नाशपाती के फायदे गुण लाभ और नुकसान – Pears (Nashpati) Benefits and Side Effects in hindi

नाशपाती के फायदे गुण लाभ और नुकसान - Pears (Nashpati) Benefits and Side Effects in hindi
Written by Jaideep

Nashpati Ke Fayde aur Nuksan in hindi नाशपाती एक ऐसा फल है जिससे सभी लोग परिचित तो होते है, लेकिन उन्हें नाशपाती के फायदे पता नहीं होते है इसलिए आज हम आपको इसके उन गुणों के बारे में बताने जा रहे है जिन्हें जानकर आप इसे खाएं बिना नहीं रह पायेंगे। आप भले ही इसे एक साधारण फल के रूप में जानते हों पर इसमें इतने सारे औषधीय गुण होते जो सीधे आपके स्वास्थ्य पर प्रभाव डालते है। अगर आपको यह पता नहीं तो चलिए हम आपको इसके बारे में बताते है आइये जानते है नाशपाती के फायदे और नाशपाती के नुकसान के बारे में।

जैसा की हम जानते गर्मीयों का मौसम आते ही हमें शीतल पेय की जरूरत का अनुभव होने लगता है। नाशपाती हमारे शरीर में पानी की कमी को कम करता है साथ ही साथ इसमें बहुत से औषधीय गुण भी उपलब्‍ध होते है जो हमे शारीरिक और मानसिक रूप से फायदा पहुंचाते है।

1. नाशपाती में पाये जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients Present in pears in hindi
2. नाशपाती के फायदे – Nashpati Ke Fayde in hindi

3. नाशपाती के नुकसान – Nashpati Ke Nuksan in hindi

नाशपाती में पाये जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients Present in pears in hindi

यह अपने ला जबाव स्‍वाद के साथ कई औषधीय गुणों को अपने में समेटे हुए है, नाशपाती में मौजूद आर्गेनिक पोषक तत्व विटामिन और खनिज हमारे बेहतर स्‍वास्‍थ के लिए आवश्यक होते है। इसमें कुछ प्रभावकारी और सक्रीय घटक जैसे पोटेशियम, फिनालिक कंपाउंड, फोलेट, फाइबर, तांबा, मैंगनीज, विटामिन-C, विटामिन-K, विटामिन बी-कॉम्‍प्‍लेकस, एंटीऑक्सिडेंट, फ़िटेनियोटेंट्स, फ्लेवोनोइड्स, के साथ फाइबर जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते है पोषक तत्वों का अच्छा स्रोत होने के कारण यह कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है

नाशपाती के फायदे – Nashpati Ke Fayde in hindi

नाशपाती के फायदे - Nashpati Ke Fayde in hindi

नाशपाती के फायदे गर्भावस्था में – Benefits of eating pears during pregnancy in hindi

गर्भावस्था के समय महिलाओं को अपने और अपने बच्‍चे के स्‍वास्‍थ के लिए जरूरी आहार लेना आवश्‍यक हो जाता है, ऐसे में नाशपाती एक अच्‍छा विकल्‍प होता है। गर्भावस्था के समय नाशपाती का नियमित सेवन करने से स्‍तनपान के समय आने वाली परेशानियों से बचा जा सकता है। इसमें कई ऐसे पोषक तत्‍व है जो बच्‍चों के समग्र विकास के लिए आवश्यक है जो मां और बच्चे दोनों को पर्याप्त ऊर्जा उपलब्ध कराते है। नाशपाती में फोलिक एसिड (Folic acid) पाया जाता है जो न्‍यूरल टयृब जैसे दोषों को दूर करता है

नाशपाती के गुण कब्ज दूर करने में लाभकारी – Nashpati Ke Fayde for Constipation in hindi

अगर आप कब्ज की समस्या से परेशान है तो नाशपाती का नियमित उपयोग करने से आपको कब्ज से राहत मिल सकती है क्योंकि इसमें पेक्टिन (Pectin) नामक पदार्थ होता है जो हमारे पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। इसलिए पाचन तंत्र को ठीक रखने और कब्ज से बचने के लिए आप नाशपाती का सेवन करें

नाशपाती के फायदे वजन कम करने के लिए – Pears benefits weight loss in hindi

क्‍या आप मोटापा से परेशान है और उसके लिए किसी प्रकार डाइट प्‍लान या व्‍यायाम कर रहे है तो उसमें नाशपाती को शामिल कर लीजिए यकीन मानिये ये आपके बढते हुए बजन को कंट्रोल करने में आपकी बेहद मदद करने वाला है क्‍योकि एक नाशपाती में केवल १०० से ११० कैलोरी होती है इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है। जब आप वजन कम करने की सोच रहे है तो भूख लगने पर एक नाशपाती खाएं जो आपकी भूख को शांत करने के साथ आपके वजन पर नियंत्रण रखेगा। यह स्वस्थ वजन के साथ ही साथ ह्दय रोगों के खतरों को भी कम करता है।

नाशपाती के लाभ मुँहासों के लिए – Pears Good For Acne in hindi

मुँहासे एक सुंदर चेहरे को किस प्रकार से प्रभावित कर सकता है यह आप जानते ही है। नाशपाती का उपयोग करके आप इनसे छुटकारा पा सकते है। नाशपाती में उच्च श्रेणी के विटामिन और खनिज उपलब्‍ध होते है जो त्‍वचा में उपस्थित ऐसिड को नष्‍ट करने और त्‍वचा के पीएच संतुलन बनाने का कार्य करते है। नाशपती का जूस शरीरी में मौजूद बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करने में मदद करता है। और प्रोटीन और वसा के पाचन में सहायता करता है इससे शरीर को शुद्ध करने में मदद मिलती है और विषाक्‍त पदार्थो के निर्माण को रोकने में भी मदद मिलती है

(और पढ़े – मुहांसे दूर करने के लिए चेहरे पर भाप लेने के फायदे)

नाशपाती के फायदे कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए – Pears Benefits for Lower Cholesterol in hindi

कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना ह्रदय रोग का खतरा पैदा करता है नाशपाती का उपयोग हृदय रोगी के लिए बेहद लाभदायक होता है। नाशपाती में फाइबर अधिक मात्रा में होता है जो कोलेस्‍ट्रोल को कम करने में सहायक होती है नाशपाती के छिल्‍को में पेक्टिन होता है जो कॉलेस्‍ट्रोल को कम करता है इसलिए नाशपाती के छिल्‍के के साथ खाने की सलाह दी जाती है। कई अध्‍ययनों में यह पाया गया है कि यदि हम भोजन में फाइबर की उचित मात्रा का सेवन करे तो यह हमारे शरीर से अतिरिक्त कोलेस्‍ट्रोल को कम कर देता है ।

नाशपाती में उपलब्ध फाइबर प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत कर आंतों की सूजन को नियंत्रित करता है और हृदय रोग, मधुमेह, कैंसर और मोटापे, सूजन आदि से संबंधित खतरों को कम करने में सक्षम है।

नाशपाती के औषधीय गुण मधुमेह के लिए – Pears Good for Diabetes in hindi

अगर आपको मधुमेह या शुगर है तो आप नाशपाती का सेवन करें, हो सकता है आपके डॉक्‍टर भी आपको यही सलाह दें क्‍योंकि नाशपाती में कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी दोनों ही कम मात्रा में होते है। कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी का नियंत्रित सेवन खून में शुगर स्‍तर को संतुलित रखने में मदद करता है । खून में शर्करा की मात्रा अधिक होने से मधुमेह रोग से ग्रसित होने की संभावना बढ़ जाती है। नाशपाती का उपयोग हम स्‍वादिष्‍ट औषधी के रूप में कर सकते है आप इसका उपयोग अपनी सुविधा और रुचि के अनुसार कर सकते बस ध्‍यान रखे कि उसमें मिलाए जाने वाले खाद्य चीनी और वसा मुक्‍त हो।

नाशपाती फल के फायदे पथरी को नष्ट करने में – Pears for Kidney Stones in hindi

नाशपाती उन व्यक्तियों के लिए लाभकारी फल है जो पेट होने वाली पथरी के रोग से पीडित है। कैल्शियम ऑकसलेट गुर्दा के पत्‍थरों को विकसित करता है ऐसी स्‍थती में नाशपाती के पाऐ जाने वाला मैलिक ऐसिड गैस्‍ट्रोथोन को रोकने में मदद करता है, जिससे पित्‍ताशय में बनी पथरी मैलिक ऐसिड से धीरे-धीरे घुलने लगती है। इसलिए पथरी से ग्रसित व्यक्ति को उन खाद्य पदार्थो से बचना चाजिए जिनमें ऑकसलेट बहुत अधिक मात्रा में हो। आप गुर्दे की पथरी के लिए नाशपाती का उपयोग कर सकते है क्‍योंकि इसमें ऑक्‍सलेट की मात्रा बहुत कम होती है।

(और पढ़े – पथरी होना क्या है? (किडनी स्टोन) पथरी के लक्षण, कारण और रोकथाम)

नाशपाती के फायदे ऑयली स्किन के लिए – Pears benefits for Oily Skin in hindi

यदि आपकी त्‍वचा तैलीय है और आप इससे छुटकारा चाहते है तो आप नाशपाती का उपयोग कर सकते है। आप एक पका हुए नाशपाती को मसल कर उसमें आधा चम्‍मच शहद और एक बडा चम्‍मच क्रीम का महीन मिश्रण तैयार करके उसे अपने चेहरे और गर्दन पर लगाकर बीस से पच्‍चीस मिनिट तक रहने दें। ये मिश्रण आपकी की त्‍वचा में उपलब्‍ध तेल को अवशोषित कर बाहर निकालने में आपकी मदद करेगा।

नाशपाती खाने के फायदे गले की खराश को ठीक करने के लिए – Nashpati for Sore Throat in hindi

गले में खराश होने की स्थिति में आप नाशपाती का उपयोग कर सकते है क्‍योंकि यह आपके गले की सूजन और उसमें होने वाली जलन को दूर करता है। आप नाशपाती के साथ थोडा शहद का उपयोग कर सकते है। नाशपाती गले से सं‍बंधित रोगो के उपचार के लिए अधिक उपयोगी होता है, ऐसी स्थिति में आप दिन में दो बार नाशपाती के जूस का उपयोग कर सकते है। (और पढ़े – गले की खराश को ठीक करने के घरेलू उपाय)

नाशपाती के फायदे पेट की खराबी में – Pear fruit benefits for Upset Stomach in hindi

बहुत से लोग पेट की खराबी से परेशान रहते है, साथ ही साथ वे मतली और उल्‍टी से परेशान रहते है। ऐसी स्थिति में नाशपाती का सेवन करने से उन्‍हें इन परेशानियों से निजात मिल सकती है। (और पढ़े – खराब पेट को ठीक करने के घरेलू उपाय)

नाशपाती के लाभ बालों के लिये – Pears benefits for Hairs in hindi

जब भी बालों के पोषण की बात आती है तो नाशपाती को छोड़ा नही जा सकता। नाशपाती स्‍वस्‍थ्‍य और पोषित बालों को बनाने की क्षमता रखता है। क्‍योंकि नाशपाती में ‘शर्बिटोल’ या ‘ग्‍लूसिटोल’ नामक एक प्राकृतिक एलकोहल पाया जाता है जो बालों की जड़ो में जाकर बालों को मजबूत करता है और इन्‍हें स्‍वस्‍थ रखता है। यदि आप के बालों से चमक जा चुकी है तो आप चिंतित ना हो नाशपाती आपके बालों की चमक बापस लाने में आपकी मदद करेगा, आपको सिर्फ एक पका हुआ नाशपाती, सेब का सिरका और दो बडे चम्‍मच पानी को मिलाकर अपने बालों में लगाना है जिससे आपके बालों में नई चमक आजाएगी।

नाशपाती के नुकसान – Nashpati Ke Nuksan in hindi

नाशपाती के नुकसान – Nashpati Ke Nuksan in hindi

ऊपर आपने जाना की नाशपाती के फायदे गुण लाभ अनेक है फिर भी नाशपाती बेशक हमारे लिए बहुत उपयोगी फल है पर स्वाभाविक है कि इसमें गुण है तो दोष भी होगे, लेकिन आपको बता दे कि अभी तक नाशपाती के सेवन से कोई दुष्‍प्रभाव की जानकारी नहीं मिली है। वैसे तो नाशपाती खाने की कोई उम्र या सीमा नही है मतलब बच्‍चा या बुजुर्ग कोई भी व्‍यकित इसका सेवन कर सकता है। पर फिर भी हमें नाशपाती का सेवन करते समय कुछ सावधानियां रखना जरूरी होता है।

• नाशपाती का सेवन करने से पहले यह देख ले कि नाशपाती सही तरह से पका है या नही।
• बाजार से नाशपाती खरीदते समय अच्‍छे से देखकर, छूकर ही लें क्‍योकि वे पकने पर अपना रंग नहीं बदलते।
• नाशपाती को ठंडे स्‍थान पर स्‍टोर करना चाहिए।
• नाशपाती का सेवन करने से पहले उसे घोकर उपयोग करना चाहिए साथ साथ ही उसके छिल्‍के नहीं उतारना चाहिए क्योंकि इसमें पोषक तत्व अधिक मात्रा उपलब्ध होते है
• एक बार नाशपाती को काटने के बाद, ऑक्सीकरण के कारण नाशपाती भूरे रंग में तेजी से बदलने लगता हैं। इसलिए इसका सेवन काटने के बाद तुरंत ही करें।
• काटने के बाद ऑक्सीकरण के कारण नाशपाती के भूरे रंग को रोकने के लिए, इसके टुकड़ों में कुछ नींबू का रस लगा सकते है।
• अगर आपको नाशपाती के सेवन के बाद पेट में दर्द या सुजन का अनुभव होता है तो इसका उपयोग ना करें।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration