जौ के पानी के फायदे, स्वास्थ्य लाभ और नुकसान – Barley water benefits and side effects in Hindi

जौ के पानी के फायदे, स्वास्थ्य लाभ और नुकसान - Barley water benefits and side effects in Hindi
Written by Sneha

Barley water in Hindi जौ का पानी एक पेय है जिसे पानी के साथ जौ को मिलाकर पकाया जाता है लोग जौ के पानी को कभी-कभी नींबू के पानी के समान पीते हैं या फिर इसके साथ मीठे फलों के रस को मिलाकर भी पी सकते हैं जौ के पानी में स्वास्थ्य लाभ के लिए कुछ पदार्थ पाए जाते हैं आइए हम जानते हैं जौ के पानी के फायदे और स्वास्थ्य लाभ के बारे में। जौ के पानी में बहुत अधिक कैलोरी पाई जाती है लेकिन इस में वसा कम होती है जौ के पानी एक कप में लगभग 700 केलोरी या इससे अधिक उर्जा हो सकती है।

हर रोज जौ का पानी पीने से स्वास्थ्य से जुड़ी बहुत सी समस्याएं दूर हो जाती और कई बीमारियों के होने का खतरा भी बहुत कम हो जाता है।  जौ में विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स, आयरन (Iron), कैल्शियम, प्रोटीन, अमीनो एसिड, मैग्नीशियम, मैगनीज, सेलेनियम, जिंक, कॉपर, डायट्री फाइबर्स (Dietary fibers) और कई तरह के एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं।

इसलिए आपको इतनी अधिक उर्जा के कारण प्रतिदिन जौ के पानी के दो गिलास से अधिक का सेवन नहीं करना चाहिए जब जौ का पानी थोड़ा कड़वा हो जाता है उसका कारण पानी के साथ जौ की घास को भी उबाला जाता है यह पेय कम कैलोरी का होता है लेकिन इसमें फाइबर की मात्रा भी कम हो जाती है जो इसके फायदे का मुख्य स्रोत मानी जाती है।

जौ का पानी अक्सर नींबू के छिलके के या नींबू के रस के स्वाद के समान होता है जौ के पानी को पीने से यह दावा किया जाता है कि यह वजन घटाने, कब्ज दूर करने, पाचन को सही करने में सहायक होता है जौ के पानी के बारे में जो भी स्वास्थ्य दावे किए जाते हैं उनका अभी तक चिकित्सा अनुसंधान द्वारा समर्थन नहीं किया गया है आइए जानते हैं जौ के पानी के फायदे कौन-कौन से हैं।

जौ का पानी क्या है? -What is Barley Water in hindi?

आपको बता दें जौ के बीजों को पानी में उबालकर बनाया जाने वाला दूधिया सफेद पेय जौ का पानी कहलाता है, जो का पानी, जौ के सेवन का सबसे सामान्य रूप है। इसका उपयोग कई घरों में पारंपरिक घरेलू उपचार के रूप में किया जाता है क्योंकि यह अपने पोषण लाभों के लिए प्रसिद्ध है। जौ के पानी की अच्छाई का पता इसी बात से लगाया जा सकता है कि, यह अक्सर कई देशों में बच्चे के पहले भोजन के रूप में दिया जाता है। यह पचाने में काफी आसान है और कई बीमारियों के इलाज में भी मदद करता है। यहां जौ के पानी पीने के सर्वोत्तम लाभों को समझने के लिए आपका मार्गदर्शन और तैयारी की विधि भी दी गयी है।

जौ के पोषण तथ्य – Barley Nutrition Facts in Hindi

जौ महत्वपूर्ण विटामिन और खनिजों में उच्च है। 100 ग्राम जौ में पोषक तत्व की मात्रा –

  • कुल कैलोरी: 354
  • कुल वसा: 2.3 ग्राम
  • सोडियम: 0%
  • पोटेशियम: 452 मिलीग्राम
  • कुल कार्बोहाइड्रेट: 73 ग्राम
  • आहार फाइबर: 17 ग्राम
  • प्रोटीन: 12 ग्राम
  • लोहा: 19%
  • विटामिन बी 6: 15%
  • मैग्नीशियम: 33%

अब जब आप जौ के दानों के बारे में जान गए हैं, तो आइए जौ के पानी के बारे में विस्तार से जानते हैं:

जौ का पानी कैसे बनाएँ  – jo ka pani kaise banaye in hindi

एक लीटर पानी में दो बड़े चम्मच जौ डालकर उबालें। उबालने के वक्त ढक्कन को अच्छी तरह से लगा दें ताकि जौ के दाने अच्छी तरह से पक जायें। जब यह मिश्रण पानी के साथ घुलकर हल्के गुलाबी रंग का पारदर्शी मिश्रण बन जायें तो समझ जाना चाहिए कि यह पीने के लिए पूरी तरह से तैयार है। इस मिश्रण को एक जालीदार कपड़े से छान लें। अच्छी सेहत पाने के लिए रोजाना 1 से 2 कप जौ का पानी पियें। । अगर आपको इसका स्वाद पसंद नही आ रहा है तो इसमें नींबू, शहद और नमक भी डाल सकते हैं। आप छिलके वाले और बिना छिलके वाले दोनों में से किसी भी प्रकार के जौ ले सकते हैं। छिलके वाले में ज्यादा फाइबर होता है और पकाने में ज्यादा समय लगता है इसलिए बिना छिलके वाले पकाने में आसान हैं।

जौ की तासीर – Jo Ki Taseer in Hindi

बारले वाटर पौष्टिक खाद्य पदार्थों में से एक है। जौ की तासीर सम होती है इसका मतलब यह है कि न ही इसकी तासीर गर्म होती है और न ही ठंडी। यह शरीर के अनुकूल होती है। इन्‍हीं गुणों के कारण जौ का उपयोग कई प्रकार की दवाओं के साथ ही बीयर आदि को बनाने में किया जाता है। जौ के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त करने के लिए जौ के पानी का सेवन करना भी एक अच्‍छा विकल्‍प है।

जौ के प्रकार – Types Of Barley in Hindi

प्रकृति और गुणों के आधार पर जौ के कई प्रकार मौजूद हैं। आप अपनी आवश्‍यकता और उपलब्‍धता के आधार पर जौ के बीजों को बाजार से खरीद सकते हैं। जौ के कुछ वैरायटी इस प्रकार है :

गुच्‍छे (Flakes) – फ्लेक्स बारले जौ के दानों को चपटा करके बनाया जाता है। इनका उपयोग पहले से पकाए हुए भोजन और अन्‍य खाद्य पदार्थों में किया जाता है।

आटा (Flour) आप अपने आहार में जौ के आटे का भी उपयोग कर सकते हैं। जौ का आटा बनाने के लिए आप जौ को बारीक पाउडर में पीसकर उपयोग कर सकते हैं। जौ के आटे का उपयोग बेक्‍ड उत्पादों में किया जाता है।

ग्रिट्स (Grits) इसे जई का मोटा आटा भी कहा जाता है। जौ के दानों के ऊपरी परत को साफ करके इसे तैयार किया जाता है। इन छिलकों को निकालने के लिए पहले इन्‍हें रोस्‍ट किया जाता है।

हुल्‍ड (Hulled) जौ के इस प्रकार में केवल पौधे आधारित भूसी को साफ किया जाता है। जबकि जौ के ऊपरी आवरण को साफ कर पूरे चोकर को बरकरार रखते हुए बनाया जाता है। यह जौ की अन्‍य किस्‍मों की तुलना में अधिक फाइबर और पौष्टिकता से भरपूर होता है।

पर्ल बारले (Pearl Barley) – इस प्रकार का जौ सफेद रंग के होते हैं, इनके दाने एक समान अकार के होते हैं जो छोटे मोती के समान दिखाई देते हैं। इस प्रकार के जौ से चोकर को साफ करके बनाया जाता है। पर्ल बारले मुख्‍य रूप से सूप और सलाद आदि में उपयोग किया जाता है।

अनहेल्‍ड बारले (Unhulled Barley) इस प्रकार के जौ के दानों में बाहरी भूसी मौजूद होती है जिनका उपयोग स्‍प्राउट्स (sprouts) बनाने के लिए किया जाता है।

जौ के पानी पीने के स्वास्थ्य लाभ – barley water benefits in Hindi

यहां हमने जौ के पानी के शीर्ष स्वास्थ्य लाभों को सूचीबद्ध किया है। आइए उन पर एक नज़र डालें

जौ के पानी के फायदे कोलेस्ट्रॉल को कम करने मे – Barley water for Lowers cholesterol

कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए जौ का पानी या जौ कि चाय को पिया जा सकता है जो में रसायन जिससे टोकंल्स (tocols) कहा जाता है पाया जाता है जो कि एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए जाना जाता है जो कि कोलेस्ट्रोल को कम कर हृदय को स्वस्थ बनाता है| जौ के पानी में एंटीआक्सीडेंट की मात्रा भी होती है जो तनाव को कम करने और आपके दिल को विषाक्त पदार्थों से बचाने का कार्य करती हैं।

(और पढ़े – मानसिक तनाव के कारण, लक्षण एवं बचने के उपाय)

जौ के पानी के फायदे रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में – Barley water for Controls blood sugar

बार्ली वाटर रक्त शर्करा को नियंत्रित करने की क्षमता के लिए जाना जाता है जौ का पानी पीने से आपको रक्त शर्करा के स्पाइक्स को नियंत्रित करने में लाभ प्राप्त हो सकता है खाने के बाद रक्त शर्करा को कम करने के लिए जो का पानी मधुमेह रोगियों के लिए सर्वाधिक उपयोगी साबित हुआ है जो का पानी एक एंटीऑक्सीडेंट की तरह कार्य कर मधुमेह के कारणों में सुधार लाता है।

जौ के पानी के लाभ हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Barley water benefits for Heart health in Hindi

आप अपने हृदय स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़वा देने के लिए जौ के पानी का उपयोग कर सकते हैं। नियमित रूप से जौ के पानी का इस्‍तेमाल करना हृदय की कार्य क्षमता को बढ़ाने में सहायक होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि जौ के पानी में फाइबर की अच्‍छी मात्रा होती है। जो शरीर में मौजूद अतिरिक्‍त कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने में सहायक होती है। खराब कोलेस्‍ट्रॉल रक्‍त वाहिकाओं में अवरोध उत्पन्‍न कर रक्‍त परिसंचरण को बाधित कर सकता है। जिससे हृदय गति में उतार-चढ़ाव होता है। जो दिल के दौरे और अन्‍य हृदय समस्‍याओं का कारण बन सकता है। लेकिन नियमित रूप से जौ के पानी का सेवन कर आप इस प्रकार की समस्‍याओं से बच सकते हैं।

जौ के पानी का उपयोग किडनी स्‍वस्‍थ रखे – Jo ke pani ka Upyog kidney swasth rakhe in Hindi

किडनी को स्‍वस्‍थ रखने के लिए जौ के पानी का उपयोग बहुत ही प्रभावी माना जाता है। क्‍योंकि जौ के पानी में मूत्रवर्धक गुण होते हैं। मूत्रवर्धक होने के कारण जौ का पानी शरीर में मौजूद विषाक्‍तता को आसानी से मूत्र के माध्‍यम से बाहर निकाल देता है। जिससे किडनी में अतिरिक्‍त कैल्शियम जमा नहीं हो पाता है। जौ का पानी गुर्दे को डिटॉक्‍स करने वाले उत्‍पादों के रूप में भी फायदेमंद होता है। नियमित रूप से जौ के पानी का सेवन करना आपको गुर्दे के कैंसर जैसी गंभीर समस्‍या से भी बचा सकता है।

जौ का पानी वजन घटाने मैं सहायक – Jo ka pani for weight loss in Hindi

वजन कम करने के लिए जौ का पानी एक आदर्श के रूप में जाना जाता है जौ के पानी में फाइबर की सामग्री पाई जाती है जो आपके पाचन को नियमित करने और उसमें सुधार करने के लिए जानी जाती है जो का पानी आप को हाइड्रेट और बहुत सारी कैलोरी देता है लेकिन इसमें बसा की मात्रा बहुत कम होती है जिससे आपको पेट जल्दी भर जाता है और आपको भूख बार-बार नहीं लगती जिससे आप बार बार भोजन करने से बच जाते हैं एक संतुलित आहार और व्यायाम के साथ संयुक्त रूप से जौ का पानी वजन घटाने में सहायता कर सकता है।

(और पढ़े – पेट की चर्बी को कम करने के घरलू उपाय)

जौ के पानी के फायदे त्वचा चमकदार बनाने में – Barley water benefits skin in Hindi

Barley जौ में सेलेनियम पाया जाता है, जो त्वचा को ढीला होने  से सुरक्षित रखता है और मुक्त कण (free radicals) की क्षति से बचाता है, जिससे कारण आपकी त्वचा अपने समय से पहले बूढी लग सकती है। जौ का पानी शरीर से विष को बाहर निकलता  है, जो मुँहासों के इलाज के लिए अत्यंत फायदेमंद है। यह मुहांसों की वजह से हो रही जलन व सूजन को कम करने में भी सहायक है। इसलिए जब आप जौ का पानी पीते है तो झुर्रियाँ मुक्त, सुंदर त्वचा जो अंदर से चमकती है को प्राप्त करते है!

जौ का पानी गर्भवती महिलाओं के लिए सर्वोत्तम – Barley water in pregnancy in Hindi

कब्ज जो की गर्भावस्था में आम बात है, जौ का पानी कब्ज को रोकता है और उबकाई को कम करता है। चूँकि यह रक्त में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करता है, यह गर्भावधि मधुमेह (gestational diabetes) से बचाव करता है और गर्भावस्था के दौरान फंगल संक्रमण से भी बचाता है। जौ का पानी पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण, गर्भवती महिलाओं के लिए एक बहुत ही अच्छा स्वास्थ्य पेय है। स्तन-पान करा रही महिला भी इसका सेवन कर सकती है। यह एक लैक्टोजेनिक आहार है और स्तन के दूध की मात्रा में बढ़ोतरी लाने में सहायता करता है। यदि आप स्तन के दूध की मात्रा में बढ़ोतरी करना चाहती है तो इसके लिए जौ के पानी में सौंफ मिला कर इसकी क्षमता को बढ़ा सकती हैं।

जौ का पानी है पेशाव के संक्रमण का उपचार – Barley water for urinary tract infection in hindi

Barley water जौ का पानी पीने से, शरीर में पेशाब भी बढ़ता है जिसका अर्थ है कि पेशाव के साथ शरीर में विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल दिया जाता है। इसलिए जौ पानी सबसे अच्छा दवा है जब आप एक मूत्र पथ के संक्रमण (UTI) से पीड़ित है।

यह मूत्र प्रणाली के लिए एक अच्छे एंटी-इंफ्लेमेटरी (सूजन को कम करने) के रूप में कार्य करता है और गुर्दों को साफ रखने में मदद करता है। इस प्रकार इसे मूत्राशयशोध, गुर्दे की पथरी और क्रिएटिनिन का उच्च स्तर जैसे विकारों के इलाज के लिए भी उपयोग किया जाता है।

जौ के पानी का इस्‍तेमाल एनीमिया के लिए – Jo ke pani ka Istemal Anemia ke liye in Hindi

शरीर की थकान और कमजोरी आदि एनीमिया के लक्षण हो सकते हैं। एनीमिया शरीर में खून की कमी के कारण होता है। लेकिन नियमित रूप से जौ के पानी का सेवन आपके शरीर में रक्‍त उत्‍पादन की क्षमता को बढ़ा सकता है। जौ के पानी में मौजूद कॉपर हीमोग्‍लोबिन के उत्‍पादन को उत्‍तेजित करता है। जिससे एनीमिया के शुरुआती लक्षणों को रोकने में मदद मिलती है। जिन लोगों को एनीमिया संबंधी समस्‍या है वे लोग लाल रक्‍त कोशिकाओं की गिनती सुधारने के लिए आयरन युक्‍त जौ के पानी का सेवन कर सकते हैं।

जौ के पानी के गुण पथरी का इलाज करे – Jo ke pani ke gun pathri ka ilaj kare in Hindi

गुर्दे की पथरी का इलाज करने के लिए आप जौ के पानी का उपयोग कर सकते हैं। जौ के पानी में अघुलनशील फाइबर की अच्‍छी मात्रा होती है। जो पित्‍त एसिड के स्राव को कम करता है। शरीर में पित्‍त एसिड जितना कम होगा इंसुलिन संवेदनशीलता उतनी ही बेहतर होगी। नियमित रूप से जौ के पानी का सेवन करने से ट्राइग्लिसराइड्स (triglycerides) के स्‍तर को कम करता है जिससे पथरी के गठन को रोका जा सकता है। यदि आप भी भविष्‍य में पथरी जैसी दर्दनाक समस्‍या से बचना चाहते हैं जौ के पानी को अपने नियमित आहार में शामिल कर सकते हैं।

जौ का पानी रक्‍त परिसंचरण सुधारे – Barley water for improve blood circulation in Hindi

जौ के पानी को एनर्जी ड्रिंक के रूप में उपयोग किया जाता है। इसमें मौजूद विटामिन बी कॉम्‍प्‍लेक्‍स शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम करता है। जिससे रक्‍त परिसंचरण करने वाली ध‍मनियों में वसा को जमा होने से रोका जा सकता है। संक्षेप में कहा जाये तो नियमित रूप से जौ के पानी का सेवन शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने और रक्‍त परिसंचरण को बढ़ावा देने में सहायक होता है।

जौ के पानी के औषधीय गुण हड्डी मजबूत करे – Barley water for Stronger Bones in Hindi

कैल्शियम और अन्‍य पोषक तत्‍वों की भरपूर मात्रा होने के कारण जौ का पानी हड्डियों को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में मदद करता है। जौ के पानी में कॉपर और फॉस्‍फोरस भी अच्‍छी मात्रा में होते हं जो हड्डियों के संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य को बनाए रखने में सहायक होते हैं। इसमें मौजूद मैग्नीशियम भी कैल्शियम के साथ मिलकर हड्डी निर्माण को गति दिलाता है। जौ के 1 गिलास पानी में 11 गिलास दूध के बराबर कैल्शियम होता है। यह पेय पदार्थ आयरन से भी भरपूर होता है जिसके कारण ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) को रोकने और इसे ठीक करने में मदद मिलती है। आप भी अपनी हड्डियों को स्‍वस्‍थ रखने के लिए जौ के पानी को अपने दैनिक दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं।

जौ के पानी के गुण एंटी-एजिंग – Barle water for Anti-Aging in Hindi

जौ का पानी आपकी त्वचा को स्‍वस्‍थ रखने के साथ ही उम्र बढ़ने संबंधी लक्षणों को कम करता है। जौ के पानी में विटामिन सी और एंटीऑक्‍सीडेंट की उच्‍च मात्रा होती है। जिसके कारण जौ का पानी सुपर लिक्विट फ्री रैडिकल्‍स को नष्‍ट करता है जो त्‍वचा में झुर्रियों, बारीक रेखाओं और झुलसी त्‍वचा का उपचार करने में मदद करती हैं। इस पेय पदार्थ में से‍लेनियम की भी अच्‍छी मात्रा होती है जो त्‍वचा की लोच को बनाए रखने में सहायक होता है। इस तरह से आप समय से पहले आने वाले बुढ़ापे के संकेतों को दूर करने के लिए जौ के पानी का नियमित सेवन कर सकते हैं।

जौ का पानी मुंहासों का उपचार करे – Barley water for treat Acne in Hindi

त्‍वचा के छिद्रों में मौजूद गंदगी और सीबम की अधिक मात्रा मुंहासों का कारण बन सकती है। लेकिन अपने त्‍वचा छिद्रों को साफ करने का प्राकृतिक उपाय जौ का पानी हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि जौ के पानी में इजेइलिक एसिड (Azelaic acid) नामक एक एंटी-इंफ्लामेटरी यौगिक होता है। यह यौगिक त्‍वचा में मौजूद गंदगी को दूर करने में प्रभावी होता है जिससे मुंहासों को होने से रोका जा सकता है। साथ ही यह त्‍वचा की सूजन को भी कम करने में प्रभावी होता है। इस प्रकार के लाभ प्राप्‍त करने के लिए आप जौ के पानी का नियमित सेवन करने के साथ ही इस पानी से चेहरे की सफाई भी कर सकते हैं।

जौ के पानी के फायदे विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट के लिए – Barley water Rich in vitamins and antioxidants

शायद आपको यह जानकर हैरानी हो कि जौ का पानी विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट्स में समृद्ध होता है इसमें विटामिन बी, फोलेट, आयरन, तांबे और मैग्नीशियम जैसे जरूरी मिनरल्स भी बड़ी मात्रा में पाए जाते हैं जौ के पानी में एंटीआक्सीडेंट भी पाए जाते हैं जो कि आपके स्वास्थ्य लाभ में योगदान करते हैं क्योंकि वे आपके शरीर के अंगों पर ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण मुक्त कणों से छुटकारा पाने के दौरान स्वस्थ सेल का विकास करने में सक्षम होते हैं

जौ के पानी के फायदे करें पाचन में सुधार – Barley water for Improves digestion

अनाज जैसे कि जौ में पाचन फाइबर की उच्च मात्रा पाई जाती है आपके पेट से खाने को पचाने के लिए आपके शरीर को फाइबर की आवश्यकता होती है जब आप जौ का पानी पीते हैं तो आप इस उच्च फाइबर की मात्रा को अपने शरीर में जोड़ लेते हैं इसका मतलब यह होता है कि आपके शरीर में विषाक्त पदार्थों को बाहर करने और आपके शरीर को हाइड्रेट रखने में सहायता प्राप्त होती है शोध से यह पता चला है कि जौ के पानी में घुलनशील फाइबर पाया जाता है

जौ का पानी करें कैंसर के खतरे को कम – Barley water May reduce risk of cancer

अभी हाल ही में किए गए कैंसर से संबंधित कई अनुसंधान में कैंसर के खतरे को कम करने के लिए आहार और जीवन शैली का विशेष महत्व बताया गया है जौ मैं फाइबर की मात्रा अधिक होने से पाचन के दौरान विषाक्त पदार्थ को बाहर निकालने के लिए एक अच्छा कारक साबित होता है जौ के पानी का सेवन आपके शरीर की बड़ी आंत की रक्षा करने में मदद करता है इसमें फाइबर के अलावा फेरुलिक (ferulic) एसिड होता है जो कि बढ़ रहे ट्यूमर को खत्म करने के लिए आवश्यक होता है एक अध्ययन में पाया गया है कि जौ में पाए जाने वाले एंटीआक्सीडेंट द्वारा कोलन कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि को रोका जा सकता है

जौ का पानी गर्मी शांत करने के लिए Barley water for summer heat in hindi

शरीर को हाइड्रेट करने के अलावा यह अपने प्राकृतिक ठंडक और आरामदायक गुणों से आंतरिक शरीर की गर्मी का भी इलाज करता है। इसके अलावा, यह स्वस्थ पेय शरीर को पोषण प्रदान करता है और रक्त परिसंचरण में सुधार लाता है। अपने जौ के पानी को और भी प्रभावी बनाने के लिए, आप इसमें ताज़ा नींबू का रस और मिश्री मिला सकते हैं।

जौ के पानी के फायदे बढ़ाएं आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को – jau ka pani for immune system in hindi

Barley water जौ मैं फ्री रेडिकल के अलावा विटामिंस और मिनरल्स भी पाए जाते हैं जौ का पानी आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली का समर्थन कर इम्यूनिटी पावर को मजबूत बनाने का कार्य करता है जब भी आप जौ का पानी पीते हैं जिसका स्वाद खट्टा नींबू के जैसा होता है तो आप को उस पानी से विटामिन सी का एक रूप प्राप्त होता है जो आपके स्वस्थ रहने के लिए फायदेमंद होता है

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय)

जौ के पानी के फायदे बालों के लिए – Barley water benefits for hair in Hindi

जौ का पानी स्‍वास्‍थ्‍य के साथ ही बालों के लिए भी फायदेमंद होता है। जौ के पानी नियासिन, थियामिन और प्रोसीएनिडिन बी-3 (Procyanidin B-3) की उपस्थिति होती है। ये सभी घटक बालों में वृद्धि करने में सहायक होते हैं। जिसके कारण आप अपने बालों को घना, लंबा और मजबूत बना सकते हैं। जौ के पानी में तांबा और आयरन भी अच्‍छी मात्रा में होते हैं जो लाल रक्‍त कोशिकाओं के उत्‍पादन को बढ़ाता है। जिससे एनीमिया होने की संभावना कम हो जाती है। एनीमिया बालों के झड़ने के लिए भी जिम्‍मेदार होता है। इस तरह से आप अपने बालों संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए जौ के पानी का नियमित सेवन कर सकते हैं।

क्‍या जौ का पानी रोज पीना चाहिए – Can We Drink Barley Water Daily in Hindi

औषधीय गुणों और स्‍वास्‍थ्‍य लाभों को देखते हुए रोज जौ का पानी पीना फायदेमंद होता है। दैनिक उपभोग के लिए जौ का पानी पूरी तरह से सुरक्षित है। विशेष रूप से जौ का पानी पीना गर्भवती और स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए अधिक फायदेमंद होता है। इसके अलावा बुजुर्ग लोगों को कब्‍ज और अन्‍य पाचन संबंधी समस्‍याओं को दूर रखने के लिए जौ के पानी का उपयोग किया जा सकता है। गर्मी के मौसम में जौ के पानी पीना शरीर को ठंडा रखने में मदद मिलती है। क्‍योंकि इसमें शीतलन प्रभाव होते हैं।

जौ का पानी पीने का सही समय – Best Time To Drink Barley Water in Hindi

जौ के पानी पीने का सबसे अच्‍छा समय दिन के किसी भी समय हो सकता है। क्‍योंकि जौ का पानी पीने के लिए किसी विशेष समय का निर्धारण नहीं किया गया है। हालांकि औषधीय और स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक पेय पदार्थों को सुबह के समय पीना अधिक फायदेमंद होता है। आप भी अपने सुबह के नाश्‍ते के साथ या नाश्‍ते से पहले जौ के पानी का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा आप दोपहर के भोजन के पहले या बाद में सूप के रूप में भी कर सकते हैं। इस तरह से आप दिन के किसी भी समय जौ के पानी का सेवन कर सकते हैं। पीने के समय के आधार पर यह किसी भी समय पूरी तरह से सुरक्षित है।

प्रतिदिन कितना जौ का पानी पीना चाहिए – How Much Barley Water Drink Per Day in Hindi

सामान्‍य रूप से प्रतिदिन 2 से 3 गिलास जौ के पानी का सेवन फायदेमेंद होता है। लेकिन यदि आपको ग्‍लूटेन संबंधी एलर्जी है तब आपको जौ के पानी का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए। हालांकि जौ के पानी की यह खुराक उन लोगों के लिए अधिक फायदेमंद होती है जो मूत्र पथ के संक्रमण का सामना करते हैं। जौ का पानी शरीर में मौजूद विषाक्‍त पदार्थों और बैक्‍टीरिया को बाहर निकाल सकता है। जौ के पानी का अधिक मात्रा में सेवन करने का एक मात्र दुष्‍प्रभाव यह है कि इसमें मूत्रवर्धक गुण होते हैं। जिससे आपको बार-बार पेशाब जाने की इच्‍छा होती है।

जौ का पानी कैसे स्‍टोर करें – How to Store Barley Water in Hindi

ताजा जौ के पानी पीने का फायदा सबसे ज्‍यादा होता है। हालांकि कुछ लोगों के लिए ताजा जौ का पानी प्राप्‍त करना या बनाना मुश्किल हो सकता है। इसलिए जौ के पानी को कुछ दिनों तक सुरक्षित रखा जा सकता है। यदि आप कुछ दिनों के लिए जौ के पानी को स्‍टोर करके रखना चाहते हैं तो किसी एयरटाइट सील बंद कांच की बोतल या जार का उपयोग कर सकते हैं। इस पानी को 2 से 3 दिनों तक फ्रिज में रखने से उपयोग करने योग्‍य बना रहता है। लेकिन ध्‍यान रखें जौ का पानी 2 से 3 दिनों के बाद स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक हो सकता है।

जौ के पानी के नुकसान और जोखिम – Side effects and risks of Barley water in hindi

सिर्फ इसलिए कि जौ के पानी के कई स्वास्थ्य लाभ हैं इसका मतलब यह नहीं है कि आपको इसकी उच्च मात्रा का उपयोग करना शुरू कर देना चाहिए जौ के पानी में कृत्रिम शर्करा या मिठास की उच्च सांद्रता होती है

  • जब भी आप कभी प्रोसेस और पैकेज जौ के पानी का सेवन करें तो उसने मिलाई गई सामग्री के बारे में ध्यान से पढ़ें और उसके बाद ही उसे पीने के लिए इस्तेमाल करें
  • बहुत से जौ के पानी में फाइबर की मात्रा अधिक होने के कारण आपको कब्ज या फिर दस्त की शिकायत हो सकती है
  • जौ की पानी में बहुत अधिक कैलोरी की मात्रा पाई जाती है इसलिए आपको ध्यान रखना है कि एक ही बार में बहुत ज्यादा जौ कि पानी का सेवन ना करें
  • यह एक लस युक्त अनाज भी है इसलिए इसे सलिअक रोग या ग्लूटेन असहिष्णुता वाले लोगों को नहीं लेना चाहिए

ऊपर के लेख में आप ने जाना जौ के पानी के फायदे स्वास्थ्य लाभ और नुकसान के बारे में जौ के पानी में फाइबर विटामिन और खनिजों की अच्छी मात्रा पाई जाती है जो एक स्वादिष्ट और सरल पेय माना जाता है जौ का पानी आपके पाचन तंत्र को सही बनाता है और आपके वजन को कम करता है इसको पीने से आपको हृदय रोग और मधुमेह जैसे रोगों से बचने में मदद मिल सकती है

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration