कफ (बलगम) निकालने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Phlegm in Hindi

कफ (बलगम) निकालने के घरेलू उपाय - Cough Nikalne Ke Gharelu Upay Nuskhe In Hindi
Written by Deepti

कफ निकालने के घरेलू उपाय जुकाम और अन्‍य ऊपरी श्वसन संक्रमण के लक्षणों को कम कर सकते हैं। कफ का आना कोई गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या नहीं है लेकिन कफ बनने का कारण लोगों की असुविधा का कारण बन सकता है। लेकिन यदि समय पर कफ का इलाज या कफ निकालने के लिए घरेलू उपाय समय पर न लिए जाएं तो गंभीर स्थिति बन सकती है। कफ (बलगम) निकालने के उपाय अपनाकर आप ब्रोन्कियल नलियों को अवरूद्ध होने और जलन को रोक सकते हैं। कफ निकालने के घरेलू उपाय आमतौर पर गले की सफाई, लगातार खांसी, नाक से पानी आना, सांस लेने में दिक्‍कत और शारीरिक कमजोरी आदि को दूर कर सकते है। छाती में कफ जमने पर क्‍या करें एक सामान्‍य प्रश्‍न है।

आज इस आर्टिकल में आप कफ निकालने के घरेलू उपाय और तरीके जानेगें। आइए जाने कफ बनने का कारण और उसे निकालने के घरेलू नुस्खे क्‍या हैं।

  1. कफ क्‍या है – Kaf kya hai in Hindi
  2. छाती में कफ जमने का कारण – Chati me kaf jamne ka karan in Hindi
  3. कफ निकालने के घरेलू उपाय – Kaf nikalne ke gharelu upay in Hindi

कफ क्‍या है – Kaf kya hai in Hindi

कफ क्‍या है – Kaf kya hai in Hindi

कफ एक मोटा और चिपचिपा पदार्थ होता है जिसे बलगम भी कहा जाता है। कफ अक्‍सर बीमार होने या जुकाम होने के दौरान गले में जमा हो जाता है। संक्रमण और प्रतिरक्षा शक्ति में कमी कफ बनने का कारण हो सकता है। हालांकि कफ या बलगम झिल्‍ली आपके श्वसंन तंत्र की रक्षा करने और स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाने में सहायक होते हैं। मानव शरीर में कफ मुंह, नाक, गला, साइनस और फेफड़ों आदि में मुख्‍य रूप से होता है। कफ चिपचिपा होता है ताकि यह धूल एलर्जी और वायरस आदि को बीच में ही रोक ले। सामान्‍य रूप से कफ पतला होता है लेकिन यदि कफ अधिक गाढ़ा है तो यह जांच कराने योग्‍य है। कफ आपके श्वसन तंत्र का एक स्‍वस्‍थ्‍य हिस्‍सा है लेकिन यदि यह आपके लिए असुविधा का कारण बने तो आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

(और पढ़े – खांसी का घरेलू उपचार, ड्राई कफ हो या वेट कफ…)

छाती में कफ जमने का कारण – Chati me kaf jamne ka karan in Hindi

छाती में कफ जमने का कारण – Chati me kaf jamne ka karan in Hindi

बीमार होने के दौरान सीने में सूजन और जकड़न का अनुभव होता है। ऐसा छाती में कफ जमने का कारण होता है। छाती में कफ जमना और इसके अन्‍य लक्षणों में घरघराहट, नींद लेने में कठिनाई, गले में खराश आदि हैं। कफ का निकलना भी अक्‍सर खांसी के साथ होता है। हालांकि छाती में कफ जमना सामान्‍य है लेकिन कुछ स्थितियों में अधिक मात्रा में कफ का जमाव चिंता का कारण बन सकता है। छाती में कफ जमने के कारणों में शामिल हैं :

आइए विस्‍तार से जाने जमा कफ निकालने के घरेलू उपाय क्‍या हैं।

(और पढ़े – एलर्जी के घरेलू उपाय और उपचार…)

कफ निकालने के घरेलू उपाय – Kaf nikalne ke gharelu upay in Hindi

कफ या बलगम अक्‍सर खांसी के साथ आता है। आप छाती और गले में जमा कफ निकालने के घरेलू उपाय से इस समस्‍या को दूर कर सकते हैं। खांसी और बलगम आने का प्रमुख कारण वायरस या संक्रमण होता है। हालांकि यह कुछ दिनों में सामान्‍य रूप से ठीक हो जाता है। हालांकि आप इसके इलाज के लिए अपने डॉक्‍टर से संपर्क कर सकते हैं। सामान्‍य रूप से डॉक्‍टर कफ का कोई इलाज नहीं कर सकते हैं। लेकिन वे इसके लक्षणों को कम करने के लिए कुछ दवाएं दे सकते हैं। हालांकि कफ का इलाज करने के लिए आप घरेलू उपाय अपना सकते हैं। जो इस प्रकार हैं।

कफ निकालने के उपाय ह्यूमिडिफायर – Cough nikalne ke upay Humidifier in Hindi

कफ निकालने के उपाय ह्यूमिडिफायर - Cough nikalne ke upay Humidifier in Hindi

कफ का इलाज करने में आपके आसपास के वातावरण का विशेष प्रभाव होता है। यदि आपके कमरे या आसपास का वातारण शुष्‍क होता है तब कफ संबंधी समस्‍याएं आपको विशेष रूप से परेशान कर सकती हैं। इसलिए कफ निकालने के उपाय के रूप में आप ह्यूमिडिफायर का उपयोग कर सकते हैं। एक ह्यूमिडिफायर आपको शुष्‍क हवा में सांस लेने से रोकने में मदद करता है। यह विशेष रूप से रात के समय आपको पूरी नींद लेने में भी सहायक हो सकता है। शुष्‍क वातावरण में सांस लेने पर गले का सूखना, गले में जलन होना और सूजन जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं। लेकिन ह्यूमिडिफायर का उपयोग करने से इन समस्‍याओं से बचा जा सकता है। जिससे श्वसन पथ में कफ को पतला होने और फेफड़ों से कफ निकलने में आसानी होती है।

(और पढ़े – सर्दी जुकाम और खांसी के घरेलू उपाय…)

कफ निकालने के लिए घरेलू उपाय गर्म पानी से स्नान – Kaf nikalne ke liye gharelu upay Steamy shower in Hindi

कफ निकालने के लिए घरेलू उपाय गर्म पानी से स्नान – Kaf nikalne ke liye gharelu upay Steamy shower in Hindi

श्वसन तंत्र में ऊपरी संक्रमण को दूर करने के लिए आप भाप और गर्म शॉवर का उपयोग कर सकते हैं। भाप लेना बलगम का इलाज कर सकता है। कफ और खांसी के घरेलू उपचार के लिए भी भाप लेना सबसे अच्‍छा तरीका होता है। ऐसा करने पर आप अपने श्वसन तंत्र को शुष्‍क होने से बचा सकते हैं। इसके अलावा स्‍टीम शॉवर लेने से छाती में जमा बलगम को निकालने में भी मदद मिलती है। इसके लिए आप कम से कम 5 मिनिट तक भाप लें या गर्म शॉवर का उपयोग करें। आप अपनी स्थिति और आवश्‍यकता के अनुसार दोहरा भी सकते हैं। ऐसा करने से आपको कफ संबंधी समस्‍याओं से राहत मिल सकती है।

(और पढ़े – गर्म पानी से नहाने के फायदे और नुकसान…)

बच्‍चों का कफ निकालने के उपाय विटामिन C – Bachho ka kaf nikalne ka upay vitamin C in Hindi

बच्‍चों का कफ निकालने के उपाय विटामिन C – Bachho ka kaf nikalne ka upay vitamin C in Hindi

सर्दी, खांसी और कफ जैसी समस्‍याएं बच्‍चों को सबसे अधिक होती हैं। लेकिन यह समस्‍याएं किसी भी उम्र में किसी भी व्‍यक्ति को हो सकती हैं। ऐसा मुख्‍य रूप से कमजोर प्रतिरक्षा शक्ति के कारण होता है। लेकिन यदि आप स्‍वयं और अपने बच्‍चों को पर्याप्‍त मात्रा में विटामिन सी का सेवन कराते हैं तो इस समस्‍या से बचा जा सकता है। विटामिन सी एक एंटीऑक्‍सीडेंट है जो फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव को कम करने और वायरल संक्रमण से लड़ने में सहायक होता है। विटामिन सी का पर्याप्‍त सेवन आपकी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में सहायक होता है। कफ निकालने के उपाय में आप संतरे या नारंगी का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए नियमित रूप से प्रतिदिन 2 से 3 गिलास संतरे का जूस पीने पर आपको कफ और सर्दी के लक्षणों को दूर करने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़े – विटामिन सी की कमी दूर करने के लिए ये खाद्य पदार्थ…)

जमा कफ निकालने के उपाय जेरियम अर्क – Jama kaf nikalne ke upaye Geranium extract in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि जेरियम अर्क खांसी, सर्दी और ब्रोंकाइटिस के इलाज में मदद कर सकता है। कफ का इलाज करने के लिए आप एक विसारक (diffuser) में जेरियम के तेल की कुछ बूंदें मिलाएं। जेरियम की खुशबू से आपको कफ और सर्दी के लक्षणों से राहत मिल सकती है। लेकिन इसका उपयोग सावधानी के साथ करना चाहिए। क्‍योंकि जेरियम तेल में बहुत ही शक्तिशाली गुण होते हैं। जिसके कारण उपयोग कर्ता को एलर्जी का सामना करना पड़ सकता है।

(और पढ़े – बच्चों की खांसी के घरेलू उपाय…)

कफ निकालने का घरेलू उपाय हाइड्रेट रहें – Kaf nikalne ka gharelu upay Hydration in Hindi

कफ निकालने का घरेलू उपाय हाइड्रेट रहें – Kaf nikalne ka gharelu upay Hydration in Hindi

किसी भी प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या या संक्रमण से ग्रसित होने की स्थिति में हाइड्रेट रहना बहुत ही फायदेमंद होता है। यदि आप सर्दी से या कफ जैसी समस्‍या से परेशान हैं तब शरीर में पानी की कमी होना आम है। लेकिन यह पानी की कमी आपके शरीर को अन्‍य नुकसान भी पहुंचा सकता है। ऐसी स्थिति में आप अपने शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए नियमित रूप से पानी पीना, स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक पेय पदार्थों और अन्‍य जड़ी बूटी युक्‍त चाय या तरल पदार्थ का सेवन कर सकते हैं। ऐसा करने से आपके गले की सूजन और चिड़चिड़ाहट आदि को रोका जा सकता है। साथ ही औषधीय जड़ी बूटी युक्‍त चाय का सेवन आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी मजबूत करने में सहायक होता है।

(और पढ़े – पानी की कमी (निर्जलीकरण) क्या है, लक्षण, कारण और इलाज…)

कफ नाशक उपाय अदरक की चाय – kaf nasak upay Adrak ki chai in Hindi

कफ नाशक उपाय अदरक की चाय – kaf nasak upay Adrak ki chai in Hindi

अदरक में एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। जिसके कारण नियमित रूप से अदरक की चाय का सेवन करने पर यह प्रतिरक्षा को मजबूत करने के साथ ही मौजूद संक्रमण और विषाणुओं के प्रभाव को कम करने में सहायक होता है। अदरक की चाय का सेवन करना आपके शरीर को हाइड्रेट रखने और गले की सूजन को दूर करने में मदद कर सकता है। आप कफ नाशक के रूप में अदरक की चाय का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – अदरक की चाय के फायदे और नुकसान…)

छाती में कफ जमना रोके लौंग की चाय – Chest par kaf jamna roke laung ki chai in Hindi

छाती में कफ जमना रोके लौंग की चाय – Chest par kaf jamna roke laung ki chai in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि थाइम और लौंग (thyme and clove) दोनो में रोगाणुरोधी गुण होते हैं। इन दोनों औषधीयों के तेल टिंचर्स के रूप में काम करते हैं जो ऊपरी श्वसन संक्रमण को रोकने में प्रभावी होते हैं। कफ का इलाज करने के लिए आप उबलते पानी में अजवाइन फूल और लौंग की पत्तियां या लौंग को मिलाएं और 10 मिनिट तक पकाएं। इसके बाद इस पेय पदार्थ को ठंडा होने दें और फिर इसका सेवन करें। दिन में 1-2 कप लौंग की चाय पीने से कफ की मात्रा को कम किया जा सकता है।

(और पढ़े – लौंग के फायदे, औषधीय गुण और नुकसान…)

बलगम का इलाज है नमक का पानी – Cough nikalne ka gharelu nuskha hai Salt water in Hindi

बलगम का इलाज है नमक का पानी – Cough nikalne ka gharelu nuskha hai Salt water in Hindi

यदि आप अधिक मात्रा में कफ निकलने जैसी समस्‍या से परेशान हैं तो नमक के पानी का उपयोग करें। नमक का पानी कफ निकालने का तरीका है जो बहुत ही प्रभावी है। इसके लिए आप गर्म पानी में नमक को मिलाएं और गरारे करें। ऐसा करने से कफ आसानी से निकल सकता है। इसके अलावा गले में होने वाले दर्द और सूजन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में भी नमक का पानी बहुत ही प्रभावी होता है। नमक में मौजूद गुण और एंटीऑक्‍सीडेंअ बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करने में मदद करते हैं जो आपके गले के संक्रमण का प्रमुख कारण होते हैं। बलगम का इलाज करने के लिए आप 1 गिलास गुनगुने पानी में ½ चम्‍मच नमक घोलें और इस पानी से गरारे करें। आप इस उपाय को दिन में अपनी सुविधा के अनुसार कई बार कर सकते हैं।

(और पढ़े – नमक के पानी के फायदे और नुकसान…)

गले में बलगम का इलाज नींबू का रस – Balgam nikalne ka tarika Lemon Juice in Hindi

गले में बलगम का इलाज नींबू का रस - Balgam nikalne ka tarika Lemon Juice in Hindi

कफ के जमा होने से जकड़न, जलन, सूजन और दर्द जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं। लेकिन गले में बलगम का इलाज नींबू के रस से किया जा सकता है। नींबू का रस गले में जमा बलगम को ढ़ीला और कमजोर करने में सहायक होता है। जिससे कफ को आसानी से बाहर किया जा सकता है। इसके अलावा नींबू के रस में विटामिन सी होता है जो जीवाणुरोधी है।

बलगम का इलाज करने के लिए आप 1 गिलास गर्म पानी में 2 चम्‍मच नींबू का रस और 1 बड़ा चम्‍मच शहद मिलाएं। इस मिश्रण का सेवन दिन में कम से कम 2-3 बार करें। ऐसा करने पर कफ उत्‍पादन को कम किया जा सकता है। इसके अलावा विकल्‍प के रूप में आप नींबू के टुकड़े में काली मिर्च पाउडर और नमक को छिड़कें और फिर नींबू को चूसें। ऐसा करने से कफ आसानी से आपके गले से बाहर निकल सकता है।

(और पढ़े – नींबू और शहद के साथ गर्म पानी के फायदे…)

कफ निकालने का तरीका है हल्‍दी – Cough nikalne ka tarika hai haldi in Hindi

कफ निकालने का तरीका है हल्‍दी – Cough nikalne ka tarika hai haldi in Hindi

हल्‍दी में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो बलगम के उत्‍पादन करने वाले बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करने में सहायक होते हैं। इसके अलावा हल्‍दी का नियमित सेवन हमारी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में सहायक होता है। कफ दूर करने के घरेलू उपाय में आप हल्‍दी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

1 गिलास गर्म दूध में 1 चम्‍मच हल्‍दी पाउडर मिलाएं। इस मिश्रण को रात में सोने से पहले और सुबह के समय खाली पेट सेवन करें। इसके अलावा आप दिन में 2-3 बार 1 गिलास गर्म पानी में 1 चम्‍मच हल्‍दी पाउडर को घोल कर सेवन करें। यह भी आपको कफ दूर करने में मदद कर सकता है।

(और पढ़े – हल्दी और दूध के फायदे और नुकसान…)

बलगम से निजात पाने का नुस्खा है चिकन सूप – Balgam se nijat pane ka tarika hai chicken soup in Hindi

बलगम से निजात पाने का नुस्खा है चिकन सूप - Balgam se nijat pane ka tarika hai chicken soup in Hindi

गर्म चिकन सूप भी कफ का इलाज करने में मदद कर सकता है। गर्म चिकन सूप आपके वायुमार्ग को मॉइस्‍चराइज करने में मदद करता है और कफ की स्थिरता को पतला करेगा। साथ ही यह गले की सूजन और दर्द को भी प्रभावी रूप से दूर करने में मदद कर सकता है। आप अपने गले से कफ को दूर करने के लिए कम से कम दिन में 2 से 3 बार चिकन सूप का सेवन करें। चिकन सूप को अधिक प्रभावी बनाने के लिए आप इसमें लहसुन औरी अदरक को भी शामिल कर सकते हैं।

(और पढ़े – चिकन सूप के फायदे और नुकसान…)

बलगम दूर करने का तरीका है लाल मिर्च – Gale mein balgam ka ilaj lal mirch in Hindi

बलगम दूर करने का तरीका है लाल मिर्च - Gale mein balgam ka ilaj lal mirch in Hindi

लाल मिर्च नाक, गले और छाती में जमा होने वाले कफ को आसानी से दूर करने में मदद करती है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि लाल मिर्च की तासीर गर्म होती है इसके अलावा अपनी उत्‍तेजक प्रकृति के कारण यह सीने में दर्द को कम करने में भी सहायक होती है।

सर्दी या बलगम के लक्षणों को कम करने के लिए आप 1 चौथाई लाल मिर्च पाउडर, ¼ अदरक का पेस्‍ट, 1 चम्मच शहद और 2 बड़े चम्‍मच सेब के सिरका को मिलाकर सेवन करें। इस मिश्रण का सेवन करने से कफ के उत्‍पादन को कम करने में मदद करता है।

(और पढ़े – लाल मिर्च के फायदे और नुकसान…)

छाती में जमा कफ निकाले शहद – Balgam dur karne ka tarika hai shahad in Hindi

छाती में जमा कफ निकाले शहद - Balgam dur karne ka tarika hai shahad in Hindi

शहद में एंटीवायरल, जीवाणुरोधी और एंटीफंगल गुण होते हैं जो कफ के कारण गले के दर्द, सूजन और अन्‍य समस्‍याओं को दूर करने में प्रभावी होते हैं। शहद कफ निकालने का सबसे अच्‍छा घरेलू उपाय है साथ ही प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में सहायक होता है। कफ का इलाज करने के लिए आपको शहद का नियमित सेवन करना चाहिए।

1 चम्‍मच शहद में 1 चुटकी कालीमिर्च पाउडर मिलाएं। काली मिर्च गले के संक्रमण को दूर करने में मदद करती है। जबकि शहद श्‍लेष्‍म झिल्‍ली को शांत करता है। नियमित रूप से 1 सप्‍ताह तक दिन में दो बार इस मिश्रण का सेवन करने पर यह कफ को प्रभावी रूप से कम कर सकता है।

(और पढ़े – शहद के फायदे उपयोग स्वास्थ्य लाभ और नुकसान…)

कफ निकलने के उपाय गाजर – kaf nikalne ka gharelu upay Adrak ki chai in Hindi

कफ निकलने के उपाय गाजर - kaf nikalne ka gharelu upay Adrak ki chai in Hindi

कफ और इससे संबंधित अन्‍य समस्‍याओं को दूर करने में गाजर बहुत ही प्रभावी औषधी मानी जाती है। गाजर विटामिन सी का सबसे अच्‍छा स्रोत है। विटामिन सी एंटीऑक्‍सीडेंट का काम करता है जो हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। इसके अलावा गाजर में मौजूद अन्‍य पोषक तत्‍व और विटामिन भी कफ के लक्षणों को कम करने में सहायक होते हैं।

कफ संबंधी समस्‍या को दूर करने के लिए आप 4 से 5 ताजा गाजर का रस निकालें। यदि रस कुछ गाढ़ा हो तो इसे पतला करने के लिए कुछ पानी मिलाएं और 2 चम्‍मच शहद शामिल करें। आप अपने गले और छाती में जमा कफ को निकालने के लिए इस जूस की थोड़ी-थोड़ी मात्रा दिन भर पिएं। यह कफ निकालने का सबसे अच्‍छा उपाय है।

(और पढ़े – गाजर खाने के फायदे और स्वास्थ्य लाभ और नुकसान…)

कफ निकालने की दवा प्‍याज का रस – Kaf nikalne ki dawa Onion Juice in Hindi

कफ निकालने की दवा प्‍याज का रस – Kaf nikalne ki dawa Onion Juice in Hindi

प्‍याज में एंटीबायोटिक और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। जिसके कारण गले के संक्रमण को दूर करने में प्‍याज का रस प्रभावी होता है। इसके अलावा प्‍याज में मौजूद अन्‍य घटक प्रतिरक्षा प्रणाली को भी स्‍वस्‍थ रखने में सहायक होते हैं। आप कफ निकालने के लिए प्‍याज के रस का उपयोग कर सकते हैं।

इसके लिए आप मध्‍ययम आकार की प्‍याज लें और इसे अच्‍छी तरह से धो कर साफ कर लें। फिर इस प्‍याज को बारीक काट लें। बारीक कटी हुई 2 चम्‍मच प्‍याज लें और इसमें 2 चम्‍मच चीनी मिला कर कुछ देर के लिए रख दें। ऐसा करने पर प्‍याज और चीनी के मिश्रण से एक तरल पदार्थ प्राप्त होता है। इस तरल पदार्थ की 1 चम्‍मच मात्रा हर 2 से 3 घंटे के बाद सेवन करें। आप इस मिश्रण 2 से 3 दिनों के लिए फ्रिज में स्‍टोर करके भी रख सकते हैं।

बच्‍चों और वयस्‍कों में कफ जमा होने की समस्‍या आम होती है। हालांकि गंभीर स्थिति होने पर ही डॉक्‍टरी उपचार की आवश्‍यकता होती है। इसके साथ आप ऊपर बताये गए कफ दूर करने के घरेलू नुस्‍खे आजमा सकते हैं।

(और पढ़े – प्याज के फायदे और नुकसान…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration