बालों को बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां – Ayurvedic Treatment For Hair Growth At Home in Hindi

बालों को बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां - Ayurvedic Treatment For Hair Growth At Home in Hindi
Written by Deepti

Balo Ke Liye Jadi Buti in Hindi बालों के लिए जड़ी बूटियां, बालों की अच्छी ग्रोथ के लिए आयुर्वेद बेहतर विकल्प है। सदियों से बालों को पोषण, मजबूती देने के अलावा बालों की ग्रोथ बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का उपयोग बेहतर माना जाता रहा है। हालांकि बदलते समय में बालों से जुड़ी समस्याओं को सुलझाने के लिए लोग अलग-अलग हेयर ट्रीटमेंट्स का इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन कई ऐसे आयुर्वेदिक तरीके हैं, जिनकी मदद से हमारे बालों को तेजी और मजबूती के साथ बढ़ाया जा सकता है। कई रिसर्च से पता चला है कि आयुर्वेद में मौजूद महत्वपूर्ण जड़ी-बूटियां बालों को मजबूत करने, स्कैल्प की हेल्थ को बेहतर बनाने, बालों की मोटाई में सुधार करने के अलावा बालों की ग्रोथ बढ़ाने में मदद करती हैं।

1. बालों के लिए जड़ी बूटियां – Herbal Remedies for Hair Growth in Hindi

2. हर्बल ऑयल से तेजी से बढ़ेंगे बाल – Use herbal oil for hair growth in Hindi
3. बालों में जड़ी-बूटी का प्रयोग करने से पहले जान लें बातें – Before using the herbs in hair know about things in Hindi

बालों के लिए जड़ी बूटियां – Herbal Remedies for Hair Growth in Hindi

  1. भृंगराज है बाल बढ़ाने की आयुर्वेदिक जड़ी बूटी – Bhringraj herb for hair growth in Hindi
  2. बाल बढ़ाने की आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है आंवला – Amla herb for long hair in Hindi
  3. बाल बढ़ाने का आयुर्वेदिक नुस्खा नीम – Neem leaves for hair growth in Hindi
  4. बालों को लंबा करने की जड़ी बूटी है रीठा – Baal badhane ke liye Reetha jadi buti ka istemal in Hindi
  5. बालों को लंबा करने के लिए जड़ी बूटी अश्वगंधा – Baal lambe karne ki jadi buti ashwagandha in Hindi
  6. बाल बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा मेथीदाना – Fenugreek jadi buti for hair growth in hindi
  7. बालों को बढ़ाने की आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है एलोवेरा – Aloe Vera herbs for hair growth in Hindi

विशेषज्ञों के अनुसार अनुवांशिकी, विटामिन की कमी और हॉर्मोनल बदलावों के कारण जब हमारी स्कैल्प रूसी, एग्जिमा और ज्यादा सीबम से प्रभावित होती है, तो बालों की जड़ें खराब होने लगती हैं। जिससे हमारे बालों का झड़ना और टूटना शुरू हो जाता है। इतना ही नहीं इन्हीं कारणों से बालों की ग्रोथ तक रूक जाती है। बालों को तेजी से बढ़ाने के लिए कोई जादुई दवा तो नहीं है, लेकिन फिर भी प्रकृति में मौजूद कुछ महत्वपूर्ण जड़ी-बूटियां बालों से जुड़ी समस्याओं को कम कर इनकी ग्रोथ बढ़ा सकती हैं। अपने बालों की ग्रोथ के लिए कौन से आयुर्वेदिक तरीके अपनाए जा सकते हैं आज इस बारे में हम आपको अपने आर्टिकल में बताएंगे। इसके अलावा आप इस आर्टिकल में जान सकेंगे कि बालों को बढ़ाने के आयुर्वेदिक तरीके बालों पर कैसे काम करते हैं और इन्हें कैसे तैयार किया जाता है।

भृंगराज है बाल बढ़ाने की आयुर्वेदिक जड़ी बूटी – Bhringraj herb for hair growth in Hindi

भृंगराज है बाल बढ़ाने की आयुर्वेदिक जड़ी बूटी - Bhringraj herb for hair growth in Hindi

भृंगराज बालों की ग्रोथ बढ़ाने का सबसे पुराना और बेहतर आयुर्वेदिक तरीका है। इसे “जड़ी-बूटियों का राजा” भी कहा जाता है। भृंगराज की पहचान “माका” नाम से भी होती है। भृंगराज का वानस्पतिक नाम एकल्टा अल्बा है, जो एस्टरसिया परिवार से संबंधित है। भृंगराज एक ऐसी प्राचीन आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है, जो प्रभावी रूप से बालों के झड़ने को रोकने के साथ बालों के विकास को बढ़ाने में मदद करती है। ये जड़ी बूटी आमतौर पर तेल या पाउडर के रूप में उपलब्ध होती है। स्कैल्प पर इसे लगाने के बाद अच्छा प्रभाव पड़ता है। अगर आप भी भृंगराज का इस्तेमाल बालों पर करना चाहते हैं तो इसके लिए नीचे सामग्री और विधि बताई गई हैं।

भृंगराज से बालों की ग्रोथ बढ़ाने सामग्री-

  • भृंगराज की पत्तियां या 5-6 चम्मच भृंगराज पाउडर
  • पानी आवश्यकतानुसार

इस तरीके से बालों पर लगाएं भृंगराज –

बालों को आयुर्वेदिक तरीके से बढ़ाने के लिए सबसे पहले भृंगराज की पत्तियों को पीस लें। पत्तियों को पीसकर इसमें पानी मिलाएं और एक गाढ़ा पेस्ट तैयार करें। अगर आपको भृंगराज की पत्तियां नहीं मिल रही हैं, तो भृंगराज पाउडर को भी पानी में मिलाकर इसका पेस्ट तैयार कर सकते हैं। भृंगराज का पेस्ट बनाने के बाद इसे अपने स्कैल्प पर लगाएं और 20 मिनट के लिए लगा छोड़ दें। अब 20 मिनट बाद बालों को शैंपू से धो लें। हफ्ते में तीन बार भृंगराज पेस्ट को अपने बालों पर लगाएं। इस प्रकिया को अपनाने के बाद आपके बाल तेजी से बढ़ने लगेंगे।

(और पढ़े – भृंगराज तेल के फायदे और नुकसान…)

बाल बढ़ाने की आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है आंवला – Amla herb for long hair in Hindi

बाल बढ़ाने की आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है आंवला - Amla herb for long hair in Hindi

आंवला बालों से जुड़ी समस्याओं का आयुर्वेदिक समाधान है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट सहित विटामिन सी होता है। आंवला मौजूद ये दोनों ही गुण कॉलेजन के उत्पादन को तेजी से बढ़ाने के साथ स्कैल्प पर नए बाल विकसित करने की ताकत को भी बढ़ाते है। बालों की ग्रोथ के लिए आवंला का इस्तेमाल नीचे बताई गई सामग्री और विधि के अनुसार कर सकते हैं।

बाल बढ़ाने की आंवला आयुर्वेदिक सामग्री

  • 5- 6 चम्मच- आंवला पाउडर
  • 5-6 चम्मच- पानी

आंवले से बाल बढ़ाने की विधि-

आयुर्वेद की मदद से आप अपने बालों को बढ़ा सकते हैं। बालों की अच्छी ग्रोथ के लिए सबसे पहले आंवला पाउडर को पानी में मिला लें। पानी इतना मिलाएं कि एक गाढ़ा और स्मूथ पेस्ट तैयार हो जाए। पेस्ट बनने के बाद अपने बालों को दो भागों में बांट लें। अब आंवला के पेस्ट को अपने स्कैल्प और बालों पर अच्छे से लगाएं। इस पेस्ट को बालों को 30 मिनट के लिए लगा छोड़ दें और 30 मिनट बाद बालों को शैंपू कर ठंडे पानी से सिर धो लें। हफ्ते में तीन बार इस प्रक्रिया को अपनाने के बाद आपकी बालों की तेजी से ग्रोथ होने लगेगी।

(और पढ़े – आंवला के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान…)

बाल बढ़ाने का आयुर्वेदिक नुस्खा नीम – Neem leaves for hair growth in Hindi

बाल बढ़ाने का आयुर्वेदिक नुस्खा नीम - Neem leaves for hair growth in Hindi

सदियों से नीम का प्रयोग बालों से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। स्कैल्प पर नीम का रैगुलर इस्तेमाल करने से ब्लड सकुर्लेशन में सुधार आता है इसके अलावा नीम बालों की जड़ों को मजबूत करके बालों का विकास करता है। नीम इन सभी स्थितियों से लड़ने में हमारी मदद करता है। अपने बालों पर नीम का उपयोग करने के लिए नीचे दी गई सामग्री का इस्तेमाल कर सकते हैं।

नीम से बाल बढ़ाने की सामग्री-

बालों पर नीम को ऐसे लगाएं –

अगर आप अपने बालों को तेजी से बढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए पहले नीम की पत्तियों को 15 मिनट तक पानी में उबाल लें। पत्तियां उबल जाएं तो इन्हें ठंडा करने के लिए रख दें। जब सॉल्यूशन ठंडा हो जाए, तो इसे छानकर नीम के पानी को जग में डाल लें। बालों पर नीम के पानी का इस्तेमाल करने से पहले अपने बालों को धोकर कंडीशन कर लें और इसके बाद आखिरी में नीम के पानी से बालों को धो लें। इस प्रक्रिया के बाद बालों को फिर से धोने की गलती ना करें। हफ्ते में तीन बार इस प्रक्रिया को अपने बालों पर अप्लाई करने से आपके बालों से जुड़ी समस्या तो खत्म होगी ही साथ ही बालों का विकास भी तेजी से होगा।

(और पढ़े – नीम के फायदे और नुकसान…)

बालों को लंबा करने की जड़ी बूटी है रीठा – Baal badhane ke liye Reetha jadi buti ka istemal in Hindi

बालों को लंबा करने की जड़ी बूटी है रीठा - Baal badhane ke liye Reetha jadi buti ka istemal in Hindi

रीठा का उपयोग सदियों से महिलाओं द्वारा एक प्राकृतिक शैंपू के रूप में किया जाता रहा है। जब नियमित रूप से रीठा का इस्तेमाल करते हैं, तो ये आपके बालों की ग्रोथ बढ़ाने के साथ ही बालों के वॉल्यूम और टैक्सचर में भी सुधार करता है। इसका प्रयोग हर दिन अपने बालों को साफ करने के लिए किया जा सकता है वो भी स्कैल्प से नेचुरल ऑयल निकाले बिना। रीठा का इस्तेमाल बालों पर कैसे करना है, नीचे दी गई सामग्री और विधि को पढ़के जान सकते हैं।

रीठा से बाल बढ़ाने की सामग्री-

बालों पर ऐसे करें रीठा का उपयोग –

रीठा आपके बालों का विकास तेज करने में मदद करता है। अगर आप भी अपने बालों पर रीठा जैसा आयुर्वेदिक तरीका अपनाना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले रीठा को 2 कप गर्म पानी में भिगोकर रख दें। सुबह होते ही इस पानी में 15 मिनट के लिए उबालें और फिर ठंडा करने के लिए रख दें। सॉल्यूशन जब ठंडा हो जाए तो इसे छान लें और छने हुए पानी को एक जग में भर लें।

अब बालों पर रीठा लगाने से पहले बालों को पानी से धो लें और आधा रीठा का पानी अपने बालों पर लगाएं। रीठा के पानी से बालों की 5 मिनट तक मसाज करें और फिर बालों को फिर से पानी से धो लें। एक दिन छोड़कर आप ये प्रक्रिया अपने बालों पर ट्राय कर सकते हैं। ऐसा करने के बाद आपके बालों को मजबूती प्रदान होगी इसके अलावा आश्चर्यजनक तरीके से आपके बाल बढ़ने लगेंगे।

(और पढ़े – बालों को खूबसूरत बनाने के लिए आंवला रीठा और शिकाकाई के फायदे…)

बालों को लंबा करने के लिए जड़ी बूटी अश्वगंधा – Baal lambe karne ki jadi buti ashwagandha in Hindi

बालों को लंबा करने के लिए जड़ी बूटी अश्वगंधा - Baal lambe karne ki jadi buti ashwagandha in Hindi

अश्वगंधा बालों की ग्रोथ अच्छी करने वाली एक अद्भुत आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है। अश्वगंधा न केवल कोर्टिसोल के लेवल को बैलेंस करता है बल्कि बालों को झड़ने से भी रोकता है। यह एंटीऑक्सीडेंट गतिविधि को बढ़ाता है और स्कैल्प संचालन में मदद करता है। बता दें कि अश्वगंधा मेलेनिन के उत्पादन को उत्तेजित करता है जो बालों के विकास के लिए बहुत जरूरी है। अश्वगंधा का उपयोग अपने बालों की अच्छी ग्रोथ के लिए कैसे करना है, नीचे बताई गई सामग्री और विधि के जरिए जान सकते हैं।

अश्वगंधा से बाल बढ़ाने की सामग्री-

  • 3 चम्मच- सूखा अश्वगंधा पाउडर
  • 3 चम्मच- सूखा आंवला पाउडर
  • 6 चम्मच- पानी

अश्वगंधा से बाल बढ़ाने का तरीका-

बालों के लिए अश्वगंधा का उपयोग करने के लिए सबसे पहले ऊपर दी गई सभी सामग्रियों को एक बाउल में मिक्स कर लें। इन्हें मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को अपने स्कैल्प यानि खोपड़ी और बालों पर लगाएं। अब इस पेस्ट को बालों पर 30 मिनट के लिए लगा रहने दें और 30 मिनट के बाद बालों को शैंपू कर ठंडे पानी से धो लें। अगर आप इस प्रक्रिया को नहीं कर पा रहे हैं, तो अश्वगंधा का सेवन करके भी अपने बालों का विकास अच्छे से कर सकते हैं। इस प्रक्रिया को आपको हफ्ते में केवल तीन दिन ही अपने बालों पर ट्राय करना है, आपको आश्चर्यजनक परिणाम मिलेगा।

(और पढ़े – अश्वगंधा के फायदे और नुकसान…)

बाल बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा मेथीदाना – Fenugreek jadi buti for hair growth in hindi

बाल बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा मेथीदाना - Fenugreek jadi buti for hair growth in hindi

मेथीदाना ज्यादातर भारतीय घरों में इस्तेमाल होने वाली विटामिन युक्त जड़ी-बूटी है। यह बालों को झड़ने से रोकने का उत्कृष्ट उपाय है। रूसी का ये सबसे अच्छा आयुर्वेदिक समाधान है और इसमें स्कैल्प के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने की क्षमता ज्यादा होती है। 2006 में हुई एक रिसर्च के अनुसार मेथीदाना महिलाओं और पुरूषों के बालों की मोटाई बढ़ाने के अलावा बालों का वॉल्यूम बढ़ाने में भी फायदेमंद है। मेथीदाना का प्रयोग आप अपने बालों पर नीचे दी गई सामग्री और विधि के अनुसार कर सकते हैं।

मेथीदाना से बालों की ग्रोथ करने की सामग्री-

  • 2 चम्मच- मेथी
  • 3 चम्मच- पानी

बाल बढ़ाने के लिए मेथीदाना का ऐसे करें इस्तेमाल-

मेथीदाना के जरिए बालों को तेजी से बढ़ाने के लिए सबसे पहले आप मेथी को रोस्ट कर इसका महीन पाउडर बना लें। अब एक बाउल में मेथी के पाउडर को निकालकर इसमें पानी मिलाएं। मेथी के पाउडर में पानी इतना ही मिलाएं कि गाढ़ा पेस्ट तैयार हो जाए। अब इस पेस्ट को आप स्कैल्प के साथ अपने बालों पर अप्लाई करें । 20 मिनट तक मेथी से बने पेस्ट को अपने बालों पर लगाए रखें और 20 मिनट बाद बालों को शैंपू कर गुनगुने पानी से सिर धो लें।

अच्छे और जल्द परिणाम के लिए ये प्रक्रिया हफ्ते में केवल दो बार अपनानी है।

(और पढ़े – मेथी के फायदे और नुकसान…)

बालों को बढ़ाने की आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है एलोवेरा – Aloe Vera herbs for hair growth in Hindi

बालों को बढ़ाने की आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है एलोवेरा - Aloe Vera herbs for hair growth in Hindi

आयुर्वेद में एलोवेरा का उपयोग बहुत महत्वपूर्ण है। एलोवेरा आपके स्कैल्प की हेल्थ तो बढ़ाता ही है साथ ही बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए उत्कृष्ट घटक है। दरअसल, एलोवेरा में मौजूद एन्जाइम मृत त्वचा कोशिकाओं और अतिरिक्त सीबम को नष्ट कर देते हैं, जिसे हेयर फॉलिकल्स बंद हो जाते हैं। इन्हीं कुछ कारणों से बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए एलोवेरा अन्य हर्बल उपचारों में सबसे अच्छा उपचार माना जाता है। नीचे बताई गई सामग्री और विधि के अनुसार आप एलोवेरा का उपयोग अपने बालों पर कभी भी कर सकते हैं।

एलोवेरा से बाल बढ़ाने की जरूरी सामग्री-

बाल बढ़ाने के लिए बालों पर ऐसे लगाएं एलोवेरा-

बालों को एलोवेरा की मदद से तेजी से बढ़ाने के लिए सबसे पहले ऊपर दी गई सभी सामग्रियों को बाउल में मिक्स कर एक मिक्सचर तैयार करें। अब इस मिक्सचर को अपने बालों पर 30 मिनट तक लगाकर रखें। 30 मिनट बाद बालों पर शैंपू लगाकर बालों को गुनगुने पानी से धो लें। बालों की अच्छी ग्रोथ चाहते हैं तो इस पूरी प्रकिया को हफ्ते में रैगुलर एक से दो बार अपने बालों पर ट्राय करें, जल्द ही आपके बाल सॉफ्ट, स्मूथ होने के साथ ही तेजी से बढऩे लगेंगे।

(और पढ़े – एलोवेरा का उपयोग बालों के लिए…)

हर्बल ऑयल से तेजी से बढ़ेंगे बाल – Use herbal oil for hair growth in Hindi

हर्बल ऑयल से तेजी से बढ़ेंगे बाल - Use herbal oil for hair growth in Hindi

आप चाहें तो हर्बल ऑयल की मदद  से भी अपने बालों की ग्रोथ तेज कर सकते हैं। हर्बल ऑयल जैसे कोकोनट ऑयल, बादाम का तेल, वॉलनट ऑयल, जोजोबा ऑयल, जैतून का तेल आदि। इसके अलावा ब्राह्मी, जटामांसी और चाइनीस हिबिसकस जैसी जड़ी बूटियां भी बालों को बढ़ाने में मदद करती हैं, ये सभी बालों के रोम को उत्तेजित करने, रोम के आकार को बढ़ाने और बालों के विकास को बढ़ाने में मदद करती हैं। इसलिए विशेषज्ञ इन हर्बल तेलों से 5 से 10 मिनट तक अपने स्कैल्प की रोजाना मालिश करने की सलाह देते हैं।

(और पढ़े – बालों को लम्बे और घने बनाने के लिए आवश्यक तेल का इस्तमाल कैसे करें…)

बालों में जड़ी-बूटी का प्रयोग करने से पहले जान लें बातें – Before using the herbs in hair know about things in Hindi

बालों में जड़ी-बूटी का प्रयोग करने से पहले जान लें बातें - Before using the herbs in hair know about things in Hindi

ये सच है कि आयुर्वेदिक जड़ी बूटी हमारे बालों से जुड़ी समस्याओं के लिए बेहद असरदार उपाय है, लेकिन जरूरी नहीं कि जड़ी बूटियां सभी को सूट हों। इसलिए इनका इस्तेमाल बालों पर करने से पहले एक पैच टेस्ट जरूर करना चाहिए। अगर इसके इस्तेमाल से आपको एलर्जी होने लगे तो इन आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों को बालों में लगाने से बचना चाहिए।

  • गर्भवती महिलाओं को बालों में जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।
  • जो महिलाएं बच्चे को स्तनपान कराती हैं, उन्हें भी इन आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का उपयोग नहीं करना चाहिए। इनके इस्तेमाल से इन्हें एलर्जी या बालों से जुड़ी कोई समस्या उत्पन्न हो सकती है।

(और पढ़े – करी पत्‍ता के फायदे बालों को काला, घना, लंबा और मजबूत बनाने के लिए…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration