रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) के घरेलू उपाय और नुस्खे – Home Remedies For Menopause In Hindi

जोनिवृत्ति (मेनोपॉज) के घरेलू उपाय और नुस्खे - Home Remedies For Menopause In Hindi
Written by Pratistha

Menopause Ke Gharelu Upay In Hindi रजोनिवृत्ति (menopause) महिलाओं में एक प्राकृतिक क्रिया है जिसका अनुभव हर महिला को एक उम्र में आकर करना पड़ता है। रजोनिवृत्ति की स्थिति 40-50 वर्ष की उम्र की महिलाओं में पायी जाती है। यह स्थिति तब उत्पन्न होती है जब लगभग एक साल तक महिला को पीरियड्स या माहवारी ना आयें तब उस स्थिति को रजोनिवृत्ति या मेनोपॉज कहा जाता है। वैसे तो यह क्रिया 45 वर्ष से ऊपर की महिलाओं में होती है, परन्तु आजकल मेनोपॉज के लक्षण कम उम्र की महिलाओं में भी देखने को मिल रहे है।

जैसे आजकल कुछ महिलाओं में समय से पहले यह समस्या उत्पन्न हो रही है की उनका अंडाशय कम एस्ट्रोजन का उत्पादन कर रहा है जिससे उनके शरीर में एस्ट्रोजन की कमी हो रही है और जिसकी वजह से उनकी माहवारी भी अनियमित हो जाती है जिसे प्रीमेनोपॉज (perimenopause) कहा जाता है और जब पूरे एक साल तक माहवारी ना आने की स्थिति बनी रहे तो उसे फुल मेनोपॉज (full menopause) कहा जाता है।

रजोनिवृत्ति की स्थिति आने के बाद महिलाओं में कई तरह की परेशानियां उत्पन्न होने लगती है जैसे नींद ना आना, मूड स्विंग्स होना, चिड़चिड़ापन, थकान, तनाव आदि होना। इसके अलावा रजोनिवृत्त महिलाओं को ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis), मोटापा, हृदय रोग और टाइप 2 डायबिटीज सहित कई अन्य बीमारियों का खतरा भी होता है। इसलिए आज इस लेख में हम जानेंगे की रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) में इन समस्याओं को कैसे कम किया जा सकता है और इसके क्या घरेलू उपचार है।

1. रजोनिवृत्ति के बाद होने वाली समस्या को कैसे कम करें – Menopause ke baad hone vali samasya ko kaise kam kare in hindi
2. रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) के घरेलू उपचार – Menopause home remedies in hindi

रजोनिवृत्ति के बाद होने वाली समस्या को कैसे कम करें – Menopause ke baad hone vali samasya ko kaise kam kare in hindi

रजोनिवृत्ति के बाद होने वाली समस्या को कैसे कम करें - Menopause ke baad hone vali samasya ko kaise kam kare in hindi

आप रजोनिवृत्ति या मीनोपॉज की समस्या को आसानी से कुछ घरेलू उपाय या घरेलू नुस्खे  अपना कर या अपनी जीवनशैली में कुछ बदलाव करके कम कर सकती है। अगर आप मीनोपॉज के बाद भी स्वस्थ और खुशहाल जीवन चाहती है तो बहुत से घरेलू तरीके आपके काम आ सकते है और आपको रजोनिवृत्ति के बाद होने वाली कई गंभीर बीमारियों से भी बचा सकते है।

(और पढ़े – रजोनिवृत्ति के कारण, लक्षण और दूर करने के उपाय…)

रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) के घरेलू उपचार – Menopause home remedies in hindi

  1. रजोनिवृत्ति के घरेलू उपाय कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थ – Calcium Rich Foods Menopause home remedies in Hindi
  2. मेनोपॉज के घरेलू उपाय विटामिन डी का सेवन – Vitamin D Menopause home remedies in Hindi
  3. सही वजन हो सकता है मेनोपॉज का आयुर्वेदिक इलाज – Sahi vajan ho sakta hai Menopause ka accha gharelu upay in hindi
  4. रजोनिवृत्ति के दौरान घर उपचार फल और सब्जियां – Menopause ki samasya ka gharelu upchar fal aur sabjiya in hindi
  5. मेनोपॉज के घरेलू उपचार में हानिकारक खाना खाने से बचें – Menopause ka gharelu upay hai hanikarak khana khane se bache in hindi
  6. रजोनिवृति के लिए घरेलू नुस्खें में शामिल करें व्यायाम -Menopause ke liye gharelu upay hai vyayam in hindi
  7. रजोनिवृत्ति में ले फाइटोएस्ट्रोजेन से भरपूर आहार – Rajonivriti me le phytoestrogen se bharpoor aahar in hindi
  8. मीनोपॉज के लिए घरेलू नुस्खा है भरपूर पानी पीना – Menopause ke liye gharelu nuskha hai bharpoor pani pina in hindi
  9. रजोनिवृत्ति में कम करें रिफाइंड शुगर और प्रोसेस्ड फूड – Rajonivriti me kam kare refined sugar aur processed food in hindi
  10. मेनोपॉज को रोकने में है लाभकारी प्रोटीन युक्त आहार – Menopause me protein yukt aahar le in hindi

रजोनिवृत्ति या मेनोपॉज के बाद उत्पन्न होने वाली समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए कुछ घरेलू तरीके निम्न है-

रजोनिवृत्ति के घरेलू उपाय कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थ – Calcium Rich Foods Menopause home remedies in Hindi

रजोनिवृत्ति के घरेलू उपाय कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थ - Calcium Rich Foods Menopause home remedies in Hindi

 

कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थ रजोनिवृत्ति को जल्दी आने से रोकने का एक अच्छा घरेलू उपाय है। रजोनिवृत्ति या मीनोपॉज के दौरान हार्मोनल परिवर्तन की वजह से हड्डियाँ कमजोर हो सकती है, जिससे ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा बढ़ सकता है। कैल्शियम और विटामिन डी  मजबूत हड्डियों के लिए अच्छे स्रोत होते हैं, इसलिए आपके आहार में इन पोषक तत्वों का पर्याप्त मात्रा में होना महत्वपूर्ण होता है। पोस्टमेनोपॉज़ल (postmenopausal) वाली महिलाओं द्वारा पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी का सेवन करने से कमजोर हड्डियों के कारण होने वाले हिप फ्रैक्चर के जोखिम को भी कम किया जा सकता है।

कई खाद्य पदार्थ कैल्शियम से भरपूर होते हैं, जिसमें कई डेयरी उत्पाद भी शामिल है जैसे दही, दूध और पनीर

रजोनिवृत्ति के घरेलू उपाय के रूप में आप हरी, पत्तेदार सब्जियाँ जैसे पालक, पत्तागोभी में भी बहुत सारा कैल्शियम होता है तो आप इनका भी सेवन कर सकती है। टोफू, बीन्स जैसे अन्य खाद्य पदार्थों में भी भरपूर मात्रा में कैल्शियम और विटामिन डी होता है। इसके अतिरिक्त, शरीर में कैल्शियम बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ जैसे अनाज, फलों का रस या दूध के विकल्प को भी शामिल किया जा सकता है और यह इसके बहुत अच्छे स्रोत भी हैं।

(और पढ़े – कैल्शियम युक्त भोजन महिलाओं के लिए…)

मेनोपॉज के घरेलू उपाय विटामिन डी का सेवन – Vitamin D Menopause home remedies in Hindi

मेनोपॉज के घरेलू उपाय विटामिन डी का सेवन - Vitamin D Menopause home remedies in Hindi

सूर्य का प्रकाश विटामिन डी का मुख्य स्रोत माना जाता है, क्योंकि जब आपकी त्वचा सूर्य के संपर्क में आती है तब वह इसका उत्पादन करती है जिससे हमारे शरीर को विटामिन डी मिलता है। हालाँकि, जैसे-जैसे हम बूढ़े होते जाते हैं, हमारी त्वचा इसे बनाने में कम कुशल हो जाती है। इसलिए यदि आप धूप में ज्यादा बाहर नहीं निकलती हैं या अपने आप को पूरा ढंक कर चलती हैं, तो आपको विटामिन डी के सप्लीमेंट या खाद्य पदार्थ लेना बहुत ही  महत्वपूर्ण हो सकता है। विटामिन डी के समृद्ध आहार स्रोतों में शामिल है ऑयली फिश, अंडे, मशरुम, सोया मिल्क आदि।

(और पढ़े – अच्छी सेहत के लिए विटामिन डी युक्त भोजन…

सही वजन हो सकता है मेनोपॉज का आयुर्वेदिक इलाज – Sahi vajan ho sakta hai Menopause ka accha gharelu upay in hindi

सही वजन हो सकता है मेनोपॉज का आयुर्वेदिक इलाज - Sahi vajan ho sakta hai Menopause ka accha gharelu upay in hindi

सही वजन को बनाये रखना रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) के लक्षणों को कम करने का अचूक घरेलू उपाय माना जाता है रजोनिवृत्ति के दौरान वजन बढ़ना एक आम बात है। वजन बढ़ने का कारण बदलते हार्मोन, बढ़ती उम्र, अनियमित जीवन शैली और आनुवांशिक भी हो सकता है।

रजोनिवृत्ति के दौरान शरीर की अतिरिक्त चर्बी, विशेषकर कमर के आस-पास की चर्बी से हृदय रोग और मधुमेह जैसी बीमारियों के होने का खतरा बढ़ सकता है। इसके अलावा, आपके शरीर का वजन आपके रजोनिवृत्ति के लक्षणों की वजह से भी प्रभावित हो सकता है।

इसलिए आप एक नियमित जीवनशैली और सही खानपान अपनाकर अपने वजन को नियंत्रित कर सकती है और अपने आप को रजोनिवृत्ति के बाद भी स्वस्थ रख सकती है।

(और पढ़े – महिलाओं में वजन बढ़ाने वाले हार्मोन्स और कम करने के उपाय…)

रजोनिवृत्ति के दौरान घर उपचार फल और सब्जियां – Menopause ki samasya ka gharelu upchar fal aur sabjiya in hindi

रजोनिवृत्ति के दौरान घर उपचार फल और सब्जियां - Menopause ki samasya ka gharelu upchar fal aur sabjiya in hindi

मीनोपॉज की समस्या के लिए एक अच्छा घरेलू तरीका है फल और सब्जियों का सेवन करना क्योकि फलों और सब्जियों का भरपूर आहार लेने से रजोनिवृत्ति के बाद उत्पन्न होने वाले कई लक्षणों और समस्याओं को रोका जा सकता है।

फल और सब्जियों में कैलोरी की मात्रा कम होती हैं इसलिए इनके सेवन से आसानी से वजन घटाया जा सकता हैं। फल और सब्जियों का आहार लेने से हृदय रोग सहित कई बीमारियों को होने से भी रोका जा सकता हैं। ऐसा करना महत्वपूर्ण है, क्योंकि रजोनिवृत्ति के बाद हृदय रोग का जोखिम बढ़ जाता है। यह बीमारी उम्र बढ़ने, वजन बढ़ने या संभवतः एस्ट्रोजन के स्तर को कम करने जैसे कारकों के कारण होती है।

जल्दी रजोनिवृत्ति के लक्षणों को रोकने के लिए फल और सब्जियों के सेवन से हड्डियों को होने वाले नुकसान को रोकने में मदद मिल सकती हैं। एक शोध में यह पाया गया है की 50-59 आयु वर्ग की महिलाओं का फल और सब्जियों के आहार अधिक लेने से हड्डियों के टूटने की समस्या को कम किया जा सकता है।

(और पढ़े – जानें फल खाने का सही समय क्या है…)

मेनोपॉज के घरेलू उपचार में हानिकारक खाना खाने से बचें – Menopause ka gharelu upay hai hanikarak khana khane se bache in hindi

मेनोपॉज के घरेलू उपचार में हानिकारक खाना खाने से बचें - Menopause ka gharelu upay hai hanikarak khana khane se bache in hindi

हानिकारक खाद्य पदार्थ खाने से मेनोपॉज के दौरान रात को बहुत पसीना आना, मूड स्विंग्स होना और हॉट फ्लाशेस की समस्या हो सकती है इसलिए ऐसा खाना ना खाए जिससे आपके शरीर को नुकसान हो। हानिकारक खाने में शामिल है कैफीन, अल्कोहल और बहुत ज्यादा मीठा या तीखा खाना। इन सभी खाद्य पदार्थो को अवॉयड करके आप मीनोपॉज से होने वाली समस्याओं को कम कर सकती है।

(और पढ़े – मसालेदार खाना खाने के फायदे और नुकसान…)

रजोनिवृति के लिए घरेलू नुस्खें में शामिल करें व्यायाम -Menopause ke liye gharelu upay hai vyayam in hindi

रजोनिवृति के लिए घरेलू नुस्खें में शामिल करें व्यायाम -Menopause ke liye gharelu upay hai vyayam in hindi

व्यायाम रजोनिवृत्ति को होने से रोकने का एक अचूक घरेलू उपाय है। मीनोपॉज की स्थिति में व्यायाम करना एक अच्छा और बेहतर घरेलू उपाय हो सकता है जिससे शरीर में उर्जा बनी रहती है और तनाव और अनिद्रा की समस्या में भी आराम मिलता है।

रजोनिवृति होने पर महिला को नियमित व्यायाम करना चाहिए हालांकि, नियमित व्यायाम के कई अन्य स्वास्थ्य लाभ भी होते है, जैसे-

व्यायाम करने से ऊर्जा बनी रहती है और मेटाबोलिज्म भी अच्छा रहता है, इससे हड्डियां स्वस्थ रहती है और तनाव में कमी आती है जिसकी वजह से बेहतर नींद ली जा सकती हैं।

नियमित व्यायाम से बेहतर स्वास्थ्य पाया जा सकता है और कैंसर, हृदय रोग, स्ट्रोक, उच्च रक्तचाप, टाइप 2 मधुमेह, मोटापा और ऑस्टियोपोरोसिस सहित अन्य बीमारियों और स्थितियों से भी निजात पाया जा सकता है।

(और पढ़े – फिट बॉडी बनाने के लिए एक्सरसाइज…)

रजोनिवृत्ति में ले फाइटोएस्ट्रोजेन से भरपूर आहार – Rajonivriti me le phytoestrogen se bharpoor aahar in hindi

रजोनिवृत्ति में ले फाइटोएस्ट्रोजेन से भरपूर आहार - Rajonivriti me le phytoestrogen se bharpoor aahar in hindi

फाइटोएस्ट्रोजेन (phytoestrogen) स्वाभाविक रूप से पैदा हुए पौधे के यौगिक (compound) होते हैं जो शरीर में एस्ट्रोजेन के प्रभाव की नकल करते हैं। इसलिए यह फाइटोएस्ट्रोजेन हार्मोन को संतुलित करने में मदद करते हैं।

फाइटोएस्ट्रोजेन से भरपूर खाद्य पदार्थों में शामिल है सोयाबीन और सोया उत्पाद जैसे टोफू, अलसी, तिल और सेम।

कई शोध से यह पता चला है कि रजोनिवृत्ति के दौरान फाइटोएस्ट्रोजेन से भरे खाद्य पदार्थ, प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों (processed food) जिनमें सोया प्रोटीन होता है और बहुत से सप्लीमेंट्स से बेहतर होता हैं।

(और पढ़े – मेनोपॉज में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं…)

मीनोपॉज के लिए घरेलू नुस्खा है भरपूर पानी पीना – Menopause ke liye gharelu nuskha hai bharpoor pani pina in hindi

मीनोपॉज के लिए घरेलू नुस्खा है भरपूर पानी पीना - Menopause ke liye gharelu nuskha hai bharpoor pani pina in hindi

रजोनिवृत्ति या मीनोपॉज के दौरान, महिलाओं को अक्सर सूखापन का अनुभव होता है। यह एस्ट्रोजन के स्तर में कमी के कारण हो सकता है। इसलिए दिन में 8-12 गिलास पानी पीने से इन लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है।

भरपूर पानी पीने से हार्मोनल परिवर्तन के साथ शरीर में होने वाली सूजन को भी कम किया जा सकता है। जो मेनोपॉज को रोकने में है लाभकारी साबित हो सकता है इसके अलावा ज्यादा पानी पीने से आपको वजन कम करने में भी सहायता मिल सकती है और आप अपने मेटाबोलिज्म को भी मजबूत कर सकती हैं।

ऐसा माना गया है की भोजन से 30 मिनट पहले 500 मिली पानी पीने से आप भोजन के दौरान 13% कम कैलोरी का उपभोग कर सकती हैं।

(और पढ़े – पानी पीने का सही समय जानें और पानी पीने के लिए खुद को प्रेरित कैसे करें…)

रजोनिवृत्ति में कम करें रिफाइंड शुगर और प्रोसेस्ड फूड – Rajonivriti me kam kare refined sugar aur processed food in hindi

रजोनिवृत्ति में कम करें रिफाइंड शुगर और प्रोसेस्ड फूड - Rajonivriti me kam kare refined sugar aur processed food in hindi

रिफाइंड कार्ब्स (refined carbs) और चीनी का उच्च आहार लेने से ब्लड शुगर का स्तर तेजी से बढ़ और घट सकता है जिससे आप रजोनिवृत्ति के दौरान थका हुआ और चिड़चिड़ा महसूस कर सकती हैं। एक अध्ययन में पाया गया कि रिफाइंड कार्ब्स का उच्च आहार लेने से पोस्टमेनोपॉज़ल (postmenopausal) महिलाओं में अवसाद का जोखिम बढ़ सकता हैं। प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों (processed food) का उच्च आहार लेने से हड्डियां भी प्रभावित हो सकती है।

(और पढ़े – शुगर में क्या नहीं खाना चाहिए…)

मेनोपॉज को रोकने में है लाभकारी प्रोटीन युक्त आहार – Menopause me protein yukt aahar le in hindi

मेनोपॉज को रोकने में है लाभकारी प्रोटीन युक्त आहार - Menopause me protein yukt aahar le in hindi

नियमित रूप से दिन भर प्रोटीन युक्त आहार लेने से कमजोर मांसपेशियों को नुकसान पहुँचने से बचाया जा सकता है, क्योकि रजोनिवृत्ति की यह समस्या उम्र के साथ बढ़ती है इसलिए हमेशा कोशिश करें की आप ज्यादा से ज्यादा मात्रा में प्रोटीन युक्त भोजन ले पाएं। मांसपेशियों के नुकसान को रोकने में मदद करने के अलावा, उच्च-प्रोटीन आहार वजन घटाने में भी मदद कर सकते हैं क्योंकि वह शरीर में कैलोरी की मात्रा को कम करते हैं। मेनोपॉज के लक्षणों को रोकने के लिए प्रोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थों में शामिल है मांस, मछली, अंडे, फलियां, नट और डेयरी प्रोडक्ट। इन सभी घरेलू उपचारों से आप रजोनिवृत्ति या मेनोपॉज की समस्या से आसानी से उभर सकती है और स्वस्थ रह सकती है। इस लेख में रजोनिवृत्ति (मीनोपॉज या मेनोपॉज) के घरेलू उपाय के बारे में जानेगी।

(और पढ़े – प्रोटीन क्या है, कार्य, कमी के कारण, लक्षण, जाँच, इलाज और आहार…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration