मसूड़ों में सूजन के घरेलू उपाय - Masudo Me Sujan Ke Gharelu Upay In Hindi
घरेलू उपाय

मसूड़ों में सूजन के घरेलू उपाय – Masudo Me Sujan Ke Gharelu Upay In Hindi

मसूड़ों में सूजन के घरेलू उपाय - Masudo Me Sujan Ke Gharelu Upay In Hindi

क्या आप भी हैं मसूड़ों की सूजन से परेशान? आप जब भी ब्रश करते हैं तो आपके मसूड़ों से खून आता है? यदि हां, तो आपको ‘जिंजीवाइटिस या पेरिओडोन्टाइटिस’ की समस्या हो सकती है। मसूड़े की बीमारी जिंजिवाइटिस (gingivitis) का सबसे पहला चरण है मसूड़ों में सूजन, जो आपके दांतों को नुकसान पंहुचा सकती है। यह ऐसी समस्या है, जो बैक्टीरिया संक्रमण के कारण होती है। सौभाग्य से, मसूड़े की सूजन का इलाज घरेलू उपाय की मदद से आसानी से घर पर ही किया जा सकता है, लेकिन वे कौन से घरेलू उपचार हैं जो मसूड़ों में सूजन को दूर करने में सबसे अच्छा काम करते हैं? आज हम उन्हीं के बारे में बताने जा रहें हैं।

मसूड़े की सूजन के लक्षणों में मसूड़े लाल होना, उनसे खून आना और उनमे सूजन आना शामिल होते हैं जो किसी व्यक्ति के दांतों को ब्रश करने पर अधिक बढ़ सकती है। मसूड़े की सूजन आम है, इस तथ्य के बावजूद यह रोके जाने योग्य है।

इस लेख में हम जिंजिवाइटिस (मसूड़ों में सूजन) के इलाज के लिए उपलब्ध विभिन्न घरेलू उपचारों के बारे में जानेगें। साथ ही मसूड़े की सूजन की रोकथाम, मौखिक स्वच्छता के लिए सर्वोत्तम अभ्यास और मसूड़ों में सूजन होने पर डॉक्टर को कब दिखाना है के बारे में भी जानेगें।

मसूड़ों का दर्द के कारण आप कुछ भी खा या पी नहीं सकते; निरंतर दर्द के कारण आप शांति से बात नहीं कर सकते या बैठ भी नहीं सकते। ऐसे में अपने मुंह के स्वास्थ्य पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है। मसूड़े की सूजन या मसूड़ों का दर्द इन दिनों एक आम मौखिक बीमारी बनती जा रही है, हम इस लेख में हम आपके मसूड़ों में सूजन को घरेलू उपचार की मदद से दूर करने में मदद करेंगे।

आइए, सबसे पहले जान लेते हैं कि मसूड़ों में सूजन आने के क्या कारण हैं।

मसूड़े की सूजन के कारण क्या हैं? – Masudo ki sujan ke karan kya hai In Hindi

मसूड़े की सूजन के कारण क्या हैं? - Masudo ki sujan ke karan kya hai In Hindi

मसूड़े की सूजन दांतों में प्लाक बिल्ड-अप के कारण होती है, जो मूल रूप से बैक्टीरिया का बिल्ड-अप है। यह पट्टिका बैक्टीरिया, खाद्य पदार्थ और बलगम से बना होता है। दांतों की सही से सफाई न करना पट्टिका निर्माण के मुख्य कारणों में से एक है, जो मसूड़े की सूजन की ओर ले जाता है। मसूड़े की सूजन के जोखिम को बढ़ाने वाले अन्य कारकों में शामिल हैं:

यदि आप पहले से ही मसूड़े की सूजन से पीड़ित हैं, तो दंत चिकित्सक के पास जाना एकमात्र उपाय नहीं है। कई घरेलू उपचार हैं जो मसूड़े में दर्द से राहत दिला सकते हैं। यहाँ मसूड़े की सूजन ठीक करने के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपचार की सूची दी गई है जो आपको इस दर्दनाक स्थिति से राहत दिला सकती है।

(और पढ़े – सूजन के कारण, लक्षण और कम करने के घरेलू उपाय…)

मसूड़ों में सूजन के लक्षण – Symptoms For Swollen Gums In Hindi

मसूड़ों में सूजन के लक्षण – Symptoms For Swollen Gums In Hindi

मसूड़ों में सूजन आने पर निम्न लक्षण नजर आ सकते हैं:

  • सांस से बदबू आना।
  • मसूड़ों से खून आना।
  • मसूड़े लाल हो जाना और उनमे सूजन आना।
  • मसूड़ों में दर्द होना।

अब हम आपको मसूड़ों की सूजन दूर करने के लिए घरेलू उपाय के बारे में बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप सूजे हुए मसूड़े की समस्या से राहत पा सकते हैं।

(और पढ़े – पायरिया क्या है, कारण, लक्षण, इलाज, और वाचाव के उपाय…)

मसूड़े की सूजन दूर करने के घरेलू उपाय – Swollen Gums Home Remedies in Hindi

मसूड़े की सूजन दूर करने के घरेलू उपाय - Swollen Gums Home Remedies in Hindi

मसूड़े की सूजन का इलाज करने के लिए घरेलू उपचार एक सस्ता और प्रभावी तरीका है। यदि आप एक प्रारंभिक अवस्था में उपचार शुरू करते हैं, तो घरेलू उपचार आमतौर पर मसूड़े की सूजन को दूर करने में सक्षम होते हैं।

भले ही घरेलू उपचार में प्राकृतिक तत्व होते हैं, लेकिन आपको उन्हें निगलना नहीं चाहिए। अपने उपायों में उपयोग करने के लिए हमेशा उच्च गुणवत्ता वाले उत्पाद खरीदें।

नीचे दिए गए मसूड़ों में सूजन के घरेलू उपचार आमतौर पर उपयोग करने के लिए सुरक्षित हैं। यदि आप गर्भवती हैं, स्तनपान करा रही हैं, या कोई अन्य चिकित्सीय स्थिति है, तो उपयोग करने से पहले चिकित्सा सलाह लें।

यदि आप गंभीर लक्षणों का अनुभव कर रहे हैं, जैसे कि अत्यधिक दर्द या रक्तस्राव – या यदि आपके मसूड़े की सूजन प्राकृतिक उपचार के साथ सुधार नहीं कर रही है – तो अपने चिकित्सक या दंत चिकित्सक से मिलें। यदि इसे अनुपचारित छोड़ दिया जाए, तो मसूड़े की सूजन अधिक गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकती है।

जानने के लिए पढ़ते रहें कि कैसे 10 अलग-अलग घरेलू उपचार आपके लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं, साथ ही साथ भविष्य के मसूड़े की सूजन को कैसे रोक सकते हैं। मसूड़े की सूजन के इलाज के लिए लोग निम्न घरेलू उपचार आजमा सकते हैं:

(और पढ़े – मसूड़ों की समस्याओं के लिए ये आजमाएं घरेलू उपचार…)

मसूड़े की सूजन के लिए नमक के पानी का उपचार

मसूड़े की सूजन के लिए नमक के पानी का उपचार

मुंह की समस्याओं के लिए नमक का पानी बहुत ही प्रचलित घरेलू उपचारों में से एक है। 2016 के एक अध्ययन में यह दिखाया गया है कि जिंजिवाइटिस द्वारा सूजन वाले मसूड़ों में नमक के पानी के कुल्ला या गरारे का उपयोग बहुत फायदेमंद हो सकता है। नमक एक प्राकृतिक कीटाणुनाशक है जो आपके शरीर को खुद से ठीक करने में मदद करता है। यह मुंह के पीएच स्तर को संतुलित करता है और मसूड़ों की सूजन से राहत दिलाने में मदद करता है।

नमक का पानी निम्न समस्याओं में मदद कर सकता है:

  • मसूड़े की सूजन
  • दर्द को कम करने में मदद करें
  • बैक्टीरिया को कम करें
  • भोजन के कणों को हटा दें
  • सांसों की बदबू से छुटकारा

आपको चाहिये होगा

  • 1 बड़ा चम्मच टेबल सॉल्ट
  • 1 गिलास गर्म पानी

एक नमक पानी का उपयोग करने के लिए:

  • एक गिलास गुनगुने पानी में 1/2 से 3/4 चम्मच नमक डालें और अच्छी तरह मिलाएँ।
  • ब्रश करने के बाद इस घोल को 30 सेकंड तक अपने मुंह में घुमाएं और गरारे करें। ।
  • घोल को बाहर थूकें।

कितनी बार आपको यह करना चाहिए

इसे प्रति दिन दो से तीन बार दोहराएं।

यह कैसे काम करता है

नमक का पानी एक जीवाणुरोधी है। यह जिंजिवाइटिस के कारण होने वाली सूजन को कम करने में मदद करता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो सूजन कम करने में मदद करते हैं।

सावधानी – नमक के पानी का प्रयोग बहुत बार या बहुत देर तक करने से दांतों के इनेमल पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। मिश्रण के अम्लीय गुणों के कारण लंबे समय तक उपयोग करने से आपके दांत खराब हो सकते हैं।

(और पढ़े – दाँतों की देखभाल कैसे करे…)

मसूड़े की सूजन के लिए नींबू का रस

मसूड़े की सूजन के लिए नींबू का रस

नींबू में साइट्रिक एसिड और एस्कॉर्बिक एसिड होते हैं जो मुंह के बैक्टीरिया पर रोगाणुरोधी प्रभाव डालते हैं। इसलिए इसे पुरानी मसूड़ों की समस्या के इलाज के लिए जाना जाता है।

आपको चाहिये होगा

आपको क्या करना है

  • नींबू के रस को पानी में मिलाकर माउथवॉश की तरह इस्तेमाल करें।
  • इस घोल को 1-2 मिनट के लिए अपने मुंह में घुमाएं और फिर इसे बाहर थूक दें।
  • सादे पानी से अपना मुंह साफ करें।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए

इस होममेड माउथवॉश का प्रयोग रोज सुबह और रात में करें जब तक आपको आराम न मिले।

(और पढ़े – नेचुरल माउथ फ्रेशनर का सेवन करके सांसों में ताजगी लाऐं…)

मसूड़े फूलने पर करना चाहिए एलोवेरा जेल का उपयोग

मसूड़े फूलने पर करना चाहिए एलोवेरा जेल का उपयोग

मसूड़ों पर एलोवेरा जेल लगाने से आप सूजन वाले मसूड़ों के साथ-साथ बैक्टीरिया के निर्माण से छुटकारा पा सकते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि एलोवेरा में एंटी-इंफ्लेमेटरी और हीलिंग कंपाउंड्स होते हैं जो मसूड़े की सूजन के खिलाफ बहुत प्रभावी होते हैं।

आपको चाहिये होगा

एक एलोवेरा का पत्ता

तुम्हे जो करना है

  • एलोवेरा के पत्ते को बग़ल से काटें और अंदर मौजूद जेल को एक कंटेनर में स्थानांतरित करें।
  • इस जेल की एक परत प्रभावित मसूड़ों पर लगाएं।
  • आप या तो इसे छोड़ सकते हैं या सादे पानी के साथ कुछ मिनट बाद गार्गल कर सकते हैं।
  • बाकी के एलोवेरा जेल को एक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर करें।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए

एलोवेरा जेल को दिन में दो बार लगाएं।

(और पढ़े – खाली पेट एलोवेरा खाने या एलोवेरा जूस पीने के फायदे…)

मसूड़े की सूजन के लिए सरसों का तेल और नमक

मसूड़े की सूजन के लिए सरसों का तेल और नमक

सूजन वाले मसूड़ों को सरसों के तेल और नमक के मिश्रण से मालिश करके ठीक किया जा सकता है। इन दोनों सामग्रियों में रोगाणुरोधी गुण होते हैं, और वे आपके मसूड़ों के स्वास्थ्य को बहाल करेंगे।

आपको चाहिये होगा

  • 1 चम्मच सरसों का तेल
  • 1/4 चम्मच नमक

आपको क्या करना है

  • तेल और नमक मिलाएं।
  • अपनी उंगलियों का उपयोग करके 2-3 मिनट के लिए अपने मसूड़ों की मालिश करें।
  • तेल के सभी निशान हटाने के लिए गुनगुने पानी के साथ अपना मुँह रगड़ें।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए

मसूड़े की सूजन के लक्षणों से छुटकारा पाने के लिए हर दिन दो बार ऐसा करें।

(और पढ़े – सरसों के तेल की मालिश के फायदे…)

मसूड़ों की सूजन से छुटकारा पाने के लिए बेकिंग सोडा

मसूड़ों की सूजन से छुटकारा पाने के लिए बेकिंग सोडा

मसूड़ों की सूजन वाले लोग बेकिंग सोडा को घरेलू उपचार की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। यह उपाय जिंजिवाइटिस पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करेगा। बेकिंग सोडा पट्टिका पैदा करने वाले बैक्टीरिया पर जीवाणुनाशक प्रभाव डालता है। यह ठंडा और सूजन वाले मसूड़ों को भी ठीक करता है।

आपको चाहिये होगा

आपको क्या करना है

  • एक पेस्ट बनाने के लिए बेकिंग सोडा में पर्याप्त पानी मिलाएं।
  • इस पेस्ट को साफ उंगलियों से मसूड़ों पर लगाएं।
  • 5-10 मिनट के लिए उस पर लगा छोड़ दें और फिर कुल्ला कर लें।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए

इसे दिन में एक या दो बार सुबह-शाम दोहराएं।

सावधानी – अपने दांतों पर कोई भी बेकिंग सोडा न लगने का ध्यान रखें। बेकिंग सोडा के कई और दोहराए जाने वाले अनुप्रयोग दाँत की परत को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

मसूड़ों की सूजन के लिए करें लौंग का प्रयोग

मसूड़ों की सूजन के लिए करें लौंग का प्रयोग

यदि हम मौखिक स्वास्थ्य के बारे में बात कर रहे हैं, तो लौंग के उल्लेख के बिना कोई भी सूची पूरी नहीं है। यूजेनॉल लौंग में पाया जाने वाला सबसे सक्रिय घटक है, और इसमें एंटीमाइक्रोबियल, एंटीऑक्सिडेंट, और सूजन कम करने के गुण होते हैं जो मसूड़े की सूजन के खिलाफ बहुत प्रभावी होते हैं।

आपको चाहिये होगा

1-2 बूंद लौंग का तेल

आपको क्या करना है

  • लौंग का तेल सीधे सूजन वाले मसूड़ों पर लगाएं और धीरे-धीरे मालिश करें।
  • यदि आपके पास लौंग का तेल नहीं है, तो आप मसूड़ों के पास 2-3 लौंग भी रख सकते हैं।

कितनी बार आपको यह करना चाहिए

लौंग का तेल दिन में 2-3 बार लगाएं।

जिंजिवाइटिस के लिए क्रैनबेरी जूस

जिंजिवाइटिस के लिए क्रैनबेरी जूस

शुगर-फ्री क्रैनबेरी (करोंदा) जूस का सेवन न केवल बैक्टीरिया की ग्रोथ को कम करने में मदद करता है, बल्कि उनके प्रसार को भी कम करता है, जिससे मुंह में मसूड़े की सूजन दूर होती है। क्रैनबेरी रस में मौजूद प्रोएन्थोसायनिडिन बैक्टीरिया को दांतों और मसूड़ों पर बायोफिल्म बनाने से रोकता है। रस में एंटीऑक्सिडेंट और सूजन कम करने वाले गुण भी होते हैं जो रक्तस्राव और सूजन वाले मसूड़ों की उपचार प्रक्रिया को तेज करते हैं।

आपको चाहिये होगा

ताजा या आर्गेनिक क्रैनबेरी रस

आपको क्या करना है

दिन में क्रैनबेरी जूस पिएं। यदि रस आपके दांतों के लिए बहुत अधिक अम्लीय है, तो इसे कुछ सादे पानी से पतला करें और फिर इसे पी लें।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए

एक दिन में 2-3 गिलास क्रैनबेरी जूस पिएं।

मसूड़े फूलने का घरेलू उपाय है हल्दी

मसूड़े फूलने का घरेलू उपाय है हल्दी

हल्दी का उपयोग कई घरेलू उपचारों में किया जाता है क्योंकि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-फंगल गुण होते हैं जो सूजन को कम करते हैं और मसूड़ों को जल्दी ठीक करते हैं। आप मसूड़ों की सूजन का इलाज करने के लिए हल्दी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 2015 में किए गए शोध से पता चलता है कि हल्दी युक्त एक जेल पट्टिका और मसूड़े की सूजन को रोकने में मदद कर सकता है।

आपको चाहिये होगा

  • 1 चम्मच हल्दी पाउडर
  • ½ चम्मच सेंधा नमक
  • ½ चम्मच सरसों का तेल

आपको क्या करना है

हल्दी को सरसों के तेल में मिलाकर घर पर ही इसका जेल बना सकते हैं। सभी सामग्री मिलाकर पेस्ट बना लें और इसे मसूड़ों पर लगाएं। मसूड़े की सूजन के इलाज के लिए इसका उपयोग करने के लिए, लोगों को इसे मसूड़ों पर लगाना चाहिए और थूकने से पहले 10 मिनट के लिए छोड़ देना चाहिए।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए

इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार दोहराएं।

(और पढ़े – हल्दी और दूध के फायदे और नुकसान…)

मसूड़े में सूजन का उपाय है अमरूद की पत्ती

मसूड़े में सूजन का उपाय है अमरूद की पत्ती

अध्ययनों से पता चला है कि अमरूद की पत्ती से बना माउथवॉश अपने जीवाणुरोधी गुणों के कारण पट्टिका को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। यह मसूड़ों की सूजन को भी कम कर सकता है।

अमरुद के पत्ते का कैसे करें इस्तेमाल

अमरूद की पत्ती का माउथवॉश बनाने के लिए, लोगों को बस 6 अमरूद के पत्तों को कुचलने और उबलते पानी के 1 कप में डालने की आवश्यकता होती है। मिश्रण को फिर 15 मिनट के लिए उबाल कर ठंडा होने के लिए छोड़ देना चाहिए। नमक की थोड़ी मात्रा जोड़ने के बाद फिर इसका, अन्य घर के बने माउथवॉश के साथ, या अकेले ही इस्तेमाल किया जा सकता है।

आपको क्या करना है

30 मिनट तक अपने मुंह में गुनगुने माउथवाश को घुमाएं।

घोल को बाहर थूकें।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए

प्रति दिन दो से तीन बार दोहराएं।

(और पढ़े – अमरूद खाने के फायदे, उपयोग और नुकसान…)

मसूड़े की सूजन से छुटकारा पाने के लिए फिटकरी के पानी से गरारे

मसूड़े की सूजन से छुटकारा पाने के लिए फिटकरी के पानी से गरारे

फिटकरी के पानी से गरारे करने से लालिमा और सूजन को कम किया जा सकता है। यह उन बैक्टीरिया को मारने का काम करती है जो आपके मौखिक गुहा में जमा हो गए हैं और मसूड़े की सूजन के लक्षण पैदा कर रहे हैं।

आपको चाहिये होगा

आपको क्या करना है

फिटकरी को पानी में घोलकर उससे गरारे करें।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए

एक दिन में 2-3 बार इससे गरारे करें।

मसूड़े की सूजन से छुटकारा पाने के लिए नारियल का तेल

मसूड़े की सूजन से छुटकारा पाने के लिए नारियल का तेल

ऑयल पुलिंग या ऑइल स्विशिंग इसकी सफाई के गुण और रोगाणुरोधी लाभों के लिए लोकप्रियता प्राप्त कर रहा है। नारियल का तेल आपके मौखिक गुहा में जाने सभी खाद्य पदार्थ और अन्य अशुद्धियों को अवशोषित करता है। यह इसके जीवाणुरोधी और सूजन कम करने वाले गुणों के साथ मसूड़े की सूजन को भी कम करता है ।

आपको चाहिये होगा

आपको क्या करना है

  • नारियल के तेल को 5-10 मिनट के लिए अपने मुंह में रखें और मुंह के चरों ओर घुमाएँ।
  • इसके बाद तेल बाहर थूक दें और गुनगुने पानी के साथ अपना मुँह साफ कर लें।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए

यह हर दिन करें, या तो सुबह में या रात में।

इन उपायों के परिणाम दिखने में कुछ दिन लग सकते हैं, लेकिन वे निश्चित रूप से काम करेंगे। इन उपायों का उपयोग करते समय, सुनिश्चित करें कि आप एक स्वस्थ आहार का पालन करते हैं जिसमें कम मात्रा में कृत्रिम चीनी और मसालेदार और तले हुए भोजन शामिल हैं। खूब सारी हरी सब्जियां और लीन मीट का सेवन करें जो आपके इम्यून सिस्टम को बूस्ट करते हैं और जल्दी ठीक होने में मदद करते हैं।

मसूड़ों में सूजन होने पर डॉक्टर को कब दिखाना है

मसूड़ों में सूजन होने पर डॉक्टर को कब दिखाना है

यदि किसी व्यक्ति के मसूड़ों से खून निकलता है, जब वे अपने दाँत में ब्रश करते हैं या उनके मसूड़े लाल होते हैं और उनमे सूजन होती है, तो उन्हें मसूड़े की सूजन हो सकती है। उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे मौखिक स्वच्छता का पालन कर रहे हैं और ऊपर दिए गए कुछ घरेलू उपचारों को करने की कोशिश करें।

यदि घरेलू उपचार काम नहीं करते हैं, तो सही सलाह और इलाज के लिए डॉक्टर या दंत चिकित्सक को दिखाना महत्वपूर्ण है। इसके अतिरिक्त, अगर किसी को अपने मसूड़ों में गंभीर सूजन या रक्तस्राव का अनुभव होता है, तो उन्हें सीधे अपने चिकित्सक या दंत चिकित्सक के पास जाना चाहिए।

एक दंत चिकित्सक सामान्य रूप से एक व्यक्ति के दांतों को साफ करेगा, घर पर मसूड़ों की देखभाल के सर्वोत्तम अभ्यास को बताएगा, और मसूड़े की सूजन के इलाज के लिए औषधीय माउथवॉश लिख सकता है।

ब्रश करना और फ्लॉस करना सीखें – Brushing and flossing Best practices in Hindi

कभी-कभी, पट्टिका का निर्माण तब भी होता है जब लोग ब्रश करते हैं। ऐसा तब हो सकता है जब वे अच्छी तरह से ब्रश या फ्लॉसिंग नहीं कर रहे हों। पट्टिका बिल्डअप से मसूड़े की सूजन हो सकती है।

सही तरीकों का पालन करने से यह सुनिश्चित हो सकता है कि आपके द्वारा ब्रश करना और फ्लॉसिंग करना प्रभावी है।

दांतों को सही तरीके से ब्रश कैसे करें – How to brush teeth properly in Hindi

दांतों को सही तरीके से ब्रश कैसे करें - How to brush teeth properly in Hindi

एक नियमित टूथब्रश के साथ अपने दांतों को अच्छी तरह से ब्रश करने के लिए, लोगों को चाहिए:

  • उनके टूथब्रश को मसूड़ों से 45 डिग्री के कोण पर पकड़ें
  • ब्रश का उपयोग सर्कुलर मोशन में करें (ऊपर से नीचें घुमाते हुए)
  • मध्यम दबाव का उपयोग करें, ब्रश को कलम की तरह पकड़े ताकि बहुत जोर से धक्का न लगे
  • सभी दाँत के हर तरफ ब्रश करें
  • कम से कम 2 मिनट के लिए, दो बार दैनिक और प्रत्येक खाने के बाद ब्रश करें

(और पढ़े – ये है ब्रश करने का सही तरीका, ऐसे करें दांत साफ…)

कैसे ठीक से फ्लॉस करें – How to floss properly in Hindi

अच्छी तरह से फ्लॉस करने के लिए, लोगों को चाहिए:

  • 18 इंच फ्लॉस का उपयोग करें
  • प्रत्येक हाथ पर एक उंगली के चारों ओर घुमावदार करके फ्लॉस तना हुआ रखें
  • सी-आकार बनाने के लिए प्रत्येक दाँत के बीच और गम लाइन के बीच फ़्लॉस को स्लाइड करें

मसूड़ों में सूजन से बचने के उपाय – Swollen Gums Prevention in Hindi

मसूड़ों में सूजन से बचने के उपाय - Swollen Gums Prevention in Hindi

मसूड़े की सूजन को रोकने के लिए अच्छी मौखिक स्वच्छता बनाए रखना महत्वपूर्ण है। मसूड़ों में सूजन से बचने के लिए लोगों को चाहिए:

मसूड़े की सूजन से बचें

  • अपने दांतों को 2 मिनट के लिए, दो बार दैनिक रूप से ब्रश करें। यदि आप कर सकते हैं, तो प्रत्येक भोजन के बाद ब्रश करें।
  • बैक्टीरिया और प्लाक बिल्डअप की ओर ले जाने वाले खाद्य कणों को हटाने के लिए रोजाना फ्लॉस करें
  • माउथवॉश का उपयोग करें
  • कम चीनी वाला आहार लें
  • रोजाना फ्लॉस करें।
  • धूम्रपान छोड़ दें या करने से बचें
  • तंबाकू चबाने से बचना चाहिए।
  • एक नरम-ब्रिसल वाले टूथब्रश का उपयोग करें और इसे नियमित रूप हर तीन महीने में बदलें
  • यदि संभव हो तो इलेक्ट्रिक टूथब्रश का उपयोग करें
  • साल में कम से कम एक बार अपने डेंटिस्ट के पास जाएं।

जिंजिवाइटिस और अन्य दंत समस्याओं से बचने के लिए अच्छी मौखिक स्वच्छता बनाए रखना महत्वपूर्ण है।

(और पढ़े – दांतों की स्केलिंग (टीथ स्केलिंग) के फायदे और नुकसान…)

अपने पाठकों द्वारा पूछे जाने वाले कुछ सवालों के जवाब।

क्या मसूड़े की सूजन संक्रामक है? मैं चुंबन के माध्यम से यह मुझे हो सकती है?

हां, हानिकारक बैक्टीरिया को आसानी से लार के माध्यम से स्थानांतरित किया जा सकता है।

आपको कैसे पता चलेगा कि आपको मसूड़े की सूजन है?

मसूड़े की सूजन के लक्षण और संकेत में शामिल हैं:

  • मसूड़ों में लालिमा और सूजन
  • मसूड़ों में दर्द
  • ब्रश या फ्लॉसिंग करते समय मसूड़ों से रक्तस्राव
  • मसूड़ों की सूजन (मसूड़े दांतों से दूर खींचते हैं)
  • सांसों की बदबू
  • दाँत ढीले होना
  • गर्म और ठंडे भोजन और पेय के लिए मौखिक संवेदनशीलता संवेदनशीलता

मसूड़े की सूजन के चरण क्या हैं?

गिंगिवाइटिस (Gingivitis) मसूड़ों की बीमारी का पहला चरण है, जो उपरोक्त लक्षणों की विशेषता है।

दूसरा चरण पेरियोडोंटाइटिस (periodontitis) है, जहां हड्डी और फाइबर जो आपके दांतों का समर्थन करते हैं, क्षतिग्रस्त हो जाते हैं।

एडवांस्ड पीरियोडोंटाइटिस (Advanced periodontitis) तीसरा चरण है जिसमें हड्डी और फाइबर पूरी तरह से नष्ट हो जाते हैं, जिससे दांत हिल जाते हैं।

मसूड़े की सूजन को ठीक होने में कितना समय लगता है?

औसतन, मसूड़े की सूजन को ठीक करने में 10-14 दिन लगते हैं। मसूड़े की सूजन के लक्षण दो सप्ताह में पूरी तरह से समाप्त हो जाएंगे।

क्या मसूड़े की सूजन सिर दर्द का कारण बन सकती है?

गले में और सूजन वाले मसूड़ों में दर्द होता है जो आपके जबड़ों से आपके सिर तक फैलता है। मसूड़े की सूजन के कारण होने वाले सिरदर्द को विजडम टूथ सिरदर्द (Wisdom Tooth Headaches) कहा जाता है।

(और पढ़े – सिरदर्द दूर करने के घरेलू उपाय…)

क्या मसूड़े की सूजन कैंसर का कारण बन सकती है?

मौखिक गुहा में कोई भी संक्रमण, अगर जल्द से जल्द इलाज नहीं किया जाता है, तो एक उन्नत चरण में प्रगति हो सकती है जिसमें इसके गम कैंसर या किसी अन्य प्रकार के कैंसर में बदलने की संभावना बढ़ जाती है।

क्या मसूड़े की सूजन खराब सांस का कारण बन सकती है?

हां, अक्सर सांस की बदबू उन लोगों में देखी जाती है जो मसूड़े की सूजन से पीड़ित हैं।

अब जब आप जानते हैं कि घर पर मसूड़े की सूजन से छुटकारा पाने के लिए, आप किन चीजों का इस्तेमाल कर सकते हिं तो अब आप किस चीज का इंतजार कर रहे हैं? इस लेख में बताये गए मसूड़ों में सूजन के घरेलू उपाय बहुत ही कारगर साबित हो सकतें हैं। रोकथाम इलाज से बेहतर है। इसके अलावा, एक उचित ब्रशिंग रूटीन बनाए रखें – ब्रश, फ्लॉस और माउथवॉश, ये तीन चरण आपके मौखिक गुहा को स्वस्थ और संक्रमण-मुक्त रख सकते हैं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

आपको यह भी जानना चाहिए –

Reference

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration