बच्चों में पेट दर्द के लिए घरेलू उपचार – Home Remedies For Stomach Pain In Kids In Hindi

बच्चों में पेट दर्द के लिए घरेलू उपचार - Home Remedies For Stomach Pain In Kids In Hindi
Written by Anamika

छोटे बच्चों में पेट का दर्द एक आम बात है। दर्द तो वैसे पेट के आसपास के हिस्सों से ही शुरू होता है लेकिन यह बच्चे के सीने और पेड़ू(groin) तक पहुंच जाता है। चूंकि बच्चों का पेट दर्द सामान्य होता है इसलिए बहुत चिंता करने की बात नहीं होती है। डॉक्टरों का मानना है कि बच्चों में फूड प्वाइजनिंग, कई दिनों तक शौच न करने, संक्रमित दूध, बदहजमी और अपच के कारण पेट दर्द होता है। चूंकि बच्चों में पेट दर्द के कारण गंभीर नहीं होते हैं इसलिए कुछ घरेलू उपायों से इन्हें आसानी से ठीक किया जा सकता है। इस लेख में हम आपको बच्चों में पेट दर्द के कारण, लक्षण और इलाज के घरेलू उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं।

  1. बच्चों में पेट दर्द के कारण – Causes of Stomach Ache in Kids in Hindi
  2. बच्चों में पेट दर्द के लक्षण – Symptoms of Stomach Pain in Kids in Hindi
  3. बच्चों में पेट दर्द का घरेलू इलाज – home treatment for stomach pain in kids in Hindi
  4. बच्चों में पेट दर्द का घरेलू इलाज दही – Yogurt for stomach pain in kids in Hindi
  5. बच्चों का पेट दर्द होने पर करें गर्म सिंकाई – Warm compression for stomach pain in kids in Hindi
  6. बच्चों में पेट दर्द के लिए घरेलू उपचार कैमोमाइल टी – Chamomile tea Bachcho mein Pet Dard ka gharelu ilaj in Hindi
  7. पेट दर्द ठीक करने के लिए बच्चे को आउटडोर एक्टिविटी कराएं – Outdoor Activities for stomach pain in kids in Hindi
  8. बच्चों के पेट दर्द का घरेलू उपचार बेकिंग सोडा – Baking soda Bachcho mein Pet Dard ka gharelu ilaj in Hindi
  9. बच्चों के पेट दर्द की आयुर्वेदिक दवाई हींग – Asafoetida for stomach pain in kids in Hindi
  10. बच्चे का पेट दर्द होने पर केला खिलाएं – Bananas for stomach pain in kids in Hindi

बच्चों में पेट दर्द के कारण – Causes of Stomach Ache in Kids in Hindi

बड़ों की अपेक्षा बच्चों का पेट दर्द काफी अलग होता है। यह कुछ ही समय में अपने आप ठीक हो जाता है या कभी-कभी लंबे समय तक बना रहता है। बच्चों में पेट दर्द के एक नहीं बल्कि कई कारण होते हैं। आइये जानते हैं इनमें से कुछ मुख्य कारणों के बारे में।

  • दूध में प्रोटीन मौजूद होता है जो बच्चों में कभी कभी एलर्जिक रिएक्शन पैदा कर देता है जिसके कारण पहले उल्टी और डायरिया होता है और बच्चे के पेट में दर्द होने लगता है।
  • भोजन में फाइबर की कमी होने पर बच्चों के पेट में कब्ज बन जाता है जिसके कारण दर्द होता है।
  • बच्चे के यूरिन में इंफेक्शन होने के कारण भी बच्चे का पेट दर्द करता है।
  • यदि बच्चा घर में अधिक डरा सहमा रहता है तो पेट दर्द हो सकता है।
  • बच्चे के पेट में अपेंडिसिटिस होने पर पेट में दर्द होता है।
  • बच्चे की आंत में समस्या होने पर पेट दर्द शुरू हो सकता है।

(और पढ़ें – खाने के बाद पेट में दर्द होने के कारण और वचाव के तरीके)

बच्चों में पेट दर्द के लक्षण – Symptoms of Stomach Pain in Kids in Hindi

देखा गया है कि बच्चे के पेट में दर्द होने पर वह सबसे पहले रोना शुरू करता है और कराहता है।

आइये जानते हैं कि बच्चों में पेट दर्द के लक्षण क्या हैं-

  • पेट में गैस या संक्रमण होने पर यह बहुत जल्द ही ठीक हो जाता है लेकिन पेट दर्द की अवधि 24 घंटे से अधिक समय की हो सकती है।
  • बच्चे की स्थिति जैसे चेहरा पीला पड़ना, पसीना या बहुत घबराहट होना जैसे लक्षण देखकर पता लगाया जा सकता है कि उसे पेट दर्द है।
  • बच्चे को बार बार बुखार आना गंभीर स्वास्थ्य समस्या का संकेत है लेकिन पेट दर्द के कारण भी बुखार होता है।
  • बच्चे को वायरल इंफेक्शन और डायरिया हो तो यह पेट दर्द का लक्षण है।
  • यदि बच्चे की त्वचा पर दाने निकल आए हों या पेशाब में संक्रमण हो तो यह पेट दर्द के लक्षण हैं।

(और पढ़ें – अगर आपको भी पेट फूलने की समस्या है तो अपनाएं इन टिप्स को )

बच्चों में पेट दर्द का घरेलू इलाज – home treatment for stomach pain in kids in Hindi

अगर बच्चे का पेट दर्द कई दिनों तक ठीक न हो, तभी उसे डॉक्टर के पास ले जाना चाहिए। लेकिन यदि बच्चे को बहुत सामान्य पेट दर्द हो रहा हो तो पहले घर पर ही इलाज करना चाहिए। आइये जानते हैं बच्चों में पेट दर्द के घरेलू इलाज क्या हैं।

बच्चों में पेट दर्द का घरेलू इलाज दही – Yogurt for stomach pain in kids in Hindi

माना जाता है कि डेयरी उत्पाद बच्चों में पेट दर्द से छुटकारा दिलाने के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं लेकिन दही इनमें से सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। दही में हेल्दी बैक्टीरिया पाये जाते हैं जो पेट दर्द के इलाज में लाभदायक होते हैं। दही बच्चों के पेट में अच्छे बैक्टीरिया(good bacteria) की संख्या बढ़ाता है और पाचन को बेहतर बनाता है जिसके कारण पेट दर्द ठीक हो जाता है।

(और पढ़ें – खराब पेट को ठीक करने के घरेलू उपाय )

बच्चों का पेट दर्द होने पर करें गर्म सिंकाई – Warm compression for stomach pain in kids in Hindi

छोटे बच्चों को पेट दर्द होने पर मांएं अक्सर परेशान हो जाती हैं। जब भी आपके बच्चे का पेट दर्द करे तो घबराने की बजाय गर्म पानी को बोतल में भरकर इसे कपड़े में लपेटकर बच्चे के पेट की सिंकाई करनी चाहिए। इससे पेट के सतह की त्वचा में खून का प्रवाह बढ़ता है और पेट के दर्द से राहत मिलती है। लेकिन यह सावधानी बरतें कि गर्म पानी की बॉटल मोटे कपड़े में लपेटकर ही बच्चे के पेट पर घुमाएं अन्यथा पेट जल सकता है। दिन में तीन बार यह प्रक्रिया दोहराने से बच्चे को जल्दी आराम मिलता है।

(और पढ़ें – गर्म पानी से नहाने के फायदे और नुकसान )

बच्चों में पेट दर्द के लिए घरेलू उपचार कैमोमाइल टी – Chamomile tea Bachcho mein Pet Dard ka gharelu ilaj in Hindi

कैमोमाइल ऊपरी पाचन तंत्र की मांसपेशियों को आराम देता है और पेट एवं छोटी आंत के माध्यम से भोजन को स्थानांतरित करने वाले संकुचन(contractions) को आसान बनाता है, जिसके कारण पेट की ऐंठन कम होती है और दर्द ठीक हो जाता है। कैमोमाइल टी में एंटी इंफ्लैमेटरी गुण पाया जाता है जो अन्य प्रकार की चाय के बजाय प्रभावी तरीके से कार्य करता है, इसलिए बच्चे के पेट में दर्द होने पर उसे ब्लैक टी या ग्रीन टी पिलाने की बजाय दिन में तीन बार कैमोमाइल टी पिलाना चाहिए।

(और पढ़ें –हर्बल टी लिस्ट, बनाने की विधी)

पेट दर्द ठीक करने के लिए बच्चे को आउटडोर एक्टिविटी कराएं – Outdoor Activities for stomach pain in kids in Hindi

कुछ माता पिता अपने बच्चों को घर के बाहर खेलने नहीं जाने देते हैं। आउटडोर एक्टिवटी से दूर रहने और पूरे दिन घर में बंद रहने के कारण बच्चे के पेट में कब्ज तेजी से बनता है और भोजन के बाद उसे अपच की समस्या हो जाती है। इसलिए जब बच्चे का पेट दर्द करे तो उसे तैरने, खेलने, टहलने और साइकिल चलाने के लिए बाहर भेजें। इससे गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट उत्तेजित होता है और बच्चे का पेट दर्द ठीक हो जाता है।

(और पढ़ें – कब्ज के कारण और इलाज)

बच्चों के पेट दर्द का घरेलू उपचार बेकिंग सोडा – Baking soda Bachcho mein Pet Dard ka gharelu ilaj in Hindi

इसे प्राकृतिक पाचक माना जाता है जो बच्चों के पेट दर्द को दूर करने में प्राचीन समय से ही इस्तेमाल होता आ रहा है। एक गिलास गुनगुने पानी में आधा चुटकी बेकिंग सोडा मिलाएं और घुलने के बाद बच्चे को पिलाएं। पेट दर्द से राहत मिल जाएगी। यदि दर्द तेज हो तो दिन में दो बार यह प्रक्रिया अपनाएं।

बच्चों के पेट दर्द की आयुर्वेदिक दवाई हींग – Asafoetida for stomach pain in kids in Hindi

बच्चों में पेट दर्द की समस्या से छुटकारा दिलाने में हींग अद्भुत तरीके से काम करता है। यह पेट के गैस को शरीर से बाहर निकालता है और पेट दर्द को गायब कर देता है। बच्चे का पेट दर्द होने पर हींग को जरा सा पानी में घोलकर इस पेस्ट को बच्चे के पेट के ऊपर लेप की तरह लगाएं।जब आप बच्चे के पेट पर लेप लगाएं तब बच्चा क्षैतिज पोजीशन(horizontal position) में लेटा हुआ होना चाहिए और हींग उसकी नाभि में नहीं जाना चाहिए। आप चाहें तो हींग पाउडर को ऑलिव ऑयल में मिलाकर बच्चे के पेट पर मसाज करें, दर्द ठीक हो जाएगा।

(और पढ़ें – हींग के फायदे उपयोग स्वास्थ्य लाभ और नुकसान)

बच्चे का पेट दर्द होने पर केला खिलाएं – Bananas for stomach pain in kids in Hindi

बच्चों के पेट की आंत ज्यादा मजबूत नहीं होती है इसलिए भारी भोजन करने पर उनका पेट दर्द होने लगता है। यदि बच्चे को पेट दर्द हो तो  उसे केला खिलाना चाहिए। केला में पेक्टिन होता है जो आंतों को प्राकृतिक रूप से मजबूत बनाता है और आसानी से पच जाता है और पेट दर्द से छुटकारा दिलाता है। केले में पोटैशिय प्रचुर मात्रा में होता है इसलिए बच्चे को अधिक केला न खिलाएं अन्यथा उसे उल्टी हो सकती है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration