पपीता के पत्ते के जूस के फायदे और नुकसान – Papaya Leaf Juice Benefits And Side Effects In Hindi

पपीता के पत्ते के जूस के फायदे और नुकसान - Papaya Leaf Juice Benefits And Side Effects In Hindi
Written by Jaideep

पारंपरिक चिकत्‍सा के रूप में पपीता के पत्ते के जूस का उपयोग प्राचीन समय से किया जा रहा है। पपीता के पत्ते के जूस के फायदे स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के साथ ही त्‍वचा सौंदर्य को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। आमतौर पर हम नीम, तुलसी, सिंहपर्णी, एलोवेरा और पुदीने की पत्तियों के रस का उपयोग करते हैं। उसी तरह से पपीता के पत्तों का जूस भी हमारे लिए उपयोगी होता है। पपीते के पत्‍ते के जूस के फायदे बुखार को ठीक करने, पाचन को ठीक रखने,डेंगू के लक्षणों को कम करने, सूजन का इलाज करने, त्‍वचा की सुंदरता को बढ़ाने और बालों को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में होते हैं। इस ल‍ेख में आप पपीता के पत्ते के जूस से प्राप्‍त होने वाले फायदे और नुकसान की जानकारी प्राप्‍त नहीं कर सकते हैं।

पपीता खाने के ढेरों फायदे आप सभी बहुत अच्छी तरह से जानते होंगें लेकिन आपने कभी पपीता के पत्तों का जूस पीया है। अगर पीया है तो आप इसके फायदों को जानतें होंगें और नहीं पीया तो पीना शुरू कर दीजिए। क्योंकि पपीता के पत्तों का जूस पीने से कई तरह की बड़ी-बड़ी बीमारियों को मात दी जा सकती है। वैसे तो डेंगू और चिकनगुनिया के रोगियों को आयुर्वेदिक चिकित्सकों द्वारा इसका जूस पीने की सलाह दी जाती है। लेकिन यदि आप लम्बी उम्र तक स्वस्थ रहना चाहते हैं तो इसे अपनी डेली डाइट में शामिल कर लीजिये।

आइए जानें, पपीते के पत्तों का जूस पीने के फायदे…

1. पपीता के पत्ते का जूस क्‍या है – What is papaya leaf juice in Hindi
2. पपीता के पत्ते के जूस के पोषक तत्‍व – Nutrients of papaya leaf juice in Hindi
3. पपीते के पत्ते का जूस पीने के फायदे – Papita Ke Patte Ka Juice Peene Ke Benefits in Hindi

4. पपीते के पत्ते का जूस कैसे बनाएं विधि – Papaya leaf juice recipe in Hindi
5. पपीते के पत्ते का जूस पीने के नुकसान – Papita Ke Patte Ka Juice Peene Ke Nuksan in Hindi

पपीता के पत्ते का जूस क्‍या है – What is papaya leaf juice in Hindi

पपीता के पत्ते का जूस क्‍या है - What is papaya leaf juice in Hindi

हम सभी जानते हैं कि पपीता में औषधीय गुणों की अच्‍छी मात्रा होती है। पपीता के यही सारे गुण पपीता की पत्तियों में भी होते हैं। पपीते की पत्‍ती का जूस कैरिका (Carica) या पपीता के पौधे की कोमल पत्तियों को पीसकर बनाया जाता है। इस रस का उपयोग त्‍वचा की एलर्जी, घावों, दाग धब्बे, बाल झड़ना, रूसी और फंगल बैक्‍टीरिया संबंधी संक्रमणों को दूर करने में मदद करता है। यह एक गाढ़ा और कड़वा अर्क होता है जिसे पानी या दूध के साथ मिलाकर पतला किया जा सकता है। पपीते के पत्तों का जूस सबसे अच्‍छा डिटॉक्‍स ड्रिंक होता है।

(और पढ़े – पपीता खाना क्यों है सेहत के लिए लाभकारी…)

पपीता के पत्ते के जूस के पोषक तत्‍व – Nutrients of papaya leaf juice in Hindi

स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी परेशानियों को दूर करने वाले पपीता के पत्ते के जूस में पोषक तत्‍वों की उच्‍च मात्रा होती है। इसमें विटामिन ए, बी और सी होता है। इसके अलावा खनिज पदार्थ के रूप में कैल्शियम, फास्‍फोरस और आयरन आदि भी होते हैं। पपीते की पत्तियों में सैपोनिन (saponins), टैनिन (tannins), अल्‍कलॉइड और फ्लेवोनोइड जैसे फाइटोकैमिकल्‍स (alkaloids, and flavonoids) की अच्‍छी मात्रा होती है। ये सभी घटक शरीर में रक्‍त को शुद्ध करने में मदद करते हैं। आइए जाने पपीता के पत्ते के जूस के फायदे क्‍या हैं।

पपीते के पत्ते का जूस पीने के फायदे – Papita Ke Patte Ka Juice Peene Ke Benefits in Hindi

  1. पपीता के पत्ते के जूस के फायदे पाचन के लिए – Papaya leaf juice benefits for digestion in Hindi
  2. पपीता के पत्ते का रस के लाभ लिवर के लिए – Papaya leaf juice benefits for liver in Hindi
  3. पपाया लीफ जूस बेनिफिट्स फॉर इम्युनिटी – Papaya Leaf Juice Benefits for Immunity in Hindi
  4. पपीते के पत्तों का जूस पीने के फायदे बुखार में – Papaya Leaf Juice for treat fever in Hindi
  5. पपीते के पत्‍ते का जूस त्‍वचा के लिए फायदेमंद – Papaya Leaf benefits for skin in Hindi
  6. पपीता के पत्ते का जूस के फायदे मधुमेह का इलाज करे – Papaya Leaf Juice Treat Diabetes in Hindi
  7. पपीते के पत्‍ते का जूस डैंड्रफ का उपाय – papaya leaves juice for Dandruff remedy in Hindi

पपीता के पत्ते के जूस के फायदे पाचन के लिए – Papaya leaf juice benefits for digestion in Hindi

पपीता के पत्ते के जूस के फायदे पाचन के लिए - Papaya leaf juice benefits for digestion in Hindi

यदि आप पाचन संबंधी समस्‍याओं से परेशान हैं तो इसका घरेलू और प्राकृतिक उपाय कर सकते हैं। घरेलू उपाय के रूप में पपीते की पत्तियों का रस लाभकारी होता है। इसके लिए आप पपीते की कोमल पत्तियों का भी सेवन कर सकते हैं। पपीते के पत्ते का जूस के औषधीय गुण एसिड रिफ्लक्‍स, कब्‍ज और पेट दर्द जैसी समस्‍याओं का प्रभावी इलाज कर सकता है। पपीता के पत्‍तों के अर्क में एंटीऑक्‍सीडेंट और सक्रिय यौगिकों की अच्‍छी मात्रा होती है। पपीता के पत्‍तों में पपैन (papain), काय्मोपपैन (chymopapain) और फाइबर भी होते हैं जो पाचन को सक्रिय करने और भूख बढ़ाने में मदद करते हैं। इस तरह से आप पाचन तंत्र को स्‍वस्‍थ्‍य रखने और पाचन संबंधी समस्‍याओं से बचने के लिए पपीता के पत्‍तों के रस का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय…)

पपीता के पत्ते का रस के लाभ लिवर के लिए – Papaya leaf juice benefits for liver in Hindi

पपीता के पत्ते का रस के लाभ लिवर के लिए - Papaya leaf juice benefits for liver in Hindi

शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल की अधिक मात्रा हृदय रोग और मोटापे जैसी संभावनाओं को बढ़ा सकते हैं। लेकिन यदि आप अपने शरीर में मौजूद अतिरिक्‍त कोलेस्ट्रॉल को कम करना चाहते हैं तो पपीते के पत्ते के जूस का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा पपीते के पत्तों का रस रक्‍त को साफ करने में भी मदद करता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इसमें मौजूद पोषक तत्‍व शरीर से कोलेस्‍ट्रॉल को हटाने और उन्‍हें जमा होने से रोकते हैं। इसके अलावा यह आपके लिवर को फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से भी बचाता है। इस तरह से आप अपने लिवर को स्‍वस्‍थ्‍य रखने और कोलेस्‍ट्रॉल से संबंधित स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से बचने के लिए पपीते के पत्तों का रस का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – लीवर की कमजोरी कारण लक्षण और दूर करने के उपाय…)

पपाया लीफ जूस बेनिफिट्स फॉर इम्युनिटी – Papaya Leaf Juice Benefits for Immunity in Hindi

पपाया लीफ जूस बेनिफिट्स फॉर इम्युनिटी - Papaya Leaf Juice Benefits for Immunity in Hindi

पारंपरिक दवाओं के रूप में पपीता और इसके अन्‍य हिस्‍सों का उपयोग प्रचीन समय से ही लोकप्रिय है। पपीता के पत्तियों के रस का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ावा मिलता है। नियमित रूप से पपीता के पत्‍तों के रस का सेवन करने से टी-लिम्‍फोसाइटों (T-lymphocytes) की सक्रियता को बढ़ाते हैं। जिससे मस्तिष्‍क की सक्रियता बढ़ती है और तनाव जैसे दुष्‍प्रभावों से बचा जा सकता है। पपीते के पत्‍तों के रस में फाइटोकेमिकल संरचना में कई शक्तिशाली और सक्रिय घटक होते हैं जो एंटी-ट्यूमर गतिविधि दिखाते हैं। इस तरह से आप अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए पपीता के पत्ते के जूस का सेवन कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

पपीते के पत्तों का जूस है डेंगू की रामबाण दवा – Papaya Leaf Juice for dengue fever in Hindi

पपीते के पत्तों का जूस है डेंगू की रामबाण दवा - Papaya Leaf Juice for dengue fever in Hindi

पपीता की पत्तियों के रस का सेवन डेंगू के लक्षणों को कम करता है। डेंगू और मलेरिया से लड़ने में पपीते की पत्‍तियों का जूस काफी लाभकारी माना जाता है। यह बुखार की वजह से घटती प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाने और शरीर में कमजोरी को बढ़ने से रोकता है। कई स्वास्थ्य विशेषज्ञ डेंगू बुखार के इलाज के लिए पपीते के पत्तों के रस को एक प्रभावी और रामबाण उपाय बताते हैं। डेंगू की यह जानलेवा बीमारी एडीज मच्छरों के कारण होती है। वे रोग को हमारे रक्त में संचारित करते हैं और उच्च बुखार, त्वचा पर चकत्ते और प्लेटलेट काउंट में कमी का कारण बनते हैं। पपीते की पत्ती से अर्क डेंगू के लक्षणों को कम करने में मदद करता है।

पपीते के पत्तों का जूस पीने के फायदे बुखार में – Papaya Leaf Juice for treat fever in Hindi

पपीते के पत्तों का जूस पीने के फायदे बुखार में - Papaya Leaf Juice for treat fever in Hindi

डेंगू बुखार बायरस के कारण फैलता है जो कि मच्‍छर के काटने से होता है। यदि आपको डेंगू के लक्षण महसूस हो रहे हों तो जल्‍दी से जल्‍दी इसका इलाज किया जाना चाहिए। क्‍योंकि डेंगू बुखार समय बीतने के साथ ही अधिक गंभीर हो जाता है। लेकिन आप इसके घरेलू उपचार के रूप में पपीता के पत्ते के जूस का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट डेंगू के जीवाणुओं को नष्‍ट करने और इनके विकास को कम करने में मदद करते हैं। डेंगू के लक्षणों में तेज बुखार, सिर दर्द, जोड़ों में दर्द और मांसपेशियों में दर्द आदि होते हैं। पपीता के पत्ते के जूस का सेवन कर आप इन सभी लक्षणों से छुटकारा पा सकते हैं। लेकिन आपको सलाह दी जाती है कि इस दौरान आपको अपने डॉक्‍टर की दवाओं का भी नियमित सेवन करना चाहिए।

(और पढ़े – डेंगू बुखार क्या है, कारण, लक्षण, उपचार, निदान, बचाव के घरेलू उपचार…)

पपीते के पत्‍ते का जूस त्‍वचा के लिए फायदेमंद – Papaya Leaf benefits for skin in Hindi

पपीते के पत्‍ते का जूस त्‍वचा के लिए फायदेमंद - Papaya Leaf benefits for skin in Hindi

यदि आप अपनी त्‍वचा को सुंदर और स्‍वस्‍थ्‍य रखना चाहते हैं तो पपीते के पत्‍तों के रस का इस्‍तेमाल करें। चूंकि पपीते के पत्‍तों में एंटीऑक्‍सीडेंट की उच्‍च मात्रा होती है जिनमें सैपोनिन, फ्लेवोनोइड, टैनिन और एल्‍कलॉइड आदि शामिल हैं। इनकी उपस्थिति के कारण पपीते के रस का उपयोग आपकी त्‍वचा को पोषण देने में मदद करता है। इसमें मौजूद विटामिन सी, ए और अन्‍य एंटीऑक्‍सीडेंट आपके रक्‍त में मुक्त कणों को हटाते हैं। इस तरह से आपकी त्‍वचा में रक्‍त परिसंचरण में सुधार होता है। इस तरह से त्‍वचा की झुर्रियों, दाग धब्‍बों और झाईयों का इलाज करने के साथ ही त्‍वचा को गोरा रंग दिलाने में सहायक होता है। आप पपीते के पत्‍ते के रस को पके हुए पपीते के साथ मिला कर भी उपयोग कर सकते हैं।

यह आपकी त्‍वचा के बंद रोम छिद्रों को खोलने में सहायक होता है। इस तरह से आप अपनी त्‍वचा को सुंदर बनाने के लिए पपीते के पत्‍तों के रस का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – घर पर बनायें पपीता का फेस पैक…)

पपीता के पत्ते का जूस के फायदे मधुमेह का इलाज करे – Papaya Leaf Juice Treat Diabetes in Hindi

पपीता के पत्ते का जूस के फायदे मधुमेह का इलाज करे - Papaya Leaf Juice Treat Diabetes in Hindi

डायबिटीज के रोगी के लिए पपीते के पत्‍ते के रस बहुत ही लाभकारी होता है। पपीते के पत्‍तों और बीज के रस में पॉलीफेनोल, सैपोनिन आदि की अच्‍छी मौजूदगी होती है। जिसके कारण पपीते के पत्ते का रस एक शक्तिशाली एंटीइंफ्लामेटरी का काम करता है। ये यौगिक आपके केंद्रीय तंत्रिक तंत्र पर सीधा प्रभाव डालते हैं। पपीते के पत्तियों के रस का सेवन करने से कई प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं जैसे गठिया, मधुमेह टाइप 2, अस्‍थमा, पीरियोडोंटाइटिस, यूटीआई, गैस्ट्रिक अल्‍सर, निमोनिया आदि का प्रभावी इलाज किया जा सकता है। इस तरह से आप मधुमेह और अन्‍य गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से बचने के लिए पपीते के पत्‍तों के रस का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – मधुमेह को कम करने वाले आहार…)

पपीते के पत्‍ते का जूस डैंड्रफ का उपाय – papaya leaves juice for Dandruff remedy in Hindi

पपीते के पत्‍ते का जूस डैंड्रफ का उपाय - papaya leaves juice for Dandruff remedy in Hindi

जिस तरह से आपकी त्‍वचा के लिए पपीता के पत्‍तों का रस फायदेमंद होता है। उसी तरह से बालों के लिए भी पपीते के पत्‍ते के रस का उपयोग किया जा सकता है। यदि आप बालों में डैंड्रफ की समस्‍या से परेशान हैं तो इसका सबसे अच्‍छा उपाय पपीता के पत्‍तों का जूस हो सकता है। इस जूस को सिर में लगाने से गंदगी को दूर करने में मदद मिलती हैं। बालों में डैंड्रफ संक्रमण और गंदगी के कारण ही आता है। नियमित रूप से सिर में पपीते के रस का उपयोग करने से सिर की खुजली और इससे संबंधित अन्‍य समस्‍याओं को दूर करने में मदद मिलती है। यह औषधीय जूस सिर की त्‍वचा को मॉइस्‍चराइज रखने, संक्रमण को दूर करने आदि में भी प्रभावी होता है।

(और पढ़े – रूसी दूर करने के घरेलू उपाय…)

पपीते के पत्ते का जूस कैसे बनाएं विधि – Papaya leaf juice recipe in Hindi

पपीते के पत्ते का जूस कैसे बनाएं विधि - Papaya leaf juice recipe in Hindi

त्‍वचा, बालों और स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी लाभ प्राप्‍त करने के लिए आप पपीते के पत्‍ते के जूस का उपयोग करते हैं। इस जूस को बनाने के लिए आपको चाहिए :

पपीते की ताजी और कोमल 5 से 10 पत्‍ते, एक ब्‍लेंडर आदि। पपीते के पत्‍ते का जूस निकालने से पहले आप इन पत्तियों को अच्‍छी तरह से धो लें और फिर इन्‍हें छोटे टुकड़े करके ब्‍लेंडर में डालें। अच्‍छी तरह से पेस्‍ट बनाने के बाद आप इन पत्तियों को छन्‍नी या कपड़े की सहायता से छान लें और रस को किसी दूसरे बर्तन में निकाल लें। इस तरह से आप पपीते के पत्‍ते का जूस तैयार कर सकते हैं।

पपीते के पत्ते का जूस पीने के नुकसान – Papita Ke Patte Ka Juice Peene Ke Nuksan in Hindi

पपीते के पत्ते का जूस पीने के नुकसान - Papita Ke Patte Ka Juice Peene Ke Nuksan in Hindi

सामान्‍य रूप से पपीते के पत्ते के जूस का उपयोग बहुत ही फायदेमंद होता है। लेकिन कुछ विशेष परिस्थितियों में कुछ लोगों के लिए पपीते के पत्ते के रस का उपयोग हानिकारक हो सकता है।

  • जो महिलाएं गर्भवती हैं या गर्भाधारण करना चाहती हैं उन्‍हें पपीते के पत्ते का रस सेवन करने से बचना चाहिए। क्‍योंकि यह गर्भापात का कारण बन सकता है।
  • कुछ लोगों को पपीते के पत्ते का जूस पीने से एलर्जी हो सकती है। इसलिए अधिक मात्रा में पपीते के पत्ते के रस का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो पपीते के जूस का सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह लेना चाहिए।
  • कुछ लोगों की त्‍वचा पपीते की पत्तियों के रस के प्रति संवेदनशील होती हैं। परिणाम स्‍वरूप उपयोग करने पर यह त्‍वचा में चकते, जलन आदि पैदा कर सकता है।

(और पढ़े – गर्भावस्‍था के पहली तिमाही में क्‍या खाना चाहिए और क्‍या नहीं…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और पढ़े –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration