ब्‍लूबेरी के फायदे और नुकसान – Blueberry Ke Fayde Aur Nuksan In Hindi

ब्‍लूबेरी के फायदे, उपयोग और नुकसान – Blueberry Ke Fayde Aur Nuksan In Hindi
Written by Diksha

Blueberry In Hindi ब्‍लूबेरी का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है। ब्‍लूबेरी एक स्‍वादिष्‍ट फल है जो स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होता है। ब्‍लूबेरी के बारे में कहा जाता है कि यह एंटीऑक्‍सीडेंट और फाइटोन्‍यूट्रिएंट्स का सबसे अच्‍छा स्रात है। ब्‍लूबेरी खाने के फायदे तो होते ही हैं साथ ही ब्‍लूबेरी जूस के फायदे भी आपके स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देते हैं। ब्‍लूबेरी के फायदे कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने, हृदय को स्‍वस्‍थ रखने, मधुमेह को नियंत्रित करने और रक्‍तचाप संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होते हैं। हालांकि ब्‍लूबेरी के साइड इफेक्‍ट भी आपके स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित कर सकते हैं। आज इस आर्टिकल में आप ब्‍लूबेरी के फायदे और नुकसान संबंधी जानकारी प्राप्‍त करेगें। आइए जाने ब्‍लूबेरी के बारे में।

  1. ब्‍लूबेरी क्‍या है – Blueberry kya hai in Hindi
  2. ब्‍लूबेरी का हिंदी नाम क्‍या है – blueberry ko hindi me kya kehte hain
  3. ब्‍लूबेरी के प्रकार – Types Of Blueberry in Hindi
  4. ब्‍लूबेरी के पोषक तत्‍व – Blueberry ke Poshak Tatva in Hindi
  5. ब्‍लूबेरी के खाने फायदे – Blueberry khane ke fayde in Hindi
  6. ब्‍लूबेरी के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ – Blueberry Health Benefits in Hindi
  7. ब्‍लूबेरी जूस बनाने की विधि – blueberry juice recipe in Hindi
  8. ब्‍लूबेरी जूस को स्‍टोर कैसे करें – How to Store Blueberry Juice in Hindi
  9. ब्‍लूबेरी जूस पीने का सही समय – Right time to drink blueberry juice in Hindi
  10. ब्‍लूबेरी के नुकसान – Blueberry ke Nuksan in Hindi

ब्‍लूबेरी क्‍या है – Blueberry kya hai in Hindi

ब्‍लूबेरी क्‍या है – Blueberry kya hai in Hindi

ब्‍लूबेरी का वैज्ञानिक नाम वैक्‍सीनियम कोरिम्‍बोसम (Vaccinium corymbosum) है। यह छोटे और मीठे बैंगनी फल हैं जो खाने योग्‍य जामुन होते हैं। ब्‍लूबेरी का पौधा एक बारहमासी फूलों वाली झाड़ी है जिसमें ब्‍लूबेरी के फल गुच्‍छों के रूप में फलते हैं। ब्‍लूबेरी का पौधा बिलवेरी, क्रेनबेरी और गोजबेरी के परिवार से संबंधित होता है। ब्‍लूबेरी फल का स्‍वाद खट्टा मीठा होता है इसके साथ ही इस फल में बहुत सारे औषधीय गुण होते हैं जो स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छे माने जाते हैं।

(और पढ़े – जामुन के फायदे गुण लाभ और नुकसान…)

ब्‍लूबेरी का हिंदी नाम क्‍या है – blueberry ko hindi me kya kehte hain

ब्‍लूबेरी का हिंदी नाम नीलबदरी है। हालांकि अलग-अलग स्‍थानों पर इसे कई अन्‍य नामों से भी जाना जाता है। लेकिन औषधीय गुणों और स्‍वादिष्‍ट होने के कारण यह लगभग पूरी दुनिया में लोकप्रिय फल बन चुका है।

ब्‍लूबेरी के प्रकार – Types Of Blueberry in Hindi

ब्‍लूबेरी के प्रकार – Types Of Blueberry in Hindi

प्रकृति, स्‍वाद और गुणों के आधार पर ब्‍लूबेरी चार प्रकार की होती है। आइए जाने इन चारों प्रकार की ब्‍लूबेरी के बारे में जो आपके लिए स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक होती हैं।

हाईबश ब्‍लूबेरी (Highbush Blueberry) सामान्‍य रूप से हाईबश ब्‍लूबेरी को लोगों द्वारा अधिक उगाया जाता है। हाईवश ब्‍लूबेरी को 2 किस्‍मों में बांटा जा सकता है। उत्‍तरी हाईबश ब्‍लूबेरी और दक्षिणी हाईबश ब्‍लूबेरी। उत्‍तरी हाईबश ब्‍लूबेरी मुख्‍य रूप से अमेरिका के पूर्वी और पूर्वोतर हिस्‍सों में उगाया जाता है। इस प्रकार के पौधे को अधिक छटांई (pruning) की आवश्‍यकता होती है। उत्तरी हाईबश ब्‍लूबेरी के अन्‍य प्रकारों में ब्‍लूगोल्‍ड, ब्‍लूरे, ब्‍लूक्रॉप, इलियट, जर्सी लिगेसी, ड्यूक आदि। जबकि दक्षिणी हाईबश ब्‍लूबेरी की यह किस्‍म ज्‍यादातर सर्दियों के मौसम में विकसित होती है। क्योंकि ब्‍लूबेरी की यह प्रजाति ठंडे मौसम के लिए अधिक अनुकूल होती है।

लोबश ब्‍लूबूरी (Lowbush Blueberry) – लोबश ब्‍लूबेरी का पौधा हाईबश ब्‍लूबेरी की तुलना में कम ऊंचाई का होता है। इस प्रजाति को भी नियमित रूप से छंटाई की आवश्‍यकता होती है। लोबश ब्‍लूबेरी की भी दो प्र‍जातियां एक रूबी कार्पेट (Ruby carpet) और दूसरी टॉप हेड (Top hat) होती हैं।

हाफ-हाई ब्‍लूबेरी (Half-high Blueberries) – हाफ-हाई ब्‍लूबेरी उत्तरी हाईबश ब्‍लूबेरी और लोबश ब्‍लूबेरी दोनों से संकरित पौधा है। यह पौधा इन दोनों की ब्‍लूबेरी की ऊंचाई का मध्‍यम ऊंचाई का होता है। लेकिन यह पौधा अधिकतम तापमान में अच्‍छी तरह से प्रगति करता है। इस प्रकार की ब्‍लूबेरी के ब्‍लूगिल, नॉर्थलैंड, उत्‍तर कंटरी आदि स्‍थानों में अधिक मात्रा में उगाई जाती है।

रब्‍बीते ब्‍लूबेरी (Rabbiteye Blueberries) – यह एक विशेष प्रकार की ब्‍लूबेरी है जो अमेरिका के दक्षिणी हिस्सों में सबसे अधिक उगाई जाती है। रब्‍बीते ब्‍लूबेरी का पौधा अधिक गर्मी का सामना कर सकता है।

(और पढ़े – ब्लैकबेरी के फायदे और नुकसान…)

ब्‍लूबेरी के पोषक तत्‍व – Blueberry ke Poshak Tatva in Hindi

ब्‍लूबेरी में पोषक तत्‍वों की मौजूदगी बहुत ही उच्‍च होती है। साथ ही इस फल में कैलोरी कम होती है जबकि फाइबर भीअच्‍छी मात्रा में होता है। शोध के अनुसार ब्‍लूबेरी में विटामिन सी, विटामिन K विटामिन बी6, फोलेट, पोटेशियम, कॉपर और मैंगनीज की अच्‍छी मात्रा होती है। इन ब्‍लूबेरी खाने के फायदे इसलिए भी हैं क्‍योंकि इनमें कार्बोहाइड्रेट और सोडियम की मात्रा बहुत ही कम होती है। इसके अलावा ब्‍लूबेरी में पानी भी अच्‍छी मात्रा में होता है।

ब्‍लूबेरी में पर्याप्‍त मात्रा में एंटीऑक्‍सीडेंट विशेष रूप से एंथोसायनिन होता है। यह घटक इन फलों को गहरा नीला रंग और शक्तिशाली स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के लिए जिम्‍मेदार होता है। आइए जानते हैं ब्‍लूबेरी के फायदे क्‍या हैं।

(और पढ़े – विटामिन और उनकी कमी से होने वाले रोग…)

ब्‍लूबेरी के खाने फायदे – Blueberry khane ke fayde in Hindi

ब्‍लूबेरी फल देखने में छोटा होता है जो बहुत ही स्‍वादिष्‍ट होता है। लेकिन आप केवल इसके स्‍वाद पर ही ना जाएं। क्‍योंकि स्‍वस्‍थ रहने के लिए ब्‍लूबेरी का महत्‍व बहुत अधिक है। आइए जाने हमारे दैनिक जीवन और स्‍वास्‍थ्‍य में ब्‍लूबेरी का महत्‍व क्‍या है।

ब्‍लूबेरी के फायदे मानिसक स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाएं – Blueberry for increase mental health in Hindi

ब्‍लूबेरी के फायदे मानिसक स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाएं – Blueberry for increase mental health in Hindi

ब्‍लूबेरी खाने के फायदे न केवल आपको ऊर्जा दिलाने बल्कि आपके दिमाग को तेज करने में भी होते हैं। नियमित रूप से ब्‍लूबेरी का सेवन करना आपकी याद रखने की क्षमता को बढ़ाता है। इसके अलावा यह आपकी दैनिक सहनशक्ति (स्टेमिना) को भी बढ़ाने में सहायक होता है। आप भी अपने दिमाग को तेज करने और मानिसक स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाने के लिए ब्‍लूबेरी का नियमित सेवन प्रारंभ कर सकते हैं।

(और पढ़े – बच्चों को तेज दिमाग के लिए क्या खिलाएं और घरेलू उपाय…)

ब्‍लूबेरी के लाभ शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Blueberry Benefits for Physical health in Hindi

ब्‍लूबेरी के लाभ शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Blueberry Benefits for Physical health in Hindi

नियमित रूप से सेवन करने पर ब्‍लूबेरी आपकी सेहत और स्‍वास्‍थ्‍य पर नजर रखता है। इसका मतलब यह है कि ब्‍लूबेरी में मौजूद पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ आपके बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य को बनाए रखने में अहम योगदान देते हैं। विशेष रूप से ब्‍लूबेरी खाने के फायदे पाचन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में होते हैं। जिससे संपूर्ण शरीर के स्‍वस्‍थ रखने में मदद मिलती है।

(और पढ़े – स्वस्थ रहने के उपाय और तरीके…)

ब्‍लूबेरी बेनिफिट्स फॉर स्किन – Blueberry Benefits for Skin in Hindi

ब्‍लूबेरी बेनिफिट्स फॉर स्किन – Blueberry Benefits for Skin in Hindi

आप अपनी त्वचा की देखभाल करने और त्‍वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए ब्‍लूबेरी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। यह आपकी त्वचा को गोरा और चमकदार बनाता है। ब्‍लूबेरी के औषधीय गुण त्‍वचा के लिए एंटी-एजिंग फॉर्मूला के रूप में काम करता है।

(और पढ़े – नेचुरल आयुर्वेदिक चीजें जो बनाएंगी त्वचा को गोरा और चमकदार…)

ब्‍लबेरी बेनिफिट्स फॉर हेयर – Blueberry Benefits for Hair in Hindi

ब्‍लबेरी बेनिफिट्स फॉर हेयर – Blueberry Benefits for Hair in Hindi

बालों को स्‍वस्‍थ रखने वाले लगभग सभी गुण ब्‍लूबेरी में मौजूद रहते हैं। यदि आप अपने बालों को घना, मुलायम और चमकदार रखना चाहते हैं तो ब्‍लूबेरी का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – बालों को लंबा और घना करने के घरेलू उपाय…)

ब्‍लूबेरी का इस्‍तेमाल स्‍वस्‍थ हड्डी के लिए – Blueberry ka Istemal swasth haddi ke liye in Hindi

ब्‍लूबेरी का इस्‍तेमाल स्‍वस्‍थ हड्डी के लिए – Blueberry ka Istemal swasth haddi ke liye in Hindi

ब्‍लूबेरी आपकी हड्डियों को स्‍वस्‍थ रखती है। अध्‍ययनों ने भी इस बात की पुष्टि की है कि ब्‍लूबेरी में मौजूद पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ हड्डियों को मजबूत और सख्‍त बनाने में सहायक होते हैं।

(और पढ़े – हड्डियों को मजबूत बनाने के घरेलू उपाय…)

ब्‍लूबेरी स्‍वाद में शानदार है – Blueberry are brilliant in taste in Hindi

ब्‍लूबेरी स्‍वाद में शानदार है – Blueberry are brilliant in taste in Hindi

आप अपने मुंह के बिगड़े स्‍वाद को बनाने के लिए ब्‍लूबेरी का सेवन कर सकते हैं। यह एक शानदार स्‍वाद बढ़ाने वाला उत्‍पाद है। आप ब्‍लूबेरी का उपयोग कई साइड डिश के रूप में कर सकते हैं।

(और पढ़े – फलों और सब्जियों के रंगों से जानें उनके गुणों और पोषक तत्‍व के बारे में…)

ब्‍लूबेरी के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ – Blueberry Health Benefits in Hindi

ब्‍लूबेरी एक औषधीय और स्‍वादिष्‍ट फल है। लेकिन अधिकांश लोग इस फल को केवल स्‍वाद के लिए ही उपभोग करते हैं। जबकि ब्‍लूबेरी का नियमित सेवन उनकी बहुत सी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर कर सकता है। आइए जाने ब्‍लूबेरी खाने के फायदे क्‍या हैं।

ब्‍लूबेरी खाने के फायदे मधुमेह के लिए – Blueberry khane ke fayde Madhumeh ke liye in Hindi

ब्‍लूबेरी खाने के फायदे मधुमेह के लिए – Blueberry khane ke fayde Madhumeh ke liye in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि पिछले कुछ दशकों में मधुमेह एक गंभीर बीमारी बन चुकी है। इस बीमारी के लक्षण 3 पुरुषों में से 1 को जरूर होते हैं। कोई व्‍यक्ति शरीर में उच्‍च शर्करा स्‍तर या निम्‍न शर्करा के स्‍तर से परेशान है। लेकिन इस प्रकार की सभी समस्‍याओं को ब्‍लूबेरी के नियमित सेवन से दूर किया जा सकता है। यदि आप भी उच्‍च या निम्‍न रक्‍त शर्करा स्‍तर संबंधी लक्षणों से परेशान हैं तो अपने दैनिक आहार में ब्‍लूबेरी को शामिल कर लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

हालांकि मधुमेह रोगियों को सेब, किशमिश, ब्‍लूबेरी और अंगूर को सप्‍ताह में नियमत रूप से 3 बार सेवन करना लाभकारी होता है। ऐसा करने से उनके शरीर में रक्त शर्करा के स्‍तर को नियंत्रित किया जा सकता है।

(और पढ़े – मधुमेह रोगियों के खाने के लिए फल की सूची…)

ब्‍लूबेरी के गुण कोलेस्‍ट्रॉल कम करे – Blueberry ke gun Cholesterol kam kare in Hindi

ब्‍लूबेरी के गुण कोलेस्‍ट्रॉल कम करे – Blueberry ke gun Cholesterol kam kare in Hindi

कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने के लिए ब्‍लूबेरी का उपयोग किया जा सकता है। आज की व्‍यस्‍त और खराब जीवनशैली के कारण अधिकांश लोग उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल संबंधी समस्‍याओं से ग्रसित हैं। उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल आज एक आम स्थिति हो गई है जो परिवार में किसी न किसी व्‍यक्ति को जरूर है। लेकिन शरीर में मौजूद उच्‍च कोलेस्‍टॉल के दौरान आपको लापरवाही नहीं करनी चाहिए। क्‍योंकि उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल हृदय संबंधी रोगों का प्रमुख कारण होता है। यदि आप भी उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने के उपाय खोज रहे हैं तो ब्‍लूबेरी एक अच्‍छा विकल्‍प है।

कोलस्‍ट्रॉल को कम करने के लिए नियमित रूप से सप्‍ताह में 2 बार ब्‍लूबेरी का सेवन किया जाना चाहिए। यह आपके शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को नियंत्रित करता है।

(और पढ़े – कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए भारतीय घरेलू उपाय और तरीके…

ब्‍लूबेरी का सेवन कैंसर से बचाये – Blueberry for Cancer prevention in Hindi

ब्‍लूबेरी का सेवन कैंसर से बचाये – Blueberry for Cancer prevention in Hindi

ब्‍लूबेरी में विटामिन सी और विटामिन ए की अच्‍छी मात्रा होती हैं जो कि एक प्रकार के फाइटोन्‍यूट्रिएंट्स (phytonutrients) होते हैं। ये विभिन्‍न प्रकार के प्रभावी पोषक तत्व हैं जो शरीर के अंगों जैसे फेफड़ों, अन्‍नप्रणाली, पेट, मुंह, अग्न्याशय आदि में कैंसर की कोशिकाओं के निर्माण को रोकने में मदद करते हैं। इसके अलावा ब्‍लूबेरी में फोलेट भी होता है। जो डीएनए संश्‍लेषण में मदद करता है। यदि आप भी नियमित रूप से ब्‍लूबेरी का सेवन करते हैं तो भविष्‍य में कैंसर जैसी गंभीर बीमारी की संभावना से बचा जा सकता है।

(और पढ़े – क्या खाने से कैंसर का खतरा कम किया जा सकता है…)

ब्‍लूबेरी के औषधीय गुण हृदय स्‍वस्‍थ रखे – Blueberry for Improve Heart Health in Hindi

ब्‍लूबेरी के औषधीय गुण हृदय स्‍वस्‍थ रखे – Blueberry for Improve Heart Health in Hindi

हृदय हमारे शरीर के प्रमुख अंगों में से एक है। यदि आपको लंबा जीवन जीना है तो हृदय को स्‍वस्‍थ रखना आवश्‍यक है। हालांकि हृदय स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी सभी समस्‍याओं को दूर करने के लिए आप ब्‍लूबेरी का उपयोग कर सकते हैं। ब्‍लूबेरी में मौजूद फाइबर शरीर में मौजूद रक्‍त कोलेसट्रॉल के स्‍तर को नियंत्रित करने में सहायक होता है। जिससे हृदय रोगों को दूर करने में मदद मिलती है।

ब्‍लूबेरी में पर्याप्‍त मात्रा में फाइटोन्‍यूट्रिएंट्स और विटामिन बी6, विटामिन बी, फोलेट, पोटेशियम आदि भी होते हैं। ये सभी घटक शरीर में रक्‍त शर्करा और कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम करने में प्रभावी होते हैं। इस तरह से आप अपने नियमित आहार में ब्‍लूबेरी का उपयोग कर अपने दिल को स्‍वस्‍थ रख सकते हैं। किसी भी स्‍वस्‍थ व्‍यक्ति को सप्‍ताह में 2 से 3 बार नियमित रूप से ब्‍लूबेरी का सेवन करना चाहिए।

(और पढ़े – दिल को स्‍वस्‍थ रखने के लिए सर्वश्रेष्‍ठ आहार…)

ब्‍लूबेरी के फायदे मस्तिष्‍क के लिए – Blueberry Benefits for Brain in Hindi

ब्‍लूबेरी के फायदे मस्तिष्‍क के लिए – Blueberry Benefits for Brain in Hindi

समय बढ़ने के साथ वृद्ध लोगों को स्‍मृति हानि की समस्‍या होना आम है। लेकिन यदि पर्याप्‍त पोषक तत्वों और पौष्टिक आहार का सेवन किया जाए तो इन लक्षणों को कम किया जा सकता है। ब्‍लूबेरी के लाभ भी मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में सहायक होते हैं। नियमित रूप से ब्‍लूबेरी का सेवन करने से याद रखने, समझने और सीखने की क्षमता में वृद्धि होती है। इस बजह से ब्‍लूबेरी न केवल वयस्‍कों बल्कि बच्‍चों के लिए भी एक अच्‍छा खाद्य पदार्थ हो सकता है। ब्‍लूबेरी महिलाओं में मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य के संज्ञानात्‍मक गिरावट को कम करने में भी प्रभावी होता है। आप अपने ब्रेन सिस्‍टम को मजबूत करने के लिए ब्‍लूबेरी फल के साथ ही ब्‍लूबेरी जूस का सेवन भी कर सकते हैं।

(और पढ़े – दिमाग तेज करने के लिए क्या खाये और घरेलू उपाय…)

ब्‍लूबेरी जूस पाचन को स्‍वस्‍थ रखे – Blueberry Juice Pachan ko swasth rakhe in Hindi

ब्‍लूबेरी जूस पाचन को स्‍वस्‍थ रखे – Blueberry Juice Pachan ko swasth rakhe in Hindi

फाइबर के सबसे अच्‍छे स्रोतों में ब्‍लूबेरी को जाना जाता है। इसलिए यदि आप भी पाचन संबंधी समस्‍या से परेशान हैं तो ब्‍लूबेरी जूस का सेवन कर सकते हैं। नियमित रूप से ब्‍लूबेरी जूस का सेवन करने से पाचनतंत्र को मजबूत करने में मदद मिलती है। जिससे ब्‍लूबेरी कब्‍ज और दस्‍त जैसी पाचन संबंधी समस्‍याओं को प्रभावी रूप से दूर कर सकता है।

पाचन संबंधी समस्याओं से ग्रसित लोगों को अपने पाचन तंत्र को स्‍वस्‍थ रखने के लिए सप्‍ताह में कम से कम 1 बार फाइबर सप्‍लीमेंट्स के रूप में ब्‍लूबेरी का सेवन करना चाहिए।

(और पढ़े – कब्ज में क्या खाएं और क्या ना खाएं…)

ब्‍लूबेरी फॉर स्‍ट्रॉग बोन्‍स – Blueberry for Strong Bones in Hindi

ब्‍लूबेरी फॉर स्‍ट्रॉग बोन्‍स – Blueberry for Strong Bones in Hindi

ब्‍लूबेरी में आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, जस्‍ता, मैंगनीज और विटामिन K की अच्‍छी मात्रा होती है। ये सभी घटक हड्डियों के घनत्‍व को बढ़ाने और हड्डी को मजबूत रखने में सहायक होते हैं। इसके अलावा पर्याप्‍त मात्रा में ब्‍लूबेरी का नियमित सेवन दांतों की क्षति, हड्डियों की कमजोरी आदि को भी रोकने में प्रभावी होता है।

हड्डियों को स्‍वस्‍थ और मजबूत बनाए रखने के लिए नियमित रूप से हर दूसरे या तीसरे दिन 7 से 8 ब्‍लूबेरी का सेवन किया जाना चाहिए।

(और पढ़े – हड्डी मजबूत करने के लिए क्या खाएं…)

ब्‍लूबेरी का इस्‍तेमाल वजन कम करे – Blueberry ka Istemal Vajan kam kare in Hindi

ब्‍लूबेरी का इस्‍तेमाल वजन कम करे – Blueberry ka Istemal Vajan kam kare in Hindi

जिन लोगों को अपना वजन कम करने में परेशानी हो रही है उनके लिए ब्‍लूबेरी बहुत ही फायदेमंद फल होता है। क्‍योंकि ब्‍लूबेरी में फाइबर की अच्‍छी मात्रा होती है। फाइबर शरीर के अनावश्‍यक वजन को कम करने में सहायक होता है। इसके अलावा नियमित और पर्याप्‍त मात्रा में ब्‍लूबेरी का सेवन करने से यह आपको लंबे समय तक भूख का अनुभव नहीं होने देता है। जिससे भी आपके वजन को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। अधिकांश मामलों में कई बार और अधिक भोजन करना वजन बढ़ने का प्रमुख कारण होता है। यदि आप भी अपना वजन कम करना चाहते हैं तो ब्‍लूबेरी का सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – वजन घटाने और मोटापा कम करने वाले फल…)

ब्‍लूबेरी सेवन स्‍वस्‍थ रक्‍तचाप के लिए – Blueberry swasth raktchap ke liye in Hindi

ब्‍लूबेरी सेवन स्‍वस्‍थ रक्‍तचाप के लिए – Blueberry swasth raktchap ke liye in Hindi

ब्‍लूबेरी में पोटेशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम की अच्‍छी मात्रा होती है। जिसके कारण इनका नि‍यमित सेवन करने से यह उच्‍च रक्‍तचाप को कम करने में सहायक होता है। ब्‍लूबेरी में मौजूद सभी पोषक तत्व और खनिज पदार्थ स्‍वस्‍थ रक्‍तचाप को बनाए रखने में सहायक होते हैं। यदि आप भी उच्‍च रक्‍तचाप संबंधी समस्‍याओं से परेशान हैं तो इन लक्षणों को कम करने के लिए ब्‍लूबेरी का उपयोग कर सकते हैं। अध्‍ययनों के अनुसार नियमित रूप से 6 सप्‍ताह तक लगातार ब्‍लूबेरी का सेवन करने से रक्‍तचाप संबंधी समस्‍याओं को दूर किया जा सकता है।

(और पढ़े – हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाएं क्या नहीं खाएं…)

ब्‍लूबेरी से करें सूजन का उपचार – Blueberry se kare sujan ka upchar in Hindi

ब्‍लूबेरी से करें सूजन का उपचार – Blueberry se kare sujan ka upchar in Hindi

ब्‍लूबेरी में एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। जिसके कारण यह सूजन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में प्रभावी माना जाता है। इसके अलावा ब्लूबेरी में मौजूद औषधीय गुण और घटक ट्यूमर के विकास को नियंत्रित करने में भी सहायक होते हैं। ब्‍लूबेरी में विटामिन ए और सी ऐसे घटक हैं जो एंटीऑक्‍सीडेंट के रूप में कार्य करते हैं। जिससे सूजन संबंधी लक्षणों को दूर करने में मदद मिलती है।

(और पढ़े – सूजन के कारण, लक्षण और कम करने के घरेलू उपाय…)

ब्‍लूबेरी फ्रूट के फायदे मूत्र संक्रमण के लिए – Blueberry for Treat Urinary Tract in Hindi

ब्‍लूबेरी फ्रूट के फायदे मूत्र संक्रमण के लिए – Blueberry for Treat Urinary Tract in Hindi

मूत्र पथ संक्रमण संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए ब्‍लूबेरी का उपयोग किया जा सकता है। ब्‍लूबेरी में ऐसे घटक मौजूद होते हैं जो मूत्र पथ में मौजूद बैक्‍टीरिया और संक्रमण दोनों को प्रभावी रूप से दूर कर सकते हैं। हालांकि मूत्र पथ संक्रमण होने का प्रमुख कारण पौष्टिक और रेशेदार खाद्य पदार्थों और पर्याप्‍त मात्रा में तरल पेय पदार्थों का सेवन न करना हो सकता है। लेकिन ऐसी स्थिति होने के दौरान ब्‍लूबेरी का सेवन कर आप मूत्र संबंधी संक्रमण और अन्‍य समस्‍याओं से छुटकारा पा सकते हैं।

मूत्रपथ संबंधी संक्रमण होने की स्थिति में ब्लूबेरी, अंगूर, सेब और अन्‍य रसदार फलों का नियमित सेवन करना चाहिए।

(और पढ़े – मूत्र पथ संक्रमण (यूटीआई) के कारण, लक्षण और उपचार…)

ब्‍लू बैरीज़ के फायदे आंखों के लिए – Blueberry ke fayde aankho ke liye in Hindi

ब्‍लू बैरीज़ के फायदे आंखों के लिए – Blueberry ke fayde aankho ke liye in Hindi

रतौंधी और आंखों से जुड़ी अन्‍य समस्याओं और रोगों के इलाज के लिए विटामिन ए एक आवश्‍यक घटक होता है। ब्‍लूबेरी में विटामिन ए की अच्‍छी मात्रा होती है जिसके कारण यह आंखों से जुड़ी समस्‍याओं का प्रभावी रूप से इलाज कर सकता है। यदि आप भी अपनी आंखों को स्‍वस्‍थ रखना चाहते हैं तो नियमित रूप से सप्‍ताह में कम से कम 1 बार ब्‍लूबेरी का सेवन करना चाहिए।

(और पढ़े – आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय…)

ब्‍लूबेरी का फायदा त्‍वचा के लिए – Blueberry ka fayda Twacha ke liye in Hindi

विटामिन सी एक आवश्‍यक पोषक तत्‍व है जो त्‍वचा रोगों को दूर करने और त्‍वचा को स्‍वस्‍थ रखने में सहायक होता है। हम जाते हैं कि लगभग सभी खट्टे फलों में विटामिन सी की अच्‍छी मात्रा होती है। इन्‍हीं फलों में ब्‍लूबेरी भी आता है। आप अपनी त्‍वचा संबंधी सभी समस्‍याओं को दूर करने के लिए ब्‍लूबेरी का उपयोग कर सकते हैं। आइए जाने ब्‍लूबेरी के फायदे त्वचा के लिए क्‍या हैं।

ब्‍लूबेरी फ्रूट के फायदे मुंहासे दूर करे – Blueberry Fruits for Fight Acne in Hindi

ब्‍लूबेरी फ्रूट के फायदे मुंहासे दूर करे – Blueberry Fruits for Fight Acne in Hindi

यदि आप अपने चेहरे में मौजूद मुंहासों से परेशान हैं तो ब्‍लूबेरी इनका उपचार कर सकता है। उम्र बढ़ने के संकेत, झुर्रियां और मुंहासे आदि त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए भी ब्‍लूबेरी का सेवन किया जा सकता है। क्‍योंकि इसमें कई पोषक तत्‍व, खनिज पदार्थ और विटामिन होते हैं। जो त्‍वचा में मौजूद बैक्‍टीरिया और अन्‍य संक्रमण को दूर करने में प्रभावी होते हैं। त्‍वचा में मुंहासे त्‍वचा छिद्रों में मौजूद गंदगी, अतिरिक्‍त सेबम और बैक्‍टीरिया आदि के कारण होते हैं। लेकिन इन्‍हें नियंत्रित करने के लिए ब्‍लूबेरी का उपयोग किया जा सकता है।

मुंहासे दूर करने के लिए आप ब्‍लूबेरी को मसल कर पेस्‍ट बनाएं और इसमें शहद मिलाएं। इस तरह से आप अपने लिए एक फेस मॉस्‍क तैयार कर सकते हैं। आप इस फेस मॉस्क का उपयोग नि‍यमित रूप से प्रतिदिन चेहरे पर 15 से 20 मिनिट के लिए कर सकते हैं। ऐसा करने से आपको कुछ ही दिनों में मुंहासों से छुटकारा मिल सकता है।

(और पढ़े – मुँहासे में आहार प्रमुख भूमिका निभाता है जाने कैसे…)

ब्‍लूबेरी में होते हैं एंटी-एजिंग गुण – Blueberry for Anti-aging in Hindi

ब्‍लूबेरी में होते हैं एंटी-एजिंग गुण – Blueberry for Anti-aging in Hindi

आप उम्र बढ़ने संबंधी लक्षणों को कम करने के लिए ब्‍लूबेरी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। ब्‍लूबेरी में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट त्‍वचा कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से बचाते हैं। ये फ्री रेडिकल्‍स त्‍वचा कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाते हैं जिससे त्‍वचा झुर्ररीदार हो सकती है। इस प्रकार की स्थिति को दूर करने के लिए आप ब्‍लूबेरी, दही और शहद के पेस्‍ट का उपयोग कर सकते हैं। इस मिश्रण को आप प्रतिदिन अपने चेहरे पर 15 मिनिट के लिए लगाएं। नियमित रूप से इस फेस पैक का उपयोग करने से आप कुछ ही दिनों में झुर्रियों से छुटकारा पा सकते हैं।

(और पढ़े – बढ़ती उम्र (एजिंग) के लक्षण कम करने के उपाय…)

नीलबदरी के फायदे शुष्‍क त्‍वचा के लिए – Blueberry for Removal Of Dry Skin in Hindi

नीलबदरी के फायदे शुष्‍क त्‍वचा के लिए – Blueberry for Removal Of Dry Skin in Hindi

शरीर में पानी और फाइबर की कमी के कारण कई प्रकार की समस्‍याओं का सामना करना पड़ सकता है। शुष्‍क त्‍वचा संबंधी समस्‍या भी इन्‍हीं कारणों का परिणाम हो सकती है। लेकिन नियमित रूप से ब्‍लूबेरी आधारित फेस पैक का उपयोग करने से शुष्‍क त्वचा का इलाज किया जा सकता है। क्‍योंकि ब्‍लूबेरी हमें पर्याप्‍त मात्रा में फाइबर और पानी उपलब्‍ध कराता है। यदि आप शुष्‍क त्‍वचा का उपचार करना चाहते हैं तो ब्‍लूबेरी फेस पैक का उपयोग करने के साथ ही इसे अपने नियमित आहार में शामिल कर सकते हैं।

(और पढ़े – ड्राई स्किन (रूखी त्वचा) की देखभाल के तरीके…)

ब्‍लूबेरी का प्रयोग बालों के लिए – Blueberry ka prayog balo ke liye in Hindi

यदि आप भी बालों को स्‍वस्‍थ, सुंदर और मजबूत करना चाहते हैं तो ब्‍लूबेरी का उपयोग कर सकते हैं। क्‍योंकि ब्‍लूबेरी में ऐसे घटक मौजूद रहते हैं जो बालों को बढ़ने और अन्‍य बालों संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होते हैं। आइए जाने ब्‍लूबेरी के लाभ बालों के लिए क्‍या हैं।

ब्‍लूबेरी का इस्तेमाल बालों की वृद्धि के लिए – Blueberry for Promotes Hair Growth in Hindi

ब्‍लूबेरी का इस्तेमाल बालों की वृद्धि के लिए – Blueberry for Promotes Hair Growth in Hindi

ब्‍लूबेरी में रासायनिक प्रोएंथोसाइनिडिन (proanthocyanidins) मौजूद होते हैं जो बालों को बढ़ने में मदद करते हैं। इसके अलावा ये घटक बालों को झड़ने से भी बचाते हैं। बालों में ब्‍लूबेरी का उपयोग करने के लिए आप कुछ ब्‍लूबेरी को कुचल लें और इसे जैतून के तेल के साथ मिलाकर अपने बालों में लगाएं। इस मिश्रण को अपने बालों में 20 से 30 मिनिट तक लगाएं और फिर गुनगुने पानी से बालों को धो लें। ऐसा करने से आपके बालों को बढ़ने में आसानी होती है। साथ ही यह इन्‍हें मजबूत भी करता है जिससे इन्‍हें झड़ने से रोका जा सकता है।

(और पढ़े – बालों को तेजी से बढ़ाने के घरेलू उपाय…)

ब्‍लूबेरी है भूरे बालों का इलाज – Blueberry for Prevention Of Premature Graying Hair in Hindi

ब्‍लूबेरी है भूरे बालों का इलाज – Blueberry for Prevention Of Premature Graying Hair in Hindi

उम्र बढ़ने के साथ बालों का भूरा या सफेद होना सामान्‍य है। लेकिन यदि इस प्रकार की समसया युवा अवस्‍था में आये तो इसका समय पर उपचार किया जाना चाहिए। इस प्रकार की समस्‍या से बचने के लिए आप ब्‍लूबेरी का उपयोग कर सकते हैं। क्‍योंकि ब्‍लूबेरी में विटामिन बी12 अच्‍छी मात्रा में होता है। विटामिन बी12 समय से पहले बालों को सफेद होने से रोकता है। सफेद बालों का उपचार करने के लिए आप ब्‍लूबेरी को पीसकर एक पेस्‍ट बनाएं। इस पेस्‍ट में नारियल तेल या जैतून के तेल को मिलाएं और मिश्रण को 30 मिनिट के लिए अपने बालों में लगाएं। फिर अपने बालों को सामान्‍य पानी से धो लें। ऐसा करने से आप समय से पहले बालों को सफेद होने से बचा सकते हैं।

(और पढ़े – सफेद बालों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए घरेलू नुस्खे…)

ब्‍लूबेरी जूस बनाने की विधि – blueberry juice recipe in Hindi

स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त करने के लिए आप ब्‍लूबेरी का सेवन कर सकते हैं। लेकिन इसमें मौजूद पोषक तत्‍वों को प्राप्‍त करने का एक और तरीका ब्‍लूबेरी जूस का नियमित सेवन करना भी है। आइए जाने ब्‍लूबेरी जसूस बनाने की विधि क्‍या है। ब्‍लूबेरी जूस बनाने के लिए आपको बस उन्‍हें थोड़े से पानी के साथ मिलाना होगा। आप इसे और अधिक स्‍वादिष्‍ट बनाने के लिए नींबू के रस का उपयोग कर सकते हैं। जबकि आप इसमें चीनी को अपने स्‍वादानुसार मिला सकते हैं।

ब्‍लूबेरी जूस बनाने के लिए सामग्री –

  • 1 कप ताजा ब्‍लूबेरी
  • 1 कप पानी
  • 1 बड़ा चम्‍मच नींबू का रस
  • 1 से 2 बड़े चम्‍मच शक्‍कर

ब्‍लूबेरी जूस बनाने की विधि –

आप ब्‍लूबेरी को पहले अच्‍छी तरह से धोल लें क्‍योंकि इनमें कीटनाशकों का उपयोग किया जाता है। इसके लिए आप एक बर्तन में पानी लें और इसमें 1 बड़ा चम्‍मच सेब का सिरका मिलाएं। इस मिश्रण में ब्‍लूबेरी को 15 मिनिट के लिए छोड़ दें। इसके बाद ब्‍लूबेरी को ब्‍लेंडर की मदद ये ब्‍लेंड करें और इसमें 2 चम्‍मच शक्‍कर मिलाएं। हालांकि मिठास प्राप्‍त करने के लिए आप अपनी इच्‍छा अनुसार अन्‍य उत्‍पाद जैसे गुड़ या अन्‍य मीठे उत्‍पादों का उपयोग कर सकते हैं। अब इस मिश्रण में 1 कप ठंडा पानी डालें और इसमें 1 चम्‍मच ताजे नींबू का रस मिलाएं। आपका ब्‍लूबेरी जूस तैयार है। आप स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त करने और शरीर में पानी की कमी को दूर करने के लिए इस जूस कासेवन कर सकते हैं।

ब्‍लूबेरी जूस को स्‍टोर कैसे करें – How to Store Blueberry Juice in Hindi

सामान्‍य रूप से किसी भी प्रकार के जूस को ताजी अवस्‍था में सेवन करना अधिक फायदेमंद होता है। लेकिन यदि आप चाहें तो ब्‍लूबेरी जूस को 1 से 2 दिनों के लिए फ्रिज में स्‍टोर कर सकते हैं। हालांकि आपको सलाह दी जाती है कि आप ऐसा बहुत जरुरी होने पर ही करें।

ब्‍लूबेरी जूस को स्‍टोर करने के लिए आपको एयरटाइट ढक्‍कन बाले कांच की बोतल या जार का उपयोग करना चाहिए। आप इसमे ब्‍लूबेरी जूस को रखें और ढक्‍कन को अच्‍छी तरह से लगाकर फ्रिज में 1 से 2 दिन के लिए रख सकते हैं।

ब्‍लूबेरी जूस पीने का सही समय – Right time to drink blueberry juice in Hindi

ब्‍लूबेरी जूस पीने का कोई भी समय निर्धारित नहीं किया गया है। इसलिए दिन के किसी भी समय ब्‍लूबेरी जूस का सेवन किया जा सकता है। हालांकि सुबह के समय ब्‍लूबेरी जूस पीना अधिक फायदेमंद होता है। लेकिन आप अपने सुबह के नाश्‍ते के पहले या नाश्‍ते के साथ भी ब्लूबेरी जूस का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने दोपहर के भोजन और शाम के नाश्‍ते के बीच में भी ब्‍लूबेरी जूस का सेवन कर सकते हैं।

ब्‍लूबेरी के नुकसान – Blueberry ke Nuksan in Hindi

ब्‍लूबेरी के नुकसान – Blueberry ke Nuksan in Hindi

ब्‍लूबेरी का सेवन करना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए लाभकारी होता है। लेकिन कुछ परिस्थितियों में ब्‍लूबेरी का सेवन करने के साइड इफेक्‍ट्स भी हो सकते हैं। जो इस प्रकार हैं।

  • अधिक मात्रा में ब्‍लूबेरी का सेवन करने से पाचन संबंधी समस्‍याएं हो सकती हैं। क्‍योंकि ब्‍लूबेरी में फाइबर की अच्‍छी मात्रा होती है। जिससे अपच, कब्‍ज और दस्‍त जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं। जबकि सामान्‍स मात्रा में ब्‍लूबेरी खाना फायदेमंद होता है।
  • ब्‍लूबेरी में सैलिसिलेट (Salicylate) की अच्‍छी मात्रा होती है। इसलिए जिन लोगों को सैलिसिलेट संबंधी एलर्जी की समस्या है उन्‍हें अधिक मात्रा में ब्‍लूबेरी का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • ब्‍लूबेरी में विटामिन K की उच्‍च मात्रा होती है। जिसके कारण अधिक मात्रा में ब्‍लूबेरी का सेवन करने से निगलने, सांस लेने, बोलने और पाचन संबंधी समस्‍याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए लोगों को अधिक मात्रा में ब्‍लूबेरी का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • मधुमेह रोगी के लिए ब्‍लूबेरी के नुकसान हो सकते हैं यदि वह अधिक मात्रा में इनका सेवन करता है। क्‍योंकि अधिक मात्रा में ब्‍लूबेरी का सेवन करने से शरीर में रक्‍त शर्करा का स्‍तर बहुत ही निम्‍न स्‍तर पर जा सकता है।
  • गर्भावस्‍था और स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं को ब्‍लूबेरी का सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह लेनी चाहिए।
  • यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं। तब भी नियमित रूप से ब्‍लूबेरी का सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर की अनुमति लेना अनिवार्य है।

(और पढ़े – दस्‍त (डायरिया) के दौरान क्‍या खाएं और क्‍या ना खाएं…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration