प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए - Pregnancy Mein Kya Nahi Khana Chahiye
गर्भावस्था

प्रेगनेंसी में भूलकर भी नहीं खानी चाहिए ये चीजें, जानें क्या होते हैं नुकसान!

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए - Pregnancy Mein Kya Nahi Khana Chahiye

Pregnancy Mein Kya Nahi Khana Chahiye: प्रेगनेंसी के समय सभी गर्भवती महिलाओं को अपने खानपान पर विशेष ध्यान देने की आवश्कता होती हैं। इस समय आप जो भी खाती है उसका सीधा असर आपके होने वाले बच्चे पर पड़ता हैं। प्रेगनेंसी के दौरान अधिकांस महिलायें केवल इस बात पर ध्यान देती है कि उनको गर्भावस्था में क्या खाना चाहिए, लेकिन वह ये भूल जाती है कि उनको किन-किन खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए। आज के इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए के बारे में बताएंगे।

विषय सूची

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए – What should not be eaten during pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान आपको निम्न चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। यह खाद्य पदार्थ आपके होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकते हैं।

(और पढ़ें – गर्भावस्था के शुरुआती दिनों का आहार)

प्रेगनेंसी के पहले महीने में अधपका या कच्चा मांस – Raw meat should not be eaten during pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी के पहले महीने में अधपका या कच्चा मांस - Raw meat should not be eaten during pregnancy in Hindi

गर्भवती महिलाओं को अपनी प्रेगनेंसी के दौरान कच्चा या अधपका मांस का सेवन नहीं करना चाहिए। कच्चे मांस का सेवन प्रेग्नेंट महिलाओं में संक्रमण का खतरा बढ़ा देता हैं।  गर्भावस्‍था के पहले महीने के दौरान इस प्रकार के खाद्य पदार्थ बहुत ही हानिकारक साबित हो सकते हैं। इसलिए पूरी गर्भावस्‍था के समय अधपका या कच्चा मांस खाने से बचना चाहिए। यदि आप मांस का सेवन करना चाहती हो उसे अच्छी तरह से पका लें, ध्यान रखें कि वह कच्चा न रह जाएं।

(यह भी पढ़ें – चिकन सूप के फायदे और नुकसान)

गर्भावस्था के दौरान  कच्चे अंडे खाने से बचें – Avoid eating raw eggs during pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान  कच्चे अंडे खाने से बचें – Avoid eating raw eggs during pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के समय कच्चे या आधे पके हुए अंडे नहीं खाना चाहिए। इनसे साल्मोनेला के संक्रमण होने का ख़तरा बना रहता है, जो उल्टी और दस्त का कारण बन सकता है और जो बच्चे के स्वास्थ्य को भी प्रभावित करता है।

लेकिन इसका ये मतलब नहीं है की आप अंडे ही न खाए अंडे में प्रोटीन, विटामिन के साथ खनिज अच्छी मात्रा में पाया जाता हैं, इसलिए यदि आप आपनी गर्भावस्था के दौरान अंडे का सेवन करना चाहती है तो उन्हें अच्छे से पका कर ही खाएँ।

(यह भी पढ़ें – एक दिन में कितने अंडे खाने चाहिए)

प्रेगनेंसी जंक फूड खाने से बचें – Avoid junk food in pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी जंक फूड खाने से बचें – Avoid junk food in pregnancy in Hindi

अधिकांश महिलाओं को जंक फूड बहुत ही पसंद होते हैं। लेकिन गर्भावस्था के दौरान ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचना चाहिए। क्‍योंकि ये खाद्य पदार्थ महिला और बच्‍चे के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक हो सकते हैं। जंक फूड का अधिक सेवन करने पर आप साबुत अनाज का पर्याप्‍त सेवन नहीं करते हैं। जिससे आपको मल त्‍याग (bowel movements) संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। इस प्रकार की समस्‍या गर्भावस्‍था में प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती है। इसके आलावा जंक फूड में चीनी और वसा की उच्‍च मात्रा होती है जो गर्भवती महिला के लिए हानिकारक माना जाता है।

(और पढ़ें – जानिए जंक फूड (फास्ट फूड) के नुकसान और हानिकारक प्रभावों को)

प्रेगनेंसी में नहीं करें समुद्री भोजन – Avoid Sea Food in pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में नहीं करें समुद्री भोजन – Avoid Sea Food in pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं को समुद्री भोजन नहीं करने की सलाह दी जाती है। क्‍योंकि समुद्री भोजन में मिथाइल मरकरी (methyl mercury) की उपस्थिति होती है। यह समुद्री भोजन में पाया जाने वाला एक हानिकारक तत्‍व है जो आपके भ्रूण को कमजोर कर सकता है। इसलिए प्रेगनेंसी के समय महिलाओं को समुद्री भोजन जैसे ट्यूना फिश, सेलफिश आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।

(और पढ़े – मछली खाने के फायदे और नुकसान)

गर्भावस्‍था में अन पाश्चराइज्ड डेयरी उत्‍पादों से बचें – Avoid Dairy Products Which Are Unpasteurized in Hindi

गर्भावस्‍था में अन पाश्चराइज्ड डेयरी उत्‍पादों से बचें – Avoid Dairy Products Which Are Unpasteurized in Hindi

गर्भावस्‍था के दौरान किसी भी प्रकार की विषाक्‍तता संबंधी समस्‍याओं से बचने के लिए हमेंशा ही पाश्चराइज्ड दूध उत्‍पादों का सेवन करना चाहिए। क्‍योंकि गर्भावस्‍था के दौरान अन पश्चराइज्‍ड दूध उत्‍पादों का सेवन करने से लिस्‍टेरिया या फूड पॉइजनिंग संबंधी संक्रमण हो सकता है। इसलिए घर में बने डेयरी उत्‍पादों का सेवन करना सबसे अच्‍छा माना जाता है क्‍योंकि इनमें किसी प्रकार के संक्रमण की संभावना नहीं होती है।

(और पढ़े – दूध पीने से है परहेज तो इन चीजों से भी ले सकते हैं कैल्शियम)

गर्भावस्था के दौरान कच्‍चे अंकुरित अनाज न खाएं – Avoid Raw Sprouts in pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान कच्‍चे अंकुरित अनाज न खाएं – Avoid Raw Sprouts in pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी के दौरान अंकुरित अनाज खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन गर्भावस्‍था के दौरान इन्‍हें कच्‍चे खाने से बचना चाहिए। क्‍योंकि अनाज को अंकुरित करने के दौरान इनमें बैक्‍टीरिया उत्‍पन्‍न हो जाते हैं। जब आप कच्‍चे ही इन अंकुरित अनाज का सेवन करती हैं तो ये बैक्‍टीरिया सीधे ही शरीर के अंदर पहुंच जाते हैं और महिला स्‍वास्‍थ्‍य को खराब कर सकते हैं। इसके अलावा कच्‍चे अंकुरित अनाज को पचाना आसान नहीं होता है जो अपच, बदहजमी, पेट की ऐंठन और कब्‍ज जैसी समस्‍याओं को बढ़ा सकता है। यदि आप भी प्रेगनेंसी के दौरान अंकुरित अनाज का सेवन करना चाहती हैं तो पहले उन्‍हें भाप में पका कर या उबाल कर सेवन कर सकती हैं।

(और पढ़ें – अंकुरित अनाज खाने के फायदे और नुकसान)

गर्भावस्था के समय न खाएं पैक्‍ड भोजन – Do not eat packaged food in pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं और बच्‍चों के विकास के लिए लगभग सभी प्रकार के खाद्य पदार्थ टिन के डिब्‍बे में उपलब्‍ध होते हैं। इस प्रकार के खाद्य पदार्थ महिला और शिशु के लिए हानिकारक हो सकते हैं। इसलिए गर्भावस्‍था के दौरान हमेशा प्राकृतिक खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाना चाहिए, न कि टिन के डब्‍बों में बंद खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाना चाहिए।

प्रेगनेंसी में नहीं पीना चाहिए कॉफी और चाय – Avoid Coffee and Tea in pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में नहीं पीना चाहिए कॉफी और चाय – Avoid Coffee and Tea in pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के समय आपको कॉफी और चाय की मात्रा को कम कर देना चाहिए। क्योंकि इसमें कैफीन की मात्रा अधिक होती है जो की एक उत्तेजक के रूप में काम करती है, इसलिए यह आपके पेट में पल रहे बच्चे की हार्ट रेट को परिवर्तित कर सकती है। इसके अलावा कैफीन के अधिक मात्रा में सेवन करने से गर्भवती महिला को गर्भपात होने और बच्चे का वज़न कम होने का खतरा भी बना रहता है। इसके अतिरिक्त कैफीन का अधिक सेवन करने से निर्जलीकरण का खतरा भी बना रहता है। हो सके तो पहले तीन महीने तक इन कैफीन युक्त पदार्थों से दुरी बनाकर रखे|

(और पढ़े – कैफीन के फायदे, नुकसान और उपयोग)

प्रेगनेंसी में अवॉइड करें सॉफ्ट चीज – Avoid Soft Cheese in pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में अवॉइड करें सॉफ्ट चीज – Avoid Soft Cheese in pregnancy in Hindi

सामान्‍य रूप से दूध आधारित खाद्य पदार्थ और पनीर महिला स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छे होते हैं। लेकिन गर्भावस्‍था के पहले महीने के दौरान सॉफ्ट चीज (Soft Cheese) का सेवन करने से परहेज करना चाहिए। क्‍योंकि यह खाद्य पदार्थ बैक्‍टीरिया और भोजन विषाक्‍तता (bacteria and food poising) की संभावना को बढ़ा सकता है। जिसके कारण यह गर्भवती मां और बच्‍चे दोनों के लिए सुरक्षित नहीं होता है। इसलिए गर्भावस्‍था के पहले महीने में विशेष रूप से सॉफ्ट चीज का सेवन करने से बचना चाहिए।

(और पढ़े – जानिये क्‍या अंतर है कर्ड (दही) और योगर्ट में…)

गर्भवती महिलाएं न खाएं स्‍ट्रीट फूड – Pregnancy me mahilaye na khaye street food in Hindi

गर्भावस्‍था में कुछ भी खाने से होने वाले परिवर्तन महिला स्‍वास्‍थ्‍य और भ्रूण को प्रभावित कर सकते हैं। इस लिए महिलाओं को गर्भावस्‍था के म‍हीनों में आहार संबंधी विशेष सावधानी रखनी चाहिए। इस दौरान महिलाओं को अधिक से अधिक हेल्‍दी और पौष्टिक भोजन करना चाहिए। बेहतर स्‍वास्‍थ के लिए गर्भावस्‍था के पहले महीने में महिलाओं को स्‍ट्रीट फूड से दूर रहना चाहिए। क्‍योंकि इस प्रकार के भोजन गर्भवती महिला के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अनुकूल नहीं होते हैं। सड़क के किनारे या बाहर खाये जाने वाले स्‍ट्रीट फूड गर्भवती महिलाओं के लिए शायद बुखार और अन्‍य प्रकार के संक्रमण का कारण बन सकते हैं। इसलिए इन दिनों महिलाओं को स्‍ट्रीट फूड का परहेज करना सबसे अच्‍छा विकल्‍प माना जा सकता है।

(और पढ़े – स्वस्थ आहार के प्रकार और फायदे…)

प्रेगनेंसी में कौन से फल नहीं खाना चाहिए – Which fruits should not be eaten in pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में कौन से फल नहीं खाना चाहिए - Which fruits should not be eaten in pregnancy in Hindi

सभी लोग गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को फलों के सेवन की सलाह देते हैं। हम सभी जानते है कि फ्रूट खाना सभी के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन ऐसे भी कुछ फल है जिनको प्रेगनेंसी के समय खाने से बचना चाहिए। ये फल आपके लिए नुकसानदायक होते है। गर्भवती महिलाओं को नीचे दिए गए फलों का सेवन नहीं करना चाहिए।

(यह भी पढ़ें – गर्भवती महिलाओं को कौन से फल खाने चाहिए)

गर्भावस्था के दौरान न खाएं बिना धोए फल – During pregnancy do not eat without washing in Hindi

गर्भावस्था के दौरान न खाएं बिना धोए फल – During pregnancy do not eat without washing in Hindi

वैसे तो बिना धुले फल कभी भी किसी को नहीं खाना चाहिए, लेकिन गर्भावस्था के दौरान ये और भी खतरनाक हो सकते हैं, इसकी वजह से गर्भपात तक होने की संभावना होती हैं। कई बार फलों पर लगी मिट्टी में टोक्सोप्लास्मोसिस नामक नुकसानदायक बैक्टीरिया होता है जो गर्भवती महिलाओं के लिए जानलेवा साबित हो सकता है।

प्रेगनेंसी के पहले महीने में पपीता खाने से बचें – Papaya Avoid In The First Month Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी के पहले महीने में पपीता खाने से बचें – Papaya Avoid In The First Month Pregnancy in Hindi

पपीता वैसे तो बहुत ही पौष्टिक फल है जिसका सामान्‍य रूप से कभी भी सेवन किया जा सकता है। लेकिन गर्भावस्‍था के पहले महीने में इसका सेवन करने से बचना चाहिए। क्‍योंकि इस दौरान पपीता का अधिक मात्रा में सेवन करने पर यह अवधि के दौरान गर्भपात की संभावना को बढ़ा सकता है।

यह शरीर को गर्म करता है जो भ्रूण के लिए सही नहीं है। गर्भावस्‍था की पहली तिमाही में भ्रूण का उचित विकास नहीं हो पाता है इसलिए इस दौरान पपीता का अधिक सेवन करने पर गर्भपात की संभावना प्रबल हो सकती है। इसलिए पपीता को गर्भावस्‍था के पहले महीने में पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए।

(और पढ़े – पपीता खाने के फायदे और नुकसान…)

प्रेगनेंसी के समय अनानास नहीं खाना चाहिए – Do not eat pineapple during pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी के समय अनानास नहीं खाना चाहिए – Do not eat pineapple during pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के समय अनानास खाना हानिकारक हो सकता है। इसके सेवन से भी प्रसव जल्दी होने की संभावना बढ़ जाती है। हालांकि, एक गर्भवती महिला अगर दस्त होने पर थोड़ी मात्रा में अनानास का रस पीती है तो इससे उसे किसी प्रकार का नुकसान नहीं होगा। वैसे पहली तिमाही के दौरान इसका सेवन ना करना ही सही रहेगा, इससे किसी भी प्रकार के गर्भाशय के अप्रत्याशित घटना से बचा जा सकता है।

(और पढ़े – अनानास के फायदे, गुण लाभ और नुकसान)

गर्भावस्था के समय न खाएं अंगूर – Avoid grapes in pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के समय न खाएं अंगूर – Avoid grapes in pregnancy in Hindi

डॉक्टर भी गर्भवती महिलाओं को उसके गर्भावस्था के अंतिम तिमाही में अंगूर खाने से मना करते हैं क्योंकि इसकी तासीर गरम होती है। इसलिए बहुत ज़्यादा अंगूर खाने से असमय प्रसव पीड़ा हो सकती है। इसलिए कोशिश करें कि गर्भावस्था के समय अंगूर न खायें।

(और पढ़े – जानिए सामान्य प्रसव के बाद योनि में होने वाले बदलाव के बारे मे)

गर्भावस्था के दौरान इन सब्जियों को न खाएं – Do not eat these vegetables during pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान इन सब्जियों को न खाएं – Do not eat these vegetables during pregnancy in Hindi

लोग गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को ताजी सब्जियों के सेवन की सलाह देते हैं। हम सभी जानते है कि फ्रेश वेजिटेबल खाना सभी के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन ऐसे भी कुछ सब्जियां है जिनको प्रेगनेंसी के समय खाने से बचना चाहिए। ये सब्जियां आपके लिए नुकसानदायक होती है। गर्भवती महिलाओं को नीचे दिए गई सब्जियों का सेवन नहीं करना चाहिए।

(यह भी पढ़ें – हरी सब्जियां खाने के फायदे)

गर्भावस्था के दौरान न खाएं कच्ची सब्जियां – Do not eat raw vegetables during pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान न खाएं कच्ची सब्जियां – Do not eat raw vegetables during pregnancy in Hindi

गर्भवती महिलाओं के लिए सबसे महत्वपूर्ण सलाह ये होती है कि वो कच्ची या पाश्चरीकृत नहीं की हुई सब्जी न खाए। साथ‍ ही ये भी महत्वपूर्ण है कि आप जो भी खाए वो अच्‍छे से धुला हुआ और साफ हो। ये गर्भावस्था के दौरान आपको संक्रमण से बचाने के लिए महत्वपूर्ण है।

(यह भी पढ़ें – गर्म तासीर वाले फल सब्जियां और खाद्य पदार्थ)

गर्भावस्था में आड़ू खाने से बचे – Avoid eating peach in pregnancy in Hindi

गर्भावस्था में आड़ू खाने से बचे – Avoid eating peach in pregnancy in Hindi

आड़ू स्वाद में जितना लज्जतदार होता है उतना ही गर्म भी होता है। गर्भवती महिलाओं के रक्तस्राव की वजह हो सकता है इसलिए इसे गर्भवस्था के दौरान न खाना ही समझदारी है।

(और पढ़े – प्रेग्नेंसी की जानकरी और प्रकार, क्या आप जानते है)

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए तुलसी के पत्ते – Basil leaves  should not be eaten during pregnancy

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए तुलसी के पत्ते - Basil leaves  should not be eaten during pregnancy

प्रेगेंट महिलाओं को तुलसी के पत्ते नहीं खाने चाहिए। तुलसी के पत्ते का सेवन महिला के होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डाल सकते हैं। तुलसी के पत्तों में एस्ट्रोगोल की मौजूदगी होती है जो गर्भपात भी करावा सकती हैं। इसके अलवा यह महिला के मासिक चक्र को भी प्रभावित करते हैं।

(यह भी पढ़ें – तुलसी की चाय के फायदे और नुकसान)

गर्भवती महिलाओं को नहीं खाना चाहिए मुलेठी – Avoid eating Mulethi in pregnancy in Hindi

गर्भवती महिलाओं को नहीं खाना चाहिए मुलेठी - Avoid eating Mulethi in pregnancy in Hindi

मुलैठी का सेवन हमारे लिए कई प्रकार से लाभदायक होता है। इसका उपयोग भी कई प्रकार के खाद्य पदार्थों में किया जाता हैं, जो किसी भी प्रकार से हानिकारक नहीं है। लेकिन गर्भावस्था के समय मुलैठी का सेवन गर्भाशय के संकुचन का कारण बन सकता है, जिसके कारण समय से पहले प्रसव पीड़ा शुरू हो सकती है। इसलिए गर्भावस्था के समय आपको इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

(यह भी पढ़ें – समय से पहले प्रसव (प्रीमैच्योर डिलीवरी))

प्रेगेंट महिलाएं न सौंफ और मेथी के बीज – Avoid eating Fennel and fenugreek seed in pregnancy in Hindi

प्रेगेंट महिलाएं न सौंफ और मेथी के बीज - Avoid eating Fennel and fenugreek seed in pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में महिलाएं स्वाद के लिए सौंफ और मेथी के बीज को कम मात्रा का उपयोग कर सकती हैं, लेकिन इसे अधिक मात्रा में लगातार खाना हानिकारक हो सकता है। इन बीजों में फाइटोएस्ट्रोजेन (phytoestrogens) के अवयव उच्च मात्रा में होते हैं, जो गर्भाशय के संपीड़न करते है। जिससे समय से पहले डिलेवरी होने की संभवना बढ़ जाती हैं।

प्रेगनेंसी में महिलाएं मसालेदार खाना खाने से बचें – Avoid eating spicy food during Pregnancy

प्रेगनेंसी में महिलाएं मसालेदार खाना खाने से बचें - Avoid eating spicy food during Pregnancy

तीखा मसालेदार खाना प्रेगेंट महिला के लिए कई प्रकार की समस्या उत्त्पन्न कर सकता हैं। इससे एसिड रिफ्लक्स और छाती में जलन होने की संभावना बहुत अधिक होती है। इसके अलावा तीखे और मसालेदार खाना खाने से सुबह की बीमारी भी हो सकती है, इसलिए आप अपने भोजन में मसाले कम मात्रा में ही खाएं।

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए (Pregnancy Mein Kya Nahi Khana Chahiye) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration