पीरियड्स खुलकर न आने के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज – Light Period Causes, Symptoms And Home Treatment In Hindi

पीरियड्स खुलकर न आने के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज - Light Period Causes, Symptoms And Home Treatment In Hindi
Written by Anamika

Periods khul kar na ka gharelu upay in Hindi महिलाओं में मासिक धर्म होना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। आमतौर पर प्रत्येक 21 से 35 दिनों के बीच की अवधि में महिलाओं को मासिक धर्म होता है और यह 2 से 6 दिनों तक रहता है। हालाकिं मासिक धर्म की अवधि समय और परिस्थितियों के साथ बदलती रहती है। जैसे कि कमजोरी, तनाव, एनीमिया सहित कई अन्य शारीरिक समस्याओं के कारण मासिक धर्म प्रभावित होता है। इस कारण किसी महीने में सामान्य ब्लीडिंग होती है तो किसी महीने में महिला को पीरियड खुलकर नहीं आता है। यदि आप भी मासिक धर्म खुलकर न आने (Lighter periods) की समस्या से परेशान हैं तो इस लेख में हम पीरियड खुलकर न आने के कारण, लक्षण और घरेलू उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं।

1. पीरियड खुलकर न आने के कारण – Causes Of A Light Period In Hindi
2. पीरियड खुलकर न आने के लक्षण –  Symptoms of a light period in Hindi
3. मासिक धर्म खुलकर आने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Light Periods in Hindi

पीरियड खुलकर न आने के कारण – Causes Of A Light Period In Hindi

पीरियड खुलकर न आने के कारण - Causes Of A Light Period In Hindi

माना जाता है कि खराब जीवनशैली और दिनचर्या के कारण महिलाओं का मासिक धर्म प्रभावित होता है। लेकिन इसके अलावा भी ऐसे बहुत से कारण है जिसकी वजह से पीरियड खुलकर नहीं आता है। आइये जानते हैं मुख्य कारणों के बारे में।

खराब खानपान के कारण पीरियड का खुलकर न आना

खराब खानपान के कारण पीरियड का खुलकर न आना

महिलाओं के मासिक धर्म पर खानपान का असर अधिक पड़ता है। सही तरीके से भोजन न करने पर वजन घट जाता है और मासिक धर्म को रेगुलेट करने वाले हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं जिससे पीरियड खुलकर नहीं आता है।

(और पढ़े – अनियमित मासिक धर्म के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार…)

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) के कारण पीरियड्स में ब्लीडिंग कम होना

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) के कारण पीरियड्स में ब्लीडिंग कम होना

जब अंडाशय में अंडे परिपक्व नहीं हो पाते हैं तो अनियमित और लाइट ब्लीडिंग की समस्या हो जाती है जिसके कारण महिला बांझ भी हो सकती है।

(और पढ़े – पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के कारण,लक्षण और उपचार के उपाय…)

पर्याप्त नींद न लेने के कारण पीरियड्स में ब्लड कम आना

पर्याप्त नींद न लेने के कारण पीरियड्स में ब्लड कम आना

आठ से नौ घंटे की स्वस्थ नींद न लेने के कारण शरीर पर्याप्त मात्रा में कार्टिसोल का उत्पादन करता है। यह एक स्ट्रेस हार्मोन है जो मासिक धर्म को प्रभावित करता है।

(और पढ़े – हमें सोना क्यों जरूरी है और आपको कितने घंटों की नींद चाहिए…)

वजन के कारण पीरियड में ब्लड का कम आना

वजन के कारण पीरियड में ब्लड का कम आना

शरीर का वजन और वसा का प्रतिशत मासिक धर्म को प्रभावित कर सकता है। यदि किसी लड़की या महिला का वजन बहुत कम है तो उसके हार्मोन सामान्य रूप से काम नहीं करते हैं और यदि वजन बहुत ज्यादा है तब भी हार्मोन मासिक धर्म को प्रभावित करते हैं जिसके कारण पीरियड खुलकर नहीं आता है।

(और पढ़े – पीरियड्स जल्दी लाने और रोकने के घरेलू उपाय…)

तनाव लेने के कारण पीरियड्स का खुल कर न आना

तनाव लेने के कारण पीरियड्स का खुल कर न आना

अधिक तनाव देने पर मस्तिष्क मासिक धर्म चक्र हार्मोन को बदल देता है जिसके कारण पीरियड खुलकर नहीं आता है। जब तनाव कम हो जाता है तब पीरियड फिर से सामान्य हो जाता है।

(और पढ़े – कामकाजी महिलाओं में तनाव के कारण, लक्षण और उपाय…)

मासिक धर्म में कम रक्तस्राव के कारण अधिक एक्सरसाइज करना

मासिक धर्म में कम रक्तस्राव के कारण अधिक एक्सरसाइज करना

जो महिलाएं लगातार भारी एक्सरसाइज या वर्कआउट करती हैं उन्हें भी पीरियड खुलकर नहीं आता है। एथलीट महिलाओं को शरीर का वजन घटाने का दबाव ज्यादा रहता है जिसके कारण वो एनर्जी ड्रिंक का अधिक से अधिक प्रयोग करती हैं  जिससे पीरियड में खुलकर ब्लीडिंग नहीं होती है।

(और पढ़े – पीरियड्स की जानकारी और अनियमित पीरियड्स के लिए योग और घरेलू उपचार…)

हार्मोन के असंतुलन के कारण मासिक धर्म में कम रक्तस्राव होना

हार्मोन के असंतुलन के कारण मासिक धर्म में कम रक्तस्राव होना

महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन नामक हार्मोन एक साथ मिलकर मासिक धर्म को रेगुलेट करते हैं। लेकिन जब एक हार्मोन ज्यादा हो जाता है और दूसरा कम तो पीरियड खुलकर नहीं आता है।

(और पढ़े – महिलाओं में हार्मोन असंतुलन के कारण, लक्षण और इलाज…)

प्रेगनेंट होने पर पीरियड्स में ब्लीडिंग कम होना

प्रेगनेंट होने पर पीरियड्स में ब्लीडिंग कम होना

जब कोई महिला गर्भवती होती है तो योनि से हल्का खून निकलता है लेकिन रक्तस्राव खुलकर नहीं होता है इसे प्रत्यारोपण रक्तस्राव (implantation bleeding) कहते हैं। जब निषेचित अंडा गर्भाशय की परत से जुड़ जाता है तो इस तरह की ब्लीडिंग होती है।

(और पढ़े – प्रेगनेंसी में महिलाओं को ब्लीडिंग होने के कारण…)

स्तनपान कराने पर पीरियड्स खुल कर न होना

स्तनपान कराने पर पीरियड्स खुल कर न होना

बच्चे को जन्म देने के तुरंत बाद और स्तनपान कराने के कारण भी महिलाओं का पीरियड खुलकर नहीं आता है। स्तन में दूध का उत्पादन करने वाले हार्मोन (milk production hormone) अंडोत्सर्ग (ovulation) को रोकता है जिसके कारण पीरियड अनियमित हो जाता है और खुलकर नहीं आता है।

(और पढ़े – बच्चे को स्तनपान कराने से होते हैं ये बड़े फायदे…)

गर्भनिरोधक गोलियां लेने पर माहवारी में खून कम आना

गर्भनिरोधक गोलियां लेने पर माहवारी में खून कम आना

हार्मोनल बर्थ कंट्रोल पीरियड खुलकर न आने का कारण होता है। गर्भनिरोधक माध्यम जैसे पिल्स, पैच, रिंग और शॉट आदि शरीर में पर्याप्त अंडा नहीं बनने देती हैं जिसके कारण लाइट पीरियड होता है।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक दवाओं और उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानें…)

पीरियड खुलकर न आने के लक्षण –  Symptoms of a light period in Hindi

पीरियड खुलकर न आने के लक्षण -  Symptoms of a light period in Hindi

पीरियड्स में ब्लड कम आने की समस्या होने पर इसे बेहद आसानी से पहचाना जा सकता है क्योंकि इस दौरान सामान्य मासिक धर्म से बहुत कम ब्लीडिंग होती है। आइये जानते हैं पीरियड खुलकर न आने के लक्षण।

  • दो दिन से कम ब्लीडिंग होना
  • रक्तस्राव हल्का और बहुत धीमी गति से होना।
  • पहले और दूसरे दिन सामान्य ब्लींडिन न होना लेकिन पीरियड पूरी तरह से बंद भी न होना
  • मासिक धर्म देर से शुरू होना।
  • कम पैड लगाने की जरूरत पड़ना।

(और पढ़े – मासिक धर्म (पीरियड्स) के देर से आने के कारण और उपाय…)

मासिक धर्म खुलकर आने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Light Periods in Hindi

  1. माहवारी खुलकर आने के उपाय गाजर का जूस – Carrot Juice for Light Periods in Hindi
  2. पीरियड खुलकर ना आने का घरेलू उपाय अशोक का पेड़ – Ashoka Tree periods khul kar na ka gharelu upay in Hindi
  3. पपीता मासिक धर्म का उपाय इन हिंदी – Papaya masik dharm ka upay in hindi
  4. पीरियड खुलकर आने के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड – Omega 3 Fatty Acids for Light Periods in Hindi
  5. मासिक धर्म में कम रक्तस्राव का उपाय अदरक – Adrak masik dharm khulkar aane ka upay in hindi
  6. लाइट पीरियड के लिए दालचीनी – Cinnamon for Light Periods in Hindi

महिलाओं में माहवारी खुलकर न आने की समस्या हमेशा गंभीर नहीं मानी जाती है। कई बार कुछ मामूली कारणों से पीरियड प्रभावित हो जाता है लेकिन अगले ही महीने नॉर्मल भी हो जाता है। लेकिन फिर भी अगर मासिक धर्म खुलकर न आ रहा हो तो आपको ये घरेलू उपाय करना चाहिए।

माहवारी खुलकर आने के उपाय गाजर का जूस – Carrot Juice for Light Periods in Hindi

माहवारी खुलकर आने के उपाय गाजर का जूस - Carrot Juice for Light Periods in Hindi

इसमें भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है जो हार्मोन की क्रियाओं को बेहतर बनाने में प्रभावी तरीके से काम करता है। गाजर विटामिन ए का भी बढ़िया स्रोत होता है जो पीरियड को उत्तेजित करता है। पीरियड खुलकर आने के लिए रोजाना गाजर खाएं या नियमित रूप से सुबह एक गिलास गाजर का जूस पीएं।

(और पढ़े – गाजर खाने के फायदे और स्वास्थ्य लाभ और नुकसान…)

पीरियड खुलकर ना आने का घरेलू उपाय अशोक का पेड़ – Ashoka Tree periods khul kar na ka gharelu upay in Hindi

पीरियड खुलकर ना आने का घरेलू उपाय अशोक का पेड़ - Ashoka Tree periods khul kar na ka gharelu upay in Hindi

पुराने समय से ही माहवारी खुलकर आने के लिए अशोक के पेड़ उपयोगी रहा है। अशोक के पेड़ की छाल को उतारें और करीब 90 ग्राम छाल को 30 मिलीलीटर पानी में 10 मिनट तक उबालें और इसे छानकर प्रतिदिन दिन में दो या तीन बार पीएं। आपका पीरियड सामान्य हो जाएगा।

(और पढ़े – अशोक के पेड़ के फायदे और नुकसान…)

पपीता मासिक धर्म का उपाय इन हिंदी – Papaya masik dharm ka upay in hindi

पपीता मासिक धर्म का उपाय इन हिंदी - Papaya masik dharm ka upay in hindi

प्रतिदिन 200 ग्राम कच्चा पपीता खाने से पीरियड खुलकर न आने (scanty menstrual flow) की समस्या दूर हो जाती है। पपीता गर्भाशय की दीवारों को संकुचित (contraction) करने में मदद करता है और रक्त के प्रवाह को बेहतर बनाता है जिसके कारण मासिक धर्म नियमित हो जाती है और खुलकर आती है।

(और पढ़े – पपीता खाना क्यों है सेहत के लिए लाभकारी…)

पीरियड खुलकर आने के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड – Omega 3 Fatty Acids for Light Periods in Hindi

पीरियड खुलकर आने के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड - Omega 3 Fatty Acids for Light Periods in Hindi

डॉक्टरों का मानना है कि प्रत्येक महिला को रोजाना ओमेगा 3 फैटी एसिड का सेवन करना चाहिए। यह शरीर में हार्मोन का उत्पादन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और पीरियड खुलकर न आने की समस्या को दूर करता है। महिलाओं को अपने भोजन में ओमेगा 3 फैटी एसिड जैसे अलसी, अखरोट, साल्मन मछली (salmon) और कॉड लिवर ऑयल (cod liver oil) का प्रयोग करना चाहिए।

(और पढ़े – ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर 10 खाद्य पदार्थ…)

मासिक धर्म में कम रक्तस्राव का उपाय अदरक – Adrak masik dharm khulkar aane ka upay in hindi

मासिक धर्म में कम रक्तस्राव का उपाय अदरक - Adrak masik dharm khulkar aane ka upay in hindi

ताजे अदरक का रस माहवारी खुलकर न आने की समस्या का एक बेहतर घरेलू इलाज है। ताजे अदरक की गांठ लें और इसे अच्छी तरह धोकर काट लें और पानी में उबालें। फिर इसे छानकर एक चम्मच शहद और एक चम्मच नींबू का रस मिलाएं और प्रतिदिन दिन में दो बार पीएं। आपका पीरियड खुलकर आने लगेगा।

(और पढ़े – अदरक के फायदे, औषधीय गुण, उपयोग और नुकसान…)

लाइट पीरियड के लिए दालचीनी – Cinnamon for Light Periods in Hindi

लाइट पीरियड के लिए दालचीनी - Cinnamon for Light Periods in Hindi

वैज्ञानिकों का मानना है कि दालचीनी में अच्छे स्वास्थ्य के गुण छिपे होते हैं। अगर आपका मासिक धर्म खुलकर नहीं आता है तो दालचीनी पाउडर को पानी में उबालें और छानकर दिन में दो बार पीएं। इसके अलावा गर्म दूध और चाय के साथ भी दालचीनी पाउडर का सेवन किया जा सकता है। स्वस्थ मासिक धर्म के लिए यह बहुत प्रभावी होता है।

(और पढ़े – दालचीनी चाय के फायदे और नुकसान…)

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration