दांतों में ठंडा गर्म लगने (सेंसिटिविटी) के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार – Tooth Sensitivity causes, symptoms and home treatment in Hindi

दांतों में ठंडा गर्म लगने (सेंसिटिविटी) के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार - Tooth Sensitivity causes, symptoms and home treatment in Hindi
Written by Anamika

Tooth Sensitivity In Hindi आमतौर पर बर्फ का पानी और गर्म कॉफी चाय पीने पर ये ठंडे और गर्म पेय पदार्थ दांतों में बहुत तेजी से लगते हैं जो असहनशील हो जाते हैं, इसे ही दांतों की सेंसिटिविटी या दांतों में ठंडा गर्म लगने की समस्या कहा जाता है। ऐसी स्थिति में दांतों की विशेष देखभाल की जरूरत पड़ती है और कोई भी खाद्य पदार्थ बहुत सावधानी से खाना पड़ता है। वास्तव में दांतों में सेंसिटिविटी की समस्या किसी भी उम्र में किसी भी व्यक्ति को हो सकती है, यदि वह अपने दांतों के प्रति बहुत लापरवाही बरतता हो तो। इसलिए दांतों की सेंसिटिविटी से बचने के लिए दांतों की साफ-सफाई पर अधिक ध्यान देने की जरूरत होती है। इस आर्टिकल में में हम आपको दांतों में सेंसिटिविटी के कारण, लक्षण, घरेलू उपाय और बचाव के बारे में बताने जा रहे हैं।

1. दांतों में सेंसिटिविटी क्यों होती है – Causes of Tooth Sensitivity in Hindi
2. दांतों में सेंसिटिविटी (झनझनाहट) के लक्षण – Sensitive teeth symptoms in Hindi
3. दांतों में ठंडा गरम लगे तो अपनाएं ये घरेलू उपचार – Home remedies for tooth sensitivity in hindi

4. दांतों की सेंसिटिविटी से बचने के उपाय – Teeth Sensitivity Prevention Tips in Hindi

दांतों में सेंसिटिविटी क्यों होती है – Causes of Tooth Sensitivity in Hindi

दांतों में सेंसिटिविटी क्यों होती है - Causes of Tooth Sensitivity in Hindi

दांतों में ठंडा गर्म लगने या सेंसिटिविटी की समस्या तभी होती है जब दांतों के अंदर पाये जाने वाला डेंटिन, इनेमल के सुरक्षा कवच को खो देता है या दांतों की बाहरी परत सिमेंटम का क्षय हो जाता है। जिसके कारण दांतों में ठंडा, गर्म और अम्लीय भोजन खाने पर सेंसिटिवटी की समस्या होती है। आमतौर पर दांतों में ठंडा गर्म लगने की समस्या निम्न कारणों से होती है।

  • बहुत कठोर ब्रश से दांतों को साफ करने से दांतों का इनेमल क्षतिग्रस्त हो जाता है जिसके कारण दांतों में सेंसिटिविटी होने लगती है।
  • अत्यधिक अम्लीय भोजन और पेय पदार्थों का सेवन करने के कारण भी दांतों में ठंडा गर्म लगने की समस्या हो जाती है।
  • दांतों में मसाला भरवाने के कारण भी एक समय के बाद सेंसिटिविटी की समस्या हो जाती है।
  • दांतों के बीच से या आधा टूटने के कारण, मसूढ़ों का दांतों से पीछे की ओर खिसकने के कारण भी दांतों में ठंडा गर्म लगता है।
  • रात में सोते समय दांत किटकिटाने या पीसने, दांतों को मशीन से साफ करवाने और दांतों को सफेद करवाने के कारण भी दांतों में ठंडा गर्म लगने लगता है।

(और पढ़े – दांतों की स्केलिंग (टीथ स्केलिंग) के फायदे और नुकसान…)

दांतों में सेंसिटिविटी (झनझनाहट) के लक्षण – Sensitive teeth symptoms in Hindi

आमतौर पर दांतों में सेंसिटिविटी की समस्या होने पर व्यक्ति को निम्न लक्षण महसूस होते हैं।

  • दांतों में बहुत तेजी से ठंडा, गर्म और अम्लीय भोजन लगता है जिसके कारण दांतों और कानों में तेज दर्द उठता है।
  • सांस लेते समय या ठंडी हवा चलने पर दांतों में बहुत तेजी से सनसनाहट होती है।
  • मसूढ़े दांतों से खिसकर थोडे़ पीछे चले जाते हैं।
  • मसूढ़ों में लालिमा और सूजन आ जाती है।
  • हालांकि सही समय पर उपचार कराने से सेंसिटिविटी से संबंधित ये सभी लक्षण खत्म हो जाते हैं और व्यक्ति को आगे ज्यादा परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता है।

(और पढ़े – दाँतों की देखभाल कैसे करे…)

दांतों में ठंडा गरम लगे तो अपनाएं ये घरेलू उपचार – Home remedies for tooth sensitivity in hindi

danto ki sensitivity dur karne ke upay  in hindi दांतों में ठंडा गर्म लगने (सेंसिटिविटी) की समस्या होने पर व्यक्ति को कोई भी खाद्य पदार्थ खाने में कठिनाई होती है और दांतों में सनसनाहट के साथ ही दर्द भी उत्पन्न हो जाता है। इस समस्या से बचने के लिए ये हैं घरेलू उपचार।

  1. दांतों में पानी लगने का घरेलू उपचार ऑयल पुलिंग – Daant mein pani lagne ka gharelu upchar Coconut Oil Pulling in Hindi
  2. दांतों की सेंसिटिविटी के लिए लौंग फायदेमंद – Cloves for Teeth Sensitivity in hindi
  3. दांत खट्टे होने पर करें शहद और गर्म पानी का उपाय – Honey and warm water for Teeth Sensitivity in hindi
  4. दांतों में झनझनाहट दूर करने के लिए नमक के पानी से कुल्ला करें –  Danto me jhanjhanahat ka ayurvedic upchar Salt Water Rinse in Hindi
  5. दही से करें दांत में पानी लगने का घरेलू उपाय – Dato me pani lagne ke upay Yogurt in Hindi
  6. दांतों में पानी लगने का घरेलू उपचार हल्दी से – Daant mein pani lagne ka gharelu upchar haldi in hindi
  7. दांतों में ठंडा गर्म की समस्या दूर करने में लहसुन उपयोगी – Garlic for Teeth Sensitivity in Hindi
  8. दांतों में ठंडा गरम लगने के उपाय प्याज – Danto ki sensitivity dur karne ke upay Onion in Hindi
  9. दांतों की सेंसिटिविटी का इलाज अमरूद की पत्तियों से – Danto ki sensitivity ka ilaj Guava Leaves in Hindi

1. दांतों में पानी लगने का घरेलू उपचार ऑयल पुलिंग – Daant mein pani lagne ka gharelu upchar Coconut Oil Pulling in Hindi

दांतों में पानी लगने का घरेलू उपचार ऑयल पुलिंग - Daant mein pani lagne ka gharelu upchar Coconut Oil Pulling in Hindi

नारियल की तेल की कुछ बूंदें मुंह में लेकर 15 से 20 मिनट तक तेल को मुंह के अंदर ही रहने दें। इसके बाद तेल को थूक कर ब्रश करके दांतों को साफ कर लें। नियमित रूप से यह क्रिया करें और यदि संभव हो तो प्रत्येक सुबह ऑयल पुलिंग करें। नारियल के तेल में एनलजेसिक और एंटी इंफ्लैमेटरी गुण पाया जाता है जिसके कारण यह दांतों के प्लाक और गंदगी को दूर कर सेंसिटिविटी की समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है।

(और पढ़े – ऑयल पुलिंग के फायदे, नुकसान और करने का तरीका…)

2. दांतों की सेंसिटिविटी के लिए लौंग फायदेमंद – Cloves for Teeth Sensitivity in hindi

दांतों की सेंसिटिविटी के लिए लौंग फायदेमंद - Cloves for Teeth Sensitivity in hindi

दांतों में ठंडा गरम लगने या सेंसिटिविटी की समस्या को दूर करने में लौंग बहुत फायदेमंद होता है। लौंग में एंटी इंफ्लैमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट और एनेस्थेटिक गुण पाया जाता है जो दांतों में संक्रमण को दूर करता है जिसके कारण ठंडा गर्म लगना बंद हो जाता है। लौंग को पीसकर इसमें थोड़ा सा ऑलिव ऑयल मिलाएं और दांतों पर मालिश करें या सिर्फ प्रभावित जगह पर लगाएं। दांतों की सेंसिटिवटी दूर हो जाएगी।

(और पढ़े – लौंग के फायदे, औषधीय गुण और नुकसान…)

3. दांत खट्टे होने पर करें शहद और गर्म पानी का उपाय – Honey and warm water for Teeth Sensitivity in hindi

दांत खट्टे होने पर करें शहद और गर्म पानी का उपाय - Honey and warm water for Teeth Sensitivity in hindi

शहद (हनी) एक जीवाणुरोधी एजेंट है, जिसका उपयोग घाव प्रबंधन के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। शहद उपचार को तेज करने में मदद कर सकती है, और दर्द, सूजन, और सेंसिटिविटी को कम कर सकती है।

संवेदनशील दांतों से दर्द को कम करने के लिए, अपने मुंह में गर्म पानी और शहद का एक चम्मच लेकर कुल्ला करें। यह कुल्ला मौखिक उपचार को बढ़ावा देगा और दांतों में झनझनाहट दूर करने में आपकी मदद करेगा।

(और पढ़े – दांत दर्द ठीक करने के 10 घरेलू उपाय…)

4. दांतों में झनझनाहट दूर करने के लिए नमक के पानी से कुल्ला करें –  Danto me jhanjhanahat ka ayurvedic upchar Salt Water Rinse in Hindi

दांतों में झनझनाहट दूर करने के लिए नमक के पानी से कुल्ला करें -  Danto me jhanjhanahat ka ayurvedic upchar Salt Water Rinse in Hindi

नमक प्राकृतिक रूप से एंटीसेप्टिक गुणों से युक्त होता है जिसके कारण यह मुंह के अंदर मसूढ़ों में सूजन को दूर कर ठंडा गर्म लगने की समस्या से निजात दिलाने में मदद करता है। एक गिलास गुनगुने पानी में आधा चम्मच नमक मिलाएं और इस विलयन को मुंह में लेकर थोड़ी देर तक हिलाते या कुल्ला करते रहें। रोजाना यह क्रिया करने से दांतों की सेंसिटिविटी खत्म हो जाती है।

(और पढ़े – सेंधा नमक के फायदे गुण लाभ और नुकसान…)

5. दही से करें दांत में पानी लगने का घरेलू उपाय – Dato me pani lagne ke upay Yogurt in Hindi

दही से करें दांत में पानी लगने का घरेलू उपाय - Dato me pani lagne ke upay Yogurt in Hindi

दही में कई तरह के पोषक तत्व पाये जाते हैं जो दांतों के इनेमल को घिसने से बचाते हैं जिसके कारण दांतों में सेंसिटिविटी की समस्या नहीं होती है। यदि आपको दांतों में ठंडा गर्म लगने की समस्या हो तो पर्याप्त मात्रा में दही खाएं। कुछ ही देर में दांतों की सेंसिटिविटी शांत हो जाएगी।

(और पढ़े – दही खाने से सेहत को होते हैं ये बड़े फायदे…)

6. दांतों में पानी लगने का घरेलू उपचार हल्दी से – Daant mein pani lagne ka gharelu upchar haldi in hindi

दांतों में पानी लगने का घरेलू उपचार हल्दी से - Daant mein pani lagne ka gharelu upchar haldi in hindi

खाना पकाने के अलावा, हल्दी को एंटी-इन्फ्लामेंट्री उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। हल्दी में एक यौगिक होता है जिसे कर्क्यूमिन (curcumin) कहा जाता है जिसे इसके एंटी-इन्फ्लामेंट्री प्रभावों के लिए जाना जाता है। इसका उपयोग आयुर्वेदिक उपचार में, पाचन से जुड़े रोगों के उपचार में और घाव चिकित्सा के लिए एजेंट के रूप में किया गया है। मौखिक स्वास्थ्य के लिए और संवेदनशील दांतों के दर्द को कम करने के लिए, आप दांतों पर हल्दी से मालिश कर सकते हैं।

इसके लिए आप 1 चम्मच हल्दी, ½ छोटा चम्मच नमक, और ½ छोटा चम्मच सरसों का तेल से सामयिक पेस्ट बना सकते है। इस पेस्ट को दांतों और मसूड़ों को दर्द से राहत पाने के लिए दिन में दो बार उपयोग करें।

(और पढ़े – हल्दी के फायदे गुण लाभ और नुकसान…)

7. दांतों में ठंडा गर्म की समस्या दूर करने में लहसुन उपयोगी – Garlic for Teeth Sensitivity in Hindi

दांतों में ठंडा गर्म की समस्या दूर करने में लहसुन उपयोगी - Garlic for Teeth Sensitivity in Hindi

लहसुन के पेस्ट में थोड़ा सा पानी और चुटकी भर नमक मिलाएं और दांतों के प्रभावित हिस्से पर यह मिश्रण लगाकर 10 से 15 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पानी से दांतों को साफ कर लें। दांतों की सेंसिटिविटी को दूर करने का यह सर्वोत्तम आयुर्वेदिक उपचार है। लहसुन में एंटी माइक्रोबियल गुण पाया जाता है जो दांतों को क्षय से बचाता है और मुंह के रोगाणुओं से लड़ने में सहायक होता है।

(और पढ़े – जानिए लहसुन के चमत्कारी स्वास्थ्यवर्धक गुणों के बारे में…)

8. दांतों में ठंडा गरम लगने के उपाय प्याज – Danto ki sensitivity dur karne ke upay Onion in Hindi

दांतों में ठंडा गरम लगने के उपाय प्याज - Danto ki sensitivity dur karne ke upay Onion in Hindi

प्याज में एंटीमाइक्रोबियल और एंटी इंफ्लैमेटरी गुण पाया जाता है जो दांतों में रोग उत्पन्न करने वाले बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है और दांतों के सूजन और दर्द को भी कम करता है। यदि आप दांतों में ठंडा गर्म लगने (सेंसिटिविटी) की समस्या से परेशान हैं तो प्याज के एक टुकड़े को कुछ मिनट तक चबाने से यह समस्या दूर हो सकती है। इसके अलावा प्याज से रस को प्रभावित स्थान पर लगाने से बी सेंसिटिविटी कम हो जाती है।

(और पढ़े – प्याज के फायदे और नुकसान…)

9. दांतों की सेंसिटिविटी का इलाज अमरूद की पत्तियों से – Danto ki sensitivity ka ilaj Guava Leaves in Hindi

दांतों की सेंसिटिविटी का इलाज अमरूद की पत्तियों से - Danto ki sensitivity ka ilaj Guava Leaves in Hindi

दांतों में ठंडा गर्म लगने की समस्या होने पर अमरूद की पत्तियों से भी इसका उपचार किया जा सकता है। अमरूद की पत्तियों में क्वेरसेटिन (quercetin) और रूटिन (rutin) नामक फ्लेनॉयड पाये जाते हैं और अमरूद की पत्तियां एंटी इंफ्लैमेटरी गुणों से युक्त होने के कारण दांतों में ठंडा गर्म लगने की समस्या को दूर करने में सहायक होती हैं। अमरूद की ताजी पत्तियों को धोकर उन्हें कुछ मिनट तक अच्छी तरह से चबाएं और इसके बाद थूक दें। दिन में नियमित दो से तीन बार यह क्रिया दोहराएं, दांतों की सेंसिटिविटी दूर हो जाएगी।

(और पढ़े – अमरूद के पत्ते के फायदे और नुकसान…)

दांतों की सेंसिटिविटी से बचने के उपाय – Teeth Sensitivity Prevention Tips in Hindi

दांतों की सेंसिटिविटी से बचने के उपाय - Teeth Sensitivity Prevention Tips in Hindi

  • दांतों में सेंसिटिविटी की समस्या से बचने के लिए मुलायम ब्रश से दांतों को साफ करें।
  • रोज दांतों को हल्के हाथों से और धीरे-धीरे ब्रश करें।
  • दांतों को किटकिटाएं या पीसे नहीं।
  • अम्लीय पेय पदार्थ या भोजन से परहेज करें।
  • दांतों की साफ सफाई पर विशेष ध्यान दें।
  • दंत चिकित्सक से समय समय पर डेंटल चेकअप कराते रहें।
  • आइसक्रीमस, सोडा, हॉट कॉफी, खट्टे फल और कैंडी खाने से बचें।

मौखिक दर्द और दांत संवेदनशीलता के इलाज के लिए आप कई घरेलू उपचार का इस्तेमाल कर सकते हैं। हालांकि, मौखिक दर्द के स्थायी समाधान की सिफारिश की जाती है। घरेलू उपचार अस्थायी रूप से दर्द को कम कर सकते हैं, लेकिन कई बार आपकी असुविधा के मुख्य कारण को ठीक नहीं कर पाते हैं। यदि आपके लक्षण कुछ दिनों के बाद बने रहते हैं, तो आपको अतिरिक्त उपचार की आवश्यकता हो सकती है। इसके लिए आप अपने दंत चिकित्सक से अन्य विकल्पों पर चर्चा करें।

(और पढ़े – दांतों का पीलापन दूर करने के लिए एक्टिव चारकोल टूथपेस्ट का उपयोग…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration