क्रैनबेरी (करौंदा) जूस के फायदे और नुकसान – Cranberry juice benefits and side effects in Hindi

क्रैनबेरी (करौंदा) जूस के फायदे और नुकसान - Cranberry juice benefits and side effects in Hindi
Written by Jaideep

Cranberry juice benefits in Hindi करौंदा या क्रैनबेरी जूस के फायदे और नुकसान संबंधी जानकारी आपको हैरान कर सकती है। क्‍योंकि अभी तक आप क्रैनबेरी फल को केवल स्‍वाद के लिए उपयोग करते थे। लेकिन करौंदे का जूस पीने के फायदे आपकी स्वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने का बेहतरीन तरीका होता है। क्रेनबेरी जूस का उपयोग कर आप हृदय संबंधी समस्‍याओं और कई पुरानी बीमारियों का इलाज कर सकते हैं। क्रेनबेरी जूस के फायदे विशेष रूप से महिलाओं के लिए होते हैं जो उन्‍हें रजोनिवृत्ति के लक्षणों से छुटकारा दिला सकता है। ये सभी लाभ क्रैनबेरी जूस के औषधीय गुणों के कारण होते हैं। हालांकि करोंदे के जूस के साइड इफेक्‍ट भी होते हैं जो कि सामान्‍य हैं। आज इस लेख में आप करोंदे का जूस पीने के फायदे, और नुकसान संबंधी जानकारी प्राप्‍त करेगें।

  1. क्रैनबेरी जूस क्‍या है – What is Cranberry Juice in Hindi
  2. क्रैनबेरी का अर्थ – cranberry meaning in Hindi
  3. क्रैनबेरी जूस में अच्‍छा क्‍या है – What is Cranberry Juice good for in Hindi
  4. क्रैनबेरी जूस के पोषक तत्‍व – Cranberry Juice Nutrition in Hindi
  5. करौंदे का जूस पीने के फायदे – Cranberry juice Health Benefits in Hindi
  6. घर पर क्रैनबेरी जूस कैसे बनाएं – How to Make Cranberry Juice at Home in Hindi
  7. क्रैनबेरी जूस को स्‍टोर कैसे करें – How to Store Cranberry Juice in Hindi
  8. क्रैनबेरी जूस पीने का सही समय – Cranberry Juice pine ka sahi samay in Hindi
  9. क्रैनबेरी जूस की अनुशंसित खुराक क्‍या है – Cranberry Juice Recommended Dose in Hindi
  10. क्रैनबेरी जूस पीने के नुकसान – Cranberry ke Nuksan in Hindi

क्रैनबेरी जूस क्‍या है – What is Cranberry Juice in Hindi

क्रैनबेरी जूस को करोंदे के फल से बनाया जाता है। भारत में क्रैनबेरी को करौंदा के नाम से जाना जाता है। यह फल स्‍वाद में खट्टा होता है लेकिन इसमें अद्भुद औषधीय गुण होते हैं। क्रैनबेरी का फल एरिकसी परिवार (Ericaceae family) से संबंधित है जिसका वैज्ञानिक नाम वैक्‍सीनिय‍म मैक्रोकारपोन (Vaccinium macrocarpon) है। आप स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्त करने के लिए इस औषधीय फल का सेवन कर सकते हैं। लेकिन ऐसा माना जाता है कि क्रैनबेरी जूस के फायदे फल की तुलना में अधिक होते हैं।

क्रैनबेरी का अर्थ – cranberry meaning in Hindi

क्रैनबेरी का अर्थ – cranberry meaning in Hindi

क्रैनबेरी का अर्थ उस खट्टे फल से है जिसे हम करौंदा के नाम से जानते हैं। करौंदा का पौधा झाड़ीनुमा होता है जिसमें बड़े-बड़े कांटे होते हैं जो पौधा अपनी सुरक्षा के लिए स्‍वयं पैदा करते हैं। करौंदा का फल शुरुआत में हरा होता है जिससे सफेद दूध निकलता है। लेकिन धीरे-धीरे बढ़ने के साथ ही इसका रंग बैंगनी होने लगता है। जब यह फल पूरी तरह से पक जाता है तब यह गहरा बैंगनी रंग ले लेता है।

(और पढ़े – करोंदा (क्रैनबेरी) के फायदे और नुकसान…)

क्रैनबेरी जूस में अच्‍छा क्‍या है – What is Cranberry Juice good for in Hindi

क्रैनबेरी जूस फ्रुट एक्‍सट्रेक्‍ट या क्रैनबेरी कॉन्‍संट्रेट से बनाया जाता है। जिसका इस्‍तेमाल विभिन्‍न सॉस और कॉकटेल बनाने के लिए किया जाता है। इस प्रकार के कॉकटेल कृत्रिम स्‍वीटनर या फ्रुक्‍टोज के साथ मिश्रित क्रैनबेरी जूस का लगभग 30 प्रतिशत है। 1 लीटर क्रैनबेरी जूस प्राप्‍त करने के लिए लगभग 1500 ग्राम क्रैनबेरी फलों का उपयोग किया जाता है।

औषधीय गुण होने के कारण करौंदा फल के अर्क का उपयोग दवाओं, जैल और टॉनिक आदि को बनाने के लिए किया जाता है। ड्राई क्रैनबेरी भी स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं जिन्‍हें नाश्‍ते में और अन्‍य प्रकार के व्‍यंजनों में उपयोग किया जा सकता है।

क्रैनबेरी जूस के पोषक तत्‍व – Cranberry Juice Nutrition in Hindi

क्रैनबेरी जूस के पोषक तत्‍व – Cranberry Juice Nutrition in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि क्रैनबेरी जूस के पोषक तत्‍व इस प्रजाति के अन्‍य फलों की तुलना में बहुत अधिक होते हैं। करौंदे के जूस में एंटीऑक्‍सीडेंट और विटामिन की अच्‍छी मात्रा होती है। क्रैनबेरी जूस विटामिन सी और सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) की अच्‍छा स्रोत होता है। इसके अलावा करौंदा फल में खनिज की बात की जाये तो इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, फास्‍फोरस, और पोटेशियम भी होता है। क्रैनबेरी में बी-विटामिन जैसे थियामिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन बी6 के साथ ही विटामिन ई भी होता है। क्रैनबेरी जूस के अन्‍य पोषक तत्‍वों में सोडियम, जस्‍ता, विटामिन ए, फोलेट और विटामिन K (phylloquinone) भी होता है। 1 कप क्रैनबेरी जूस में 87 प्रतिशत हिस्‍सा पानी का होता है।

(और पढ़े – विटामिन और उनकी कमी से होने वाले रोग…)

करौंदे का जूस पीने के फायदे – Cranberry juice Health Benefits in Hindi

क्रैनबेरी फल में औषधीय गुणों की अच्‍छी मात्रा होती है जिसके कारण क्रैनबेरी रस का भी औषधीय उपयोग किया जा सकता है। नियमित रूप से क्रेनबेरी जूस का सेवन करने से आपको कई सामान्‍य और गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से छुटकारा मिल सकता है। आइए जाने क्रेनबेरी के फायदे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए क्‍या हैं।

क्रैनबेरी जूस के फायदे मूत्रपथ संक्रमण ठीक करे – Cranberry Juice ke fayde UTI infection ke liye in Hindi

क्रैनबेरी जूस के फायदे मूत्रपथ संक्रमण ठीक करे – Cranberry Juice ke fayde UTI infection ke liye in Hindi

क्रैनबेरी में एंजाइम गुण होते हैं जो मूत्र पथ में यूरोपीथियल कोशिकाओं (uroepithlial cells) को नुकसान पहुंचाने वाले ई कोलाई संक्रमण को रोकते हैं। क्रैनबेरी में प्रोएंथोसाइनिडिन्‍स (proanthocyanidins) या पीएसीएस नामक यौगिक की अच्‍छी मात्रा होती है जो मूत्राशय को संक्रमित करने वाले बैक्‍टीरिया की रोकथाम करने में सहायक होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि क्रैनबेरी प्रकृति में अम्‍लीय होता है। जिसके कारण मूत्रपथ को संक्रमित करने वाले बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करने और उन्‍हें बाहर निकालने में प्रभावी मदद करता है। मूत्र पथ संबंधी संक्रमण का इलाज करने के लिए बहुत से डॉक्‍टरों द्वारा करौंदा के जूस का सेवन करने की सलाह भी दी जाती है। यदि आप भी अपने मूत्रपथ संबंधी संक्रमण का इलाज करना चाहते हैं तो क्रैनबेरी जूस का नियमित सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – मूत्र पथ संक्रमण (यूटीआई) के कारण, लक्षण और उपचार…)

करौंदे का जूस पीने के फायदे प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाये – Cranberry Juice for Boost immunity in Hindi

करौंदे का जूस पीने के फायदे प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाये – Cranberry Juice for Boost immunity in Hindi

नियमित रूप से क्रैनबेरी जूस का सेवन आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। जो लोग कुछ विशेष प्रकार के संक्रमण और चिकित्‍सा जटिलताओं के लिए अतिसंवेदनशील होते हैं उन्‍हें दैनिक आधार पर नियमित रूप से क्रैनबेरी जूस का सेवन करना चाहिए। क्रैनबेरी जूस का उपयोग करने से सर्दी, बुखार, खांसी और वायरल संक्रमण को दूर रखने में मदद मिलती है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि क्रैनबेरी जूस में विटामिन सी की अच्‍छी मात्रा होती है जो एक एंटीऑक्‍सीडेंट है। यह एंटीऑक्‍सीडेंट हमारे शरीर की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्‍स से बचाते हैं।

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

क्रेनबेरी जूस लाभ ट्यूमर के लिए – Cranberry Juice labh Tumor ke liye in Hindi

क्रेनबेरी जूस लाभ ट्यूमर के लिए – Cranberry Juice labh Tumor ke liye in Hindi

एंटीऑक्‍सीडेंट और पानी की अच्‍छी मात्रा होने के कारण क्रैनबेरी जूस ट्यूमर के विकास को कम करता है। नियमित रूप से करौंदे के जूस का सेवन करने से शरीर में हानिकारक कार्सिजोजेनिक (carcinogenic) कोशिकाओं और फ्री रेडिकल्‍स के विकास को रोकने में मदद मिलती है। ये कोशिकाएं कैंसर ट्यमर के विकास के लिए जिम्‍मदार होती हैं। लेकिन नियमित रूप से करौंदे का जूस का सेवन करने पर आपकी किडनी को साफ और स्वस्‍थ रखा जा सकता है। जिससे शरीर में मौजूद विषाक्‍तता को आसानी से बाहर निकाला जा सकता है। कार्सिनोजेनिक कोशिकाएं ब्रेस्‍ट कैंसर, प्रोस्‍टेट कैंसर और पेट के कैंसर का कारण होती हैं। इन सभी कैंसरों से बचने के लिए आप क्रैनबेरी जूस का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – खाएं ये चीजें, नहीं होगा ब्रेस्ट कैंसर…)

क्रेनबेरी जूस के लाभ दिल के लिए – Cranberry Juice ke labh Dil ke liye in Hindi

क्रेनबेरी जूस के लाभ दिल के लिए – Cranberry Juice ke labh Dil ke liye in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि एंटीऑक्‍सीडेंट की अच्‍छी मौजूदगी के कारण क्रैनबेरी जूस दिल को स्‍वस्‍थ रखने में सहायक होता है। करौंदा में फ्लेवोनाइड्स होते हैं जो धमनियों में जमा अतिरिक्‍त वसा, कैल्शियम और खराब कोलेस्‍ट्रॉल को दूर करने में सहायक होते हैं। इसके अलावा क्रैनबेरी का रस धमनियों को स्‍वस्‍थ और नरम रखने में भी सहायक होता है जिससे स्‍वस्‍थ रक्‍त परिसंचरण बना रहता है। पोटेशियम की अच्‍छी मात्रा होने के कारण क्रैनबेरी जूस हृदय के लिए और भी अधिक लाभकारी हो जाता है। क्‍योंकि पोटेशियम उच्‍च रक्‍तचाप संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में प्रभावी होता है। आप भी अपने दिल को स्‍वस्‍थ रखने के लिए क्रैनबेरी जूस का सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – दिल को स्‍वस्‍थ रखने के लिए सर्वश्रेष्‍ठ आहार…)

क्रैनबेरी रस के फायदे वजन कम करे – Cranberry Juice benefits for weight loss in Hindi

क्रैनबेरी रस के फायदे वजन कम करे – Cranberry Juice benefits for weight loss in Hindi

जो लोग अपना वजन घटाना चाहते हैं उनके लिए क्रैनबेरी जूस सबसे अच्‍छा विकल्‍प होता है। नियमित रूप से क्रैनबेरी जूस का सेवन करने से शरीर में मौजूद अतिरिक्‍त वसा को कम किया जा सकता है। क्‍योंकि क्रैनबेरी जूस हमारे चयापचय को बढ़ावा देता है। जिससे ऊर्जा उत्‍पादन के लिए शरीर में जमा अतिरिक्‍त चर्बी या वसा का उपयोग कर लिया जाता है। परिणाम स्‍वरूप शरीर से चर्बी धीरे-धीरे कम होने लगती है जो आपके मोटापे का प्रमुख कारण होती है। यदि आप वर्कआउट करते हैं तो नियमित रूप से वर्कआउट करने के पहले 1 कप क्रैनबेरी जूस का सेवन करें। ऐसा करने से यह आपके वजन को नियंत्रित करने के साथ ही आपको तत्‍काल ऊर्जा भी उपलब्ध कराता है।

(और पढ़े – वजन कम करने के लिए जूस रेसिपी…)

क्रैनबेरी जूस का लाभ हड्डियों के लिए – Cranberry Juice benefits for Bones in Hindi

क्रैनबेरी जूस का लाभ हड्डियों के लिए – Cranberry Juice benefits for Bones in Hindi

यदि आप अपनी हड्डियों को स्‍वस्‍थ रखना चाहते हैं तो नियमित आहार में क्रैनबेरी और क्रैनबेरी जूस को शामिल करें। क्रैनबेरी जूस कैल्शियम का भंडार माना जाता है जो कि हमारी हड्डियों के लिए प्रमुख और आवश्‍यक घटक है। लेकिन नियमित रूप से क्रैनबेरी जूस का सेवन करने से आप अपनी हड्डियों और दांतों को स्‍वस्‍थ रख सकते हैं। साथ ही क्रैनबेरी में मौजूद अन्‍य खनिज पदार्थ और घटक आपके नाखूनों को भी स्‍वस्‍थ रखने में सहायक होते हैं। अधिकांश लोगों को उम्र बढ़ने के साथ ही हड्डियों संबंधी समस्‍या ऑस्टियोपोरोसिस होने की संभावना बढ़ जाती है। यदि आप इस रोग की संभावना को कम करना चाहते हैं तो क्रैनबेरी जूस के औषधीय गुणों का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – हड्डी मजबूत करने के लिए क्या खाएं…)

करौंदे का जूस पीने के फायदे दांतों के लिए – Cranberry Juice ke Fayde teeth ke liye in Hindi

करौंदे का जूस पीने के फायदे दांतों के लिए – Cranberry Juice ke Fayde teeth ke liye in Hindi

क्रैनबेरी का रस आपके दांतों और मसूड़ों को स्‍वस्‍थ रखने में मदद करता है। यह दांतों की सड़न को रोकने में प्रभावी होता है क्‍योंकि इसमें प्रोएन्‍थोसायनिडिन नामक एक सक्रिय यौगिक होता है। यह घटक दांतों में रासायनिक पट्टिका के विकास को रोकता है और दांतों को सड़ने से बचाता है। क्रेनबेरी जूस का खट्टा स्‍वाद और अम्‍लीय प्रकृति मुंह में मौजूद संक्रमण और बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करने में सहायक होती है। यदि आप मुंह की बदबू संबंधी समस्‍या से भी परेशान हैं तब भी क्रैनबेरी जूस आपकी मदद कर सकता है। इस तरह से आप अपने मुंह संबंधी स्वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने के लिए क्रैनबेरी जूस का नियमित उपयोग कर लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – दांतों को मजबूत करने के उपाय…)

करौंदा जूस के फायदे मधुमेह के लिए – Karonda juice ke fayde Madhumeh ke liye in Hindi

करौंदा जूस के फायदे मधुमेह के लिए – Karonda juice ke fayde Madhumeh ke liye in Hindi

करौंदा को क्रैनबेरी के नाम से भी जाना जाता है। मधुमेह रोगियों के लिए करौंदे का जूस बहुत ही फायदेमंद होता है। नियमित रूप से क्रैनबेरी जूस का सेवन करने से रक्‍त शर्करा के स्‍तर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। यही कारण है बहुत से चिकित्‍सक मधुमेह प्रकार 2 के रोगियों को नियमित रूप से क्रैनबेरी जूस का सेवन करने की सलाह देते हैं। यदि आप भी मधुमेह रोगी हैं तो मधुमेह के लक्षणों को कम करने के लिए क्रैनबेरी जूस को अपने दैनिक आहार में शामिल कर लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – मधुमेह रोगियों के खाने के लिए फल की सूची…)

करौंदा जूस के लाभ पेट स्‍वस्‍थ रखे – Karonda Juice ke labh pet swasth rakhe in Hindi

करौंदा जूस के लाभ पेट स्‍वस्‍थ रखे – Karonda Juice ke labh pet swasth rakhe in Hindi

करौंदे के जूस या क्रैनबेरी जूस में एंथोसायनिन, फ्लेवोन और प्रोएंथोसाइनिडिन होते हैं। ये सभी घटक पेट को स्‍वस्‍थ रखने में सहायक होते हैं विशेष रूप से संक्रमण और आंतों सबंधी समस्‍याओं के लिए। क्रैनबेरी जूस में मौजूद एंजाइम पेप्टिक अल्‍सर के विकास को रोकने में प्रभावी योगदान देते हैं। नियमित रूप से क्रैनबेरी जूस का सेवन करने से एच पाइलोरी बैक्‍टीरिया के प्रसार को पूरी तरह से रोकने में मदद करते हैं। यह बैक्‍टीरिया आपके पेट की अंदरूनी सतह में सूजन पैदा करता है जिससे पेट का दर्द और अन्‍य समस्‍याएं हो सकती है। लेकिन आप अपने पेट के स्‍वास्‍थ्‍य को बनाए रखने के लिए क्रैनबेरी जूस का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – बच्चों में पेट दर्द के लिए घरेलू उपचार…)

क्रैनबेरी जूस के गुण सोरायसिस को रोके – Cranberry Juice ke gun Psoriasis ko roke in Hindi

क्रैनबेरी जूस के गुण सोरायसिस को रोके – Cranberry Juice ke gun Psoriasis ko roke in Hindi

क्रैनबेरी का रस डैंड्रफ को रोकने में मदद करता है। क्‍योंकि इसमें एंटीफंगल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। इसके अलावा नियमित रूप से क्रैनबेरी जूस का सेवन करने से सोरायसिस और एलोप‍ेसिया जैसी समस्‍याओं को रोक सकता है। यदि आप भी अपने बालों संबंधी समस्‍याओं से परेशान हैं तो क्रैनबेरी जूस के औषधीय लाभ प्राप्‍त करने के लिए इस जूस का सेवन करने पर विचार कर सकते हैं। साथ ही बालों की समस्याओं को दूर करने के लिए आप अपने सिर में भी क्रैनबेरी जूस का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – सोरायसिस कारण लक्षण और निदान…)

क्रैनबेरी जूस बेनिफिट्स फॉर हेयर ग्रोथ – Cranberry Juice Benefits for Hair growth in Hindi

क्रैनबेरी जूस बेनिफिट्स फॉर हेयर ग्रोथ – Cranberry Juice Benefits for Hair growth in Hindi

यदि आप अपने बालों को स्‍वस्‍थ और मजबूत रखना चाहते हैं तब भी क्रैनबेरी जूस का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। यह आपके बालों की रूकी हुई वृद्धि को बढ़ाने में सहायक होता है। क्रैनबेरी फल को क्षतिग्रस्‍त बालों की मरम्‍मत करने वाला सबसे अच्‍छा फल माना जाता है। क्रैनबेरी के रस में विटामिन ए और विटामिन सी की अच्‍छी मात्रा होती है। जिसके कारण यह बालों को बढ़ने और बालों संबंधी अन्‍य समस्‍याओं को प्रभावी रूप से दूर करने में मदद करता है। नियमित रूप से क्रैनबेरी जूस का सेवन करने से आपके सिर में नए बालों को आसानी से उगाया जा सकता है।

(और पढ़े – बालों को तेजी से बढ़ाने के घरेलू उपाय…)

क्रैनबेरी का इस्‍तेमाल रजोनिवृत्ति के समय – Cranberry ka Istemal rajonivritti ke samay in Hindi

क्रैनबेरी का इस्‍तेमाल रजोनिवृत्ति के समय – Cranberry ka Istemal rajonivritti ke samay in Hindi

लगभग सभी महिलाओं को एक निश्चित उम्र के बाद रजोनिवृत्ति का सामना करना पड़ता है। लेकिन रजोनिवृत्ति के बाद दिल संबंधी समस्‍याओं का खतरा अधिक बढ़ जाता है। एक अध्‍ययन के अनुसार महिलाओं के शरीर में रजोनिवृत्ति के बाद कोलेस्‍ट्रॉल का अधिक उत्पादन होता है। जिसके परिणामस्‍वरूप हृदय कार्य क्षमता में कमी हो सकती है। लेकिन इस स्थिति से बचने के लिए महिलाओं को रजोनिविृत्ति के समय से ही नियमित रूप से क्रैनबेरी जूस का सेवन करना चाहिए। ऐसा करने से उन्‍हें रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम करने के साथ ही हृदय संबंधी समस्‍याओं की संभावना को कम करने में मदद मिलती है।

(और पढ़े – रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) के घरेलू उपाय और नुस्खे…)

घर पर क्रैनबेरी जूस कैसे बनाएं – How to Make Cranberry Juice at Home in Hindi

घर पर क्रैनबेरी जूस कैसे बनाएं – How to Make Cranberry Juice at Home in Hindi

ऊपर बताये गए स्‍वास्‍थ्‍य लाभों को प्राप्‍त करने के लिए आपको क्रैनबेरी जूस बाजार से खरीदने की आवश्‍यकता नहीं है। क्‍योंकि घर पर क्रैनबेरी जूस बनाने की विधि यहां बताई गई है। इस‍ विधि का उपयोग कर आप आसानी से अपने घर में क्रैनबेरी जूस तैयार कर सकते हैं। आइए जानें घर पर क्रैनबेरी जूस कैसे तैयार करें।

क्रैनबेरी जूस बनाने के लिए सामग्री –

1 कप क्रैनबेरी (करोंदा), 1 कप पानी, मिठास के लिए आपकी सुविधानुसार स्‍वीटनर जैसे शहद, शक्‍कर, गुड़, उबालने के लिए एक बर्तन, छन्‍नी या कपड़ा आदि।

क्रैनबेरी जूस बनाने की विधि –

एक बर्तन में 1 कप पानी और 1 कप क्रैनबेरी डालें। इसके बाद इसे लगभग 10 मिनिट तक उबालें। इसके बाद आप छन्‍नी या कपड़े की मदद से निचोड़ते हुए क्रेनबेरी का रस निकालें। फिर इस रस को ठंडा होने दें। आपका घर में बना क्रैनबेरी जूस तैयार है। अब आप अपने स्‍वाद के अनुसार इसमें चीनी, गुड़ या शहद को मिला सकते हैं। इसके अलावा इस औषधीय जूस को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए आप इसमें नींबू या नारंगी का जूस भी मिला सकते हैं।

(और पढ़े – 15 गर्मियों के फल और उनके लाभ…)

क्रैनबेरी जूस को स्‍टोर कैसे करें – How to Store Cranberry Juice in Hindi

सामान्‍य रूप से किसी भी जूस को ताजे रूप में सेवन करना अधिक फायदेमंद होता है। लेकिन यदि आवश्‍यकता से अधिक मात्रा में जूस तैयार हो जाने पर आप इसे 1 से 2 दिनों के लिए स्‍टोर करके रख सकते हैं। हालांकि फिर भी आपको सलाह दी जाती है कि आप ऐसा न करें। क्‍योंकि ऐसा करने से क्रैनबेरी जूस के पोषक तत्वों में कमी आ सकती है। क्रैनबेरी जूस को स्‍टोर करने के लिए आपको एयरटाइट कांच की बोतल या जार की आवश्‍यकता है। आप इस जार में क्रैनबेरी जूस को रखें और ढक्‍कन को अच्‍छी तरह से बंद करके आप इसे फ्रिज में रख दें। लेकिन इस बात का विशेष ध्‍यान रखें कि इसे 1 से 2 दिन के भीतर ही उपयोग किया जाए। इस अवधि के बाद आपको इस जूस का सेवन नहीं करना चाहिए।

क्रैनबेरी जूस पीने का सही समय – Cranberry Juice pine ka sahi samay in Hindi

स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त करने के लिए क्रैनबेरी जूस पीने का कोई सही समय निर्धारित नहीं किया गया है। आप अपनी सुविधा के अनुसार क्रैनबेरी जूस को किसी भी समय पी सकते हैं। हालांकि कुछ लोगों का मानना है कि सुबह के समय खाली पेट क्रैनबेरी जूस पीने के फायदे अधिक होते हैं। हालांकि आप अपनी स‍ुविधा के अनुसार सुबह के नाश्‍ते के पहले या नाश्‍ते के साथ इस पेय पदार्थ का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने दोपहर के भोजन और शाम के नाश्‍ते के बीच में भी क्रैनबेरी जूस का सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – गर्मी में क्या खाना चाहिए क्या पीना और क्या नहीं खाना चाहिए…)

क्रैनबेरी जूस की अनुशंसित खुराक क्‍या है – Cranberry Juice Recommended Dose in Hindi

स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के लिए क्रैनबेरी जूस की कोई भी मात्रा निर्धारित नहीं की गई है। फिर भी आपको क्रैनबेरी जूस का सेवन सावधानी से करना चाहिए।

मूत्र संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रतिदन 1 से 2 कप क्रैनबेरी जूस का सेवन किया जाना चाहिए। सामान्‍य रूप से आप 1 दिन में 3 से 6 कप क्रैनबेरी जूस का सेवन कर सकते हैं। लेकिन यह सुनिश्चित करें कि यह शुद्ध, कम मीठा और कैलोरी में कम हो।

गर्भवती और स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए क्रैनबेरी जूस पीने की कोई सीमा अभी तक स्‍पष्‍ट नहीं है। इसलिए इन महिलाओं को क्रैनबेरी जूस का सेवन करने से पहले महिला चिकित्‍सक या डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए।

क्रैनबेरी जूस पीने के नुकसान – Cranberry ke Nuksan in Hindi

क्रैनबेरी जूस पीने के नुकसान – Cranberry ke Nuksan in Hindi

  • क्रैनबेरी जूस आमतौर पर सुरक्षित होता है। लेकिन अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से यह पेट की खराबी जैसी समस्‍याओं को बढ़ा सकता है।
  • अधिक मात्रा में क्रैनबेरी जूस का सेवन करना उन लोगों के लिए नुकसानदायक हो सकता है जो रक्‍त को पतला करने वाली दवाओं का सेवन कर रहे हैं।
  • जिन लोगों ने हाल ही में सर्जरी करवाई है उन्‍हें भी क्रैनबेरी जूस का अधिक मात्रा में सेवन करने से बचना चाहिए।

(और पढ़े – दस्‍त (डायरिया) के दौरान क्‍या खाएं और क्‍या ना खाएं…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration