर कुछ देर के लिए डिंपल बरकरार रखे
  • कोहिनी, चेहरे और आंखों में सूजन (puffiness) आना
  • शरीर के प्रभावित अंगों का कठोर होना और जोड़ों में दर्द होना
  • आंत्र आदतों (bowel habits) में परिवर्तन

(और पढ़ें – चेहरे पर सूजन के लक्षण, कारण, इलाज और घरेलू उपचार)

चोट की सूजन आने के कारण –Chot ki sujan ke karan in Hindi

चोट की सूजन आने के कारण –Chot ki sujan ke karan in Hindi

शरीर में सूजन शारीरिक चोट या संक्रमण के कारण होती है। क्‍योंकि इस दौरान हमारा प्रतिक्षा तंत्र कोशिकाओं में क्षति का उपचार करता है। लेकिन शरीर में सूजन आने के अन्‍य कई कारण भी हो सकते हैं। संक्रमण भी सूजन का कारण बन सकता है लेकिन हर प्रकार की सूजन संक्रमण के कारण नहीं होती है। आइए जाने चोट की सूजन के कारण क्‍या हैं :

  • क्षतिग्रस्‍त क्षेत्र में रक्‍त की आपूर्ति करते समय धमतियों की छोटी शाखाएं बढ़ जाती है जिससे परिणामस्‍वरूप रक्‍त प्रवाह बढ़ जाता है।
  • इस दौरान तरल पदार्थ और प्रोटीन आदि का केशिकाओं (Capillaries) के अंदर जाना आसान हो जाता है। इसका मतलब यह है कि प्रोटीन और तरल पदार्थ रक्‍त और कोशिकाओं के बीच स्‍थानांतरित हो सकता है।
  • सूजन होने के दौरान हमारा शरीर न्‍यूट्रोफिल (neutrophils) रिलीज करता है। न्‍यूट्रोफिल एक प्रकार की सफेद रक्‍त कोशिका होती है जो छोटे थैलियों से भरी होती हैं। इसमें एंजाइम होते हैं जो सूक्ष्‍मजीवों को पचाते हैं।

चोट में सूजन के उपाय –Chot me sujan ke upay in Hindi

चोट में सूजन के उपाय –Chot me sujan ke upay in Hindi

मोच आने या चोट लगने पर आने वाली सूजन का तुरंत ही उपचार किया जाना चाहिए। अन्‍यथा समय गुजरने के साथ ही यह समस्‍या आपकी तकलीफ को बढ़ा सकती है। सूजन दूर करने के लिए ‘’PRICE’’  विधि का उपयोग किया जा सकता है।

PRICE को इस प्रकार समझा जा सकता है

P (Protection) –प्रोटक्‍शन या संरक्षण देना। इसका मतलब यह है कि आप अपनी चोट वाले स्‍थान को सुरक्षा प्रदान करें। इसके लिए आप एक बैल्‍ट या कपड़े की पट्टी को चोट वाले स्‍थान पर लपेटें और स्थिर रखें। साथ ही अपने चोट प्रभावित अंग को बार-बार न छुएं।

R (Rest) – चोट लगने के बाद प्रभावित हिस्से को पर्याप्‍त आराम दें। साथ ही सूजन होने की स्थिति में प्रभावित क्षेत्र को चलायमान न रखें।

I (Ice) – चोट लगने पर सूजन आने के दौरान आप जितनी जल्‍दी हो बर्फ की सिकाई लें। ऐसा करने से आपको सूजन और दर्द दोनों से राहत मिल सकती है।

C (Compress) –कंप्रेश या संपीड़न करना। यह विधि प्रभावित क्षेत्र की सूजन को कम करने में प्रभावी होती है। लेकिन आपको ध्‍यान रखना चाहिए कि चोट के स्‍थान को अधिक कसकर नहीं बांधना या दबाना चाहिए। क्‍योंकि अधिक ताकत से कंप्रेश करने पर यह रक्‍त प्रवाह अवरूद्ध कर सकता है।

E (Elevate) – एलिवेट करना यानि चोट प्रभावित हिस्‍से को ऊपर उठाना। यह विशेष रूप से पैरों में लगी चोट के लिए अधिक प्रभावी होती है। ऐसा करने पर यह तरल पदार्थ और रक्‍त के प्रवाह को बढ़ाता है जिससे सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है।

चोट की सूजन दूर करने के घरेलू उपाय – Home remedies for reducing swelling in Hindi

जाने अनजाने चोट लगने के कारण हमें सूजन का सामना करना पड़ सकता है। यह सूजन हमारे दैनिक जीवन और कार्य प्रणाली में बाधा बन सकती है। लेकिन चोट की सूजन को कम करने के घरेलू उपाय और नुस्‍खे भी मौजूद हैं। जिनका उपयोग कर आप सूजन के प्रभाव को कम कर सकते हैं। आइए जाने चोट की सूजन के घरेलू उपचार क्‍या हैं।

(और पढ़ें – पैरों की सूजन के घरेलू उपाय)

चोट की सूजन का इलाज ठंड़ा दबाव – Chot ki sujan ka ilaj Cold Compress in Hindi

चोट की सूजन का इलाज ठंड़ा दबाव – Chot ki sujan ka ilaj Cold Compress in Hindi

सामान्‍य चोट लगने पर शुरुआती 24 से 72 घंटों के बीच में ठंडा संपीड़न (Cold Compress) दिया जाना चाहिए। यह चोट की सूजन को कम करने का सबसे प्रभावी घरेलू नुस्‍खा है। ठंड़ा तापमान नसों और सूजन प्रभावित क्षेत्र पर एक आरामदायक प्रभाव प्रदान करता है।इसके अलावा ठंड़ा संपीड़न सूजन को कम करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है। ठंडी सिकाई करने के लिए किसी साफ कपड़ें में कुछ बर्फ के तुकड़े लें और 10 मिनिट तक चोट की सूजन प्रभावित क्षेत्र पर रखें। इस प्रक्रिया को हर 2 से 4 घंटों के बीच में दोहराते रहें।

(और पढ़े – चेहरे पर बर्फ लगाने के फायदे…)

चोट की सूजन का उपाय पर्याप्‍त आराम – Sufficient comfort reduces inflammation of injury in Hindi

चोट की सूजन का उपाय पर्याप्‍त आराम - Sufficient comfort reduces inflammation of injury in Hindi

चोट संबंधी सूजन को दूर करने का सबसे अच्‍छा तरीका इस दौरान पर्याप्‍त आराम करना है। इसलिए यदि चोट के कारण आपको सूजन आ गई है तो आप ज्‍यादा मेहनती काम न करें। साथ ही इस बात का विशेष ध्‍यान दें कि सूजन प्रभावित अंग को स्‍थानांतरित न करें। ऐसी स्थिति में कम से कम 2 से 3 दिनों तक अपने शरीर को आराम दें। ऐसा करना सूजन कम करने के प्राकृतिक तरीके में से एक है।

(और पढ़ें – थकान दूर करने के उपाय)

चोट लगने पर सूजन का इलाज है अदरक – Chot lagne par sujan ka ilaj hai Ginger in Hindi

चोट लगने पर सूजन का इलाज है अदरक – Chot lagne par sujan ka ilaj hai Ginger in Hindi

रसोई घर में मौजूद अदरक चोट की सूजन को कम करने का आयुर्वेदिक इलाज माना जाता है। अदरक में जिंजरोला (gingerol) नामक यौगिक होता है। अदरक में एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-इन्‍फ्लामेट्री गुण होते हैं जो सूजन और दर्द से राहत दिलाते हैं। अदरक का उपयोग शरीर में रक्‍त परिसंचरण को भी बेहतर बनाता है। सूजन को ठीक करने के लिए बारीक कटा हुआ 1 चम्‍मच अदरक2 कप उबलते पानी में डालें और 10 मिनिट तक पकाएं। इस मिश्रण में थोड़ी मात्रा मे शहद डालकर पिये। एक दिन में 2 से 4 कप अदरक की इस चाय का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा आप अदरक के तेल से सूजन प्रभावित भाग की मालिश भी कर सकते हैं। इसे प्रतिदिन 2-3 बार करें। अधिक प्रभावी बनाने के लिए आप इसमें नारियल या जैतून के तेल को भी मिला सकते हैं।

(और पढ़े – अदरक के तेल के फायदे और नुकसान…)

सूजन दूर करने का नुस्‍खा गर्म तेल मालिश – Sujan dur karne ka nuskha Warm Oil Massage in Hindi

सूजन दूर करने का नुस्‍खा गर्म तेल मालिश – Sujan dur karne ka nuskha Warm Oil Massage in Hindi

चोट लगने पर शरीर में आने वाली फूलन या सूजन को कम करने के लिए गर्म तेल की मसाज लाभकारी होती है। यह एक प्रभावी और प्रमाणित घरेलू नुस्‍खा है जो आसानी से सूजन कम कर सकता है। प्रभावित क्षेत्र की मालिश करने से यह मांसपेशियों के दर्द को भी ठीक करता है। इसके लिए आप सरसों के तेल का उपयोग करें। पहले आप सरसों के तेल को हल्‍का गर्म करें और फिर प्रभावित क्षेत्र में लगाते हुए हल्‍की मालिश करें। अच्‍छे परिणाम प्राप्‍त करने के लिए आप इस विधि को दिन में 3 से 4 बार दोहरा सकते हैं।

(और पढ़ें – सरसों के तेल की मालिश के फायदे)

चोट मोच सूजन का इलाज हल्‍दी – Chot Moch sujan ka ilaj Turmeric in Hindi

चोट मोच सूजन का इलाज हल्‍दी – Chot Moch sujan ka ilaj Turmeric in Hindi

प्राचीन समय से ही हल्‍दी का उपयोग घाव और चोट आदि के उपचार के लिए किया जा रहा है। आप हल्‍दी का इस्‍तेमाल चोट की सूजन से छुटकारा पाने के लिए भी कर सकते हैं। हल्‍दी में दर्द और सूजन कम करने वाले गुण होते हैं। टरमरिक सूजन कम करती है क्‍योंकि इसमें करक्‍यूमिन होता है जो कि एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-इंफ्लामेटरी गुणों से भरपूर होता है। चोट की सूजन कम करने के लिए आप हल्‍दी वाले दूध का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा आप नारियल के तेल में हल्‍दी पाउडर को मिलाकर एक पेस्‍ट बनाएं और इसे प्रभावित क्षेत्र में लगाएं। जब लेप सूख जाए तब गुनगुने पानी से इसे धो लें। आप इस उपाय को दिन में 3 से 4 बार दोहरा सकते हैं।

(और पढ़ें – हल्‍दी का पानी पीने के फायदे और नुकसान)

चोट और घाव के सूजन को कम करे विनेगर – Chot ki sujan kam kare Vinegar in Hindi

चोट और घाव के सूजन को कम करे विनेगर – Chot ki sujan kam kare Vinegar in Hindi

सेब का सिरका प्रकृति में क्षारीय होता है जिसमें एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। इस कारण चोट की सूजन को दूर करने के लिए सेब के सिरका का उपयोग किया जाता है। चोट की सूजन का उपचार करने के लिए आप सेब के सिरका और पानी की बराबर मात्रा लें और इसे गर्म करें। इसके बाद किसी सूती कपड़े को इस गुनगुने मिश्रण में भिगोएं। फिर इस कपड़े को सूजन प्रभावित क्षेत्र में अच्‍छी तरह लपेटें। सूजन से छुटकारा पाने के लिए आप इस विधि का दिन में 2 से 3 बार उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़ें – एप्पल साइडर विनेगर करेगा स्किन से जुड़ी परेशानियों को दूर)

सूजन कम करने का उपाय आलू का रस – Potato juice for swelling home remedy in Hindi

सूजन कम करने का उपाय आलू का रस – Potato juice for swelling home remedy in Hindi

चोट की सूजन के घरेलू उपचार में आलू के जूस का उपयोग किया जा सकता है। मध्‍यम आकार के आलू को पतले-पतले स्‍लाइस में काटे और सूजन प्रभावित जगहों पर इन आलूओं को लगाएं। आधा घंटें के बाद आप इसे साफ पानी से धो लें। आवश्‍यकता होने पर आप इसे फिर से दोहरा सकते हैं। यह आपके शरीर की सूजन को कम करने में मदद करेगा।

(और पढ़ें – कच्चे आलू का 1 गिलास जूस, स्किन और बालों के लिए है फायदेमंद)

चोट के कारण सूजन का इलाज अधिक पानी – More Drink Water for swelling treatment in Hindi

चोट के कारण सूजन का इलाज अधिक पानी - More Drink Water for swelling treatment in Hindi

यदि आपको चोट लगने के कारण सूजन है तो आपको तुरंत ही इसका उपचार करना चाहिए। साथ ही आप सूजन दूर करने के घरेलू उपाय के रूप में पर्याप्‍त पानी का सेवन करें। सूजन होने की स्थिति में आपको सामान्‍य रूप से 10 से 12 गिलास पानी पीना चाहिए। क्‍योंकि शरीर में पानी की कमी भी चोट की सूजन को बढ़ा सकती है। इसलिए चोट की सूजन के प्रभाव और लक्षण को दूर करने के लिए आप अधिक मात्रा में पानी पीना सुनिश्चित करें।

(और पढ़ें – क्या आप जानतें है आपको रोज कितना पानी पीना चाहिए)

चोट की सूजन का इलाज कम नमक खाएं – Chot ki sujan ka ilaj kam salt khaye in Hindi

चोट की सूजन का इलाज कम नमक खाएं – Chot ki sujan ka ilaj kam salt khaye in Hindi

शरीर के किसी हिस्‍से में घाव या चोट होने की स्थिति में नमक का सेवन कम कर देना चाहिए। क्‍योंकि नमक का अधिक सेवन करने पर यह कोशिकाओं के आसपास के क्षेत्रों से तरल पदार्थ के बाहर निकलने का माध्‍यम बन सकता है। इसलिए आपको इस बात का विशेष ध्‍यान देना चाहिए कि चोट की सूजन होने पर आप अपने भोजन में नमक की बहुत ही कम मात्रा का सेवन करें।

(और पढ़े – सेंधा नमक के फायदे गुण लाभ और नुकसान…)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration