अनियमित माहवारी का घरेलू इलाज और उपाय – Home remedies for irregular periods in hindi

अनियमित माहवारी का घरेलू इलाज और घरेलू उपाय - Home remedies for irregular periods in hindi
Written by Deepti

Irregular period ke liye gharelu upay in hindi : महिलाओं में अनियमित मासिक धर्म की समस्या बहुत आम है। कभी न कभी हर महिला को इसका सामना करना ही पड़ता है। यह समस्या अक्सर खराब जीवनशैली, मेनोपॉज, वजन के घटने या बढ़ने या फिर असंतुलित खानपान के कारण होती है। हालांकि , यह अपने आप ठीक हो जाती है, लेकिन कुछ मामलों में इसका इलाज जरूरी हो जाता है। वैसे तो, इरेगुलर पीरियड से राहत पाने के लिए कई तरह की दवाएं बाजार में उपलब्ध हैं, लेकिन आप चाहें तो घरेलू उपायों की मदद से भी अनियमित माहवारी की समस्या को ठीक कर सकती हैं। इस लेख में आप जानेंगीं अनियमित माहवारी के कारण और घरेलू उपाय के बारे में (causes of irregular menstruation and solution in Hindi)।

मासिक धर्म की सामान्य अवधि 28 दिन की होती है, इसमें 3-4 दिन आगे -पीछे होना सामान्य है। लेकिन कई बार अनेक समस्याएं इससे जुड़ जाती हैं, जिससे पीरियड अनियमित हो जाते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार अगर, चक्र की अवधि 35 दिनों से ज्यादा हो जाए, या 28 दिन में दो बार जल्दी-जल्दी पीरियड आ जाएं, बहुत ज्यादा या बहुत कम ब्लीडिंग हो, तो इसे “अनियमित मासिक धर्म” कहते हैं। इरेगुलर पीरियड्स को ऑलिगोमेनोरिया भी कहा जाता है। इस तरह की समस्याएं आगे चलकर गंभीर बीमारी का रूप ले लेती हैं। जिसके बाद महिलाओं के शरीर की बनावट में अंतर आने लगता है, बहुत ज्यादा गर्मी महसूस होती है, मूड स्विंग और योनी में सूखापन आने के साथ सेक्स ड्राइव में भी कमी आने लगती है।

10 से 16 साल की उम्र में अगर पीरियड्स अनियमित हो जाएं, तो चिंता की बात नहीं है, लेकिन प्रजनन अवधि के दौरान इरेगुलर पीरियड्स का उपचार बहुत जरूरी है। अगर आप भी अनियमित महावारी की समस्या से जूझ रही हैं, तो हमारे इस आर्टिकल में दी गई जानकारी आपके लिए मददगार साबित हो सकती है। इसमें आप इरेगुलर पीरियड्स से छुटकारा पाने के कई घरेलू नुस्खों के बारे में जान सकेगी, लेकिन इससे पहले जानिए अनियमित मासिक धर्म के कारणों के बारे में।

  1. क्या होता है अनियमित मासिक धर्म – What is irregular period in Hindi
  2. क्यों होती है अनियमित माहवारी – Irregular Periods reason in Hindi
  3. पीरियड अनियमित होने के कारण – Anniyamit mahwari ke karan in Hindi
  4. अनियमित मासिक धर्म के लक्षण – Symptoms of Irregular period in Hindi
  5. अनियमित मासिक धर्म के घरेलू नुस्खे – Irregular periods ke gharelu nuskhe in Hindi

क्या होता है अनियमित मासिक धर्म – What is irregular period in Hindi

क्या होता है अनियमित मासिक धर्म - What is irregular period in Hindi

अनियमित पीरियड्स से अर्थ दो पीरियड्स के बीच के अंतराल से है। यदि मासिक धर्म च्रक हर महीने सही समय पर आता है, तो उसे रेगुलर पीरियड्स यानि नियमित माहवारी कहते हैं। एक नियमित चक्र की लंबाई 21 से 35 दिनों तक कहीं भी हो सकती है। यह तब अनियमित माना जाता है, जब 35 दिनों के बाद भी माहवारी न हो। यदि पीरियड किसी महीने न भी आए, तो भी ये अनियमित माना जाता है। कभी-कभी पीरियड अगर आगे पीछे हो जाए, तो चिंता की बात नहीं है, लेकिन अक्सर ऐसा हो रहा हो, तो इसे अनदेखा करने के बजाए इसका घरेलू इलाज करना बेहतर है।

(और पढ़े – जानें पीरियड या मासिक धर्म चक्र क्‍या होता है…)

क्यों होती है अनियमित माहवारी – Irregular Periods reason in Hindi

क्यों होती है अनियमित माहवारी - Irregular Periods reason in Hindi

महिलाओं में अनियमित महावारी कई वजहों से होती है। अक्सर यह समस्या 10 से 16 साल की लड़कियों को होती है, जिनके पीरियड्स अभी शुरू ही हुए हैं। यह ओव्यूलेशन की वजह से होता है, जिसमें प्यूबर्टी के फीमेल हार्मोन्स असंतुलित हो जाते हैं, लेकिन एक से दो सालों में दिमाग और अंडाशय के हार्मोन्स का संतुलन बन जाता है और पीरियड्स रेगुलर हो जाते हैं।

(और पढ़े – मासिक धर्म (पीरियड्स) के देर से आने के कारण और उपाय…)

पीरियड अनियमित होने के कारण – Anniyamit mahwari ke karan in Hindi

पीरियड अनियमित होने के कारण - Anniyamit mahwari ke karan in Hindi

कई कारणों से अनियमित मासिक धर्म की संभावना बढ़ जाती है। ज्यादातर हार्मोन उत्पादन से संबंधित होते हैं। मासिक धर्म को प्रभावित करने वाले दो हार्मोन एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रॉन हैं। यही हार्मोन साइकिल को नियंत्रित करते हैं। अनियमित माहवरी के सामान्य और गंभीर दोनों कारण हो सकते हैं, जिसके बारे में आपको जानना बेहद जरूरी है। नीचे आप जान सकते हैं इरेगुलर पीरियड्स के कारणों के बारे में।

(और पढ़े – अनियमित मासिक धर्म के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार…)

अनियमित मासिक धर्म के लक्षण – Symptoms of Irregular period in Hindi

अनियमित मासिक धर्म के लक्षण - Symptoms of Irregular period in Hindi

एक मासिक धर्म लगभग 28 दिनों का रहता है, लेकिन ये व्यक्ति के आधार पर 24 से 35 दिनों तक अलग-अलग हो सकता है। ज्यादातर महिलाओं में हर साल 11 से 13 मासिक धर्म होते हैं। ब्लीडिंग भी लगभग 5 दिनों तक होती है, लेकिन किसी को दो, तो किसी को 7 दिन तक भी हो सकती है। जब मासिक धर्म शुरू होता है, तो नियमित चक्र स्थापित करने में दो साल तक का समय लग सकता है। यौवन के बाद, ज्यादातर महिलाओं का मासिक धर्म नियमित हो जाता है। अनियमित मासिक धर्म का मुख्य लक्षण तब होता है, जब पीरियड 35 दिनों से ज्यादा होता है या रक्त प्रवाह में परिवर्तन होते हैं या 2.5 सेंटीमीटर से ज्यादा के स्पॉट दिखाई देते हैं ।

(और पढ़े – पीरियड में ब्लीडिंग कम करने के घरेलू उपाय…)

अनियमित मासिक धर्म के घरेलू नुस्खे – Irregular periods ke gharelu nuskhe in Hindi

महिलाओं के पीरियड्स अनियमित होना तो आम बात है, लेकिन काफी समय से महावारी अनियमित हो, तो घरेलू नुस्खे अपनाकर देखिए। नीचे हमारे द्वारा इरेगुलर पीरियड्स से छुटकारा पाने के लिए दिए गए घरेलू नुस्खों से आपको काफी मदद मिलेगी।

अनियमित माहवारी का घरेलू उपाय पपीता – Irregular period ka gharelu upay unripe papaya in hindi

अनियमित माहवारी का घरेलू उपाय पपीता - Irregular period ka gharelu upay unripe papaya in hindi

हरा, बिना पका हुआ पपीता मासिक धर्म के प्रवाह को नियंत्रित करने में बहुत उपयोगी माना जाता है। यह गर्भाशय में मसल फाइबर को अनुबंधित करने में मदद करता है। कुछ महीने नियमित रूप से पपीता के रस का सेवन करें। बहुत फायदा मिलेगा। ध्यान रखें, कि इसे पीरियड्स के दौरान बिल्कुल न पीएं।

(और पढ़े – कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान…)

इरेगुलर पीरियड्स का घरेलू नुस्खा हल्दी – Irregular period ka upchar turmeric in Hindi

इरेगुलर पीरियड्स का घरेलू नुस्खा हल्दी - Irregular period ka upchar turmeric in Hindi

हल्दी को सबसे अच्छी औषधीय जड़ी-बूटियों में से एक माना जाता है। यह मासिक धर्म को नियमित करने और हार्मोन को संतुलित करने में सहायक है। हल्दी में पाए जाने वाले एंटीस्पास्मोडिक और एंटी इंफ्लेमेट्री गुण मासिक धर्म के दर्द से राहत देते हैं। इसके लिए दूध, शहद या गुड़ के साथ एक चौथाई हल्दी का सेवन करें। इसे कई हफ्तों तक रोजाना पीएं, जब तक आपके पीरियड्स रेगुलर न हो जाएं।

(और पढ़े – हल्दी और दूध के फायदे और नुकसान…)

अनियमित मासिक धर्म का घरेलू उपचार एलोवेरा – Anniyamit mahwar ka gharelu nuskha aloe Vera in Hindi

अनियमित मासिक धर्म का घरेलू उपचार एलोवेरा - Anniyamit mahwar ka gharelu nuskha aloe Vera in Hindi

एलोवेरा आपके पीरियड्स को रेगुलर करने में बहुत मददगार है। यह आपके हार्मोन को नियमित करके मासिक धर्म की अनियमितताओं का इलाज करने में मदद करता है। अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए एक एलोवेरा की पत्ती से ताजा जेल निकालें। इसे एक चम्मच शहद में मिलाएं और सुबह नाश्ते से पहले इस मिश्रण का सेवन करें। ध्यान रखें कि, अपने पीरियड्स के दौरान इस उपाय का इस्तेमाल न करें।

(और पढ़े – खाली पेट एलोवेरा खाने या एलोवेरा जूस पीने के फायदे…)

अनियमित पीरियड्स का प्राकृतिक इलाज अदरक- Irregular periods ka prakratik ilaj ginger in Hindi

अनियमित पीरियड्स का प्राकृतिक इलाज अदरक- Irregular periods ka prakratik ilaj ginger in Hindi

अदरक मासिक धर्म चक्र को विनियमित करने और अनियमित पीरियड्स से छुटकारा पाने के लिए सबसे अच्छा घरेलू इलाज साबित होता है। इसका उपयोग करने के लिए एक कप पानी में एक चम्मच अदरक डालकर 5 मिनट के लिए उबालें। थोड़ी चीनी मिलाएं और खाने के बाद दिन में तीन बार इस मिश्रण को पीएं। कुछ दिन बाद आपके पीरियड्स रेगुलर हो जाएंगे।

(और पढ़े – अदरक के फायदे, औषधीय गुण, उपयोग और नुकसान…)

इरेगुलर पीरियड की समस्या दूर करेगा जीरा – Cumin is best to cure irregular periods in Hindi

इरेगुलर पीरियड की समस्या दूर करेगा जीरा - Cumin is best to cure irregular periods in Hindi

जीरे के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। पानी में भीगे हुए जीरा का उपयोग अनियमित पीरियड के उपचार में किया जा सकता है। इसके लिए दो चम्मच जीरा लें और रातभर पानी में भिगो दें। सुबह उठकर जीरे वाला पानी पी लें। अपने पीरियड्स को नियमित करने के लिए हर दिन इस पानी का सेवन जरूर करें। बहुत लाभ मिलेगा।

(और पढ़े – जीरा पानी पीने के फायदे और नुकसान…)

अनियमित पीरियड्स से राहत के लिए अनानास खाएं – Irregular periods se rahat ke liye khaye pineapple in Hindi

अनियमित पीरियड्स से राहत के लिए अनानास खाएं - Irregular periods se rahat ke liye khaye pineapple in Hindi

अनानास मासिक धर्म से जुड़े मुद्दों के लिए बहुत अच्छा घरेलू उपाय है। इसमें ब्रोमेलैन नाम का एक एंजाइम पाया जाता है, जिसमें एंटी इंफ्लेमेट्री और पेन रिलीविंग गुण होते हैं, जो मासिक धर्म में अनियमितता और ऐंठन को कम करने में मदद करते हैं। इसके लिए हर दिन एक कप अनानास खाएं। अगली बार से आपके पीरियड रेगुलर हो जाएंगे।

(और पढ़े – अनानास के फायदे उपयोग और नुकसान…)

अनियमित पीरियड्स से छुटकारा दिलाए विनेगर – Irregular period se chutkara dilaye Apple Cider Vinegar in Hindi

अनियमित पीरियड्स से छुटकारा दिलाए विनेगर - Irregular period se chutkara dilaye Apple Cider Vinegar in Hindi

एप्पल साइडर विनेगर का सेवन करने से पीसीओएस वाली महिलाओं में मासिक धर्म को विनियमित करने में मदद मिल सकती है। यह कड़वा होता है, इसलिए कुछ लोगों के लिए इसका सेवन करना मुश्किल हो सकता है। इसलिए इसमें पानी और एक बड़ा चम्मच शहद मिलाकर पीएं।

(और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे, लाभ, गुण और नुकसान…)

अनियमित पीरियड्स को नियमित करने का उपाय विटामिन डी- Vitamin d to deal with irregular periods in Hindi

अनियमित पीरियड्स को नियमित करने का उपाय विटामिन डी- Vitamin d to deal with irregular periods in Hindi

शरीर में विटामिन डी की कमी आपके जोखिम को बढ़ा सकती है। लेकिन रोजाना विटामिन डी लेने से मासिक धर्म चक्र को विनियमित करने में मदद मिल सकती है। विटामिन डी आपको दूध, पनीर, दही के अलावा सूर्य की किरणों से भी मिल सकता है। वहीं विटामिन बी पीएमएस (PMS) को कम करने और मासिक धर्म चक्र को विनियमित करने में मददगार है।

(और पढ़े – विटामिन डी वाले आहार की जानकरी…)

महावारी को नियमित करने के लिए सौंफ – Eat fennel seed to regulate periods in Hindi

महावारी को नियमित करने के लिए सौंफ - Eat fennel seed to regulate periods in Hindi

सौंफ के बीज में एम्मेनागॉग एक यौगिक होता है, जो मासिक धर्म को नियमित करने में बहुत लाभदायक है। सौंफ के बीज में मौजूद एंटीस्पास्मोडिक गुण महावारी को नियमित करने के साथ ऐंठन से भी राहत दिलाते हैं। इसके लिए आप सौंफ की चाय पी सकते हैं। चाहें तो एक गिलास पानी में दो चम्मच सौंफ के बीज भिगोकर रख दें। सुबह उठकर इसे छान लें और सौंफ वाला पानी पी लें। बहुत आराम मिलेगा।

(और पढ़े – सौंफ का पानी पीने के फायदे और नुकसान…)

पीरियड्स को रेगुलर करने के लिए लें हेल्दी डाइट – Eat healthy to cure irregular periods in Hindi

पीरियड्स को रेगुलर करने के लिए लें हेल्दी डाइट - Eat healthy to cure irregular periods in Hindi

इरेगुलर पीरियड़्स की समस्या से राहत पाने के लिए स्वस्थ आहार लेना सबसे अच्छा उपाय है। कैफीन, चीनी और सैचुरेटिड फैट शरीर के हार्मोनल संतुलन को बिगाड़ सकता है। इसके बजाए अपने आहार में सब्जियां, साबुत अनाज, कम वसा वाले डेयरी उत्पाद आदि शामिल करें। इसके साथ ही धूम्रपान और शराब छोडऩे से भी आपको बहुत लाभ मिलेगा।

(और पढ़े – अनियमित पीरियड्स के लिए आहार…)

अनियमित महावारी से छ़ुटकारा दिलाए धनिए के बीज- Irregular periods se chutkara dilaye coriander seeds in Hindi

अनियमित महावारी से छ़ुटकारा दिलाए धनिए के बीज- Irregular periods se chutkara dilaye coriander seeds in Hindi

धनिया के बीज को इसके इमनेगॉग गुणों के कारण अनियमित पीरियड्स के लिए बहुत प्रभावशाली माना जाता है। इसका उपयोग करने के लिए एक चम्मच धनिया को दो कप पानी में तब तक उबालें, जब तक की पानी आधा न रह जाए। अब पानी को छान लें और अपने पीरियड्स से पहले कुछ दिन के लिए दिन में तीन बार धनिया के पानी का सेवन करें। इससे पीरियड रेगुलर और टाइम पर आएगा।

(और पढ़े – धनिया के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान…)

पीरियड्स को रेगुलर करने का घरेलू नुस्खा अनार – Periods ko regular karne ka nuskha anar in Hindi

पीरियड्स को रेगुलर करने का घरेलू नुस्खा अनार - Periods ko regular karne ka nuskha anar in Hindi

अनार के बीजों का रस पीरियड्स को नियमित करने के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए अपने पीरियड की तारीख से कम से कम 10-15 दिन पहले अनार का रस पीना शुरू कर दें। आप चाहें, तो अनार के रस को गन्ने के रस के साथ मिलाकर भी पी सकते हैं। पीरियड्स में नियमितता आएगी।

(और पढ़े – अनार के फायदे और नुकसान…)

अनियमित माहवारी का उपचार तिल – Sesame treatment of irregular menstruation in Hindi

अनियमित माहवारी का उपचार तिल - Sesame treatment of irregular menstruation in Hindi

तिल का सेवन पीरियड्स को नियमित करने के लिए बहुत अच्छा होता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए दो बार गर्म पानी के साथ एक चम्मच तिल के बीज खाएं। ध्यान रखें, कि इनका सेवन बहुत ज्यादा न करें, क्योंकि ये शरीर में गर्मी पैदा करते हैं। पीरियड की अपेक्षित तारीख से 15 दिन पहले इसे खाना शुरू कर दें, ताकि आपका पीरियड तय तारीख पर आ सके।

(और पढ़े – तिल के बीज और तिल के तेल के फायदे…)

मासिक धर्म को नियमित करने का उपाय दालचीनी – Irregular menstruation ko regular karne ka upay cinnamon in hindi

मासिक धर्म को नियमित करने का उपाय दालचीनी - Irregular menstruation ko regular karne ka upay cinnamon in hindi

दालचीनी न केवल खाने का स्वाद बढ़ाती है, बल्कि आपके मासिक धर्म को भी नियमित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यह आपके शरीर के भीतर गर्मी पैदा करती है। इसका उपयोग करने के लिए एक गिलास गर्म दूध लें। इसमें एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाएं और इसे पी लें। बता दें, कि यह घरेलू उपचार मासिक धर्म में होने वाली ऐंठन को दूर करने के लिए भी प्रभावी है।

(और पढ़े – दालचीनी के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान…)

योग और ध्यान से करें इरेगुलर पीरियड्स का उपचार – Yoga and meditation to regulate your menstrual cycle in Hindi

योग और ध्यान से करें इरेगुलर पीरियड्स का उपचार - Yoga and meditation to regulate your menstrual cycle in Hindi

तनाव शरीर में हार्मोनल अंसतुलन के प्राथमिक कारणों में से एक है, जो मासिक धर्म में अनियमितता को ट्रिगर करता है। ऐसे में योग और ध्यान तनाव से राहत दिलाने में मदद करते हैं। ध्यान शरीर में सही हार्मोनल संतुलन बनाए रखता है। बिना दवाईयों के अनियमित पीरियड्स को नियंत्रित करने के लिए योग और ध्यान सबसे प्रभावी तरीके हैं।

(और पढ़े – मेडिटेशन क्या होता है , प्रकार और करने के फायदे…)

अनियमित महावारी को नियंत्रित करने के लिए एक्सरसाइज करें – Do exercise for irregular periods in Hindi

अनियमित महावारी को नियंत्रित करने के लिए एक्सरसाइज करें - Do exercise for irregular periods in Hindi

इरेगुलर पीरियड्स के लिए एक्सरसाइज करना सबसे बढ़िया विकल्प है। यह आपके वजन को नियंत्रित कर मासिक धर्म को नियमित करने में मदद करती है। इरेगुलर पीरियड्स के उपचार के लिए, महिलाएं हर दिन 30 मनट तक एरोबिक एक्सरसाइज करें। पीरियड्स रेगुलर हो जाएंगे।

(और पढ़े – पीरियड में एक्सरसाइज करनी चाहिए या नहीं…

अनियमित मासिक धर्म चक्र को नियमित करने के अन्य टिप्स  – Tips for irregular periods in Hindi

अनियमित मासिक धर्म चक्र को नियमित करने के अन्य टिप्स  - Tips for irregular periods in Hindi

पीरियड्स को रेगुलर करने के लिए बादाम खाएं। यह फाइबर और प्रोटीन से भरपूर होते हैं, जो हार्मोन को संतुलित करने और रेगुलर पीरियड लाने में मदद करते हैं।

  • रोज सुबह एक गिलास ताजा अंगूर का रस पीएं। इससे आपको अनियमति पीरियड से छुटकारा मिल सकता है।
  • दही आपके शरीर को ठंडक प्रदान करता है। इसका सेवन करने से पीरियड्स रेगुलर होंगे।
  • अनियमित माहवारी की समस्या से बचने के लिए अंडे खाएं। यह प्रोटीन से भरपूर होते हैं, जो आपके शरीर को मासिक धर्म की समस्या से निपटने में मदद करते हैं।
  • सोया मिल्क में फाइटोएस्ट्रोजन होते हैं, जो अनियमित मासिक चक्र को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।
  • रेगुलर पीरियड्स के लिए विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थ खाएं। विटामिन सी की उच्च खुराक शरीर में एस्ट्रोजन के स्तर को बढ़ाकर मासिक धर्म को नियमित कर सकती है। विटामिन सी आपको खट्टे फल, कीवी, सब्जियों जैसे टमाटर, ब्रोकली और शिमला मिर्च से मिल सकता है।

पीरियड़्स का अनियमित होना वैसे तो आम बात है, लेकिन अगर आपको ऐसा हर महीने हो रहा हो, तो इससे निजात पाने के लिए जीवनशैली में बदलाव करना बहुत जरूरी है। इसके अलावा हमारे द्वारा ऊपर बताए गए घरेलू नुस्खों की मदद से भी इसका उपचार कर सकते हैं। यदि फिर भी आपके पीरियड्स रेग्युलर न हों, तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

(और पढ़े – पीरियड के दौरान क्‍या खाएं और क्‍या नहीं…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration