लिंग (पेनिस) में दर्द के लक्षण, कारण, इलाज और बचाव – Pain in Penis Symptoms, Causes, Treatment And Prevention in Hindi




लिंग (पेनिस) में दर्द के लक्षण, कारण, इलाज और बचाव - Penis ling me dard ke karan, lakshan, ilaj, dawa aur upchar in hindi
Written by Daivansh

Penis pain in Hindi किसी भी प्रकार से लिंग में दर्द (Penis Pain) उत्पन्न होना एक चिंता का विषय होता है। यदि किसी भी व्यक्ति के लिंग में दर्द होता है, तो दर्द के साथ-साथ अन्य लक्षणों पर भी ध्यान देना महत्वपूर्ण होता है। लिंग में दर्द की समस्या यौन संक्रमण, मूत्रमार्गशोथ, मूत्रमार्ग संक्रमण या लिंग की चोट के लक्षण या संकेत के रूप में उत्पन्न हो सकती है। अतः किसी भी व्यक्ति को अचानक पेनिस में दर्द की स्थिति को गंभीर समस्या के रूप में लेना चाहिए। तथा दर्द की स्थिति में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

अतः आज इस लेख में आप जानेगें कि पेनिस में दर्द की समस्या क्या है, इसके कारण लक्षण क्या है तथा इसके इलाज और परहेज के तरीकों के बारे में ।

1. बलिंग (पेनिस) में दर्द क्या है – What is Pain in Penis in hindi
2. लिंग में दर्द के लक्षण – Penis Pain symptoms in hindi
3. पेनिस में दर्द की स्थिति में डॉक्टर को कब दिखाएँ – When to see a doctor for Pain in Penis in hindi
4. लिंग में दर्द के कारण – Penis Pain Causes in hindi

5. लिंग में दर्द का निदान – Penis Pain diagnosis in hindi
6. लिंग में दर्द का इलाज – Pain in Penis treatment in hindi
7. लिंग में दर्द की रोकथाम – Penis Pain Prevention in Hindi

लिंग (पेनिस) में दर्द क्या है – What is Pain in Penis in hindi

लिंग (पेनिस) में दर्द क्या है – What is Pain in Penis in hindi

पेनिस में दर्द (Penis Pain) लिंग के आधार, शाफ्ट या सिरे को प्रभावित कर सकता है। लिंग (पेनिस) में दर्द की स्थिति लिंग की चमड़ी को भी प्रभावित कर सकती है। दर्द के साथ-साथ खुजली, जलन या थ्रॉबिंग (throbbing) की अनुभूति आदि लक्षण भी उत्पन्न हो सकते हैं। पेनिस में दर्द किसी दुर्घटना या बीमारी के परिणामस्वरुप उत्पन्न हो सकता है, तथा यह किसी भी उम्र के पुरुषों को प्रभावित कर सकता है।

लिंग पुरुष प्रजनन प्रणाली का एक महत्वपूर्ण अंग है। यह मूत्राशय से जुड़ा होता है और मूत्र को शरीर से बाहर करता है। यौन उत्तेजना के दौरान लिंग की शाफ्ट, रक्त भरने के कारण सीधी और कठोर हो जाती है, इसे  इरेक्शन कहा जाता है। लिंग का सिरा सामान्य रूप से चमड़ी (foreskin) से ढका होता है। लिंग में दर्द की स्थिति पेनिस के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकती है।

(और पढ़े – क्या होता है मानव लिंग और उसकी कार्यप्रणाली…)

लिंग में दर्द के लक्षण – Penis Pain symptoms in hindi

लिंग में दर्द के लक्षण - Penis Pain symptoms in hindi

पेनिस में दर्द (Penis Pain) की समस्या अलग-अलग स्थितियों या रोग के कारण उत्पन्न हो सकती है। लिंग में दर्द से सम्बंधित लक्षण समय के साथ अचानक या फिर धीरे-धीरे विकसित हो सकते हैं। दर्द का अहसास कुछ घंटों, कुछ दिनों या केवल कुछ क्षण के लिए महसूस किया जा सकता है। पेनिस में लगने वाली चोट अचानक और गंभीर दर्द को जन्म दे सकती है। यदि किसी बीमारी या स्वास्थ्य स्थिति के कारण पेनिस में दर्द (Penis Pain) उत्पन्न होता है, तो यह दर्द हल्का हो सकता है और समय के साथ धीरे-धीरे अधिक गंभीर हो सकता है। यौन क्रिया के दौरान या पेशाब करते समय या आराम करते समय किसी भी स्थिति में दर्द उत्पन्न हो सकता है। लिंग में दर्द से सम्बंधित लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं, जैसे कि:

  • लिंग की शाफ्ट के बीच में दर्द होना (pain in middle of shaft)
  • पेनिस की शाफ्ट के बाईं ओर दर्द होना (pain on left side of shaft)
  • लिंग की शाफ्ट के दाईं ओर दर्द होना (pain on right side of shaft)
  • पेनिस की पेशाब करने के बाद मूत्रमार्ग में जलन होना (burning at tip of urethra after urinating)

पेनिस में दर्द महसूस होने के साथ-साथ व्यक्ति निम्न लक्षणों का अनुभव भी कर सकता है, जैसे:

(और पढ़े – पेनिस (लिंग) के रोग के लक्षण, कारण, प्रकार, उपचार और बचाव…)

पेनिस में दर्द की स्थिति में डॉक्टर को कब दिखाएँ – When to see a doctor for Pain in Penis in hindi

पेनिस में दर्द की स्थिति में डॉक्टर को कब दिखाएँ - When to see a doctor for Pain in Penis in hindi

यदि कोई भी व्यक्ति लिंग में दर्द (Penis Pain) का अनुभव करते हैं, तो उसे तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए। पेनिस में दर्द से सम्बंधित अंतर्निहित कारणों का प्रारंभिक निदान और उपचार, व्यक्ति के स्वास्थ्य सम्बन्धी जोखिमों को कम करने के लिए आवश्यक होता है। पेनिस में दर्द बहुत हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकता है, अतः निम्न स्थितियों व्यक्ति को तुरंत डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए:

  • अंडकोष में किसी भी प्रकार का दर्द होने पर
  • लिंग में खुजली या फोड़ा उत्पन्न होने पर
  • पेशाब करते समय या पेशाब के बाद जलन या दर्द महसूस होने पर
  • पेशाब या वीर्य के साथ खून आने पर
  • लिंग में किसी भी प्रकार की असमानता महसूस होने पर
  • पेनिस में सूजन उत्पन्न होने पर
  • सेक्स गतिविधियों में असुविधा उत्पन्न होने पर
  • जननांग संबंधी समस्याएं उत्पन्न होने पर,
  • जननांग में 4 घंटे से अधिक समय तक दर्द बना रहने पर, इत्यादि।

(और पढ़े – अंडकोष (वृषण) में दर्द के कारण, लक्षण, जांच, उपचार और रोकथाम…)

लिंग में दर्द के कारण – Penis Pain Causes in hindi

  1. लिंग में दर्द का कारण पेरोनी रोग – Penis Pain Causes Peyronie’s Disease in Hindi
  2. पेनिस में दर्द का कारण प्रोस्टेटाइटिस – Penis Pain Causes Prostatitis in Hindi
  3. लिंग में दर्द का कारण प्रियापिज्‍म – Penis Pain Causes Priapism in Hindi
  4. पेनिस में दर्द का कारण बैलेनाइटिस – Penis Pain Causes Balanitis in Hindi
  5. लिंग में दर्द का कारण यौन संचारित संक्रमण – Sexually Transmitted Infections Penis Pain Causes in Hindi
  6. पेनिस में दर्द का कारण मूत्र पथ संक्रमण – Penis Pain Causes Urinary Tract Infections in Hindi
  7. पेनिस में दर्द का कारण लिंग में दर्द का कारण कैंसर – Penis Pain Causes Cancer in Hindi
  8. लिंग में दर्द का कारण फिमोसिस और पैराफिमोसिस – Penis Pain Causes Phimosis and Paraphimosis in Hindi
  9. पेनिस में दर्द का कारण मूत्रमार्गशोथ – Penis Pain Causes Urethritis in Hindi
  10. लिंग में दर्द का कारण चोट लगने की घटनाएं – Penis Pain Causes Injuries in Hindi

पेनिस में दर्द (Penis Pain) किसी दुर्घटना या बीमारी के परिणामस्वरुप उत्पन्न हो सकता है, और यह दर्द हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकता है। यौन क्रिया के दौरान या पेशाब करते समय भी लिंग में दर्द को महसूस किया जा सकता है।

कुछ स्थितियों में लिंग में दर्द से सम्बंधित व्यक्ति घर पर राहत प्राप्त कर सकता है, लेकिन कुछ अंतर्निहित कारणों से उत्पन्न दर्द के लिए चिकित्सा उपचार की आवश्यकता पड़ती है। पेनिस में दर्द के संभावित कारणों में शामिल हैं:

लिंग में दर्द का कारण पेरोनी रोग – Penis Pain Causes Peyronie’s Disease in Hindi

लिंग में दर्द का कारण पेरोनी रोग - Penis Pain Causes Peyronie’s Disease in Hindi

पेरोनी रोग या मुड़े हुए लिंग (Curved Penis) की स्थिति में लिंग के अंदर या बाहर रेशेदार स्कार ऊतकों (scar tissue) या पट्टिका (plaque) का निर्माण होता है, जो लिंग में घुमावदार आकर या मुड़ी हुई आकृति के उत्पन्न होने का कारण बनता है। यह स्थिति स्तंभन और सेक्स के दौरान पेनिस में दर्द का कारण बनती है।

(और पढ़े – लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) के कारण, लक्षण, जांच, इलाज, बचाव…)

पेनिस में दर्द का कारण प्रोस्टेटाइटिस – Penis Pain Causes Prostatitis in Hindi

पेनिस में दर्द का कारण प्रोस्टेटाइटिस - Penis Pain Causes Prostatitis in Hindi

प्रोस्टेटाइटिस (Prostatitis) प्रोस्टेट की सूजन है, जो लिंग और श्रोणि क्षेत्र (pelvic area) में दर्द का कारण बन सकती है। प्रोस्टेटाइटिस के कारणों में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

  • बैक्टीरियल संक्रमण
  • तंत्रिका सूजन (nerve inflammation)
  • चोटे, इत्यादि।

(और पढ़े – पेनिस (लिंग) पर स्कैबीज होने का कारण लक्षण और इलाज…)

लिंग में दर्द का कारण प्रियापिज्‍म – Penis Pain Causes Priapism in Hindi

लिंग में दर्द का कारण प्रियापिज्‍म - Penis Pain Causes Priapism in Hindi

यह स्थिति लंबे समय तक इरेक्शन (erection) का कारण बनती है। लम्बे समय तक इरेक्शन (erection) या लिंग के खड़े रहने की स्थिति भी लिंग में दर्द का कारण बनती है। प्रियापिज्‍म (Priapism) के संभावित कारणों में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

(और पढ़े – सेक्स पावर बढ़ाने वाली दवाओं के साइड इफ़ेक्ट…)

पेनिस में दर्द का कारण बैलेनाइटिस – Penis Pain Causes Balanitis in Hindi

पेनिस में दर्द का कारण बैलेनाइटिस - Penis Pain Causes Balanitis in Hindi

लिंग की चमड़ी (foreskin) और लिंग के सिर में उत्पन्न एक संक्रमण है। बैलेनाइटिस (Balanitis) के संभावित कारणों में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

  • लिंग की फोरस्किन के नीचे नियमित रूप से साफ नहीं करने से
  • साबुन, इत्र या अन्य उत्पादों की एलर्जी प्रतिक्रिया के फलस्वरूप

(और पढ़े – पेनिस हेड में इन्फेक्शन (बैलेनाइटिस) के कारण, लक्षण और इलाज…)

लिंग में दर्द का कारण यौन संचारित संक्रमण – Sexually Transmitted Infections Penis Pain Causes in Hindi

लिंग में दर्द का कारण यौन संचारित संक्रमण - Sexually Transmitted Infections Penis Pain Causes in Hindi

एक यौन संचारित संक्रमण, पेनिस में दर्द का कारण बन सकता है। पेनिस में दर्द पैदा करने वाले यौन संचारित संक्रमण में निम्न को शामिल किया जाता हैं:

(और पढ़े – जननांग हरपीज (जेनिटल हर्पीज) के कारण, लक्षण, निदान और उपचार…)

पेनिस में दर्द का कारण मूत्र पथ संक्रमण – Penis Pain Causes Urinary Tract Infections in Hindi

पेनिस में दर्द का कारण मूत्र पथ संक्रमण - Penis Pain Causes Urinary Tract Infections in Hindi

मूत्र पथ संक्रमण तब होता है, जब बैक्टीरिया व्यक्ति के मूत्र पथ पर आक्रमण कर संक्रमित कर देते हैं। पेनिस में दर्द का कारण बनने वाले मूत्र पथ संक्रमण के कारणों में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

(और पढ़े – प्रोस्टेट बढ़ने के लक्षण, कारण, जांच, इलाज और बचाव…)

पेनिस में दर्द का कारण लिंग में दर्द का कारण कैंसर – Penis Pain Causes Cancer in Hindi

पेनिस में दर्द का कारण लिंग में दर्द का कारण कैंसर - Penis Pain Causes Cancer in Hindi

पेनिस कैंसर (Penile cancer) लिंग में दर्द का कारण बनता है, हालांकि यह बहुत असामान्य है। अतः कैंसर के संभावित कारणों में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

  • धूम्रपान करने से
  • एक ह्यूमन पेपिलोमावायरस संक्रमण (human papillomavirus infection) के कारण
  • लिंग की अस्वच्क्षता के कारण
  • सोरायसिस (psoriasis) की स्थिति में, इत्यादि।

(और पढ़े – पेनिस (लिंग) कैंसर क्या है, प्रकार, लक्षण, कारण, उपचार, और बचाव…)

लिंग में दर्द का कारण फिमोसिस और पैराफिमोसिस – Penis Pain Causes Phimosis and Paraphimosis in Hindi

लिंग में दर्द का कारण फिमोसिस और पैराफिमोसिस - Penis Pain Causes Phimosis and Paraphimosis in Hindi

फिमोसिस की स्थिति में लिंग की फोरस्किन (foreskin) बहुत कड़ी हो जाती है और लिंग के सिरे से पीछे की ओर खींचना मुश्किल हो जाता है। यह समस्या बैलेंटिस (balanitis) या चोट लगने से उत्पन्न हो सकती है।

पैराफिमोसिस नामक इस स्थिति में लिंग की फोरस्किन पीछे अटक जाती है, जिसे अपनी सामान्य स्थिति में लाना मुश्किल होता है। पैराफिमोसिस एक चिकित्सकीय आपातकाल की स्थित है, क्योंकि यह पेशाब को रोक सकती है और लिंग के ऊतक के नष्ट होने का कारण बन सकती है।

(और पढ़े – फाइमोसिस क्या है, कारण, लक्षण और फाइमोसिस का घरेलू उपचार…)

पेनिस में दर्द का कारण मूत्रमार्गशोथ – Penis Pain Causes Urethritis in Hindi

पेनिस में दर्द का कारण मूत्रमार्गशोथ - Penis Pain Causes Urethritis in Hindi

मूत्रमार्गशोथ (Urethritis), मूत्रमार्ग (urethra) की सूजन की स्थिति को प्रगट करता है। यह स्थिति पेशाब में जलन, दर्द तथा खुजली का कारण बन सकती है। मूत्रमार्गशोथ के कारणों में निम्न को शामिल किया जाता है:

  • जीवाणु संक्रमण
  • वायरस संक्रमण
  • चोट लगने से
  • शुक्राणुनाशक या गर्भनिरोधक लोशन की प्रतिक्रिया के फलस्वरूप, इत्यादि।

(और पढ़े – स्परमिसिडिस क्या है शुक्राणुनाशक का उपयोग और सावधानियां…)

लिंग में दर्द का कारण चोट लगने की घटनाएं – Penis Pain Causes Injuries in Hindi

लिंग में दर्द का कारण चोट लगने की घटनाएं - Penis Pain Causes Injuries in Hindi

किसी दुर्घटनावश लिंग में चोट लगने से लिंग में दर्द उत्पन्न हो सकता है। लिंग में दर्द का कारण बनने वाली स्थितियों में निम्न को शामिल किया जा सकता है, जैसे:

(और पढ़े – पेनिस में फ्रैक्चर क्या है, लक्षण, कारण, इलाज और बचाव…)

लिंग में दर्द का निदान – Penis Pain diagnosis in Hindi

लिंग में दर्द का निदान - Penis Pain diagnosis in hindi

लिंग में दर्द, अनेक कारणों से उत्पन्न हो सकता है। अतः लिंग में दर्द की समस्या का निदान करने के लिए डॉक्टर की मदद ली जा सकती है। दर्द के कारणों का निदान करने के लिए डॉक्टर विभिन्न प्रकार के परीक्षणों की सहायता ले सकते हैं जैसे कि:

(और पढ़े – एमआरआई स्कैन क्या है कीमत, प्रक्रिया, फायदे और नुकसान…)

लिंग में दर्द का इलाज – Pain in Penis treatment in hindi

लिंग में दर्द का इलाज - Pain in Penis treatment in hindi

लिंग में दर्द (Penis Pain) सामान्य होने के साथ-साथ कुछ गंभीर समस्याओं की ओर संकेत कर सकता है। अतः लिंग में दर्द की स्थिति को केवल घरेलू उपचार के साथ नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। पेनिस में दर्द का इलाज सम्बंधित व्यक्ति की स्वास्थ्य स्थिति या पेनिस में दर्द के कारणों के आधार पर भिन्न-भिन्न होता है, जैसे:

  • पेरोनी रोग (Peyronie’s Disease) की स्थिति में डॉक्टर इलाज प्रक्रिया के दौरान इंजेक्शन या सर्जरी की सिफारिश कर सकता है। इंजेक्शन, पेरोनी रोग की स्थिति में पट्टिका (plaque) या स्कार टिश्यू को नरम कर सकता है।
  • प्रियापिज्‍म (Priapism) की स्थिति में इरेक्शन को कम करने के लिए, सुई की मदद से लिंग में खून के बहाव को कम किया जा सकता है। लिंग में बहने वाले रक्त की मात्रा को कम करने के लिए डॉक्टर दवा की भी सिफारिश कर सकता है।
  • मूत्र पथ संक्रमण और कुछ यौन संचारित संक्रमण का इलाज करने के लिए एंटीबायोटिक्स की सिफारिस की जा सकती है। इसके अतिरिक्त एंटीबायोटिक्स और एंटीफंगल दवाएं बैलेनाइटिस (Balanitis) का भी इलाज करने में उपयोगी हो सकती हैं।
  • यदि किसी व्यक्ति को फिमोसिस (Phimosis) की स्थिति के कारण पेनिस में दर्द है, तो उंगलियों के माध्यम से लिंग की त्वचा को खींचकर शिथिल (ढीला) करने का प्रत्यन किया जा सकता है। डॉक्टर द्वारा इस स्थिति में इलाज के दौरान स्टेरॉयड क्रीम (Steroid creams) को लिंग पर रगड़ने की भी सिफारिश की जा सकती है। गंभीर मामलों में सर्जरी की सिफारिश की जा सकती है।
  • पैराफिमोसिस की स्थिति में डॉक्टर सम्बंधित व्यक्ति को लिंग के सिर पर दबाव डालकर लिंग की फोरस्किन को पूर्व स्थिति में लाने का सुझाव दिया जा सकता है। इसके अतिरिक्त लिंग की स्किन को अपनी पूर्व स्थिति में लाने के लिए लिंग में दवाओं को इंजेक्ट किया जा सकता है या सूजन को कम करने के सर्जरी द्वारा छोटी सी कटौती की जा सकती है।
  • लिंग के कैंसर की स्थिति में एक सर्जन कैंसर प्रभावित ऊतकों को हटा सकता है। पेनिस कैंसर के उपचार में विकिरण चिकित्सा (रेडिएशन थेरेपी) या कीमोथेरेपी की भी सिफारिश की जा सकती है।

(और पढ़े – कीमोथेरेपी क्या है फायदे और नुकसान…)

लिंग में दर्द की रोकथाम – Penis Pain Prevention in Hindi

लिंग में दर्द की रोकथाम - Penis Pain Prevention in Hindi

लिंग में दर्द (Penis Pain) के विकसित होने की संभावना को कम करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण प्रयास किये जा सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • सेक्स करते समय कंडोम का उपयोग करें,
  • अधिक व्यक्तियों के साथ यौन संबंध बनाने से बचें
  • लिंग को चोट लगने से बचने के लिए बेहतर सेक्स पोजीशन को अपनाये
  • किसी भी प्रकार की गतिविधि के दौरान लिंग को सुरक्षित रखने का प्रयास करें
  • लिंग की स्वक्षता पर विशेष ध्यान दें, लिंग की चमड़ी के नीचे नियमित सफाई करें
  • दर्द को कम करने के लिए आइस पैक (Ice packs) का प्रयोग किया जा सकता है
  • धूम्रपान और शराब का सेवन न करें
  • यदि लिंग में किसी भी प्रकार के दर्द का अनुभव होता है, तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें।

(और पढ़े – सभी प्रकार के कंडोम का उपयोग कैसे करें…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration