अरंडी के तेल के फायदे कब्ज के लिए - Castor Oil For Constipation in Hindi - Healthunbox
घरेलू उपाय

अरंडी के तेल के फायदे कब्ज के लिए – Castor Oil For Constipation in Hindi

अरंडी के तेल के फायदे कब्ज के लिए - Castor Oil For Constipation in Hindi

कैस्टर ऑयल या अरंडी का तेल अनेक प्रकार के औषधीय गुणों से भरा हुआ है। इसका इस्तेमाल स्किन पर, बालों पर और खाने के लिए भी किया जा सकता है। यदि आप पेट से जुड़ी किसी भी प्रकार की समस्या से परेशान है तो हम आपको अरंडी के तेल के फायदे कब्ज के लिए बताएंगे।

अरंडी का तेल बेस्वाद और गंधहीन वनस्पति तेल है जिसे अरंडी के पौधे के बीजों को दबाकर निकाला जाता है, इसे वैज्ञानिक रूप से रिकिनस कम्युनिस (Ricinus communis) के रूप में जाना जाता है।

कैस्टर ऑयल में प्राकृतिक एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं जो विभिन्न प्रकार के संक्रमणों की रोकथाम में मदद करते हैं। इस तेल का उपयोग आमतौर पर दवाओं, स्किनकेयर प्रोडक्ट्स और शैंपू में भी किया जाता है।

अरंडी का तेल गठिया, मासिक धर्म संबंधी विकार, कब्ज और पेट से जुड़ी कई समस्याओं के साथ-साथ महिला संबंधी समस्याओं के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है। आइये अरंडी के तेल के फायदे पेट के लिए विस्तार से जानते है।

विषय सूची

कब्ज होने के लक्षण – symptoms of constipation in Hindi

कब्ज होने के लक्षण – symptoms of constipation in Hindi

पेट में कब्ज होने पर कई तरह की परेशानियां उत्पन्न होने लगती हैं। मल कठोर (hard stool) होना या मल त्यागने में परेशानी एवं पेट साफ न होना कब्ज होने का मुख्य लक्षण है। इसके अलावा पेट में दर्द, पेट में ऐंठन, पेट फूलना और घबराहट होना एवं लंबे समय तक भूख न लगना भी पेट में कब्ज होने के लक्षण हैं।

कब्ज क्यों होता है – Constipation kyu hota hai in Hindi

कब्ज क्यों होता है – Constipation kyu hota hai in Hindi

लोगों को कब्ज होना एक आम समस्या है, जो अक्सर आहार और जीवन शैली की वजह से होती है। कुछ खाद्य पदार्थ खाने से या खाने में परिवर्तन करने से मल त्याग की आवृत्ति में सुधार करने में मदद मिल सकती है। चिकित्सा भाषा में मल त्याग या मल पास करने में कठिनाई होना कब्ज कहलाता है। जिन लोगों को कब्ज की परेशानी होती है, उनमें विभिन्न तरह के मल के प्रकार देखे जा सकते है, जैसे-  कठोर, सूखा या गांठदार मल निकलना,  छोटे पत्थर या पत्थर जैसे दिखने वाले मल निकलना, मल त्याग के समय बहुत अधिक दर्द और तकलीफ होना, आंत्र को पूरी तरह से खाली ना कर पाने की भावना, पेट भरे होने का एहसास होने के कारण भूख में कमी थोड़ा सूजा हुआ पेट लगना आदि। हर किसी की मल त्याग की आदतें अलग-अलग होती हैं, लेकिन आमतौर पर प्रति सप्ताह तीन से कम मल त्याग होना कंब्ज होता है।

अरंडी का तेल कब्ज में किस प्रकार से लाभदायक है – How does castor oil work for Constipation in Hindi

अरंडी का तेल कब्ज में किस प्रकार से लाभदायक है - How does castor oil work for Constipation in Hindi

अरंडी के तेल में रिसिनोलिक एसिड (Ricinoleic Acid) मौजूद होता है जिसमें प्राकृतिक पेट को साफ करने के गुण होते है।

कैस्टर ऑयल एक स्टिमुलेट लैग्जेटिव (stimulant laxative) है। अमेरिकन एकेडमी ऑफ फैमिली फिजिशियन के अनुसार, स्टिमुलेट लैग्जेटिव का काम आंत्र को हिलाना, निचोड़ना और संकुचन करना होता है।

इसका मतलब है कि जब कोई व्यक्ति कैस्टर ऑयल पीता है, तो यह आंत्र को अधिक मूव करने के लिए उत्तेजित करता है। यह मूवमेंट मल को आंत और मलाशय के बाहर करने के लिए प्रोत्साहित करती है।

लेकिन ध्यान रखें कि लंबे समय तक अरंडी का तेल रेगुलर इस्तेमाल आपके अंततः आंत्र की मांसपेशियों को ठीक से काम करने से रोक सकता है। इसलिए केवल अरंडी के तेल को कब्ज से राहत के रूप में उपयोग करें, न कि मल को नरम करने के लिए।

स्टूल (Stool) को सॉफ्ट बनाने के लिए आप अन्य प्राकृतिक उपाय जैसे कि जैतून का तेल आदि का उपयोग करने का प्रयास करें।

अरंडी का तेल कब्ज से राहत दे सकता है, हालांकि यह एक दुष्प्रभाव के रूप में मतली और उल्टी भी पैदा कर सकता है। कब्ज के लिए अरंडी का तेल लेने वाले किसी भी व्यक्ति को सतर्क रहना चाहिए, क्योंकि यह संभव है कि वे मिचलीग्रस्त हो सकते है।

अरंडी के तेल के फायदे कब्ज के लिए – Kabj ke liye arandi ke tel ke fayde

यदि आप पेट में होने वाली कब्ज और अपच की समस्या से परेशान है तो हम आपको इससे छुटकारा पाने के लिए कैस्टर ऑयल के सही इस्तेमाल के बारे में बताएंगे।

अरंडी का तेल कब्ज के लिए – Castor Oil to Relieve Constipation in Hindi

अरंडी का तेल कब्ज के लिए - Castor Oil to Relieve Constipation in Hindi

कैस्टर ऑयल में लैक्सेटिव गुण मौजूद होते है जो कब्ज से छुटकारा दिलाना में मदद करते है। इसके लिए आप सबसे पहले एक चम्मच अरंडी का तेल लेकर इसे फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें। ठंडा होने के बाद इसमें आप अपनी पसंद के किसी भी फल के रस को इसमें मिला लें। और फिर इसका सेवन करें। इससे आपको कब्ज से जल्दी राहत मिलेगी।

नींबू का रस और अरंडी का तेल करे कब्ज का इलाज – Lemon juice and castor oil for Constipation in Hindi

नींबू का रस और अरंडी का तेल करे कब्ज का इलाज - Lemon juice and castor oil for Constipation in Hindi

कब्ज से छुटकारा पाने के लिए आप नींबू का रस और अरंडी का तेल को मिलाकर उपयोग कर सकते है, यह बहुत ही प्रभावी होता है। नींबू के रस में सिट्रिक अम्ल पाया जाता है जो कब्ज की समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है। इसका उपयोग करने के लिए आप एक चम्मच अरंडी का तेल लेकर इसमें एक कप नींबू के रस को मिला लें। अब इस मिश्रण का सेवन करें, आप इसका सेवन हर दो दिन में कर सकते है। इससे आपको जल्दी राहत मिलेगी।

संतरा का रस और अरंडी के तेल से दूर करे पुरानी से पुरानी कब्ज की समस्या – Orange juice and Castor oil to Relieve Constipation in Hindi

संतरा का रस और अरंडी के तेल से दूर करे पुरानी से पुरानी कब्ज की समस्या - Orange juice and Castor oil to Relieve Constipation in Hindi

संतरे के रस में पेट को साफ़ करने वाले गुण होते है जो कब्ज से राहत देने में मदद करते है। जब इसका इस्तेमाल अरंडी के तेल के साथ किया जाता है तो यह और भी अधिक प्रभावी हो जाता है और पुरानी से पुरानी कब्ज की समस्या दूर करता है। इसका उपयोग करने के लिए आप एक चम्मच कैस्टर ऑयल लेकर इसमें एक कप संतरे के रस को मिला लें। अब इसे पियें, आप मिश्रण का सेवन हर कुछ दिन में कर सकते है। इससे आपको जल्दी राहत मिलेगी।

हीटिंग पैड और कैस्टर ऑयल से करें कॉन्स्टिपेशन का इलाज – Heating pads and castor oil for Constipation in Hindi

कैस्टर ऑयल का उपयोग हीटिंग पैड के साथ करके भी आप पेट में होने वाले कॉन्स्टिपेशन का इलाज कर सकते है। हीटिंग पैड पेट दर्द को ठीक करने के साथ साथ कब्ज को भी दूर करने में सहायक होता है। कब्ज का उपचार करने के लिए आप एक बड़ी चम्मच अरंडी का तेल लेकर इससे अपने पेट की मसाज करें। अब एक हीटिंग पैड से अपने पेट की सिकाई करें। आप इस इस क्रिया को तब तक कर सकते है जब तक आपको कॉन्स्टिपेशन से राहत नहीं मिलती है। ध्यान रखें कि हीटिंग पैड अधिक गर्म न हो, नहीं तो आपकी स्किन जल सकती है।

बच्चों के कब्ज के लिए करे अरंडी के तेल से मालिश – Castor oil Massage for children constipation in Hindi

बच्चों के कब्ज के लिए करे अरंडी के तेल से मालिश - Castor oil Massage for children constipation in Hindi

यदि आपका बच्चा कब्ज की समस्या से परेशान है तो आप इसके लिए कैस्टर ऑयल से मसाज कर सकती है। अरंडी का तेल कुछ हद तक कॉन्स्टिपेशन के लक्षणों को कम करने में मदद करता है। यह बच्चे के पेट दर्द में भी राहत दिलाने में प्रभावी माना जाता है, क्योंकि इसमें दर्दनिवारक (Analgesic) गुण होते है। सबसे पहले आप ऑर्गेनिक अरंडी का तेल लेकर इसे गुनगुना गर्म कर लें। अब कुछ मिनट तक इस तेल से बच्चे के पेट और हाथ पैर की मालिश करें। अपने पर तेल लगाने से पहले एक बार पैच टेस्ट और तापमान जरूर देख लें।

अरंडी का तेल इस्तेमाल करने के लिए सावधानियां – Precautions to use castor oil in Hindi

अरंडी का तेल इस्तेमाल करने के लिए सावधानियां – Precautions to use castor oil in Hindi

  • इसके लिए आप ऑर्गेनिक अरंडी के तेल का ही उपयोग करें।
  • अरंडी का तेल उपयोग नवजात या 6 महीने से कम उम्र के बच्चे के लिए न करें।
  • गर्भवती महिलाएं अरंडी के तेल के उपयोग से बचें, यह गर्भपात का कारण बन सकता है।
  • पैच टेस्ट करके के बाद ही त्वचा पर अरंडी तेल का उपयोग करें।
  • गंभीर कब्ज होने पर अरंडी के तेल का उपयोग न करें।
  • कैस्टर ऑयल के अधिक सेवन से पेट खराब, मतली, पेट में दर्द और सीने में दर्द आदि की समस्या हो सकती है।
  • यदि आपको किसी भी प्रकार की एलर्जी है तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

अरंडी के तेल के फायदे कब्ज के लिए (Castor Oil For Constipation in Hindi) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Reference

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration