मसूड़ों की समस्याओं के लिए ये आजमाएं घरेलू उपचार - Home remedies for gum problems in Hindi
घरेलू उपाय

मसूड़ों की समस्याओं के लिए ये आजमाएं घरेलू उपचार – Home remedies for gum problems in Hindi

मसूड़ों की समस्याओं के लिए ये आजमाएं घरेलू उपचार - Home remedies for gum problems in Hindi

मसूड़ों में होने वाली समस्याओं से बचने के लिए दांतों की सही देखभाल के अलावा कुछ घरेलू उपाय भी आजमाएं जा सकते हैं। यदि आप मसूड़ों में सूजन, संवेदनशीलता और मसूड़ों से रक्तस्राव और लगातार खराब सांस से पीड़ित हैं, तो आप मसूड़ों की बीमारी से पीड़ित हो सकते हैं। जिसे जिंजीवाइटिस (gingivitis) या मसूड़े की सूजन के रूप में भी जाना जाता है। मसूड़ों की बीमारी एक गंभीर स्थिति है जिसे दंत चिकित्सक (dentist) द्वारा तत्काल देखा जाना चाहिए।

हालाँकि, ये घरेलू उपचार आपको मसूड़ों की समस्याओं में बहुत राहत देंगे।

मसूड़ों की समस्या को दूर करने में मदद करेंगे यह घरेलू उपाय

मसूड़ों की समस्या को दूर करने में मदद करेंगे यह घरेलू उपाय

मसूड़ों में सूजन और खून आने की समस्या बहुत से लोगों को होती है। यह मसूड़ों में चोट लग जाने या इंफेक्शन की वजह से भी हो सकती हैं। जिसे कुछ आसान घरेलू उपायों से ठीक किया जा सकता है।

एलोवेरा

एलोवेरा

एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल एलोवेरा जेल को मसूड़ों की बीमारी के इलाज में प्रभावी दिखाया गया है। यह मसूड़ों की समस्या को दूर करने में भी मदद करते है। आधे घंटे के लिए अपने मसूड़ों पर ताजा एलोवेरा जेल रगड़ें और कुल्ला करें। इसे कुछ हफ्तों के लिए दिन में कई बार करें।

(और पढ़े – खाली पेट एलोवेरा खाने या एलोवेरा जूस पीने के फायदे…)

करोंदे का रस

करोंदे का रस

क्रैनबेरी या करोंदे रस में विटामिन सी होता है जो मसूड़ों में संक्रमण को रोकता है। आपको बस एक दिन में दो बड़े चम्मच करोंदे का रस चाहिए। अन्य विटामिन सी से भरपूर फल मसूड़ों के रोग के लिए भी प्रभावी हैं।

आयल पुल्लिंग

आयल पुल्लिंग

आयल पुल्लिंग की प्राचीन आयुर्वेदिक प्रथा जहाँ आप प्रतिदिन आधे घंटे तक अपने मुँह के चारों ओर नारियल का तेल लगाते हैं, वहाँ पट्टिका पैदा करने वाले जीवाणुओं से छुटकारा मिलता है।

समुद्री नमक

समुद्री नमक

एंटी-बैक्टीरियल समुद्री नमक मसूड़ों की सूजन और दर्द के लिए एक प्राचीन और लोकप्रिय घरेलू उपाय है। समुद्री नमक में मौजूद मिनरल मसूड़ों की सूजन को कम करने के साथ इंफेक्शन और दर्द को कम करने में मदद करते हैं। मसूड़ों की समस्याओं से बचने के लिए हर दिन समुद्री नमक और पानी के घोल से गरारे करें।

टी ट्री ऑइल

टी ट्री ऑइल

टी ट्री ऑइल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो आपके संवेदनशील मसूड़ों को शांत करेंगे। शोध से पता चला है कि टी ट्री ऑइल का सामयिक अनुप्रयोग मसूड़े की सूजन को कम करता है।

ब्लैक टी

ब्लैक टी

काली चाय में टैनिक एसिड और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो मसूड़ों में दर्द और सूजन के खिलाफ बहुत प्रभावी होते हैं। दिन में कुछ बार तीन से पांच मिनट के लिए अपने सूजन वाले मसूड़ों पर एक ठंडा ब्लैक टी बैग रखें।

कैमोमाइल चाय

कैमोमाइल चाय

मसूड़ों की समस्याओं से बचने के लिए कैमोमाइल चाय का उपयोग करें जिसमें एंटीसेप्टिक और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, मसूड़ों की बीमारी से राहत पाने के लिए कैमोमाइल चाय से कुल्ला करें।

नींबू

नींबू

नींबू का रस ना केवल त्वचा और बालों के लिए अच्छा होता है बल्कि यह दांतों के लिए भी अच्छा होता है। नींबू की मदद से घर पर मसूड़ों की समस्या को दूर किया जा सकता है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण मसूड़ों के इंफेक्शन को दूर करने में मदद करते हैं। नींबू में विटामिन सी होता है जो आपके मसूड़ों से खून आने की समस्या को दूर करता है। आप नींबू के रस और नमक का पेस्ट बनाकर अपने मसूड़ों पर लगाएं और कुछ समय तक इसे लगा रहने दें। इसके बाद गर्म पानी से गरारे कर लें।

(और पढ़े – नींबू पानी कब और कैसे पिये…)

शहद

शहद

शहद में एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। जो मसूड़ों की समस्याओं के लिए प्राकृतिक घरेलू उपाय है। इसके लिए ब्रश करने के बाद मसूड़ों में जहां दर्द या इंफेक्श हो उस जगह पर शहद लगाएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

आपको यह भी जानना चाहिए –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration