हेल्दी रेसपी

गोंद के लड्डू खाने के फायदे और बनाने की विधि – Gond ke laddu khane ke fayde in hindi

गोंद के लड्डू खाने के फायदे और बनाने की विधि - Gond ke laddu khane ke fayde in hindi

Gond Ke Laddu Ke Fayde गोंद के लड्डू उत्तर भारत में बहुत लोकप्रिय हैं। इसमें मौजूद कई पोषक तत्वों के कारण गोंद के लडड़् सबसे ज्यादा पौष्टिक माने जाते हैं। यही वजह है कि प्रसव के बाद महिलाओं को गोंद के लड्डू का सेवन करने की सलाह दी जाती है। बता दें कि गोंद के लड्डू खाने के कई फायदे हैं। इनके सेवन से न केवल आप कई बीमारियों को दूर कर सकते हैं, बल्कि गोंद का लड्डू आपके चेहरे की खोई हुई चमक भी लौटा सकता है।

भारतीय घरों में पारंपरिक रूप से बनाए जाने वाले लड्डू केवल स्वादिष्ट ही नहीं बल्कि सेहमतंद भी होते हैं। खासतौर से भारत में प्रसव के बाद महिलाओं को बीमारी से उभारने के लिए गोंद के लड्डू जरूर खिलाए जाते हैं। गोंद आमतौर पर बबूल के पौधों से प्राप्त होता है। यह प्राकृतिक गोंद मध्यपूर्व, गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान और पंजाब के कुछ हिस्सों में पाई जाती है। खाने वाली यह गोंद पानी में घुलनशील है। गोंद का उपयोग पारंपरिक रूप से दस्त, खांसी जैसी बीमारियों से निपटने के लिए किया जाता है। मुख्य रूप से गोंद सर्दियों में शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बहुत अच्छी मानी जाती है।

इतिहास के अनुसार चौथी सदी में सुश्रत ने अपने मरीजों के इलाज के लिए गोंद के लड्डुओं का ही इस्तेमाल किया था। गोंद के लड्डू एक भारतीय हर्बल मिठाई भी है, जिसे दीवाली, शादी जैसे शुभ अवसरों पर उपहार के रूप में देने की भी परंपरा है। आज के आर्टिकल में आप जानेंगे गोंद के लड्डू खाने के फायदे के बारे में और इन्हें बनाने की सही विधि।

1. गोंद के लड्डू के पोषक तत्व – Gond ke laddu nutrients in Hindi
2. गोंद के लड्डू खाने के फायदे – Gond ke laddu ke fayde in Hindi

3. गोंद के लड्डू बनाने की रेसिपी – Gond Ke Laddu Recipe In Hindi

4. गोंद के लड्डू कैसे खाएं – Gond ke laddu kaise khaye in Hindi
5. प्रसव के बाद क्यों जरूरी हैं गोंद के लड्डू – Why is gond ke laddu necessary for women after delivery in Hindi

गोंद के लड्डू के पोषक तत्व – Gond ke laddu nutrients in Hindi

गोंद के लड्डू के पोषक तत्व - Gond ke laddu nutrients in Hindi

गोंद के लड्डू खाने से पोषण संबंधी लाभ बहुत होते हैं। इन लड्डुओं में ऊर्जा और ऊष्मा की मात्रा काफी ज्यादा होती है, इसलिए सर्दियों में इसका सेवन करना बहुत अच्छा माना जाता है। आप चाहें तो इन लड्डुओं को बच्चे के टिफिन में हेल्दी स्नैक के रूप में पैक कर सकते हैं। ये न केवल स्वादिष्ट होते हैं, बल्कि बच्चों को दिनभर में ऊर्जावान बनाए रखते हैं। जो जानिए गोंद के लड्डू में कौन-कौन से पोषक तत्व कितनी मात्रा में होते हैं।

गोंद के एक लड्डू में 17 प्रतिशत आयरन, 9 प्रतिशत विटामिन सी, 15 प्रतिशत कैल्शियम, 35 मिग्रा कोलेस्ट्रॉल, 5 ग्राम प्रोटीन, 75 ग्राम शुगर, 5 ग्राम फाइबर, 20 ग्राम सैचुरेटिड फैट, कार्बोहाइड्रेट 100 ग्राम, 34 ग्राम कंबाइन फैट, 65 मिग्रा सोडियम और 755 कैलोरी होती है।

(और पढ़े – गोंद कतीरा के फायदे और नुकसान…)

गोंद के लड्डू खाने के फायदे – Gond ke laddu ke fayde in Hindi

  1. गोंद के लड्डू के फायदे शरीर में गर्माहट बनाए रखे – Gond ke laddu ke fayde shirr me garmahat banay rakhe
  2. गोंद के लड्डू दिल के लिए फायदेमंद – Gond ke laddu ke fayde dil ke liye
  3. प्रोटीन की जरूरत पूरी करे गोंद के लड्डू – Gond ke laddu ke fayde protein ke liye
  4. फिजिकल स्ट्रेंथ बढ़ाए गोंद के लड्डू – Gond ke laddu ke fayde strenth badhaye
  5. गोंद के लड्डू के लाभ बढ़ाए इम्यूनिटी – Gond ke laddu ke labh badhaye immunity
  6. ब्लीडिंग का रामबाण इलाज गोंद के लड्डू – Bleeding ka ramban ilaj gond ke ladoo
  7. खूबसूरती का घरेलू उपाय गोंद के लड्डू – khubsurti ka gharelu upay gond ke ladoo
  8. यूरीन इंफेक्शन में असरदार गोंद के लड्डू – Urine infection main asardar gond ke ladoo
  9. कब्ज का घरेलू उपचार गोंद के लड्डू – kabj ka gharelu upchar gond ke ladoo
  10. बवासीर में फायदेमंद गोंद के लड्डू – Gum laddus Benefits in hemorrhoids in Hindi
  11. मिल्क प्रोडक्शन बढ़ाने का रामबाण इलाज गोंद – Gum laddus Benefits Milk production in hindi
  12. गोंद के लड्डू करें रीढ़ की हड्डी मजबूत – Gum laddus make spinal cord stronger in Hindi
  13. फेफड़ों का प्राकृतिक उपचार गोंद के लड्डू – Gum laddus Natural remedy for lung in Hindi
  14. गोंद के लड्डू खाने के फायदे ताकत दे – Gond ke laddu khane ke fayde takat de
  15. मानसिक विकास के लिए अच्छे गोंद के लड्डू – Gum Laddus Good for mental development in Hindi
  16. मर्दाना शक्ति बढ़ाए गोंद के लड्डू – Mardana shakti badhane gond ke laddu
  17. ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के लिए फायदेमंद गोंद के लड्डू – Brest size badhane ke lie fayademand gond ke laddoo

प्रसव के बाद महिलाओं का शरीर कई तरह की समस्याओं से गुजरता है। बच्चे के जन्म के बाद उन्हें सबसे ज्यादा पोषण की जरूरत होती है। इस तरह की स्थिति में गोंद के लड्डू का सेवन करने से उनकी कमजोरी दूर होने के साथ बच्चे की अच्छी देखभाल करने में मदद मिलती है। तो आइए जानते हैं गोंद के लड्डू खाने के फायदों के बारे में।

गोंद के लड्डू के फायदे शरीर में गर्माहट बनाए रखे – Gond ke laddu ke fayde shirr me garmahat banay rakhe

गोंद के लड्डू के फायदे शरीर में गर्माहट बनाए रखे - Gond ke laddu ke fayde shirr me garmahat banay rakhe

यदि बच्चे का जन्म सर्दियों के समय हुआ है तो खुद को और बच्चे के शरीर में गर्माहट बनाए रखने के लिए गोंद के लड्डू बहुत फायदेमंद हैं। गोंद के लड्डू खाने से एक्स्ट्रा कैलोरी मिलती है, जो इस वक्त एक मां को चाहिए होती है।

(और पढ़े – नवजात शिशुओं के बारे में रोचक तथ्य…)

गोंद के लड्डू दिल के लिए फायदेमंद – Gond ke laddu ke fayde dil ke liye

गोंद के लड्डू दिल के लिए फायदेमंद - Gond ke laddu ke fayde dil ke liye

गोंद के लड्डू दिल के लिए बहुत अच्छे होते हैं। दिल की धड़कन को नियमित रखने के लिए गोंद के लड्डू खाना बेहद फायदेमंद होता है। गोंद का सेवन करने से ह्दय रोग का खतरा भी कम हो जाता है। इसमें मौजूद प्रोटीन और कैल्शियम हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत करती हैं।

(और पढ़े – दिल मजबूत करने के उपाय…)

प्रोटीन की जरूरत पूरी करे गोंद के लड्डू – Gond ke laddu ke fayde protein ke liye

प्रोटीन की जरूरत पूरी करे गोंद के लड्डू - Gond ke laddu ke fayde protein ke liye

प्रसव के बाद बच्चे को स्तनपान कराने वाली महिलाओं में प्रोटीन की आवश्यकता बहुत बढ़ जाती है। गोंद के लड्डू में अच्छी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है, इसलिए प्रसव के बाद महिलाओं को खासतौर से गोंद के लड्डू का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

(और पढ़े – क्यों नहीं होनी चाहिए प्रोटीन की कमी…)

फिजिकल स्ट्रेंथ बढ़ाए गोंद के लड्डू – Gond ke laddu ke fayde strenth badhaye

फिजिकल स्ट्रेंथ बढ़ाए गोंद के लड्डू - Gond ke laddu ke fayde strenth badhaye

एक लंबी गर्भावस्था और तनावपूर्ण प्रसव के बाद एक महिला का शरीर बेहद खराब और कमजोर हो जाता है। ऐसे में फिजिकिल स्ट्रेंथ को बढ़ाने के लिए गोंद के लड्डू का सेवन बहुत अच्छा माना जाता है। गोंद के लड्डू में उपयोग होने वाले घटक में एडॉप्टोजेनिक गुण होते हैं, जो शरीर को एक बार फिर रिकवर करने में मदद करते हैं।

(और पढ़े – डिलीवरी के बाद देखभाल…)

गोंद के लड्डू के लाभ बढ़ाए इम्यूनिटी – Gond ke laddu ke labh badhaye immunity

गोंद के लड्डू के लाभ बढ़ाए इम्यूनिटी - Gond ke laddu ke labh badhaye immunity

प्रसव के बाद एक मां की प्रतिरोधक क्षमता बेहद कम हो जाती है, जिसके कारण उन्हें कफ, कोल्ड , डायरिया, खांसी, सर्दी और बुखार आ जाता है। ऐसे में गोंद के लड्डू इम्यूनिटी बढ़ाने में उनकी मदद करते हैं और ऐसी स्थितियों का प्रभावी तरीके से इलाज भी करते हैं।

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

ब्लीडिंग का रामबाण इलाज गोंद के लड्डू – Bleeding ka ramban ilaj gond ke ladoo

बच्चे के जन्म के बाद जब फिर से मासिक धर्म शुरू होता है तो प्रारंभिक चरणों में ज्यादा ब्लीडिंग हो सकती है। साथ ही मैन्स्ट्रूयल क्रैंप्स भी हो सकता है। बच्चे की देखभाल करते समय इस स्थिति से जूझना काफी मुश्किल होता है। ऐसे में गोंद के लड्डू बेहद फायदेमंद साबित होते हैं। गोंद के लड्डू रक्त प्रवाह को ठीक करने में मदद करते हैं, जिसके बाद महिलाओं में ब्लीडिंग कुछ कम हो जाती है और मैन्स्ट्रूयल क्रैंप्स की संभावना भी नहीं बनती।

(और पढ़े – गर्भावस्था के बाद पहला पीरियड कब आता है…)

खूबसूरती का घरेलू उपाय गोंद के लड्डू – khubsurti ka gharelu upay gond ke ladoo

प्रसव के बाद त्वचा अपनी चमक और कोमलता खो देती है, ऐसे में गोंद के लड्डू में मौजूद घटक त्वचा की नमी को बरकरार रखने में मदद करते हैं। जिसके बाद चेहरे की चमक वापस लौट आती है। कहा जाता है कि सुबह 5 बजे उठकर एक लड्डू खाने के बाद अगर सो लिया जाए तो ज्यादा फायदा नजर आता है।

(और पढ़े – नेचुरल आयुर्वेदिक चीजें जो बनाएंगी त्वचा को गोरा और चमकदार…)

यूरीन इंफेक्शन में असरदार गोंद के लड्डू – Urine infection main asardar gond ke ladoo

यूरीन इंफेक्शन में असरदार गोंद के लड्डू - Urine infection main asardar gond ke ladoo

बच्चे के जन्म के बाद महिलाएं यूरीन इंफेक्शन और पेशाब से जुड़ी कई समस्याओं से पीड़ित हो जाती हैं। पेशाब की असंयमता के इलाज के लिए एक तरीके के रूप में आयुर्वेदिक में गोंद का व्यापक रूप से उपयोग किया गया है। गोंद के लड्डू खाने से यूरीन से संबंधित इंफेक्शन और बीमारी को काफी हद तक दूर किया जा सकता है।

(और पढ़े – पेशाब में जलन और दर्द (डिस्यूरिया) के कारण, लक्षण और उपचार…)

कब्ज का घरेलू उपचार गोंद के लड्डू – kabj ka gharelu upchar gond ke ladoo

कब्ज का घरेलू उपचार गोंद के लड्डू - kabj ka gharelu upchar gond ke ladoo

कब्ज एक ऐसी समस्या है जो शायद ही किसी गर्भवती महिला को गर्भावस्था तक सीमित रहती हो। ज्यादातर महिलाओं को प्रसव के बाद भी कब्ज की शिकायत रहती है। ऐसे में गोंद के लड्डू का सेवन बहुत अच्छा माना जाता है। दरअसल, गोंद के लड्डू में कुछ ऐसे गुण होते हैं जो पाचन तंत्र को सही करने में मदद करते हैं। इसलिए गर्भावस्था के बाद महिला को गोंद के लड्डू खिलाएं जाते हैं।

(और पढ़े – कब्ज के लिए उच्च फाइबर फल और खाद्य पदार्थ…)

बवासीर में फायदेमंद गोंद के लड्डू – Gum laddus Benefits in hemorrhoids in Hindi

बवासीर में फायदेमंद गोंद के लड्डू - Gum laddus Benefits in hemorrhoids in Hindi

बवासीर और तनाव में फायदेमंद गोंद के लड्डू- बहुत कम लोग जानते हैं कि अगर किसी को अवसाद,  तनाव या फिर बवासीर है तो गोंद के लड्डू खाना सबसे बेहतर घरेलु उपचार है। साथ ही जिन लोगों में विटामिन डी की कमी रहती है, वे लोग भी गोंद के लड्डू का सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – बवासीर के लिए घरेलू इलाज, उपचार और उपाय…)

मिल्क प्रोडक्शन बढ़ाने का रामबाण इलाज गोंद – Gum laddus Benefits Milk production in hindi

मिल्क प्रोडक्शन बढ़ाने का रामबाण इलाज गोंद - Gum laddus Benefits Milk production in hindi

प्रसव के बाद महिलाओं को गोंद के लड्डू खिलाने का एक और मुख्य कारण है उनके स्तन का दूध बढ़ाना। प्रसव के तुरंत बाद कई महिलाओं के स्तन में दूध नहीं बन पाता, इसलिए गोंद के लड्डू का सेवन कराना जरूरी हो जाता है।

(और पढ़े – ब्रेस्ट मिल्क (मां का दूध) बढ़ाने के लिए क्या खाएं…)

गोंद के लड्डू करें रीढ़ की हड्डी मजबूत – Gum laddus make spinal cord stronger in Hindi

गर्भवती महिलाओं के लिए गोंद बहुत अच्छा और असरदार माना जाता है। यह रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनाने में बहुत मददगार साबित होता है।

फेफड़ों का प्राकृतिक उपचार गोंद के लड्डू – Gum laddus Natural remedy for lung in Hindi

फेफड़ों का प्राकृतिक उपचार गोंद के लड्डू – Gum laddus Natural remedy for lung in Hindi

इतना ही नहीं गोंद फेफड़ों की बीमारी से जूझ रहे लोगों को बहुत फायदा पहुंचाती है। कमजोरी और थकान को दूर करने में भी गोंद अच्छी है।

(और पढ़े – महिलाओं की कमजोरी के कारण, लक्षण और दूर करने के उपाय…)

गोंद के लड्डू खाने के फायदे ताकत दे – Gond ke laddu khane ke fayde takat de

सर्दियों के दिनों में सुबह नाश्ते में एक या दो गोंद के लड्डू खाने से बहुत ताकत मिलती है। इन लड्ड्ओं को खाकर शरीर को सर्दी से राहत मिलती है और दिनभर गर्माहट बनी रहती है।

(और पढ़े – सुबह के नाश्ते में ये खाएंगे तो रहेंगे फिट…)

मानसिक विकास के लिए अच्छे गोंद के लड्डू – Gum Laddus Good for mental development in Hindi

मानसिक विकास के लिए अच्छे गोंद के लड्डू - Gum Laddus Good for mental development in Hindi

बच्चों के तेज दिमाग के लिए गोंद के लड्डू- देसी घी, गेहूं का आटा, अजवाइन, काली मिर्च , हल्दी, सौंफ व बूरे से तैयार गोंद के लड्डू दिमाग को तेज करने में बहुत फायदेमंद हैं।

(और पढ़े – बच्चों को तेज दिमाग के लिए क्या खिलाएं और घरेलू उपाय…)

मर्दाना शक्ति बढ़ाए गोंद के लड्डू – Mardana shakti badhane gond ke laddu

मर्दाना शक्ति बढ़ाए गोंद के लड्डू - Mardana shakti badhane gond ke laddu

पुरूषों में सेक्स पॉवर बढ़ाने के लिए गोंद बहुत फायदेमंद है। गोंद को अगर पानी या दूध में भिगोकर खाया जाए तो सेक्स ड्राइव बढ़ती है और सेक्स के दौरान पुरूषों का परफॉर्मेंस भी अच्छा रहता है।

(और पढ़े – पुरुषों में सेक्सुअल स्टेमिना (सेक्स पावर) बढ़ाने के आसान तरीके…)

ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के लिए फायदेमंद गोंद के लड्डू – Brest size badhane ke lie fayademand gond ke laddoo

ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के लिए फायदेमंद गोंद के लड्डू – Brest size badhane ke lie fayademand gond ke laddoo

अगर आप अपना ब्रेस्ट साइज बढ़ाना चाहते हैं तो आपको गोंद के लड्डू जरूर खाने चाहिए। लड्डुओं में मौजूद क्लोरोफिक गुण ब्रेस्ट फैट को बढ़ाने में बहुत सहायक है।

(और पढ़े – महिलाएं अपने स्तन की जांच कैसे करें…)

गोंद के लड्डू बनाने की रेसिपी – Gond Ke Laddu Recipe In Hindi

  1. गोंद के लड्डू बनाने की सामग्री – Gond Ke Laddu Banane Ki Samagri
  2. गोंद के लड्डू बनाने की विधि – Gond Ke Laddu Banane Ki Vidhi hindi me

महिलाओं को प्रसव के बाद गोंद के लड्डू जरूर खाना चाहिए, क्योंकि ये शरीर को पोषण और ऊर्जा प्रदान करते हैं। इन गोंद के लड्डुओं को बनाना कोई बहुत कठिन काम नहीं है, आप आसानी से घर में गोंद के लड्डू नीचे दी गई सामग्री और विधि के अनुसार तैयार कर सकते हैं।

गोंद के लड्डू बनाने की सामग्री – Gond Ke Laddu Banane Ki Samagri

  • 125 ग्राम- ग्रोंद
  • 1- कुचला हुआ जायफल
  • 50 ग्राम- इलायची
  • 50 ग्राम- सौंफ के बीज
  • 50 ग्राम – एलिव बीज
  • 50 ग्राम- खसखस
  • 125 ग्राम- बादाम, काजू
  • 500 ग्राम- घी
  • 500 ग्राम- किसा हुआ गुड़
  • 500 ग्राम- किसा हुआ सूखा नारियल
  • 500 ग्राम- पिसा हुआ खजूर

गोंद के लड्डू बनाने की विधि – Gond Ke Laddu Banane Ki Vidhi hindi me

  • गोंद के लड्डू बनाने के लिए सबसे पहले किसे हुए नारियल को भूनें। ऐसा तब तक करें जब तक नारियल हल्का भूरा न हो जाए।
  • इसके बाद कड़ाही में अन्य सभी सामग्री को हल्का भूरा होने तक भूनें। जब ये सभी चीजें भुन जाएं तो इन्हें अच्छे से मिलाकर ब्लेंडर में डाल दें और पीस लें।
  • ब्लेंडर को तब तक चलाएं तब तक की सभी चीजें बारीक टुकड़ों में न हो जाएं। वैसे तो ये आप पर निर्भर करता है कि आप इन सभी चीजों को कितना बारीक करना चाहते हैं। अपनी पसंद के आधार पर ही इन सभी सामग्री को बारीक या थोड़ा मोटा रखने के लिए ब्लैंडर में चलाएं ।
  • अब कड़ाही में घी डालकर गर्म करें।
  • जब कड़ाही में घी गर्म हो जाए तो इसमें गोंद डाल लें और कुछ सैकंड के लिए इसे पकने दें।
  • एक बार जब गोंद फूल जाए, तो इसे अलग कटोरे में निकाल लें। ध्यान रखें कि पूरी गोंद को एकसाथ कड़ाही में नहीं डालें, वरना इसका कुछ हिस्सा कच्चा रह सकता है। इसलिए आधा-आधा कर दो बार में इसे पकाएं।
  • जब पूरी गोंद पक जाए, तो कड़ाही में और घी गर्म होने के बाद इसमें गुड़ डाल दें।
  • गुड़ को पूरी तरह से पिघलने दें और इसे बीच-बीच में हिलाते रहें।
  • एक बार जब गुड़ में बुलबुले उठने लगें तो समझ जाएं क गुड़ की चाशनी बनकर तैयार है, अब गैस बंद कर दीजिए।
  • अब इस गुड़ की चाश्री को गोंद के साथ कटोरे में मिक्स कर लें। अब गुड़ की चाशनी और गोंद में सभी सामग्री का पाउडर मिलाकर लड्ड़ू के लिए मिक्सचर तैयार कर लें।
  • इसके बाद अपने हाथ में थोड़ा सा घी लें और हथेलियों को आपस में रगड़ें।
  • अब इस मिश्रण को हाथ में लेकर हाथों से गोल-गोल मीडियम साइज के लड्डू बनाकर तैयार करें।
  • जब लड्डू पूरे बनकर तैयार हो जाएं तो इन्हें एयरटाइट बॉक्स में लगभग एक महीने तक स्टोर करके रख सकते हैं। इससे यह लंबे समय तक फ्रेश बने रहेंगे। भूलकर भी इन्हें फ्रिज में न रखें।

नोट: आप चाहें तो गोंद के साथ मूंग दाल का आटा और सोयाबीन का आटा भी डाल सकते हैं।

(और पढ़े – गर्भावस्था के दौरान खाये जाने वाले आहार और उनके फायदे…)

गोंद के लड्डू कैसे खाएं – Gond ke laddu kaise khaye in Hindi

  • गोंद के लड्डू सेहत के लिए अच्छे होते हैं, लेकिन अगर आपका वजन ज्यादा है तो दिन में एक लड्डू ही खाएं। ज्यादा मात्रा में इसका सेवन आपका वजन बढ़ा भी सकता है और पेट खराब होने की भी संभावना रहती है।
  • अगर आप गोंद के लड्डुओं के साथ स्वस्थ रहना चाहते हैं तो गुनगुने दूध के साथ सुबह-शाम एक एक लड्डू का सेवन कर सकते हैं।
  • ध्यान रखें कि इन लड्ड्ओं को खाने के 46 मिनट बाद तक आप कुछ भी ठंडा ना खाएं। क्योंकि ये लड्डू बहुत गर्म होते हैं, अगर आपने कुछ भी ठंडा खाया तो नुकसान हो सकता है।
  • अगर आप गोंद के लड्डू का सेवन कर रहे हैं तो पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं, ताकि कब्ज या आंतों में होने वाली समस्या से बचा जा सके।
  • जिन महिलाओं का वजन कम है, उन्हें दूध के साथ गोंद के लड्डुओं का सेवन जरूर करना चाहिए। इससे वजन बढ़ेगा।
  • अगर आप ये लड्डू नियमित रूप से खा रहे हैं तो इस दौरान खट्टी चीजों से परहेज करें, वरना ये असर नहीं करेंगे।
  • प्रसव के बाद गोंद के लड्डू गर्म दूध के साथ महिलाओं को जरूर खिलाने चाहिए। लेकिन जिन महिलाओं की सी-सेक्शन डिलीवरी हुई है, उन्हें सर्जरी के टांके ठीक हो जाने के बाद ही ये लड्डू दें। ऐसा इसलिए क्योंकि इनकी तासीर गर्म होती है, जिससे टांके प्रभावित हो सकते हैं।

(और पढ़े – प्रसव (डिलीवरी) के बाद टांके और उनकी देखभाल…)

प्रसव के बाद क्यों जरूरी हैं गोंद के लड्डू – Why is gond ke laddu necessary for women after delivery in Hindi

स्वास्थ्यवर्धक लड्ड़ू बनाने में इसका उपयोग करने के अलावा, स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए चूरन और काढ़ा बनाने में भी गोंद को सुखाकर इसका उपयोग किया जाता है। लड्डुओं में गोंद क्यों डाली जाती है, इसका सबसे मुख्य कारण है इसमें मौजूद कैलोरी और न्यूट्रिशन होता है। गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को सबसे ज्यादा पोषण की जरूरत होती है, ऐसे में गोंद के लड्डू इनके लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। बच्चे के जन्म के बाद एक मां का शरीर बहुत कमजोर हो जाता है। इस कमजोरी को दूर करने के लिए उसे ताकत देने वाली कई चीजें खिलाई जाती है, जिनमें से गोंद के लड्डू भी एक हैं।

गोंद के लड्डू जच्चा की हड्डियों को न केवल मजबूत बनाते हैं बल्कि कमजोरी भी दूर करते हैं। इसके अलावा जो लोग वजन बढ़ाने, बीमारी या चोट से उबरने के लिए घरेलू उपाय अपनाना चाहते हैं तो अपने आहार में नियमित रूप से गोंद के लड्डू शामिल करें।

(और पढ़े – बच्चे को दूध पिलाने (स्तनपान कराने) के तरीके और टिप्स…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration