रेंड़ी के तेल के फायदे और नुकसान – Rendi Oil Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi

रेंड़ी के तेल के फायदे और नुकसान - Rendi Oil Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi
Written by Jaideep

प्राचीन समय से ही रेंड़ी के तेल जिसे हम अरंडी, एरंड और कैस्टर ऑयल के नाम से जानते हैं का भारत में व्‍यापक उपयोग किया जा रहा है। लेकिन क्‍या आप रेंडी के तेल के फायदे और नुकसान जानते हैं। यह एक वन‍स्‍पति तेल है जिसका कॉस्‍मेटिक और चिकित्‍सा उद्देश्‍यों के लिए उपयोग क्‍या जाता है। यह चेहरे और त्‍वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके अलावा रेंडी तेल के फायदे विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के लिए भी जाने जाते हैं। इस औषधीय गुणों से भरपूर रेंडी तेल का उपयोग प्रतिरक्षा बढ़ाने, गठिया का इलाज करने, रक्‍त परिसंचरण को सुधारने, त्‍वचा को स्‍वस्‍थ्‍य रखने, बालों की समस्‍या को कम करने, कब्‍ज का इलाज करने आदि में फायदेमंद होता है। इस लेख में आप रेंड़ी तेल से संबंधित जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं। आइए जाने रेंड़ी तेल क्या है।

1. रेंड़ी का तेल क्‍या है – Rendi Tel Kya Hai in Hindi
2. रेंडी तेल के पोषक तत्‍व – Rendi Oil Nutrients Value in Hindi
3. रेंडी तेल के फायदे – Benefits of Randy Oil in Hindi

4. रेंडी तेल के नुकसान – Rendi Tel Ke Nuksan in Hindi

रेंड़ी का तेल क्‍या है – Rendi Tel Kya Hai in Hindi

रेंड़ी का तेल क्‍या है - Rendi Tel Kya Hai in Hindi

यह एक पीले रंग का वनस्पति तेल है जो कास्‍ट प्‍लांट के बीजों से प्राप्‍त किया जाता है। कास्‍ट प्‍लांट का वनस्पतिक नाम रिसिनस कम्‍युनिस (Ricinus communis) है। रेंड़ी तेल का उपयोग त्‍वचा को फिर से जीवंत करने में मदद कर सकता है। इसका उपयोग चिकित्‍सा स्थितियों के इलाज के लिए भी उपयोग किया जाता है। यह पाचन क्रिया को गति देने में भी सहायक होते हैं। इस तेल में बहुत से पोषक तत्‍व, खनिज पदार्थ और औषधीय गुण होते हैं जिनके कारण यह मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। आइए जाने रेंड़ी तेल में मौजूद पोषक तत्‍वों के बारे में।

(और पढ़े – अरंडी के तेल के फायदे त्वचा और बाल में…)

रेंडी तेल के पोषक तत्‍व – Rendi Oil Nutrients Value in Hindi

औषधीय गुणों के कारण रेंडी के तेल का व्‍यापक उपयोग किया जाता है। इसमें स्‍वास्थ्‍य को बढ़ावा देने वाले खनिज पदार्थ और पोषक तत्‍व अच्‍छी मात्रा में होते हैं। रेंड़ी तेल में फैटी एसिड लगभग 90 प्रतिशत होता है। इसके अलावा रेंडी के तेल में एंटीऑक्‍सीडेंट, विटामिन ई और एंटी-बैक्‍टीरियल गुण भी होते हैं। आइए विस्‍तार से जाने रेंडी तेल के फायदे क्‍या हैं।

रेंडी तेल के फायदे – Benefits of Randy Oil in Hindi

  1. रेंडी तेल के फायदे मजबूत प्रतिरक्षा में – Rendi Oil Benefit For Immunity in Hindi
  2. रेंडी तेल के लाभ रक्‍त परिसंचरण में – Rendi Oil Benefit For Boosts Circulation in Hindi
  3. रेंडी तेल के फायदे महिलाओं के लिए – Rendi Oil Benefit For Women in Hindi
  4. रेंडी तेल जोड़ों के दर्द का इलाज करे – Rendi Oil Benefit For Joint Pain in Hindi
  5. रेंडी तेल कब्‍ज को रोके – Rendi Oil Benefit For Constipation in Hindi
  6. रेंडी तेल है दाद की दवा – Rendi Oil Benefit For Treating Ringworm in Hindi
  7. रेंडी तेल के लाभ आँखों के लिए – Rendi Oil Benefit For Eyes in Hindi
  8. रेंडी तेल के गुण झुर्रियों को दूर करे – Rendi Oil Benefit For  Treats Wrinkles in Hindi
  9. रेंडी तेल के औषधीय गुण मुंहासों को दूर करे – Rendi Oil Benefit For Reduces Acne in Hindi
  10. रेंडी तेल का उपयोग बाल विकास के लिए – Rendi Oil Benefit For Hair Growth in Hindi
  11. रेंडी तेल से करें मस्‍से का इलाज – Rendi Oil Benefit For Remove Moles in Hindi
  12. रेंडी तेल के लाभ मासिक धर्म के दौरान – Rendi Oil Benefit For Menstrual Cramps in Hindi
  13. रेंडी तेल का इस्‍तेमाल मुंह के छालों के लिए – Rendi Oil Benefit For Mouth Sores in Hindi
  14. रेंडी तेल का उपयोग अनिद्रा का उपचार करे – Rendi Oil Benefit For Relieve Insomnia in Hindi

रेंडी तेल के फायदे मजबूत प्रतिरक्षा में – Rendi Oil Benefit For Immunity in Hindi

रेंडी तेल के फायदे मजबूत प्रतिरक्षा में - Rendi Oil Benefit For Immunity in Hindi

मध्‍यम मात्रा में रेंडी तेल का उपभोग कर प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाया जा सकता है। क्‍योंकि यह रक्‍त में सफेद रक्‍त कोशिकाओं की वृद्धि में मदद करता है जो हमारी प्रतिरक्षा तंत्र का प्रमुख घटक है। यह शरीर में टी-11 कोशिकाओं और लिम्‍फोसाइट्स (lymphocytes) के उत्‍पादन को बढ़ाता है। इसका उपभोग करने पर यह शरीर मे एंटीबॉडी बनाने के साथ-साथ वायरस, कवक, बैक्‍टीरिया और कैंसर कोशिकाओं को नष्‍ट करने में मदद करता है। कुछ अध्‍ययनों से साबित होता है कि यह शरीर में फैलने वाले संक्रमण को रोकने और रोगाणुओं को नष्‍ट करने में मदद करते हैं।

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

रेंडी तेल के लाभ रक्‍त परिसंचरण में – Rendi Oil Benefit For Boosts Circulation in Hindi

रेंडी तेल के लाभ रक्‍त परिसंचरण में - Rendi Oil Benefit For Boosts Circulation in Hindi

मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए रेंडी का तेल बहुत ही फायदेमंद होता है। यह प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने के साथ ही रक्‍त परिसंचरण में भी सुधार करता है। यदि आपका रक्‍त परिसंचरण उचित कार्य नहीं करता है तो आप गंभीर रूप से बीमार हो सकते हैं। क्‍योंकि हमारे शरीर की कोशिकाओं में ऑक्‍सीजन पहुंचाने का कार्य परिसंचरण के द्वारा ही संभव है। रेंडी का तेल उचित रक्‍त प्रवाह में मदद करता है। रक्‍त परिसंचरण हमारे शरीर में ताजा रक्‍त पहुंचाने और दूषित रक्‍त को शुद्ध करने के लिए हृदय तक लाने का काम करता है। जब आपका रक्‍त परिसंचरण स्‍वस्‍थ्‍य रहता है तो आपके शरीर के सभी अंगों को पर्याप्‍त मात्रा में खून और ऑक्‍सीजन प्राप्त होता है। आप भी रेंड़ी तेल का उपयोग कर स्‍वासथ्‍य लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – शरीर में खून (हीमोग्‍लोबिन) कैसे बढ़ाएं…)

रेंडी तेल के फायदे महिलाओं के लिए – Rendi Oil Benefit For Women in Hindi

रेंडी तेल के फायदे महिलाओं के लिए - Rendi Oil Benefit For Women in Hindi

 

यह आयुर्वेदिक तेल महिला स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने के लिए भी जाना जाता है। प्रसव समय पूर्ण हो जाने पर बहुत सी महिलाओं को प्रसव में देरी होने पर रेंड़ी का तेल दिया जाता है। क्‍योंकि यह स्‍त्री रोग विशेषज्ञों के अनुसार गर्भाशय संकुचन को दबाकर प्रसव को प्रेरित करता है। इस तेल में रिक्‍नोलेइक (ricinoleic) एसिड होता है जो गर्भाशय में ईपी 3 प्रोस्‍टेनोइड (prostanoid) रिसेप्‍टर सक्रिय करता है। इस प्रकार यह प्रसव में मदद करता है। हालांकि कई मामलों में इसकी अनुशंसा नहीं की जाती है क्‍योंकि इससे महिला को उल्‍टीयां भी हो सकती है। इस तरह से महिलाओं के लिए रेंडी का तेल बहुत ही लाभकारी हो सकता है।

(और पढ़े – जानिए सामान्य प्रसव के बाद योनि में होने वाले बदलाव के बारे मे…)

रेंडी तेल जोड़ों के दर्द का इलाज करे – Rendi Oil Benefit For Joint Pain in Hindi

रेंडी तेल जोड़ों के दर्द का इलाज करे - Rendi Oil Benefit For Joint Pain in Hindi

एंटी-इंफ्लामेटरी गुणों के कारण यह तेल जोड़ों के दर्द को कम करने में सहायक होता है। इस तेल का उपयोग कर गठिया का इलाज भी किया जा सकता है। इसके एंटी-इंफ्लामेटरी गुण संयुक्‍त दर्द, तंत्रिका सूजन और मांसपेशीय दर्द को कम करने में सहायक होते हैं। ऐसी स्थिति में रेंड़ी के तेल से मालिश करने और गर्म पानी से सिकाई करने में आराम मिलता है। गठिया रोग से ग्रसित व्‍यक्ति को सप्‍ताह में दो बार रेंड़ी के तेल से मालिश करनी चाहिए। यह उन्‍हें आराम दिलाने का प्राकृतिक और प्रभावी तरीका है।

(और पढ़े – जोड़ों में दर्द का घरेलू उपचार…)

रेंडी तेल कब्‍ज को रोके – Rendi Oil Benefit For Constipation in Hindi

रेंडी तेल कब्‍ज को रोके - Rendi Oil Benefit For Constipation in Hindi

क्‍या आप कब्‍ज से परेशान हैं। यदि ऐसा है तो रेंडी का तेल आपके लिए बहुत ही उपयोगी हो सकता है। यह कब्‍ज से छुटकारा पाने का एक लोकप्रिय तरीका है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि रेंडी के तेल में पेट को साफ करने वाले गुण होते हैं। ये गुण छोटी और बड़ी आंतों को उत्‍तेजित करते हैं और कोलन दीवारों को साफ करते हैं। रेंड़ी के तेल में मौजूद फैटी एसिड आंतों के पथ से अवशोषित होने से तरल को रोकने के लिए भी काम करते हैं। जिससे आंत्र को अपनी नमी बरकरार रखने में मदद मिलती है। जिससे यह मल त्‍याग को आसान बनता है। आप भी कब्‍ज की समस्‍या का उपचार करने के लिए रेंड़ी के तेल का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – कब्ज के लिए उच्च फाइबर फल और खाद्य पदार्थ…)

रेंडी तेल है दाद की दवा – Rendi Oil Benefit For Treating Ringworm in Hindi

रेंडी तेल है दाद की दवा - Rendi Oil Benefit For Treating Ringworm in Hindi

कवक और फंगल इंफैक्‍शन के कारण रिगवार्म की समस्‍या हो सकती है जो कि सामान्‍य त्‍वचा विकार है। लेकिन इस समस्या का समय रहते इलाज किया जाना चाहिए। इस त्‍वचा रोक को दूर करने के लिए रेंड़ी का तेल फायदेमंद होता है। क्‍योंकि रेंडी का तेल रिंगवार्म के लिए एक उत्‍कृष्‍ट उपचार है। रेंडी के तेल में अंडेसीलेनिक एसिड होता है जो एंटीफंगल एजेंट के रूप में कार्य करता है। यह त्‍वचा पर संक्रमण को फैलने से रोकता है और उन्‍हें नष्‍ट करता है। दाद का उपचार करने के लिए प्रभावित क्षेत्र में रेंडी के तेल को लगाएं। यह आपको जल्‍दी ही आराम दिलाने में मदद कर सकता है। इसके अलावा यह अन्‍य त्‍वचा संक्रमण के लिए भी फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – दाद ठीक करने के असरदार घरेलू उपाय…)

रेंडी तेल के लाभ आँखों के लिए – Rendi Oil Benefit For Eyes in Hindi

रेंडी तेल के लाभ आँखों के लिए - Rendi Oil Benefit For Eyes in Hindi

जो लोग घंटों तक कम्‍प्‍यूटर में काम करते हैं अक्‍सर उनकी आंखें सूखेपन का शिकार हो जाती है। रेंडी का तेल ऐसे लोगों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। ग्लिसरीन के साथ रेंडी तेल का उपयोग आंखों के सूखापन को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा यह आंखों की खुजली, लाली और थकान जैसे संबंधित लक्षणों का इलाज करने के लिए कृत्रिम ऑंसू उत्‍पन्‍न करने में मदद करता है। इस तरह से आप अपनी आंखों को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए रेंड़ी के तेल का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – आँखों को स्वस्थ रखने के लिए 10 सबसे अच्छे खाद्य पदार्थ…)

रेंडी तेल के गुण झुर्रियों को दूर करे – Rendi Oil Benefit For  Treats Wrinkles in Hindi

रेंडी तेल के गुण झुर्रियों को दूर करे - Rendi Oil Benefit For  Treats Wrinkles in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि रेंडी का तेल त्‍वचा की झुर्रीयों का उपचार कर सकता है। इसका उपयोग त्‍वचा के लिए बहुत शांतिदायक होता है। इस तेल में मौजूद पोषक तत्‍व त्‍वचा में आसानी से अवशोषित हो जाते हैं जो कोलेजन के उत्‍पादन को बढ़ाते हैं। कोलेजन हमारी त्‍वचा को नरम और हाइड्रेट रखने में मदद करता है। आप रेंडी के तेल का उपयोग कर अपनी त्‍वचा को फिर से जीवंत कर सकते हैं। आप झुर्रीदार क्षेत्र मे इस तेल की थोड़ी सी मात्रा लगाएं और रात भर के लिए इसे छोड़ दें। अगली सुबह आप इसे साफ पानी से धो लें। नियमित रूप से इस तेल का उपयोग करने पर आप झुर्रियों मुक्‍त त्‍वचा पा सकते हैं।

(और पढ़े – चेहरे की झुर्रियों के कारण और झुर्रियां कम करने के घरेलू उपाय…)

रेंडी तेल के औषधीय गुण मुंहासों को दूर करे – Rendi Oil Benefit For Reduces Acne in Hindi

रेंडी तेल के औषधीय गुण मुंहासों को दूर करे - Rendi Oil Benefit For Reduces Acne in Hindi

आप अपनी त्‍वचा स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने और मुंहासों का उपचार करने के लिए रेंडी तेल का उपयोग कर सकते हैं। इस तेल में रिक्‍नोलेइक एसिड की अच्‍छी मात्रा होती है। यह त्‍वचा में मुंहासे पैदा करने वाले बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करने में मदद करता है। इसके अलावा यह परतदार त्‍वचा का भी प्रभावी इलाज कर सकता है। जिन लोगों की त्‍वचा ऑयली होती है उनमें मुंहासे होने की संभावना अधिक होती है। क्‍योंकि ये प्राकृतिक तेल त्‍वचा छिद्रों को बंद करने और मंहासों के उत्‍पादन को बढ़ावा दे सकते हैं। लेकिन रेंडी तेल का उपयोग कर मुंहासों से छुटकारा पाया जा सकता है।

मुंहासों को दूर करने के लिए आप रेंडी तेल का उपयोग करने से पहले अपने चेहरे को गर्म पानी से धो लें। यह आपके त्वचा छिद्रों को खोलने में मदद करेगा। इसके बाद आप अपने चेहरे में रेंडी का तेल लगाएं और गोलाकार गति में अपने चेहरे की मालिश करें। इस तेल को रात भर अपने चेहरे में लगे रहने दें और अगली सुबह ठंडे पानी से चेहरे को साफ कर लें। यह मुंहासों को दूर करने में सहायक होता है।

(और पढ़े – मुहांसे दूर करने के लिए चेहरे पर भाप लेने के फायदे…)

रेंडी तेल का उपयोग बाल विकास के लिए – Rendi Oil Benefit For Hair Growth in Hindi

रेंडी तेल का उपयोग बाल विकास के लिए - Rendi Oil Benefit For Hair Growth in Hindi

आप विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त करने के लिए रेंडी के तेल का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा यह आपके त्‍वचा और बालों के लिए भी फायदेमंद होता है। आप रेंड़ी तेल से अपने बालों को अच्‍छी ग्रोथ दिला सकते हैं। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि रेंड़ी का तेल आपके स्‍कैल्‍प में रक्‍त परिसंचरण को बढ़ावा देने में मदद करता है। जिससे बालों में तेजी से विकास होता है। इसके अलावा इस तेल में ओमेगा-9 फैटी एसिड भी होता है जो स्‍वस्‍थ्‍य बालों के लिए फायदेमंद माना जाता है। नियमित रूप से बालों में रेंडी के तेल का उपयोग कर दो मुंहे बालों को कम करने, बालों को झड़ने से रोकने और बालों को मॉइस्‍चराइज रखने में मदद मिलती है। बालों के विकास के लिए आप इस तेल से अपने सिर की मालिश भी कर सकते हैं।

(और पढ़े – बालों को लम्बे और घने बनाने के लिए आवश्यक तेल का इस्तमाल कैसे करें…)

रेंडी तेल से करें मस्‍से का इलाज – Rendi Oil Benefit For Remove Moles in Hindi

रेंडी तेल से करें मस्‍से का इलाज - Rendi Oil Benefit For Remove Moles in Hindi

आपके चेहरे पर या अन्‍य किसी हिस्‍से पर मस्‍से होना आपके लिए असुविधा का कारण हो सकता है। विशेष रूप से चेहरे पर इनकी उपस्थिति आपकी सुंदरता को कम कर सकती है। लेकिन आप इन मस्‍सों को दूर करने के लिए रेंडी तेल का उपयोग कर सकते हैं। आप रेंड़ी के तेल के साथ थोड़ा बेकिंग सोडा मिला कर उपयोग करें। यह मस्‍सों और त्‍वचा टैग से छुटकारा पाने का एक शानदार तरीका हो सकता है। आप मस्‍से में इस मिश्रण को लगा कर किसी पट्टी से इसे बंद कर लें। 4 से 6 सप्‍ताह तक नियमित रूप से इस मिश्रण का उपयोग करने पर यह मस्‍से को पूरी तरह से गायब कर सकता है। यदि आप भी अवांछित मस्‍सों से परेशान हैं तो यह आपके लिए फायदेमंद उपचार हो सकता है।

(और पढ़े – मस्से होने का कारण, प्रकार और मस्सों को दूर करने के घरेलू उपाय…)

रेंडी तेल के लाभ मासिक धर्म के दौरान – Rendi Oil Benefit For Menstrual Cramps in Hindi

रेंडी तेल के लाभ मासिक धर्म के दौरान - Rendi Oil Benefit For Menstrual Cramps in Hindi

अक्‍सर देखा जाता है कि महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान पेट में दर्द और ऐंठन होती है। यह स्थिति उनके लिए बहुत ही कष्‍टदायक होती है। लेकिन रेंडी के तेल का उपयोग कर आप इस समस्‍या का समाधान कर सकते हैं। मासिक धर्म के दौरान महिलाएं इस तेल से अपने पेट की मालिश करें यह पेट दर्द और ऐंठन के लक्षणों को दूर करने में मदद कर सकता है। रेंडी के तेल में मौजूद एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं जो एक एनाल्‍जेसिक एजेंट है। यह मासिक धर्म के दर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। इस तरह से मासिक धर्म के दौरान होने वाली असुविधा से बचने के लिए रेंड़ी का तेल फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – पीरियड्स के दिनों में दर्द क्यों होता है जानें मुख्य कारण…)

रेंडी तेल का इस्‍तेमाल मुंह के छालों के लिए – Rendi Oil Benefit For Mouth Sores in Hindi

रेंडी तेल का इस्‍तेमाल मुंह के छालों के लिए - Rendi Oil Benefit For Mouth Sores in Hindi

यह एक ऐसा आयुर्वेदिक तेल है जो आपकी कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का प्रभावी इलाज कर सकता है। इन्‍हीं लाभों में मुंह के छाले भी शामिल हैं। रेंडी के तेल में जीवाणुरोधी और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। आप अपने मुंह के छालों को दूर करने के लिए प्रभावित क्षेत्र में रेंड़ी के तेल को लगाएं। कुछ देर के बाद आप कुल्‍ला कर लें यह आपके छालों के लक्षणों को कम करने में सहायक होता है। छालों का प्राकृतिक इलाज के रूप में रेंडी का तेल बहुत ही प्रभावकारी होता है।

(और पढ़े – मुंह के छाले दूर करने के घरेलू उपाय…)

रेंडी तेल का उपयोग अनिद्रा का उपचार करे – Rendi Oil Benefit For Relieve Insomnia in Hindi

रेंडी तेल का उपयोग अनिद्रा का उपचार करे - Rendi Oil Benefit For Relieve Insomnia in Hindi

क्‍या आप नींद की कमी या अनिद्रा से ग्रसित हैं। यदि ऐसा है तो रेंडी का तेल आपको अच्‍छी नींद लेने में मदद कर सकता है। अक्‍सर देखा जाता है कि लोग नींद लाने के लिए दवाओं का उपयोग करते हैं। लेकिन इन दवाओं के दुष्‍प्रभाव भी होते हैं। इनकी बजाय लोगों को प्राकृतिक उपायों को अजमाना चाहिए। आप रेंडी के तेल को सोने से पहले अपनी आंखों की पलकों में लगाएं। आपका शरीर इस तेल को अवशोषित करता है और स्‍वस्‍थ परिसंचरण को बढ़ावा देता है। जिससे आप अधिक आराम करने में मदद कर सकते हैं। नींद की कमी से संबंधित अन्‍य समस्‍याओं के लिए रेंडी का तेल बहुत ही लाभकारी होता है।

(और पढ़े – अनिद्रा के कारण, लक्षण और उपचार…)

रेंडी तेल के नुकसान – Rendi Tel Ke Nuksan in Hindi

रेंडी तेल के नुकसान – Rendi Tel Ke Nuksan in Hindi

  • आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए रेंडी का तेल बहुत ही फायदेमंद होता है। लेकिन अधिक मात्रा इसका उपभोग करने पर यह हानिकारक हो सकता है। इसके अलावा पौधों की सतह पर पाए गए एलर्जिक यौगिक स्‍थायी तंत्रिका क्षति का कारण बन सकते हैं।
  • त्‍वचा पर उपयोग करने से पहले इस तेल का त्‍वचा के छोटे हिस्‍से पर परिक्षण करके देख लें। क्‍योकि यह कुछ लोगों में एलर्जी या लाल चकते का कारण बन सकता है।
  • अधिक मात्रा में रेंडी के तेल का उपभोग करने पर यह उल्‍टी या मतली का कारण भी बन सकता है। इसलिए संवेदनशील पाचन वाले लोगों के लिए इस तेल के उपभोग की सलाह नहीं दी जाती है। इसका उपभोग करने से पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह लेना आवश्‍यक है।

(और पढ़े – एलर्जी लक्षण, बचाव के तरीके और घरेलू उपचार…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration