खसखस के फायदे गुण लाभ और नुकसान – khus khus benefits and side effects in hindi

खसखस के फायदे गुण लाभ और नुकसान – khus khus benefits and side effects in hindi
Written by Deepanshu

khus khus benefits in hindi पॉपी सीड को आम भाषा में खसखस भी कहते है। औषधीय गुण से भरपूर खसखस का उपयोग कई रोग के निजात पाने  के लिए करते है। अगर आपको अधिक प्यास लगती है, ज्वर, सूजन (Swelling) या फिर पेट की जलन हो तो खसखस (Poppy seeds) काफी कारगार साबित हो सकता है। आज आप खसखस के फायदे (khus khus ke fayde) गुण लाभ और खसखस के नुकसान (Khus khus ke nuksan) के बारें में आप जानेगे

आपको बता दें कि खसखस (Poppy seeds) को प्राचीन सभ्यता से ही औषधीय गुणों (Medicinal properties of khus khus) के लिए प्रयोग में लिया जाता रहा है। खसखस का बीज में ओमेगा-6 फैटी एसीड, प्रोटीन और फाइबर (Protein and fiber) का अच्छा स्त्रोत है। इन सब के अलावा इसमें कैल्शियम, मैगनीज, थायमीन, विटामिन बी आदि पाया जाता है। आईए जानते है की खसखस का इस्तेमाल कैसे विभिन्न रोगों में हमें आराम और राहत प्रदान करता है।

खसखस के फायदे – khus khus ke fayde in hindi

खसखस के फायदे दर्द में दें राहत – Poppy seeds for pain relief in hindi

दर्द चाहे कैसा भी हो हम सभी तुरंत राहत पाना चाहते है। ऐसे में खसखस दर्द में काफी उपयोगी साबित हो सकता है। खसखस में मौजूद एल्कालाइड्स (Alkaloids) दर्द को दूर करने में मददगार साबित होता है। मांसपेशियों का दर्द हो या फिर दांत का दर्द, नसों का दर्द हो या फिर जोड़ों का दर्द इन सब के लिए खसखस का इस्तेमाल किया जा सकता है। मार्केट में खसखस के प्रोडक्ट (Poppy’s product) आसानी से मिल जाएगे।

(और पढ़े – पीठ दर्द से छुटकारा पाना है तो अपनाएं ये घरेलू उपाय)

खसखस के फायदे अनिद्रा दूर करें – khus khus benefits for good sleep in hindi

बदलते लाइफस्टाइल में नींद नहीं आने की समस्या (sleep apnea) काफी आम हो गई है। यूं तो नींद नहीं आने के कई कारण हो सकते है लेकिन प्रॉपर नींद नहीं लेने से कई अन्य बीमारियों को भी हम जाने अनजाने में न्योता दे देते है। लेकिन खसखस के सेवन से आपके अंदर सोने की प्रबल इच्छा होगी। अगर आपको भी अनिद्रा (Insomnia) की शिकायत है तो सोने से पहले खसखस के पेस्ट को गर्म दूध के साथ सेवन करना फायदेमंद साबित हो सकता है।

खसखस के गुण करें कब्ज की छुट्टी – khus khus benefits for constipation in hindi

गलत खानपान के कारण कब्ज की शिकायत आम हो गई है। कब्ज (constipation) की समस्या से जूझ रहे व्यक्ति के लिए खसखस (Poppy seeds) वरदान साबित हो सकता है। खसखस में फाइबर की मात्रा काफी होता है। इसमें लगभग 20-30 प्रतिशत फाइबर शामिल होता है। फाइबर मल त्यागा व कब्ज की समस्या (constipation problem) को दूर करने में लाभकारी होती है।

खसखस के फायदे श्वसन संबंधी विकार – Poppy seeds benefits for Respiratory Disorders in hindi

सांस से जु़ड़ी की बीमारियों के लिए हम खसखस का उपयोग करते है। यह जिद्दी खासी को भी ठीक करने में मदद करता है और साथ ही अस्थमा (Asthma) जैसी समस्याओ के खिलाफ लंबे समय तक राहत प्रदान करता है।

खसखस के लाभ है एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर – poppy seeds are rich in antioxidants in hindi

khus khus खसखस में एंटीऑक्सीडेंट्स के गुण है। एंटीऑक्सीडेंट कैंसर और बुढ़ापे संबंधी बीमारियों को रोकथाम में मदद करता है। ये एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल के हमलों से शरीर के अंगों की रक्षा करता है। इसलिए खसखस को अपने आहार का एक हिस्सा बनाना चाहिए।

(और पढ़े – चेहरे की झुर्रियों के कारण और झुर्रियां कम करने के घरेलू उपाय)

खसखस के फायदे करें पथरी की समस्या दूर – Poppy seeds prevent kidney stone in hindi

समय के साथ कीडनी में पथरी (Kideny stone) की समस्या भी बढ़ रही है। खसखस किडनी में पथरी बनने के प्रक्रिया को रोकता है। इसमें मौजूद ओक्सलेट्स शरीर में मौजूद अतरिक्त कैल्शियम को अवशोषित करता है जिससे शरीर में क्रिस्टल नहीं बनाता है।

(और पढ़े – पथरी होना क्या है? (किडनी स्टोन) पथरी के लक्षण, कारण और रोकथाम)

खसखस के फायदे त्वचा की देखभाल के लिए – khus khus benefits for skin in hindi

खूबसूरत दिखना किसे पसंद नहीं है। ऐसे में खसखस का उपयोग त्वचा के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। ये एक मॉइस्चराइजर (Moisturizer) की तरह काम करता है और त्वचा की जलन व खुजली को कम करने में मदद करता है। खसखस एक्जिमा (Eczema) के इलाज के लिए भी मददगार है।

खसखस के नुकसान – Khus khus ke nuksan in hindi

जैसा की आपने जाना खसखस के फायदे (Poppy seeds benefits) अनेक है लेकिन यदि खसखस का अधिक मात्रा में सेवन किया जाये तो खसखस के नुकसान भी हो सकते है

  • खसखस के पेड़ के मादक गुणों के कारण खसखस के सेवन को लेकर कई प्रकार की चिंताएं होती है।
  • इसके कच्चे बीजों में मॉर्फिन (Morphine) जैसे अल्फ़ाइड होता है, जो की एक दर्द निवारक जिससे नशे की आदत भी लग सकती है इसलिए इसके पके बीजो का ही सेवन करना चाहिए।
  • अधिक मात्रा में खसखस का सेवन करने से श्वसन सम्बन्धी समस्या हो सकती है
  • खसखस का अधिक सेवन से चक्कर आना और बेहोशी जैसा लग सकता है
  • इसके अलावा खसखस के नुकसान से कब्ज , मतली और स्किन में खुजली (Skin itching) जैसी समस्याएँ आ सकती है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration