मासिक धर्म (पीरियड्स) के देर से आने के कारण और उपाय – Why is my period late in Hindi

मासिक धर्म (पीरियड्स) के देर से आने के कारण और उपाय - Why is my period late in Hindi
Written by Pratistha

क्या आप पीरियड्स देर से आने से परेशान हैं? लेकिन आप जानती हैं कि आप गर्भवती नहीं हैं? पीरियड का देर से आना गर्भावस्था के अलावा कई और भी कारणों से हो सकता है। इसके कारण हार्मोनल असंतुलन से लेकर गंभीर चिकित्सा स्थितियों तक हो सकते हैं। इस लेख में आप जानेगी पीरियड्स लेट होने के कारण इन हिंदी मासिक धर्म के देर से आने के कारण और पीरियड मिस होने पर क्या करें के बारे में।

1. पीरियड देर से आना इन हिंदी – Period Sahi Time Par Nahi Aana
2. मासिक धर्म में देरी के कारण आपका चक्र – Late periods causes in menstruation cycle in hindi

3. मासिक धर्म में देरी होने पर अपने डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए – When to see your doctor in delayed periods in Hindi
4. पीरियड मिस होने पर क्या करें और टिप्स – Tips on how to make my period come if it’s late in Hindi

5. पीरियड्स नहीं आने पर मासिक धर्म उत्पाद ढूंढें जो आपके लिए सही लगता है – Find suitable sanitary product for cure of delayed periods in Hindi

पीरियड देर से आना इन हिंदी – Period Sahi Time Par Nahi Aana

पीरियड देर से आना इन हिंदी - Period Sahi Time Par Nahi Aana

पीरियड मिस होने के कई कारण होते है आमतौर पर पीरियड्स मिस होने को प्रेगनेंसी का सिग्नल माना जाता है। लेकिन पीरियड्स जब मिस होते हैं, तो प्रेगनेंसी के आलावा कुछ और कारण भी होते हैं जिसके कारण पीरियड लेट हो सकता है आइये इन्हें जानते हैं।

(और पढ़े – पीरियड्स जल्दी लाने और रोकने के घरेलू उपाय…)

मासिक धर्म में देरी के कारण आपका चक्र – Late periods causes in menstruation cycle in hindi

  1. पीरियड्स लेट होने का कारण पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम (पीसीओएस) – Polycystic ovary syndrome (PCOS) cause of late periods in Hindi
  2. पीरियड्स न होने के कारण हो सकता है मोटापा – Delayed periods due to obesity in Hindi
  3. जन्म नियंत्रण गोलियों से पीरियड्स में देरी होना – Birth control pills cause of late period in Hindi
  4. माहवारी न आने के कारण तनाव – Stress causes delayed periods in Hindi
  5. थायराइड विकार के कारण माहवारी में देरी होना – Thyroida reason for delayed periods in Hindi
  6. पुरानी बीमारियां हैं पीरियड्स में देरी का कारण – Chronic diseases  a reason why periods are late in Hindi
  7. मासिक धर्म का रुकना हो सकता है प्रारंभिक पेरी मेनोपॉज – Early peri-menopauseand late period in Hindi
  8. मासिक धर्म बंद होने के लक्षण शरीर का वजन कम होना – Weight loss a cause for no periods in Hindi

एक महिला के जीवन में दो ही बार ऐसा होता है जब उसके पीरियड्स अनियमित होना पूरी तरह सामान्य बात होती हैं, पहले तब जब वह गर्भवती होती है और दूसरा तब जब वह रजोनिवृत्ति में प्रवेश करती है। इस वक्त उसकी माहवारी प्राकृतिक रूप से रुक जाती है।

ज्यादातर महिलाएं जो रजोनिवृत्ति तक नहीं पहुंच पाती हैं, उनमे आमतौर पर हर 28 दिनों में पीरियड्स होते हैं। हालांकि, एक स्वस्थ मासिक धर्म चक्र हर 21 से 35 दिनों तक का हो सकता है। यदि आपकी अवधि इन श्रेणियों के अन्दर नहीं आती है, तो यह निम्नलिखित कारणों में से किसी एक के कारण हो सकती है

(और पढ़े – अनियमित मासिक धर्म के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार…)

पीरियड्स लेट होने का कारण पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम (पीसीओएस) – Polycystic ovary syndrome (PCOS) cause of late periods in Hindi

पीरियड्स लेट होने का कारण पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम (पीसीओएस) - Polycystic ovary syndrome (PCOS) cause of late periods in Hindi

पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम (पीसीओएस) एक ऐसी स्थिति है जो आपके शरीर को पुरुष हार्मोन एंड्रोजन के अधिक उत्पादन होने के कारण बनती है। इस हार्मोन असंतुलन के परिणामस्वरूप अंडाशय पर सिस्ट बन जाते हैं। यह अंडोत्सर्ग को अनियमित बना सकता है या इसे पूरी तरह से रोक सकता है।

इंसुलिन जैसे अन्य हार्मोन भी संतुलन से बाहर हो सकते हैं। यह इंसुलिन प्रतिरोध का कारण है, जो पीसीओएस से जुड़ा हुआ है। पीसीओएस का ट्रीटमेंट इसके लक्षणों से राहत पाने पर केंद्रित है। डॉक्टर आपके मासिक धर्म चक्र को नियमित करने के लिए जन्म नियंत्रण या अन्य दवा निर्धारित कर सकता है।

(और पढ़े – पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के कारण,लक्षण और उपचार के उपाय…)

पीरियड्स न होने के कारण हो सकता है मोटापा – Delayed periods due to obesity in Hindi

पीरियड्स न होने के कारण हो सकता है मोटापा – Delayed periods due to obesity in Hindi

वजन का ज्यादा होना या बढ़ना शरीर में हार्मोनल परिवर्तन कर सकता है। हार्मोनल असंतुलन होने पर आपका डॉक्टर आपको आहार और व्यायाम योजना के बारे में बताएगा और यदि वे यह निर्धारित करते हैं कि मोटापा आपके मिस्ड पीरियड्स का एक कारण है।

(और पढ़े – अधिक मोटापा लक्षण, कारण और बचाव…)

जन्म नियंत्रण गोलियों से पीरियड्स में देरी होना – Birth control pills cause of late period in Hindi

जन्म नियंत्रण गोलियों से पीरियड्स में देरी होना – Birth control pills cause of late period in Hindi

जब आप जन्म नियंत्रण गोलियों का सेवन कर रहे हैं या इसे बंद करते हैं तो आप अपने मासिक धर्म में बदलाव का अनुभव कर सकते हैं। जन्म नियंत्रण गोलियों में हार्मोन एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टिन होते हैं, जो आपके अंडाशय को अंडे छोड़ने से रोकते हैं। गोली को रोकने के बाद आपके मासिक धर्म चक्र को सामान्य रूप से आने में में छह महीने तक लग सकते हैं। प्रत्यारोपित या इंजेक्शन वाले अन्य प्रकार के गर्भनिरोधक भी पीरियड्स में देरी का कारण बन सकते हैं।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक दवाओं और उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानें…)

माहवारी न आने के कारण तनाव – Stress causes delayed periods in Hindi

माहवारी न आने के कारण तनाव - Stress causes delayed periods in Hindi

तनाव आपके हार्मोन पर सीधा असर डालता है, आपकी दैनिक दिनचर्या बदल सकता है, और आपके दिमाग के उस हिस्से को भी प्रभावित कर सकता है जिससे आपके पीरियड्स विनियमित होते हैं- आपका हाइपोथैलेमस। समय के साथ, तनाव आप में बीमारी या अचानक वजन के बढ़ने या घटने से लेकर कई सारी स्तिथियाँ उत्पन्न कर आपके मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकता हैं।

अगर आपको लगता है कि तनाव आपके मासिक धर्म के चक्र को बदल रहा है, तो जीवनशैली में परिवर्तन करने का प्रयास करें और रेलाक्सेशन तकनीक अपनाएँ। अपने दिनचर्या में अधिक व्यायाम जोड़ने से आपको पीरियड्स ट्रैक पर वापस आने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़े – मानसिक तनाव के कारण, लक्षण एवं बचने के उपाय…

थायराइड विकार के कारण माहवारी में देरी होना – Thyroida reason for delayed periods in Hindi

थायराइड विकार के कारण माहवारी में देरी होना - Thyroida reason for delayed periods in Hindi

एक अति सक्रिय या अंडरएक्टिव थायराइड ग्रंथि देर से या मिस्ड पीरियड्स का कारण भी हो सकता है। थायराइड आपके शरीर के चयापचय को नियंत्रित करता है, इसलिए इससे हार्मोन का स्तर भी प्रभावित हो सकता है। थायराइड की समस्याओं का आमतौर पर दवा के साथ इलाज किया जा सकता है। उपचार के बाद, आपके पीरियड्स सामान्य हो जायेंगे।

(और पढ़े – थायराइड के लक्षण कारण व घरेलू उपचार…)

पुरानी बीमारियां हैं पीरियड्स में देरी का कारण – Chronic diseases  a reason why periods are late in Hindi

पुरानी बीमारियां हैं पीरियड्स में देरी का कारण – Chronic diseases  a reason why periods are late in Hindi

मधुमेह और सेलेक (diabetes and celiac) रोग जैसी पुरानी बीमारियां भी आपके मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकती हैं। रक्त शर्करा में परिवर्तन हार्मोनल परिवर्तन से जुड़े होते हैं, भले ही यह दुर्लभ है, खराब नियंत्रित मधुमेह आपकी अवधि अनियमित हो सकती है।

सेलेक रोग संक्रमण का कारण बनता है जो आपकी छोटी आंत में नुकसान पहुंचा सकता है, और इसके वजह से आपके शरीर को महत्वपूर्ण पोषक तत्वों का अवशोषिण रुक सकता है। यह देर से या मिस्ड पीरियड्स का कारण बन सकता है।

(और पढ़े – मधुमेह को कम करने वाले आहार…

मासिक धर्म का रुकना हो सकता है प्रारंभिक पेरी मेनोपॉज – Early peri-menopauseand late period in Hindi

मासिक धर्म का रुकना हो सकता है प्रारंभिक पेरी मेनोपॉज - Early peri-menopauseand late period in Hindi

ज्यादातर महिलाएं 45 से 55 वर्ष के बीच रजोनिवृत्ति शुरू करती हैं। 40 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लक्षणों को विकसित करने वाली महिलाएं प्रारंभिक पेरी मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) मानी जाती हैं। इसका मतलब है कि आपकी अंडे की आपूर्ति कम हो रही है, और इसका परिणाम है पीरियड्स का मिस होना जिसमे अंततः मासिक धर्म बंद होगा।

(और पढ़े – रजोनिवृत्ति के कारण, लक्षण और दूर करने के उपाय…)

मासिक धर्म बंद होने के लक्षण शरीर का वजन कम होना – Weight loss a cause for no periods in Hindi

मासिक धर्म बंद होने के लक्षण शरीर का वजन कम होना – Weight loss a cause for no periods in Hindi

ईटिंग डिसऑर्डर से पीड़ित महिलाएं, जैसे एनोरेक्सिया नर्वोसा या बुलीमिया (anorexia nervosa or bulimia), मिस्ड पीरियड का अनुभव कर सकती हैं। आपकी ऊंचाई के लिए सामान्य माना जाने वाला 10 प्रतिशत वजन कम होने से, आपके शरीर के कार्यक्षमता बदल सकती है और इससे अंडोत्सर्ग (ovulation) भी रुक जाता है। अपने खाने के विकार के लिए उपचार प्राप्त करें और स्वस्थ तरीके से वजन कम करके आपने चक्र को सामान्य रूप में वापस ले आयें। अत्यधिक अभ्यास में भाग लेने वाली महिलाएं जैसे मैराथन रनर भी अपनी पीरियड्स को रोक सकती हैं।

(और पढ़े – बॉडी को मजबूत बनाने के लिए क्या खायें, जानिए एक्सपर्ट क्या कहते है…)

मासिक धर्म में देरी होने पर अपने डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए – When to see your doctor in delayed periods in Hindi

मासिक धर्म में देरी होने पर अपने डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए – When to see your doctor in delayed periods in Hindi

आपका डॉक्टर आपकी देर से या मिस्ड पीरियड्स के कारण का सही तरीके से निदान कर सकता है और आपके उपचार विकल्पों पर चर्चा कर सकता है। अपने डॉक्टर को दिखाने के लिए अपने चक्र में बदलावों के साथ-साथ अन्य स्वास्थ्य परिवर्तनों का रिकॉर्ड रखें। इससे उन्हें निदान करने में मदद मिलेगी।

और यदि आपके पास निम्नलिखित लक्षण हैं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें:

(और पढ़े – पीरियड्स के दिनों में दर्द क्यों होता है जानें मुख्य कारण…)

पीरियड मिस होने पर क्या करें और टिप्स – Tips on how to make my period come if it’s late in Hindi

  1. देरी से मासिक धर्म आने पर नियमित व्यायाम करें – Exercise as a cure for delayed periods in Hindi
  2. पीरियड्स समय पर लाने के लिए तनाव करें कम – Reduce stress in late periods in Hindi
  3. पीरियड मिस होने पर करें दिनचर्या में बदलाव – Lifestyle changes in late periods in Hindi
  4. पीरियड्स न होने पर पैड रखें – Keep pad ready if delayed periods in Hindi
  5. पीरियड नहीं आने पर संतुलित आहार ले – Balanced diet for delayed periods in Hindi
  6. पीरियड्स न होने पर करे गर्म पानी से स्नान – Hot water bath in late periods in Hindi
  7. मासिक धर्म में देरी होने पर अपनी माहवारी को ट्रैक करें – Track your cycle in delay periods in Hindi

यहाँ हम आपको कुछ टिप्स बता रहें हैं जिससे आप खुद अपने पीरियड्स को सामान्य कर सकतीं हैं और अपना ख्याल रख सकती हैं। पीरियड्स को सामान्य करने के लिए घरेलू उपाय और पीरियड मिस होने पर क्या करें –

देरी से मासिक धर्म आने पर नियमित व्यायाम करें – Exercise as a cure for delayed periods in Hindi

देरी से मासिक धर्म आने पर नियमित व्यायाम करें – Exercise as a cure for delayed periods in Hindi

पीरियड्स समय पर लाने के लिए योग से लेकर क्रॉसफिट या जुम्बा तक आप जो भी व्यायाम पसंद करतें हो उसे करें। चाहे तो आप बस पैदल चलने के लिए बाहर जा सकते हैं या घर पर कुछ आसान यूट्यूब वर्कआउट्स कर सकते हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि किसी प्रकार का व्यायाम करना जो आपके दिमाग को चीजों से दूर ले जाता है और आपको अपने दैनिक कामकाज और दिनचर्या से बाहर निकलने में मदद करता है। और थोड़ा सा आपको एंडोर्फिन की एक छोटी किक दे देता है।

(और पढ़े – घर पर करें आसान वर्कआउट और कम करें वजन…)

पीरियड्स समय पर लाने के लिए तनाव करें कम – Reduce stress in late periods in Hindi

पीरियड्स समय पर लाने के लिए तनाव करें कम – Reduce stress in late periods in Hindi

पीरियड मिस होने पर तनाव को नियंत्रित करें ताकि पीरियड्स नार्मल हो सकें, इसके लिए केवल कुछ घंटों के लिए तनावपूर्ण भरी दैनिक दिनचर्या से बाहर निकले।

(और पढ़े – कोर्टिसोल (तनाव हार्मोन) को कम करने के उपाय…)

पीरियड मिस होने पर करें दिनचर्या में बदलाव – Lifestyle changes in late periods in Hindi

पीरियड मिस होने पर करें दिनचर्या में बदलाव – Lifestyle changes in late periods in Hindi

यदि आप कर सकते हैं, पीरियड मिस होने पर ध्यान लगायें और रिलैक्स करें। आप जोगिंग करने के बारे में भी प्रयास कर सकते हैं। अपना लैपटॉप बंद करें, अपना फोन बंद करें और आराम करने की कोशिश करें और खुद का ख्याल रखें (भले ही यह केवल आधा घंटा हो।)

(और पढ़े – जीवन में हमेशा सकारात्मक कैसे बने रहें…)

पीरियड्स न होने पर पैड रखें – Keep pad ready if delayed periods in Hindi

हमेशा पीरियड्स न होने पर अपने साथ एक पैड रखे और हो सके तो एक हल्का पैड पहने रहें जब मासिक के दिन हो भले ही पीरियड्स न आयें।

पीरियड्स नहीं आने पर संतुलित आहार ले – Balanced diet for delayed periods in Hindi

पीरियड्स नहीं आने पर संतुलित आहार ले – Balanced diet for delayed periods in Hindi

यह महत्वपूर्ण है कि पीरियड्स नहीं आने पर आप हर महीने संतुलित और स्वस्थ आहार लें। दालचीनी ,अनानास, पपीता आदि फल इसका घरेलू उपचार हैं।

(और पढ़े – संतुलित आहार के लिए जरूरी तत्व , जिसे अपनाकर आप रोंगों से बच पाएंगे…)

पीरियड्स न होने पर करे गर्म पानी से स्नान – Hot water bath in late periods in Hindi

पीरियड्स न होने पर करे गर्म पानी से स्नान – Hot water bath in late periods in Hindi

पीरियड्स देरी होने पर गर्म स्नान करने या अपने पेट पर गर्म पानी की बोतल या गर्म चेरी पत्थर का तकिया रखने का प्रयास करें और आराम से काम करें। एक किताब या पत्रिका पढ़ें, या अपना पसंदीदा शो देखें।

(और पढ़े – गर्म पानी से नहाना सही या ठंडे पानी से, जानिए विज्ञान क्या कहता है…)

मासिक धर्म में देरी होने पर अपनी माहवारी को ट्रैक करें – Track your cycle in delay periods in Hindi

मासिक धर्म में देरी होने पर अपनी माहवारी को ट्रैक करें – Track your cycle in delay periods in Hindi

अपने पीरियड्स की पहली डेट नोट करें, वे कितने दिन आये वह लिखे, रक्त के बहाव और उसके रंग के बारे में लिखे या और भी कोई जानकारी को नोट करे। आप पीरियड्स ट्रैक तीन महीने तक करे इससे आपको एक पैटर्न समझ में आएगा। ये सभी बातें आप आपने चिकित्सक से शेयर कर सकती हैं। कुछ शानदार ऐप्स उपलब्ध हैं जो आपके पीरियड्स को आसानी से ट्रैक करने में आपकी सहायता कर सकते हैं।

(और पढ़े – पीरियड्स की जानकारी और अनियमित पीरियड्स के लिए योग और घरेलू उपचार…)

पीरियड्स नहीं आने पर मासिक धर्म उत्पाद ढूंढें जो आपके लिए सही लगता है – Find suitable sanitary product for cure of delayed periods in Hindi

पीरियड्स नहीं आने पर मासिक धर्म उत्पाद ढूंढें जो आपके लिए सही लगता है - Find suitable sanitary product for cure of delayed periods in Hindi

आप कभी भी नहीं जानते कि आपकी मासिक कब शुरू हो रही है, इसलिए जब भी आपको लगता है कि आज का दिन हो सकता है, तो आप सावधानीपूर्वक अपने अंडरवियर को कुछ आंतरिक या बाहरी पीरियड्स के उत्पाद से सुरक्षित रखें।

मासिक धर्म कप एक अच्छा समाधान है, जब आपकी अवधि पीरियड्स में दिखाई देती है। आप इसे 12 घंटे तक छोड़ सकते हैं। यह कप एक स्वस्थ सामग्री से बने होते हैं, इसलिए वे आपको ड्राई नहीं करते हैं। यदि आपकी अवधि भारी है, तो वे अपनी उच्च क्षमता (3x सुपर टैम्पॉन) एक अच्छा समाधान हैं।

उम्मीद है कि आपको मासिक धर्म देरी से आने के बारे में सारी जानकारी मिली है जिसे आप ढूंढ रहे थे। याद रखें, प्रत्येक शरीर अलग-अलग काम करता है और यह महत्वपूर्ण है कि आप यह पता लगाएं कि आपके लिए सबसे अच्छा कोन सा उपाय काम करता है। पीरियड्स को सामान्य करने के कई तरीके हैं। किसी भी मामले में, यदि आप को कुछ भी प्रश्न हैं, तो अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

(और पढ़े – टैम्पोन का उपयोग कैसे करें फायदे और नुकसान…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration