माइग्रेन के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय - Migraine cause prevention in Hindi
बीमारी

माइग्रेन के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय – Migraine Causes And Prevention In Hindi

माइग्रेन के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय - Migraine causes symptoms and prevention in hindi

Migraine in Hindi आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों के पास इतना भी समय नहीं है, कि वह अपनी सेहत का ख्याल रख सकें। हर कोई पैसे कमाने के चक्कर में लगा हुआ है। जब कोई भी आम या खास व्यक्ति किसी शांत स्थान से किसी भीड़ वाले स्थान पर जाता है, तो सबसे पहले उसके सर में दर्द होता है फिर उसके बाद ब्लड प्रेशर हाई होता है। और धीरे-धीरे यह बीमारी माइग्रेन सिरदर्द का रूप ले लेती है। आज हम आपको बताएंगे कि माइग्रेन कैसे होता है और उसके क्या लक्षण हैं और आप माइग्रेन से कैसे छुटकारा पा सकते हैं।

माइग्रेन के लक्षण किस तरह के होते है – Symptoms of migraine in Hindi

चलिए आपको सबसे पहले बताते हैं कि माइग्रेन होने के लक्षण क्या है। माइग्रेन जब होता है तो आप के आधे सिर में दर्द होता है और आधा सिर दर्द से मुक्त रहता है। यह दर्द बहुत ही चुभन वाला होता है। करीबन 3 दिन तक यह दर्द रहता है। जब यह दर्द होता है तो गैस की प्रॉब्लम होना, उल्टी होना, जी मिचलाना ऐसी बहुत सारी समस्याएं भी साथ में होने लगती है। साथ ही में माइग्रेन होने पर तेज रोशनी से परेशानी होती है और ज्यादा शोर-गुल गुस्से और चिड़चिड़ापन का कारण बनता है।

(और पढ़े – माइग्रेन और सिर दर्द में अंतर क्या होता है)

माइग्रेन के कारण क्या होते है – Causes of migraine in Hindi

माइग्रेन के कारण क्या होते है - Causes of migraine in hindi

अब जानते हैं कि माइग्रेन होता कैसे हैं इसके कारण क्या है। वैसे तो कई लोगों को माइग्रेन भावनात्मक वजह से भी होता है और कई लोगों को माइग्रेन ब्लड प्रेशर की बीमारी, शुगर की बीमारी और तनाव की बीमारी जैसी समस्याओं के कारण भी हो सकता है। कुछ लोगों को माइग्रेन इसलिए होता है क्योंकि वह बहुत ही ज्यादा हैंगओवर करते हैं। संक्रमण के कारण या शरीर में विषैले तत्व जमा होने के कारण भी माइग्रेन हो जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि कुछ लोगों को माइग्रेन एलर्जी की वजह से भी होता है और यह एलर्जी खाने पीने से भी हो सकती है। किसी चीज के संपर्क में आ जाने से भी एलर्जी हो सकती है। धूप से भी एलर्जी हो सकती है इसके कारण भी उन्हें माइग्रेन जैसी समस्या से जूझना पड़ता है।

(और पढ़ें – शुगर कम करने के घरेलू उपाय)

कैसे बचें माइग्रेन की समस्या से – How to Avoid Migraine in Hindi

कैसे बचें माइग्रेन की समस्या से - How to Avoid Migraine in Hindi

अगर आप भी माइग्रेन जैसी गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं, तो आपको उससे बचने के उपाय जरूर करने चाहिए। जैसे कि आपको अपने लाइफ स्टाइल में थोड़ा सा बदलाव जरुर लाना चाहिए। अपने खाने-पीने में थोड़ा बदलाव जरूर लाएं। इसके अलावा माइग्रेन से छुटकारा पाने के लिए निम्न उपाय को कड़ाई से अपनाने की जरुरत होती है:

(और पढ़े – क्या होता है जब आप खाली पेट पानी पीते हैं आइए जानते हैं)

माइग्रेन में क्या न खाएं – Do not eat in migraine in Hindi

माइग्रेन में क्या न खाएं - Do not eat in migraine in Hindi

जिन लोगों को माइग्रेन की गंभीर बीमारी होती है, उन्हें डिब्बाबंद पदार्थ बिल्कुल नहीं खाने चाहिए। उन्हें जंक फूड का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए और मैदे से बनी चीजों का भी उन्हें सेवन कम मात्रा में करना चाहिए। बल्कि उसके जगह उन्हें हरी सब्जियां और सेहतमंद खाना ही खाना चाहिए। माइग्रेन सिरदर्द की स्थिति में निम्न पदार्थों को छोड़ना पर सकता है, जैसे:

  • डेयरी प्रोडक्ट से दूर रहें।
  • कॉफी का अधिक सेवन माइग्रेन के दर्द को बढ़ा सकता है, अतः इसके सेवन से परहेज करें।
  • आइसक्रीम और चॉकलेट न खाएं।
  • खट्टे फलों से भी दर्द बढ़ सकता है अतः माइग्रेन में इनका सेवन न करें।

(और पढ़ें – जानिए जंक फूड (फास्ट फूड) के नुकसान और हानिकारक प्रभावों को)

माइग्रेन से छुटकारा पाने के उपाय है योग और मैडिटेशन – Yoga for migraine in Hindi

माइग्रेन से छुटकारा पाने के उपाय है योग और मैडिटेशन – Yoga for migraine in Hindi

अगर आप माइग्रेन से छुटकारा पाना चाहते हैं तो इसका सबसे अचूक उपाय है योग और ध्यान। मैडिटेशन करने से आपका दिमाग शांत होता है और अगर आपका दिमाग शांत है तो आप के सर में दर्द और तनाव कभी भी नहीं होगा। अपने आपको तनाव कम देने की कोशिश करें और हमेशा मेडिटेशन और योगा उस जगह पर करें जहां पर शांति हो। कभी भी चकाचौंध वाली जगह पर या फिर तेज गंध आने वाली जगह पर मेडिटेशन न करें। माइग्रेन वाले रोगियों को हमेशा अच्छी नींद लेनी चाहिए। जब भी आपको माइग्रेन जैसी गंभीर समस्या हो तो कभी भी दर्द से छुटकारा पाने वाली गोली न लें। माइग्रेन से छुटकारा पाना के लिए निम्न योग फायदेमंद होते हैं, जैसे:

(और पढ़ें – गुस्से को कंट्रोल और मन शांत करने के आसान उपाय)

माइग्रेन से छुटकारा पाने का घरेलू उपाय – Migraine treatment at home in Hindi

यदि कोई व्यक्ति माइग्रेन से पीड़ित है तो इससे छुटकारा पाने के लिए निम्न घरेलू उपाय भी अपना सकते हैं, जैसे कि:

  • देसी घी में गुड़ को मिलाकर रोजाना सुबह खाली पेट खाए।
  • तुलसी के पत्ते को सुखाकर उसका पाउडर बना ले और उसे शहद में मिलाकर रोजाना खाएं।
  • हींग खाने से भी माइग्रेन जैसी बीमारी से छुटकारा मिल सकता है।
  • शहद और नमक को आपस में मिलाकर खाने से भी माइग्रेन से आपको निजात मिल सकता है।
  • विटामिन बी2 या राइबोफ्लेविन माइग्रेन के दर्द को रोकने में मदद करता है। अतः आप इसे दूध, पनीर, मछली और अंडें के सेवन द्वारा विटामिन बी2 प्राप्त कर सकते हैं।
  • लैवेंडर तेल (lavender oil) की गंध में सांस लेने से माइग्रेन का दर्द कम हो सकता है। अतः माइग्रेन की स्थिति में 15 मिनट के लिए लैवेंडर के तेल में सांस लें या फिर अपने माथे पर पतला लैवेंडर तेल लगायें।
  • पुदीना के तेल (peppermint oil) में उपस्थित मेन्थॉल भी माइग्रेन से छुटकारा दिलाने में सहायक होता है। माइग्रेन से जुड़े दर्द, मतली जैसे लक्षणों को दूर करने के लिए पुदीना के तेल को माथे पर लगा सकते हैं।

(और पढ़ें – माइग्रेन और सिर दर्द में अंतर क्या होता है)

माइग्रेन के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय (Migraine Causes And Prevention In Hindi) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration