गर्भावस्‍था के 9वें महीने में क्‍या खायें और क्‍या नहीं? – Foods To Eat And Avoid During 9th Month Pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के 9वें महीने में क्‍या खायें और क्‍या नहीं? - Foods To Eat And Avoid In The 9th Month Pregnancy Diet in Hindi
Written by Diksha

9th Month Pregnancy Diet in Hindi गर्भावस्‍था के नौवें महीने में प्रवेश करने पर महिलाओं को बहुत अधिक उत्‍तेजना और घबराहट होती है। क्‍योंकि कुछ ही दिनों के बाद उनकी गोद में खुशियां आने वाली होती हैं। लेकिन प्रेगनेंसी के नौवे महीने के दौरान क्‍या खाना चाहिए और क्‍या नहीं खाना चाहिए इसकी जानकारी होना भी बहुत ही महत्‍वपूर्ण है। क्‍योंकि गर्भावस्‍था की इस अवधि में शिशु में मस्तिष्‍क और फेफड़ों के विकास के साथ ही शारीरिक द्रव्यमान प्राप्‍त करता है। इसलिए 9 माह की प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को अपनी प्रेगनेंसी डाइट में उचित भोजन शामिल करना चाहिए। जिससे बच्‍चे को उचित वजन प्राप्‍त करने में मदद मिल सकती है।

  1. गर्भावस्‍था के 9वें महीने में प्रेगनेंसी डाइट का महत्‍व – importance of pregnancy diet in 9th month of pregnancy in Hindi
  2. 9 मंथ प्रेगनेंसी डाइट चार्ट – 9-Month Pregnant Diet Chart in Hindi
  3. गर्भावस्‍था के नौवे महीने में क्‍या खाना चाहिए – Pregnancy Ke 9 Mahine Me Kya Khana Chahiye in Hindi
  4. गर्भावस्था के 9 महीने में क्या नहीं खाना चाहिए – Pregnancy Ke 9 Mahine Me Kya Nahi Khana Chahiye in Hindi
  5. नौवे महीने की गर्भावस्‍था के लिए भारतीय आहार – Indian Diet During 9th-Month Pregnancy in Hindi
  6. 9 महीने की गर्भावस्‍था आहार के लिए टिप्‍स – Tips for 9 months Pregnancy diet in Hindi
  7. गर्भावस्‍था के नौवे महीने में अक्‍सर पूछे जाने वाले प्रश्‍न – Frequently asked questions in the 9 month of pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के 9वें महीने में प्रेगनेंसी डाइट का महत्‍व – Importance of pregnancy diet in 9th month of pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के 9वें महीने में प्रेगनेंसी डाइट का महत्‍व - importance of pregnancy diet in 9th month of pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी के नौवे महीने के दौरान गर्भस्‍थ शिशु की शारीरिक संरचना लगभग विकसित हो जाती है। इस अवधि के दौरान शिशु अपना अधिकांश वजन हासिल कर लेता है। जिससे महिलाओं को नौवे महीने में अधिक भारीपन का अनुभव होता है जिसके कारण पाचन प्रक्रिया में भी प्रभाव पड़ता है। इसलिए उचित आहार के साथ ही पर्याप्‍त पोषक तत्‍वों को प्राप्त करने का प्रयास किया जाना चाहिए। इस लेख में ऐसे ही कुछ खाद्य पदार्थों की जानकारी दी जा रही है जो गर्भावस्‍था के नौवे महीने में महिलाओं को अधिकतम लाभ दिलाने में मदद कर सकते हैं।

(और पढ़ें – सिजेरियन डिलीवरी के बाद आहार और डाइट चार्ट)

9 मंथ प्रेगनेंसी डाइट चार्ट – 9-Month Pregnant Diet Chart in Hindi

9 मंथ प्रेगनेंसी डाइट चार्ट - 9-Month Pregnant Diet Chart in Hindi

यहां उन खाद्य पदार्थों की जानकारी दी जा रही है जिनका सेवन गर्भावस्‍था के अंतिम माह में फायदेमंद होता है। आइए विस्‍तार से जाने नौ माह की गर्भावस्‍था के दौरान कौन से खाद्य पदार्थों का सेवन किया जा सकता है जो उचित पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ उपलब्‍ध कराते हैं।

गर्भावस्‍था के नौवे महीने में क्‍या खाना चाहिए – Pregnancy Ke 9 Mahine Me Kya Khana Chahiye in Hindi

गर्भावस्‍था के नौवे महीने में क्‍या खाना चाहिए - Pregnancy Ke 9 Mahine Me Kya Khana Chahiye in Hindi

आइए जाने गर्भस्‍थ शिशु के संपूर्ण पोषण और महिला स्‍वास्‍थ्‍य के लिए गर्भावस्‍था के नौवें महीने में कौन से आहार का सेवन करना फायदेमंद होता है।

फाइबर युक्‍त खाद्य पदार्थ

फाइबर युक्‍त खाद्य पदार्थ

फाइबर युक्‍त खाद्य पदार्थ गर्भावस्‍था के दौरान और विशेष रूप से नौवे महीने में बहुत ही आवश्‍यक होता है। क्‍योंकि इस दौरान महिलाओं को गंभीर कब्‍ज की समस्‍या हो सकती है। इसलिए प्रेगनेंसी के नौवे महीने के दौरान फाइबर प्राप्‍त करने के लिए महिलाओं को ताजी और हरी सब्जियां, फल, फलियां और अनाज आदि का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा फाइबर के अन्‍य स्रोत में एवोकाडो, ब्रोकोली, फूल गोभी, हरी पत्तियां और मकई आदि को भी शामिल किया जा सकता है। फाइबर प्राप्‍त करने के साथ ही इस दौरान महिलाओं को अधिक से अधिक पानी पीने की सलाह दी जाती है।

(और पढ़ें – सेहत के लिए फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ)

आयरन युक्‍त खाद्य पदार्थ

आयरन युक्‍त खाद्य पदार्थ

लोहा या आयरन एक प्रमुख खनिज है जो गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं को खून की कमी से बचाने में सहायक होता है। प्रेगनेंसी के नौवे महीने में महिलाओं के शरीर में हीमोग्‍लोबिन की कमी हो सकती है। इस प्रकार की समस्‍या से बचने के लिए नौवे महीने की गर्भावस्‍था के आहार में उच्‍च आयरन युक्‍त खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाना चाहिए। इस दौरान महिलाओं को प्रतिदिन लगभग 25 से 17 मिलीग्राम आयरन की आवश्‍यकता होती है। आयरन की कमी को दूर करने के लिए महिलाएं दाल, अंडे, किशमिश, पालक, सूखे खाद्य पदार्थ और मेवे, सोयाबीन, चिकन और मछली आदि का सेवन कर सकती हैं।

(और पढ़ें – शरीर में खून (हीमोग्‍लोबिन) कैसे बढ़ाएं)

फोलिक एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थ

फोलिक एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थ

गर्भावस्‍था के दौरान फोलिक एसिड की पर्याप्‍त मात्रा बच्‍चे में जन्‍मजात अक्षमता को कम करने में मदद करता है। फोलिक एसिड लाल रक्‍त कोशिकाओं और डीएनए संरचना के निर्माण में भी मदद करता है। इसलिए गर्भावस्‍था के नौवे महीने में पर्याप्‍त मात्रा में फोलिक एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। इस दौरान महिलाओं को 600 से 800 मिली ग्राम फोलिक एसिड की आवश्‍यकता होती है। गर्भवती महिलाएं अपने नौवे माह की गर्भावस्‍था डाइट में फलियां, हरी पत्‍तेदार सब्जियां, सभी प्रकार के अनाज, जई, शतावरी, दालें और संतरा आदि को शामिल कर सकती हैं।

(और पढ़ें – फोलिक एसिड क्या है, उपयोग (लाभ), साइड इफेक्ट्स, खाद्य पदार्थ और दैनिक मात्रा)

कैल्शियम युक्‍त खाद्य पदार्थ

कैल्शियम युक्‍त खाद्य पदार्थ

गर्भावस्‍था के नौवे महीने में महिलाओं को कैल्शियम की बहुत अधिक आवश्‍यकता होती है। क्‍योंकि कैल्शियम न केवल महिला बल्कि शिशु की हड्डियों को मजबूत बनाता है। गर्भावस्‍था के नौवे महीने में फिट और स्‍वस्‍थ बच्‍चे के जन्‍म के लिए महिलाओं को अपने दैनिक आहार में कैल्शियम आधारित खाद्य पदार्थों की पर्याप्‍त मात्रा शामिल करनी चाहिए। इस दौरान महिलाएं केला, हरी पत्तेदार सब्जियां, मछली, लीन प्रोटीन, नट्स, अंडे, डेयरी उत्‍पाद, तिल, बादाम, जई आदि को अपने आहार में शामिल कर सकती हैं।

(और पढ़ें – कैल्शियम युक्त भोजन महिलाओं के लिए)

डीएचए भरपूर खाद्य पदार्थ

यह फैटी एसिड का एक प्रकार है जो शिशु के मस्तिष्‍क के विकास के लिए बहुत ही आवश्‍यक होता है। अपने शिशु के मस्तिष्‍क के संपूर्ण विकास के लिए महिलाओं को प्रतिदिन लगभग 200 मिली ग्राम डीएचए आधारित खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। डीएचए प्राप्‍त करने के लिए महिलाएं नौवे महीने की गर्भावस्‍था डाइट में फ्रुट जूस, अंडा, दूध, पीनट बटर आदि को शामिल कर सकती हैं।

विटामिन ए से भरपूर खाद्य पदार्थ

विटामिन ए से भरपूर खाद्य पदार्थ

9 मंथ प्रेगनेंसी डाइट में उन खाद्य पदार्थों को भी शामिल करना चाहिए जो विटामिन ए के अच्‍छे स्रोत होते हैं। विटामिन ए रक्‍त कोशिकाओं, आंखों, त्‍वचा, प्रतिरक्षा प्रणाली और बच्‍चे के शरीर के अंदर होने वाले संक्रमण को रोकने में मदद करता है। इस दौरान महिलाओं को विटामिन ए प्राप्‍त करने के लिए शकरकंद, पालक, गाजर आदि का प्रतिदिन सेवन करना चाहिए।

(और पढ़ें – विटामिन ए के फायदे, स्रोत और इसके नुकसान)

विटामिन सी युक्‍त खाद्य पदार्थ

विटामिन सी युक्‍त खाद्य पदार्थ

विटामिन सी तीसरी तिमाही के अंतिम चरण के दौरान आवश्‍यक घटकों में से एक है। यह शरीर में आयरन के अवशोषण को बढ़ाता है जिससे रक्‍त उत्‍पादन में वृद्धि होती है। साथ ही एंटीऑक्‍सीडेंट होने के नाते यह न केवल महिला बल्कि शिशु की प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बेहतर बनाता है। इस दौरान गर्भस्‍थ मां को प्रतिदिन 80 मिलीग्राम विटामिन सी का सेवन करना चाहिए। विटामिन सी प्राप्‍त करने के लिए कई प्रकार के खट्टे फल, ब्रोकोली, टमाटर, संतरे, फूलगोभी आदि का सेवन किया जा सकता है।

(और पढ़ें – विटामिन सी की कमी दूर करने के लिए ये खाद्य पदार्थ)

प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ

प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ

प्रेगनेंसी के इस अंतिम समय में गर्भवती महिला के शरीर को पर्याप्‍त मात्रा में प्रोटीन की आवश्‍यकता होती है। प्रोटीन एक महत्‍वपूर्ण घटक है जो शिशु और गर्भवती महिला को शक्ति प्रदान करने में मदद करता है। प्रेगनेंसी के नौवे महीने के दौरान महिलाओं को प्रतिदिन 50 से 55 मिलीग्राम प्रोटीन का सेवन करने की आवश्‍यकता होती है। प्रोटीन प्राप्‍त करने के लिए महिलाएं अपने आहार में अंडे का सफेद भाग, टोफू, दूध, दही, मछली, चिकन आदि का सेवन कर सकती हैं।

(और पढ़ें – प्रोटीन क्या है, कार्य, कमी के कारण, लक्षण, जाँच, इलाज और आहार)

विटामिन बी12 युक्‍त खाद्य पदार्थ

विटामिन बी12 युक्‍त खाद्य पदार्थ

गर्भावस्‍था के नौवे महीने में विटामिन बी12 युक्‍त खाद्य पदार्थों का विशेष महत्‍व होता है। इस दौरान महिलाएं विटामिन बी12 प्राप्‍त करने के लिए चिकन, मछली, डेयरी उत्‍पाद और दूध आदि का सेवन कर सकती हैं।

(और पढ़ें – विटामिन बी 12 की कमी को पूरा करने के लिये खाएं ये खाद्य पदार्थ)

कार्बोहाइड्रेट युक्‍त खाद्य पदार्थ

कार्बोहाइड्रेट युक्‍त खाद्य पदार्थ

गर्भ धारण करने के नौवे महीने में महिलाओं को अपने आहर में कार्बोहाइड्रेट को विशेष रूप से शामिल करना चाहिए। कार्बोहाइड्रेट प्राप्‍त करने के लिए हरी सब्जियां, साबुत अनाज, फलियां, पास्‍ता, शकरकंद, तरबूज आदि का सेवन कर सकती हैं। इस दौरान आपको किसी भी प्रकार के आहार का चुनाव केवल डॉक्‍टर की अनुमति से ही करना चाहिए। जो आपको साधारण कार्बोहाइड्रेट के बजाय जटिल कार्बोहाइड्रेट (complex carbohydrates) का सेवन करने की सलाह दे सकते हैं।

(और पढ़ें – कार्बोहाइड्रेट क्या है, कार्य, कमी के कारण, लक्षण और आहार)

गर्भावस्था के 9 महीने में क्या नहीं खाना चाहिए – Pregnancy Ke 9 Mahine Me Kya Nahi Khana Chahiye in Hindi

कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ होते हैं जिनका सेवन गर्भावस्‍था के नौवे महीने के दौरान नहीं करना चाहिए। क्‍योंकि ऐसे खाद्य पदार्थ प्रसव के दौरान समस्‍याएं उत्‍पन्‍न कर सकते हैं साथ ही ये शिशु के स्‍वास्‍थ्‍य को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। आइए जाने गर्भावस्‍था के नौवे महीने में क्‍या नहीं खाना चाहिए।

शॉफ्ट चीज

शॉफ्ट चीज

शॉफ्ट चीज एक ऐसा खाद्य उत्‍पाद है जिन्‍हें गर्भावस्‍था के 9 वें महीने के दौरान खाने से बचना चाहिए। क्‍योंकि इस प्रकार के खाद्य पदार्थों में लिस्‍टेरिया (listeria) की मौजूदगी होती है। यह प्रसव के लिए हानिकारक हो सकता है। इस दौरान शॉफ्ट चीज का सेवन गर्भावस्‍था के दौरान कई प्रकार की मुश्किलें पैदा कर सकता है। यदि इस दौरान आप पनीर का सेवन करना चाहते हैं तो हार्ड पनीर का सेवन कर सकते हैं, लेकिन शॉफ्ट पनीर आपके लिए उपयुक्‍त नहीं है।

(और पढ़ें – गर्भवती होने के लिए पूरा गाइड)

कॉफी

कॉफी

कैफीन युक्‍त खाद्य या पेय सामग्री गर्भावस्‍था के नौवे महीने में कब्‍ज और अन्‍य प्रकार की समस्‍याओं का कारण बन सकती है। यदि गर्भवती महिला को चाय या कॉफी पीने की आदत है तो कम से कम नौवे महीने के दौरान इससे दूर रहना ही बेहतर है। इस दौरान आप चाय या कॉफी के स्‍थान पर फलों के जूस और अन्‍य पानी आधारित तरल पदार्थों का सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़ें – कॉफी पीने के फायदे और नुकसान)

शराब और तंबाकू

शराब और तंबाकू

गर्भावस्‍था के समय शराब और तंबाकू आदि का सेवन करना कई गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को जन्‍म दे सकता है। इसके अलावा अधिक मात्रा में इन नशीले खाद्य पदार्थों का सेवन करने पर यह असामान्‍य रक्‍तस्राव आदि की संभावना को भी बढ़ा सकता है। जिससे गर्भावस्‍था के अंतिम माह में भी गर्भपात की संभावना बढ़ जाती है जो गर्भवती महिला के लिए भी गंभीर हो सकता है। इसलिए इन खाद्य पदार्थों का सेवन करने से गर्भवती महिलाओं को बचना चाहिए।

(और पढ़ें – गर्भपात (मिसकैरेज) के कारण, लक्षण और इसके बाद के लिए जानकारी)

अनपाश्चराइज्ड दूध

अनपाश्चराइज्ड दूध

बिना पाश्चुरीकरण वाले दूध का सेवन करना गर्भवती महिलाओं के लिए बेहद नुकसानदायक हो सकता है। विशेष रूप से यह गर्भावस्‍था के नौवे महीने में महिला और शिशु के स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित कर सकता है। इस दौरान महिलाओं को कच्‍चा दूध और विशेष रूप से बकरी के दूध का सेवन करने से परहेज करना चाहिए।

(और पढ़ें – दूध पीने से है परहेज तो इन चीजों से भी ले सकते हैं कैल्शियम)

अधपका मीट

अधपका मीट

गर्भावस्‍था के नौवें महीने के दौरान महिलाओं को अध पके या कच्‍चे मीट का सेवन करने से परहेज करना चाहिए। क्‍योंकि इस प्रकार का भोजन करने से गर्भवती महिलाओं के शरीर में लिस्टिरिया नामक बैक्‍टीरिया स्‍थानांतरित हो सकते हैं। जिससे लिस्‍टेरियोसिस के कारण महिलाओं को गंभीर फ्लू हो सकता है। जिससे महिला और शिशु के स्‍वास्‍थ्‍य को नुकसान पहुंच सकता है। यह गर्भपात (miscarriage), स्टिलबर्थ (stillbirth) या अन्‍य गंभीर समस्‍याओं का कारण भी बन सकता है।

नौवे महीने की गर्भावस्‍था के लिए भारतीय आहार – Indian Diet During 9th-Month Pregnancy in Hindi

नौवे महीने की गर्भावस्‍था के लिए भारतीय आहार - Indian Diet During 9th-Month Pregnancy in Hindi

भारतीय महिलाओं द्वारा अपने आहार में निम्‍न खाद्य पदार्थों को नौवे महीने की प्रेगनेंसी डाइट में शामिल किया जा सकता है। क्‍योंकि अब तक आप जान चुके हैं कि गर्भावस्‍था के नौवे महीने में महिलाओं को क्‍या खाना चाहिए और क्‍या नहीं खाना चाहिए। गर्भावस्‍था के नौवे महीने में 3000 कैलोरी आधारित खाद्य पदार्थ इस प्रकार हैं जिन्‍हें प्रतिदिन सेवन किया जा सकता है।

ब्रेकफास्‍ट

9 माह की गर्भावस्‍था के दौरान सुबह के नाश्‍ते में निम्‍न खाद्य पदार्थों को शामिल किया जा सकता है।

दोपहर के भोजन से पहले

सुबह के नाश्‍ते और दोपहर के भोजन के बीच में भी महिलाओं को निम्‍न खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए।

दोपहर का भोजन

9 माह की प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को दोपहर के भोजन में निम्‍न खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए।

  • 1 प्‍लेट सलाद
  • एक कटोरी दाल
  • 1 कटोरी मन पसंद हरी सब्‍जी
  • 3 रोटियां
  • रायता, दही या छाछ

शाम का नाश्‍ता

दोपहर के भोजन और रात के भोजन के बीच महिलाएं निम्‍न आहार का सेवन कर सकती हैं।

रात का खाना

रात का भोजन अक्‍सर हल्‍का और कम मसालेदार होना चाहिए।

  • 1 प्‍लेट ताजी कटी हुई सलाद
  • एक कटोरी सब्‍जी
  • 1 कटोरी दाल या दही
  • 3 रोटी

सोते समय

रात में भूख परेशान न करे इसलिए रात में सोने से पहले भी महिलाएं हल्‍का सेवन कर सकती हैं।

  • कुछ मिठाई या
  • 1 गिलास दूध

9 महीने की गर्भावस्‍था आहार के लिए टिप्‍स – Tips for 9 months Pregnancy diet in Hindi

9 महीने की गर्भावस्‍था आहार के लिए टिप्‍स - Tips for 9 months Pregnancy diet in Hindi

गर्भावस्‍था के नौवें महीने के दौरान आहार योजना बनाने के दौरान भी कुछ विशेष बातों का ध्‍यान रखना चाहिए।

  • इस दौरान महिलाओं को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आप अपने आहार में सभी प्रकार के पोषक तत्‍व प्राप्‍त कर रहे हैं या नहीं। यदि आप पर्याप्‍त पोषक तत्‍व प्राप्‍त नहीं कर पाते हैं तो आपको अतिरिक्‍त सप्‍लीमेंट्स लेने की आवश्‍यकता है। इस दौरान आयरन सप्‍लीमेंट्स, कैल्शियम सप्‍लीमेंट्स, फोलिक एसिड और मल्‍टीविटामिन लिये जा सकते हैं। लेकिन आप डॉक्‍टर की अनुमति के बिना किसी भी प्रकार के सप्लिमेंट्स न लें।
  • गर्भवस्‍था के नौवे महीने में कैंडी, पनीर, तले हुए खाद्य पदार्थ जैसे खाद्य पदार्थों का कम सेवन करना चाहिए। क्‍योंकि ऐसे खाद्य पदार्थ गर्भवस्‍था के दौरान महिला के वजन में वृद्धि कर सकते हैं।
  • इन खाद्य पदार्थों के बजाये ताजी और हरी सब्जियां, फल और साबुत अनाज को अपने आहार में शामिल किया जा सकता है।
  • अपने भोजन को महिलाएं 3 बड़े हिस्‍से के बजाये 6-7 छोटे-छोटे हिस्सों में बांट सकती हैं।
  • पानी का अधिक से अधिक मात्रा में सेवन करें।
  • पेट की सूजन या कब्‍ज आदि होने पर डॉक्‍टर को दिखाएं और नियमित रूप से 15 से 20 मिनिट के लिए गर्भावस्‍था व्‍यायाम करें।
  • तनाव और चिंता से बचें।

पूरी गर्भावस्था अवधि के दौरान एक उचित आहार आपको स्वस्थ बच्चे को जन्म देने में मदद करेगा। नौवें महीने की गर्भावस्था आहार में आपको पौष्टिक आहार पर अधिक ध्यान देना चाहिए। आपको उचित अनुपात में पोषक तत्वों और आवश्यक घटकों को लेने की आवश्यकता है। अपनी डाइटिंग करने के अलावा, आपको अपने आप को हाइजीनिक रखने और डिलीवरी की तारीख के लिए फिट रहने की भी जरूरत है।

गर्भावस्‍था के नौवे महीने में अक्‍सर पूछे जाने वाले प्रश्‍न – Frequently asked questions in the 9 month of pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के नौवे महीने में अक्‍सर पूछे जाने वाले प्रश्‍न - Frequently asked questions in the 9 month of pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के दौरान अपने और अपने शिशु के स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति महिलाओं की चिंता जायज है। इस दौरान अक्‍सर महिलाओं के मन में कुछ सामान्य से प्रश्‍न उठते हैं। हम यहां इन प्रश्‍नों के जबाव देने का प्रयास कर रहे हैं।

क्‍या गर्भावस्‍था के 9 वे महीने में चलना ठीक है – Is Walking Well During The 9th Month Of Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी के दौरान पैदल चलना आवश्‍यक है क्‍योंकि यह एक प्रभावी व्‍यायाम है। इसलिए पूरी गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं को इसका पालन करना चाहिए। प्रेगनेंसी के नौवे महीने में पैदल चलने के बहुत अधिक लाभ होते हैं। इस दौरान पैदल चलना और 9 मंथ प्रेगनेंसी डाइट का पालन करना महिला और बच्‍चे के स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर बनाने में मदद करता है।

यह सामान्‍य प्रसव में भी सहायक होता है।

मैं 9 माह की गर्भावस्‍था में वजन कैसे बढ़ा सकती हूं – How Can I Increase My Weight During The 9th Month Of Pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के 9 वें महीने के दौरान शिशु का वजन अधिक बढ़ता है। और इसलिए, इस 9 वें महीने में गर्भवती महिला का वजन बहुत बढ़ जाता है। इसलिए इस दौरान महिलाओं को प्रेगनेंसी डाइट प्‍लान में केवल पौष्टिक और स्‍वस्‍थ्‍य खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए। जिससे गर्भावस्था के दौरान अधिक वजन बढ़ाये बिना शिशु का उचित विकास हो सके। हालांकि इस दौरान महिला के वजन में बहुत अधिक वृद्धि होना प्रसव के दौरान परेशानी बढ़ा सकता है।

नौवें महीने में प्रसव के लक्षण क्‍या हैं – What Are The Symptoms Of Delivery In The Ninth Month in Hindi

नौवे महीने में प्रसव का समय बहुत ही नजदीक होता है। जिसके कुछ सामान्‍य लक्षण निम्‍न‍ हैं।

  • बार-बार पेशाब आना
  • गर्भाशय ग्रीवा का फैलाव
  • संकुचन
  • पीठ दर्द होना
  • बलगम आना
  • पानी की थैली फटने का अनुभव होना
  • गर्भाशय ग्रीवा का पतला होना

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration