गर्भावस्था के लिए बेस्ट ड्राई फ्रूट्स और उनके फायदे – Best Dry Fruits In Pregnancy In Hindi

गर्भावस्था के लिए बेस्ट ड्राई फ्रूट्स और उनके फायदे - Best Dry Fruits In Pregnancy In Hindi
Written by Deepti

Best Dry Fruits In Pregnancy In Hindi ड्राई फ्रूट्स इन प्रेगनेंसी, अगर आप गर्भवती हैं और ड्राई फ्रूट्स का सेवन कर रही हैं, तो आप ये जरूर जानना चाहेंगी कि ड्राई फ्रूट्स गर्भावस्था में किस तरह से फायदेमंद होते हैं। आखिर इनमें वो कौन-कौन से पोषक तत्व होते हैं, जो आपके और आपके गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास के लिए फायदेमंद हैं। हर मां को गर्भावस्था के लिए बेस्ट ड्राई फ्रूट्स की जानकारी होना जरूरी है, क्योंकि प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट्स खाने के जितने फायदे हैं, उतने नुकसान भी। इसलिए हम आपके लिए प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट्स के सेवन को लेकर एक गाइड लेकर आए हैं।

गर्भावस्था वो समय है जब एक मां को स्वस्थ खान-पान पर ध्यान देना चाहिए। एक संतुलित आहार आपके शरीर को पोषित करने के लिए सभी पोषक तत्वों को प्राप्त करने का अच्छा तरीका है। कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो आपको इस दौरान जरूर खाने चाहिए। ड्राई फ्रूट्स ऐसे ही खाद्य पदार्थ हैं जो मां और बच्चे दोनों का विकास अच्छे से करते हैं। गर्भावस्था के दिनों में सूखे मेवे में मौजूद पोषक तत्व होने वाले बच्चे के लिए खासतौर से बहुत फायदेमंद होते हैं। तो चलिए आज के हमारे इस आर्टिकल में हम आपको गर्भावस्था में ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे और इनमें मौजूद पोषक तत्वों की जानकारी देंगे।

1. गर्भावस्था में ड्राई फ्रूट खाना चाहिए या नहीं – Dry Fruit Safe For Pregnant Woman In Hindi
2. प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे – Benefits Of Dry Fruits In Pregnancy In Hindi
3. गर्भावस्था में ड्राई फ्रूट्स खाने के नुकसान – Side Effects Of Dry Fruits In Pregnancy In Hindi
4. प्रेगनेंसी में खाए जाने वाले ड्राई फ्रूट – List Of Dry Fruits For Pregnancy In Hindi

5. एक दिन में कितने ड्राई फ्रूट का सेवन करना चाहिए – Pregnancy Me Ek Din Me Kitne Dry Fruit Khane Chahiye In Hindi
6. प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट खाने में बरतें सावधानी – Precautions While Consuming Dry Fruits In Hindi
7. प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट्स के लिए जरूरी टिप्स – Pregnancy Me Dry Fruits Ke Liye Jaruri Tips In Hindi
8. प्रेगनेंसी में सूखे फल कब खा सकते हैं – Pregnancy Me Dry Fruits Kis Month Me Khane Start Karna Chahiye In Hindi
9. ड्राई फ्रूट खाने का सबसे अच्छा समय कौन सा है – Best Time To Eat Dry Fruits In A Day In Hindi

गर्भावस्था में ड्राई फ्रूट खाना चाहिए या नहीं – Dry Fruit Safe For Pregnant Woman In Hindi

प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट्स खाना बहुत फायदेमंद है। ड्राई फ्रूट्स विटामिन, मिनरल्स, फाइबर और अमीनो एसिड से भरपूर होते हैं, जो एक गर्भवती महिला के लिए बहुत जरूरी हैं। लेकिन हर रोज इन्हें अधिक मात्रा में खाने से बचना चाहिए। ड्राई फ्रूट्स में बी-1, बी-9, सी, के, ई और एच जैसे महत्वपूर्ण विटामिन होते हैं, जिससे भूख बढ़ती है और भूख बढ़ना गर्भवती महिला के लिए फायदेमंद है।

(और पढ़ें – ड्राई फ्रूट्स के फायदे और नुकसान)

प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे – Benefits Of Dry Fruits In Pregnancy In Hindi

  • सूखे मेवे में मैग्रीशियम, कैल्शियम, पोटेशियम, जस्ता, सैलेनियम और एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। गर्भावस्था में ये भूख बढ़ाने में फायदेमंद है, इसलिए गर्भवती महिला के लिए ये एक अच्छे स्नैक साबित होते हैं।
  • डाइटरी फाइबर से भरपूर ड्राई फ्रूट कब्ज को रोकने में मददगार होते हैं। गर्भावस्था के दौरान हार्मोन में बदलाव कब्ज का कारण हो सकता है। इसके लिए हाई फाइबर डाइट लेना अच्छा विकल्प है और सूखे मेवे इसी का एक हिस्सा है।
  • ड्राई फ्रूट्स में आयरन भरपूर मात्रा में होता है, जो गर्भावस्था का अभिन्न अंग है। ड्राई फ्रूट जैसे अंजीर और खजूर आपकी दैनिक आवश्यकताओं को पूरा करने में आपकी मदद करते हैं।
  • सूखे मेवे में विटामिन ए की मात्रा भी अच्छी होती है। अगर गर्भवती महिला ड्राई फ्रूट्स का सेवन करे तो ये उनके और बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। सूखे मेवे खाने से बच्चे के दांत और हड्डियों का विकास अच्छे से होता है। ।
  • ड्राई फ्रूट्स में विटामिन सी पाया जाता है। ये आयरन को अवशोषित करने में आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए जरूरी है।
  • सूखे मेवों में पाया जाने वाला पोटेशियम ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है और मांसपेशियों के नियंत्रण को बढ़ाता है।
  • ड्राई फ्रूट्स में मौजूद मैग्नीशियम प्रेगनेंसी के दौरान आपके बच्चे की नसों और हड्डियों का विकास करता है।
  • सूखे मेवे में मौजूद नेचुरल शुगर आसानी से पचने वाली होती है। गर्भावस्था में यह शुगर आपके शरीर को अच्छी ऊर्जा प्रदान करती है।
  • ड्राई फ्रूट जैसे खजूर को गर्भाशय की मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए जाना जाता है। खजूर खाने से डिलीवरी में भी आसानी होती है। यह प्रसव के बाद ब्लीडिंग की संभावना को भी कम करने में सक्षम है।
  • माना जाता है कि गर्भावस्था के दौरान मां द्वारा ड्राई फ्रूट्स का सेवन करने से शिशु में अस्थमा और घरघराहट के जोखिम को कम करने में मदद मिलती है।
  • ड्राई फ्रूट्स में मौजूद विटामिन ई बच्चे की कोशिका और फेफड़ों के विकास में मदद करता है। यहां तक की विटामिन ई आपके ब्लड शुगर को भी कंट्रोल करता है और शिशु को अस्थमा से बचाने में भी ये बहुत  मददगार है।

(और पढ़ें – एंटीऑक्सीडेंट युक्त खाद्य पदार्थ, फायदे और नुकसान)

गर्भावस्था में ड्राई फ्रूट्स खाने के नुकसान – Side Effects Of Dry Fruits In Pregnancy In Hindi

ड्राई फ्रूट्स गर्भावस्था में भले ही गर्भवती महिला के लिए फायदेमंद हों, लेकिन किसी भी चीज का अधिक सेवन नुकसानदायक हो सकता है। जानते हैं सूखे मेवों को अधिक मात्रा में खाने से क्या-क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं।

  • सूखे मेवों का अधिक सेवन करने से गैस्ट्रसेइंटेस्टाइनल समस्याएं जैसे गैस, सूजन और दस्त की समस्या बढ़ जाती है।
  • ड्राई फ्रूट्स कैलोरी से भरपूर होते हैं, इसलिए बहुत ज्यादा मात्रा में इनका  सेवन करने से गर्भावस्था में बहुत ज्यादा वजन बढ़ सकता है।
  • चूंकि ड्राई फ्रूट्स में फ्रुक्टोज जैसी नेचुरल शुगर होती है, जो दातों की सड़न को बढ़ावा दे सकती है। खासतौर से तब जब आप अपने दांतों को अच्छे से साफ नहीं करते।
  • कुछ सूखे मेवे जैसे किशमिश में एक ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है जो ब्लड शुगर के सोखने पर ऊर्जा में वृद्धि कर सकता है।
    कुछ गर्भवती महिलाओं में ड्राई फ्रूट्स खाने से एलर्जी की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए इनका सेवन एक लिमिट में ही करें।

(और पढ़ें – कैलोरी क्या है, मात्रा, चार्ट, कम कैलोरी वाले आहार और कैलोरी बर्न कैसे करें)

प्रेगनेंसी में खाए जाने वाले ड्राई फ्रूट – List Of Dry Fruits For Pregnancy In Hindi

गर्भावस्था के दौरान सभी तरह के ड्राई फ्रूट्स का सेवन करने की सलाह दी जाती है, लेकिन प्रेगनेंसी का दौरान कौन -कौन से ड्राई फ्रूट्स खाने चाहिए (ड्राई फ्रूट्स इन प्रेगनेंसी) और किस ड्राई फ्रूट में कौन से पोषक तत्व हैं, ये जानने के लिए हमारे द्वारा नीचे दी गई लिस्ट पढ़ें।

(और पढ़ें – गर्भावस्था के दौरान खाये जाने वाले आहार और उनके फायदे)

ड्राई फ्रूट्स इन प्रेगनेंसी बादाम – Pregnancy Me Badam Khane Ke Fayde In Hindi

गर्भावस्था में बादाम खाने की सलाह ज्यादातर लोगों द्वारा दी जाती है। इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, प्रोटीन, राइबोफ्लेबिन और विटामिन ई होने वाली मां में ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है। बच्चे के दांतों और मांसपेशियों को मजबूत बनाते हैं, जन्म के समय कम वजन को रोकते हैं और बच्चे के मास्तिष्क के विकास को बढ़ावा देते हैं।

(और पढ़ें – बादाम के फायदे गुण लाभ और नुकसान)

गर्भावस्था में किशमिश खाने के फायदे – Kishmish In Pregnancy In Hindi

किशमिश में आयरन और फाइबर अधिक मात्रा में होते हैं, इसलिए गर्भावस्था के दौरान इस सूखे फल का सेवन बहुत जरूरी माना जाता है। प्रेगनेंसी में कब्ज की समस्या बहुत परेशान करती हैं, इसके लिए खासतौर से गर्भावस्था में किशमिश खाने की सलाह दी जाती है।

(और पढ़ें – किशमिश के फायदे और नुकसान)

प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट सूखी खुबानी – Dried Apricot During Pregnancy In Hindi

डॉक्टर प्रेगनेंसी के दिनों में सूखी खुबानी खाने के लिए कहते हैं। इसमें फाइबर, विटामिन ए, कॉपर और विटामिन ई अच्छी मात्रा में होता है, जो कब्ज की समस्या को दूर करने के साथ इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देता है साथ ही मांसपेशियों और अंग के कार्यों में सुधार करते हुए प्री-एक्स्लेमप्सिया का खतरा कम करते हैं।

(और पढ़ें – खुबानी के फायदे स्वास्थ्य लाभ और उपयोग)

प्रेगनेंसी में अखरोट खाने के फायदे – Walnut In Pregnancy In Hindi

अखरोट में ओमेगा -3 फैट्स भरपूर मात्रा में होता है और इसके एक कप में 720 कैलारी होती है। प्रेगनेंसी में अखरोट खाने से इसमें पाए जाने वाला ओमेगा 3 बच्चे के मास्तिष्क और दृष्टि के विकास में मदद करते हैं।

(और पढ़ें – अखरोट के फायदे और नुकसान)

गर्भावस्था में काजू खाने के फायदे – Kaju In Pregnancy In Hindi

प्रेगनेंसी में काजू जरूर खाने चाहिए। इसमें मौजूद फास्फोरस खून के थक्के को जमने से रोकता है। बता दें कि एक कटोरी काजू में 640 कैलोरी होती है।

(और पढ़ें – काजू के फायदे स्वास्थ्य लाभ और नुकसान )

गर्भावस्था में सूखे सेब खाने के फायदे – Dry Apple In Pregnancy In Hindi

सूखे सेब बहुत कम लोग खाते हैं, लेकिन गर्भावस्था के दिनों में इसे खाना बेहद फायदेमंद होता है। इसके सेवन से मांसपेशियों के कार्य में सुधार होता है और ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करता है। अगर आप एक कटोरी सूखे सेब खाते हैं तो आपको 208 कैलारी मिलेगी।

(और पढ़ें – सेब के फायदे और नुकसान)

प्रेगनेंसी में पिस्ता खाने के फायदे – Pistachio Nuts During Pregnancy In Hindi

पिस्ता गर्भावस्था में खाया जाने वाला सबसे जरूरी ड्राई फ्रूट है। इसमें मौजूद कॉपर अंगों और मांसपेशियों की कार्यप्रणाली को आसान बनाता है।

(और पढ़ें – पिस्ता खाने के फायदे और नुकसान)

गर्भावस्था में खजूर खाने के फायदे – Khajoor In Pregnancy In Hindi

प्रेगनेंसी के दिनों में खजूर हर गर्भवती महिला को खाने चाहिए। इसमें फाइबर अच्छी मात्रा में होता है जो पाचन को बढ़ावा देने के साथ वजन को भी कंट्रोल करता है। अगर आप एक कटोरी खजूरी खाते हैं तो आपको 502 कैलोरी मिलेगी।

(और पढ़ें – अच्छी लाइफ के लिए खजूर और कद्दू के बीज जरुर खाएं)

प्रेगनेंसी में सूखे अंजीर खाने के फायदे – Dried Figs In Pregnancy In Hindi

सूखे अंजीर में फाइबर बहुत होता है, जो होने वाली मां को कब्ज और दिल की बीमारियों से बचाता है।

(और पढ़ें – अंजीर के फायदे बचाएं इतने सारे रोगों से जानकर हो जाएंगे हैरान)

गर्भावस्था में मूंगफली खाने के फायदे – Peanuts In Pregnancy In Hindi

प्रेगनेंसी में खाने के लिए मूंगफली भी अच्छा ड्राईफ्रूट है। इसमें प्रोटीन मौजूद होता है, इसलिए इसे खाने से एक मां हेल्दी बेबी को जन्म दे सकती है। बता दें कि एक कटोरी मूंगफली खाने से 828 कैलारी मिलती है।

(और पढ़ें – मूंगफली के फायदे गुण लाभ और नुकसान )

गर्भावस्था में सूखे केले खाने के फायदे – Dry Banana During Pregnancy In Hindi

विटामिन सी से भरपूर सूखे केले प्रेगनेंसी में इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ हार्ट डिसीज से भी बचाता है। इसका एक कटोरी सेवन करने से 360 कैलोरी मिलती है।

(और पढ़ें – केला खाने के फायदे और नुकसान)

प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट खाने का तरीका – Pregnancy Me Dry Fruit Khane Ka Tarika In Hindi

  • मुनक्का- वैसे तो सभी सूखे मेवों को कच्चा खाने की सलाह दी जाती है, लेकिन इसके खाने का सही तरीका हम आपको बताते हैं। मुनक्का को 30 मिनट के लिए पानी में भिगोकर रखें और फिर इसका सेवन करें। भिगोए हुए मुनक्का को खाने में आसानी होगी और इसके बीज भी जल्दी निकल जाएंगे। इसके सेवन से आपको प्रेगनेंसी के दौरान खून की कमी नहीं होगी।
  • अखरोट- गर्भावस्था में हर दिन दो अखरोट तो जरूर खाएं। यह आपके शिशु के दिमागी विकास के लिए बहुत जरूरी है साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान आपको जोड़ों के दर्द से भी दूर रखने में मदद करता है।
  • पिस्ता- यह प्रोटीन का मुख्य स्त्रोत है। गर्भावस्था में प्रोटीन की सबसे ज्यादा जरूरत होती है इसलिए हर दिन 8 से 10 पिस्ता तो जरूर खाएं।
  • काजू- कुछ गर्भवती महिलाएं स्वाद के लिए काजू को भूनकर खा लेती हैं, जो गलत है। इन्हें भूनकर नहीं खाने की गलती नहीं करनी चाहिए। इससे काजू में मौजूद सभी पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। 3 से 4 काजू रोजाना खाएं इससे ऊर्जा मिलेगी।
  • बादाम- खासतौर से प्रेगनेंसी में बादाम रात में भिगोकर सुबह के समय खाना चाहिए। बादाम को इस तरह खाने से खाना पचाने में आसानी होती है।

(और पढ़ें – बादाम को भिगोकर खाने के फायदे और नुकसान)

एक दिन में कितने ड्राई फ्रूट का सेवन करना चाहिए – Pregnancy Me Ek Din Me Kitne Dry Fruit Khane Chahiye In Hindi

कुछ लोगों को सूखे मेवे इतने पसंद होते हैं कि वे बिना किसी गिनती के इन्हें दिनभर खाते हैं। लेकिन सूखे मेवों में ताजे फलों की तुलना में बहुत ज्यादा कैलारी होती है इसलिए आपको ये देखने की जरूरत है कि गर्भावस्था के दौरान आप इसकी कितनी मात्रा खा रहीं हैं। डॉक्टर्स द्वारा सलाह दी जाती है कि गर्भावस्था के दिनों में एक दिन में 100 ग्राम से ज्यादा ड्राई फ्रूट्स ना खाएं। उदाहरण के लिए आप एक दिन में बादाम के चार से सात टुकड़े, अखरोट के चार भाग, दो खजूर और एक बार में लगभग आठ पिस्ता खा सकते हैं। यह भी सलाह दी जाती है कि शरीर के पोषक तत्वों को बेहतर तरीके से अवशोषित करने में मदद करने के लिए आप दोपहर से पहले ड्राई फ्रूट खाएं।

(और पढ़ें – गर्भावस्‍था के पहली तिमाही में क्‍या खाना चाहिए और क्‍या नहीं)

प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट खाने में बरतें सावधानी – Precautions While Consuming Dry Fruits In Hindi

हेल्दी होने के साथ गर्भावस्था के दौरान सूखे मेवों का सेवन करते समय कुछ सावधानियों को ध्यान में जरूरी होता है।

  • सूखे मेवे खरीदने से पहले ये जरूर देखें कि उसमें चीनी मिलाई गई है या नहीं। सूखे मेवों में निश्चित मात्रा में नेचुरल शुगर होती है, लेकिन कुछ ब्रांड नेचुरल शुगर की जगह चीनी मिला देते हैं, तो खासतौर से गर्भावस्था में नुकसानदायक होती है।
  • कई बार ड्राई फ्रूट्स और नट्स में प्रिजर्वेटिव मिले होते हैं। इनमें सल्फरडाई ऑक्साइड हो सकता है जो एलर्जी या श्वसन संबंधी समस्याएं पैदा कर सकता है।
  • इन फलों को सुखाने की प्रोसेस से कैलारी में वृद्धि होती है। इसलिए ड्राई फ्रूट्स खरीदते समय इस बात से सावधान रहना चाहिए कि आप अपनी कैलोरी सेवन को नियमित करने के लिए कितनी मात्रा में ड्राई फ्रूट्स खाते हैं।
  • जब भी ड्राई फ्रट्स खरीदें हमेशा रेप्यूटेटिड विक्रेता से ही ऑर्गेनिक और प्रिजर्वेटिव फ्री डाई फ्रूट्स खरीदने की कोशिश करें और केवल वही ड्राई फ्रूट्स खरीदें जिन्हें आप एक महीने के अंदर पूरा खा सकते हैं। ध्यान दें कि बोतल में बंद ड्राई फ्रूट्स टॉक्सिक हो सकते हैं, जिससे कई बार सांस लेने तक की समस्या उत्पन्न हो जाती है।
  • अगर आप स्थानीय विक्रेता से ड्राई फ्रूट्स खरीद रहे हैं तो जांच लें कि ये खराब न हों। खरीदने के लिए अपना मन बनाने से पहले आप एक टुकड़े को चखकर भी देख सकते हैं।
  • ड्राई फ्रूट्स को हमेशा एक साफ और सूखे कंटेनर में स्टोर करके रखें। इन्हें खराब होने से बचाने के लिए फ्रिज में रखें।

प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट्स के लिए जरूरी टिप्स – Pregnancy Me Dry Fruits Ke Liye Jaruri Tips In Hindi

ड्राई फ्रूट्स से जुड़े तमाम भ्रांतियां और मिथक हैं। गर्भावस्था के दौरान आप काजू, बादाम, अखरोट, खुबानी, छुआरे, पिस्ता, अंजीर और किशमिश खा सकते हैं। क्योंकि सूखे फल पौष्टिक होते हैं इसलिए आपको हर दिन अपने आहार में इन्हें सीमित मात्रा में शामिल करना ही चाहिए। लेकिन इससे पहले नीचे दिए जा रहे टिप्स को ध्यान से पढ़ें।

  • गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिलाओं को फ्राइड ड्राई फ्रूट खाने के बजाय कच्चे ड्राई फ्रूट्स खाने चाहिए। गर्भावस्था के दौरान भूख लगने पर आप सूखे मेवे को अपने नाश्ते में खाएं।
  • कच्चे ड्राई फ्रूट खाने के साथ आप चाहें तो इन्हें सैंडविच, डेजर्ट जैसे पुडिंग या कस्टर्ड में भी शामिल करके खा सकते हैं।
  • ड्राई फ्रूट्स मॉर्निग सिकनेस से काफी हद तक राहत दिला सकते हैं। इसलिए दही के साथ कुछ ड्राई फ्रूट्स को ब्लेंड करके जी-मितलाने और उल्टी जैसी समस्याओं से बचा जा सकता है।
  • ड्राई फ्रूट्स को अगर आप कच्चा ना खा पाएं, तो इनकी ड्राई फ्रूट कैंडी बनाकर खाएं। किसे हुए नारियल में इन्हें रोल करें और फ्रिज में दस दिन तक स्टोर करके रखें।
  • अगर कुछ सूखे मेवों को काटने या चबाने में दिक्कत हो तो आप इन्हें उबलते पानी में लगभग दस मिनट तक रख सकते हैं। से नरम हो जाएंगे और चबाने में आसानी होगी।

प्रेगनेंसी में सूखे फल कब खा सकते हैं – Pregnancy Me Dry Fruits Kis Month Me Khane Start Karna Chahiye In Hindi

सूखे मेवे प्रेगनेंसी के किसी भी महीने में खाना अच्छा होता है, बस इसकी मात्रा का ध्यान रखें। क्योंकि इसमें कैलारी की मात्रा बहुत ज्यादा होती है, इसलिए सीमित मात्रा में ही खाएं, वरना आपका वजन बढ़ सकता है।

ड्राई फ्रूट खाने का सबसे अच्छा समय कौन सा है – Best Time To Eat Dry Fruits In A Day In Hindi

आप दिन में कभी भी स्नैक के रूप में ड्राई फ्रूट खा सकते हैं लेकिन सबसे ज्यादा फायदा इसे सुबह जल्दी खाने का होता है ताकि ज्यादा से ज्यादा फायदा हो सके। उन्हें रात भर पानी में भिगो दें और सुबह उनका उपयोग करें। लेकिन इसे कम मात्रा में खाएं, क्योंकि इनमें कैलोरी बहुत होती है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration