भिंडी का पानी पीने के फायदे और नुकसान – Okra Juice Benefits And Side Effects In Hindi
पेय

भिंडी का पानी पीने के फायदे और नुकसान – Okra Juice Benefits And Side Effects In Hindi

भिंडी का पानी पीने के फायदे और नुकसान – Okra Juice Benefits And Side Effects In Hindi

Okra Juice Benefits In Hindi: भिंडी एक लोकप्रिय सब्जी है जिसे बहुत से लोग ओकरा (Okra) के नाम से जानते हैं। भिंडी के पानी के फायदे इसमें मौजूद पोषक तत्‍वों और खनिज पदार्थो के कारण होते हैं। लेडी फिंगर विशेष रूप से भारत जैसे देशों में खाद्य सब्जी के लिए व्‍यापक रूप से उपयोग की जाती है। आप सोच रहे होगें कि भिंडी का पानी पीने से क्‍या फायदा होता है। भिंडी पानी फॉर डायबिटीज इसका मतलब यह है कि भिंडी का पानी मुख्‍य रूप से मधुमेह रोगीयों के लिए फायदेमंद होता है। हालांकि नियमित रूप से भिंडी का पानी पीने का फायदा कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं जैसे एनीमिया, कोलेस्‍ट्रॉल को कम करना, कब्‍ज का इलाज करना, प्रतिरक्षा को बढ़ाने और त्‍वचा समस्‍याओं को दूर करने में आदि में होता है। आज इस आर्टिकल में आप भिंडी का पानी पीने के फायदे और नुकसान संबंधी जानकारी प्राप्‍त करेगें।

विषय सूची

भिंडी का पानी फॉर डायबिटीज – Bhindi ka pani for Diabetes in Hindi

भिंडी का पानी फॉर डायबिटीज – Bhindi ka pani for Diabetes in Hindi

लेडी फिंगर का नियमित सेवन आपको कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से बचा सकता है। इसके साथ ही नियमित रूप से भिंडी का पानी पीने के फायदे मधुमेह के लक्षणों को कम करने में सहायक होता है। भिंडी में इंसुलिन जैसे गुण होते हैं जो मधुमेह का इलाज करने में प्रभावी होते हैं। नियमित रूप से ओकरा जूस का सेवन रक्‍त शर्करा के स्‍तर को कम करने में सहायक होते हैं। इसलिए बहुत से स्‍वास्‍थ्‍य सलाहकार मधुमेह रोगी को नियमित रूप से भिंडी का सेवन करने और भिंडी के पानी पीने की सलाह देते हैं। यदि आप भी डायबिटीज रोगी हैं तो भिंडी के पानी का लाभ ले सकते हैं।

(और पढ़े – टाइप 2 मधुमेह क्या है, कारण, लक्षण, उपचार, रोकथाम और आहार…)

भिंडी का पानी ए‍नीमिया का इलाज करे – Bhindi ka pani Anemia ka ilaj kare in Hindi

भिंडी का पानी ए‍नीमिया का इलाज करे – Bhindi ka pani Anemia ka ilaj kare in Hindi

एनीमिया खून की कमी से सबंधित बीमारियों में से एक है। एनीमिया रोगी के लिए भिंडी का पानी पीना लाभकारी होता है। नियमित रूप से भिंडी का पानी पीने से शरीर में रक्‍त कोशिकाओं के उत्‍पादन को तेज किया जा सकता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि भिंडी में आयरन की उच्‍च मात्रा होने के साथ ही विटामिन A, विटामिन C और मैग्‍नीशियम आदि अच्‍छी मात्रा में होते हैं। ये सभी घटक लाल रक्‍तकोशिकाओं के उत्‍पादन में सहायक होते हैं। जिन लोगों को खून की कमी के लक्षण हों उन्‍हें ओकरा जूस का नियमित सेवन करना चाहिए। भिंडी के पानी का फायदा विशेष रूप से महिलाओं के लिए होता है जो मासिक धर्म के दौरान शरीर में रक्‍त की कमी को पूरा करने में सहायक है।

भिंडी पानी के गुण दस्‍त को रोके – Bhindi pani ke gun dast ko roke in Hindi

भिंडी पानी के गुण दस्‍त को रोके – Bhindi pani ke gun dast ko roke in Hindi

डायरिया एक गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या बन सकती है यदि समय पर उपचार न किया जाए। जिस व्‍यक्ति को डायरिया होता है स्‍वाभाविक रूप से उसके शरीर में पानी की कमी हो जाती है। साथ ही दस्‍त के दौरान शरीर में मौजूद पोषक तत्व और खनिज पदार्थों की भी कमी आ सकती है। ऐसी स्थिति में रोगी के लिए भिंडी का पानी फायदेमंद होता है। भिंडी पानी के गुण दस्‍त के प्रभाव और लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं। दस्‍त के दौरान खोए हुए पानी और पोषक तत्‍वों की पुन: प्राप्ति के लिए भिंडी का पानी पीना लाभदायक होता है।

(और पढ़ें – दस्‍त (डायरिया) के दौरान क्‍या खाएं और क्‍या ना खाएं)

भिंडी पानी के औषधीय गुण कोलेस्‍ट्रॉल कम करे – Bhindi pani ke aushadhiya gun Cholesterol kam kare in Hindi

भिंडी पानी के औषधीय गुण कोलेस्‍ट्रॉल कम करे – Bhindi pani ke aushadhiya gun Cholesterol kam kare in Hindi

जिन लोगों को उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल की शिकायत होती है उन्‍हें भिंडी के पानी का उपयोग करना चाहिए। भिंडी के पानी में बहुत अधिक मात्रा में घुलनशील फाइबर होते हैं जो शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को नियंत्रित करने में सहायक होते हैं। कोलेस्‍ट्रॉल की अधिक मात्रा रक्‍तवाहिकाओं और हृदय दोनों के लिए हानिकारक हो सकती है। इसलिए अपने शरीर में आप कोलेस्‍ट्रॉल की उचित मात्रा को बनाए रखने के लिए भिंडी के पानी को अपने दैनिक आहार में शामिल कर सकते हैं।

(और पढ़ें – हाई कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय)

भिंडी के पानी का उपयोग प्रतिरक्षा बढ़ाये – Bhindi ke panika Upyog immunity Badhaye in Hindi

भिंडी के पानी का उपयोग प्रतिरक्षा बढ़ाये – Bhindi ke panika Upyog immunity Badhaye in Hindi

हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली हमारे शरीर को कई बीमारियों से बचाने में मदद करती है। लेकिन यदि प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो तो आप बार-बार सर्दी, खांसी, बुखार जैसी समस्‍याओं से परेशान हो सकते हैं। भिंडी का पानी आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर करने में सहायक होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि भिंडी के जूस में विटामिन सी और एंटीऑक्‍सीडेंट की उच्‍च मात्रा होती है। विटामिन सी और एंटीऑक्‍सीडेंट हमारे शरीर को फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से बचाने और प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने में सहायक होते हैं। यदि आप भी बार-बार होने वाले वायरल संक्रमण से प्रभावित हैं तो भिंडी के पानी का नियमित सेवन करें।

(और पढ़ें – रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्यूनिटी) बढ़ाने वाले 14 खाद्य पदार्थ)

ओकरा जूस बेनिफिट्स फॉर स्किन – Okra Juice Benefits for Skin in Hindi

ओकरा जूस बेनिफिट्स फॉर स्किन – Okra Juice Benefits for Skin in Hindi

आप अपनी त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए भिंडी के रस का उपयोग कर सकते हैं। नियमित रूप से भिंडी के पानी का प्रयोग करना आपकी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ रखने में सहायक होता है। भिंडी में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट रक्‍त को शुद्ध करने और मुंहासों सहित त्‍वचा की अन्‍य समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होते हैं। मुंहासे और इसी तरह की अन्‍य समस्‍याओं का प्रमुख कारण रक्‍त की अशुद्धियां होती हैं। लेकिन भिंडी के पानी का प्रयोग कर आप स्‍वस्‍थ और सुंदर त्‍वचा प्राप्‍त कर सकते हैं।

भिंडी का पानी पीने के फायदे हड्डियों के लिए – Bhindi ka pani pine ke fayde haddiyo ke liye in Hindi

भिंडी का पानी पीने के फायदे हड्डियों के लिए – Bhindi ka pani pine ke fayde haddiyo ke liye in Hindi

भिंडी पानी के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों में हड्डियों को मजबूत बनाना भी शामिल है। भिंडी में फोलेट की उच्‍च मात्रा होती है। यह विशेष रूप से गर्भावस्‍था के दौरान मां और बच्‍चे दोनों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। नियमित रूप से भिंडी के पानी का सेवन करने से यह हड्डियों के घनत्‍व को बढ़ाता है। जिसके परिणामस्‍वरूप हड्डियों को मजबूत और स्‍वस्‍थ रखा जा सकता है। कुछ अध्‍ययन यह भी बताते हैं कि लंबे समय तक भिंडी के पानी का सेवन करने से ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) की संभावना को भी रोका जा सकता है।

(और पढ़ें – ऑस्टियोपोरोसिस होने के कारण, लक्षण और बचाव)

भिंडी पानी का प्रयोग थकान दूर करे – Bhindi pani ka prayog thakan dur kare in Hindi

भिंडी पानी का प्रयोग थकान दूर करे – Bhindi pani ka prayog thakan dur kare in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि नियमित रूप से भिंडी के पानी का सेवन करना शारीरिक और मानसिक दोनो प्रकार की थकान को कम कर सकता है। अपने शरीर को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए आप नियमित व्‍यायाम, स्‍वस्‍थ जीवनशैली के साथ नियमित रूप से भिंडी के पानी का सेवन करें। ऐसा करने से आपको व्‍यायम और दैनिक गतिविधियों के दौरान होने वाली थकान को कम करने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़ें – थकान दूर करने के उपाय)

भिंडी का पानी पीने से फायदा कब्‍ज के लिए  – Bhindi ka pani pine se fayde kabj ke liye in Hindi

भिंडी का पानी पीने से फायदा कब्‍ज के लिए  - Bhindi ka pani pine se fayde kabj ke liye in Hindi

भिंडी के पानी में घुलनशील फाइबर की उच्‍च मात्रा होती है। पर्याप्‍त मात्रा में फाइबर हमारे रक्‍त कोलेस्‍ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करता है। इसके अलावा फाइबर पाचन प्रणाली को स्‍वस्‍थ रखने और कब्‍ज की समस्‍या को दूर करने में भी प्रभावी होता है। भिंडी के पानी में प्राकृतिक रेचक (laxative) या पेट को साफ करने वाले गुण होते हैं। जिसके कारण यह पेट में मौजूद विषाक्‍तता को आसानी से दूर करने और पाचन प्रणाली को मजबूत करने में सहायक होता है।

(और पढ़ें – पाचन को मजबूत बनाने वाली एक्सरसाइज)

भिंडी का पानी पीने के लाभ अस्‍थमा के लिए – Bhindi ka pani pine ke labh Asthma ke liye in Hindi

भिंडी का पानी पीने के लाभ अस्‍थमा के लिए – Bhindi ka pani pine ke labh Asthma ke liye in Hindi

नियमित रूप से भिंडी के पानी का सेवन करना अस्‍थमा रोगी के लिए लाभकारी होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि भिंडी में एंटीऑक्‍सीडेंट की मौजूदगी श्वसनतंत्र को फ्री रेडिकल्‍स से होने वाली क्षति को रोकने में प्रभावी होते हैं। यदि आपके आसपास कोई अस्‍थमा रोगी है तो आप उसे भिंडी के पानी का सेवन करने की सलाह दे सकते हैं। भिंडी का पानी अस्‍थमा के दौरों को रोकने का सबसे अच्‍छा घरेलू उपाय होता है।

(और पढ़ें – अस्थमा (दमा) के कारण, लक्षण, उपचार एवं बचाव)

भिंडी पानी के लाभ गले की खराश रोके – Bhindi pani ke labh gale ki kharash ko roke in Hindi

भिंडी पानी के लाभ गले की खराश रोके – Bhindi pani ke labh gale ki kharash ko roke in Hindi

सर्दी के दौरान गले में खराश होना एक आम समस्‍या है। लेकिन आप भिंडी के पानी का इस्‍तेमाल कर गले की खराश को दूर कर सकते हैं। जिन लोगों को सर्दी खत्‍म होने के बाद खांसी और खराश आदि की समस्‍या होती है उन्‍हें दिन में कम से कम 2 बार भिंडी के पानी का सेवन करना चाहिए। ऐसा करने पर 1 से 2 दिनों में ही खराश के लक्षणों को कम किया जा सकता है।

(और पढ़ें – खांसी का घरेलू उपचार, ड्राई कफ हो या वेट कफ)

भिंडी के पानी का इस्‍तेमाल तनाव दूर करे – Bhindi pani ka Istemal Tanav dur kare in Hindi

भिंडी के पानी का इस्‍तेमाल तनाव दूर करे – Bhindi pani ka Istemal Tanav dur kare in Hindi

तनाव को कम करने के लिए भी भिंडी का पानी बहुत ही लाभकारी होता है। मधुमेह का प्रबंधन करने के दौरान तनाव आपके स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित कर सकता है। इसके अलावा तनाव होने की स्थिति में आपके रक्‍त में शर्करा की मात्रा में भी वृद्धि हो सकती है। लेकिन इस दौरान नियमित रूप से भिंडी के पानी का सेवन न केवल मधुमेह को नियंत्रित करता है बल्कि आपके तनाव को भी कम करता है। भिंडी पानी के यह लाभ इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-स्‍ट्रेस (anti-stress) गुणों के कारण होते हैं।

(और पढ़ें – मानसिक तनाव के कारण, लक्षण एवं बचने के उपाय)

भिंडी का पानी कैसे बनाएं – Bhindi ka pani kaise Banaye in Hindi

भिंडी का पानी कैसे बनाएं – Bhindi ka pani kaise Banaye in Hindi

भिंडी का पानी बनाना बहुत ही आसान है। भिंडी के पानी को तैयार करने के लिए आपको 4-5 मध्‍यम आकार की भिंडी, 1 कप पानी, नमक और मिर्च पाउडर (अपनी आवश्‍यकतानुसार) चाहिए।

भिंडी का पानी तैयार करने से पहले भिंडी को अच्‍छी तरह से धो लें और इसके दोनों सिरों को काटकर अलग कर दें। इसके बाद चाकू की मदद से भिंडी को बीच में फाड़ते हुए दो भाग बनाएं। अब इन कटी हुई भिंडीयों को कप के पानी में डुबोएं। इस कप को लगभग 8 घंटों के लिए छोड़ दें आप चाहें तो इसे 24 घंटों के लिए भी छोड सकते हैं। अगली सुबह या लगभग 24 घंटे के बाद आप भिंडी को पानी से निकालें और‍ निचोड़ कर सारा रस पानी में मिला लें। इसके बाद इन भिंडीयों को बाहर फेंक दें।

इस पानी को 1 गिलास में डालें और इसमें अपने स्‍वादानुसार नमक, कालीमिर्च पाउडरको मिलाएं। इन मसालों के अलावा आप इसमें अजवाइन पाउडर, मेथी पाउडर, जीरा पाउडर आदि को भी मिला सकते हैं। आपका स्‍वादिष्‍ट भिंडी का पानी पीने के लिए तैयार है।

यदि आपके पास अधिक समय नहीं है तो आप भिंडी को उबालकर भी भिंडी का पानी तैयार कर सकते हैं। लेकिन कच्‍ची भिंडी से बना भिंडी का पानी अधिक फायदेमंद होता है।

भिंडी का पानी पीने के नुकसान – Bhindi pani ke Nuksan in Hindi

भिंडी का पानी पीने के नुकसान – Bhindi pani ke Nuksan in Hindi

भिंडी के पानी का सेवन करने के फायदे बहुत अधिक हैं। लेकिन कुछ लोगों के लिए भिंडी के पानी के नुकसान भी हो सकते हैं। विशेष रूप से अधिक मात्रा में सेवन करने के दौरान।

  • कुछ लोगों को भिंडी और इस परिवार से संबंधित खाद्य पदार्थों से एलर्जी हो सकती है। जिन लोगों को भिंडी से एलर्जी है उन्‍हें भिंडी के पानी का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • अधिक फाइबर की मौजूदगी के कारण आवश्‍यकता से अधिक मात्रा में सेवन करने पर भिंडी का पानी पेट दर्द, दस्‍त, उल्‍टी और अन्‍य समस्‍याओं का कारण बन सकता है।
  • यदि आप मधुमेह रोगी हैं और दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो भिंडी के पानी का सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से अनुमति प्राप्‍त करें। अन्‍यथा आपके शरीर में रक्‍त शर्करा का स्‍तर बहुत ही कम हो सकता है।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration