वजन कम करने के लिए त्रिफला का उपयोग – How to Use Triphala For Weight Loss in Hindi

वजन कम करने के लिए त्रिफला का उपयोग – How to Use Triphala For Weight Loss in Hindi
Written by Jaideep

Triphala For Weight Loss in Hindi वजन कम करने के लिए त्रिफला का उपयोग किया जा सकता है कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का कारण मोटापा होता है। आप वेट लॉस के लिए त्रिफला का उपयोग कर सकते हैं। आज वजन बढ़ना न केवल पुरुषों बल्कि महिलाओं के लिए भी बड़ी समस्‍या है। क्‍या आप भी बेली फैट या थुलथुले पेट को कम करना चाहते हैं। निश्चित ही बॉडी फैट को कम करना मुश्किल काम है क्‍योंकि वजन घटाने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है।

अगर आप वजन कम करने के तरीके अपनाकर थक चुके हैं तो त्रिफला को आजमा सकते हैं। त्रिफला का इस्‍तेमाल वजन घटाने के साथ ही अन्‍य हेल्‍थ बेनिफिट्स दिला सकता है। त्रिफला का प्रयोग बॉडी को डिटॉक्‍स करने और मेटाबॉलिज्‍म को बढ़ाने में सहायक होता है। जिससे वजन कम करने में मदद मिल सकती है। इस लेख में हम मोटापा कम करने के लिए आसान उपाय त्रिफला का उपयोग करने की जानकारी दे रहे हैं।

  1. त्रिफला चूर्ण क्‍या है – Triphala Churna Kya Hai in Hindi
  2. वजन घटाने के लिए त्रिफला – Triphala For Weight Loss in Hindi
  3. त्रिफला के घटकों के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ – Health benefits of Triphala components in Hindi
  4. वजन घटाने के लिए त्रिफला चूर्ण के फायदे – Triphala Churna Benefits for Weight Loss in Hindi
  5. वजन घटाने के लिए त्रिफला का उपयोग कैसे करें – How To Take Triphala For Weight Loss in Hindi

त्रिफला चूर्ण क्‍या है – Triphala Churna Kya Hai in Hindi

त्रिफला चूर्ण क्‍या है – Triphala Churna Kya Hai in Hindi

त्रिफला एक पांपरिक आयुर्वेदिक औषधि है जिसे सदियों से कई हेल्‍थ समस्‍याओं को दूर करने के लिए उपयोग किया जा रहा है। त्रिफला के नाम से ही पता चलता है कि इसे तीन फलों के मिश्रण से बनाया जाता है। त्रिफला में उपयोग किये जाने वाले तीनों फलों में औषधीय गुण भरपूर मात्रा में होते हैं। इन तीनों फलों में आंवला (Emblica Officinalis), बहेड़ा (black myrobalan) और हर्र या हरितकी (Haritaki) शामिल हैं। इन तीनों फलों के औषधीय गुणों के कारण त्रिफला को कई आयुर्वेदिक दवाओं का मिश्रण माना जाता है। त्रिफला चूर्ण का उपयोग जीवन आयु को बढ़ाने और कई गंभीर बीमारियों को रोकने में भी प्रभावी माना जाता है। आप अपने शरीर में मौजूद अतिरिक्‍त वसा को कम करने के लिए त्रिफला चूर्ण का उपयोग कर सकते हैं। इसलिए वजन घटाने वाले उपाय के रूप में त्रिफला चूर्ण आपको लाभ दिला सकता है।

(और पढ़े – त्रिफला चूर्ण के फायदे और नुकसान…)

वजन घटाने के लिए त्रिफला – Triphala For Weight Loss in Hindi

वजन घटाने के लिए त्रिफला – Triphala For Weight Loss in Hindi

मोटापे से परेशान लोगों के लिए त्रिफला एक आयुर्वेदिक और प्रभावी औषधी है। त्रिफला का इस्‍तेमाल शरीर से विषाक्‍त पदार्थों को बाहर निकालने, पेट की छोटी और बड़ी आंत को स्‍वस्‍थ रखने में मदद करता है। त्रिफला एक प्रकार से कोलन टोनर (colon toner) के रूप में कार्य करता है और पेट के ऊतकों को मजबूत करने में मदद करता है। जिससे मोटे लोगों को अपना वजन कम करने में आसानी होती है। यह औषधीय और आयुर्वेदिक जड़ी बूटी कब्‍ज और पाचन तंत्र संबंधी अन्‍य समस्‍याओं को भी कम करने में प्रभावी होती है। नियमित रूप से त्रिफला का सेवन करना आपके शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को भी नियंत्रित करने में सहायक होता है। खराब कोलेस्‍ट्रॉल की उच्‍च मात्रा कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के साथ ही मोटापे का प्रमुख कारण होता है।

(और पढ़े – 1 चम्मच त्रिफला चूर्ण, मोटापा करेगा दूर…)

त्रिफला के घटकों के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ – Health benefits of Triphala components in Hindi

क्या आप जानते हैं कि, त्रिफला चूर्ण में उपयोग किये जाने वाले तीनों घटकों के अपने-अपने विशेष स्‍वास्‍थ्‍य लाभ हैं। आइए जाने त्रिफला के तीनों घटक हमारे लिए किस प्रकार से लाभकारी होते हैं।

त्रिफला चूर्ण में आंवला के फायदे- Amla Benefits in Triphala powder in Hindi

त्रिफला चूर्ण में आंवला के फायदे- Amla Benefits in Triphala powder in Hindi

आपको जानकर हैरानी होगी कि केवल आंवला ही ऐसा फल है जिसमें लगभग 5 स्‍वाद होते हैं। ऐसा माना जाता है कि स्‍वस्‍थ रहने के लिए सभी स्‍वाद वाले खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाना चाहिए। आंवला में एंटीऑक्‍सीडेंट की उच्‍च मात्रा होती है जो हमारे शरीर से विषाक्‍त पदार्थों को निकालने में मदद करता है। यह औषधीय अग्न्‍याशय के स्‍वास्‍थ्‍य को नियंत्रित करता है। कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को नियंत्रित करता है और हड्डियों को मजबूत करता है। त्रिफला चूर्ण में मौजूद आंवला के अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य लाभ इस प्रकार हैं।

कोलेस्‍ट्रॉल कम करे

आंवला में फ्लेवोनॉयड्स होते हैं जो रक्‍त सीरम में लिपिड के स्‍तर को कम करते हैं। जिससे यह कोलस्‍ट्रॉल के संश्‍लेषण को कम करने में सहायक होता है। एक अध्‍ययन से यह पता चलता है कि मौखिक आधार पर त्रिफला चूर्ण या आंवले के चूर्ण का सेवन करने पर यह एलडीएल कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम करने में प्रभावी योगदान दे सकता है। (और पढ़े – हाई कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय…)

ब्‍लड शुगर को कम करे

अध्‍ययनों से पता चलता है कि आंवला का सेवन रक्‍त शर्करा के स्‍तर को नियंत्रित करने में सहायक होता है। भूखे या खाली पेट में ब्‍लड शुगर (Fasting Blood Sugar) की मात्रा और एचबीए 1 सी दोनों को नियंत्रित करने में आंवला मदद करता है। (और पढ़े – नॉर्मल शुगर लेवल कितना होना चाहिए और कैसे करें जांच…)

एनीमिया को रोके

आंवला का सेवन करना आपको एनीमिया या रक्‍त की कमी संबंधी समस्‍याओं से बचा सकता है। नियमित रूप से त्रिफला पाउडर या आंवले का सेवन करने से रक्‍त में लाल रक्‍त कोशिकओं या हीमोग्‍लोबिन के स्‍तर को बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

श्वसन तंत्र को स्‍वस्‍थ रखे

आवंले का नियमित सेवन करना आपके फेफड़ों और श्वसन तंत्र के लिए अच्‍छा होता है। इसके अलावा आंवला ब्रोंकाइटिस, अस्‍थमा और खांसी के लिए भी उपयोगी होता है। इस प्रकार के लाभ प्राप्‍त करने के लिए आप त्रिफला चूर्ण का भी सेवन कर सकते हैं।

प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाये

आंवले को आयुर्वेद में सबसे प्रभावी औषधी माना जाता है। आवंला का सेवन करना आपकी ताकत को बढ़ाने में मदद करता है। यह हड्डियों के घनत्‍व को बढ़ाने और शरीर को फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से बचाने में भी अहम योगदान देता है।

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

आंवला के गुण

आंवले में नमकीन स्‍वाद को छोड़कर लगभग सभी स्‍वाद होते हैं जैसे मीठा, खट्टा, कड़वा, तीखा और कसैला। आंवले की तासीर ठंडी होती है। आंवले का नियमित सेवन तीनो दोषों वात, पित्‍त और कफ को नियंत्रित करने में मदद करता है।

(और पढ़े – आंवला के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान…)

त्रिफला पाउडर में बहेड़ा के फायदे –  Black Myrobalan For Weight Loss in Hindi

त्रिफला पाउडर में बहेड़ा के फायदे -  Black Myrobalan For Weight Loss in Hindi

बहेड़ा को बहुत से लोग बिभितकी के नाम से भी जानते हैं। ब्‍लैक मैरोबालन कोलेस्‍ट्रॉल के उच्‍च स्‍तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। साथ ही यह मांसपेशियों और हड्डियों को स्‍वस्‍थ और मजबूत रखने में सहायक होता है। बहेड़ा को बेलिरिक मिरोब्‍लांस (Belliric Myrobalans) या टर्मिनलिया बेलिका (Terminalia belerica) के रूप में भी जाना जाता है जो कि इसका वनस्‍पतिक नाम है। त्रिफला चूर्ण में उपयोग किये जाने वाले बहेड़ा के अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य लाभ इस प्रकार हैं।

कोलेस्‍ट्रॉल कम करे

बहेड़ा के औषधीय गुण रक्‍त में कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। इसके अलावा नियमित रूप से त्रिफला चूर्ण या बहेड़ा पाउडर का सेवन स्‍वस्‍थ प्‍लाज्मा, मांसपेशियों और हड्डियों को बढ़ावा देता है।

मोटापा कम करे

बहेड़ा में एंटी- ओवेसिटी (anti-obesity) गुण होते हैं। जिसके कारण यह वजन को प्रबंधित करने वाली विशेष औषधी माना जाता है। नियमित रूप से त्रिफला पाउडर या टर्मिनलिया बेलिरिका के फल का सेवन करना शरीर के वजन को नियंत्रित करने में सहायक होता है। (और पढ़े – तोंद कम करने और वजन घटाने के लिए आयुर्वेदिक तरीके…)

विषाक्‍तता को दूर करे

वजन घटाने के लिए बॉडी को डिटॉक्‍स करना बहुत जरुरी होता है आप अपनी बॉडी को डिटॉक्‍स करने या शरीर से विषाक्‍त पदार्थों को दूर करने के लिए बहेड़ा के चूर्ण का सेवन कर सकते हैं। इससे आपको शरीर पर जमी अतिरिक्त चर्बी को कम करने में मदद मिलेगी।

बहेड़ा के अन्‍य लाभ

बहेड़ा का सेवन करना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही अच्‍छा माना जाता है। क्‍योंकि बहेड़ा में कई पोषक तत्‍व और औषधीय गुण होते हैं जो हमे स्‍वस्थ रखने में अहम योगदान देते हैं। जैसे कि :

  • एंटीऑक्‍सीडेंट
  • एंटीमाइक्रोबियल (antimicrobial)
  • एंटीडायरेहियल (antidiarrheal)
  • एंटीडायबिटिक (antidiabetic)
  • दर्द नाशक (analgesic)
  • इम्‍युनोमोड्यूलेटरी (immunomodulatory)
  • एंटीहाइपरटेंसिव (antihypertensive)
  • हेपेटोप्रोटेक्टिव (hepatoprotective)
  • एंटीस्‍पास्‍मोडिक (antispasmodic)
  • ब्रोन्‍कोडायलेटर (bronchodilator)

बहेड़ा के गुण – आयुर्वेद में बहेड़ा को एक कायाकल्‍प जड़ी बूटी (rejuvenative herb) के रूप में उपयोग किया जाता है। यह जड़ी बूटी कफ दोष को दूर करने के लिए टॉनिक का काम करती है। इसके अलावा यह मधुमेह, गठिया और उच्‍च रक्‍तचाप का उपचार करने में भी सहायक है। बहेड़ा स्‍वाद में तीखा और पचने में आसान होता है। पाचन के बाद इसका प्रभाव मीठा होता है। बहेड़ा तासीर में गर्म होता है जो विशेष रूप से तीनों दोषों को प्र‍बंधित करने में सहायक होता है।

(और पढ़े – जड़ी बूटियां जो आपका वजन कम करने और मोटापा घटाने में हैं मददगार…)

त्रिफला चूर्ण में हर्र के फायदे – Haritaki For weight loss in Triphala Churna in Hindi

त्रिफला चूर्ण में हर्र के फायदे - Haritaki For weight loss in Triphala Churna in Hindi

हरिताकी एक अखरोट के आकार का फल होता है जो स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद फायदेमंद होता है। हर्र को दवाओं का राजा भी कहा जाता है। इसे चेबुलिक मिरोबलन (Chebulic Myrobalan) या टर्मिनलिया चेबुला (Terminalia chebula) भी कहा जाता है जो कि इसका वानस्‍पतिक नाम है। इसमें भी एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण भरपूर मात्रा में होते हैं। हरीताकि के औषधीय गुण गले की खराश, एलर्जी, कब्‍ज और अपच जैसी कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के लिए फायदेमंद होता है।

हरीताकि के अन्‍य लाभ – हर्र या हरिताकि एंटी-एजिंग के रूप में कार्य करता है। इसमें बहुत ही शक्तिशाली एंटीऑक्‍सीडेंट होते हैं जो हमारी त्वचा कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्‍स से बचाने में सहायक होते हैं।

(और पढ़े – हरीतकी (हरड़) के फायदे और नुकसान…)

वजन घटाने के लिए त्रिफला चूर्ण के फायदे – Triphala Churna Benefits for Weight Loss in Hindi

वजन घटाने के लिए त्रिफला चूर्ण के फायदे – Triphala Churna Benefits for Weight Loss in Hindi

हम सभी के मन में यह प्रश्‍न उठता है कि वजन घटाने में त्रिफला चूर्ण किस प्रकार मदद करता है। आइए जाने वजन घटाने में त्रिफला चूर्ण किस प्रकार प्रत्‍यक्ष और अप्रत्‍यक्ष रूप से हमारी मदद कर सकता है।

त्रिफला चूर्ण ग्‍लूकोज के स्‍तर को नियंत्रित करे

अध्‍ययनों से पता चलता है कि त्रिफला चूर्ण रक्‍त शर्करा के स्‍तर को कम करने में प्रभावी होता है। जिससे ग्‍लाइकेशन (glycation) को रोकने में मदद मिलती है। इस प्रकार यह डायबिटीज के लक्षणों को कम करने में सहायक होता है। रक्‍त शर्करा को नियंत्रित करने के साथ ही यह कोलेस्‍ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड्स (triglycerides) और कम घनत्‍व वाले लिपोप्रोटीन (lipoprotein) कोलेस्‍ट्रॉल को भी कम करता है। जिससे शरीर में मौजूद अतिरिक्‍त वसा को कम करने में मदद मिलती है। इस प्रकार आप त्रिफला चूर्ण का नियमित सेवन कर अपने मोटापे को कम कर सकते हैं।

त्रिफला चूर्ण में एंटरों-प्रोटेक्टिव गुण होते हैं

तीन प्रमुख जड़ी बूटियों के संयुक्‍त प्रभाव के कारण त्रिफला वात, पित्त और कफ तीनों दोष को संतुलित करने में सहायक होता है। जिससे पाचन संबंधी सभी प्रकार की समस्‍याओं से छुटकारा मिल सकता है। उचित पाचन तंत्र आपके बढ़ते वजन को नियंत्रित करने और आपके शरीर को उचित वजन प्राप्‍त करने में प्रभावी माना जाता है।

त्रिफला के गुण कब्‍ज को रोके

त्रिफला चूर्ण में फाइबर की अच्‍छी मात्रा होती है जिसके कारण यह पाचन के लिए बहुत ही अच्‍छा माना जाता है। यह आंतों के स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने और मल त्‍याग को आसान बनाने में सहायक होता है। जिससे कब्‍ज की समस्‍या से छुटकारा पाया जा सकता है। कब्‍ज और पाचन तंत्र की अन्‍य समस्‍याएं दूर करने के साथ ही यह वजन प्रबंधन में भी अहम भूमिका निभाता है। क्‍योंकि त्रिफला का सेवन करना शरीर में मौजूद विषाक्‍तता को आसानी से बाहर निकाल सकता है। साथ ही यह शरीर में तरल पदार्थों को  अपने सामान्‍य स्‍तर पर बनाए रखने में मदद करता है।

(और पढ़े – वजन और मोटापा कम करने के लिए क्या खाएं क्या न खाए…)

वजन घटाने के लिए त्रिफला का उपयोग कैसे करें – How To Take Triphala For Weight Loss in Hindi

वजन घटाने के लिए त्रिफला का उपयोग कैसे करें – How To Take Triphala For Weight Loss in Hindi

सामान्‍य रूप से आप त्रिफला चुर्ण का सेवन कर कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर कर सकते हैं। यहां पर उचित लाभ प्राप्‍त करने के लिए त्रिफला चूर्ण का उपयोग करने के कुछ तरीके बताए गए हैं। जिनका इस्‍तेमाल करना आपको वजन घटाने में मदद कर सकता है।

त्रिफला का उपयोग ठंडे पानी के साथ – Triphala powder with cold water in Hindi

आप एक गिलास ठंडा पानी लें और इसमें 2 चम्‍मच त्रिफला चूर्ण मिलाएं। इस मिश्रण को रात भर भीगने दें और अगली सुबह इसे खाली पेट सेवन कर सकते हैं।

त्रिफला चूर्ण शहद और दालचीनी के साथ – Triphala Churna with honey, and cinnamon in Hindi

एक गिलास पानी में एक चम्‍मच त्रिफला चूर्ण और दालचीनी पाउडर को मिलाएं। इस मिश्रण को भी रात भर के लिए ढक कर रख दें। अगली सुबह इस मिश्रण में 1 चम्‍मच शहद मिलाएं और खाली पेट इस मिश्रण का सेवन कर सकते हैं। (और पढ़े –  दालचीनी और शहद के फायदे…)

वजन घटाने के लिए त्रिफला टेबलेट – Triphala tablet For Weight Loss in Hindi

आप त्रिफला चुर्ण का सेवन करने के साथ ही त्रिफला टेबलेट का भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। आप नियमित रूप से त्रिफला की एक टेबलेट को रात में सोने से पहले सेवन कर सकते हैं।

त्रिफला की चाय वजन कम करने के लिए – Triphala Tea For Weight Loss in Hindi

उचित लाभ प्राप्‍त करने के लिए आप त्रिफला चूर्ण से बनी चाय या काढ़े का भी सेवन कर सकते हैं। त्रिफला की चाय बनाने के लिए आप 1 कप पानी को अच्‍छी तरह से उबालें और इसमें 1 चम्‍मच त्रिफला पाउडर मिलाएं। इस मिश्रण को कुछ देर पकाएं और कप में निकाल लें। थोड़ा ठंडा होने के बाद आप इसे अधिक स्‍वादिष्‍ट बनाने के लिए 1 चम्‍मच नींबू के रस को भी मिला सकते हैं।

निष्‍कर्ष –

इस लेख में वजन घटाने के लिए त्रिफला चूर्ण से प्राप्‍त लाभ और उपयोग करने का तरीका बताया गया है। लेकिन इस लेख में बताई गई जानकारी उपचार प्रक्रिया का विकल्‍प नहीं है। यह लेख चिकित्‍सक की सलाह का विकल्‍प नहीं माना जाना चाहिए। इस चूर्ण का उपभोग करने से पहले आपको अपने चिकित्‍सक की सलाह लेना आवश्‍यक है। क्‍योंकि आपकी स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी और शारीरिक स्थिति का अनुभव केवल आपके चिकित्‍सक को होता है। इसलिए आपके चिकित्‍सक की सलाह सर्वोपरि है।

(और पढ़े – इन आयुर्वेदिक ड्रिंक का सेवन कर पाएं पेट की चर्बी से हमेशा के लिए निजात…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration