गुड़हल के फायदे और नुकसान  Hibiscus flower and leaves benefits and side effect in Hindi

गुड़हल के फायदे और नुकसान  Hibiscus flower and leaves benefits and side effect in Hindi
Written by Sneha

गुड़हल या जवाकुसुम वृक्षों के मालवेसी परिवार से संबंधित एक फूलों वाला पौधा है। इसका वनस्पतिक नाम है- हीबीस्कूस् रोज़ा साइनेन्सिस। (Hibiscus plant) गुड़हल का पौधा वैसे तो एक आम सा पौधा होता है। लेकिन यदि इसके गुणों को देखा जाये तो वह बहुत ही खास होते है और स्‍वास्‍थ्‍य के खजाने से भरे पड़े है। गुड़हल के पेड़ पर लगने वाला फूल बहुत ही गुणकारी और लाभदायक होता है। ये फूल आमतोर पर सभी जगह देखे जा सकते है ये बहुत ही सुन्दर होते है लोग इन फूलो को केवल पूजा के उपयोग में लेते है लेकिन वे नहीं जानते है कि यह फूल केवल पूजा में ही काम नही आता है बल्कि इसके बहुत सारे उपयोग और गुड़हल के फायदे (Gudhal ke fayde) है | लेकिन हम ये भी जानते है की कोई भी चीज लाभदायक और हानिकारक दोनों ही होती है इसी प्रकार इस फूल के बहुत सारे लाभ है तो कुछ हानि भी है जिसके बारे में हम आपको बतायेगे।

गुड़हल के फायदे: Benefits of Gudhal in Hindi

गुड़हल के फायदे: Benefits of Gudhal in Hindi

भारत में गुड़हल के फूल का बहुत महत्व है। यह न केवल धार्मिक दृष्टि से बल्कि सेहत की दृष्टि से भी लोगों के जीवन का हिस्सा है। यह गर्म समशीतोष्ण, उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय जलवायु में उगता है। गुड़हल यह कई तरह की बीमारियों में फायदेमंद है। आइए गुड़हल के फायदों के बारे में जानते हैं।

1. कोलेस्ट्रॉल को घटाता है गुड़हल के फायदे  Gudhal ke fayde for Cholesterol

 कोलेस्ट्रॉल को घटाता है गुड़हल के फायदे – Gudhal ke fayde for Cholesterol 

गुडहल की पत्ती से बनी चाय एलडीएल कोलेस्टेरॉल को कम करने में काफी प्रभावी है इसमें पाए जाने वाले तत्व अर्टरी में प्लैक को जमने से रोकते हैं जिससे कोलेस्टेरॉल का स्तर कम होता है। गुड़हल के फूलों में एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल कम करने के साथ ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करता है। इसके लिए इसके फूलों को गरम पानी में उबालकर पीना फायदेमंद होता है। और आप इसकी पत्तियों से बनी चाय का सेवन भी कर सकते है ।

2. गुड़हल के फायदे  मधुमेह या डायबिटीज में – Gudhal ke fayde for Diabetes

गुड़हल के फायदे  मधुमेह या डायबिटीज में - Gudhal ke fayde for Diabetes

मधुमेह या डायबिटीज के लिए नियमित आप इसकी 20 से 25 पत्तियों का सेवन शुरू कर दे ये आपकी डाइबिटीज का शर्तिया इलाज है इसका पौधा नर्सरी से आसानी से मिल जाता है और इसे आप घर में लगा सकते है।

3. हिबिस्कुस पाउडर किडनी स्टोन के लिए  – Hibiscus powder for kidney stone

हिबिस्कुस पाउडर किडनी स्टोन के लिए  - Hibiscus powder for kidney stone

अगर आपको किडनी की समस्या है तो आप गुडहल की पत्ती से बनी चाय का सेवन करे इस के उपयोग से किडनी स्टोन की समस्या में लाभ मिलेगा। इसी चाय का लाभ डिप्रेसन के लिए भी होता है।

4. गाल ब्लैडर स्टोन निकालने के लिए गुडहल के पाउडर के फायदे – Gudhal ke fayde

गाल ब्लैडर स्टोन निकालने के लिए गुडहल के पाउडर के फायदे - Gudhal ke fayde 

इस्तेमाल की विधि
गुडहल का पाउडर एक चम्मच रात को सोते समय खाना खाने के कम से कम एक डेढ़ घंटा बाद गर्म पानी के साथ फांक लीजिये. ये थोडा कड़वा होता है. इसलिए मन भी करडा कर के रखें. मगर ये इतना भी कड़वा नहीं होता के आप इसको खा ना सकें. इसको खाना बिलकुल आसान है. इसके बाद कुछ भी खाना पीना नहीं है|

इस प्रयोग में बरती जाने वाली महत्वपूर्ण सावधानी

पालक, टमाटर, चुकंदर, भिंडी का सेवन न करें। स्टोन को तोड़ने के लिए पाठकों से अनुरोध हैं के वो पहले 5 दिन हर रोज़ 5 गिलास सेब के जूस पियें. हर तीन घंटे के बाद एक गिलास सेब का जूस पीते रहें. और बाकी अपना खाना कम कर दीजिये. इसलिए जिन लोगों के स्टोन का साइज़ बड़ा हो वो केवल डॉक्टर की देख रेख में और अपने विवेक से इस प्रयोग को करें.

5. गुड़हल के फायदे  मेमोरी पावर को बढ़ाने में Hibiscus Benefits to Increase Memory Power

गुड़हल के फायदे  मेमोरी पावर को बढ़ाने में Hibiscus Benefits to Increase Memory Power

गुड़हल का शर्बत  दिल और दिमाग को शक्ति प्रदान करता है तथा ये आपकी मेमोरी पावर को बढ़ाता है जो लोग बढ़ते उम्र के साथ मेमोरी लॉस होने की समस्या से परेशान है और जब कम उम्र में याददाश्त कमजोर होने लगे तो गुड़हल इस समस्या को दूर करने में भी बहुत ही कारगर है गुड़हल की 10 पत्तियां और 10 फूल लें फिर इन्हें सुखाकर और पीसकर उसका पाउडर बना लें और किसी एयर टाइट डिब्बे में बंद करके रखें दिन में दो बार दूध के साथ इस पाउडर को लेना से आपकी मेमोरी पावर में काफी इजाफा होता है। (और पढ़े – अगर चाहिए परीक्षा के समय तेज दिमाग तो बच्चों के आहार में सामिल करें इन चीजो को)

6. गुड़हल के फायदे मुंह में छाले ठीक करने में Hibiscus  Benefits for mouth ulcers

गुड़हल के फायदे मुंह में छाले ठीक करने में Hibiscus  Benefits for mouth ulcers

मुंह में छाले हो गए है तो आप गुडहल के पत्ते चबाये आराम हो जाएगा। लार में वृद्धि और पाचन शक्ति को बनाने और मुँह के छालों के लिए गुड़हल की 3-4 पत्तियो को चबाना चाहिए। आपको लाभ होगा।

7 .सर्दी – जुकाम में लाभकारी गुड़हल के फायदे – Gudhal ke fayde sardi jukham ke liye

सर्दी – जुकाम में लाभकारी गुड़हल के फायदे - Gudhal ke fayde sardi jukham ke liye

गुडहल में अधिक मात्रा में विटामिन सी होता है जब चाय या अन्य रूपों में इसका सेवन किया जाता है तो यह सर्दी और खांसी के लिए काफी फायदेमंद होता है इससे आपको सर्दी से जल्द राहत मिलेगी।

8 .बालों के लिए गुड़हल के फायदे Benefits of Gudhal for Hair

मैथीदाना, गुड़हल और बेर की पत्तियां पीसकर पेस्ट बना लें आप इसे 15 मिनट तक बालों में लगाएं इससे आपके बालों की जड़ें मजबूत और स्वस्थ होंगे।
बालों के झड़ने की समस्या से लगभग हर कोई परेशान है गुड़हल के फूल इस समस्या को दूर करने में बहुत ही कारगर हैं ये न सिर्फ बालों का झड़ना रोकते हैं बल्कि इसके इस्तेमाल से एक अलग ही शाइनिंग बालों में नजर आने लगती है -गुड़हल की 6-8 पत्तियों को लेकर अच्छे से पीस लें इसे सिर और स्केल्प में अच्छे से लगाएं 3 घंटे रखने के बाद गुनगुने पानी से धो लें ये स्केल्प को पोषण देने के साथ ही बालों की ग्रोथ में भी बहुत ही फायदेमंद होता है।

बालों को सुंदर और काले करने के लिए आप गुड़हल के फूल के साथ अंडे का भी उपयोग कर सकते है। इसके लिए पहले गुड़हल के फूल या पत्तियों को पीस लें फिर इसमें एक अंडा मिलाएं। इस मिश्रण को बालों की जड़ों तक लगाएं। इस मिश्रण का नियमित उपयोग करने से आपके बालों की खोई हुई चमक वापस आ जाएगी।

9. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए गुड़हल के फायदे – Gudhal ke fayde for immunity 

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए गुड़हल के फायदे - Gudhal for immunity 

बुखार व प्रदर में भी लाभकारी होता है यह शर्बत बनाने के लिए गुड़हल के सौ फूल लेकर कांच के पात्र में डालकर इसमें 20 नीबू का रस डालें व ढक दें। रात भर बंद रखने के बाद सुबह इसे हाथ से मसलकर कपड़े से इस रस को छान लें। इसमें 80 ग्राम मिश्री+20 ग्राम गुले गाजबान का अर्क+20 ग्राम अनार का रस+ 20 ग्राम संतरे का रस मिलाकर मंद आंच पर पका लें।

10. गुड़हल के फूल के फायदे खुजली और जलन में -Gudhal ke phool ke fayde for itches

गुड़हल के फूल के फायदे खुजली और जलन में -Gudhal ke phool ke fayde for itches

Gudhal ke fayde गुड़हल का फूल सूजन के साथ ही खुजली और जलन जैसी समस्याओं से भी आपको राहत दिलाता है। गुड़हल के फूल की पत्तियों को मिक्सी में अच्छे से पीस लें तथा सूजन और जलन वाले हिस्से पर लगाएं कुछ ही मिनटों में समस्या दूर हो जाएगी।

11. चेहरे को चमकाए गुड़हल के फायदे – Gudhal for wrinkle

चेहरे को चमकाए गुड़हल के फायदे - Gudhal for wrinkle

एंटी-ऑक्सीडेंट, आयरन और विटामिन सी से भरपूर गुड़हल की पत्तियां चेहरे की झुर्रियां और दाग-धब्बों को खत्म करने में मदद करती है। इसके लिए आप इसकी पत्तियों को पानी में उबाल लें और पीसकर शहद के साथ मिलाएं तथा चेहरे पर लगाएं। आपका चेहरा न केवल चमकेगा बल्कि रुखापन भी दूर होगा। आपको बता दें कि गुड़हल की पत्तियां एंटी-एजिंग का भी काम करती है। यह शरीर से फ्री रेडिकल्स को हटाता और त्वचा को खूबसूरत बनाता है।

यदि आप के चेहरे पर बहुत मुंहासे हो गए हैं तो लाल गुडहल की पत्‍तियों को पानी में उबाल कर पीस लें और उसमें शहद मिला कर मुंहासे पर लगाये तो आपको मुंहासे में आराम मिलेगा |

12. गुड़हल के फूल के फायदे एनीमिया करें दूर – Hibiscus flower for Anemia

गुड़हल के फूल के फायदे एनीमिया करें दूर - Hibiscus flower for Anemia

महिलाओं को अक्सर आयरन की कमी से एनीमिया की समस्या हो जाती है लेकिन बहुत ही कम लोग इस बात को जानते होंगे कि गुड़हल के फूल से भी एनीमिया का इलाज संभव है आप 40-50 गुड़हल की कलियों को सुखा कर फिर अच्छे से पीसकर उन्हें किसी एयर टाइट डिब्बे में बंद कर दें और रोजाना सुबह-शाम एक कप दूध के साथ यह पाउडर लें सिर्फ एक महीने में ही एनीमिया की समस्या दूर हो जाएगी और इससे स्टेमिना भी बढ़ता है।

13. गुड़हल के फायदे मासिक धर्म के लिए – Hibiscus Benefits for periods

गुड़हल के फायदे मासिक धर्म के लिए - Hibiscus Benefits for periods

शरीर की कई बीमारियों से लड़ने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत होना बहुत ही जरूरी है। गुड़हल की पत्तियां, शरीर को उर्जा प्रदान करती हैं और इम्यूनिटी लेवल को बढ़ाती हैं। इसकी पत्तियां मेनोपॉज और मासिक धर्म में बहुत ही फायदा करती है। जिन महिलाओं को मासिक धर्म सही समय पर नहीं आता उन्हें गुड़हल की पत्तियों की चाय पीनी चाहिए। मेनोपॉज के दौरान महिलाओं को इसकी पत्तियों को सुखाकर गर्म पानी के साथ पीना चाहिए।

(और पढ़े – पीरियड्स जल्दी लाने और रोकने के घरेलु उपाय)

गुड़हल के नुकसान – Hibiscus Gudhal ke ke nuksan in hindi

गुड़हल के नुकसान – Gudhal ke ke nuksan

  1. गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं द्वारा गुड़हल की चाय का उपभोग नहीं किया जाना चाहिए। क्योकि ऐसा करने से उनका गर्भपात हो सकता है |
  2. गर्भनिरोधक की गोलियां लेनी वाली महिलाओं को गुड़हल की चाय नहीं पीनी चाहिए।
  3. यदि आप किसी भी हार्मोनल उपचार से गुजर रहे हैं तो गुड़हल (Hibiscus) का सेवन नहीं करें।
  4. यदि आपकम रक्तचाप से पीड़ित हैं तो गुड़हल न लें। इससे रक्तचाप का स्तर कम हो सकता है।
  5. गुड़हल (Hibiscus) से ब्लड प्रेशर को कम किया जाता है इसलिए कम ब्लड प्रेशर वाले लोग इसका सेवन न करे|

इस प्रकार गुडहल के फायदे और नुकसान (Gudhal ke fayde aur nuksan )को जानने के बाद हमने देखा की साधारण सा लगने वाला गुड़हल का फूल और उसके पत्ते मानव जीवन के लिए कितने उपयोगी और लाभकारी है |

Subscribe for daily wellness inspiration